Tag Archives: Home remedies

सर्दियों में यूं रखें सेहत का ख़्याल (Winter Health Care)

Winter Health Care

सर्दियों में यूं रखें सेहत का ख़्याल (Winter Health Care)

ठंड का मौसम अपने साथ सर्दी-ज़ुकाम और कई तरह की एलर्जी (Allergies) और इंफेक्शन्स (Infections) लेकर आता है. ऐसे में ज़रूरी है कि आप अपना और अपनों का ख़ास ख़्याल रखें, ताकि सर्दियों (Winter) के सुहाने मौसम का लुत्फ़ उठा सकें.

विंटर हेल्थ प्रॉब्लम्स

सर्दी के मौसम में गठिया और अस्थमा के मरीज़ों की द़िक्क़तें काफ़ी बढ़ जाती हैं. किसी को सालभर पुरानी चोट परेशान करने लगती है, तो किसी को मसल पेन. इनके अलावा और

कौन-कौन-सी बीमारियां हैं, जो सर्दियों के मौसम में आपको परेशान कर सकती हैं, आइए जानें.

सर्दी-खांसी

सर्दी-खांसी एक आम समस्या है, लेकिन सर्दी के मौसम में यह आपको काफ़ी परेशान कर सकती है. यह  रोग काफ़ी संक्रामक होता है, इसलिए अगर घर में किसी को सर्दी है, तो वह  छींकते-खांसते व़क्त रुमाल का इस्तेमाल करे. बहती नाक, सीने में जकड़न, छींकें आना, सिरदर्द, गले में खराश और हल्का बुख़ार इसके लक्षण हैं.

होम रेमेडीज़

–    जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमज़ोर होती है, वे बार-बार सर्दी-ज़ुकाम से परेशान रहते हैं. ऐसे लोगों को, ख़ासतौर से सर्दियों में, आंवले का मुरब्बा खाना चाहिए.

–     आधा टीस्पून शहद में कुछ बूंदें नींबू का रस और चुटकीभर दालचीनी पाउडर मिलाकर दिन में दो बार लें.

–    गुनगुने नींबू पानी में शहद मिलाकर लेने से सर्दी-खांसी से राहत मिलती है.

–     सर्दी-खांसी से राहत पाने के लिए एक कप पानी में थोड़ी-सी अलसी मिलाकर उबालें. पांच मिनट बाद आंच से उतार लें. छानकर उसमें नींबू का रस और शहद मिलाकर पीएं.

–    घी में लहसुन की कुछ कलियां गरम करके खाएं. गरम-गरम लहसुन खाने से खांसी में काफ़ी राहत मिलती है.

–     रात को सोने पर खांसी की समस्या बढ़ जाती है, क्योंकि लेटने पर नाक में मौजूद कफ़ धीरे-धीरे गले तक जाने लगता है, जिससे खांसी बढ़ जाती है. इसके लिए बेहतरीन उपाय है कि आप सिर को थोड़ा ऊंचा रखें. इससे खांसी कम होगी और आप सो भी पाएंगे.

गले में इंफेक्शन

गले में खिचखिच और ड्राईनेस, जो धीरे-धीरे दर्द का कारण बनता है, यह गले के इंफेक्शन के कारण होता है. मौसम में आई ठंडक और इंफेक्शन्स के कारण ऐसा होता है.

होम रेमेडीज़

–    इसके लिए हमारी दादी-नानी का फेवरेट नुस्ख़ा है गरारा करना. गुनगुने पानी में चुटकीभर नमक डालकर गरारा करने से बैक्टीरिया निकल जाते हैं, जिससे गले की खराश से छुटकारा मिलता है. इसे दिन में दो-तीन बार करें.

–     हल्दीवाला दूध भी एक ऐसा ही रामबाण नुस्ख़ा है. यह गले की सूजन और दर्द से राहत दिलाता है. बार-बार होनेवाली खांसी में भी हल्दीवाला दूध काफ़ी राहत पहुंचाता है.

–     एप्पल साइडर विनेगर को आप हर्बल टी या गरारेवाले पानी में डालकर इस्तेमाल करें.

–     लहसुन की एक कली चूसने से भी गले के इंफेक्शन और दर्द से राहत मिलती है.

–     इसके अलावा हर्बल टी और गरमागरम सूप आपके लिए काफ़ी फ़ायदेमंद साबित होगा.

यह भी पढ़ें: पुरुषों में नपुंसकता के कारण व लक्षण (Male Infertility – Symptoms And Causes)

अस्थमा

यह फेफड़े की बीमारी है, जिसमें श्‍वासनली में जलन और दर्द होने लगता है. सीने में जकड़न, छींकें आना, खांसी और सांस फूलना इसके लक्षण हैं. यह दो तरह का होता है, एलर्जिक और नॉन एलर्जिक. एलर्जिक अस्थमा धूल, धुएं, पेंट आदि के कारण होता है, जबकि नॉन एलर्जिक अस्थमा कोल्ड, फ्लू, स्ट्रेस और ख़राब मौसम के कारण होता है.

होम रेमेडीज़

–    एक कप पानी में आधा टीस्पून मुलहठी पाउडर और आधा टीस्पून अदरक मिलाकर चाय बनाकर पीएं.

–     एक ग्लास दूध में आधा टीस्पून कद्दूकस अदरक और आधा टीस्पून हल्दी पाउडर डालकर दिन में दो बार लें.

–     एक कप उबलते पानी में एक टीस्पून दालचीनी पाउडर और 1/4 टीस्पून कालीमिर्च, पिप्पली और सोंठ का समान मात्रा में मिलाया हुआ चूर्ण मिलाकर 10 मिनट तक उबालें. पीने से पहले एक टीस्पून शहद मिलाएं. यह अस्थमा अटैक्स से काफ़ी राहत देता है.

–    एक बाउल गरम पानी में पांच-छह बूंदें लैवेंडर ऑयल डालकर भाप लें.

इन्फ्लूएंज़ा

सर्दियों के मौसम में सर्दी और फ्लू कभी भी किसी को भी अपनी गिरफ़्त में ले सकते हैं. यह एक ऐसी समस्या है, जिसमें आपकी सारी एनर्जी ख़त्म हो जाती है. नाक बहना, सिरदर्द, बदनदर्द, बुख़ार और थकान फ्लू के आम लक्षण हैं.

–     आधा टीस्पून गिलोय को पीसकर एक कप पानी में उबालकर पीएं. इससे फ्लू के लक्षणों से काफ़ी राहत मिलती है.

–     समान मात्रा में शहद और प्याज़ का रस मिलाकर दिन में तीन बार फ्लू जाने तक लें.

–     एक टीस्पून शहद में 10-12 तुलसी की पत्तियों का रस मिलाकर दिन में एक बार लेने से भी राहत मिलती है.

–     गरम पानी में कुछ बूंदें नीलगिरी तेल की डालकर भाप लेने से काफ़ी राहत मिलेगी.

–    एक कप पानी में कालीमिर्च पाउडर, जीरा और गुड़ डालकर उबालें. यह चाय फ्लू के लक्षणों से राहत दिलाती है. आप चाहें, तो गुड़ में तिल मिलाकर उसके लड्डू बनाकर खाएं.

जोड़ों में दर्द

ठंड के कारण मसल्स और हड्डियों में अकड़न-सूजन के कारण यह मौसम कुछ लोगों के लिए कष्टदायक बन जाता है. इसके लिए सबसे अच्छा उपाय है कि सोकर उठने पर आप स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज़ करें.

हल्की-फुल्की एक्सरसाइज़ आपको जोड़ों के दर्द से छुटकारा दिला सकती है.

–     आधी बाल्टी गरम पानी में दो कप सेंधा नमक मिलाकर उसमें टॉवेल डुबोकर प्रभावित जोड़ की सिंकाई करें.

–    रोज़ाना सुबह एक टीस्पून मेथी पाउडर फांककर एक ग्लास गुनगुना पानी पीएं.

–     नीलगिरी के तेल से जोड़ों पर मालिश करें. इससे दर्द और जलन दोनों में आराम मिलता है.

–    रात को सोने से पहले गुनगुने सरसों के तेल से जोड़ों पर मसाज करें. यह प्रभावित जोड़ों में रक्तसंचार बढ़ाता है, जिससे दर्द और अकड़न से राहत मिलती है.

–     एक कप गुनगुने पानी में एक टीस्पून एप्पल साइडर विनेगर और थोड़ा-सा शहद मिलाकर दिन में दो बार खाने से पहले लें.

हार्ट प्रॉब्लम्स

आपको जानकर हैरानी होगी कि ठंड में हार्ट अटैक्स के मामले बढ़ जाते हैं, क्योंकि ठंड के कारण हार्ट की कोरोनरी आर्टरीज़ सिकुड़ने लगती हैं, जिससे ब्लड प्रेशर कम हो जाता है.

–     जिन्हें हार्ट प्रॉब्लम्स हैं, उन्हें ख़ासतौर से सर्दियों में रोज़ाना चार-पांच लहसुन की कलियां खानी चाहिए. यह खून को पतला करने का काम करता है, जिससे ब्लड फ्लो सही तरी़के से होता है.

–     एक ग्लास गुनगुने पानी में आधा टीस्पून अर्जुन की छाल का पाउडर और शहद मिलाकर लें. इससे आपको काफ़ी राहत मिलेगी.

–     अदरक-लहसुन के रस में शहद या गुड़ मिलाकर खाने से भी हार्ट प्रॉब्लम्स में राहत मिलती है.

–     इसके अलावा खानपान का ध्यान रखें. दो बार में हैवी खाने की बजाय चार-पांच बार में थोड़ा-थोड़ा खाएं. अपने वज़न को नियंत्रित रखें. अगर वज़न अचानक से बढ़ने लगे, तो डॉक्टर को बताएं.

– सुनीता सिंह

यह भी पढ़ें: सेहत का हाल बताता है मुंह (What Your Mouth Says About Your Health)

पथरी (स्टोन) से छुटकारा पाने के 5 रामबाण घरेलू उपचार (5 Home Remedies To Prevent And Dissolve Kidney Stones)

पथरी (स्टोन) (Kidney Stones) से छुटकारा पाने के 5 रामबाण घरेलू उपचार (Home Remedies) आप भी ज़रूर ट्राई करें. पथरी यानी स्टोन की समस्या अब आम हो गई है. कई लोग पथरी की समस्या से परेशान रहते हैं और कई लोगों को इसके लिए सर्जरी का सहारा भी लेना पड़ता है. यदि आप भी पथरी की समस्या से परेशान हैं, तो पथरी (स्टोन) से छुटकारा पाने के 5 रामबाण घरेलू उपचार आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होंगे. आपको कभी पथरी न हो यानी पथरी से बचने के लिए भी आप पथरी (स्टोन) से छुटकारा पाने के 5 रामबाण घरेलू उपचार का प्रयोग कर सकते हैं.

Home Remedies To Prevent Kidney Stones

पथरी (स्टोन) की समस्या क्यों होती है?
* कैल्शियम की जमा हो जाना, मूत्रशय नलिका में बाधा आदि पथरी बनने के कारण हैं.
* इसका संबंध हाइपर पैराथायरॉइडिजम से भी होता है. यह अंत:स्रावी ग्रंथियों से जुडी एक विकृति है. इसी के कारण पेशाब में कैल्शियम की मात्रा बढ़ जाती है. ऐसी स्थिति में यदि यह कैल्शियम पेशाब के साथ बाहर निकल जाता है, तो कोई समस्या नहीं होती, लेकिन ये जब गुर्दे की कोशिकाओं में जमा हो जाता है, तो पथरी का रूप ले लेता है.
* पथरी की समस्या सिर्फ बड़ों को नहीं होती, बच्चे भी इसके शिकार होते हैं. पथरी के 60 फीसदी मामले अनुवांशिक भी होते हैं इसलिए आपके परिवार में किसी को पथरी की समस्या है, तो आपको पहले से ही सावधानी बरतनी चाहिए.
* बहुत देर तक टीवी के सामने बैठे रहने से, कंप्यूटर पर काम करने से और असंतुलित भोजन करने से भी पथरी होने की संभावना बढ़ जाती है.
* मोटापा और पानी कम पीने से भी पथरी हो सकती है इसलिए वज़न पर नियंत्रण रखें और पर्याप्त पानी पीएं.

पथरी (स्टोन) से छुटकारा पाने के 5 रामबाण घरेलू उपचार जानने के लिए देखें वीडियो:

यह भी पढ़ें: नकसीर फूटना रोकने के 5 आसान घरेलू उपाय (5 Best Natural Home Remedies To Stop Nose Bleeding)

 

पथरी (स्टोन) से छुटकारा पाने के 5 अन्य रामबाण घरेलू उपचार:
1) आम के ताज़े पत्ते छाया में सुखाकर बारीक़ पीस लें और रोज़ाना बासी पानी के साथ सुबह सेवन करें.
2) नारियल का पानी नियमित रूप से पीने से पथरी के दर्द से राहत मिलती है.
3) तीन-चार नग बादाम चबा-चबाकर खाने से एक महीने में ही पथरी से आराम मिलता है.
4) करेले का रस छाछ के साथ नियमित रूप से पीने से हर तरह की पथरी में आराम मिलता है.
5) चौलाई की सब्ज़ी रोज़ाना खाने से पथरी गलकर निकल जाती है.

यह भी पढ़ें: 5 चमत्कारी घरेलू गर्भनिरोधक रोकते हैं गर्भधारण (5 Best Home Remedies To Avoid Pregnancy)

10 होममेड विंटर फेस मास्क हर तरह की त्वचा के लिए (10 Best Homemade Winter Face Masks For All Skin Types)

10 होममेड विंटर फेस मास्क (Homemade Winter Face Masks) हर तरह की त्वचा (Skin) के लिए फ़ायदेमंद हैं इसलिए सर्दियों में आप भी 10 होममेड विंटर फेस मास्क ज़रूर अप्लाई करें. मौसम के अनुरूप त्वचा की ज़रूरतें बदलती रहती हैं इसलिए मौसम के हिसाब से अपनी त्वचा का ध्यान रखना चाहिए. सर्दियों में आपकी त्वचा को सुंदर और आकर्षक बनाने के लिए हम लेकर आए हैं 10 होममेड विंटर फेस मास्क जो हर तरह की त्वचा के लिए फायदेमंद हैं..

Best Winter Face Masks

1) पके पपीते को मैश कर लें. इसमें एक टीस्पून ऑलिव ऑयल मिलाकर चेहरे व गर्दन पर 20 मिनट तक लगाकर रखें, फिर गुनगुने पानी से धो लें.

2) पके एवोकैडो को मैश कर लें. एक टेबलस्पून ऑलिव ऑयल मिलाकर चेहरे पर अप्लाई करें. 10-15 मिनट बाद धो लें.

3) केले को मैश करके उसमें गुलाबजल और कुछ बूंदें शहद की मिला लें. 15-20 मिनट तक चेहरे व गर्दन पर अप्लाई करके रखें, फिर धो लें.

4) केले को मैश कर लें, उसमें उतनी ही मात्रा में बटर मिला लें. इसे 20 मिनट तक चेहरे पर लगाकर रखें, फिर धो लें.

5) एक टेबलस्पून मैश किया हुआ केला और दो टीस्पून दूध मिला लें. 20 मिनट तक चेहरे व गर्दन पर लगाकर रखें. गुनगुने पानी से धो लें.

यह भी पढ़ें: विंटर स्किन केयर: 10 स्किन केयर टिप्स सर्दियों में त्वचा को बनाते हैं ख़ूबसूरत (Winter Skin Care Tips: 10 Best Skin Care Tips To Get Glowing Skin)

 

6) दो-दो टीस्पून शहद और दही मिलाकर चेहरे पर लगाएं. 15 मिनट बाद धो लें.

7) एक टेबलस्पून आलू के रस में एक टीस्पून दही मिलाकर चेहरे व गर्दन पर लगाएं. 15 मिनट बाद धो लें.

8) पका पपीता और केला मैश कर लें. इनमें दो टेबलस्पून शहद मिलाकर पेस्ट तैयार करें. इसे चेहरे व शरीर के ड्राई हिस्से पर लगाएं. कुछ देर बाद धो लें.

9) एक टेबलस्पून मैश किए हुए केले में एक टीस्पून नारियल का तेल मिलाकर अप्लाई करें. आधे घंटे बाद धो लें.

10) एक टेबलस्पून बादाम पाउडर में दो टेबलस्पून दूध मिलाकर चेहरे व गर्दन पर लगाएं. 10 मिनट बाद हल्के-हल्के मसाज करते हुए इसे धो लें.

यह भी पढ़ें: 10 विंटर हेयर केयर टिप्स (10 Winter Hair Care Tips)

 

विंटर ब्यूटी केयर टिप्स
* नहाने के पानी में दो कप दूध मिलाएं, इससे स्किन सॉफ्ट-स्मूद होती है.
* ड्राई स्किन की समस्या ज़्यादा है, तो नहाने के पानी में दो टेबलस्पून ऑलिव ऑयल मिलाएं.
* नहाने से पहले नारियल के तेल या बादाम तेल से बॉडी मसाज करें.
* दही व बेसन का पेस्ट भी यूज़ कर सकते हैं. इससे स्किन सॉफ्ट होगी.
* एलोवीरा का पल्प स्किन पर लगाएं. यह त्वचा की नमी बनाए रखता है.
* दही से मसाज करें. चाहें तो दही में शहद या नींबू का रस भी मिला सकते हैं. इससे त्वचा ग्लो करने लगेगी.

5 आसान घरेलू नुस्ख़े रोकते हैं बालों का झड़ना, जानने के लिए देखें वीडियो:

विंटर स्किन केयर: 10 स्किन केयर टिप्स सर्दियों में त्वचा को बनाते हैं ख़ूबसूरत (Winter Skin Care Tips: 10 Best Skin Care Tips To Get Glowing Skin)

10 स्किन केयर टिप्स (Skin Care Tips) सर्दियों में त्वचा को बनाते हैं ख़ूबसूरत और ये स्किन केयर टिप्स इतने आसान हैं कि आप इन्हें आसानी से ट्राई कर सकती हैं. सर्दियों (Winter) में त्वचा को ख़ास देखभाल की ज़रूरत होती है इसलिए मौसम के मिज़ाज को देखते हुए सर्दियों में 10 स्किन केयर टिप्स ज़रूर ट्राई करें, क्योंकि ये स्किन केयर टिप्स सर्दियों में त्वचा को बनाते हैं ख़ूबसूरत.

Winter Skin Care Tips

1) गुनगुने पानी का इस्तेमाल
सर्दियों में बहुत अधिक गर्म पानी के इस्तेमाल से बचें, क्योंकि यह स्किन को और भी ड्राई करता है. बेहतर होगा कि आप गुनगुने पानी का उपयोग करें.

2) मॉइश्‍चराइज़ अप्लाई करें
स्कन को वॉश करने के फ़ौरन बाद मॉइश्‍चराइज़ करें. हल्की गीली स्किन पर मॉइश्‍चराइज़र लॉक हो जाता है और लंबे समय तक नमी प्रदान करता है.

3) सही मॉइश्‍चराइज़र का चुनाव करें
कुछ मॉइश्‍चराइज़र्स में ऐसे तत्व भी होते हैं, जो स्किन को ड्राई कर सकते हैं. बेहतर होगा, ऑयल बेस्ड मॉइश्‍चराइज़र का चुनाव करें, न कि वॉटर बेस्ड.

4) सनस्क्रीन प्रोटेक्शन है ज़रूरी
तेज़ हवाओं और धूप से बचने के लिए स्किन को स्कार्फ व ग्लव्स से कवर करें. सनस्क्रीन ज़रूर अप्लाई करें. यह न सोचें कि इस मौसम में आपको इसकी ज़रूरत नहीं.

5) एक्सफोलिएट करें
डेड स्किन सेल्स को हटाने के लिए यह बेहद ज़रूरी है. स़िर्फ चेहरे की ही नहीं, हाथों की डेड स्किन के लिए हाथों को भी एक्सफोलिएट करें.

यह भी पढ़ें: मिनटों में गोरा रंग पाएं 5 आयुर्वेदिक घरेलू नुस्ख़ों से (5 Best And Quick Home Remedies For Fair Skin)

 

6) ओवरनाइट मॉइश्‍चराइज़ेशन
हम अक्सर चेहरे पर ही ध्यान देते हैं, जबकि हाथों, कुहनियों, होंठों, पैरों की त्वचा ज़्यादा सेंसिटिव होती है व जल्दी ड्राई होती है और इन्हें हम नज़रअंदाज़ भी करते हैं. बेहतर होगा सोने से पहले पेट्रोलियम जेली या ऑयल से इन्हें मॉइश्‍चराइज़ करें. जुराबें पहनकर सोएं. होंठों पर भी लिप बाम लगाकर सोएं.

7) अपना क्लींज़र बदलें
मौसम के अनुसार क्लींज़र बदलें. कुछ क्लींज़र्स ड्राई कर सकते हैं स्किन को. हाइड्रेटिंग क्लींज़र्स यूज़ करें.

8) हाइड्रेटेड रहें
विंटर में वॉटर इनटेक कम हो जाता है. ऐसे में पानी भरपूर पीएं और सलाद, सब्ज़ी का सेवन भी भरपूर करें, जिससे स्किन और हेयर हाइड्रेटेड रहें.

9) अल्कोहल बेस्ट प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल न करें
सर्दियों में अल्कोहल बेस्ड प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल न करें. ये स्किन को और भी ड्राई बनाते हैं. सर्दियों में माइल्ड सोप यूज़ करें.

यह भी पढ़ें: टॉप 10 होममेड फेस पैक हर तरह की त्वचा के लिए (10 Homemade Face Packs For All Skin Types)

 

10) फेस मास्क
विंटर फेस मास्क और फेस पैक्स यूज़ करें, इनसे स्किन को पोषण मिलता रहेगा. आप नीचे दिए होममेड विंटर फेस मास्क का इस्तेमाल कर सकती हैं:

* एक-एक कप दही व छाछ मिक्स करें. इसे चेहरे व पूरे शरीर पर मसाज करते हुए लगाएं. 15-20 मिनट बाद नहा लें.

* चेहरे को धोकर थपथपाकर पोंछ लें. ग्लिसरीन को कॉटन बॉल की सहायता से हल्के गीले चेहरे पर अप्लाई करें. इसे वॉश न करें. आप रात को यह उपाय कर सकती हैं. रातभर ग्लिसरीन चेहरे पर लगी रहने दें.

* पेट्रोलियम जेली को चेहरे व पूरे शरीर पर मसाज करते हुए अप्लाई करें. तब तक मसाज करें, जब तक स्किन उसे सोख न ले.

* एक टेबलस्पून शहद में दो टेबलस्पून कच्चा दूध मिलाएं. कॉटन बॉल की सहायता से इसे अप्लाई करें. 10 मिनट बाद धो लें.

* स्ट्रॉबेरीज़ को ब्लेंड कर लें. इसमें कुछ बूंदें गुलाबजल की मिलाएं. 20 मिनट तक इस मास्क को चेहरे पर लगाकर रखें. फिर धो लें.

* दो-तीन मैश की हुई स्ट्रॉबेरीज़ में एक टीस्पून शहद और एक टेबलस्पून फ्रेश क्रीम मिलाएं. इसे 10-12 मिनट तक चेहरे पर लगाकर रखें, फिर धो लें.

* एक अंडे को फेेंटकर उसमें एक-एक टेबलस्पून शहद और ऑलिव ऑयल मिला लें. 15 मिनट तक चेहरे पर लगाकर रखें. गुनगुने पानी से धो लें.

* दो टेबलस्पून पिसी हुई गाजर में एक टेबलस्पून शहद मिला लें. चेहरे पर लगाकर 10 मिनट बाद धो लें.

10 होममेड फेस पैक बनाने की विधि जानने के लिए देखें वीडियो:

10 विंटर हेयर केयर टिप्स (10 Winter Hair Care Tips)

10 विंटर हेयर केयर टिप्स (Winter Hair Care Tips) से पाएं ख़ूबसूरत बाल और हेयर केयर टिप्स इतने आसान हैं कि आपके लिए बालों की देखभाल करना बहुत आसान हो जाएगा. विंटर में बाल न स़िर्फ ड्राई होते हैं, बल्कि डैंड्रफ व फ्रीज़ी बालों की भी समस्या बढ़ जाती है. तो देर किस बात की इस विंटर ड्राई बालों के ट्रीटमेंट (Winter Dry Hair Treatment) के लिए आज़माएं 10 विंटर हेयर केयर टिप्स.

Hair Care Tips

1) बादाम तेल, जोजोबा ऑयल और नारियल तेल को समान मात्रा में लेकर पांच मिनट तक गर्म करें. इस गुनगुने तेल से स्काल्प मसाज करें और बालों पर भी अप्लाई करें. पांच मिनट तक मसाज करने के बाद बालों को गर्म तौलिए से रैप कर लें. एक घंटे बाद माइल्ड शैंपू से धो लें.

2) एक पका केला और दो एवोकैडो को मैश करके मिक्स कर लें. बालों में इसे अप्लाई करें और शावर कैप से बालों को कवर कर लें. आधे घंटे बाद माइल्ड शैंपू
कर लें.

3) केले में ऑलिव ऑयल मिलाकर पेस्ट बना लें. इसे बालों व स्काल्प में लगाएं. आधे घंटे बाद माइल्ड शैंपू से धो लें.

4) अगर बाल बहुत ज़्यादा ड्राई हो गए हैं, तो नारियल के तेल को गुनगुना करके रातभर बालों में लगाकर रखें. अगले दिन
शैंपू करें.

5) दो अंडों की स़फेदी में चार टेबलस्पून पानी मिलाकर बालों में अप्लाई करें. 30-40 मिनट बाद माइल्ड शैंपू से धो लें.

यह भी पढ़ें: बालों का झड़ना रोकने के 5 आसान घरेलू उपाय (5 Effective Home Remedies To Control Hair Fall)

6) एक कप राइस मिल्क में दो-तीन टेबलस्पून शहद मिक्स करें. (राइस मिल्क बनाने के लिए राइस को पानी के साथ ग्राइंड करें). इसे स्काल्प व बालों में अप्लाई करें. 15-20 मिनट बाद पानी से धो लें.

7) कद्दू को मैश करके दो टेबलस्पून शहद मिलाएं. इसे बालों में 15 मिनट तक लगाकर रखें, फिर धो लें. यह बालों को स्मूद करेगा. कद्दू में विटामिन ए, सी, ज़िंक, बीटा केरोटीन व पोटैशियम भी
भरपूर मात्रा में होता है.

8) एक कप कच्चे दूध में एक टीस्पून शहद मिलाएं. इसे बालों की जड़ों से सिरे तक अप्लाई करें. 20 मिनट बाद गुनगुने पानी से शैंपू कर लें.

9) डैमेज्ड बालों को रिपेयर करने के लिए एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल को गीले बालों में ही लगाएं. प्लास्टिक कैप या हॉट टॉवल से कवर करें.

10) एलोवीरा जेल में नींबू के रस की कुछ बूंदें मिलाएं. इसमें एक टेबलस्पून नारियल तेल या ऑलिव ऑयल मिला लें. बालों की जड़ों से लेकर सिरों तक इसे अप्लाई करें. आधे घंटे बाद शैंपू कर लें.

यह भी पढ़ें: दुल्हन के लिए 5 बेस्ट ब्राइडल हेयर स्टाइल (5 Best Bridal Hairstyles Step By Step)

 

10 हेल्दी हेयर केयर टिप्स
1) रोज़ शैंपू न करें.
2) ब्लो ड्राई करने से बचें.
3) बहुत ज़्यादा केमिकल्स का उपयोग न करें.
4) हेयर ड्रायर रोज़ यूज़ न करें.
5) हॉट आयरन या स्ट्रेटनर्स का प्रयोग न करें.
6) हर्बल या माइल्ड शैंपू यूज़ करें.
7) बालों को हफ़्ते में एक बार डीप कंडीशनिंग ट्रीटमेंट दें.
8) बालों को नेचुरली सूखने दें.
9) हफ़्ते में दो-तीन बार ऑयल मसाज करें.
10) हेल्दी डायट लें.

बालों का झड़ना रोकने के 5 आसान घरेलू उपाय (5 Effective Home Remedies To Control Hair Fall)

बालों का झड़ना (Hair Fall) रोकने के 5 आसान घरेलू उपाय (Easy Home Remedies) अपनाकर आप भी रोक (Stop) सकती हैं बालों का झड़ना. दरअसल, बाल झड़ना एक आम समस्या (Common Problem) है, लेकिन जब बालों का झड़ना रुके ही नहीं, तो परेशानी बढ़ जाती है. जब बाल झड़ना न रुके, तो बालों का झड़ना रोकने के 5 आसान घरेलू उपाय ट्राई करें. बालों का झड़ना रोकने के 5 आसान घरेलू उपाय बिना किसी साइड इफेक्ट के आपके बालों का झड़ना रोक सकते हैं.

Home Remedies To Control Hair Fall

 ये हैं बाल झड़ने के कारण:
बाल झड़ने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे रूसी, पॉल्यूशन, नींद की कमी, लंबी बीमारी, गलत खानपान और लाइफ स्टाइल आदि, इसलिए सबसे पहले बाल झड़ने के कारण का पता लगाएं. साथ ही बालों का झड़ना रोकने के 5 आसान घरेलू उपाय ट्राई करें. ऐसा करके आप आसानी से बालों का झड़ना रोक सकती हैं.

बालों का झड़ना रोकने के 5 आसान घरेलू उपाय जानने के लिए देखें वीडियो:

 

बालों का झड़ना रोकने के अन्य 5 घरेलू उपाय:
1) रात को आंवले का चूर्ण भिगो देें. सुबह उन्हें मसलकर पानी निथार लें. इस पानी में एक-दो कागज़ी नींबू निचोड़ लेें. अब जिस तरह शैंपू करते हैं वैसे ही इस पानी से बालों को भिगोकर मसाज करें.
2) नीम के तेल की 4-4 बूंदें नाक के दोनों छेदों में नियमित एक माह तक डालें. भोजन में नियमित रूप से दूध का सेवन करें. इससे बालों के झड़नें में अवश्य ही लाभ होगा.
3) उड़द की दाल को उबालकर उसे सिर पर रगड़-रगड़ कर लगाएं, कुछ ही दिनों में बालों का झड़ना रुक जाएगा.
4) नींबू के रस में बड़ (बरगद) की जटा पीसकर उससे बाल धोएं और फिर नारियल का तेल लगाएं, इससे बाल झड़ने बंद हो जाएंगे.
5) एक चम्मच साबूत काले तिल और एक चम्मच भांगरे का पंचाग (फूल, फल, पत्ती, तना, जड़) को बारीक पीसकर पानी के साथ सेवन करें.

यह भी पढ़ें: दुल्हन के लिए 5 बेस्ट ब्राइडल हेयर स्टाइल (5 Best Bridal Hairstyles Step By Step)

दर्द से यूं पाएं छुटकारा (How To Get Relief From Different Types Of Pain)

How To Get Relief From Pain

अक्सर हम कई तरह के दर्द (Pain) से परेशान रहते हैं. जहां चोट या अन्य कारणों से उत्पन्न दर्दवाली त्वचा, मांसपेशी व तंत्रिकाओं की क्षति में उपचार, दवाइयों आदि से आराम मिलता है, वहीं मांसपेशियों में उत्पन्न दर्द में मालिश और सेंक से भी लाभ होता है, क्योंकि इससे वात दोष का शमन होता है.

सेंक के लिए सादा गर्म पानी, नमक, कपूर या तारपीन के तेल मिले गर्म पानी से स्नान करना फ़ायदेमंद रहता है. यह सेंक दवा या मरहम लगाने के बाद ही करना चाहिए. सेंक करने से रक्तवाहिनियां फैल जाती हैं और प्रकुपित तंत्रिकाएं शांत हो जाती हैं. इस प्रकार हमारे शरीर का दर्द शांत हो जाता है. इसके अलावा यहां पर हम कुछ उपयोगी घरेलू नुस्ख़े दे रहे हैं, जिनके प्रयोग से तमाम तरह के दर्द से राहत मिलती है.

* घुटनों, हाथों की उंगलियों या बांहों के जोड़ों में टीस भरा दर्द उठता हो और कोई भी काम करने में या वज़न उठाने पर जोड़ों में दर्द होता हो, तो दिन में चार-पांच बार टमाटर का सेवन करते रहें या टमाटर का एक ग्लास रस सुबह-शाम लें. इससे कुछ दिनों में ही आपको आश्‍चर्यजनक रूप से लाभ होगा.

* चूना व शहद मिलाकर लेप करने से पसली के दर्द से राहत मिलती है या फिर सरसों को पानी में पीसकर गरम करके इसका लेप दर्दवाले स्थान पर बार-बार लगाएं.

* इसके अलावा एक ग्लास पानी में दो चम्मच जीरा डालकर गरम करें और उस गरम पानी में तौलिया भिगोकर अच्छी तरह निचोड़ें और उसकी भाप से सेंक करें. कुछ ही घंटों में आराम मिल जाएगा.

* 100 ग्राम मेथीदाना हल्का-सा भूनें. फिर इसे हल्का-सा कूटकर उसमें चौथाई भाग काला नमक मिला लें. सुबह-शाम दो चम्मच गरम पानी के साथ इसकी फंकी लें. इस प्रयोग को निरंतर 15 दिनों तक करने से कैसा भी असहय दर्द हो, दूर हो जाएगा.

यह भी पढ़े: हर बीमारी का इलाज नीम (Cure Your Ailments With Neem)

* शरीर के किसी अंग में दर्द की टीस उठती हो, तो आप सुबह-शाम पीसे हुए आंवले का चूर्ण गुनगुने पानी के साथ फांक लें. फिर कुछ देर बाद पिसी हुई इलायची दूध में डालकर पीएं. इस प्रयोग से अंगों में चुस्ती-स्फूर्ति बनी रहेगी और शरीर के किसी भी अंग में दर्द की टीस नहीं उठेगी.

* लहसुन पीसकर लगाने से बदन के हर अंग का दर्द जाता रहेगा. किंतु इसे जल्द हटा लेना चाहिए, नहीं तो फफोले पड़ने का डर रहता है.

* राई यानी सरसों का लेप करने से हर प्रकार का दर्द मिट जाता है.

* गठिया के दर्द में एरंडी का छिला हुआ बीज पहले दिन एक, दूसरे दिन दो, इस प्रकार सात बीज तक खाएं. फिर प्रतिदिन एक-एक कम करके एक बीज पर ले आएं. इससे गठिया का दर्द हमेशा के लिए गायब हो जाएगा.

* जोड़ों के दर्द में अजवायन को पानी में डालकर पका लें और उस पानी की भाप दर्दवाले स्थान पर दें. देखते ही देखते दर्द दूर हो जाएगा.

* लहसुन की दो कलियां कुचलकर तिल के तेल में डालकर तेल गर्म करें और उससे जोड़ों पर मालिश करें. इससे भी बहुत लाभ होता है.

पथ्य-अपथ्यः जोड़ों के दर्द से बचने व इससे पीड़ित मरीज़ को दर्द से छुटकारा दिलाने के लिए रोग उत्पादक कारणों को टालना चाहिए. खट्टा, तीखा, ठंडा, रूखा भोजन नहीं करना चाहिए. चर्बी बढ़ानेवाले खाद्य पदार्थों से परहेज़ करना चाहिए. पौष्टिक और पचने में आसान चीज़ों को आहार में शामिल करें. शारीरिक श्रमवाले कामों से बचना चाहिए. साथ ही जागरण व मानसिक तनावों से भी दूर रहना चाहिए.

सुपर टिप

कड़वे तेल में अजवायन और लहसुन जलाकर उस तेल से मालिश करने से हर प्रकार के दर्द से छुटकारा मिलता है.

– मूरत पन्नालाल गुप्ता

दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें-  Dadi Ma Ka Khazana

नकसीर फूटना रोकने के 5 आसान घरेलू उपाय (5 Best Natural Home Remedies To Stop Nose Bleeding)

नकसीर फूटना (Nose Bleeding) रोकने के 5 आसान घरेलू उपाय (Home Remedies) से आप मिनटों में नकसीर फूटने की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं. नकसीर फूटना एक आम समस्या है, लेकिन जब कभी अचानक नाक से खून बहने लगता है तो अक्सर हम घबरा जाते हैं. हालांकि नकसीर फूटना कोई गंभीर समस्या नहीं है, लेकिन ऐसा यदि बार-बार हो, तो ये किसी बड़ी हेल्थ प्रॉब्लम का संकेत हो सकता है. यदि आप या आपके आसपास किसी को अचानक नकसीर फूटे, तो नकसीर फूटना रोकने के 5 आसान घरेलू उपाय ज़रूर ट्राई करें.

Remedies To Stop Nose Bleeding

 

नकसीर फूटने के क्या कारण होते हैं?
* जब वातावरण में आद्रता कम हो जाती है तो गर्म और सूखे वातावरण में भी नोज ब्लीडिंग होने लगती है.
* चिलचिलाती धूप से सीधे एयर कंडीशन वाले रूम में आने से भी नकसीर फूट सकती है.
* सर्दियों में नोज ब्लीडिंग यानी नकसीर फूटने की समस्या ज़्यादा पाई जाती है, क्योंकि इस समय श्‍वसन मार्ग के ऊपरी हिस्से में संक्रमण की संभावना अधिक होती है.
* नाक का दबाव के साथ बहना भी नकसीर फूटने का कारण हो सकता है.
* लगातार छींकने से भी कई बार नकसीर फूट सकती है.
* शराब के अधिक सेवन से भी नकसीर फूट सकती है.
* नाक में ट्यूमर होने के कारण भी नकसीर फूटने की समस्या हो सकती है.

नकसीर फूटना रोकने के 5 आसान घरेलू उपाय जानने के लिए देखें वीडियो:

 

यह भी पढ़ें: मुंह/सांसों की बदबू से छुटकारा पाने के 5 घरेलू उपाय (5 Home Remedies To Get Rid Of Bad Breath Instantly)

नकसीर फूटना रोकने के अन्य घरेलू उपचार:
* नकसीर फूटने पर सबसे पहले रोगी को तुरन्त ठंडे स्थान पर ले जाना चाहिए. पैर से जूते-मोजे उतार देने चाहिए, ताकि शरीर की गर्मी तलुवों द्वारा बाहर निकल सके.
* नकसीर फूटने पर तुरंत बैठ जाएं और आगे की तरफ झुक जाएं. सिर ऊंचा न करें, ऐसा करने से खून फिर से नाक में जा सकता है.
* नाक पर रूमाल या टिशू पेपर रखें, ताकि वो खून को सोख ले.
* अंगूठे और तर्जनी उंगलियोंं की मदद से नाक की जड़ को थोडी देर तक दबाए रखें, ताकि खून का प्रवाह रुक जाए.
* सामान्य उपचार के आधे घंटे बाद भी यदि नाक से खून का बहना न रुके, तो डॉक्टर से संपर्क करें.

यह भी पढ़ें: 5 चमत्कारी घरेलू गर्भनिरोधक रोकते हैं गर्भधारण (5 Best Home Remedies To Avoid Pregnancy)

मिनटों में गोरा रंग पाएं 5 आयुर्वेदिक घरेलू नुस्ख़ों से (5 Best And Quick Home Remedies For Fair Skin)

मिनटों में गोरा रंग (Fair Skin) पाएं 5 आयुर्वेदिक घरेलू नुस्ख़ों (Ayurvedic Home Remedies) से, वो भी बिना किसी साइड इफेक्ट के. गोरा रंग हर लड़की की पहली चाहत होती है इसीलिए मार्केट में कई तरह की फेयरनेस क्रीम, ब्लीच और अन्य ब्यूटी प्रॉडक्ट्स की भरमार देखने को मिलती है. आप भी यदि गोरा रंग पाना चाहती हैं वो भी बिना किसी साइड इफेक्ट के, तो मिनटों में गोरा रंग पाएं 5 आयुर्वेदिक घरेलू नुस्ख़ों से. यकीन मानिए, 5 आयुर्वेदिक घरेलू नुस्ख़े मिनटों में आपकी त्वचा की रंगत निखार देंगे.

Home Remedies For Fair Skin

कई बार पॉल्यूशन, तेज़ धूप, नींद की कमी, सही खानपान न होने के कारण भी त्वचा की रंगत खो जाती है. ऐसे में त्वचा की देखभाल बेहद ज़रूरी है. त्वचा की खोई रंगत दोबारा पाने तथा त्वचा को नया निखार देने के लिए 5 आयुर्वेदिक घरेलू नुस्ख़े आपके बहुत काम आ सकते हैं. 5 आयुर्वेदिक घरेलू नुस्ख़ों से आप मिनटों में गोरा रंग पा सकती हैं वो भी बिना किसी साइइ इफेक्ट के. ये फेयरनेस टिप्स बहुत आसान और असरदार हैं.

मिनटों में गोरा रंग पाने के 5 आयुर्वेदिक घरेलू नुस्ख़े जानने के लिए देखें वीडियो:

यह भी पढ़ें: टॉप 10 होममेड फेस पैक हर तरह की त्वचा के लिए (10 Homemade Face Packs For All Skin Types)

 

मिनटों में गोरा रंग पाने के 5 अन्य आयुर्वेदिक घरेलू नुस्ख़े:
1) चेहरे पर आलू का रस लगाएं और सूखने पर धो लें. आलू का रस मिनटों में त्वचा की रंगत निखारता है.
2) केले को मसलकर चेहरे पर लगाएं. 10-15 मिनट बाद चेहरा धो लें. चेहरा ग्लो करने लगेगा.
3) गोरा रंग पाने का आसान उपाय है चेहरे पर अंडे की स़फेदी लगाना. अंडे की स़फेदी चेहरे पर लगाएं और सूखने पर धो दें. आपका चेहरा तुरंत ग्लो करने लगेगा.
4) जिस तरह दही खाना स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है, उसी तरह चेहरे पर नियमित रूप से दही लगाने से त्वचा की रंगत भी निखरती है. आप भी नियमित रूप से चेहरे पर दही लगाएं और पाएं गोरी-निखरी-ख़ूबसूरत त्वचा.
5) बादाम का तेल और ऑलिव ऑयल लगाने से भी स्किन फेयर होती है.

5 चमत्कारी घरेलू गर्भनिरोधक रोकते हैं गर्भधारण (5 Best Home Remedies To Avoid Pregnancy)

5 चमत्कारी घरेलू गर्भनिरोधक रोकते हैं गर्भधारण (Pregnancy) और इन होममेड गर्भनिरोधक (Homemade Contraceptives) का कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है. यदि आप भी गर्भधारण रोकने का कोई घरेलू उपाय ढूंढ़ रही हैं, तो आप 5 चमत्कारी घरेलू गर्भनिरोधक का प्रयोग कर सकती हैं. अनचाहे गर्भ से बचने के लिए महिलाएं हर मुमकिन उपाय करती हैं, ताकि आगे चलकर कोई परेशानी न हो. ऐसे में 5 चमत्कारी घरेलू गर्भनिरोधक आपके बहुत काम आ सकते हैं. अनचाहे गर्भ से बचने के लिए आप ये 5 5 चमत्कारी घरेलू गर्भनिरोधक ट्राई कर सकती हैं.

Home Remedies To Avoid Pregnancy

यदि हम बाज़ार में उपलब्ध गर्भनिरोधक की बात करें, तो गर्भनिरोधक का चुनाव इस बात इस बात पर भी निर्भर करता है कि आपको कौन सा गर्भनिरोधक सूट करता है. यदि आपको समझ नहीं आ रहा कि कौन-से गर्भनिरोधक का चुनाव किया जाए, तो इसके लिए आप अपने डॉक्टर से भी संपर्क कर सकते हैं.

कौन-से 5 चमत्कारी घरेलू गर्भनिरोधक रोकते हैं गर्भधारण, जानने के लिए देखें वीडियो:

 

अन्य चमत्कारी घरेलू गर्भनिरोधक
* माहवारी ख़त्म होने के बाद तुलसी के पत्तों का काढ़ा तीन-चार दिन तक लगातार पीएं. इससे गर्भ नहीं ठहरेगा.
* मासिक धर्म के समय चंपा के फूलों को पीसकर पीने से गर्भधारण की संभावना नहीं रहती. जब तक बच्चा न चाहें, तब तक यह प्रयोग हर महीने मासिक के समय करें.
* केले का पेड़ जिस पर फल न लगा हो या फलहीन पेड़ हो उसकी जड़ उखाड़कर सुखा लें. उसका चूर्ण बनाकर रख लें. मासिक के समय 4-5 ग्राम की मात्रा में सेवन करने से गर्भ नहीं ठहरता.

यह भी पढ़ें: कैसे हुआ गर्भनिरोधक गोलियों का आविष्कार? (Oral Contraceptives: When Was Birth Control Invented?)

व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) से बचने के 10 घरेलू उपाय (10 Best Home Remedies To Cure White Discharge In Women)

व्हाइट डिस्चार्ज (White Discharge) (श्‍वेत प्रदर) से बचने के 10 घरेलू उपाय (Home Remedies) आज़माकर आप आसानी से व्हाइट डिस्चार्ज से छुटकारा पा सकती हैं. व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) महिलाओं (Women) की एक आम समस्या (Common Problem) है. हर महिला को कभी न कभी व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) की समस्या हो ही जाती है, ऐसे में व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) से बचने के 10 घरेलू उपाय आपके बहुत काम आएंगे.

Home Remedies To Cure White Discharge

व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) की समस्या मानसिक भी हो सकती है
क्या आप जानती हैं कि महिलाओं में व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) की समस्या पति-पत्नी में आपसी मतभेद या तनाव के कारण भी हो सकती है? जी हां, यदि आपके अपने पार्टनर से रिश्ते मधुर नहीं हैं, तो इसके कारण भी आपको व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) की समस्या हो सकती है. व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) की समस्या के क्या कारण होते हैं और इससे कैसे छुटकारा पाया जाए, बता रही हैं साइकोलॉजिस्ट और वुमन हेल्थ काउंसलर नम्रता जैन.

व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) के कारण और उससे बचने के उपाय जानने के लिए देखें वीडियो:

 

व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) से बचने के 10 घरेलू उपाय:
1) रोज़ाना दो-तीन केला खाने से श्‍वेतप्रदर की समस्या दूर होती है.
2) 3 ग्राम आंवले का पाउडर शहद के साथ दिन में तीन बार चाटने से लाभ होता है.
3) गूलर का फूल पीसकर और उसमें मिश्री व शहद मिलाकर दो-तीन बार सेवन करने से फ़ायदा मिलता है.
4) स़फेद मूसली पाउडर या ईसबगोल को सुबह- शाम शर्बत के साथ पीने से आराम मिलता है.
5) हरे आंवले को पीस कर उसे जौ के आटे में मिलाकर उसकी रोटी एक महीने तक खाने से श्‍वेतप्रदर से आराम मिलता है.

यह भी पढ़ें: मुंह/सांसों की बदबू से छुटकारा पाने के 5 घरेलू उपाय (5 Home Remedies To Get Rid Of Bad Breath Instantly)

6) टमाटर का रोज़ाना सेवन करने से भी फ़ायदा मिलता है.
7) फालसे का शर्बत पीने से श्‍वेत प्रदर में आराम मिलता है.
8) मुलहठी 10 ग्राम, मिश्री 20 ग्राम, जीरा 5 ग्राम, अशोक की छाल 10 ग्राम- इन सभी का चूर्ण बनाकर रख लें. इसमें 3 से 4 ग्राम चूर्ण दिन में तीन बार खाएं.
9) कच्चे केले को सुखाकर चूर्ण बना लें. उसमें समान मात्रा में गुड़ मिलाकर दिन में तीन बार कुछ दिन तक लेने से आराम मिलता है.
10) सिंघाड़ा, गोखरू, बड़ी इलायची, बबूल की गोंद, शक्कर, सेमल की गोंद समान मात्रा में मिलाकर सुबह-शाम लें.

यह भी पढ़ें: सेक्स के दौरान हो दर्द तो करें ये 5 आसान घरेलू उपाय (5 Home Remedies For Vaginal Pain And Dryness)

हर बीमारी का इलाज नीम (Cure Your Ailments With Neem)

Neem Benefits

सिर से लेकर पैर तक के रोगों की इलाज की दवा है नीम. इसके साथ ही यह घर में कीड़े-मकोड़ों से भी रक्षा करता है. नीम के कुछ असरदार उपाय इस प्रकार हैं.

* नीम के पत्ते डालकर उबाले गए पानी से स्नान करने से चर्मरोग, फोड़े-फुंसी, खाज-खुजली मिट जाती है.

* पेट में दर्द होने पर 10 ग्राम नीम के बीज, 10 ग्राम सोंठ, 10 ग्राम तुलसी की पत्तियां तथा 8-10 काली मिर्च मिलाकर गाढ़ी चटनी  बनाकर थोड़ी-थोड़ी देर में रोगी को चटाएं. अवश्य फ़ायदा होगा.

* भोजन न पचने के कारण खट्टी डकारें, सिरदर्द, जी मिचलाना और कभी-कभी बुखार की शिकायत भी हो जाती है. ऐसे में निम्बोली खाने से पेट के उपर्युक्त तकलीफें ठीक हो जाती हैं.

* रोज़ सुबह नीम की दातून करने से दांत मजबूत और चमकदार बनते हैं व पायरिया की शिकायत भी नहीं होती.

* नीम का तेल प्रतिदिन सिर पर लगाने से जुएं और लीखें ख़त्म हो जाती हैं.

यह भी पढ़े: संतरा खाने के 11 लाजवाब फ़ायदे (11 Amazing Benefits Of Eating Orange)

* फोड़ा यदि पककर फूट गया हो, तो नीम के पत्तों को पीसकर उसकी लुगदी फोड़े पर बांधने से आराम मिलता है.

* पायरिया तथा मसूड़ों से ख़ून निकलने की समस्या हो तो नीम का तेल फ़ायदेमंद होता है. ऐसे में नियमित रूप से मसूड़ों पर इसकी मालिश करनी चाहिए.

* 10 बूंद नीम का तेल पान पर लगाकर खाने से दमा व खांसी में फ़ायदा होता है.

* यदि उल्टी हो रही हो तो 25 ग्राम नीम की पत्तियां पीस लें. इसमें 5-6 दानें काली मिर्च मिलाकर आधा कप पानी में घोलकर एक बार पी लें. उल्टी रुक जाएगी

* नीम की पत्तियों का रस निकालकर रुई के फाहे को भिगोएं और आंखों पर रखें. आंखों की जलन और लालिमा दूर हो जाएगी.

* यदि आंखों में सूजन व खुजली हो, तो नीम की 15-20 पत्तियों को पानी में उबालें. फिर उसमें 5 ग्राम फिटकरी घोल कर छान लें. साफ़ रुई द्वारा इस पानी से आंखें धोएं. दो-तीन बार ऐसा करने से सूजन और खुजली समाप्त हो जाती है.

* गाय के दूध में नीम का तेल मिलाकर पीने से प्रदर रोग में बहुत फ़ायदा होता है.

यह भी पढ़े: मदर्स केयर- बच्चों की खांसी के 15 घरेलू असरदार उपाय (Mothers Care- 15 Tips For Relieving In Baby Cough)

* नीम के बीज को पानी में भिगोकर व पीसकर तथा पोटली बनाकर योनि पर रखने से योनि का दर्द समाप्त हो जाता है.

* नीम की पत्तियों को पीसकर हाथ-पैरों पर लेप करने से जलन शांत होती है.

* मलेरिया में नीम के रस का काढ़ा सर्वोत्तम दवा है. 50 ग्राम नीम के पत्ते को 4-5 काली मिर्च मिलाकर पीसें. इसे गर्म पानी में घोलकर पिलाएं. मलेरिया ठीक हो जाएगा.

* नीम की पत्तियों के रस में शहद मिलाकर चाटने से पेट के कीड़े मर जाते हैं. शहद की जगह हींग भी मिला सकते हैं.

* नकसीर फूटती हो तो नीम की छाल को पानी में पीसकर गाढ़ा लेप बनाएं. इस लेप को माथे पर लगाने से नकसीर से राहत मिलती है.

* खसरा होने पर नीम की कच्ची कोपलें तथा काली मिर्च बराबर मात्रा में पीसकर प्रतिदिन खाएं. खसरा सूखने पर नीम के पानी से नहलाएं तथा नीम का ही तेल लगाएं.

* शरीर में अम्लपित्त की वजह से कई विकार पैदा हो जाते हैं. ऐसे में नीम की छाल, सोंठ और काली मिर्च बराबर मात्रा में लेकर चूर्ण बनाएं. 20 ग्राम चूर्ण रोज़ सवेरे ताज़े पानी के साथ लेने से अम्लपित्त की शिकायत दूर हो जाती है.

–  शिल्पी शर्मा

दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें-  Dadi Ma Ka Khazana