Home Tips

  • अक्सर काम के दौरान अधिकतर खड़े रहने से यदि पैरों की एड़ियों में दर्द होने लगे, तो गर्म पानी में थोड़ा-सा नमक डालकर कुछ देर तक एडियों को उसमें डुबोकर रखें. थकान दूर हो जाएगी और शरीर हल्का हो जाएगा.
  • थकान का अनुभव होने पर अपनी रूचि के अनुसार चाय, कॉफी, दूध या फिर शर्बत का सेवन करें. इससे आपको राहत मिलेगी.
  • यदि काम के दौरान कमरदर्द करने लगे, तो फ़र्श पर चटाई बिछाकर उस पर सीधी ले जाए, जिससे कमरदर्द से राहत महसूस होगी.
  • गर्म पानी से सेंक करना भी उपयोगी होता है. यदि थकान से कमरदर्द अधिक हो, तो रात को गर्म पानी की थैली से सेंक करें. इससे कमर दर्द दूर हो जाएगा.
  • पैरों की पिंडलियों में थकान के कारण दर्द हो, तो घुटनों के ऊपर से उन पर ठंडा पानी डालें. इससे थकान दूर होती है और पिंडलियों के दर्द से राहत मिलती है.
  • थकान दूर करने में खजूर अत्यंत उपयोगी है. यदि आप अक्सर थकान अनुभव करते हैं. खजूर खाएं. इससे तुरंत ताज़गी महसूस होती है.
  • रात को सोते समय 5-6 खजूर एक कप पानी में भिगो दें. सुबह उसे खाकर फिर पानी पीएं. इससे आप दिनभर तरोताज़ा रहेंगे और थकान महसूस नहीं होगी.
  • अंगूर थकावट दूर करने में उपयोगी होता है. अंगूर और नींबू का रस समान मात्रा में लेकर पीएं. इससे दिनभर की थकान कुछ क्षणों में समाप्त हो जाएगी.
  • जो हमेशा थकान अनुभव करते हैं, उन्हें अनाजों के बीजों यानी हरे दानों का सेवन करना चाहिए. यह शरीर को पोषण और ऊर्जा प्रदान करते हैं और थकान दूर करते हैं. मकई, गेहूं, मक्का आदि इनमें प्रमुख हैं. इनके दानों को बिना पकाए हरे रूप में खाएं. ताज़े हरे उपलब्ध ना होने पर इन्हें पानी में भिगोकर सेवन करें. इनसे थकान की शिकायत हमेशा के लिए दूर हो जाती है.
Tricks To Beat Tiredness

* आलू के परांठे में एक्स्ट्रा स्वाद ऐड करने के लिए मिश्रण में साबूत धनिया कूटकर मिलाएं. 

* डोसे का आटा पीसते समय इसके मिश्रण में चावल व दाल के साथ आधा कटोरी चिवड़ा भी डालकर पीस लें. इससे डोसे कुरकुरे बनेंगे.

Smart Cooking Tricks

* ड्रायफ्रूट चॉकलेट का स्वाद लेना है, तो पिघले हुए चॉकलेट में सूखे मेवे मिलाकर उसे चिकनाई लगी थाली में फैला दें. ठंडा होकर चॉकलेट ड्रायफ्रूट्स में मिल जाएगी.

* हरी मिर्च व पुदीने को बारीक़ काटकर-सुखाकर पाउडर बना लें. इसे फ्लेवर हर्ब की तरह इस्तेमाल करें.

* एक टीस्पून देसी घी में राई का तड़का लगाकर इडली के घोल में मिलाने से इडली अधिक स्वादिष्ट बनती है.

* यदि मोटे आटे की पूरियां बनाएंगे, तो तेल कम लगेगा और पचने में भी आसान होगी. इसके अलावा पूरी के आटे में अरबी उबालकर मसलकर मिला लेने से पूरी कुरकुरी व स्वादिष्ट बनती है.

* फ्रूट डेज़र्ट सर्व करते समय ऊपर से स़फेद तिल व अलसी डालने से टेस्ट बढ़ जाएगा.

* सब्ज़ी बनाते समय मसाले के पेस्ट में लहसुन की मात्रा अधिक व अदरक की कम रखें, इससे ग्रेवी बढ़िया बनती है.

* इलायची, कालीमिर्च व लौंग को हल्का-सा भूनकर पाउडर बना लें. वेज-नॉनवेज स्टार्टर को सर्व करने से पहले उस पर यह पाउडर छिड़कें. स्टार्टर का स्वाद दुगुना हो जाएगा.

* फूलगोभी की सब्ज़ी खिली-खिली बने, इसके लिए सब्ज़ी बनाते समय उसमें दूध मिला दें.

* मठरी को खस्ता बनाने के लिए मैदे को दही से गूंधें, लेकिन दही खट्टा न हो, इस बात का ख़्याल रखें.

* यदि पोहे में तीन टेबलस्पून दूध मिला दिया जाए, तो जब आप बचे हुए पोहे को दोबारा गर्म करके खाएंगी, तब भी वो ताज़ा लगेगा.

* नाश्ते के लिए कुछ अलग ट्राई करना है, तो ढोकले के छोटे-छोटे टुकड़े करके बेसन के घोल में डुबोकर पकौड़े की तरह तल लें.

* यदि अंडे की भुर्जी में टमाटर का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो पल्प व बीज निकालकर टमाटर को बारीक़ काटकर डालें.

* यदि एप्पल पाई बनाते समय सेब को काटकर सिरके के पानी से धो लेंगे, तो पाई ख़ूबसूरत दिखेगी और सेब का रंग भी नहीं बदलेगा.

* इंस्टेंट अचार का स्वाद बढ़ाने के लिए इसमें गन्ने या सेब का सिरका मिलाएं.

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़ेसीखें कुकिंग के नए तरीके (Learn New Tips And Tricks Of Smart And Easy Cooking)

*    किताबों को कीड़ों से बचाने के लिए आलमारी में चंदन की लकड़ी रखें या फिर सूखी नीम की पत्तियों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

*    आईना साफ़ करने के लिए गुनगुने पानी में एक चम्मच स़फेद विनेगर मिलाकर इस मिश्रण से साफ़ करें. फिर काग़ज़ से पोंछ लें.

Useful Home Tips

*    तांबे की वस्तुओं को साफ़ करने के लिए सूखे कपड़े पर केचअप लगाकर रगड़कर साफ़ करें. फिर पानी से धो लें. यदि आप चाहें तो नींबू का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

*    घर की कांच की चीज़ों को काग़ज़ से साफ़ करें. फिर टेलकम पाउडर छिड़ककर पोंछ लें.

*    फर्नीचर के दाग़-धब्बों को मिटाने के लिए पेट्रोलियम जेली का इस्तेमाल करें. इसे दाग़वाली जगहों पर लगाकर रातभर रहने दें. फिर सुबह स्पॉन्ज या फिर कपड़े से साफ़ कर लें.

*    संतरे के छिलके को सुखाकर पाउडर बना लें. इसे आलमारी के किनारों पर रखें. इससे कपड़ों में कीड़े नहीं लगेंगे.

*    दीमक से परेशान हैं, तो जहां पर भी दीमक लगी हो, वहां पर करेला या नीम का रस छिड़क दें.

*    रसोईघर की सिंक साफ़ करने के लिए आधे कप स़फेद विनेगर में एक-एक चम्मच नींबू का रस और बेकिंग सोडा मिलाकर

सिंक में छिड़क दें. 10-15 मिनट बाद ब्रश से रगड़कर गर्म पानी से क्लीन करें.

*    घर की टाइल्स को साफ़ करने के लिए डिटर्जेंट पाउडर का उपयोग करें.

*    यदि घर में क्रॉकरोच की समस्या है, तो आधा कप गेहूं के आटे में दो चम्मच बोरिक पाउडर व दूध मिलाकर गूंधकर छोटी-छोटी गोली बना लें. जहांं-जहां पर क्रॉकरोच के होने की संभावनाएं हों, वहां पर गोली रख दें.

*    यदि काली चींटियों से परेशान हैं, तो आटे में हल्दी व शक्कर मिलाकर छिड़क दें.

*    एल्युमीनियम के बर्तनों को साफ़ करना हो, तो बर्तन में सेब के छिलके व पानी डालकर उबाल लें, फिर इसे क्लीन करें.

*    रबर के खिलौनों को साफ़ करने के लिए बेकिंग सोडा से साफ़ करके पानी से धो लें.

*    खिड़कियों व दरवाज़ें के शीशे को रीठे के पानी से साफ़ करें.

*    फूलों को अधिक समय तक फ्रेश रखने के लिए पानी में थोड़ा-सा शक्कर व नमक मिला दें.

– ऊषा गुप्ता

 

* आलू की टिक्की बनाते समय एक कच्चे केले को उबालकर उसके मिश्रण में मिला दिया जाए, तो टिक्की का स्वाद दुगुना हो जाता है.

* यदि ऐसा लगे कि दूध फट सकता है, तो दूध में आधा चम्मच खाने का सोड़ा व थोड़ा-सा पानी मिलाकर उबाल लें. दूध फटेगा नहीं.

* यदि घर में घी बना रही हैं और घी जल गया हो, तो उसके कालेपन को दूर करने के लिए ताज़े आलू काटकर घी में मिक्स करके गर्म करने पर घी साफ़ हो जाता है.

Best Kitchen Tricks

* यदि आलू के चिप्स को स्टोर करते समय उसमें सूखी लाल मिर्च व नीम की पत्तियां रख दी जाएं, तो इसमें गंध नहीं आएगी.

* नींबू के अचार में नमक के दाने पड़ जाते हैं. अगर अचार में थोड़ा-सा शक्कर पाउडर मिला दिया जाए, तो अचार दोबारा ताज़ा हो जाएगा.

* कभी भी मशरूम को पानी से न धोएं, क्योंकि ये पानी सोख लेते हैं. इसकी बजाय गीले कपड़े से मशरूम को साफ़ कर लें.

* जिस प्लास्टिक के डिब्बे में खाने-पीने की चीज़ें हों, उसके बाहर थोड़ा-सा सरसों का तेल लगा देने से चीटियां उस डिब्बे से दूर रहेंगी.

* दाल बनाते समय कुकर में दो-तीन टुकड़े सुपारी के डाल देने से दाल जल्दी पक जाती है.

* यदि ड्रायफ्रूट्स या मेवे आदि को आसानी से काटना चाहते हैं, तो उन्हें एक घंटे के लिए फ्रिज में रख दें.

* टमाटर या बादाम के छिलके आसानी से निकालने हों, तो उसे पांच-दस मिनट के लिए उबलते पानी में डाल दें.

* यदि शहद को मापना हो, तो उसे मापने से पहले मेज़रमेंट कप में हल्का-सा तेल लगा दें. इससे शहद मेज़रमेंट कप में चिपकेगा नहीं.

* गोभी बनाते समय उसमें एक टीस्पून दूध मिला देने से सब्ज़ी स्वादिष्ट बनती है और वास्तविक रंग भी नहीं जाता है.

* दही को ग्रेवी या बिरयानी में दही डालने से पहले उसे अच्छी तरह फेंटने क साथ-साथ थोड़ी देर के लिए फ्रिज में रखकर हल्का-सा ठंडा होने पर इस्तेमाल किया जाए, तो ग्रेवी का स्वाद बढ़ जाता है.

– अभिमन्यु गुप्ता

यह भी पढ़े10 आसान और उपयोगी किचन टिप्स आप भी ज़रूर ट्राई करें (10 Best Kitchen Tips You Must Try)

Hair Care Tips

होममेड स्किन केयर टिप्स (Skin Care Tips), ट्रेंडी मेकअप गाइड (Make Up Guide), नैचुरल हेयर-केयर टिप्स (Natural Haircare Tips), ब्यूटी से जुड़े सवाल-जवाब, मेहंदी डिज़ाइन्स (Mehndi Designs)… मिस ब्यूटीफुल कहलाने के लिए और क्या चाहिए? इन तमाम कैटेगरीज़ में मेरी सहेली (Meri Saheli) अपने रीडर्स के लिए लाती है एक्सक्लूसिव जानकारी. लिप मेकअप, आई मेकअप, फेस, ब्यूटी प्रोडक्ट्स, अप्लाई करने का सही तरीक़ा, हेयर स्टाइल, हेयर प्रॉब्लम्स और सोल्यूशन्स संबंधी आर्टिकल्स और कॉलम्स मेरी सहेली की वेबसाइट पर आपको आसानी से मिलेंगे.

ख़ूबसूरत-सी शाम है ये, बारिशों के घेरे में, महक रहा मेरा वजूद इस रेशमी अंधेरे में… ख़ुशबू ़कैद है इन ज़ुल्फ़ों में मेरी मुहब्बत की, हसरतें बिखरी हैं इनमें मेरी मदभरी चाहत की, बूंदें यूं लिपटी हैं इनसे जैसे हो सितारों की हसीन रौऩकें, फूल यूं सजे हैं इनमें जैसे हों दीवानों की मदभरी महफ़िलें…

– माइल्ड शैंपू से रोज़ हेयर वॉश करें.

– शैंपू करने से पहले ऑयल मसाज ज़रूर करें.

– कंडीशनर लगाना न भूलें.

– केमिकल फ्री शैंपू यानी हर्बल शैंपू यूज़ करें, तो बेहतर होगा.

– बहुत ज़्यादा गर्म पानी से बाल न धोएं. गुनगुने पानी का इस्तेमाल करें.

– रात को सोने से पहले नारियल के तेल को हल्का-सा गर्म करके बालों में मसाज करें.

– गर्म तेल में करीपत्ते डालकर भी बालों व स्काल्प में मसाज कर सकती हैं, इससे बाल काले-घने बने रहेंगे.

– मॉनसून में अक्सर डैंड्रफ की समस्या बढ़ जाती है, जिससे स्काल्प में खुजली होने लगती है. हेल्दी स्काल्प व डैंड्रफ को दूर करने के लिए नीम के तेल से मसाज करें.

– नींबू के रस को एक मग पानी में मिला लें और शैंपू करने के बाद इस पानी से बालों को धोएं. नींबू से बालों में शाइन आएगी और डैंड्रफ से भी बचाव होगा.

– बीयर बालों के लिए बेहतरीन कंडीशनर का काम करती है. बालों को बीयर से रिंस करें और कुछ देर बाद ठंडे पानी से फाइनल रिंस करें.

– अगर बारिश में बाल भीग जाएं, तो घर आते ही शैंपू करें. बारिश के पानी से बाल व स्काल्प ड्राई हो जाते हैं.

– हेयर ड्रायर, हेयर कलर, हेयर स्टाइलिंग प्रोडेक्ट्स, हेयर स्ट्रेटनिंग इस मौसम में जितना संभव हो, अवॉइड करें.

– शॉर्ट और ट्रेंडी हेयर कट्स रखें. इस सीज़न में इन्हें मैनेज करना आसान होगा.

– हेल्दी बालों के लिए हेल्दी डायट भी ज़रूरी है. प्रोटीन, विटामिन ई और सी से भरपूर डायट लें. बादाम, फिश, अंडे, गाजर, साबूत अनाज, ब्रोकोली, ऑलिव्स, पालक, आंवला, टमाटर, सूरजमुखी के बीज, सिट्रस फ्रूट्स, डार्क कलर की सब्ज़ियां, किडनी बीन्स आदि डायट में शामिल करें और लो फैट डेयरी प्रोडक्ट्स खाएं.

यह भी पढ़ें: मॉनसून स्किन केयर

Monsoon Hair Care

मॉनसून हेयर पैक्स

मिल्क-हनी पैक: मॉनसून में यह आपके बालों के लिए परफेक्ट पैक है. यह बालों को पोषण भी देता है और क्लीन भी करता है. अपने बालों की लेंथ के अनुसार दूध लें और उसमें थोड़ा-सा शहद मिक्स करके बालों और स्काल्प पर अप्लाई करें. थोड़ी देर बाद माइल्ड शैंपू से धो लें.

लेमन थेरेपी: एक कप गुनगुने पानी में नींबू का रस मिलाएं. नहाने के बाद बालों और स्काल्प पर इसका इस्तेमाल करें. 20-25 मिनट बाद ठंडे पानी से फाइनल रिंस करें. इससे पोर्स टाइट होंगे, स्काल्प और बाल क्लीन होंगे, हेयरफॉल कम होगा.

–  बालों का चिपचिपापन ख़त्म करने के लिए नींबू का रस स्काल्प में लगाएं और 15 मिनट बाद रिंस कर लें.

एग कंडीशनर: 1 अंडे में 2 टेबलस्पून दही मिलाकर कंडीशनर के तौर पर लगाएं. इसे 15 मिनट तक लगाकर रखें. फिर रिंस कर लें. बालों को पोषण, शाइन व बाउंस मिलेगा.

मेथी मैजिक: मेथीदाने को रातभर पानी में भिगो दें. सुबह थोड़े-से पानी के साथ पीस लें. चाहें तो इसमें दही भी मिला सकती हैं. इस पेस्ट को स्काल्प व बालों में 20 मिनट तक लगाकर रखें, फिर धो लें. यह हेयरफॉल को कम करता है, बालों को पोषण देकर ग्रोथ बढ़ाता है, बालों को वॉल्यूम भी देता है.

योगर्ट मसाज: दही में बालों के लिए ज़रूरी मिनरल्स होते हैं. यह ड्राई स्काल्प व बालों की समस्या भी दूर करता है, ख़ासतौर से मॉनसून में. दही से बालों व स्काल्प की मसाज करें. कुछ देर बाद धो लें.

ऑलिव ऑयल: बालों की नमी बरक़रार रखने व उनमें शाइन लाने के लिए ऑलिव ऑयल सबसे बेहतर है. ऑलिव ऑयल में थोड़ा-सा दही मिक्स करें और बालों व स्काल्प में मसाज करें. कुछ देर रहने दें, फिर धो लें.

बनाना पैक: 3 केलों को मैश करके उसमें शहद मिलाएं. इस पेस्ट को 50 मिनट तक लगाकर रखें. यह मास्क बालों की ड्राइनेस को पूरी तरह से ख़त्म कर देता है.

अनियन जूस: प्याज़ में एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज़ होती हैं, जो स्काल्प को क्लीन करती हैं. प्याज़ का रस स्काल्प पर लगाएं और अगर इसकी गंध से आपको परेशानी होती है, तो इसमें गुलाबजल मिला लें. कुछ देर लगा रहने दें, फिर माइल्ड शैंपू से धो लें.

आंवला जूस: आंवले के रस में समान मात्रा में नींबू का रस और नारियल तेल मिलाएं. बालों और स्काल्प में मसाज करें. कुछ देर बाद माइल्ड शैंपू से धो लें. यह बालों को असमय स़फेद होने से बचाता है, क्लीन करता है और शाइन लाता है.

आल्मंड ऑयल: दो भाग आल्मंड ऑयल में एक भाग शहद मिलाएं. इसे हल्का-सा गर्म करके बालों में अप्लाई करें. स्काल्प पर न लगाएं वरना बाल ऑयली हो जाएंगे. 15-20 मिनट बाद शैंपू कर लें. यह बालों को रिपेयर करता है.

विनेगर रिंस: स्काल्प में इचिंग की समस्या हो, तो शैंपू के बाद एक मग पानी में 1 टेबलस्पून विनेगर मिलाकर लास्ट रिंस करें. बहुत आराम मिलेगा.

फ्लावर थेरेपी: बालों में एक्स्ट्रा शाइन के लिए मुट्ठीभर गेंदे के फूलों को 3 कप गर्म पानी में मिलाएं. इसे 1 घंटे तक रहने दें. छानकर इस पानी से फाइनल रिंस करें.

नीम लीव्स: नीम के पत्तों को पानी में तब तक उबालें, जब तक पानी आधा न रह जाए. इसे ठंडा होने दें. बालों को इससे धोएं और फिर गुनगुने पानी से फाइनल रिंस करें. नीम में एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज़ होती हैं, जो मॉनसून में स्काल्प को हेल्दी रखती हैं.

मैंगो मूड: आम के पल्प और पुदीने का पेस्ट भी बालों को स्मूद व शाइनी लुक देता है. इस पेस्ट से मसाज करें और 15-20 मिनट बाद बालों को धो लें.

पपीता पैक: पपीते के पल्प को ब्लेंडर में ब्लेंड कर लें. इसमें आधा कप दही मिलाकर बालों और स्काल्प पर लगाएं. आधे घंटे बाद गुनगुने पानी से धो लें. यह दोमुंहे बालों की समस्या भी ठीक करता है.

पुदीना लीव्स: पुदीने के पत्तों का पेस्ट बालों में अप्लाई करें. यह मास्क ऑयली हेयर के लिए बहुत फ़ायदेमंद है. 15-20 मिनट तक लगाकर रखें. रिंस कर लें.

एलोवीरा मास्क: एलोवीरा स्काल्प का पीएच बैलेंस बरक़रार रखता है. एलोवीरा पल्प से स्काल्प मसाज करें. एलोवीरा में ऐसे केमिकल्स होते हैं, जो बैक्टीरिया को ख़त्म करके हेल्दी सेल्स का निर्माण करते हैं.

– गीता शर्मा

यह भी पढ़ें: सीखें डेली मेकअप का आसान तरीक़ा स्टेप बाय स्टेप

आंखों के नीचे के काले घेरों के कारण अच्छा-खासा सुंदर चेहरा भी बेजान व बीमार दिखने लगता है. अगर आप भी इस समस्या का सामना कर रही हैं तो आज़माइए कुछ जांचे-परखे और बेहद असरदार घरेलू उपाय.

465495765_XS

बादाम का तेल
आंखों के आस-पास की नाज़ुक त्वचा के लिए बादाम का तेल बेहद फ़ायदेमंद होता है. बादाम के तेल के रोज़ाना इस्तेमाल से आप डार्क सर्कल्स से छुटकारा पा सकती हैं. इसके लिए सोने से पहले आंखों के काले घेरों पर बादाम का तेल लगाकर हल्के हाथों से मसाज करें. सुबह उठने के बाद ठंडे पानी से आंख धो दें. काले घेरे ख़त्म होने तक इस उपाय को अपनाएं.

ये भी पढ़ें

खीरा
खीरे में स्किन लाइटनिंग व माइल्ड एस्ट्रिंजेन्ट सत्व पाए जाते हैं, जो डार्क सर्कल्स हटाने में काफ़ी मददगार होते हैं. खीरा आंखों को ठंडक भी पहुंचाता है. इसके लिए खीरे-खीरे के मोटे-मोटे स्लाइसेज़ काट कर फ्रिज में 30 मिनट के लिए ठंडा होने के लिए रख दें. इन स्लाइसेज़ को आंखों पर 10 मिनट के लिए रखें. फिर आंखों को पानी से धोएं. इस प्रक्रिया को दिन में दो बार हफ़्तेभर दोहराएं. एक अन्य विकल्प है कि आप खीरे का रस व नींबू का रस बराबर मात्रा में मिलाकर आंखों के आस-पास अप्लाई करें. 15 मिनट तक छोड़ने के बाद ठंडे पानी से धो दें.

कच्चा आलू

images
आलू में नैचुरल ब्लीचिंग एजेंट्स पाए जाते हैं, जो आंखों के नीचे के काले घेरों व सूजन को कम करने में मदद करते हैं. इसके लिए आलू को
कद्दूकस करके रस निकालें और कॉटन बॉल्स की मदद से काले घेरों पर लगाएं. 20 मिनट बाद ठंडे पानी से धो दें.

टमाटर
एक टीस्पून टमाटर के रस में आधा टीस्पून नींबू का रस मिलाकर आंखों के काले घेरों पर लगाएं, 10 मिनट बाद फिर ठंडे पानी से धो दें. इस प्रक्रिया को हफ़्ते में दो बार दोहराएं.

टी बैग्स

Use-cold-green-tea-bags-to-decrease-puffiness-under-your-eyes
चाय में मौजूद कैफीन और एंटीऑक्सिडेंट्स आंखों के काले घेरों व सूजन को दूर करने में बहुत असरकारी होते हैं, क्योंकि ये आंखों के आस-पास फ्लूइड रिटेंशन को कम करते हैं. इसके लिए दो ग्रीन या ब्लैक टी बैग्स को फ्रिज में आधे घंटे ठंडा होने के लिए छोड़ दें. फिर बैग्स को आंखों पर रखकर 10-15 मिनट के लिए लेट जाएं. फिर बैग्स हटाकर चेहरा धो लें. इस प्रक्रिया रोज़ाना कुछ हफ़्तों तक दोहराएं.

ऐलोवेरा जेल
ऐलोवेरा जेल त्वचा को नम व मुलायम बनाने में मदद करता है. इसके पोषक तत्व आंखों के आस-पास के काले घेरों को कम करने के साथ-साथ आंखों की संवेदनशील त्वचा को स्वस्थ बनाने में मदद करते हैं. इसके लिए आंखों के आस-पास ऐलोवेरा जेल लगाकर हल्के हाथों से मसाज करें. देखते ही देखते आपकी आंखों के नीचे के काले घेरे गायब हो जाएंगे.

ये भी पढ़ें: 9 ईज़ी और इफेक्टिव होममेड क्लींज़र से पाएं क्लीन एंड क्लियर स्किन

नारियल का तेल
आंखों के आस-पास नारियल के तेल से मसाज करने से काले घेरों कम होते हैं. नारियल का तेल आंखों के आस-पास की त्वचा को मॉइश्‍चराइज़ करने के अलावा महीन रेखाओं, सूजन व काले घेरों को भी कम करता है. इसके लिए आंखों के नीचे एक्स्ट्रा वर्जिन कोकोनट ऑयल लगाकर हल्के हाथों से मालिश करें और कुछ घंटों के लिए छोड़ दें. यह प्रक्रिया कुछ महीनों तक रोज़ाना दोहराएं. आपको फर्क समझ में आएगा.

ये भी पढ़ें: 15 मिनट में नज़र आएं गोरी-गोरी