Indian Cricket

वर्ल्ड कप में भारतीय महिला खिलाड़ियों के बेहतरीन परफॉर्मेंस को ही देखते हुए आईसीसी (इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल) महाप्रबंधक समिति ने आईसीसी महिला विश्‍व कप 2017 टीम की कप्तानी की ज़िम्मेदारी मिताली राज को सौंपी. इस 12 सदस्यीय टीम में इंग्लैंड, भारत, साउथ अफ्रीका व ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों को शामिल किया गया है. टीम में मिताली राज (कप्तान), हरमनप्रीत कौर, दीप्ति शर्मा (भारत), साराह टेलर (विकेटकीपर), आन्या श्रबसोले, एलेक्स हार्टली, टैमी ब्यूमोंट, नताली स्कीवर (इंग्लैंड), लॉरा वोल्वार्ड्ट, मारिजान कैप, डैन वान निकर्क (साउथ अफ्रीका) व एलिस पैरी (ऑस्ट्रेलिया). जहां मिताली ने अपने लाजवाब परफॉर्मेंस के बलबूते, तो वहीं हरमनप्रीत कौर ने 5 विकेट व 369 रन, दीप्ति शर्मा ने 12 विकेट व 216 रन की बदौलत टीम में जगह बनाई.

मिताली- शाइनिंग स्टार
* हैदराबाद की 34 वर्षीय मिताली ने भारत को दूसरी बार वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंचाया.
* उन्होंने टूर्नामेंट में 9 मैचों में 409 रन बनाए, जिसमें एक शतक व तीन अर्द्ध शतक शामिल हैं.
* इंग्लैंड के विरुद्ध टूर्नामेंट के पहले ही मैच में उन्होंने शानदार 71 रन की पारी खेली थी.
* उनकी 109 रन की बेहतरीन पारी के दम पर ही भारत ने न्यूज़ीलैंड को 186 रन से हराया था.
* ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध भी उन्होंने 69 रन की उपयोगी योगदान दिया.
* मिताली ने इंडियन क्रिकेट वुमन्स का वर्ल्ड कप के दो बार फाइनल में नेतृत्व किया.
* अफ्रीका, 2005 के वर्ल्ड कप में टीम मिताली के ही नेतृत्व में फाइनल में पहुंची थी, जहां ऑस्ट्रेलिया से 98 रन से हार का सामना करना पड़ा था.
* बकौल मिताली भारत में भी महिला बिग बैश की शुरुआत होनी चाहिए, जैसे- आईपीएल है.

वर्ल्ड कप का सफ़र…
* डर्बी में खेले गए पहले मैच में भारत ने इंग्लैंड को 35 रन से हराया.
* वेस्टइंडीज को 7 विकेट से हराया. स्मृति मंधाना ने सेंचुरी मारी, वहीं हरमन, दीप्ति, पूनम यादव ने 2-2 विकेट लिए.
* पाकिस्तान को 95 रन से हराया. एकता बिष्ट ने 18 रन देकर 5 विकेट लिए थे.
* भारत ने श्रीलंका को 16 रन से हराया. दीप्ति ने उपयोगी 78 रन बनाए.
* साउथ अफ्रीका को 115 रन से हराया, जिसमें दीप्ति शर्मा ने 60 रन व झूलन गोस्वामी ने 43 रन की ज़िम्मेदारी भरी पारी खेली थी.
* ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 8 विकेट से हराया, पर पूनम राउत ने 106 रन की बेहतरीन पारी खेली.
* न्यूज़ीलैंड को 186 रन से हराया. मिताली ने शतक जमाया.
* ऑस्ट्रेलिया को 36 रन से हराया. हरमनप्रीत ने 171 रन की यादगार पारी खेली.
* इंग्लैंड ने भारत को 9 रन से हराया.
* प्लेयर ऑफ दि टूर्नामेंट इंग्लैंड की टैमी ब्यूमोंट रहीं, जबकि फाइनल की मैन ऑफ दि मैच आन्या श्रबसोले.

वर्ल्ड कप की सुर्खियां
* मिताली राज ने छह हज़ार से अधिक रन बनाकर विमिंस क्रिकेट में वर्ल्ड की हाईस्ट स्कोरर महिला बल्लेबाज़ बनी.
* हरमनप्रीत कौर ने सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध 171 रन की यादगार नाबाद पारी खेली.
* झूलन गोस्वामी महिलाओं के क्रिकेट में अधिक विकेट लेनेवाली गेंदबाज़ी बनीं.
* आम से लेकर सेलिब्रिटीज़ तक हर किसी ने भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सराहना की. सोशल मीडिया पर हार के बावजूद बधाई, प्रोत्साहन का सैलाब-सा उमड़ पड़ा, फिर चाहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमिताभ बच्चन, सचिन तेंदुलकर ही क्यों न हो.
* अक्षय कुमार ने भी टीम की ख़ूब हौसलाअफ़जाई की. लॉर्ड्स में मैच देखने के लिए लीड्स में फिल्म गोल्ड की शूटिंग से लंदन की ट्रेन नंगे पाव दौड़कर उन्होंने पकड़ी थी.
भारतीय महिला क्रिकेट टीम के लिए यह टूर्नामेंट शानदार व फाइनल ऐतिहासिक रहा. मिताली एंड कंपनी ने लाजवाब प्रदर्शन किया. इसमें कोई दो राय नहीं कि टीम को नई पहचान और उड़ान मिली. एक नई क्रांति की शुरुआत हुई है और हम सभी को महिला टीम पर गर्व है.

– ऊषा गुप्ता

ये भी पढें: मिताली राज का वुमन क्रिकेट पर राज

Dipti-Poonam

पोशेफस्ट्रूम के सेनवेस पार्क में हुए विमेन्स वनडे इंटरनेशनल मैच में भारतीय महिला क्रिकेटर दीप्ति शर्मा और पूनम राउत ने ओपनिंग विकेट के लिए 320 रन की रिकॉर्ड साझेदारी की. साउथ अफ्रीका में हो रहे 4 देशों की वनडे सीरीज़ में आयरलैंड के ख़िलाफ़ उन्होंने यह कमाल दिखाया. दीप्ति शर्मा महज़ 12 रन से अपना दोहरा शतक बनाने से चूक गईं, वे 188 रन बनाकर आउट हुईं. वहीं पूनम 109 रन बनाकर रिटायर्ड हर्ट हुईं. इन दोनों की मैराथन पारी के बदौलत भारत ने आयरलैंड के सामने तीन विकेट पर 358 रन की चुनौती रखी. लेकिन आयरलैंड की टीम केवल 109 रन पर ऑलआउट हो गई और भारत ने 249 रन के विशाल अंतर से यह मैच जीत लिया. इस सीरीज़ में भारत ने अब तक के अपने तीनों ही मैच जीते हैं. दीप्ति और पूनम ने महिला क्रिकेट ही नहीं, पुरुष क्रिकेट को भी पीछे छोड़ते हुए क्रिकेट में ओपनिंग पार्टनरशिप में रिकॉर्ड साझेदारी करके इतिहास रच दिया है.
विशेष
* 19 साल की दीप्ति शर्मा, पहली भारतीय महिला क्रिकेटर हैं, जिन्होंने इंटरनेशनल वनडे क्रिकेट में 188 का स्कोर बनाया. उन्होंने 160 गेंदों में 27 चौके और 2 छक्के की मदद से 188 रन बनाएं.
* इसी सीरीज़ में भारत की झूलन गोस्वामी द्वारा महिला क्रिकेटर के रूप 153 मैच खेलते हुए अधिकतम 181 विकेट लेने का भी रिकॉर्ड बना.
* 1997 के वर्ल्ड कप में आस्ट्रेलिया की बेलिंडा क्लार्क ने डेनमार्क के विरुद्ध डबल सेंचुरी (229 रन) बनाई थी.
* पुरुष क्रिकेट में सबसे बड़ी ओपनिंग पार्टनरशिप श्रीलंका के उपुल थारंगा और सनथ जयसूर्या द्वारा इंग्लैंड के ख़िलाफ़ साल 2006 में 286 रन की थी.
– ऊषा गुप्ता