Indian Web Series

साल 2020 कई मायनों में बदलाव का साल रहा ,जहाँ एक तरफ लॉकडाउन के कारण ओटीटी प्लेटफार्म पर दर्शकों की संख्या बढ़ी तो वहीँ महिला निर्देशकों का भी बोलबाला रहा, इस साल महिला निर्देशकों पर डिजिटल पर काफी भरोसा जताया गया। डिजिटल प्लेटफार्म पर महिला निर्देशकों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है, महिला प्रधान फिल्म और वेब सीरीज बनाकर ये महिलाएं ना ही सफलता की नयी ऊचाईयों को छू रही हैं बल्कि महिलाओं के प्रति नए ट्रेंड भी सेट कर रही हैं. हजारों ख्वाहिशें ऐसी फिल्म की राइटर रह चुकी रुचि नारायण ने वेब पर कियारा आडवाणी अभिनीत फिल्म ‘गिल्टी’ और लारा दत्ता और रिंकू राजगुरु अभिनीत वेबसीरीज ‘हंड्रेड’ का निर्देशन है। उनका कहना है कि मैं फिल्म इंडस्ट्री में 30 साल से काम कर रही हूं। वेब के मुकाबले फिल्मों में महिलाओं को कंटेंट बनाने के लिए फंडिंग मिलना बहुत मुश्किल है। ओटीटी पर कॉन्सेप्ट चलता है। उसी आधार पर निर्देशक का चुनाव होता है। यहां पर जेंडर, पहचान और रिश्ते काम नहीं आते हैं। 

Women  Directors
‘गिल्टी’ की निर्देशिका रूचि नारायण
Women  Directors

फिल्मों में निर्माता भले ही बड़े बजट के प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी महिला निर्देशक को देने से झिझकते हों,  लेकिन डिजिटल प्लेटफार्म पर महिलाएं एक के बाद एक हिट फ़िल्में तो दे ही रही हैं साथ ही वेब सीरीज के जरिये आठ-आठ घंटों का कंटेंट भी उन्होंने संभाल रखा है.नेटफ्लिक्स पर ‘बुलबुल’ जैसी फीमेल सेंट्रिक फिल्म बना चुकी अन्विता दत्त का कहना है, घर पर बैठकर भी अच्छे और मज़बूत विषयों पर स्टोरी बनायीं जा सकती हैं.महिलाओँ के प्रति लोगों के नज़रिए में बदलाव लाने के लिए स्टोरी में महिला का हीरो बनाना जरूरी है, और ये कहानियां लोगों को पसंद भी खूब आ रही हैं.

Bulbul
‘बुलबुल’ की निर्देशिका अन्विता दत्त

मेंटलहुड वेबसीरीज का निर्देशन कर चुकी करिश्मा कोहली कहती है कि मेरी काबिलियत में कोई कमी नहीं थी।लेकिन बड़े निर्माता को महिलाओं पर विश्वास कम है। वह उन्हें बड़े बजट की बजाय छोटी फिल्में देते हैं, यह देखने के लिए कि हम कैसे परफॉर्म करेंगे। वह मानसिकता अब भी बनी हुई है। लेकिन वह अब वेब की वजह से बदलेगा। वेब की वजह से हमारे पास विकल्प है। अब वह फीलिंग नहीं है कि सिर्फ फिल्में ही बनानी है। मुझे कंटेंट क्रिएट करना है, फिर चाहे प्लेटफॉर्म कोई भी हो। ‘बारिश 2’ वेब शो की निर्देशिका नंदिता मेहरा का कहना है कि मैं जब दूसरी महिला का काम देखती हूं, तो उससे प्रेरित होती हूं।

MentalHood
Baarish Season 2
MentalHood
करिश्मा कपूर के साथ ‘मेंटलहुड’ की निर्देशिका करिश्मा कोहली

वेब के इस मंच पर महिलाओं की प्रतिभा निखरकर आ रही है।इस साल डिजिटल प्लेटफार्म पर महिला निर्देशकों द्वारा कई फ़िल्में और वेब सीरीज रिलीज़ हुई ,जो खूब चर्चा में रहीं, जिनमे अलंकृता श्रीवास्तव द्वारा निर्देशित फिल्म ‘डॉली किट्टी और वो चमकते सितारें’, सोनम नायर द्वारा निर्देशित ‘मसाबा मसाबा’ भी शामिल है. फोर मोर शॉर्ट्स प्लीज! के दूसरे सीजन की निर्देशिका नुपुर अस्थाना का मानना है कि महिला निर्देशक महिला किरदार की बारिकियों को निखार पाती हैं। वह उनके किरदारों को महसूस कर पाती हैं। ओटीटी प्लेटफार्म पर अभिनेत्रियां भी निर्देशन के क्षेत्र में उतर रही हैं, दमदार एक्टिंग से अपनी पहचान बना चुकी रेणुका शहाने अब बतौर निर्देशक काम कर रही हैं वेब शो ‘त्रिभंगा-टेढ़ी मेढ़ी क्रेजी’ में.इस वेब शो के जरिये रेणुका निर्देशन में डेब्यू कर रही हैं.उनका ये वेब शो जल्द ही डिजिटल प्लेटफार्म पर दिखाई देगा। इस शो में काजोल लीड रोल में नज़र आएंगीं।

Four More Shorts Please
फोर मोर शॉर्ट्स प्लीज! की निर्देशिका नूपुर अस्थाना
Masaba Masaba
Dolly Kitty Aur Woh
Renuka Shahane
रेणुका शहाणे
Tribhanga
‘त्रिभंगा-टेढ़ी मेढ़ी क्रेजी’ का फर्स्ट लुक
Tribhanga

फिल्ममेकिंग हमेशा से ब्वायज क्लब के तौर पर जाना जाता रहा है,लेकिन अब काम बढ़ गया है, डिजिटल प्लेटफार्म का दायरा लगातार बढ़त जा रहा है. महिलाएं कई बड़े प्लेटफॉर्म की मुखिया बनी हैं, ऐसे में उनके लिए मौके बढ़ गए हैं। महिलाएं एक सीमित बजट में पुरुषों की तरह ही अच्छी फिल्म या वेब सीरीज बनाने का तरीका जानती हैं, उनके कंटेंट भी लोगों को पसंद आ रहे हैं. इसलिए ये कहना गलत नहीं होगा की अगले साल भी वेब पोर्टल पर महिला निर्देशकों का ही राज रहनेवाला है.

टीवी सीरियल्स देखने का ट्रेंड अब आउटडेटेड हो गया है… टीवी सीरियल्स की जगह अब नेटफ्लिक्स, एमेज़ॉन प्राइम, आल्ट बालाजी आदि पर देखी जानेवाली वेब सीरीज़ ने ले ली है… डबल मीनिंग डायलॉग्स, गाली-गलौज, सेक्स, क्राइम से भरपूर ये वेब सीरीज़ लोगों की मोबाइल स्क्रीन को बोल्ड बना रही हैं… वेब सीरीज़ को सोशल मीडिया पर प्रमोट करने के लिए बोल्ड सीन एक तरह से टीआरपी का काम कर रहे हैं, इसलिए लगभग हर वेब सीरीज़ में सेक्स सीन और बोल्डनेस का तड़का ज़रूर लगाया जा रहा है. बोल्डनेस की हदें पार करती कुछ वेब सीरीज़ पर एक नज़र:

Indian Web Series

1) ट्रिपल एक्स (XXX) 
इसे अब तक की सबसे बोल्ड वेब सीरीज़ कह सकते हैं. एकता कपूर की बेहद बोल्ड वेब सीरीज़ ट्रिपल एक्स की कहानी सेक्स, महिलाएं और कंट्रोवर्सी के इर्दगिर्द ही घूमती है यानी इस वेब सीरीज़ का हर एपिसोड सेक्स से भरा हुआ है. ट्रिपल एक्स में शांतनु माहेश्‍वरी, रित्विक धंजानी, अंकित गेरा जैसे पॉप्युलर टीवी एक्टर्स ने पहली बार इतने बोल्ड सीन्स किए हैं.

2) लस्ट स्टोरीज़
करण जौहर, ज़ोया अख़्तर, अनुराग कश्यप और दिबाकर बनर्जी जैसे दिग्गजों द्वारा निर्मित लस्ट स्टोरीज़ अपने नाम की तरह ही लस्ट से भरपूर थी. इस वेब सीरीज़ में कियारा आडवानी पर फिल्माया गया मास्टरबेशन का सीन काफ़ी विवादों में रहा.

3) मिर्ज़ापुर
गैंग और क्राइम पर आधारित ऐमेज़ॉन प्राइम पर आई मिर्ज़ापुर में पंकज त्रिपाठी, अली फज़ल, दिव्येंदु शर्मा, विक्रांत मेसी, श्‍वेता त्रिपाठी, रसिका दुग्गल आदि कलाकार प्रमुख रोल में नज़र आए. इस वेब सीरीज़ में जहां श्‍वेता त्रिपाठी मास्टरबेशन करती नज़र आईं, वहीं पंकज त्रिपाठी पहली बार बेड सीन करते हुए दिखे. मिर्जापुर में श्‍वेता त्रिपाठी के बोल्ड सीन सोशल मीडिया पर काफ़ी समय तक चर्चा का विषय बने रहे.

4) माया 2
अपने पिता विक्रम भट्ट के नक्शेक़दम पर चलती कृष्णा भट्ट ने माया 2 वेब सीरीज़ का निर्देशन किया है. दो समलैंगिक महिलाओं की कहानी पर आधारित इस वेब सीरीज़ में लीना जुमानी और प्रियल गौर ने लिप लॉक सीन दिया है. समलैंगिकता के नाम पर सेक्स परोसती माया 2 ने भी ख़ूब सुर्ख़ियां बटोरी हैं.

5) अपहरण
हाल ही में क्राइम और बोल्डनेस से भरपूर एकता कपूर की एक और वेब सीरीज़ अपहरण रिलीज़ हुई. अपहरण में माही गिल की बोल्डनेस ने इस वेब सीरीज़ को सुर्ख़ियों में ला दिया है.

6) सेक्रेड गेम्स
क्राइम और सेक्स पर आधारित सेक्रेड गेम्स में एक्ट्रेस राजश्री ने नवाजुद्दीन सिद्दीकी के साथ कई बोल्ड सीन्स दिए हैं और इस वेब सीरीज़ में वो टॉपलेस भी नज़र आई हैं. बोल्ड सीन्स के कारण राजश्री को सोशल मीडिया पर खराब कमेंट्स का सामना भी करना पड़ा. न्यूडिटी और बोल्ड कंटेंट के कारण विवादों में रहते हुए भी सैफ अली ख़ान और नवाजुद्दीन सिद्दीकी स्टारर सेक्रेड गेम्स वेब सीरीज़ ने कई अवॉर्ड्स जीते.

7) गंदी बात
आल्ट बालाजी यानी एकता कपूर की ये वेब सीरीज़ बहुत बोल्ड है. इसमें समाज में हो रही उन गंदी बातों को दिखाया गया है, जिन पर कोई बात नहीं करना चाहता. गंदी बात वेब सीरीज़ का सब्जेक्ट अच्छा है, लेकिन इसमें इतने बोल्ड सीन्स हैं कि आप इसे अकेले ही देख सकते हैं.

यह भी पढ़ें: 13 बॉलीवुड एक्ट्रेसेज़, जिन्होंने शादीशुदा मर्दों से शादी की (13 Bollywood Actress Who Marry To Married Man)

Indian Web Series Netflix

वेब सीरीज़ का बढ़ता क्रेज़- बोल्ड होती मोबाइल स्क्रीन
आजकल घर-बाहर, रास्ते में, होटल में, ट्रेन-बस… हर जगह मोबाइल हाथ में और हैंड्सफ्री कानों में लगाकर अधिकतर लोग अपनी ही दुनिया में मस्त रहते हैं. उनके आसपास क्या हो रहा है, उन्हें इसकी ख़बर तक नहीं होती. वो बस अपने मोबाइल की स्क्रीन पर नज़र गड़ाए अपनी मनपसंद वेब सीरीज़ देखने में व्यस्त रहते हैं. ये है वेब सीरीज़ का आकर्षण, जो सभी को मोबाइल स्क्रीन से बांधे रखता है. हालांकि वेब सीरीज़ के माध्यम से हर किसी को अपनी पसंद का कंटेंट देखने को मिल रहा है, लेकिन वेब सीरीज़ पर दिखाए जा रहे बोल्ड सीन्स बोल्डनेस की सारी हदें पार कर रहे हैं. गालियों और डबल मीनिंग से भरपूर डायलॉग्स, खुल्लमखुल्ला सेक्स परोसते बोल्ड सीन्स, लेसबियन, गे संबंध के नाम पर नग्नता की हदें पार करतीं कहानियां, एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर, मारधाड़, गोलियों की बौछार… वेब सीरीज़ में वो सब कुछ दिखाया जा रहा है, जिन्हें फिल्मों या टीवी सीरियल में दिखाने की मनाही है. तो क्या वेब सीरीज़ पर सेंसर नहीं लगाया जाना चाहिए?

 

दर्शकों के पास है सेल्फ-सेंसरशिप का विकल्प
वेब सीरीज़ पर अपना अधिकतर खाली समय बितानेवाली 24 वर्षीय शिवानी कहती हैं, मुझे टीवी सीरियल देखना बिल्कुल पसंद नहीं था, लेकिन जब से वेब सीरीज़ शुरू हुई हैं, तब से हमारे जैसे यूथ को भी एंटरटेनमेंट का एक नया माध्यम मिल गया है. वेब सीरीज़ में ऐसे कई एक्सपेरिमेंट्स हो रहे हैं, जो पहले कभी नहीं हुए, ऐसे कई कंटेंट दिखाए जा रहे हैं, जो पहले कभी नहीं दिखाए गए. ज़रूरी नहीं कि हर वेब सीरीज़ में स़िर्फ सेक्स ही परोसा जाता है. ये आप पर है कि आप क्या देखना चाहते हैं. आज दर्शकों के पास सेल्फ-सेंसरशिप का विकल्प है. दर्शक ये ख़ुद तय कर सकते हैं कि उन्हें क्या देखना है और क्या नहीं.
हाउसवाइफ रिचा कहती हैं, मुझे सास-बहू के ड्रामेवाले सीरियल देखना बिल्कुल पसंद नहीं, मुझे क्राइम बेस्ड स्टोरीज़ अच्छी लगती हैं. अब मैं अपनी पसंद की क्राइम बेस्ड वेब सीरीज़ अपने मोबाइल पर ही देख लेती हूं. वेब सीरीज़ की सबसे अच्छी बात ये है कि आप अपने खाली समय में बिना किसी को डिस्टर्ब किए अपना मनोरंजन कर सकते हैं.

फैमिली ड्रामे की जगह ले रही हैं बोल्ड-बिंदास वेब सीरीज़
हर रोज़ घंटों सास-बहू के फैमिली ड्रामे और पौराणिक कथाओं वाले सालोंसाल चलनेवाले सीरियल देखनेवाली महिलाएं अब टीवी से दूर होती जा रही हैं. अब उनका अधिकतर समय अपने मोबाइल स्क्रीन पर गुज़रता है. ख़ास बात ये है कि अब इन महिलाओं की रुचि भी बदलने लगी है. सास-बहू के सालों पुराने ड्रामे देखने की बजाय अब ये महिलाएं बेधड़क सेक्स, क्राइम और गाली-गलौज से भरपूर बोल्ड-बिंदास वेब सीरीज़ देखने लगी हैं, वो भी चुपचाप किसी को कानोंकान ख़बर लगे बिना. महिलाएं ये वेब सीरीज़ खाली समय में अपनी सुविधानुसार देखती हैं और समय न मिला, तो नींद में कटौती करके भी अपना ये शौक पूरा कर लेती हैं.

युवाओं को ध्यान में रखकर लिखी जा रही हैं स्क्रिप्ट
टीवी सीरियल्स में युवाओं के देखने लायक कुछ नहीं होता था, इसलिए वो इनसे दूर रहते थे, लेकिन अब वेब सीरीज़ के कंटेंट युवाओं को ध्यान में रखकर लिखे जा रहे हैं. वेब सीरीज़ में उनकी पसंद की कहानियां हैं. युवाओं को भी इन वेब सीरीज़ का कंटेंट और कहानी को प्रस्तुत करने का ढंग पसंद आ रहा है, इसलिए वेबसीरीज़ युवाओं में काफ़ी पॉप्युलर हो रही हैं.

यह भी पढ़ें: 6 बॉलीवुड वाइफ्स, जो अपने पतियों से ज़्यादा मशहूर हैं (6 Bollywood Wives Who Are More Famous Than Their Husbands)

Indian Web Series Netflix

वेब सीरीज़ के फ़ायदे
* वेब सीरीज़ में दर्शकों को नयापन देखने को मिल रहा है. रोमांटिक कॉमेडी, डॉक्यू-ड्रामा, थ्रिलर्स हर तरह के जॉनर पर काम किया जा रहा है और दर्शकों को नया कंटेंट दिया जा रहा है.
* वेब सीरीज़ दर्शकों को ये सुविधा दे रही हैं कि वो अपनी पसंद का कंटेंट अपनी सुविधानुसार बिना किसी रुकावट के देख सकें.
* वेब सीरीज़ में दर्शकों के पास ये चॉइस होती है कि वो क्या देखना चाहते हैं और क्या नहीं. दर्शकों पर कुछ भी ज़बर्दस्ती थोपा नहीं जाता यानी दर्शकों के पास अब सेल्फ-सेंसरशिप का विकल्प मौजूद है.
* वेब सीरीज़ के माध्यम से अब दर्शक अपनी पसंद का सब्जेक्ट देख पा रहे हैं.
* वेब सीरीज़ में कई नए-नए प्रोजेक्ट्स पर काम हो रहा है, इसलिए निर्माता-निर्देशकों को अपनी क्रिएटिविटी दिखाने का भरपूर मौक़ा मिल रहा है.
* जिन कलाकारों के पास पहले काम बहुत कम होता था, उन्हें अब ख़ूब काम मिलने लगा है.
* वेब सीरीज़ के माध्यम से एंटरटेनमेंट का एक नया मीडियम तैयार हो रहा है, जहां निर्माता-निर्देशक और कलाकारों को एक अलग पहचान मिल रही है.

Indian Web Series Netflix

वेब सीरीज़ के नुक़सान
* अधिकतर वेब सीरीज़ में मारपीट, गाली-गलौज और सेक्स परोसा जा रहा है.
* निर्माता-निर्देशकों को बेरोक-टोक सेक्स और वॉयलेंस दिखाने की आज़ादी मिल गई है. एथिक्स की परवाह किए बिना सब कुछ खुल्लमखुल्ला दिखाया जा रहा है.
* ससुर-बहू का संबंध, ट्रांसजेंडर की न्यूडिटी, समलैंगिंक संबंध, एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर… वेब सीरीज़ में ये सब धड़ल्ले से दिखाया जा रहा है.
* अधिकतर वेब सीरीज़ में ज़रूरत न होने पर भी ज़बर्दस्ती सेक्स, वॉयलेंस, गाली-गलौज के सीन्स डाले जाते हैं.
* गुस्से के सीन में बेधड़क गालियां और मारपीट दिखाई जा रही है.

यह भी पढ़ें: सेलेब्रेटी कपल्स- जो अपने पार्टनर से हैं उम्र में 8-10 साल बड़े (Celebrity Couples With Big Age Differences)

Gandi Baat

बढ़ रहा है बोल्डनेस का बाज़ार
डिजिटल मीडिया में अब एंटरटेनमेंट के नाम पर बोल्ड वेब सीरीज़ न स़िर्फ सनसनी फैला रही हैं, बल्कि अपनी अलग छाप भी छोड़ रही हैं. वेब सीरीज़ का क्रेज़ इस कदर बढ़ रहा है कि अब कई बड़े फिल्मस्टार्स भी वेब सीरीज़ में नज़र आने लगे हैं. इतना ही नहीं, फिल्मों में जहां बोल्ड सीन्स को छुपाया जाता है, वहीं वेब सीरीज़ में ज़बर्दस्ती बोल्ड सीन, गाली-गलौज, मारधाड़ आदि को शामिल किया जाता है. वेब सीरीज़ में कलाकार बोल्डनेस की सारी हदें पार कर रहे हैं. डिजिटल मीडिया में सनसनी मचाती वेब सीरीज़ अपनी बोल्डनेस के कारण रातोंरात सुर्ख़ियां बटोर रही हैं. इन वेब सीरीज़ का कंटेंट युवाओं को ध्यान में रखकर लिखा जा रहा है, लेकिन सवाल ये है कि इतनी बोल्डनेस क्या ज़रूरी है?
– कमला बडोनी

×