Tag Archives: Indian Festivals

दिवाली 2019: लक्ष्मीपूजन शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और धन प्राप्ति के अचूक उपाय (Diwali 2019: Lakshmi Puja Date, Time, Puja Muhurat)

लक्ष्मी पूजन (Lakshmi Pooja 2019) विधि और मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के उपाय आप तक पहुंचाने के लिए हमने बात की पंडित राजेंद्र जी से. मां लक्ष्मी की पूजा विधि-विधान से करने से जीवन में धन की कभी कमी नहीं होती. दीपावली पांच दिनों का पर्व है- धनतेरस, नरक चतुर्दशी, लक्ष्मी पूजन, गोवर्धन पूजन एवं भाई दूज. वैसे तो ये पांचों दिन शुभ और लाभकारी माने जाते हैं, लेकिन कहा जाता है कि लक्ष्मी पूजन के दिन किया गया कोई भी कार्य शुभ एवं शीघ्र फलदायी होता है. आप भी लक्ष्मी पूजन (Lakshmi Poojan) के शुभ अवसर पर मां लक्ष्मी को प्रसन्न करें, ताकि धन-दौलत से जुड़ी आपकी हर मनोकामना पूरी हो.

दिवाली 2019 के शुभ अवसर पर लक्ष्मीपूजन का शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और धन प्राप्ति के अचूक उपाय जानने के लिए देखें ये वीडियो:

ऐसे करें लक्ष्मी-पूजन
1) सबसे पहले अक्षत (चावल) से कमल या स्वस्तिक का चित्र (रंगोली) बनाकर उस पर लक्ष्मीजी की प्रतिमा रखें.
2) लक्ष्मीजी के पास ही कलश में कुबेर और अन्य देवताओं की प्रतिमा रखें.
3) घर की उत्तर-पूर्व दिशा में लक्ष्मीजी की फोटो या मूर्ति रखना शुभ माना जाता है. साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि पूजा करते समय आपका मुंह उत्तर दिशा में हो.
4) देशी घी का दीपक, धूप बत्ती और अगरबत्ती जलाकर पूजा की शुरुआत करें.
5) सर्वप्रथम गणेश जी की पूजा करें.
6) गणेश पूजन के बाद नवग्रह पूजें.
7) इसके बाद माता लक्ष्मी का आवाहन करें.
8) माता लक्ष्मी की मूर्ति को पंचामृत (गंगा जल, दूध, दही, घी और शहद से बना) से स्नान करवाएं.
9) इसके पश्‍चात लक्ष्मी जी की मूर्ति को गंगा जल से भरे बर्तन में डुबोकर साफ़-सूखे कपड़े से अच्छी तरह पोंछ लें.
10) लक्ष्मी मां की मूर्ति को स्थापित करें और तिलक लगाकर फूल चढ़ाएं.
11) लक्ष्मी माता को वस्त्र (कपड़े) और शृंगार की सामग्री जैसे- चूड़ी, सिंदूर आदि भी चढ़ाएं.
12) फिर धूप-दीप दिखाते हुए लक्ष्मी कथा का वाचन करें.
13) लक्ष्मी माता को भोग चढ़ाएं और उन्हें दक्षिणा दें.
14) श्रद्धाभाव से लक्ष्मी मां की आरती करें.
15)आख़िर में एक बार फिर माता लक्ष्मी को पुष्प अर्पण करते हुए हाथ जोड़कर उनसे प्रार्थना करें.

यह भी पढ़ें: दिवाली-धनतेरस 2019: शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, धन लाभ के लिए क्या खरीदें- क्या न खरीदें (Diwali-Dhanteras 2019: Dhanteras Date, Time, Puja Muhurat)

Lakshmi Puja 2019

जानें मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के अचूक उपाय
1) पूजाघर में देशी घी का दिया जलाएं.
2) लक्ष्मीजी के चरणों में कमल के फूल ज़रूर चढ़ाएं.
3) लक्ष्मीजी को नैवेद्य, बताशे आदि चढ़ाएं. फिर परिवार, रिश्तेदार, दोस्तों को उसे प्रसाद के रूप में बांट दें.
4) दीपावली में देवी-देवताओं की पूजा के लिए तांबे, पीतल, चांदी या स्टील के बर्तनों का प्रयोग करें.
5) लक्ष्मीजी स्वच्छता और सौंदर्य दोनों बहुत पसंद हैं इसलिए लक्ष्मी-पूजन के समय स्वच्छता का ख़ास ध्यान रखें और अपने घर तथा पूजन स्थल को ख़ूब सजाएं.
6) मुख्यद्वार से लेकर पूजास्थल तक लक्ष्मीजी के पदचिह्न बनाएं. आप चाहें तो रेडीमेड फुटप्रिंट स्टिकर्स भी लगा सकती हैं.
7) घर के मुख्यद्वार को तोरण, रंगोली, दीये आदि जितना सजा सकें सजाएं.
8) ऐसी मान्यता है कि जिस घर में भी धन-वैभव की देवी लक्ष्मी की प्रतिमा की पूजा की जाती है, लक्ष्मीजी वहां वास करती हैं. अत: लक्ष्मीजी की पूजा में कोई कमी न रहने दें.
9) घर की चौखट या आंगन में दिया जलाते समय हर एक दीये में चार बत्तियां लगाएं. ये चार बत्तियां मां लक्ष्मी, गणेश, कुबेर और इंद्र के प्रतीक माने जाते हैं.
10) दीवावली की पूरी रात घर के दक्षिण-पूर्व कोने में घी का दीया जलाए रखें, इसे बुझने न दें.
11) दीपावली की पूजा में लाल रंग का इस्तेमाल करें, क्योंकि ये रंग शुभ माना जाता है. लाल रंग का प्रयोग न कर सकें, तो आप पिंक कलर का भी इस्तेमाल कर सकती हैं.
12) आप ख़ुद भी पूजा के समय ब्राइट कलर के कपड़े पहनें, क्योंकि रंग जीवन में ख़ुशियां लाते हैं.

यह भी पढ़ें: राशि के अनुसार चुनें करियर और पाएं सफलता (Astrology: The Best Career For Your Zodiac Sign)

सीखें दिवाली सेलिब्रेशन के 10 मॉडर्न अंदाज़ (10 Different Ways To Celebrate Diwali)

दीपावली की तैयारियां ज़ोरों पर हैं. हर कोई अपने घर, ऑफिस, गाड़ी आदि को सजाने में लगा हुआ है. त्योहारों की तैयारी कई चेहरों पर मुस्कान लाती है, तो कइयों के लिए तनाव का कारण भी बन जाती है, ख़ासकर वर्किंग वुमन के लिए. तो कैसे करें त्योहारों की तैयारी कि हर चेहरे पर मुस्कान खिली रहे? इसके लिए हमें त्योहार मनाने के 10 मॉडर्न अंदाज़ सीखने होंगे.

Ways To Celebrate Diwali

सीखें दिवाली सेलिब्रेशन के 10 मॉडर्न अंदाज़
समय के साथ त्योहार मनाने के अंदाज़ भी बदल गए हैं. आज की वर्किंग वुमन त्योहारों की तैयारियां उस तरह नहीं कर पातीं जैसे उनकी मां या नानी-दादी करती थीं और इसके लिए उन्हें कई बार उलाहने भी सुनने पड़ते हैं. घर सजाना, पकवान बनाना, परिवार के लोगों के लिए कपड़े, बच्चों के लिए पटाखे, खिलौने… इन सब में वो अपने लिए टाइम ही नहीं निकाल पातीं, जिससे उनका चिड़चिड़ापन भी बढ़ जाता है. समय के साथ बदलाव ज़रूरी है और ये बदलाव त्योहार मनाने के अंदाज़ में होना चाहिए, नहीं तो त्योहार चेहरे पर ख़ुशी नहीं, तनाव लेकर आ सकते हैं. त्योहार मनाने के मॉडर्न अंदाज़ सीखकर हम त्योहारों का पूरा लुत्फ़ भी उठा सकते हैं और तनाव से भी बच सकते हैं.

1. सीखें टाइम मैनेजमेंट
यदि आप वर्किंग वुमन हैं और घर-ऑफिस के काम के चलते आपके पास समय की कमी है, तो आप त्योहार की तैयारियां थोड़ा पहले शुरू कर दें, जैसे- गिफ़्ट आइटम्स पहले ही ख़रीद लें. आप चाहें तो घर के सदस्यों के कपड़े भी पहले ही ख़रीद सकती हैं. इसी तरह पर्दे, कुशन, बेडशीट आदि भी पहले ख़रीदे जा सकते हैं. इस तरह सही टाइम मैनेजमेंट से आप अपना समय भी बचा सकती हैं और तनाव से दूर भी रह सकती हैं.

2. परिवार की मदद लें
यदि आप हर काम ख़ुद करना चाहेंगी, तो आपका तनाव बढ़ जाएगा, इसलिए त्योहार की तैयारी के लिए बेझिझक अपने परिवार की मदद लें. पति को घर के डेकोरेशन की ज़िम्मेदारी दे दें. उनसे कर्टन, कुशन, बेडशीट आदि बदलने को कहें, लाइटिंग अरेंजमेंट करने को कहें. बच्चों को गिफ़्ट आइटम पैक करने को कहें, डायनिंग टेबल सजाने को कहें, ऐसा करने से बच्चों की क्रिएटिविटी भी बढ़ेगी. सास-ससुर को सामान की लिस्ट बनाने को कहें, ताकि उनकी पसंद का सामान भी आ जाए और आपके काम का बोझ भी हल्का हो जाए. इस तरह पूरा परिवार मिलकर यदि त्योहार की तैयारियां करेगा, तो आपका काम हल्का हो जाएगा और सबके चेहरे पर काम करने की संतुष्टि भी होगी.

3. जुटाएं ख़ुशी के पल
त्योहार जीवन में ख़ुशियां लाते हैं, इसलिए त्योहार की तैयारी को बोझ न बनाएं. पूरा परिवार मिलकर त्योहार की तैयारी करे, ताकि सबके चेहरे पर जोश और उत्साह नज़र आए. जब घर के सभी सदस्य काम में जुटे हों, तो बीच में टी ब्रेक लें और सबके लिए अच्छा नाश्ता बनाएं. घर पर नाश्ता बनाने का टाइम न हो, तो बाहर से ऑर्डर करें. इस ब्रेक टाइम में सबके काम की तारीफ़ करें और उन्हें धन्यवाद दें. उनसे कहें कि उनकी वजह से आपके काम का बोझ कितना हल्का हो गया है. आपके मुंह से अपनी तारीफ़ सुनकर आपके घर के सदस्यों को अच्छा लगेगा और वो हर काम ज़्यादा दिलचस्पी से करेंगे.

4. बच्चों को सिखाएं त्योहार का महत्व
कई महिलाएं त्योहार की तैयारियां तो पूरे जोश से करती हैं, लेकिन उन्हें ये नहीं पता होता कि आख़िर वो त्योहार मनाया क्यों जाता है. आप ऐसा न करें. जब आप त्योहार की तैयारी करें, तो उसमें बच्चों को भी शामिल करें और बच्चों को उस त्योहार के बारे में बताएं, उस त्योहार से जुड़ी कहानी सुनाएं. ऐसा करके आप अपने बच्चे को अपनी सभ्यता-संस्कृति से जोड़े रखेंगी.

5. घर के बड़ों से सीखें
बड़े शहरों के छोटे घरों और काम की मजबूरी के चलते अब कई लोग अपने पूरे परिवार के साथ नहीं रह पाते. ऐसे में जब त्योहार नज़दीक आते हैं, तो कई वर्किंग वुमन समझ नहीं पातीं कि वो त्योहार की तैयारियां कैसे करें. कई महिलाओं को उस त्योहार से जुड़ी परंपराएं भी मालूम नहीं होतीं. ऐसे में अपने घर के बड़ों से उस त्योहार के बारे में जानें. उनसे उस त्योहार से जुड़ी परंपराएं सीख लें, ताकि आप वो जानकारी अपने बच्चों को भी दे सकें. आपके घर में किस तरह पूजा होती है, किस तरह का खाना बनता है, कैसे कपड़े पहने जाते हैं, ये सब आपको मालूम होना चाहिए.

यह भी पढ़ें: घर को मकां बनाते चले गए… रिश्ते छूटते चले गए… (Home And Family- How To Move From Conflict To Harmony)

Ways To Celebrate Diwali

6. ऑनलाइन शॉपिंग करें
यदि आपके पास परिवार के साथ मार्केट या मॉल में जाकर शॉपिंग करने का टाइम न हो, तो बेझिझक ऑनलाइन शॉपिंग करें. इसके लिए शाम को परिवार के सदस्यों के साथ बैठकर उनकी पसंद की चीज़ें सिलेक्ट करें और घर बैठे शॉपिंग का लुत्फ़ उठाएं. ऐसा करने से आपको कुछ समय परिवार के साथ बैठने का मौक़ा भी मिल जाएगा.

7. हर चीज़ घर पर न बनाएं
पहले की तरह अब हर तरह के पकवान घर पर बनाना मुमकिन नहीं. पहले औरतें घर पर रहती थीं, इसलिए घर पर ही कई तरह की चीज़ें बना लेती थीं, आज की वर्किंग वुमन के लिए ऐसा करना संभव नहीं. ऐसे में कुछ चीज़ें घर पर बनाकर और कुछ मार्केट से ख़रीदकर काम को आसान बनाया जा सकता है. आप भी ऐसा करें और अपने काम का बोझ हल्का करें.

सुख-सौभाग्य-समृद्धि के लिए यूं सजाएं घर- देखें वीडियो:

8. अपने लिए व़क्त निकालें
त्योहार की तैयारियों में ख़ुद को इतना भी न उलझा लें कि आपके पास अपने लिए टाइम ही न बचे. त्योहार में आपका ख़ूबसूरत दिखना भी उतना ही ज़रूरी है, जितना घर के अन्य काम. अत: अपने लिए अलग से व़क्त निकालें और इस समय में ब्यूटी ट्रीटमेंट लें या अपने लिए शॉपिंग करें. ऐसा करके आप अच्छा महसूस करेंगी और त्योहार की तैयारी ख़ुशी-ख़ुशी करेंगी.

9. अपनों से मिलने का प्लान बनाएं
त्योहार की असली ख़ुशी अपनों के साथ ही होती है, इसलिए इस ख़ास मौ़के पर अपनों से मिलने का प्लान बनाएं. यदि आप अपने घर से दूर किसी दूसरे शहर में रहते हैं, तो त्योहार पर घर जाने का प्लान बनाएं. यदि आप अपने घर नहीं जा सकते, तो दोस्तों को घर बुलाएं या उनके घर जाएं. यदि काम की व्यस्तता के चलते ऐसा करना भी मुमकिन न हो, तो कुछ समय के लिए फोन या वीडियो कॉल करके उनके साथ व़क्त बिताएं.

10. डिनर के लिए बाहर जाएं
त्योहार का ये मतलब नहीं है कि खाना घर पर ही बने. यदि आप बिज़ी हैं और आपके पास घर पर खाना बनाने का टाइम नहीं है या ऑफिस में अचानक कोई ऐसा काम आ गया, जिसके कारण आप अच्छा डिनर नहीं बना पा रही हैं, तो ऐसे में त्योहार का उत्साह कम करने की बजाय पूरा परिवार मिलकर बाहर डिनर के लिए जाएं. ऐसा करने से आपकी थकान भी मिट जाएगी और आपका परिवार अच्छा डिनर भी कर पाएगा.

– वंशज विनय

यह भी पढ़ें: सुख-शांति के लिए घर को दें एस्ट्रो टच… (Astrological Remedies For Peace And Happiness To Home)

रक्षाबंधन 2019: राखी बांधने का शुभ मूहुर्त-पूजा विधि-तिथि-महत्व (Rakshabandhan 2019: Right Time To Tie Rakhi)

रक्षाबंधन का ख़ास पर्व इस बार 15 अगस्त 2019 के दिन है. सबसे अच्छी ख़बर ये है कि रक्षाबंधन के दिन इस बार भद्रा काल नहीं होगा. ऐसा मौका कई साल बाद आ रहा है इसलिए इस बार रक्षाबंधन का त्योहार ख़ास रहने वाला है. रक्षाबंधन के शुभ पर्व को यदि सही तरीके से मनाया जाए तो उसका फल भी शुभकारी और मनोकामना पूरी करने वाला होता है. विधि-विधान से रक्षाबंधन किया जाए, तो इससे भाई की रक्षा होती है और भाई अपने जीवन में यश-कीर्ति प्राप्त करता है. इस साल राखी बांधने का शुभ मूहुर्त-पूजा विधि-तिथि और महत्व क्या है, ये बता रहे हैं ज्योतिष व वास्तु एक्सपर्ट पंडित राजेंद्र जी.

 

 

* इस बार राखी बांधने की समय अवधि लंबी रहेगी, जिसके कारण बहनें पूरे दिन राखी बांध पाएंगी. इस बार रक्षाबंधन के दिन यानी 15 अगस्त 2019 के दिन बहन अपने भाई को सुबह 05:49 बजे से लेकर शाम के 6:01 बजे तक राखी बांध सकती हैं.

* इस बार का रक्षाबंधन बहुत ख़ास रहने वाला है, क्योंकि इस साल रक्षाबंधन के दिन भद्रा काल नहीं होगा. ऐसा मौका कई साल बाद आ रहा है.

* रक्षाबंधन के शुभ पर्व को यदि सही तरीके से मनाया जाए तो उसका फल भी शुभकारी और मनोकामना पूरी करने वाला होता है.

यह भी पढ़ें: राशि के अनुसार चुनें करियर और पाएं सफलता (Astrology: The Best Career For Your Zodiac Sign)

 

ये है रक्षाबंधन का सही तरीका
* रक्षाबंधन के दिन सबसे पहले भाई-बहन उठकर स्नान आदि कार्य निपटा लें. फिर नए या साफ-सुथरे कपड़े पहनकर सूर्य देव को जल चढ़ाएं. फिर घर के मंदिर में जाकर पूजा-अर्चना करें. ईश्‍वर की अराधना करने के बाद राखी बांधने से संबंधित सामान एकत्रित कर लें. इसके लिए चांदी, पीतल, तांबे या स्टील की कोई भी साफ थाली लें. उसमें एक सुंदर कपड़ा बिछा लें. उसमें एक कलश, नारियल, सुपारी, कलावा, रोली, चंदन, अक्षत, दही, राखी और मिठाई रख लें. थाली में भाई की आरती उतारने के लिए घी का दीपक भी रखें. अब यह थाल पहले भगवान को समर्पित करें, कृष्ण भगवान और गणेश जी को राखी अर्पित करें. भगवान को राखी अर्पित करने के बाद शुभ मुहूर्त देख भाई को पूर्व या उत्तर की तरफ मुंह करवाकर बिठाएं. फिर भाई को पहले तिलक लगाएं, फिर राखी यानी रक्षा सूत्र बांधें और भाई की आरती करें. इस बात का ध्यान रखें कि राखी बांधते समय भाई का सिर किसी कपड़े से ढका होना चाहिए.

राखी बांधते समय बहन भाई की लंबी उम्र के लिए इस मंत्र का उच्चारण कर सकती हैं :

येन बद्धो बलि राजा, दानवेन्द्रो महाबल: ।
तेन त्वां मनुबध्नामि, रक्षे मा चल मा चल ।।

 

 

इसके बाद भाई को मुंह मिठा करें. रक्षा सूत्र बंधवाने के बाद बड़ों का आशीर्वाद लें. इसके बाद भाई अपनी बहन को अपनी श्रद्धा अनुसार उपहार दें.

यह भी पढ़ें: अपनी राशि के अनुसार कौन सा रत्न पहनें जिससे हो भाग्योदय (Zodiac Birthstones: Gemstones You Should Wear According To Your Zodiac Sign)