Tag Archives: Indian Jewellery

चूड़ियां पहनने के 5 धार्मिक और वैज्ञानिक लाभ (Why Do Indian Women Wear Bangles-Science Behind Indian Ornaments)

Bangles-Science Behind Indian Ornaments

चूड़ियां पहनने के 5 धार्मिक और वैज्ञानिक लाभ (Bangles-Science Behind Indian Ornaments) हर महिला को मालूम होने चाहिए. चूड़ियां पहनने के 5 धार्मिक और वैज्ञानिक लाभ हमें बताते हैं कि चूड़ियां पहनना सिर्फ़ महिलाओं का शौक़ नहीं है, चूड़ियां पहनने के कई धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व भी हैं. आइए, जानते हैं चूड़ियां पहनने के 5 धार्मिक और वैज्ञानिक लाभ के बारे में.

Bangles-Science Behind Indian Ornaments

1) धार्मिक मान्यता के अनुसार, महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए चूड़ियां पहनती हैं इसीलिए चूड़ियां सुहाग का प्रतीक मानी जाती हैं.
2) सोलह शृंगार में चूड़ियों का ख़ास महत्व है इसलिए शृंगार के समय चूड़ियों को ख़ास महत्व दिया जाता है. खनकती चूड़ियां महिलाओं की ख़ूबसूरती को और बढ़ा देती हैं.
3) आयुर्वेद के अनुसार, सोने और चांदी की भस्म शरीर के लिए बलवर्धक होती है इसीलिए सोने और चांदी की चूड़ियां पहनने से इन धातुओं के तत्व महिलाओं को बल प्रदान करते हैं, जिससे महिलाएं लंबी उम्र तक स्वस्थ रहती हैं.
4) विज्ञान कहता है कि कांच की चूड़ियों की खनक से वातावरण में मौजूद नकारात्मक ऊर्जा नष्ट होती है और सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है.
5) लाल और हरे रंग की चूड़ियां सुहाग का प्रतीक मानी जाती हैं. लाल रंग प्रेम का माना जाता है और यह महिलाओं को अदि शक्ति से जोड़ता है. इसी तरह हरा रंग प्रकृति का रंग माना जाता है. जिस तरह प्रकृति हमारे जीवन में ख़ुशहाली लाती है, उसी तरह हरा रंग वैवाहिक जीवन में ख़ुशहाली लाता है.

यह भी पढ़ें: क़ीमती गहनों की देखभाल के 10 आसान तरीक़े (10 Easy Ways To Take Care Of Your Expensive Jewellery)

 

सुहागन स्त्रियां मंगलसूत्र क्यों पहनती हैं?

सुहागन स्त्रियां मंगलसूत्र ज़रूर पहनती हैं. मंगलसूत्र को सुहाग का प्रतीक माना जाता है इसलिए वर विवाह के समय वधु को मंगलसूत्र पहनाता है और उसके बाद विवाहित स्त्री हमेशा मंगलसूत्र पहनती है.

मंगलसूत्र पहनने की धार्मिक मान्यता
मंगलसूत्र को सुहाग का प्रतीक माना गया है इसलिए सभी सुहागन महिलाएं मंगलसूत्र पहनती हैं.

मंगलसूत्र पहनने का वैज्ञानिक महत्व
मंगलसूत्र सोने से निर्मित होता है. सोना शरीर में बल व ओज बढ़ानेवाली धातु है, इसलिए ये शारीरिक ऊर्जा का क्षय होने से रोकती है.

यह भी पढ़ें: कान के झुमके ख़रीदें अपने चेहरे के आकार के अनुसार (How To Select Earrings Jhumka According To Your Face)

 

5 स्टाइलिश अंदाज़ में पहनें साड़ी, देखें वीडियो:

 

क़ीमती गहनों की देखभाल के 10 आसान तरीक़े (10 Easy Ways To Take Care Of Your Expensive Jewellery)

क़ीमती गहनों की देखभाल (Easy Ways To Take Care Of Your Expensive Jewellery) सही तरीक़े से करनी बहुत ज़रूरी है. आपके क़ीमती गहने हमेशा चमकते रहें इसलिए हम आपको बता रहे हैं गहनों की देखभाल के 10 आसान तरीक़े.

Easy Ways To Take Care Of Your Expensive Jewellery

गहनों की देखभाल के 10 आसान तरीक़े:
1) सोने के गहनों के घिस जाने या उनमें धूल-मिट्टी लग जाने के कारण उनमें मैल जल्दी जमा हो जाता है. इससे बचने के लिए सोने के गहने के हर पीस को अलग-अलग मलमल के कपड़े में लपेटकर रखें.
2) सोने के गहनों की तरह ही प्लेटिनम ज्वेलरी का भी ख़ास ध्यान रखें. प्लेटिनम ज्वेलरी को अमोनिया से साफ़ करें. प्लेटिनम ज्वेलरी को ज़्यादा देर तक साबुन के पानी में न रखें.
3) हीरे के गहनों को सीधे ड्रॉअर या ड्रेसर पर न रखें, इससे उन पर निशान पड़ जाते हैं. हीरे के गहनों को ख़ास ज्वेलरी बॉक्स में बहुत सहेजकर रखें. हीरे के गहनों को अमोनिया और पानी मिलाकर साफ़ करें.
4) मोती के गहनों को तेज़ आंच से बचाएं, वरना इनकी चमक फीकी पड़ जाती है. मोती के गहनों को मुलायम कपड़े से साफ़ करें और इन्हें एयरटाइट डिब्बे में रखें.
5) सिल्वर ज्वेलरी यानी चांदी के गहनों को हानिकारक केमिकल से दूर रखें, वरना इनकी चमक फीकी पड़ जाएगी. चांदी के गहनों को कुनकुने पानी में डालें. फिर सॉफ्ट टूथब्रश पर सफ़ेद टूथपेस्ट लगाकर ज्वेलरी पर धीरे-धीरे स्क्रब करें. फिर इसे गरम पानी से धोएं.

यह भी पढ़ें: कान के झुमके ख़रीदें अपने चेहरे के आकार के अनुसार

 

6) कुंदन ज्वेलरी की चमक बरक़रार रखने के लिए उसे स्पॉन्ज या कॉटन लगे बॉक्स में रखें.
7) ज्वेलरी रखने के लिए ज्वेलरी बॉक्स का इस्तेमाल करें. हर आइटम ज्वेलरी बॉक्स के अलग-अलग पार्ट्स में रखें ताकि वे आपस में उलझने न पाएं.
8) गहनों की सफ़ाई करने के लिए पानी में माइल्ड डिटर्जेंट पाउडर मिला लें. इसमें ज्वेलरी डालकर छोटे सॉफ्ट ब्रश से साफ़ करें. ब्रश से साफ़ करने के बाद ज्वेलरी को सॉफ्ट कपड़े से पोंछें.
9) गहनों को केमिकल से बचाने के लिए मेकअप, बॉडी लोशन, परफ्यूम आदि लगा लेने की बाद ही गहने पहनें.
10) खाना बनाते समय, बर्तन धोते समय, एक्सरसाइज़ करते समय, स्विमिंग करते समय नाज़ुक गहने न पहनें, वरना वो टूट सकते हैं.

यह भी पढ़ें: कैसे चुनें सही क्लच और हैंड बैग हर फंक्शन के लिए?

 

5 स्टाइलिश अंदाज़ में पहनें साड़ी, देखें वीडियो: