Tag Archives: high blood pressure

हाई ब्लड प्रेशर से छुटकारा पाने के 5 घरेलू उपाय (5 Best Home Remedies For High Blood Pressure)

हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) से छुटकारा पाने के 5 घरेलू उपाय (Home Remedies) आपको नैचुरल तरीके से हाई ब्लड प्रेशर से छुटकारा दिलाएंगे. हमारे देश में हाई ब्लड प्रेशर के रोगियों की संख्या लाखों में है और दिन प्रति दिन ये आंकड़े बढ़ते जा रहे हैं. विभिन्न शोधों से ये बात साबित हो चुकी है कि बदलती जीवन शैली, हाइपरटेंशन, मोटापा, तनाव, आनुवांशिकता आदि कारणों से दिल की बीमारी होती है. ऐसे में डायट पर कंट्रोल रखकर और अपने दिल को बीमारियों से दूर रखकर आप स्वस्थ जीवन जी सकते हैं.

Home Remedies For High Blood Pressure

 

हाई ब्लड प्रेशर से छुटकारा पाने के लिए क्या खाएं?

1) अगर आप दिल की बीमारी से बचना चाहते हैं, तो रोजाना ताज़े फल और सब्ज़ियां खाएं. इनसे आवश्यक पोषक तत्वों की पूर्ति होती है और शरीर स्वस्थ रहता है.
2) विटामिन सी, केरोटेनॉइड्स और एंटी ऑक्सिडेंट युक्त फूड, जैसे- गाजर, गोभी आदि दिल की बीमारी से शरीर की रक्षा करते हैं इसलिए इनका नियमित सेवन करें.
3) मछली, सोया प्रोटीन, ओट्स व अन्य हाई फाइबर युक्त फूड आर्ट अटैक जैसी समस्याओं से निपटने में सक्षम हैं इसलिए इनका सेवन करें.
4) दिल की बीमारी से बचने के लिए मल्टीग्रेन ब्रेड, अनाज, सूखे मेवे आदि भी असरदार होते हैं इसलिए इनका सेवन ज़रूर करें.

 

हाई ब्लड प्रेशर से छुटकारा पाने के 5 आसान घरेलू उपाय जानने के लिए देखें वीडियो:

 

हाई ब्लड प्रेशर से बचने के लिए क्या न खाएं?

1) अपने दिल को सुरक्षित रखने के लिए रेड मीट, चिकन स्किन, मलाई युक्त डेयरी प्रॉडक्ट्स, नारियल तेल आदि के सेवन से दूर रहें.
2) ट्रांसफैट और सैच्युरेटेड फैट युक्त आहार से भी परहेज़ करें.
3) ज़रूरत से ज़्यादा शराब का सेवन न करें.
4) किसी भी रूप में तंबाकू का सेवन न करें.
5) ज़्यादा नमक के सेवन से बचें.

यह भी पढ़ें: एसिडिटी व गैस से छुटकारा पाने के 5 चमत्कारी घरेलू नुस्ख़े (5 Best Home Remedies To Get Rid Of Acidity And Gas)

 

हार्ट प्रॉब्लम्स से बचने के आसान और असरदार घरेलू उपाय:

1) यदि छाती के बाईं ओर दर्द उठता है, सांस लेने में कठिनाई महसूस होती है और पसीना आता है, तो दूध में लहसुन पकाकर पीएं. कुछ दिन लगातार ऐसा करने से दर्द से राहत मिलेगी.
2) सुबह-शाम लौकी का सूप पीएं या उसकी सब्ज़ी खाएं. लगातार ऐसा करने से एक महीने में ही लाभ होने लगता है. आप चाहें तो लौकी उबालकर उसमें नमक, धनिया, जीरा, हल्दी व हरा धनिया डालकर भी पका सकते हैं. इससे स्वाद भी मिलेगा और सहेत भी बनी रहेगी.
3) ह्रदय में दर्द होने या दौरा पड़ने पर दो टीस्पून शुद्ध घी में दो ग्राम बेल का रस मिलाकर पीएं. इससे तुरंत आराम मिलेगा.
4) 100 मि.ली ग्राम अदरक के रस में थोड़ा-सा शहद मिलाकर चाटने से भी दिल के दर्द से राहत मिलती है.
5) अनार के 10 मि.ली रस में 10 ग्राम मिश्री डालकर रोज़ाना सुबह पीने से दिल की जकड़न और दर्द दूर हो जाता है.
6) एक तोला अनार के ताज़े पत्ते को 10 तोला पानी में पीस लें. इसे छानकर पी लें. इससे ह्रदय मज़बूत बनता है और हृदय की धड़कन सामान्य हो जाती है.
7) हार्ट पेशंट यदि रोज़ एक ग्लास छाछ पीएं, तो ब्लडवेसल्स पर जमा हुआ फैट आसानी से कम हो जाता है, जिससे तेज़ धड़कन और घबराहट की समस्या दूर हो जाती है.

यह भी पढ़ें: पथरी (स्टोन) से छुटकारा पाने के 5 रामबाण घरेलू उपचार (5 Home Remedies To Prevent And Dissolve Kidney Stones)

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: प्रेग्नेंसी में हाई ब्लड प्रेशर का क्या कारण हो सकता है? (What Can Cause High BP In Pregnancy?)

Cause High BP In Pregnancy
मैं 33 वर्षीया महिला हूं और हाल ही में मेरी डिलीवरी (Delivery) हुई है. प्रेग्नेंसी (Pregnancy) की आख़िरी तिमाही में मुझे हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) की समस्या हो जाने से डॉक्टर ने दवा शुरू की, पर उनका कोई असर नहीं हुआ और अभी भी मेरी दवा जारी है. यह दवा मुझे कब तक लेनी होगी? क्या 33 साल की उम्र हाई बीपी के लिए बहुत कम नहीं है?
– पद्मा गिल, लुधियाना.

प्रेग्नेंसी की आख़िरी तिमाही में बहुत-सी महिलाओं को हाई बीपी की समस्या हो जाती है, जिसे प्रेग्नेंसी के कारण होनेवाला हाइपरटेंशन कहते हैं. ज़्यादातर यह पहली बार मां बनी महिलाओं को होता है, जो डिलीवरी के बाद या डिलीवरी के 6-12 हफ़्तों बाद सामान्य हो जाता है. आपने यह नहीं बताया है कि डिलीवरी को कितना समय हो गया है. हाई बीपी के कारणों का पता लगाने के लिए आपको अपनी जांच करानी होगी, तभी पता चल पाएगा कि इस उम्र में आपको यह समस्या क्यों हुई. अपनी लाइफस्टाइल में थोड़ा बदलाव करें. एक्सरसाइज़ और मेडिटेशन
को अपने रूटीन में शामिल करें और संतुलित भोजन लें.

यह भी पढ़ें: क्या कंसीव करने की संभावना को जानने के लिए कोई टेस्ट है?

Cause High BP In Pregnancy
पिछले हफ़्ते मेरी ऑफिस की सहेली अचानक बेहोश हो गई, जो प्रेग्नेंट थी. उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी इमर्जेंसी सर्जरी करनी पड़ी. डॉक्टर ने बताया कि वह एक्टॉपिक प्रेग्नेंसी (Ectopic Pregnancy) की शिकार हुई है. यह क्या है? क्या भविष्य में उसकी प्रेग्नेंसी नॉर्मल होगी?
– सरला पटेल, रोहतक.

इस अवस्था में भू्रण यूटेरस के अंदर रहने की बजाय बाहर आमतौर पर ट्यूब्स में रह जाता है, जिससे भू्रण 5-6 हफ़्तों से ज़्यादा सुरक्षित नहीं रहता. आमतौर पर महिलाओं को पेट में मरोड़, वेजाइनल ब्लीडिंग, कंधों आदि में दर्द होता है. एक्टॉपिक प्रेग्नेंसी सर्विक्स, ओवरीज़ या एब्डोमेन में भी हो सकती है. अगर उनका दूसरा ट्यूब ठीक है, तो भविष्य में वह प्रेग्नेंट हो सकती हैं.

यह भी पढ़ें: क्या प्रेग्नेंसी में बहुत ज़्यादा उल्टियां होना नॉर्मल है?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

हर बीमारी का आयुर्वेदिक उपचार  उपाय जानने के लिए इंस्टॉल करे मेरी सहेली आयुर्वेदिक होम रेमेडीज़ ऐप

 

होम रेमेडीज़ फॉर हाई ब्लडप्रेशर

high blood pressure, home remedies, health, control high blood pressure

दिनोंदिन बढ़ता स्ट्रेस, भागदौड़ और हाइपरटेंशन. ग़लत लाइफस्टाइल और खानपान की ग़लत आदतों ने हमारा मानसिक सुकून तो छीन ही लिया है, हमारी सेहत को भी नुक़सान पहुंचाया है. हाई ब्लडप्रेशर भी मॉडर्न लाइफस्टाइल का ही नतीज़ा है, लेकिन कुछ घरेलू नुस्ख़े आज़माकर आप इसे कंट्रोल में रख सकते हैं.

high blood pressure, home remedies, health, control high blood pressure
– आधा-आधा टीस्पून प्याज़ का रस और शहद मिलाकर 2-3 हफ़्ते तक रोज़ाना दिन में दो बार सेवन करें. कच्चा प्याज़ भी हाई ब्लडप्रेशर में फ़ायदेमंद है

– 25-30 करीपत्ते में 1 कप पानी मिलाकर पीस लें. रोज़ाना सुबह इसका सेवन करने से हाई ब्लडप्रेशर की समस्या दूर होती है. आप चाहें तो इसमें नींबू का रस भी मिला सकते हैं.

– हाइपरटेंशन या हाई ब्लडप्रेशर को कंट्रोल करने में हल्दी भी बेहद कारगर है. रोज़ाना इसका सेवन करने से ब्लड प्रेशर संतुलित रहता है.

– दो चम्मच शहद में एक चम्मच नींबू का रस मिलाकर सुबह-शाम पीने से हाई ब्लडप्रेशर कम होता है.

– हाई ब्लडप्रेशर में तरबूज़ अत्यधिक फ़ायदेमंद है. एक बड़ी थाली में तरबूज़ को काटें और इस पर सेंधा नमक व कालीमिर्च बुरक दें. फिर फांकों को थोड़ा हाथों से मसलकर उसका रस निकाल लें और उसे पी जाएं. हाई ब्लडप्रेशर के रोगी के लिए यह रस अमृत के समान है. इसके सेवन से तीन-चार दिनों में ही ब्लडप्रेशर सामान्य हो जाएगा.

– लहसुन रोज़ खाएं या इसका रस पीएं.

– टमाटर खाने से भी ब्लडप्रेशर कंट्रोल में रहता है.

– लौकी का रस पीएं.

– छाछ हाई और लो ब्लडप्रेशर दोनों में फ़ायदेमंद है.

– सुबह-शाम खाली पेट पपीते के दो-तीन फांकें रोज़ खाएं. हाई ब्लडप्रेशर की शिकायत दूर हो जाएगी.

– आंवला रक्तशोधक तो है ही, ब्लडप्रेशर पर भी नियंत्रण रखता है. आंवले का रस नियमित पीएं. आंवले का कसैला तत्व हृदय के आसपास की चर्बी को हटा देता है, जिससे ब्लडप्रेशर सामान्य हो जाता है.

– तरबूज़ के बीजों की गिरी और खसखस बराबर मात्रा में लेकर उसे पीसकर चूर्ण बना लें और कांच की बॉटल में भरकर रख दें. इस चूर्ण को 3-4 ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम खाली पेट पानी के साथ लें. महीनेभर में ही हाई ब्लडप्रेशर से छुटकारा मिल जाएगा.

– सौंफ, जीरा और मिश्री को समान मात्रा में लेकर चूर्ण बनाएं. एक चम्मच चूर्ण पानी के साथ सुबह-शाम लेने से हाई ब्लडप्रेशर में फ़ायदा होता है. प्रेग्नेंसी में हाई ब्लडप्रेशर की शिकायत होने पर गर्भवती महिलाएं भी इसका सेवन कर सकती हैं.

– ब्लड प्रेशर से दूर रहना है, तो हर रोज़ नींबू का सेवन करें.

– प्रतिदिन सेब खाने से भी ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है.

– 5 ग्राम त्रिफला चूर्ण का रात को सोने से पहले गर्म पानी के साथ नियमित सेवन करने से हाई ब्लडप्रेशर सामान्य हो जाता है.