Tag Archives: Home remedies

हर बीमारी का इलाज नीम (Cure Your Ailments With Neem)

Neem Benefits

सिर से लेकर पैर तक के रोगों की इलाज की दवा है नीम. इसके साथ ही यह घर में कीड़े-मकोड़ों से भी रक्षा करता है. नीम के कुछ असरदार उपाय इस प्रकार हैं.

* नीम के पत्ते डालकर उबाले गए पानी से स्नान करने से चर्मरोग, फोड़े-फुंसी, खाज-खुजली मिट जाती है.

* पेट में दर्द होने पर 10 ग्राम नीम के बीज, 10 ग्राम सोंठ, 10 ग्राम तुलसी की पत्तियां तथा 8-10 काली मिर्च मिलाकर गाढ़ी चटनी  बनाकर थोड़ी-थोड़ी देर में रोगी को चटाएं. अवश्य फ़ायदा होगा.

* भोजन न पचने के कारण खट्टी डकारें, सिरदर्द, जी मिचलाना और कभी-कभी बुखार की शिकायत भी हो जाती है. ऐसे में निम्बोली खाने से पेट के उपर्युक्त तकलीफें ठीक हो जाती हैं.

* रोज़ सुबह नीम की दातून करने से दांत मजबूत और चमकदार बनते हैं व पायरिया की शिकायत भी नहीं होती.

* नीम का तेल प्रतिदिन सिर पर लगाने से जुएं और लीखें ख़त्म हो जाती हैं.

यह भी पढ़े: संतरा खाने के 11 लाजवाब फ़ायदे (11 Amazing Benefits Of Eating Orange)

* फोड़ा यदि पककर फूट गया हो, तो नीम के पत्तों को पीसकर उसकी लुगदी फोड़े पर बांधने से आराम मिलता है.

* पायरिया तथा मसूड़ों से ख़ून निकलने की समस्या हो तो नीम का तेल फ़ायदेमंद होता है. ऐसे में नियमित रूप से मसूड़ों पर इसकी मालिश करनी चाहिए.

* 10 बूंद नीम का तेल पान पर लगाकर खाने से दमा व खांसी में फ़ायदा होता है.

* यदि उल्टी हो रही हो तो 25 ग्राम नीम की पत्तियां पीस लें. इसमें 5-6 दानें काली मिर्च मिलाकर आधा कप पानी में घोलकर एक बार पी लें. उल्टी रुक जाएगी

* नीम की पत्तियों का रस निकालकर रुई के फाहे को भिगोएं और आंखों पर रखें. आंखों की जलन और लालिमा दूर हो जाएगी.

* यदि आंखों में सूजन व खुजली हो, तो नीम की 15-20 पत्तियों को पानी में उबालें. फिर उसमें 5 ग्राम फिटकरी घोल कर छान लें. साफ़ रुई द्वारा इस पानी से आंखें धोएं. दो-तीन बार ऐसा करने से सूजन और खुजली समाप्त हो जाती है.

* गाय के दूध में नीम का तेल मिलाकर पीने से प्रदर रोग में बहुत फ़ायदा होता है.

यह भी पढ़े: मदर्स केयर- बच्चों की खांसी के 15 घरेलू असरदार उपाय (Mothers Care- 15 Tips For Relieving In Baby Cough)

* नीम के बीज को पानी में भिगोकर व पीसकर तथा पोटली बनाकर योनि पर रखने से योनि का दर्द समाप्त हो जाता है.

* नीम की पत्तियों को पीसकर हाथ-पैरों पर लेप करने से जलन शांत होती है.

* मलेरिया में नीम के रस का काढ़ा सर्वोत्तम दवा है. 50 ग्राम नीम के पत्ते को 4-5 काली मिर्च मिलाकर पीसें. इसे गर्म पानी में घोलकर पिलाएं. मलेरिया ठीक हो जाएगा.

* नीम की पत्तियों के रस में शहद मिलाकर चाटने से पेट के कीड़े मर जाते हैं. शहद की जगह हींग भी मिला सकते हैं.

* नकसीर फूटती हो तो नीम की छाल को पानी में पीसकर गाढ़ा लेप बनाएं. इस लेप को माथे पर लगाने से नकसीर से राहत मिलती है.

* खसरा होने पर नीम की कच्ची कोपलें तथा काली मिर्च बराबर मात्रा में पीसकर प्रतिदिन खाएं. खसरा सूखने पर नीम के पानी से नहलाएं तथा नीम का ही तेल लगाएं.

* शरीर में अम्लपित्त की वजह से कई विकार पैदा हो जाते हैं. ऐसे में नीम की छाल, सोंठ और काली मिर्च बराबर मात्रा में लेकर चूर्ण बनाएं. 20 ग्राम चूर्ण रोज़ सवेरे ताज़े पानी के साथ लेने से अम्लपित्त की शिकायत दूर हो जाती है.

–  शिल्पी शर्मा

दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें-  Dadi Ma Ka Khazana

सूजी हुई आंखें ठीक करने के 10 घरेलू उपाय (10 Best Home Remedies To Get Rid Of Puffy Eyes)

सूजी हुई आंखें (Swollen Eyes) ठीक करने के 10 घरेलू उपाय (Home Remedies) से आप आसानी से आंखों की सूजन कम कर सकती हैं. अक्सर ज़्यादा देर तक सोने से सूजी हुई आंखें हमारी ख़ूबसूरती बिगाड़ देती हैं. आंखों में सूजन के और भी कई कारण हैं, जैसे- नमक का अधिक सेवन, शरीर में पानी की कमी, सिगरेट-शराब की लत आदि. ऐसे में सूजी हुई आंखें ठीक करने के 10 घरेलू उपाय आपके बहुत काम आ सकते हैं.

Puffy Eyes Remedies

सूजी हुई आंखें ठीक करने के 10 घरेलू उपाय

1) छोटे प्लास्टिक बैग में बर्फ के कुछ टुकड़े भरें और 10-15 मिनट के लिए आंखों पर रख दें या धीरे-धीरे आंखों के आसपास घुमाती रहें. ऐसा करने से आंखों की सूजन कम होगी.

2) खुली आंखों में ठंडे पानी की छींटें मारने से भी आंखों की सूजन कम होती है.

3) यदि सुबह उठकर तुरंत कहीं बाहर जाना हो, तो कंसीलर लगाकर आप अपने आंखों की सूजन को कुछ हद तक छुपा सकती हैं.

4) आंखों पर खीरा लगाने से भी आंखों की सूजन कम होती है और ठंडक का एहसास होता है.

5) आंखों पर टीबैग्स रखकर भी आप आंखों की सूजन कम कर सकती हैं. इसके लिए उबले पानी में टीबैग्स डालें और उन्हें ठंडा होने के लिए रख दें. फिर ठंडे टीबैग्स को कुछ समय के लिए आंखों पर रखें.

यह भी पढ़ें: सर्दियों में सनटैन से बचने के 10 घरेलू नुस्ख़े (10 Natural Home Remedies To Remove Sun Tan Instantly)

 

6) रात में नमकीन भोजन खाने या रोने से भी सुबह आंखों के नीचे बैग्स दिखाई देते हैं या आंखें सूजी हुई नज़र आती हैं. ऐसे में अधिक पानी पीकर आप शरीर से अधिक नमक को बाहर निकाल सकती हैं. ऐसी स्थिति में चाय-कॉफी या अल्कोहल से भी दूर रहना चाहिए.

7) आंखों की सूजन से बचने के लिए ज़्यादा नमक खाने से बचें, शरीर में नमक की अधिकता के कारण भी आंखों में सूजन हो जाती है.

8) दिनभर में 8-10 ग्लास पानी ज़रूर पीएं. पानी शरीर के टॉक्सिन को बाहर निकालने में सहायक है, जिससे त्वचा में निखार आता है.

9) चाय-कॉफी की बजाय ग्रीन टी का इस्तेमाल करें, इससे शरीर में पानी की मात्रा संतुलित रहेगी और आपकी त्वचा को नुक़सान नहीं होगा.

10) रोज़ाना रात को सोने से पहले रुई या कॉटन पैड को दूध में डुबोकर आंखों पर रखें. 10 मिनट बाद हटाकर सो जाएं. सुबह आंखें फ्रेेश नज़र आएंगी.

हेल्थ टिप: यदि घरेलू उपाय करने से भी आंखों की सूजन कम न हो, तो इसे नज़रअंदाज़ न करें और डॉक्टर से संपर्क करें.

यह भी पढ़ें: सर्दियों में फटे होंठों को मुलायम बनाने के 5 आसान घरेलू उपाय (5 Best Home Remedies To Get Rid Of Chapped Lips In Winter)

मुंह/सांसों की बदबू से छुटकारा पाने के 5 घरेलू उपाय (5 Home Remedies To Get Rid Of Bad Breath Instantly)

मुंह/सांसों (Mouth/Breath) की बदबू हटाने के 5 घरेलू उपाय (Home Remedies) अपनाकर आप मिनटों में मुंह/सांसों की बदबू से छुटकारा पा सकते हैं. मुंह/सांसों की बदबू हटाने के 5 घरेलू उपाय बहुत ही कारगर हैं और इनके कोई साइड इफेक्ट भी नहीं हैं. यदि आप भी मुंह/सांसों की बदबू से परेशान रहते हैं और सांसों की बदबू की वजह से आपको भी शर्मिंदा होना पड़ता है, तो मुंह/सांसों की बदबू हटाने के 5 घरेलू उपाय ज़रूर ट्राई करे.

Home Remedies For Bad Breath

मुंह /सांसो की बदबू के 5 प्रमुख कारण
जिन लोगों के मुंह /सांसो से बदबू आती है, उन्हें इसके कारण अक्सर शर्मिंदगी महसूस होती है. मुंह /सांसो की बदबू के 5 प्रमुख कारण हैं:

1) लहसुन-प्याज़, तैलीय पदार्थ आदि का अधिक सेवन करने से मुंह /सांसो से बदबू आती है.
2) अधिक समय तक खाली पेट रहने या डायटिंग करने से मुंह /सांसो से बदबू आती है.
3) धूम्रपान या मादक पदार्थों का सेवन करने से मुंह /सांसो से बदबू आती है.
4) दांतों की सफाई ठीक से न करने से मुंह /सांसो से बदबू आती है.
5) दांतों की बीमारियों के कारण भी मुंह /सांसो से बदबू आती है.

यह भी पढ़ें: दांतों की देखभाल के 5 आसान घरेलू उपाय (5 Homemade Dental Care Remedies)

 

मुंह/सांसों की बदबू हटाने के 5 घरेलू उपाय जानने के लिए देखें वीडियो:

सर्दियों में सनटैन से बचने के 10 घरेलू नुस्ख़े (10 Natural Home Remedies To Remove Sun Tan Instantly)

सर्दियों (Winter) में सनटैन (Sun Tan) से बचने के 10 घरेलू नुस्ख़े (Home Remedies) अपनाकर आप भी सनटैन से बच सकती हैं. अक्सर लोगों को ये लगता है कि सनटैन से बचने की या सनस्क्रीन यूज़ करने की ज़रूरत स़िर्फ गर्मियों में पड़ती है, बरसात या सर्दियों में सनटैन की चिंता करने की कोई ज़रूरत नहीं है, लेकिन ऐसा नहीं है. सनटैन से बचने की ज़रूरत हर मौसम में होती है. सर्दियों में सनटैन से बचने के 10 घरेलू नुस्ख़े आज़माकर आप आसानी से सनटैन से बच सकती हैं और अपनी स्किन को यंग और ख़ूबसूरत बनाए रख सकती हैं.

Home Remedies To Remove Sun Tan

सर्दियों में सनटैन से बचने के 10 घरेलू नुस्ख़े

1) दही में ककड़ी का गूदा मिलाकर चेहरे पर लगाएं. इससे सनटैन भी दूर होगा और स्किन स्मूद बनेगी.
2) धूप में निकलने से 20-25 मिनट पहले चेहरे व हाथ-पैर में नारियल तेल लगाएं. ये प्राकृतिक तरी़के से सनटैन दूर करता है.
3) नारियल तेल में कद्दूकस किया हुआ कोको बटर और थोड़ा-सा पानी मिलाकर अपना सनस्क्रीन लोशन बनाएं.
4) ताज़ा दही भी अप्लाई कर सकती हैं. चाहें तो टमाटर व नींबू का रस भी मिला सकती हैं.
5) तिल का तेल अपने आप में बहुत अच्छा सनस्क्रीन लोशन है.

यह भी पढ़ें: सर्दियों में फटे होंठों को मुलायम बनाने के 5 आसान घरेलू उपाय (5 Best Home Remedies To Get Rid Of Chapped Lips In Winter)

6) ककड़ी को छीलकर मैश करके पतले कपड़े से छान लें. इसमें 1 टीस्पून गुलाबजल और ग्लिसरीन मिलाकर सनस्क्रीन लोशन की तरह यूज़ करें.
7) तिल का तेल और एवोकैडो ऑयल को मिक्स करें और उसमें कोको बटर मिलाकर गाढ़ा सनस्क्रीन लोशन बनाएं.
8) 2-3 आलू को छीलकर पीस लें. इसे स्किन पर लगाएं. आधे घंटे तक सूखने दें. फिर ठंडे पानी से धो लें.
9) बेसन में पानी या गुलाबजल मिलाकर पेस्ट बनाएं. इसे चेहरे पर लगाकर 20 मिनट तक रहने दें.
10) एसेंशियल लैवेंडर ऑयल की 15 बूंदों में 2-2 बूंदें कैमोमॉइल और मार्जोरम ऑयल मिलाएं. सनटैन दूर करने के लिए यह एक बेहतरीन प्राकृतिक सनस्क्रीन रेसिपी है.

यह भी पढ़ें: सीखें लिप केयर स्टेप बाय स्टेप (Essential Lip Care Routine Step By Step)

 

गोरी-सुंदर त्वचा के लिए घर पर बनाएं स्क्रब, देखें वीडियो

 

 

5 घरेलू नुस्ख़े देते हैं बच्चों को खांसी-ज़ुकाम से छुटकारा (5 Best Home Remedies For Treating Cough In Kids)

जी हां, 5 घरेलू नुस्ख़े (Home Remedies) देते हैं बच्चों (Kids) को खांसी-ज़ुकाम (Cough – Cold) से छुटकारा और नुस्ख़े बहुत ही आसान और असरदार हैं. सर्दी का मौसम आते ही माएं अपने बच्चों को ढेर सारे कपड़े और सिर पर ऊन की टोपी पहना कर रखती हैं. उन्हें डर रहता है कि उनके बच्चे को कहीं खांसी-ज़ुकाम न हो जाए. 5 घरेलू नुस्ख़े देते हैं बच्चों को खांसी-ज़ुकाम से छुटकारा, इन उपायों पर अमल करने से बच्चों को खांसी-ज़ुकाम से तुरंत राहत मिलती है.

कौन-से 5 घरेलू नुस्ख़े देते हैं बच्चों को खांसी-ज़ुकाम से छुटकारा, जानने के लिए देखें वीडियो:

 

बच्चों को खांसी-ज़ुकाम से छुटकारा दिलाने वाले असरदार घरेलू नुस्ख़े

1) रात में सोते समय तुलसी का रस उसकी नाक, कान और माथे पर मलें.
2) नवजात शिशु को शहद चटाएं. इससे उसे ठंड नहीं लगेगी.
3) शिशु के सोने वाली जगह के आस-पास कपड़े की पोटली में प्याज़ को कुचल कर बांध कर रख दें.
4) कभी-कभी कुनकुने पानी में नीम की पत्तियां उबालकर शिशु को उससे स्पंज करें.
5) नहलाने से पहले शहद पर नींबू का रस निचोड़कर बच्चे की छाती पर मलें. यह बच्चे को सर्दी से बचाने के लिए कवच की तरह काम करेगा.

यह भी पढ़ें: बच्चों को गैस से राहत दिलाने के 5 अचूक घरेलू नुस्ख़े (5 Home Remedies To Treat Gas Problems In Children)

Home Remedies For Treating Cough In Kids

बच्चों को खांसी-ज़ुकाम से छुटकारा दिलाने वाले अन्य उपयोगी घरेलू उपाय
* जिस कमरे में बच्चा सोता हो वहां खिड़कियां बंद न रखें, न ही अंगीठी या हीटर का प्रयोग करें.
* नवजात शिशु के शरीर पर हल्के हाथों से राई के तेल की मालिश करके कम से कम कपड़े पहनाकर सुबह के समय गुलाबी धूप में थोड़ी देर सुलाएं. इससे बच्चे को कभी भी सर्दी नहीं होगी और न कभी न्यूमोनिया होगा.
* तुलसी के रस के सेवन से सर्दी का प्रकोप कभी नहीं होगा.
* बादाम की 5 गिरी, 5 मुनक्का और 5 काली मिर्च- इन्हें मिश्री के साथ पीसकर गोली बना लें. 4-4 घंटे पर एक गोली चूसने को दें. इससे खांसी दूर हो जाएगी.
* बड़ी इलायची का पाउडर 2-2 ग्राम दिन में तीन बार पानी के साथ लेने से सभी प्रकार की खांसी से आराम मिलता है.
* आधा चम्मच तुलसी के रस में आधा चम्मच शहद मिलाकर दिन में तीन बार बच्चे को पिलाएं. सर्दी-खांसी में आराम मिलेगा.

यह भी पढ़ें: दांतों की देखभाल के 5 आसान घरेलू उपाय (5 Homemade Dental Care Remedies)

* खांसी होने पर बच्चे को वंशलोचन पीसकर शहद के साथ चटाएं.
* थोड़ा-सा सरसों का तेल रोज़ाना उसकी छाती और गुदा पर लगाएं, जल्द आराम मिलेगा.
* थोड़ा-सा सोंठ का चूूर्ण गुड़ व घी के साथ मिलाकर चटाने से बच्चे की खांसी-ज़ुकाम ठीक होता है.
* आधा इंच अदरक व 1 ग्राम तेजपत्ता को एक कप पानी में भिगोकर काढ़ा बनाएं. इसमें एक चम्मच मिश्री मिलाकर 1-1 चम्मच की मात्रा में तीन बार पिलाएं. दो दिन में ही खांसी-ज़ुकाम ठीक हो जाएगा.
* बच्चे की छाती में कफ जम जाए तो थोड़ा-सा गाय का घी मलें. कफ पिघलकर बाहर आ जाएगा.

 

 

सर्दियों में फटे होंठों को मुलायम बनाने के 5 आसान घरेलू उपाय (5 Best Home Remedies To Get Rid Of Chapped Lips In Winter)

Get Rid Of Chapped Lips In Winter

सर्दियों में फटे होंठों को मुलायम बनाने के 5 आसान घरेलू उपाय आपके बहुत काम आ सकते हैं. ये आसान और असरदार घरेलू उपाय सर्दियों में भी आपके होंठों को मुलायम और गुलाबी बनाए रखेंगे. सर्दियों में यदि होंठों की सही देखभाल न की जाए, तो होंठ फटने लगते हैं और कई बार उनमें से खून भी आने लगता है, जिससे बहुत दर्द होता है. सर्दियों में फटे होंठों को मुलायम बनाने के 5 आसान घरेलू उपाय अपनाकर आप भी अपने होंठों को फटने से बचा सकती हैं और उन्हें मुलायम व गुलाबी बनाए रख सकती हैं.

Get Rid Of Chapped Lips In Winter

सर्दियों में फटे होंठों को मुलायम बनाने के 5 आसान घरेलू उपाय

1) सर्दियों मेें रोज़ सुबह पूरे शरीर की तेल मालिश करनी चाहिए. सर्दियों मेें रोज़ सुबह तेल मालिश करते समय नाभि में भी 3-4 बूंद सरसों के तेल को टपका लेें. ऐसा करने से होंठ नहीं फटते.

2) रोज़ान रात में सोने से पहले हल्का-सा मक्खन होंठों पर एक मिनट तक लगाएं. ऐसा करने से होंठ मुलायम और गुलाबी बने रहते हैं.

3) एक छोटा चम्मच गुलाबजल में तीन-चार बूंद ग्लिसरीन को मिलाकर रख लेें. इसे दिन में 3-4 बार होंठोें पर लगाएं. ऐसा करने से होंठ सॉफ्ट और पिंक नज़र आते हैं.

यह भी पढ़ें: 10 बेस्ट विंटर मेकअप टिप्स (10 Best Winter Makeup Tips)

4) गर्म रोटी पर जो घी लगा होता है, उसे उंगली से होेंठों पर मलें. ये फटे होंठों को मुलायम बनाने का सबसे आसान घरेलू उपाय है.

5) डेढ़ चम्मच कैस्टर ऑयल और दो चम्मच वैसलिन मिलाकर होंठों पर कम से कम दो बार हल्के हाथों से लगाएं. ऐसा नियमित रूप से करने से आपके होंठ सर्दियों में भी सॉफ्ट बने रहेंगे.

10 होममेड फेस पैक से पाएं ख़ूबसूरत त्वचा, देखें वीडियो:

 

क्या मैं डार्क सर्कल को मेकअप से छुपा सकती हूं? (How To Hide Dark Circles By Makeup)

मेरी आंखों के नीचे डार्क सर्कल (Dark Circles) हैं, जिससे मेरा चेहरा बेजान नज़र आता है. अच्छे आउटफिट और महंगे मेकअप प्रॉडक्ट्स यूज़ करने के बाद भी चेहरा ख़ूबसूरत नहीं दिखता. कृपया कोई ऐसी ट्रिक बताइए, जिससे डार्क सर्कल छुप जाएं और आंखें सुंदर दिखें. क्या मैं डार्क सर्कल (Dark Circles) को मेकअप (Makeup) से छुपा (Hide) सकती हूं?

Dark Circles

हां, मेकअप से आप आसानी से डार्क सर्कल छुपा सकती हैं. आप मेकअप करते समय कंसीलर या कलर करेक्टर का इस्तेमाल करें. कंसीलर या कलर करेक्टर का इस्तेमाल करके आप अपने डार्क सर्कल आसानी से छुपा सकती हैं. कंसीलर या कलर करेक्टर का इस्तेमाल करने के बाद ही मेकअप करें. ऐसा करने से आपकी आंखें ख़ूबसूरत दिखेंगी और हाईलाइट होंगी.

यह भी पढ़ें: मेरे नाखून बार-बार टूट क्यों जाते हैं? (10 Nail Care Tips Every One Should Know)

 

डार्क सर्कल से छुटकारा पाने के लिए आप 5 घरेलू उपाय भी ट्राई कर सकती हैं. 5 घरेलू नुस्खों से भी आप डार्क सर्कल से छुटकारा पा सकती हैं.

1) रोज़ाना सोने से पहले आंखों के काले घेरों पर बादाम का तेल लगाकर हल्के हाथों से मसाज करें. सुबह उठने के बाद ठंडे पानी से आंखें धो दें. काले घेरे ख़त्म होने तक इस उपाय को अपनाएं.

2) आंखों के नीचे एक्स्ट्रा वर्जिन कोकोनट ऑयल लगाकर हल्के हाथों से मालिश करें और कुछ घंटों के लिए छोड़ दें. यह प्रक्रिया कुछ महीनों तक रोज़ाना दोहराएं. नारियल का तेल आंखों के आस-पास की त्वचा को मॉइश्‍चराइज़ करने के अलावा महीन रेखाओं, सूजन व काले घेरों को भी कम करता है.

3) आलू को कद्दूकस करके रस निकालें और कॉटन बॉल्स की मदद से काले घेरों पर लगाएं. 20 मिनट बाद ठंडे पानी से धो दें. आलू में नैचुरल ब्लीचिंग एजेंट्स पाए जाते हैं, जो आंखों के नीचे के काले घेरों व सूजन को कम करने में मदद करते हैं.

4) खीरे-खीरे के मोटे-मोटे स्लाइसेज़ काट कर फ्रिज में 30 मिनट के लिए ठंडा होने के लिए रख दें. इन स्लाइसेज़ को आंखों पर 10 मिनट के लिए रखें. फिर आंखों को पानी से धोएं. इस प्रक्रिया को दिन में दो बार हफ़्तेभर दोहराएं. खीरे में स्किन लाइटनिंग व माइल्ड एस्ट्रिंजेन्ट सत्व पाए जाते हैं, जो डार्क सर्कल्स हटाने में मददगार होते हैं. खीरा आंखों को ठंडक भी पहुंचाता है.

5) एक टीस्पून टमाटर के रस में आधा टीस्पून नींबू का रस मिलाकर आंखों के काले घेरों पर लगाएं, 10 मिनट बाद फिर ठंडे पानी से धो दें. इस प्रक्रिया को हफ़्ते में दो बार दोहराएं.

गोरी-सुंदर त्वचा पाने के लिए घर पर बनाएं फेस स्क्रब, देखें वीडियो: 

सीताफल के अनगिनत फ़ायदे (Profound Benefits Of Custard Apple)

Benefits Of Custard Apple

Benefits Of Custard Apple

विटामिन से भरपूर सीताफल के कई बेहतरीन फ़ायदे (Benefits Of Custard Apple) हैं. सीताफल एक मीठा व स्वादिष्ट फल होने के साथ-साथ अनगिनत औषधीय गुणों से भरपूर है. सीताफल शरीर को शीतलता पहुंचाता है. यह पित्तशामक, पौष्टिक, रक्तवर्द्धक, वातदोषशामक और हृदय के लिए बहुत ही लाभदायक है. इसमें मौजूद विटामिन ए त्वचा, बालों और आंखों के लिए बेहद उपयोगी है. विटामिन सी से भरपूर होने के कारण यह रोगप्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है. इसमें प्रचुर मात्रा में पोटैशियम व मैग्नीशियम होता है, जो हृदय को स्वस्थ रखने में मदद करता हैै.

*    सीताफल का नियमित सेवन करने से दांत व मसूड़ों में होनेवाले दर्द से छुटकारा मिलता है.

*    सीताफल आंखों की देखने की क्षमता बढ़ाता है, क्योंकि इसमें विटामिन सी और राइबोफ्लेविन काफ़ी ज़्यादा होता है. इससे चश्मे का नंबर भी दूर किया जा सकता है.

*    यदि डायरिया की समस्या हो, तो कच्चे सीताफल को काटकर सुखा लें. फिर इसे पीसकर मरीज़ को खिलाएं. इससे काफ़ी आराम मिलता है.

*    सीताफल का नियमित सेवन करने से शरीर का एनर्जी लेवल बढ़ता है. ये दिमाग़ को रिलैक्स कर अनिद्रा, थकान व मानसिक तनाव को दूर करने में भी मदद करता है.

यह भी पढ़े: पेट में कीड़े हो तो आज़माएं ये घरेलू इलाज (Get Rid Of Intestinal Worms With These Effective Home Remedies)

*    जूं की परेशानी में सीताफल बेहद उपयोगी है. इसके लिए सीताफल के बीजों का बारीक़ चूर्ण बनाकर थोड़ा-सा पानी डालकर पेस्ट तैयार कर लें. इसे रात को बालों में लगाएं, सुबह बाल धो लें. दो-तीन दिन तक ऐसा करने से जुएं ख़त्म हो जाएंगे.

*    सीताफल में लौह तत्व की प्रचुरता होने से यह एनीमिया में फायदेमंद है.

* बाल कम होने या फिर गंजेपन में भी सीताफल उपयोगी है. सीताफल के बीज को बकरी के दूध के साथ पीसकर पेस्ट बना लें. इसे अच्छी तरह से बालों में लगा लें. इससे बाल बढ़ते हैं. साथ ही इससे मस्तिष्क को ठंडक भी मिलती है.

*    सीताफल में विटामिन सी की पर्याप्त मात्रा होने से ये शरीर से विषैले तत्वों को निकालने में मदद करता है. इसके अलावा इससे त्वचा भी निखरती है.

*    रिसर्च के अनुसार, सीताफल में ऐसे कई पोषक तत्व हैं, जो कैंसर से बचाव करते हैं. इसमें मौजूद ऐलकोनॉइड्स व एसिटोजिनिन ट्यूमर सेल्स को बढ़ने से रोकते हैं.

*    सीताफल का छिलका पीसकर सेवन करने से पतले दस्त या आंव की समस्या दूर होती है.

*    बच्चे के कान में दर्द हो, तो सीताफल के गूदे के रस में कुछ बूंद गाय का ताज़ा दूध मिलाकर कान में डालें.

यह भी पढ़े: कपूर के 23 चमत्कारी फ़ायदे (23 Miraculous Benefits Of Camphor (Kapur) You Must Know)

*    सीताफल खाने से ब्लड शुगर लेवल कम होता है, इस कारण डायबिटीज़ की प्रॉब्लम से बचा जा सकता है.

*    जो काफ़ी दुबले-पतले हैं और अपना वज़न बढ़ाना चाहते हैं, उन्हें नियमित रूप से सीताफल का सेवन करना चाहिए.

*    शरीर में कहीं भी दर्द हो, तो सीताफल के गूदे का रस निकालकर लगाने से दर्द में राहत मिलती है.

*    गठिया यानी जोड़ों के दर्द में सीताफल का सेवन काफ़ी फ़ायदेमंद है.

*    यदि आपका शरीर हमेशा गर्म रहता है, तो आपको नियमित रूप से सीताफल का सेवन करना चाहिए. इससे शरीर का ताप

संतुलित रहेगा.

*    सीताफल के पत्ते व छाल भी उपयोगी होते हैं, इससे फोड़े-फुंसी में आराम मिलता है.

सुपर टिप

सीताफल में मौजूद कॉपर व डायटरी फाइबर अपच, कब्ज़ व अन्य पेट संबंधी समस्याओं को दूर करने में काफ़ी कारगर साबित होते हैं.

– अभिषेक गुप्ता

दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें-  Dadi Ma Ka Khazana

बालों को सॉफ्ट और चमकदार बनाने के 10 आयुर्वेदिक घरेलू उपाय (10 Ayurvedic Hair Care Tips For Every Hair Types)

बालों (Hairs) को सॉफ्ट और चमकदार बनाने के 10 आयुर्वेदिक घरेलू उपाय (Ayurvedic Home Remedies) हर महिला को ज़रूर ट्राई करने चाहिए. बालों को सॉफ्ट और चमकदार बनाने के 10 आयुर्वेदिक घरेलू उपाय ड्राई, ऑयली और नॉर्मल यानी हर तरह के बालों के लिए बहुत उपयोगी हैं. आप भी यदि अपने बालों को स्वस्थ और सुंदर बनाना चाहती हैं, तो बालों को सॉफ्ट और चमकदार बनाने के 10 आयुर्वेदिक घरेलू उपाय ज़रूर अपनाएं.

Ayurvedic Hair Care Tips

1) रात को सोते समय नारियल तेल से हल्के हाथों से बालों की मालिश करें. हफ़्ते में 3-4 बार ऐसा करने से बाल जल्दी स़फेद नहीं होंगे.
2) कड़वे परवल के पत्तों को पीसकर रस निकालें और उसे सिर पर लगाए. 2-3 महीने तक ऐसा करने से बालों का झड़ना बंद हो जाएगा.
3) आंवला, मुल्तानी मिट्टी, दही, शिकाकाई, रीठा और बेसन से बाल धोने से भी रूसी की समस्या से छुटकारा मिलता है.
4) आम की गुठली के साथ आंवले पीसकर रात को सोते समय सिर पर लेप करें और सुबह उसे धो डालें. इससे बाल लंबे, काले और मुलायम होते हैं.
5) लोहे के बर्तन में आंवले के चूर्ण को पानी में भिगोकर रखें और इसका लेप बालों में लगाएं. इससे बाल स्वस्थ और काले होते हैं.

यह भी पढ़ें: कर्ली बालों की देखभाल के 10 आसान तरीक़े (10 Must Know Tips For Curly Hair)

6) नींबू के रस में आंवले का चूर्ण मिलाकर बालों की जड़ों में लगाने से बाल बहुत जल्दी बढ़ते हैं.
7) रात को सोने से पहले नारियल या जैतून का तेल बालों में लगाएं और सुबह नहाने से पहले नींबू का रस लगाएं. रूसी ख़त्म हो जाएगी.
8) एक भाग शहद में दो भाग नींबू का रस मिलाकर बालों की जड़ों में रोज़ मलें और मलने के आधे घंटे बाद धो डालें. इस प्रयोग को नियमित करने से बाल संबंधी आपकी सारी शिकायतें दूर हो जाएंगी और बाल लंबे, घने और काले बन जाएंगे.
9) छाछ को बालों में 10-15 मिनट तक लगाकर रखें. फिर साफ़ पानी से धो लें. बाल काले और चमकीले दिखेंगे.
10) बालों में चमक लाने के लिए पानी में नींबू का रस मिलाकर बाल धोएं.

बाल तेज़ी से बढ़ाने के घरेलू नुस्ख़े जानने के लिए देखें वीडियो:

 

 

 

दिवाली में 10 ब्यूटी टिप्स से पाएं नया निखार (10 Best Skin Care Tips For Diwali)

दिवाली (Diwali) में 10 ब्यूटी टिप्स (Beauty Tips) आज़माएं और मिनटों में पाएं नया निखार. जी हां, यदि आप बहुत बिज़ी रहती हैं और आपके पास स्किन केयर (Skin Care) के लिए टाइम नहीं है, तो अब आपको परेशान होने की कोई ज़रूरत नहीं. आपकी ख़ूबसूरती को और निखारने के लिए हम आपको बता रहे हैं 10 आसान ब्यूटी टिप्स. ये 10 बेस्ट होममेड ब्यूटी टिप्स मिनटों में आपकी स्किन को देंगे नया निखार.

Best Skin Care Tips

1) एक कप चाय का पानी, 2 टेबलस्पून चावल का आटा और आधा टेबलस्पून शहद मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बनाएं और चेहरे पर लगाएं. 15 मिनट बाद एक और लेयर लगाएं. 25 मिनट बाद चेहरा धो लें. चेहरे पर इंस्टेंट निखार आ जाएगा. अगर आपकी स्किन को स्क्रबिंग की ज़रूरत है, तो चेहरा धोते समय हल्के हाथों से मसाज करें.
2) ओट्स को पका लें. इसमें नींबू का रस, ग्लिसरीन और पानी मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लें. चेहरे को अच्छी तरह क्लींज़ करके ये पैक लगाएं. 25 मिनट बाद स्क्रबिंग करते हुए चेहरा धो लें. इससे फेयर कॉम्प्लेक्शन तो मिलेगा ही, अनचाहे बालों और एक्ने से भी छुटकारा मिलेगा.
3) एक टेबलस्पून बेसन में एक टेबलस्पून नींबू का रस और आधा टीस्पून हल्दी पाउडर मिलाकर चेहरे पर लगाएं. सूखने पर रब करते हुए धो लें.
4) जीरा को पानी में उबाल लें. इस पानी से चेहरा धोएं. स्किन ग्लो करने लगेगी.
5) मसूर दाल को दूध या दही में भिगो दें. इसका पेस्ट बनाकर चेहरे पर लगाएं. 15 दिनों तक लगातार इस्तेमाल से त्वचा की रंगत निखरने लगेगी.

यह भी पढ़ें: सीखें लिप केयर स्टेप बाय स्टेप (Essential Lip Care Routine Step By Step)

6) चेहरे पर गुलाबजल या ककड़ी का रस लगाएं. इस्तेमाल से पहले इसे फ्रिज में रखकर ठंडा कर लें. कुछ ही दिनों में त्वचा की रंगत खिल जाएगी.
7) काली उड़द दाल और बादाम को कच्चे दूध में रातभर भिगोकर रखें. सुबह इसका पेस्ट बनाकर चेहरे पर लगाएं. चेहरा दमकने लगेगा.
8) तिल को पीस लें. इसमें थोड़ा पानी मिलाकर छान लें. इस पानी को चेहरे पर लगाएं. थोड़ी देर बाद धो दें.
9) पाइनेप्पल जूस अप्लाई करें. ये फेयरनेस पाने का ईज़ी तरीक़ा है.
10) चेहरे पर गुलाबजल या ककड़ी का रस लगाएं. इस्तेमाल से पहले इसे फ्रिज में रखकर ठंडा कर लें. कुछ ही दिनों में त्वचा की रंगत खिल जाएगी.

ग्लोइंग स्किन के लिए लगाएं 10 फेस पैक, देखें वीडियो:

 

मेरे बालों में बार-बार डैंड्रफ (रूसी) क्यों हो जाता है? (How To Get Rid Of Dandruff Permanently)

मेरे बालों (Hair) में बार-बार डैंड्रफ (Dandruff) क्यों हो जाता है? डैंड्रफ (रूसी) दूर करने के लिए मैंने तरह-तरह के शैम्पू इस्तेमाल किए, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. बालों में बार-बार होने वाली की रूसी (डैंड्रफ) से छुटकारा पाने के लिए मुझे क्या करना चाहिए? कृपया बालों की रूसी से छुटकारा पाने का आसान और असरदार उपाय बताएं.
– निहारिका गोयल, जयपुर

Dandruff Problems

डैंड्रफ (रूसी) की समस्या आमतौर पर फंगल इंफेक्शन के कारण होती है. इसे दूर करने के लिए केटोकोनाज़ोल, ज़िंक फिरिथॉइन, किक्लोपिरॉक्स युक्त शैम्पू का प्रयोग करें. शैम्पू हमेशा गीले बालों में लगाएं और इसे लगाकर 2-4 मिनट के लिए छोड़ दें और उसके बाद बालों को धोएं. अपने हेयर ब्रश और कंघी को भी नियमित अंतराल पर साफ़ करती रहें. अगर एंटी डैंड्रफ शैम्पू से फायदा नहीं हो रहा, तो एंटी फंगल लोशन स्कैल्प पर लगाकर रात भर छोड़ दें. यदि फिर भी समस्या वैसी ही बने रहे तो डर्मेटोलॉजिस्ट से संपर्क करें.

यह भी पढ़ें: गंजापन रोकने के 5 कारगर घरेलू उपाय (Top 5 Home Remedies To Get Rid Of Baldness Naturally)

 

डैंड्रफ (रूसी) से छुटकारा पाने के 5 आसान घरेलू उपाय

1) नींबू का रस और नारियल का तेल मिलाकर बालों में लगाने से भी रूसी समाप्त हो जाती है.
2) 100 ग्राम आंवला, रीठा और शिकाकाई को दो लीटर पानी में उबालें, जब मिश्रण आधा रह जाए, तो उसे शैंपू की तरह इस्तेमाल करें.
3) 2 चम्मच सिरके का रस 4 चम्मच पानी में मिलाकर बालों की जड़ों में लगाकर अच्छे से मालिश करें. इससे रूसी से छुटकारा मिल जाता है.
4) दो एस्पिरीन की गोलियों को एंटी डैंड्रफ़ शैंपू में मिलाकर बाल धोेेएं. लेकिन कंडीशनर लगाना ना भूलें. इससे रूसी की शिकायत दूर हो जाती है.
5) 100 मिली नारियल का तेल लेकर उसमें 3 ग्राम कपूर पीसकर मिला लें. इस तेल का प्रयोग रोज़ रात में करें. जड़ोें में अच्छी तरह से मसाज करें. रूसी गायब हो जाएगी.

बाल तेज़ी से बढ़ाने के आसान उपाय जानने के लिए देखें वीडियो:

पेट में कीड़े हो तो आज़माएं ये घरेलू इलाज (Get Rid Of Intestinal Worms With These Effective Home Remedies)

मनुष्य के पेट (Stomach) में विशेषकर आंतों (Intestines) में विभिन्न प्रकार के कीड़े (Worms) पाए जाते हैं. पाचन संस्थान से संबंधित इन कीड़ों को ही आम लोग पेट के कीड़े (Stomach Worms) के नाम से संबोधित करते हैं. ये कई तरह के होते हैं, जो तरह-तरह के विकारों को उत्पन्न करते हैं.

Home Remedies For Intestinal Worms

मधुर-अम्ल पदार्थों का अधिक सेवन तथा अजीर्ण रहने पर भी भोजन करना पेट के कीड़ों को पैदा करने में मुख्य भूमिका अदा करते हैं. इसके अतिरिक्त पतले पदार्थों तथा गुड़ का अधिक सेवन, व्यायाम न करना या शारीरिक श्रम से बचना, दिन में अधिक सेवन, परस्पर विरुद्ध पदार्थों का सेवन आदि कृमियों के उत्पत्ति के सामान्य कारण हैं. ये कारण कृमियों की उत्पजत्त और उनके विकास के लिए अनुकूल परिस्थिति उत्पन्न करते हैं.

पेट में जब कीड़े हो जाते हैं तो उनके कारण निम्न लक्षण पैदा होते हैं- मिचली, जी मिचलाना, लाल स्राव, अजीर्ण, अरुचि, उल्टी, ज्वर, दुर्बलता, छींक, नज़ला-जुकाम आदि. इसके अतिरिक्त पेट में तीव्र दर्द, भूख की कमी, रक्ताल्पता आदि लक्षण भी पाए जाते हैं.

* नारंगी के सूखे छिलके और बायविडंग दोनों समभाग में लेकर कूट-पीस कर 3 ग्राम चूर्ण को गर्म पानी के साथ प्रतिदिन एक बार तीन दिन तक देने से कीड़े मर जाएंगे. उन मरेग हुए कीड़ों को निकालने के लिए चौथे दिन एरंडी का तेल पिलाएं.

यह भी पढ़े: जायफल के औषधीय 21 गुण (21 Surprising Ways Nutmeg Can Improve Your Health)

* ईख के सिरके में 25 ग्राम चना रात को भिगो दें और सुबह उसे चबा-चबा कर खाएं. आठ घंटे तक कुछ भी न खाएं-पीएं. कीड़े मरकर बाहर निकल आएंगे.

* मूली के रस में  थोड़ा नमक मिलाकर सबिह-शाम दिन में दो बार सेवन कीजिए. इस प्रयोग को निरंतर चार दिनों तक करने के बाद पेट की अंतड़ियों में फंसे सारे कीड़े मल के साथ निकल जाएंगे और आपका पेट एकदम स्वच्छ हो जाएगा.

* पीपल के पंचांग का चूर्ण गुड़ में मिलाएं और सौंफ के अर्क के साथ सुबह-शाम पांच-पांच ग्राम मात्रा में दें. तीन दिनों में सारे कीड़े खत्म हो जाएंगे.

* आपके घर का कोई भी सदस्य पेट के कीड़ों से त्रस्त है और बार-बार इलाज कराने पर भी कीड़ों से मुक्ति नहीं मिल पा रही है, तो आप उसे दिन में तीन-चार बार छाछ पिलाएं. छाछ में भुना हुआ जीरा, थोड़ा नमक और पिसी हुई काली मिर्च डाल सकते हैं. आप देखेंगे कि एक सप्ताह के भीतर ही अंतड़ियों में छुपे पड़े कीड़े बाहर निकल आएंगे.

* छाछ में बायविडंग का चूर्ण मिलाकर पिलाने से छोटे बच्चों के पेट के कीड़े मर जाते हैं या निकल जाते हैं.

* सुबह उठते ही दो-तीन माशा नमक पानी में मिलाकर कुछ दिनों तक नियमित पीने से पेट के भीतर के कीड़े बाहर आ जाते हैं और नये कृमियों की उत्पत्ति रुक जाती है.

यह भी पढ़े: औषधीय गुणों से भरपूर केला (Health Benefits Of Banana)

* सोंठ और बायविडंग के चूर्ण को शहद के साथ सेवन करने से पेट के कीड़े ख़त्म हो जाते हैं.

* कड़ुवे परवल के पत्ते एक तोला और धनिया एक तोला रात को दस-बारह तोला पानी में भिगोकर रखें. सुबह उसे छानकर उसमें शहद मिलाएं. इसे तीन ख़ुराक बनाकर दिन में तीन बार सेवन करने से पेट के कीड़े नष्ट हो जाते हैं.

* सहिजन का क्वाथ शहद में मिलाकर दिन में दो बार पीने से सूक्ष्म से सूक्ष्म कृमि भी निकल जाते हैं.

रोगी को ऐसा आहार न दें जो हजम होने में कठिन हो. अजीर्ण कृमियों की वृद्धि में उपयुक्त वातावरण तैयार करता है, अतः अजीर्ण से बचें. कड़वे आहार ऐसे रोगियों के लिए उपयोगी होते हैं. पत्तेदार आहार, हरड़ व लहसुन पथ्य हैं. चीनी या उससे बने पदार्थों, चॉकलेट आदि से परहेज रखें.

– रेखा गुप्ता

दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें-  Dadi Ma Ka Khazana