Indian Jwellery

बॉलीवुड एक्ट्रेस को भी आम महिलाओं की तरह झुमका पहनना बहुत पसंद है. कई बॉलीवुड एक्ट्रेस खास फंक्शन में झुमका पहनना पसंद करती हैं. कान के झुमके सभी महिलाओं को पसंद आते हैं इसलिए हर महिला के ज्वेलरी कलेक्शन में कान के झुमके ज़रूर होते हैं. आज हम आपको उन बॉलीवुड एक्ट्रेस के बारे में बताते हैं, जिन्हें झुमका पहनना पसंद है.

Top Bollywood Actress

सोनम कपूर
स्टाइल दिवा सोनम कपूर ने कई ख़ास मौके पर झुमके पहने हैं. ख़ास बात ये है कि सोनम ने वेस्टर्न और ट्रेडिशनल दोनों आउटफिट के साथ झुमके पहने हैं और हर आउटफिट में वो बहुत खूबसूरत नज़र आई हैं. आप भी देखिए सोनम कपूर का झुमका लव.

sonam kapoor
sonam kapoor
sonam kapoor
sonam kapoor

विद्या बालन
भारतीय परिधान, खासकर साड़ी पहनकर विद्या बालन बेहद खूबसूरत नज़र आती हैं. विद्या बालन का ज्वेलरी पहनने का अंदाज़ भी बहुत ख़ास है. विद्या बालन जब झुमके पहनती हैं, तो उनके झुमके भी उनके कपड़ों की तरह सुंदर होते हैं.

यह भी पढ़ें: कान के झुमके ख़रीदें अपने चेहरे के आकार के अनुसार (How To Select Earrings Jhumka According To Your Face)

vidya balan
vidya balan

करीना कपूर
बोल्ड-बिंदास बेबो यानी करीना कपूर की हर अदा ख़ास है. करीना कपूर जब झुमके पहनती हैं, तो उनकी कातिल अदा पर से नज़र नहीं हटती.

kareena kapoor
kareena kapoor

अनुष्का शर्मा
अनुष्का शर्मा साड़ी या लहंगा के साथ झुमके पहनती हैं. अनुष्का शर्मा ने अपनी शादी में जो झुमके पहने थे, ठीक वैसे ही झुमके दीपिका पादुकोण ने भी पहने थे. नुष्का शर्मा ने अपनी शादी में जो झुमके पहने थे, उसके बाद कई लड़कियों ने अपनी शादी में ऐसे ही झुमके पहने थे.

anushka sharma
anushka sharma
anushka sharma

दीपिका पादुकोण
दीपिका पादुकोण एक ऐसी एक्ट्रेस हैं, जो रेखा, विद्या बालन आदि एक्ट्रेस की तरह खास मौके पर साड़ी पहनती हैं और साड़ी के साथ अक्सर झुमके पहनती हैं. दीपिका पादुकोण का देसी लुक कई महिलाएं फॉलो करती हैं. आप भी दीपिका पादुकोण की तरह ट्रेडिशनल कपड़ों के साथ झुमके पहन सकती हैं.

यह भी पढ़ें: इन बॉलीवुड अभिनेत्रियों की हेयर स्टाइल आज भी भूले नहीं होंगे आप (Most Iconic Hairstyles Of Bollywood Actresses)

deepika padukone
deepika padukone
deepika padukone
deepika padukone

शादी की रस्मों में सोलह शृंगार का विशेष महत्व है. शादी के दिन जब दुल्हन सोलह शृंगार करती है, तो उसकी ख़ूबसूरती और भी निखर जाती है. महिलाओं के जीवन में सोलह शृंगार का महत्व स़िर्फ सजने-संवरने के लिए नहीं है, इसके पीछे कई वैज्ञानिक तथ्य भी छुपे हैं. सोलह शृंगार का महिलाओं के स्वास्थ्य और सौभाग्य से गहरा संबंध है. आख़िर क्या है सोलह शृंगार का वैज्ञानिक महत्व, बता रही हैं एस्ट्रो-टैरो-न्यूमरोलॉजी-वास्तु व फेंगशुई एक्सपर्ट मनीषा कौशिक.

Solah Shringar

1) शादी का जोड़ा
दुल्हन के लिए शादी का जोड़ा चुनते समय सुंदर और चमकदार रंगों को प्राथमिकता दी जाती है, जैसे- लाल, पीला, गुलाबी आदि. दुल्हन के लिए लाल रंग का शादी का जोड़ा शुभ व महत्वपूर्ण माना जाता है. लाल रंग प्रेम का प्रतीक भी माना जाता है.
धार्मिक मान्यता
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, लाल रंग शुभ, मंगल व सौभाग्य का प्रतीक है, इसीलिए शुभ कार्यों में लाल रंग का सिंदूर, कुमकुम, शादी का जोड़ा आदि का प्रयोग किया जाता है.
वैज्ञानिक मान्यता
विज्ञान के अनुसार, लाल रंग शक्तिशाली व प्रभावशाली है, इसके उपयोग से एकाग्रता बनी रहती है. लाल रंग आपकी भावनाओं को नियंत्रित कर आपको स्थिरता देता है.

2) गजरा
गजरा एक ख़ूबसूरत व प्राकृतिक शृंगार है. गजरा चमेली के सुंगंधित फूलों से बनाया जाता है और इसे महिलाएं बालों में सजाती हैं.
धार्मिक मान्यता
मान्यताओं के अनुसार, गजरा दुल्हन को धैर्य व ताज़गी देता है. शादी के समय दुल्हन के मन में कई तरह के विचार आते हैं, गजरा उन्हीं विचारों से उसे दूर रखता है और ताज़गी देता है.
वैज्ञानिक मान्यता
विज्ञान के अनुसार, चमेली के फूलों की महक हर किसी को अपनी ओर आकर्षित करती है. चमेली की ख़ुशबू तनाव को दूर करने में सबसे ज़्यादा सहायक होती है.

3) बिंदी
बिंदी दोनों भौहों के बीच माथे पर लगाया जानेवाला लाल कुमकुम का चक्र होता है, जो महिला के शृंगार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है.
धार्मिक मान्यता
बिंदी को त्रिनेत्र का प्रतीक माना गया है. दो नेत्रों को सूर्य व चंद्रमा माना गया है, जो वर्तमान व भूतकाल देखते हैं तथा बिंदी त्रिनेत्र के प्रतीक के रूप में भविष्य में आनेवाले संकेतों की ओर इशारा करती है.
वैज्ञानिक मान्यता
विज्ञान के अनुसार, बिंदी लगाने से महिला का आज्ञा चक्र सक्रिय हो जाता है. यह महिला को आध्यात्मिक बने रहने में तथा आध्यात्मिक ऊर्जा को बनाए रखने में सहायक होता है. बिंदी आज्ञा चक्र को संतुलित कर दुल्हन को ऊर्जावान बनाए रखने में सहायक होती है.

4) सिंदूर
सिंदूर महिलाओं के सौभाग्यवती होने का सबसे महत्वपूर्ण प्रतीक है. यह सबसे पहले शादी के समय दूल्हे के द्वारा दुल्हन की मांग में भरा जाता है. उसके बाद सौभाग्यवती महिला हर समय इसे अपनी मांग में सजाए रखती है.
धार्मिक मान्यता
मान्यताओं के अनुसार, सौभाग्यवती महिला अपने पति की लंबी उम्र के लिए मांग में सिंदूर भरती है. लाल सिंदूर महिला के सहस्रचक्र को सक्रिय रखता है. यह महिला के मस्तिष्क को एकाग्र कर उसे सही सूझबूझ देता है.
वैज्ञानिक मान्यता
वैज्ञानिक मान्यताओं के अनुसार, सिंदूर महिलाओं के रक्तचाप को नियंत्रित करता है. सिंदूर महिला के शारीरिक तापमान को नियंत्रित कर उसे ठंडक देता है और शांत रखता है.

ये भी पढ़ें: विवाहित महिलाएं मंगलसूत्र क्यों पहनती हैं? (Why Do Indian Married Women Wear Mangalsutra)

Solah Shringar

5) काजल
काजल आंखों में लगाई जानेवाली काले रंग की स्याही को कहते हैं. काजल महिला की आंखों व रूप को निखारता है.
धार्मिक मान्यता
मान्यताओं के अनुसार, काजल लगाने से स्त्री पर किसी की बुरी नज़र का कुप्रभाव नहीं पड़ता. काजल से आंखों से संबंधित कई रोगों से बचाव होता है. काजल से भरी आंखें स्त्री के हृदय के प्यार व कोमलता को दर्शाती हैं.
वैज्ञानिक मान्यता
वैज्ञानिक मान्यताओं के अनुसार, काजल आंखों को ठंडक देता है. आंखों में काजल लगाने से नुक़सानदायक सूर्य की किरणों व धूल-मिट्टी से आंखों का बचाव होता है.

6) मेहंदी
मेहंदी लगाने का शौक लगभग सभी महिलाओं को होता है. लड़की कुंआरी हो या शादीशुदा हर महिला मेहंदी लगाने के मौ़के तलाशती रहती है. सोलह शृंगार में मेहंदी महत्वपूर्ण मानी गई है.
धार्मिक मान्यता
मानयताओं के अनुसार, मेहंदी का गहरा रंग पति-पत्नी के बीच के गहरे प्रेम से संबंध रखता है. मेहंदी का रंग जितना लाल और गहरा होता है, पति-पत्नी के बीच प्रेम उतना ही गहरा होता है.
वैज्ञानिक मान्यता
वैज्ञानिक मान्यताओं के अनुसार मेहंदी दुल्हन को तनाव से दूर रहने में सहायता करती है. मेहंदी की ठंडक और ख़ुशबू दुल्हन को ख़ुश व ऊर्जावान बनाए रखती है.

7) चूड़ियां
चूड़ियां हर सुहागन का सबसे महत्वपूर्ण शृंगार हैं. महिलाओं के लिए कांच, लाक, सोने, चांदी की चूड़ियां सबसे महत्वपूर्ण मानी गई हैं.
धार्मिक मान्यता
मान्यताओं के अनुसार, चूड़ियां पति-पत्नी के भाग्य और संपन्नता की प्रतीक हैं. यह भी मान्यता है कि महिलाओं को पति की लंबी उम्र व अच्छे स्वास्थ्य के लिए हमेशा चूड़ी पहनने की सलाह दी जाती है. चूड़ियों का सीधा संबंध चंद्रमा से भी माना जाता है.
वैज्ञानिक मान्यता
वैज्ञानिक मान्यताओं के अनुसार, चूड़ियों से उत्पन्न होनेवाली ध्वनि महिलाओं की हड्डियों को मज़बूत करने में सहायक होती है. महिलाओं के रक्त के परिसंचरण में भी चूड़ियां सहायक होती हैं.

8) मंगलसूत्र
मंगलसूत्र एक ऐसा सूत्र है, जो शादी के समय वर द्वारा वधू के गले में बांधा जाता है और उसके बाद जब तक महिला सौभाग्यवती रहती है, तब तक वह निरंतर मंगलसूत्र पहनती है. मंगलसूत्र पति-पत्नी को ज़िंदगीभर एकसूत्र में बांधे रखता है.
धार्मिक मान्यता
ऐसी मान्यता है कि मंगलसूत्र सकारात्मक ऊर्जा को अपनी ओर आकर्षित कर महिला के दिमाग़ और मन को शांत रखता है. मंगलसूत्र जितना लंबा होगा और हृदय के पास होगा वह उतना ही फ़ायदेमंद होगा. मंगलसूत्र के काले मोती महिला की प्रतिरक्षा प्रणाली को भी मज़बूत करते हैं.
वैज्ञानिक मान्यता
वैज्ञानिक मान्यताओं के अनुसार, मंगलसूत्र सोने से निर्मित होता है और सोना शरीर में बल व ओज बढ़ानेवाली धातु है, इसलिए मंगलसूत्र शारीरिक ऊर्जा का क्षय होने से रोकता है.

ये भी पढ़ें: चूड़ियां पहनने के 5 धार्मिक और वैज्ञानिक लाभ (Why Do Indian Women Wear Bangles-Science Behind Indian Ornaments)

Solah Shringar

9) कर्णफूल/ईयररिंग्स
कर्णफूल यानी ईयररिंग्स-झुमके, कुंडल, गोल, लंंबे आदि आकार व डिज़ाइन में पाए जाते हैं. आमतौर पर महिलाएं सोने, चांदी, कुंदन आदि धातु से बने ईयररिंग्स पहनती हैं.
धार्मिक मान्यता
मान्यताओं के अनुसार, कर्णफूल यानी ईयररिंग्स महिला के स्वास्थ्य से सीधा संबंध रखते हैं. ये महिला के चेहरे की ख़ूबसूरती को निखारते हैं. इसके बिना महिला का शृंगार अधूरा रहता है.
वैज्ञानिक मान्यता
वैज्ञानिक मान्यताओं के अनुसार हमारे कर्णपाली (ईयरलोब) पर बहुत से एक्यूपंक्चर व एक्यूप्रेशर पॉइंट्स होते हैं, जिन पर सही दबाव दिया जाए, तो माहवारी के दिनों में होनेवाले दर्द से राहत मिलती है. ईयररिंग्स उन्हीं प्रेशर पॉइंट्स पर दबाव डालते हैं. साथ ही ये किडनी और मूत्राशय (ब्लैडर) को भी स्वस्थ बनाए रखते हैं.

10) बाजूबंद
ये बाजू के ऊपरी हिस्से में पहना जाता है. बाजूबंद सोने, चांदी, कुंदन या अन्य मूल्यवान धातु या पत्थर से बना होता है.
धार्मिक मान्यता
मान्यताओं के अनुसार, बाजूबंद महिलाओं के शरीर में ताक़त बनाए रखने व पूरे शरीर में उसका संचार करने में सहायक होता है.
वैज्ञानिक मान्यता
वैज्ञानिक मान्यताओं के अनुसार, बाजूबंद बाजू पर सही मात्रा में दबाव डालकर रक्तसंचार बढ़ाने में सहायता करता है.

11) कमरबंद
कमरबंद धातु व अलग-अलग तरह के मूल्यवान पत्थरों से मिलकर बना होता है. कमरबंद नाभि के ऊपरी हिस्से में बांधा जाता है.
धार्मिक मान्यता
मान्यताओं के अनुसार, महिला के लिए कमरबंद बहुत आवश्यक है. चांदी का कमरबंद महिलाओं के लिए शुभ माना जाता है.
वैज्ञानिक मान्यता
वैज्ञानिक मान्यताओं के अनुसार, चांदी का कमरबंद पहनने से महिलाओं को माहवारी तथा गर्भावस्था में होनेवाले सभी तरह के दर्द से राहत मिलती है. चांदी का कमरबंद पहनने से महिलाओं में मोटापा भी नहीं बढ़ता.

12) मांगटीका
मांगटीका दुल्हन को मांग में पहनाया जानेवाला ज़ेवर है. यह सोने, चांदी, कुंदन, जरकन, हीरे, मोती आदि से बनाया जाता है.
धार्मिक मान्यता
मान्यताओं के अनुसार, मांगटीका महिला के यश व सौभाग्य का प्रतीक है. मांगटीका यह दर्शाता है कि महिला को अपने से जुड़े लोगों का हमेशा आदर करना है.
वैज्ञानिक मान्यता
वैज्ञानिक मान्यताओं के अनुसार मांगटीका महिलाओं के शारीरिक तापमान को नियंत्रित करता है, जिससे उनकी सूझबूझ व निर्णय लेने की क्षमता बढ़ती है.

ये भी पढ़ें: बॉलीवुड सेलिब्रिटीज़ का रत्न प्रेम: क्या रत्न चमकाते हैं इनकी क़िस्मत? (10 Bollywood Celebrities And Their Lucky Astrological Gemstones)

Solah Shringar

13) अंगूठी
शादी की सबसे पहली रस्म अंगूठी से ही शुरू की जाती है, जिसमें लड़का-लड़की एक दूसरे को अंगूठी पहनाकर सगाई की रस्म पूरी करते हैं.
धार्मिक मान्यता
मान्यताओं के अनुसार, अंगूठी पति-पत्नी के प्रेम की प्रतीक होती है, इसे पहनने से पति-पत्नी के हृदय में एक-दूसरे के लिए सदैव प्रेम बना रहता है.
वैज्ञानिक मान्यता
वैज्ञानिक मान्यताओं के अनुसार, अनामिका उंगली की नसें सीधे हृदय व दिमाग़ से जुड़ी होती हैं, इन पर प्रेशर पड़ने से दिल व दिमाग़ स्वस्थ रहता है.

14) पायल
पैरों में पहनी जानेवाली पायल चांदी की ही सबसे उत्तम व शुभ मानी जाती है. पायल कभी भी सोने की नहीं होनी चाहिए. शादी के समय मामा द्वारा दुल्हन के पैरों में पायल पहनाई जाती है या ससुराल से देवर की तरफ़ से यह तोहफ़ा अपनी भाभी के लिए भेजा जाता है.
धार्मिक मान्यता
मान्यताओं के अनुसार, महिला के पैरों में पायल संपन्नता की प्रतीक होती है. घर की बहू को घर की लक्ष्मी माना गया है, इसी कारण घर में संपन्नता बनाए रखने के लिए महिला को पायल पहनाई जाती है.
वैज्ञानिक मान्यता
वैज्ञानिक मान्यताओं के अनुसार, चांदी की पायल महिला को जोड़ों व हड्डियों के दर्द से राहत देती है. साथ ही पायल के घुंघरू से उत्पन्न होनेवाली ध्वनि से नकारात्मक ऊर्जा घर से दूर रहती है.

15) बिछिया
हर वैवाहिक महिला पैरों की उंगलियों में बिछिया पहनती है. बिछिया भी चांदी की ही सबसे शुभ मानी गई है.
धार्मिक मान्यता
महिलाओं के लिए पैरों की उंगलियों में बिछिया पहनना शुभ व आवश्यक माना गया है. ऐसी मान्यता है कि बिछिया पहनने से महिलाओं का स्वास्थ्य अच्छा रहता है और घर में संपन्नता बनी रहती है.
वैज्ञानिक मान्यता
वैज्ञानिक मान्यताओं के अनुसार, महिलाओं के पैरों की उंगलियों की नसें उनके गर्भाशय से जुड़ी होती हैं, बिछिया पहनने से उन्हें गर्भावस्था व गर्भाशय से जुड़ी समस्याओं से राहत मिलती है. बिछिया पहनने से महिलाओं का ब्लड प्रेशर भी नियंत्रित रहता है.

16) इत्र
सुगंध ख़ासकर गुलाब के फूल की सुगंध सीधे रूप से प्रेम से संबंध रखती है. सुगंध को प्रेम का प्रतीक माना गया है और यह पति-पत्नी को एक दूसरे की ओर आकर्षित करती है.
धार्मिक मान्यता
सौभाग्यवती महिला के लिए गुलाब की सुगंध सबसे उत्तम मानी जाती है. गुलाब प्रेम का प्रतीक है, इसलिए गुलाब का इत्र लगाने से पति हमेशा पत्नी की ओर आकर्षित रहता है.
वैज्ञानिक मान्यता
वैज्ञानिक मान्यताओं के अनुसार, इत्र मानसिक तनाव दूरकर तरोताज़ा रखता है. गुलाब की सुगंध दूसरों को अपनी ओर आकर्षित करती है. इत्र को नर्व पॉइंट्स पर लगाना चाहिए.
– कमला बडोनी

किस आउटफिट (Outfit) के साथ कैसा नेकलेस (Necklace) पहनें, इसकी जानकारी हर महिला को होनी चाहिए, तभी वो हर आउटफिट में ख़ूबसूरत नज़र आती है. क्या आप आउटफिट पहनते समय आप इस बात का ध्यान रखती हैं कि उस आउटफिट के साथ आप कैसा नेकपीस पहनेंगी. अगर अब तक आप ऐसा नहीं कर रही हैं, तो अब से हर आउटफिट के साथ उससे मेल खाता आउटफिट ही पहनें. किस आउटफिट के साथ कैसा नेकलेस पहनें? यह बताने के लिए हम आपको बॉलीवुड एक्ट्रेस के लुक्स बता रहे हैं. बॉलीवुड एक्ट्रेस के लुक्स देखकर आप भी उनकी तरह नेकलेस का सिलेक्शन कर सकती हैं.

Necklace

किस आउटफिट के साथ कैसा नेकलेस पहनें?

* यदि आप ट्यूब टॉप्स, लो नेक, ऑफ शोल्डर, वन शोल्डर ड्रेस पहन रही हैं, तो चोकर या शॉर्ट नेकलेस पहनकर आप परफेक्ट लुक पा सकती हैं और अपनी गर्दन की ख़ूबसूरती निखार सकती हैं.

* किसी भी प्लेन सिंपल साड़ी या ड्रेस के साथ बड़े पैंडेंट वाला नेकलेस पहनकर आप सेंटर ऑफ अट्रैक्शन बन सकती हैं.

* अगर आप हाई नेक आउटफिट के साथ नेकलेस पहन रही हैं, तो कोई ऐसा चोकर पहनें, जो आपके आउटफिट की नेकलाइन के ठीक ऊपर ख़त्म होता हो या ड्रेस पर आता हो.

* अगर आप शर्ट या ब्लेज़र के साथ ज्वेलरी पहनना चाहती हैं, तो अपनी पसंद का शॉर्ट या लॉन्ग स्टेटमेंट नेकपीस पहनें.

* यदि आप वी नेक वाला आउटफिट पहन रही हैं, तो ऐसे आउटफिट के साथ नाज़ुक लेयर्ड नेकपीस पहनें.

* किसी भी प्लेन ड्रेस, शर्ट, साड़ी आदि के साथ कलरफुल स्टेटमेंट नेकलेस पहनें.

Necklace

* प्लेन फॉर्मल टॉप के साथ ट्रेंडी नेकपीस पहनकर आप मिनटों में अपना लुक बदल सकती हैं.

* डेनिम शर्ट के साथ भी ट्रेंडी ब्रॉड नेकलेस पहनकर आप सबसे अलग और स्पेशल नज़र आ सकती हैं.

* प्लेन ब्लैक या व्हाइट टॉप की ख़ूबसूरती बढ़ाने के लिए उसके साथ कलरफुल नेकपीस पहनें.

यह भी देखें: कान के झुमके ख़रीदें अपने चेहरे के आकार के अनुसार (How To Select Earrings Jhumka According To Your Face)

Beautiful Necklaces

चेहरे के शेप के अनुसार ऐसे चुनें नेकलेस

* अगर आपका चेहरा ओवल शेप का होता है, उन पर हर तरह के नेकलेस सूट करते हैं इसलिए इन्हें नेकलेस सलेक्ट करते समय कुछ भी सोचने की ज़रूरत नहीं.

* राउंड फेस वाली महिलाओं को 28 से 30 इंच लंबा नेकलेस पहनना चाहिए. इससे उनका चेहरा लंबा नज़र आता है.

* हार्ट शेप फेस वाली महिलाओं के लिए चोकर बेस्ट ऑप्शन है. ये इनकी ठोढ़ी के नुकीनेपन को सॉफ्ट लुक देता है.

* रैक्टेंग्युलर शेप फेस पर हाई चोकर तथा 16 से 18 इंच लंबे यू शेप वाले नेकपीस अच्छे लगते हैं.

यह भी देखें: कौन-सी बिंदी आपके चेहरे पर जंचेगी (Choose Bindi According Your Face Shape)

कान के झुमके खरीदते समय डिज़ाइन के साथ ही अपने चेहरे का शेप (How To Select Earrings Jhumka) यानी आकार भी ज़रूर ध्यान में रखें. आजकल बाज़ार में कान के झुमकों की बहुत सारी वैरायटी मौजूद है. कान के झुमके सभी महिलाओं को बहुत पसंद आते हैं इसलिए हर महिला के ज्वेलरी कलेक्शन में कान के झुमके ज़रूर होते हैं. कान के झुमके अपने चेहरे के अनुरूप ख़रीदकर आप अपने चेहरे की ख़ूबसूरती कई गुना बढ़ा सकती हैं.

How To Select Earrings Jhumka

 

ओवल चेहरा
ओवल चेहरा बहुत ख़ूबसूरत होता है इसलिए आपको कान के झुमके खरीदते समय बहुत ज़्यादा सोचने की ज़रूरत नहीं है. आपके चेहरे पर हर शेप और डिज़ाइन के कान के झुमके अच्छे लगेंगे. आप अपने लिए स्टड, लटकन, ड्रॉप झुमके आदि में से कुछ भी चुन सकती हैं.

हार्ट शेप चेहरा
हार्ट शेप चेहरा हो तो कान के झुमके खरीदते समय आपको अपने चेहरे का आकार ध्यान में रखना होगा. आपको ऐसे कान के झुमके खरीदने चाहिए जिनका बेस चौड़ा हो और वो झुमके ऊपर की ओर से पतले हों. ऐसे कान के झुमके आपके चेहरे का शेप बैलेंस करेंगे, जिससे आप बहुत ख़ूबसूरत नज़र आएंगी.

गोल चेहरा
यदि आपका चेहरा गोल है, तो आपको कान के झुमके खरीदते समय लंबी डिज़ाइन वाले झुमके ख़रीदने चाहिए. लंबे कान के झुमके पहनकर आपका गोल चेहरा लंबा नज़र आएगा और आप बहुत ख़ूबसूरत नज़र आएंगी. आप कान के झुमके खरीदते समय हमेशा लंबे झुमके ही ख़रीदें.

Photo Courtesy – Nargis 

यह भी पढ़ें: कैसे चुनें सही क्लच और हैंड बैग हर फंक्शन के लिए?

 

5 स्टाइलिश अंदाज़ में पहनें साड़ी, देखें वीडियो: