Tag Archives: help

कितने दानी हैं आप? (The Benefits Of Charity)

कर्ण, राजा हरिश्‍चंद्र, दधीचि… भारत में ऐसे कई दानी हुए जिन्होंने दुनिया के सामने दान की मिसाल कायम की. हमारे देश में आज भी कई अवसरों पर दान देने की प्रथा है. लेकिन हम क्या सही मायने में दान करते हैं?

sedekah
बच्चे का जन्मदिन, शादी-ब्याह, प्रमोशन, माता-पिता की बरसी, पित्र पक्ष… दान करने के हमारे पास कई मौके होते हैं. कई बार तो हम बिना वजह भी दान करते हैं, लेकिन हर बार क्या हमें दान करने की ख़ुशी और संतुष्टि मिल पाती है? नहीं, क्योंकि हर बार हम निस्वार्थ भाव से दान नहीं करते. ज़्यादातर मौक़ों पर हम अपनी ख़ुशी के लिए नहीं, बल्कि अपने स्वार्थ और झूठी शान बघारने के लिए दान करते हैं. ऐसे दान से हमें वाहवाही भले ही मिल जाए, लेकिन आत्मिक संतुष्टि नहीं मिलती.

अमावस्-या-3

यह भी पढ़ें: शरीर ही नहीं, मन की सफ़ाई भी ज़रूरी है 

क्या है दान का सही अर्थ?
यूं ही नहीं कहा जाता कि एक हाथ से दान करो, तो दूसरे हाथ को पता नहीं चलना चाहिए यानी निस्वार्थ भाव से बिना किसी प्रदर्शन के किया गया दान ही सही मायने में दान कहलाता है. उदाहरण के लिए- यदि कोई गरीब बच्चा पढ़ाई में बहुत तेज़ है, लेकिन पैसे के अभाव में वो आगे पढ़ाई नहीं कर पा रहा है. ऐसी स्थिति में यदि आप चुपचाप उसकी मदद करते हैं, तो आपका ये दान उस बच्चे का भविष्य तो संवारेगा ही, साथ ही आपको भी बहुत संतुष्टि देगा. इसी तरह शारीरिक रूप से असक्षम, बुज़ुर्ग, अनाथ-असहाय, ज़रूरतमंद आदि लोगों के लिए किया गया कोई भी काम दान की श्रेणी में आता है और सही मायने में दान कहलाता है.

Untitled collage (2)
इस दान का कोई महत्व नहीं
यदि आप किसी दबाव या दिखावे के लिए दान करते हैं, तो आपके दान का कोई मतलब नहीं. जैसे-
* ईश्‍वर के डर से किया गया दान.
* खोखली मान्यताओं के नाम पर किया गया दान.
* झूठी शान बघारने के लिए.
* मनोकामना पूरी होने के लालच में.
* दौलत का प्रदर्शन करने के लिए.

4

यह भी पढ़ें: हम क्यों पहनते हैं इतने मुखौटे?

क्यों ज़रूरी है दान करना?
दान करने के कई फ़ायदे हैं. दान करने से हम न स़िर्फ दूसरों का भला करते हैं, बल्कि अपने व्यक्तित्व को भी निखारते हैं. दान करने से हम उदार बनते हैं, सबको साथ लेकर चलना चाहते हैं, मन और विचारों की शुद्धि होती है, मोह और लालच कम होता है… दान के सच्चे सुख को अनुभव करने के लिए बिना किसी स्वार्थ या लालसा के दान करके देखिए. यकीन मानिए, किसी के लिए कुछ करने की ख़ुशी से बढ़कर कोई सुख नहीं.

[amazon_link asins=’B00RZ3P596,B01IVTJ0AC,B00VYXR4JC,B01HPT2K6K’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’91975fab-b7e5-11e7-b181-1d10b6873196′]

सेक्स प्रॉब्लम्स- उनकी बॉडी अब मुझे आकर्षित नहीं करती (Sex Problems- I Am No Longer Attracted To Him)

Sex Problems
Sex Problems

उनकी बॉडी अब मुझे आकर्षित नहीं करती

मुझे लगता है सेक्सुअल डिज़ायर को लेकर मैं एक सामान्य लड़की हूं, लेकिन पिछले दो सालों से मैं अपने पति के प्रति आकर्षण महसूस नहीं कर रही. जबकि वो अच्छे इंसान हैं, लेकिन उनकी बॉडी अब मुझे आकर्षित नहीं करती. क्या यह समस्या दवाओं से ठीक हो सकती है या मुझे काउंसलर की मदद लेनी होगी?

– ईला पारिख, भुज.

आपकी समस्या मैं समझ सकता हूं. बहुत-से लोगों में पार्टनर के प्रति शारीरिक आकर्षण का महत्व इतना नहीं होता, बल्कि आपसी प्यार व सामंजस्य अधिक ज़रूरी होता है और उनका रिश्ता काफ़ी अच्छा भी होता है, क्योंकि रिश्ते की नींव में तो प्यार, केयर व अपनेपन जैसी भावनाएं ही महत्वपूर्ण होती हैं. आपकी समस्या का समाधान काउंसलर के पास ज़रूर होगा, जिससे आप अपनी ज़िंदगी फिर से एंजॉय कर पाएंगी.
यह भी पढ़े: सेक्सुअल प्रॉब्लम्स के घरेलू नुस्ख़े
यह भी पढ़े: रखें सेक्सुअल हाइजीन का ख़्याल

 

मेरे पति के बड़े भाई मुझसे कई बार सेक्स की ख़्वाहिश ज़ाहिर कर चुके हैं

मैं असमंजस में हूं, क्योंकि मेरे पति के बड़े भाई मुझसे कई बार सेक्स की ख़्वाहिश ज़ाहिर कर चुके हैं. मेरे पति बार-बार टूर या देश से बाहर जाते रहते हैं. मैं उन्हें उस समय काफ़ी मिस करती हूं और सेक्स की चाह होने पर भी अब तक मैंने अपने जेठजी को ख़ुद से दूर ही रखा है. क्या यह सही होगा अगर मैं अपने जेठजी के साथ सेक्स करूं? क्या इससे मेरी शादी व सेक्स लाइफ पर असर पड़ेगा?
– उमा दुबे, गोरखपुर.
बेहतर होगा कि आप अपनी समस्या अपने पति के साथ या काउंसलर से डिसकस करें, ताकि अपनी शादी में आप कुछ बेहतर व हेल्दी सोच सकें. ज़ाहिर है आपके जेठ के अप्रोच पर आप असमंजस में पड़ जाती हैं, क्योंकि शायद आप भी कहीं न कहीं अपनी लालसा को रोक नहीं पा रहीं, लेकिन यह कंफ्यूज़न सही नहीं है. पति के बड़े भाई से ऐसा रिश्ता आपकी शादी को नुक़सान पहुंचाएगा, इसलिए सतर्क रहें.
सेक्स संबंधित अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करेंSex Problems Q&A

Dr.-Rajiv-Anand-Resize-image-2.1.17-170x250

डॉ. राजीव आनंद
सेक्सोलॉजिस्ट
([email protected])

 

नेकदिल अक्षय: कराएंगे अपनी पहली फिल्म के प्रोड्यूसर का इलाज (Akshay Kumar has offered help to the ailing producer of his first film)

cover-_1476880081अक्षय कुमार एक ऐसे अभिनेता हैं, जो अपनी दरियादिली के लिए जाने जाते हैं. इस बार अक्षय ने फिर नेक काम किया है. अक्की ने अपनी पहली फिल्म के निर्माता रवि श्रीवास्तव की ओर मदद का हाथ बढ़ाया है. रवि श्रीवास्तव आर्थिक तंगी से गुज़र रहे हैं और बेहद बीमार हैं. वो किडनी की समस्या से जूझ रहे हैं और उन्हें ट्रांसप्लांट की ज़रूरत है. जब अक्षय को ये बात पता चली, तो उन्होंने फ़ौरन मदद करने की सोची. साल 1991 में अक्षय ने द्वारपाल फिल्म साइन की थी, जिसके निर्देशक रवि श्रीवास्तव थे. यह फिल्म किन्हीं कारणों से बन नहीं पाई थी. जिसके बाद अक्षय ने सौगंध फिल्म से अपने करियर की शुरुआत की थी, जिसे दिलाने में रवि ने ही उनकी मदद की थी. टि्वटर पर बीमार निर्माता से जुड़े एक लेख को शेयर करने वाले एक फॉलोअर के जवाब में अक्षय ने लिखा है, ‘हां सर, मेरी टीम ने उनसे संपर्क किया है, उनका ध्यान रखा गया है.’