helathy eating

अधिकांश महिलाओं के लिए पीरियड्स एक बेहद दर्दनाक अनुभव होता है, उन्हें इतना दर्द होता है कि पीरियड्स को लेकर मन में डर बैठ जाता है. इससे छुटकारा पाने के लिए वो अक्सर पेनकिलर का इस्तेमाल करती हैं, लेकिन दर्दनिवारक दवाओं के अपने साइडइफेक्ट होते हैं इसलिए बेहतर होगा कि घरेलू उपायों को जाना और अपनाया जाए तो बेहद सरल होने के साथ साथ कारगर भी हैं.

पपीते का सेवन: पपीते की तासीर गर्म मानी जाती है और अक्सर दर्द की वजह होती है खुलकर फ्लो का ना होना, ऐसे में पपीता खायें क्योंकि इससे खुलकर फ्लो होता है और दर्द में आराम आता है. यही नहीं पपीता पेट के लिए भी काफ़ी अच्छा माना जाता है और पाचन को सही रखता है.

अदरक और काली मिर्च: अदरक को पानी में उबाल कर चाय की तरह पिएँ. अदरक के टुकड़े करके पानी में डालकर चाय बना लें, चाहें तो काली मिर्च भी मिला लें या फिर अदरक के टुकड़े करके उन्हें चबाकर खाएँ. यह पाचन को भी बेहतर करता है.
अजवायन: यह भी पेट के लिए बेहद फ़ायदेमंद है. इसकी भी तासीर गर्म होती है और यह गैस की समस्या से निजात दिलाने में कारगर है. अक्सर माहवारी के समय गैस की समस्या बढ़ जाती है जो दर्द की एक वजह होती है.

तुलसी की पत्तियाँ: चाय में इसे डालें क्योंकि इसमें दर्दनिवारक तत्व होते हैं जो काफ़ी तहाए पहुँचाते हैं.

जीरा: यह गर्भाशय को साफ़ करता है. इसमें दर्दनिवारक गुण भी हैं. जीरे की चाय बनाकर पिएं, पानी में भी उबालकर इसे पी सकती हैं या यूं ही चटकीभर जीरा चबा चबा कर खाएँ. इससे काफ़ी आराम मिलेगा.

Menstrual Cramps

मेथी: रात को एक कप पानी में एक टीस्पून मेथीदाना भिगो दें और अगले दिन इस पानी क सेवन करें.

गर्म पानी से सिकाई: एक बोतल में गर्म पानी भरकर उससे सिकाई करें काफ़ी आराम मिलेगा. यह पारंपरिक उपाय काफ़ी लोग अपनाते हैं, क्योंकि यह सबसे आसान और कारगर भी है.

तिल का तेल: इससे पेडू में यानी पेट के निचले भाग में हल्के हाथों से मालिश करें. यह गर्माहट और आराम देगा.
एक्सरसाइज़: शोध बताते हैं कि एरोबिक्स से पेन में काफ़ी राहत मिलती है. जो महिलाएँ लगातार दो महीनों तक हफ़्ते में तीन बार आधे घंटे एरोबिक्स करती हैं उन्हें पीरियड्स में दर्द बेहद कम होने लगता है. अगर एरोबिक्स नहीं करना चाहतीं तो सिर्फ़ नंगे पैर ज़मीन पर या घास पर चलें इससे भी दर्द में आराम मिलता है. अगर आप नियमित रूप से योग करती हैं तो भी पेन में आराम मिलेगा और आप ऐसे योगा पोज़ भी ट्राई कर सकती हैं जो इस दर्द में आराम दिलाते हैं.

मेडिटेशन: सांस लेने की तकनीक आपको काफ़ी निजात दिला सकती है. यह मांसपेशियों को रिलैक्स करती है और इसे रिलैक्सेशन टेकनीक ही कहा जाता है. यह रक्त संचार बेहतर करके मस्तिष्क को सुकून का एहसास कराती हैं, दर्द पैदा करनेवाले हार्मोन्स को कम करके राहत का आभास कराती है.
नमक का सेवन कम करें और पानी खूब पिएं: पीरियड्स आने से कुछ दिन पहले से नमक खाना या तो बंद कर दें या कम करें, मसालेदार भोजन, तला-भुना भी ना खाएँ और फ़र्क़ देखें. इस तरह का खाना वॉटर रिटेंशन को बढ़ाता है जिससे गैस, अपच, भारीपन होता है और दर्द का एहसास ज़्यादा होता है. साथ ही पानी खूब पिएँ ताकी डीहाईड्रेट ना हों.

यह भी पढ़ें: महिलाओं के स्‍वास्‍थ्‍य और तंदुरुस्ती से जुड़ी ज़रूरी बातें… (Important Information About Women’s Health And Fitness)

टीवी की ये मशहूर बहू सबकी फेवरेट है और दिव्यांका की इमेज थी प्यारी सी पारंपरिक बहू की. लेकिन एक दुर्घटना के बाद उनका वज़न काफ़ी बढ़ गया था जिसके बाद उनके पति विवेक दहिया ने उन्हें प्रेरित किया और दिव्यांका ने अपना ऐसा मेकओवर किया कि वो बन गईं एकदम हॉट. क्या है दिव्यांका की फिटनेस का राज़, आइए जानें.

Divyanka Tripathi

दिव्यांका जिम जाती हैं और योगा भी करती हैं. हालांकि जिम जाने का उनका फिक्स टाइम नहीं है लेकिन वो नियमित वर्कआउट करती हैं.

Divyanka Tripathi

कार्डियो या वेट ट्रेनिंग उन्हें अधिक पसंद है. लेकिन दिव्यांका यह जानती थीं कि सिर्फ़ जिम जाना ही काफ़ी नहीं इसलिए उन्होंने डायट में भी बदलाव किए. उनका शरीर भी ऐसा है कि फैट्स जल्दी बनता है इसलिए उनके लिए समझदारी से हेल्दी डायट का चुनाव करना ज़रूरी था.

Divyanka Tripathi
  • दिव्यांका के दिन की शुरुआत होती है ग्रीन जूस से.
  • वो मीठा खाने से परहेज़ करती हैं.
  • घर का बना खाना ही खाती हैं.
  • नाश्ते में वो फ्रूट या ऑइल फ़्री पैनकेक्स भी खाना पसंद करती हैं.
  • वो सूप्स लेना भी पसंद करती हैं इसलिए जब भी उन्हें भूख महसूस होती है वो हेल्दी सूप पीती हैं. इस से भूख नियंत्रण में रहती है.
Divyanka Tripathi
  • इसके अलावा वो अपने साथ पनीर रखती हैं ताकि भूख लगने पर बीच बीच में उसका सेवन कर सकें.
  • दोपहर के खाने में वो रैप्स लेती हें. वो सब्ज़ियों व पनीर रैप्स का सेवन काफ़ी करती हैं. उनका खाना बिना तेल का ही होता है.
Divyanka Tripathi
  • चावल व कार्ब्स से दूर रहती हैं.
  • पानी खूब पीती हैं ताकि हाइड्रेटेड रहें.
  • शाम का भोजन 7:30-8 बजे से पहले कर लेती हैं.
  • उन्हें ऑइल फ्री वेजीटेबल कटलेट भी काफ़ी पसंद है.

तो आप भी अनुशासन में रहकर पा सकते हैं फिट शरीर. दिव्यांका अक्सर अपने पति के साथ अपने फिटनेस वीडियोज़ डालकर सबको प्रेरित भी करती हैं.

यह भी पढ़ें: बॉलीवुड के ये 11 स्टार्स शराब को छूते भी नहीं! (11 Bollywood Stars Who Say No To Alcohol)