Tag Archives: Indian Wedding

ब्राइडल लहंगा ट्रेंड्स: ये हैं लैक्मे फैशन वीक विंटर/फेस्टिव 2019 के 10 बेस्ट ब्राइडल लहंगा (Bridal Lehenga Trends: 10 Best Bridal Lehengas Spotted At Lakme Fashion Week Winter/Festive 2019)

हर लड़की के लिए उसकी शादी का दिन सबसे ख़ास होता है और इस दिन वो सबसे ज़्यादा ख़ूबसूरत नज़र आना चाहती है… इसीलिए डिज़ाइनर्स ब्राइडल लहंगा पर बहुत मेहनत करते हैं… बदलते फैशन के साथ-साथ ब्राइडल लहंगा के ट्रेंड्स भी बदलते रहते हैं… आप तक इस साल के ब्राइडल लहंगा ट्रेंड्स पहुंचाने के लिए हमने लैक्मे फैशन वीक विंटर/फेस्टिव 2019 (Lakme Fashion Week Winter/Festive 2019) के बेस्ट 10 ब्राइडल लहंगे सिलेक्ट किए हैं… यदि आपकी भी इस साल शादी हो रही है, तो आपके लिए ये लहंगे बेस्ट हैं.

Bridal Lehenga Trends

1) सॉफ्ट पिंक ब्राइडल लहंगा
* लैक्मे सैलून द्वारा प्रस्तुत डिज़ाइनर अर्पिता मेहता के ब्लॉकबस्टर ब्राइड्स कलेक्शन की शो स्टॉपर ऐक्ट्रेस अनन्या पांडे द्वारा पहना गया सॉफ्ट पिंक ब्राइडल लहंगा दुल्हन के लिए बेस्ट शादी का जोड़ा है.
* ब्राइडल वेयर में इस साल पिंक कलर फैशन में हैं और पिंक कलर के सभी शेड्स के ब्राइडल लहंगा मार्केट में उपलब्ध हैं.
* पिंक कलर हर लड़की पर अच्छा लगता है इसलिए शादी के दिन यदि लड़की पिंक कलर का ब्राइडल लहंगा पहनती है, तो उसकी ख़ूबसूरती और बढ़ जाती है.
* यदि आपकी बॉडी हैवी, तो लाइट एम्ब्रॉयडरीवाला लहंगा चुनें और लहंगे का बॉर्डर भी पतला ही रखें.
* यदि आपकी हाइट अच्छी है, तो चौड़े बॉर्डरवाला ब्राइडल लहंगा चुनें, ये लहंगा आप पर बहुत अच्छा लगेगा.

Bridal Lehenga Trends
2) डीप वाइन ब्राइडल लहंगा
* एक्ट्रेस पूजा हेगड़े ने फैशन डिज़ाइनर जयंति रेड्डी का डिज़ाइन किया हुआ वाइन कलर का लहंगा पहना है और ये दुल्हन के लिए बेस्ट लहंगा है.
* वाइन कलर का ब्राइडल लहंगा पहनकर आप बेशक बेहद ख़ूबसूरत नज़र आएंगी. वैसे भी आजकल दुल्हन शादी के लहंगे के कलर और एम्ब्रॉयडरी में बहुत एक्सपेरिमेंट्स कर रही हैं. आप भी कुछ नया ट्राई कर सकती हैं.
* वाइन कलर के साथ गोल्डन एम्ब्रॉयडरी अच्छी लगती है. आप भी ये कॉम्बिनेशन ट्राई कर सकती हैं.
* अगर आपकी हाइट कम है, तो आप हाई वेस्ट लहंगा सिलेक्ट करें. इससे आप लंबी नज़र आएंगी.
* कम हाइटवाली दुल्हन को सिंगल टोन यानी एक कलर का लहंगा सिलेक्ट करना चाहिए. आप लहंगे के साथ शॉर्ट चोली और हाई हील पहनें, इससे आप लंबी नज़र आएंगी.

 

Best Bridal Lehenga
3) इंक ब्लू ब्राइडल लहंगा
* लैक्मे फैशन वीक विंटर/फेस्टिव 2019 में डिज़ाइनर अनुश्री रेड्डी द्वारा प्रस्तुत ये ब्लू लहंगा दुल्हन को न्यू और फ्रेश लुक देगा.
* अगर आप अपनी शादी के लहंगे के लिए कोई अलग कलर तलाश रही हैं, तो इंक ब्लू कलर का ब्राइडल लहंगा ट्राई कर सकती हैं. ये ब्राइडल लहंगा ख़ूबसूरत भी है और ट्रेंडी भी.
* इंक ब्लू कलर के साथ गोल्डन एम्ब्रॉयडरी बहुत ख़ूबसूरत लगती है और ये कॉम्बिनेशन आपको रॉयल लुक देगा.
* यदि आप शादी की रस्मों के समय इंक ब्लू लहंगा नहीं पहनना चाहतीं, तो संगीत, मेहंदी या रिसेप्शन के लिए ये लहंगा सिलेक्ट कर सकती हैं.
* विंटर में आप वेल्वेट फैब्रिक का इंक ब्लू ब्राइडल लहंगा भी ट्राई कर सकती हैं. इससे आप ठंड से भी बच जाएंगी और आपको रॉयल लुक भी मिलेगा.

यह भी पढ़ें: शिल्पा शेट्टी के 20 लेटेस्ट साड़ी ब्लाउज़ डिजाइन्स: आप भी ट्राई कर सकती हैं ये ब्लाउज़ डिजाइन्स (20 Latest Saree Blouse Designs By Shilpa Shetty That Can Be Copied By Anyone)

Bridal Lehenga Trends
4) फुशिया पिंक ब्राइडल लहंगा
* पिंक कलर के लाइट और डार्क शेड से तैयार किया गया अनुश्री रेड्डी का ये ब्राइडल लहंगा आपको यंग और फ्रेश लुक देगा.
* दुल्हन अपनी शादी में सेंटर ऑफ अट्रैक्शन होती है, इसलिए दुल्हन के लिए फुशिया पिंक कलर का लहंगा बेस्ट है.
* पिंक कलर के साथ गोल्डन और सिल्वर दोनों कलर की एम्ब्रॉयडरी अच्छी लगती है, इसलिए आप अपनी ज्वेलरी और अन्य एक्सेसरीज़ के अनुसार गोल्डन या सिल्वर एम्ब्रॉयडरीवाला फुशिया पिंक कलर का लहंगा पहन सकती हैं.
* फुशिया पिंक लहंगे पर सीक्वेंस, बीड्स, एंटीक गोल्ड की एम्ब्रॉयडरी अच्छी लगती है. हैवी एम्ब्रॉयडरीवाला फुशिया पिंक ब्राइडल लहंगा न पहनें, इसमें आप मोटी और मैच्योर नज़र आ सकती हैं.
* यंग और फ्रेश लुक के लिए छोटे मोटिफ और हल्की एम्ब्रॉयडरी वाला फुशिया पिंक ब्राइडल लहंगा सिलेक्ट करें.

Bridal Lehenga Trends

5) रॉयल ब्लू ब्राइडल लहंगा
* लैक्मे फैशन वीक में एक्ट्रेस कंगना रनौत ने डिज़ाइनर दिशा पाटिल का डिज़ाइन किया हुआ लहंगा पहना है. रॉयल ब्लू कलर का लहंगा ब्राइडल वेयर के लिए बेस्ट चॉइस है.
* रॉयल ब्लू ब्राइडल लहंगा के साथ गोल्डन और सिल्वर दोनों शेड्स की एम्ब्रॉयडरी अच्छी लगती है.
* रॉयल ब्लू ब्राइडल लहंगा के साथ आप बीड्स, लेस वर्क, मिरर वर्क, रेशम वर्क, गोटा वर्क आदि कॉम्बिनेशन ट्राई कर सकती हैं.
* यदि आप रॉयल ब्लू कलर का ब्राइडल लहंगा शादी की रस्म में नहीं पहनना चाहतीं, तो इसे रिसेप्शन, कॉकटेल पार्टी, संगीत आदि फंक्शन में पहन सकती हैं.

Bridal Lehenga

6) बोल्ड ब्लैक ब्राइडल लहंगा
* फैशन डिज़ाइनर मनीष मल्होत्रा का लव एंड केयर कलेक्शन जितना ख़ूबसूरत है, उतना ही अनोखा भी है. कटरीना कैफ द्वारा पहना ब्लैक लहंगा उन दुल्हनों के लिए है, जो अपना ट्रेंड ख़ुद बनाती हैं.
* आज की मॉडर्न दुल्हन अपनी शादी के दिन सबसे अलग और स्पेशल नज़र आना चाहती है. यदि आप भी अपनी शादी में कुछ अलग और स्पेशल पहनना चाहती हैं, तो ये लहंगा ट्राई कर सकती हैं.
* ब्लैक कलर के साथ गोल्डन एम्ब्रॉयडरी आपको बोल्ड और रॉयल लुक देगी.
* कई जगहों पर शादी की रस्मों में ब्लैक कलर नहीं पहना जाता, ऐसे में बैचलर पार्टी, कॉकटेल पार्टी आदि में ब्लैक कलर का लहंगा ट्राई किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: दीपिका पादुकोण, ऐश्‍वर्या राय, प्रियंका चोपड़ा, अनुष्का शर्मा की तरह आप भी पहनें ब्राइडल नथ (12 Bollywood Nose Ring Every Woman Must Have)

Top Bridal Lehenga

7) पेस्टल पिंक ब्राइडल लहंगा
* लैक्मे सैलून द्वारा प्रस्तुत डिज़ाइनर अनुश्री रेड्डी के ब्लॉकबस्टर ब्राइड्स कलेक्शन की शो स्टॉपर ऐक्ट्रेस अनन्या पांडे द्वारा पहना गया पेस्टल पिंक कलर का लहंगा आपको ट्रेंडी और न्यू लुक देगा.
* इन दिनों ब्राइडर वेयर में पेस्टल कलर फैशन में हैं, इसलिए आप भी अपनी शादी के लिए पेस्टल पिंक कलर का ब्राइडल लहंगा चुन सकती हैं.
* दुबली-पतली दुल्हन पेस्टल कलर का ब्राइडल लहंगा पहनकर और भी ख़ूबसूरत नज़र आती हैं.
* पेस्टल पिंक ब्राइडल लहंगा के साथ बीड्स, लेस वर्क, मिरर वर्क, रेशम वर्क, गोटा वर्क आदि बहुत अच्छे लगते हैं.
* पेस्टल पिंक ब्राइडल लहंगा के साथ आप कॉन्ट्रास्ट कलर की ज्वेलरी पहन सकती हैं.

Best Bridal Lehenga

8) बेज ब्राइडल लहंगा
* एक्ट्रेस डायना पेंटी ने डिज़ाइनर रिद्धि मेहरा का डिज़ाइन किया हुआ बेज ब्राइडल लहंगा पहना है और ये लहंगा हर लड़की को ख़ूबसूरत बना सकता है. डिज़ाइनर्स आजकल बेज कलर के लहंगे पर बहुत एक्सपेरिमेंट्स कर रहे हैं.
* यदि आपकी पसंद बहुत सिंपल और एलिगेंट है यानी आपको ब्राइट कलर्स पसंद नहीं हैं, तो आप बेज कलर का ब्राइडल लहंगा पहन सकती हैं.
* बेज कलर के लहंगे की ख़ासियत ये होती है कि इसके साथ आप एक्सेसरीज़ के लिए कोई भी ब्राइट कलर ट्राई कर सकती हैं. बेज या क्रीम कलर के लहंगे के साथ रेड, ग्रीन, ब्लू जैसे ब्राइट कलर की ज्वेलरी पहनी जा सकती है.
* बेज कलर के साथ डेलिकेट एम्ब्रॉयडरी, लेसवर्क आदि अच्छे लगते हैं. एलिगेंट लुक के लिए सेल्फ एम्ब्रॉयडरी वाला बेज ब्राइडल लहंगा सिलेक्ट करें.

यह भी पढ़ें: 10 बॉलीवुड एक्ट्रेस ने पहना सबसे महंगा शादी का जोड़ा (10 Most Expensive Wedding Dress Of Bollywood Actresses)

Bridal Lehenga Trends

9) शॉकिंग पिंक ब्राइडल लहंगा
* रिद्धि मेहरा का शॉकिंग पिंक लहंगा दुल्हन के लिए बेस्ट ऑप्शन है. इस लहंगे का ट्रेडिशनल वर्क इसकी ख़ूबसूरती और भी बढ़ा रहा है.
* वैसे तो पिंक कलर के सभी शेड्स दुल्हन पर अच्छे लगते हैं, लेकिन शादी के दिन कई लड़कियां ब्राइट कलर पहनना पसंद करती हैं, इसलिए उन्हें ब्राइडल वेयर में शॉकिंग पिंक ब्राइडल लहंगा ज़्यादा पसंद आता है.
* शादी का जोड़ा ख़रीदते समय अधिकतर लड़कियां रेड और पिंक कलर को प्राथमिकता देती हैं. यदि आप भी शाही और पारंपरिक दुल्हन नज़र आना चाहती हैं, तो आप अपनी शादी के लिए शॉकिंग पिंक ब्राइडल लहंगा सिलेक्ट कर सकती हैं.
* शाही लुक के लिए आप फुशिया पिंक कलर के साथ ब्लू कलर का कॉम्बिनेशन ट्राई कर सकती हैं. फुशिया पिंक कलर के साथ ऑरेंज, लाइट पिंक आदि कलर्स का कॉम्बिनेशन भी अच्छा लगता है.

Bridal Lehenga Trends
10) पीची पिंक ब्राइडल लहंगा
* डिज़ाइनर अर्पिता मेहता का पीची पिंक कलर का लहंगा आज की मॉडर्न दुल्हन के लिए बेस्ट चॉइस है.
* आजकल ब्राइडल वेयर में पेस्टल कलर फैशन में हैं. अनुष्का शर्मा, दीपिका पादुकोण आदि एक्ट्रेस की तरह आजकल दुल्हन पेस्टल कलर का शादी का लहंगा सिलेक्ट कर रही हैं.
* पेस्टल शेड्स फ्रेश और यंग लुक देते हैं, इसलिए पेस्टल कलर का लहंगा पहनकर दुल्हन बहुत ख़ूबसूरत नज़र आती है.
* पेस्टल कलर के लहंगे के लिए आप ब्लॉक प्रिंट या फॉइल प्रिंटवाले शिफॉन या जॉर्जेट फैब्रिक का चुनाव कर सकती हैं.
* पेस्टल लहंगे को हैवी लुक देने के लिए चौड़ा बॉर्डर या लेस लगवाएं.
– कमला बडोनी

Top Bridal Lehenga Trends

 

 

जब हो सात फेरों में हेरा-फेरी (Matrimonial Frauds In Hindu Marriages In India)

सात फेरों का बंधन सबसे पवित्र माना जाता है, लेकिन अगर शादी के बाद आपको पता चले कि इस पवित्र बंधन की नींव ही धोखे पर रखी गई है, तो आपका ही नहीं, बहुतों का इस रिश्ते से विश्‍वास ही उठ सकता है. बदलते समय और स्मार्ट होती टेक्नोलॉजी ने फ्रॉड करने के कई नए तरी़के इजाद कर दिए हैं. सात फेरों से जुड़े ऐसे ही फ्रॉड के बारे में हमने यहां जानने की कोशिश की है.

Hindu Marriages In India

फ्रॉड के बारे में क्या कहता है क़ानून?

शादी से जुड़े फ्रॉड का मतलब है, पति या पत्नी में से किसी एक का अपने बारे में ऐसी ज़रूरी बातों को छिपाना या उनके बारे में ग़लत जानकारी देना, जिनके बारे में अगर शादी से पहले पति या पत्नी को पता होता, तो वो हरगिज़ यह शादी न करती/करता.

हिंदू मैरिज एक्ट और फ्रॉड

हिंदू मैरिज एक्ट में शादी से जुड़े फ्रॉड यानी धोखाधड़ी को शादी अमान्य कराने के क़ानून के तहत रखा गया है यानी ऐसा क़ानून जो धोखाधड़ी होने पर आपकी शादी को निरस्त कर देता है और ऐसा माना जाता है कि आपकी शादी कभी हुई ही नहीं थी. धोखाधड़ी के मामले में धोखे के बारे में पता चलते ही आप एक्शन ले सकते हैं और उसकी वजह यह है कि धोखाधड़ी के ज़्यादातर मामले शादी की पहली रात या फिर कुछ ही दिनों में पर्दाफ़ाश हो जाते हैं, इसलिए क़ानून शादी को रद्द या अमान्य कराने का प्रावधान देता है.

शादी की अमान्यता और तलाक़ में फ़र्क़

–  शादी की अमान्यता यानी शादी को रद्द कराना, जिसके बाद आपका स्टेटस वही होगा, जो शादी के पहले था यानी अगर आप कुंवारी थीं, तो कुंवारी ही मानी जाएंगी, जबकि तलाक़ के बाद आपका स्टेटस तलाक़शुदा का हो जाता है.

–   शादी की अमान्यता के लिए कोई समयावधि नहीं है, आप जितनी जल्दी चाहें, अप्लाई कर सकते हैं, जबकि तलाक़ के लिए आपको पूरे एक साल तक इंतज़ार करना पड़ता है.

–  दोनों के लिए ही अप्लाई करने की विस्तृत वजहें क़ानून में दी गई हैं.

धोखाधड़ी के लिए सज़ा

अगर कोई अपनी पहली शादी के बारे में छिपाकर दूसरी शादी करता है, तो उसे 10 साल की जेल और जुर्माना हो सकता है. इसके लिए आपको दो चीज़ें साबित करनी पड़ेंगी-

  1. ग़लत इरादे से शादी करना और
  2. पहली शादी के बारे में दूसरी पार्टी को जानकारी न होना.
किन मामलों में अमान्य हो सकती है शादी?

–  अगर शादी के समय पति या पत्नी में से कोई पहले से ही शादीशुदा है.

–   पति या पत्नी में से कोई किसी गंभीर मानसिक बीमारी से ग्रस्त है.

–   शादी के समय पति नपुंसक हो.

–   अगर लड़का या लड़की उस रिश्ते में आते हैं, जिनके बीच शादी करना मना है. लड़की अपनी मां के परिवार की तीन पीढ़ी और पिता के परिवार की पांच पीढ़ी के किसी भी सदस्य से शादी नहीं कर सकती. ऐसी शादी अमान्य मानी जाएगी.

–   अगर लड़की 18 साल से छोटी या लड़का 21 साल से कम उम्र का है.

–   शादी को पूरा करने के लिए पति-पत्नी के बीच शारीरिक संबंध बनना बेहद ज़रूरी है. अगर पति या पत्नी में से कोई दूसरे को इस अधिकार से वंचित रखे.

–   अगर शादी के समय लड़की, लड़के के अलावा किसी तीसरे व्यक्ति से गर्भवती है, तो शादी अमान्य की जा सकती है.

–   शादी की सहमति धोखे से ली गई हो.

–   शादी के बाद पता चले कि पति या पत्नी ने अपने बारे में तथ्य छिपाए या फिर ग़लत तथ्य प्रस्तुत किए, जैसे- उम्र के बारे में, अपनी पहली शादी के बारे में, कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड आदि.

यह भी पढ़ें: महिलाएं जानें अपने अधिकार (Every Woman Should Know These Rights)

Matrimonial Frauds

किन-किन तरीक़ों से होते हैं फ्रॉड?
  1. साल 2016 में मीडिया ने तन्मय गोस्वामी के मैट्रीमोनियल फ्रॉड को काफ़ी हाइलाईट किया था, ताकि लोग मैट्रीमोनियल साइट्स के ज़रिए हो रहे धोखे से बच सकें. अलग-अलग मैट्रीमोनियल साइट्स पर फेक प्रोफाइल बनाकर तन्मय गोस्वामी ने क़रीब 30 लड़कियों को शादी के झांसे में फांसकर करोड़ों रुपए लूट लिए थे. इनमें से कई लड़कियों से उसने मंदिरों में शादी भी की थी. तन्मय के ख़िलाफ़ आईटी एक्ट और आईपीसी के तहत धोखाधड़ी के मामले चल रहे हैं. मैट्रीमोनियल साइट्स पर फेक प्रोफाइल बनाकर फ्रॉड करनेवालों के ख़िलाफ़ लड़कियों और उनके परिवारवालों दोनों को सावधान रहना चाहिए.
  2. संगीता और अतुल की शादी के दो सालों बाद भी जब संगीता मां नहीं बन पाई, तब अतुल उसे डॉक्टर के पास ले गया, जहां उसे पता चला कि संगीता का यूटेरस ही नहीं है. इतनी बड़ी बात उससे छिपाई गई, इसलिए उसने कोर्ट में अपनी पत्नी और उसके परिवारवालों के ख़िलाफ़ धोखाधड़ी का केस फाइल किया, साथ ही शादी को अमान्य करने की मांग भी की.
  3. एक लड़का और लड़की मैट्रीमोनियल साइट के ज़रिए मिलते हैं. लड़की के घरवाले लड़के को बताते हैं कि उसका तलाक़ हो चुका है, पर लड़के को कोई ऐतराज़ नहीं होता, क्योंकि वो ख़ुद तलाक़शुदा होता है. शादी के तुरंत बाद लड़की के घरवाले लड़के को बताते हैं कि दरअसल लड़की की शादी दो बार टूट चुकी है. लड़के के लिए चौंकानेवाली बात थी, क्योंकि वो एक ही शादी टूटने की बात को जानता था. उसे लगता है उसके साथ धोखा हुआ है. अपनी पत्नी से वह बात करने की कोशिश करता है, पर वो वहां से चली जाती है. किसी भी तरह से लड़की और उसके घरवालों से संपर्क न हो पाने के कारण लड़का तथ्यों को छिपाने और शारीरिक संबंध न बनने के कारण शादी पूरी न हो पाने के आधार पर शादी को अमान्य कराने में सफल हो जाता है.
  4. कनाडा से एनआरआई इंडिया आता है, शादी करके एक हफ़्ते हनीमून मनाकर वापस अपने देश लौट जाता है और पत्नी उसकी वापसी का इंतज़ार करती रह जाती है. पिछले कुछ सालों में इस तरह के हज़ारों मामले सामने आए, जिनके बाद उनके लिए ‘हनीमून हसबैंड्स’ शब्द का इस्तेमाल होने लगा. हालांकि इस फ्रॉड से मासूम लड़कियों को बचाने के लिए इंडियन पासपोर्ट ऑफिसर्स ने कई कड़े नियम लागू किए हैं, फिर भी इन मामलों पर अभी तक पूरी तरह लगाम नहीं लग पाई है. आज भी विदेशों से एनआरआई लड़के हिंदुस्तानी लड़कियों से शादी करने देश आते हैं और यह बदस्तूर जारी है.
  5. आजकल बहुत-से ऐसे भी धोखाधड़ी के मामले देखने को मिलते हैं, जहां लड़के की नौकरी, बिज़नेस, काम, प्रॉपर्टी, इन्वेस्टमेंट्स, सेविंग्स, डिग्रीज़ आदि को बढ़ा-चढ़ाकर बताया जाता है, पर शादी के बाद सारा झूठ सामने आ जाता है.
  6. राजू ने परिवार की सहमति से अपनी पसंदीदा लड़की पूजा से अरेंज मैरिज की. शादी के बाद पूजा ने कभी किसी मन्नत, तो कभी देवी के व्रत के बहाने राजू से दूरी बनाए रखी. शादी के महीने भर बाद जब उसे उल्टियां होने लगीं और डॉक्टर के पास ले गए, तो पता चला, वो प्रेग्नेंट है. इतनी बड़ी धोखाधड़ी से आहत राजू ने तुरंत एक्शन लिया और शादी को अमान्य कराने के लिए कोर्ट में याचिका दाख़िल की, जहां ़फैसला उसके हक़ में हुआ.
शादी से पहले यूं रहें अलर्ट

–   मैट्रीमोनियल साइट्स पर वर/वधू पसंद आने पर उसके बारे में पूरी तरह छानबीन कर लें. पूरी तरह तसल्ली होने के बाद ही रिश्ते में आगे बढ़ें.

–   धोखाधड़ी से बचने के लिए ज़्यादातर लोग रिश्तेदारों के ज़रिए से वर/वधू की तलाश करते हैं, पर यहां भी धोखे की गुंजाइश रहती है, इसलिए शादी से पहले वर/वधू दोनों का किसी प्रतिष्ठित अस्पताल से कंप्लीट मेडिकल चेकअप करवाएं, ताकि नपुंसकता, मानसिक रोग, प्रेग्नेंसी या यूटेरस का न होना जैसी धोखाधड़ी पकड़ी जा सके.

–   शादी से पहले घरवाले भी एक-दो बार लड़के/लड़की से मिलें. अक्सर जो बातें यंगस्टर पकड़ नहीं पाते, वो अनुभवी आंखें पता कर लेती हैं.

–  शादी से पहले वर/वधू में से कोई एक-दूसरे से पैसे, महंगे गिफ्ट्स, कार आदि की मांग करता हैं, तो सतर्क हो जाएं.

–  बहुत बार फ्रॉड करनेवाले सगाई तक का इंतज़ार करते हैं और उसके बाद कभी नौकरी में प्रॉब्लम, तो कभी कोई घरेलू समस्या सुनाकर पैसे ऐंठने की कोशिश करते हैं. ज़्यादातर मामलों में देखा गया है कि बात मोबाइल रिचार्ज से शुरू होती है, जो धीरे-धीरे बढ़ने लगती है. अगर आपके साथ ऐसा कुछ हो रहा हो, तो सतर्क हो जाएं.

–  क़ानून भी आपकी मदद तभी कर सकता है, जब आप अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होंगे और बदमानी के डर को भूलकर धोखेबाज़ के ख़िलाफ़ तुरंत एक्शन लेंगे.

– अनीता सिंह  

यह भी पढ़ें: हर वर्किंग वुमन को पता होना चाहिए ये क़ानूनी अधिकार (Every Working Woman Must Know These Right)

यह भी पढ़ें: संपत्ति में हक़ मांगनेवाली लड़कियों को नहीं मिलता आज भी सम्मान… (Property For Her… Give Her Property Not Dowry)  

दुल्हन के लिए कंप्लीट शॉपिंग गाइड (Wedding Shopping Guide For Indian Brides)

दुल्हन (Bride) की शॉपिंग (Shopping) जितनी दिलचस्प होती है, उतनी ही बड़ी होती है दुल्हन की शॉपिंग लिस्ट. अपने ब्राइडल ट्रूज़ो में दुल्हन अपनी ज़रूरत का हर वो सामान साथ ले जाती है, जिसकी ज़रूरत उसे अपने ससुराल में होती है. इस वेडिंग सीज़न में यदि आप भी दुल्हन बनने जा रही हैं, तो आपकी शॉपिंग को आसान बनाने के लिए हमने तैयार की है कंप्लीट ट्रूज़ो चेकलिस्ट, ताकि आप कोई ज़रूरी चीज़ ख़रीदना भूल न जाएं. दुल्हन के लिए कंप्लीट शॉपिंग गाइड में हमने हर वो चीज़ शामिल की है, जिसकी आपको अपने ससुराल में ज़रूरत होगी. तो बस, दुल्हन के लिए शॉपिंग करते समय आप ये लिस्ट फॉलो कीजिए और अपनी शॉपिंग को आसान बनाइए.

Shopping Guide For Indian Brides

 

 

1) जब ख़रीदें शादी का लहंगा
दुल्हन की शॉपिंग में सबसे ज़रूरी होता है उसकी शादी का जोड़ा. आजकल लड़कियां अपना शादी में लहंगा-चोली पहनना पसंद करती हैं. आप भी यदि शादी के लहंगा ख़रीदने जा रही हैं, तो ट्रेंड फॉलो करने या दूसरों की देखादेखी करने के बजाय ये देखें कि आप पर कैसा लहंगा सूट करता है. अपनी हाइट, कॉम्प्लैक्शन और मौसम के अनुसार शादी का लहंगा सिलेक्ट करें. हो सके तो शादी का लहंगा ऐसा चुनें, जो सालों बाद भी आउटडेटेड न हो. शादी का लहंगा थोड़ा पहले बनवा लें, ताकि लास्ट मिनट के ऑल्टरेशन के स्ट्रेस से बच सकें.

Shopping Guide For Indian Brides

 

2) दुल्हन शादी के किस फंक्शन में क्या पहने?
शादी में हर फंक्शन ख़ास होता है इसलिए हर फंक्शन में दुल्हन का लुक भी ख़ास होना चाहिए. दुल्हन अपनी शादी में हर फंक्शन में ख़ूबसूरत और स्पेशल नज़र आए इसलिए हर फंक्शन में दुल्हन का लुक अलग होना चाहिए. शादी के हर फंक्शन के लिए अलग आउटफिट पहनें.
* मेहंदी फंक्शन के लिए आप अनारकली विद लहंगा ख़रीद सकती हैं.
* संगीत फंक्शन के लिए फ्लोर लेंथ अनारकली ड्रेस ट्राई कर सकती हैं.
* शादी की रस्म के लिए लहंगा-चोली बेस्ट ऑप्शन है.
* रिसेप्शन के लिए गाउन या कॉन्सेप्ट साड़ी ख़रीद सकती हैं.
* शादी के फंक्शन के लिए कपड़े ख़रीदते समय रेड, ग्रीन, ब्लू, पिंक, ऑरेंज जैसे ब्राइट कलर्स को प्राथमिकता दें.

यह भी पढ़ें: 10 बॉलीवुड एक्ट्रेस ने पहना सबसे महंगा शादी का जोड़ा (10 Most Expensive Wedding Dress Of Bollywood Actresses)

Shopping Guide For Indian Brides

3) जब ख़रीदें शादी के गहने
दुल्हन की शॉपिंग में सबसे महंगा सामान होता है दुल्हन की शादी के गहने, इसलिए शादी के गहने ख़रीदने में जल्दबाज़ी बिल्कुल न करें. शादी के लिए ऐसी टाइमलेस ज्वेलरी ख़रीदें, जो आपके चेहरे पर सूट करती हो और हमेशा रिच और क्लासी नज़र आए.

Shopping Guide For Indian Brides

4) मेकअप-हेयर स्टाइल का ट्रायल पहले ले लें
शादी के दिन हर लड़की सबसे ख़ूबसूरत नज़र आना चाहती है और इसके लिए दुल्हन का मेकअप और हेयर स्टाइल अच्छा होना बहुत ज़रूरी है. दुल्हन के लिए मेकअप और हेयर आर्टिस्ट बुक करते समय पहले मेकअप और हेयर स्टाइल का ट्रायल ले लें, ताकि शादी के दिन मेकअप या हेयर स्टाइल में कोई गड़बड़ न हो.

Shopping Guide For Indian Brides

5) मेहंदी आर्टिस्ट सिलेक्ट करें
दुल्हन की मेहंदी पर सबकी नज़र होती है इसलिए मेहंदी की डिज़ाइन सोच-समझकर चुनें और अच्छे मेहंदी आर्टिस्ट से अपनी शादी की महंदी लगवाएं.

6) क्लासी फुटवेयर ख़रीदें
शादी के लिए गोल्डन, सिल्वर या अपने आउटफिट से कैच करता क्लासी फुटवेयर फुटवेयर ख़रीदें. यदि आप हील्स पहनना चाहती हैं तो हील्स ख़रीदें, नहीं तो एथनिक फ्लैट्स भी पहन सकती हैं.

यह भी पढ़ें: क़ीमती गहनों की देखभाल के 10 आसान तरीक़े (10 Easy Ways To Take Care Of Your Expensive Jewellery)

 

 

7) ब्राइडल ट्रूज़ो के लिए ऐसे ट्रेडिशनल आउटफिट खरीदें
* ब्राइडल ट्रूज़ो में कुछ टाइमलेस ट्रेडिशनल साड़ियां ज़रूर रखें. साड़ियों के साथ कुछ डिज़ाइनर ब्लाउज़, कॉर्सेट और अच्छी फिटिंग वाले पेटिकोट रखना न भूलें. इन्हें आप करीबी दोस्तों या रिश्तेदारों के घर उनसे मिलने जाते समय या फैमिली फंक्शन में पहन सकती हैं.
* कुछ मॉडर्न कॉन्सेप्ट साड़ियां भी ख़रीदें, जैसे लहंगा साड़ी, साड़ी गाउन आदि. स्टाइलिश लुक के लिए आप इन्हें पहन सकती हैं.
* कुछ कंफर्टेबल हैवी सलवार-कमीज़, अनारकली ड्रेस भी अपनी शॉपिंग लिस्ट में ज़रूर शामिल करें. इन्हें आप फैमिली फंक्शन, पूजा आदि के दौरान पहन सकती हैं.
* शॉर्ट व लॉन्ग कुर्ती, ट्यूनिक, कफ्तान, पलाज़ो, लैगिंग, पटियाला सलवार आदि को भी अपनी शॉपिंग लिस्ट में ज़रूर शामिल करें, क्योंकि इंडियन वेयर्स में इन्हें काफ़ी पसंद किया जाता है.
* कुछ स्टाइलिश स्टोल, दुपट्टा, स्कार्फ आदि भी ख़रीद लें, ताकि आप इन्हें मिक्स एंड मैच करके पहन सकें.

Shopping Guide For Indian Brides

 

 

8) ब्राइडल ट्रूज़ो के लिए ऐसे वेस्टर्न आउटफिट ख़रीदें:
* कॉकटेल पार्टी, गेट-टुगेदर जैसे फंक्शन के लिए गाउन, शॉर्ट ड्रेस, लॉन्ग ड्रेस, मैक्सी ड्रेस आदि ख़रीदें.
* अच्छी फिटिंग वाली कुछ जीन्स, हॉट पैंट, ट्रैक पैंट ज़रूर ख़रीदें. इन्हें आप हनीमून के दौरान पहन सकती हैं.
* वेस्टर्न वेयर में टी-शर्ट, टॉप, शर्ट, ट्यूनिक आदि ख़रीदें. ये आपको स्मार्ट लुक देंगे.

 

9) स्विम वेयर
अपने ब्राइडल ट्रूज़ो में स्विम वेयर भी ज़रूर रखें. हनीमून के समय यदि आप पूल या बीच पर जाएं तो आपके पास स्टाइलिश स्विम वेयर होना चाहिए.

10) नाइट वेयर
दुल्हन का हर आउटफिट ख़ास होता है इसलिए नाइट वेयर भी ख़ास होना चाहिए. अपनी शादी की शॉपिंग में नाइट वेयर को नज़रअंदाज़ न करें. अपनी पसंद के क्लासी और सेक्सी नाइट वेयर ज़रूर ख़रीदें.

यह भी पढ़ें: 10 टाइप की ब्रा हर महिला के वॉर्डरोब में होनी चाहिए (10 Types Of Bra Every Woman Must Own)

 

11) इनर वेयर
इनर वेयर की शॉपिंग भी ख़ास होनी चाहिए इसलिए ब्राइडल ट्रूज़ो में सेक्सी डिज़ाइनर इनर वेयर ज़रूर शामिल करें.

12) एक्सेसरीज़
स्मार्ट एक्सेसरीज़ हर आउटफिट की ख़ूबसूरती बढ़ा देते हैं इसलिए ब्राइडल ट्रूज़ो में इन्हें ख़ास जगह दें. अपने एक्सेसरीज़ कलेक्शन में चूड़ियां, कफ, कड़ा, बेल्ट, कुछ ट्रेडिशनल और वेस्टर्न ज्वेलरी, बिंदी, सिंदूर, साड़ी पिन, सेफ्टी पिन, हेयर पिन, हेयर बैंड्स, हेयर एक्सेसरीज़ आदि रखना न भूलें.

Shopping Guide For Brides

 

13) फुटवेयर्स
शादी के फंक्शन के लिए तो आपने फुटवेयर ख़रीद लिए, लेकिन डे टु डे पहनने के लिए आप अपने फुटवेयर कलेक्शन में हाई हील्स, ट्रेंडी फ्लैट्स, वेजेस, स्लिपऑन आदि ज़रूर रखें.

14) पर्स/बैग
घर से कहीं भी बाहर जाते समय बैग की ज़रूरत पड़ती ही है इसलिए ओकेज़न के हिसाब से आपके पास पर्स होना चाहिए. इसके लिए आप हैंड बैग, क्लासी क्लच, हनीमून बैग आदि ख़रीद लें.

 

 

15) मेकअप किट
मेकअप से आप मिनटों में अपनी ख़ूबसूरती बढ़ा सकती हैं इसलिए अपने मेकअप किट में बेसिक शेड वाली कुछ लिपस्टिक, काजल, आई लाइनर, मस्कारा, आई शैडो, लिप ग्लॉस, फाउंडेशन, कंसीलर, ब्लश आदि जो भी आप अप्लाई करना पसंद करती हैं, उन्हें ख़रीदकर रख लें.

यह भी पढ़ें: Exclusive: 5 स्टाइलिश अंदाज़ में पहनें साड़ी (Exclusive: 5 Different Ways Of Wearing Saree)

Photo Courtesy: Nargis 

ट्रेडिशनल फैशन से जुड़े 10 सवाल-जवाब (How To Wear Traditional Dresses To Look Beautiful)

घर में शादी (Wedding) या पूजा है तो ऐसे ख़ास फंक्शन में महिलाएं ट्रेडिशनल ड्रेस (Traditional Dress) पहनना पसंद करती हैं. ट्रेडिशनल ड्रेस ख़रीदने के लिए महिलाएं काफ़ी पैसे भी ख़र्च करती हैं, लेकिन कई बार शॉपिंग में उनसे ऐसी ग़लती हो जाती है कि महंगा आउटफिट भी उन पर सूट नहीं करता. आपसे ऐसी ग़लती न हो इसलिए हम ख़ास आपके लिए लेकर आए हैं, ट्रेडिशनलफैशन से जुड़े कुछ ऐसे सवाल, जो अक्सर आप पूछना चाहती हैं. फैशन से जुड़े इन सवालों के जबाव दे रही हैं फैशन एक्सपर्ट श्रुति संचेति.

Traditional Dresses

1) मैं एक ख़ास फंक्शन में अनारकली ड्रेस पहनना चाहती हूं, लेकिन कुछ अलग स्टाइल का. आप मुझे क्या सजेस्ट करेंगी?
– रजनी वर्मा, भोपाल
अगर आप वाक़ई में डिफरेंट स्टाइल की अनारकली ड्रेस पहनना चाहती हैं तो अनारकली गाउन के साथ लॉन्ग जैकेट पहनें. आजकल ऑलिव, पीच, क्रीम जैसे पेस्टल कलर्स फैशन में हैं. ये आउटफिट पहनकर आप फंक्शन में सबसे अलग और स्पेशल नज़र आएंगी.

2) मेरी फ्रेंड की शादी शिमला में होने वाली है. मैं उसकी शादी में साड़ी पहनना चाहती हूं, लेकिन ठंड से बचने के लिए मैं शॉल कैरी करना नहीं चाहती? कोई दूसरा ऑप्शन बताइए.
– पल्लवी जाधव, मुंबई
अच्छा ही होगा कि आप साड़ी के साथ शॉल कैरी न करें, ये स्टाइल काफ़ी पुराना हो चुका है. हां, शिमला की ठंड से बचने के लिए और शादी में सबसे हॉटेस्ट नज़र आने के लिए आप साड़ी के ऊपर एम्ब्रॉयडर्ड बोलेरो जैकेट या फिर चुगा जैकेट पहन सकती हैं. इससे आप ठंड से भी बच जाएंगी और स्टाइलिश भी नज़र आएंगी.

3) मैं अपनी बहन की शादी में गोल्डन कलर का लहंगा पहनना चाहती हूं, जो अट्रैक्टिव हो, लेकिन बहुत हैवी न लगे. आप मुझे क्या सजेस्ट करेंगी?
– सोनम सिंह, नई दिल्ली
जैसाकि आपने बताया आप हैवी लुक नहीं चाहतीं, इसलिए मैं आपको म्यूटेड या मैट गोल्डन शेड के लहंगे के साथ रेड या सैफ्रॉन शेड की चोली पहनने की सलाह दूंगी. इससे आपको बैलेंस्ड लुक मिलेगा. सिंपल लुक के लिए आप चाहें तो दुपट्टे को घाघरे से घुमाकर साड़ीनुमा भी पहन सकती हैं. ये आपको डिफरेंट लुक देगा.

यह भी पढ़ें: अनारकली ड्रेस ख़रीद रही हैं तो एक्सपर्ट्स के 10 फैशन टिप्स करेंगे आपकी मदद (10 Expert Anarkali Dress Shopping Tips For Every Woman)

Traditional Dresses Tips

4) मेरी हाइट अच्छी है, लेकिन मेरा रंग सांवला है. मुझे एक ख़ास शादी अटेंड करनी हैं, जिसके सारे फंक्शन दिन के समय होने वाले हैं. मैं इस शादी में लहंगा पहनना चाहती हूं. प्लीज़, मुझे बताइए कि मैं कैसा लहंगा सलेक्ट करूं?
– अश्‍विनी खरे, नागपुर
चूंकि शादी दिन में है, इसलिए मैं आपको लहंगे के लिए पेस्टल शेड का चुनाव करने की सलाह दूंगी. आप लहंगे के लिए ब्लॉक प्रिंट या फॉइल प्रिंट वाले शिफॉन या जॉर्जेट फैब्रिक का चुनाव कर सकती हैं. हैवी लुक के लिए चौड़े बॉर्डर वाला या लेस लगा दुपट्टा पहनें.

5) एक ख़ास फैमिली फंक्शन के लिए मेरे भाई-भाभी यूएसए से भारत आ रहे हैं. इस ख़ास मौ़के पर मैं अपनी भाभी को ऐसी ड्रेस गिफ्ट करना चाहती हूं, जो ट्रेडिशनल और वेस्टर्न, दोनों का बेस्ट कॉम्बिनेशन हो. आप मुझे क्या सलाह देंगी?
– राजश्री कदम, मुंबई
आप अपनी भाभी को ब्लॉक या वायब्रेंट प्रिंटेड कलमकरी ड्रेस (कई लेयर्स वाली) या फिर मैक्सी अनारकली ड्रेस गिफ्ट कर सकती हैं. ये ट्रेडिशनल और वेस्टर्न का अच्छा कॉम्बिनेशन है. इस ड्रेस के साथ कुंदन ईयरिंग और बटुआ ज़रूर गिफ्ट करें ताकि आपकी भाभी जब भी आपकी दी हुई ड्रेस पहनें, उन्हें कंप्लीट लुक मिले.

6) अगले महीने हमारे ऑफिस में पूजा है. इस मौ़के पर मैं ऐसी ट्रेडिशनल ड्रेस पहनना चाहती हूं, जो मुझे इंडियन लुक दे और फॉर्मल भी लगे. आप मुझे क्या सजेस्ट करेंगी?
– संध्या रमाकांत, सूरत
मैं आपको मैक्सी अनारकली ड्रेस पहनने की सलाह दूंगी. इसकी स्लीव फुल रखें. इसके नीचे टाइट चूड़ीदार पहनें. फॉर्मल लुक के लिए आप ऊपर से जैकेट पहन सकती हैं. चाहें तो हैवी दुप्पटा भी ले सकती हैं. इस ड्रेस के लिए कॉटन, लेनिन, जॉर्जेट या शिफॉन फैब्रिक चुनें. फ्रेश लुक के लिए ब्लू, यलो, मिंट ग्रीन शेड्स का चयन करें.

यह भी पढ़ें: किस आउटफिट के साथ कैसा नेकलेस पहनें (How To Choose Perfect Necklace For Different Outfits)

Traditional Dresses Ideas

7) व्हाइट मेरा फेवरेट कलर है. प्लीज़, मुझे व्हाइट कलर में इंडियन वेयर सजेस्ट कीजिए, जो मुझे क्लासी लुक दे.
– कविता पाण्डेय, मुंबई
मैं आपको व्हाइट फ्लेयर्ड ड्रेस पहनने की सलाह दूंगी. इसके नीचे टाइट चूड़ीदार पहनें. क्लासी लुक के लिए इस पर डार्क रेड या ब्राउन कलर के धागे से कढ़ाई करवाएं. यकीन मानिए, इस आउटफिट में आप बेहद ख़ूबसूरत नज़र आएंगी.

8) मेरी होनेवाली सास ने हाल ही में मुझे सिल्क की एक ट्रेडिशनल साड़ी गिफ्ट की है. ग्लैमरस लुक के लिए मैं इस साड़ी के साथ कौन-से एक्सपेरिमेंट कर सकती हूं?
– राधिका मिश्रा, नई दिल्ली
ग्लैमरस लुक के लिए आप इस साड़ी के साथ बुलेरो या लॉन्ग जैकेट पहन सकती हैं. आप ब्लाउज़ के साथ भी एक्सपेरिमेंट कर सकती हैं, जैसे- हॉल्टर ब्लाउज़, क्रॉप टॉप, पोलो शर्ट ब्लाउज़ आदि. ये एक्सपेरिमेंट न स़िर्फ आपको यंग लुक देगें, बल्कि इन्हें ट्राई करके आप ग्लैमरस भी नज़र आएंगी.

Traditional Dresses Ideas

9) मेरी हाइट बहुत ज़्यादा है. अगले महीने हमारे घर में पूजा है. मैं इस फंक्शन में ऐसी इंडियन ड्रेस पहनना चाहती हूं, जो मुझे ग्लैमरस लुक दे. आप क्या सजेस्ट करेंगी?
– रंभा शर्मा, मुंबई
ग्लैमरस लुक के लिए मैं आपको फ्लोर लेंथ वाली फ्लेयर्ड ड्रेस पहनने की सलाह दूंगी. आप पर पीच, ऑलिव, लैवेंडर जैसे पेस्टल शेड की ड्रेस बहुत अच्छी लगेगी. आपकी हाइट अच्छी है इसलिए आप पर ऐसी ड्रेस बहुत अच्छी लगेगी. हां, इस ड्रेस के साथ हैवी ज्वेलरी न पहनें.

10) मैं गाउन पहनने की बेहद शौक़ीन हूं. मेरे पास लॉन्ग गाउन का अच्छा-ख़ासा कलेक्शन है. अगले महीने मुझे एक कॉकटेल पार्टी में जाना है. इस पार्टी में मुझे कौन-सी स्टाइल का गाउन पहनना चाहिए?
-संगीता मित्रा, मुंबई
लॉन्ग गाउन फॉर्मल इवेंट्स अटैंड करने के लिए परफेक्ट है, लेकिन बात कॉकटेल पार्टी की हो, तो शॉर्ट गाउन आपको हॉट एंड स्टाइलिश लुक दे सकता है. मैं आपको शॉर्ट गाउन पहनने की सलाह दूंगी. इसके लिए सैटिन या लाइक्रा फैब्रिक चुनें. डार्क शेड के लिए रेड, बर्गंडी, नेवी ब्लू, ग्रीन और लाइट शेड के लिए पिंक, पीच कलर चूज़ करें. कंप्लीट लुक के लिए लॉन्ग हैंगिंग इयररिंग, पेंसिंल हील सैंडल पहनें और हां, क्लच कैरी करना न भूलें.

5 स्टाइलिश अंदाज़ में पहनें साड़ी, देखें वीडियो:

लेट मैरेज को स्वीकारने लगा है समाज (Late Married Are Being Accepted By Society)

आज समाज में बड़ी उम‘ की कुंवारी लड़कियां जब मज़े से अपनी ज़िंदगी जीती नज़र आती हैं, तो बड़े-बुज़ुर्गों के चेहरे पर आश्‍चर्य की लकीरें खिंच आती हैं. भले ही वे मुंह से कुछ न कहें. वाकई यह एक बड़ा बदलाव है. समाज में आज 25-30 वर्ष की बिन ब्याही लड़कियां आत्मसम्मान के साथ जी रही हैं. अब न उनकी शादी चिंता का विषय बनती है, न ही उनकी मौज-मस्ती पर प्रश्‍न उठते हैं.

Married

हाल ही में हुए एक सर्वे के अनुसार, ज़्यादातर शहरी लड़कियों को अब शादी की जल्दी नहीं है. उन्हें करियर बनाना है. पैरेंट्स भले ही उनकी शादी की चिंता करें, लेकिन लड़कियां न तो इस बात से चिंतित हैं, न ही किसी प्रकार का अपराधबोध महसूस करती हैं, बल्कि अपने कुंवारेपन को ख़ूब एंजॉय करती हैं और शादी के मंडप में क़दम रखने से पहले विवाहित जीवन के हर पहलू पर भलीभांति विचार करना चाहती हैं. उनके लिए नारी जीवन का एकमात्र लक्ष्य शादी नहीं है. संभवतः पढ़ी-लिखी बेटियों की इस सोच से जाने-अनजाने पैरेंट्स भी सहमत होने लगे हैं और धीरे-धीरे समाज भी इसे स्वीकारने लगा है.

बदलाव कब और कैसे आया?

समाजशास्त्रियों के अनुसार, यदि लड़कियों के दृष्टिकोण पर ध्यान दिया जाए तो उनमें विवाह की जल्दी न होने के कई ठोस कारण हैं, जैसे- शिक्षा सबसे प्रमुख कारण है लड़कियों का शिक्षित होना. शिक्षा ने न स़िर्फ लड़कियों को, बल्कि समाज की सोच को भी परिवर्तनशील व व्यापक नज़रिया प्रदान किया है.

आत्मनिर्भरता

शिक्षा के कारण लड़कियों की विचारशक्ति व सोच में बदलाव आया है, उनमें आत्मविश्‍वास बढ़ा है. आत्मनिर्भर होने की आकांक्षा जागृत हुई है.

आर्थिक स्वतंत्रता

इसने लड़कियों को आर्थिक रूप से भी आत्मनिर्भर बना दिया है. उन्हें शादी से ़ज़्यादा अपने करियर पर फोकस करना महत्वपूर्ण लगता है. कई लड़कियां तो परिवार को आर्थिक सहयोग दे रही हैं. ऐसे में शादी का ख़्याल ही नहीं आता है.

बेमेल विवाह

समाज या परिवार में हुए बेमेल विवाहों ने भी लड़कियों की सोच बदली है. शादी भले ही देर से हो, लेकिन साथी ऐसा हो जिसके साथ ज़िंदगी की सार्थकता बनी रहे, सामंजस्य बना रहे, उचित तालमेल के साथ भावी जीवन ख़ुशहाल रहे.

यह भी पढ़ें: वैवाहिक दोष और उन्हें दूर करने के उपाय (Marriage Problems And Their Astrological Solutions)

Married Goals
टूटते रिश्ते

‘चट मंगनी पट ब्याह’ की सोच में आज की पीढ़ी विश्‍वास नहीं रखती है. आए दिन होनेवाले तलाक़ की ख़बरों ने भी शादी के प्रति उनकी भावनाओं को बदल दिया है.

एकल परिवार

छोटे-छोटे परिवारों में (जहां स़िर्फ एक बेटी है) बेटियां पैरेंट्स की देखभाल की ज़िम्मेदारी को समझते हुए शादी का ़फैसलाजल्दी नहीं लेना चाहती हैं,  बल्कि उन्हें ऐसे साथी की तलाश होती है, जो पैरेंंट्स की ज़िम्मेदारी के प्रति उनकी भावनाओं को समझे.

कमिटमेंट का डर

यंग जनरेशन आज कमिटमेंट से डरती है, किसी भी बंधन से कतराती है. उनकी अपनी वैल्यूज़ हैं, अपनी पसंद है. इसलिए इस मामले में वे ज़रा भी जल्दबाज़ी नहीं करना चाहते.

बड़ी उम में भी नॉर्मल चाइल्ड बर्थ

पहले कहा जाता था कि 25-30 तक की उम‘ में गर्भधारण कर लिया जाए तो हेल्दी बच्चा पैदा होता है और बड़ी उम‘ में गर्भधारण करने से होनेवाले शिशु के असामान्य होने की संभावना बढ़ जाती है. इस कारण समय से शादी करना ज़रूरी माना जाता था, लेकिन मेडिकल साइंस की नई टेक्नोलॉजी के चलते अब यह कोई बड़ी समस्या नहीं रह गई है.

पाश्‍चात्य प्रभाव

टीवी और इंटरनेट की दुनिया ने पूरे विश्‍व की संस्कृति को एक कर दिया है. आज हम संस्कृति भी एक्सचेंज कर रहे हैं. शादी को अब उम‘ से नहीं जोड़ा जाता है. 35-40 की उम‘ में भी आज शादियां होती हैं.

लड़के-लड़कियों की दोस्ती

आज यंग एज से ही इमोशनल सपोर्ट मिलने लगता है. पहले जिन भावनाओं का पूरक जीवनसाथी हुआ करता था, उसके लिए आज गर्लफ‘ेंड व बॉयफ‘ेंड हैं.

आदर्श साथी की तलाश

लड़कियों में मैच्योरिटी बढ़ गई है, लेकिन सहनशक्ति, त्याग व बलिदान जैसी भावनाएं कम हो रही हैं. वो ऐसा साथी चाहती हैं, जो उन्हें समझे. पैसा, स्टेटस जैसी चीज़ों के बावजूद वे साथी से इमोशनल सपोर्ट चाहती हैं.

इन कारणों के अतिरिक्त कुछ व्यक्तिगत कारण भी हो सकते हैं, जिनकी वजह से शादियां देर से होने लगी हैं. दूसरी ओर पैरेंट्स की सोच में भी बदलाव आया है, जैसे- कोई मां यदि अपने जीवन में मनचाहा नहीं कर पाई है तो उसकी पूरी कोशिश होती है कि उसकी बेटी उसकी महत्वाकांक्षाओं को पूरा कर सके. इसके लिए वह उसे हर प्रकार से सहयोग देती है.

– आज पैरेंट्स को अपने बच्चों पर भरोसा है. उनकी तरफ़ से भी बच्चों पर कोई प्रेशर नहीं होता है. पैरेंट्स बच्चों को पढ़ाई व करियर के प्रति प्रेरित करते हैं. जब तक लड़के-लड़कियां अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर लेते, शादी की चर्चा नहीं की जाती.

– पारिवारिक समारोह के दौरान अब ऐसा नहीं पूछा जाता कि ‘शादी कब हो रही है’, बल्कि हर कोई जानना चाहता है कि ‘बेटी क्या कर रही है’. बेटी की एजुकेशन या सफलता का ज़िक‘ करते समय पैरेंट्स गर्व महसूस करते हैं तो बच्चों का हौसला भी बढ़ता है, उनका दृष्टिकोण बदलता है.

– आज के पैरेंट्स अपनी बेटी की ख़ुशी के लिए परिवार-समाज के सामने झुकना ठीक नहीं समझते. उनके लिए उनकी बेटी की ख़ुुशियां सर्वोपरि होती हैं. हां, उन्हें चिंता ज़रूर होती है और वे चाहते भी हैं कि उनके जीते जी ही बेटी को सही साथी मिल जाए, क्योंकि उनके बाद बेटी को कौन सपोर्ट करेगा? बुढ़ापे में अकेली कैसे रहेगी? लेकिन बच्चों की ख़ुशी के आगे ये चिंताएं धरी की धरी रह जाती हैं और आख़िरी निर्णय वे अपने बच्चों पर ही छोड़ देते हैं.

– प्रसून भार्गव

यह भी पढ़ें: शादी से पहले ज़रूरी है इन 17 बातों पर सहमति (17 Things Every Couple Must Talk About Before Getting Marriage)

जानें हिंदू मैरिज एक्ट… समय के साथ क्या-क्या बदला? (Hindu Marriage Act: Recent Changes You Must Know)

Hindu Marriage Act Changes

साल 1955 में हमारे देश के जो हालात थे, आज स्थिति उससे बिल्कुल अलग है. आज लड़कियां भी उच्च शिक्षा प्राप्त करके सफलता के नित नए आयाम छू रही हैं, ऐसे में हमारा क़ानून भला बदलाव से अछूता कैसे रह सकता है. जब-जब महिलाओं ने अपने हक़ के लिए आवाज़ उठाई, तब-तब क़ानून में महत्वपूर्ण बदलाव हुए. पिछले 63 सालों में कितना बदला हमारा हिंदू विवाह क़ानून? आइए जानते हैं.

Hindu Marriage Act Changes

कितना जानते हैं आप हिंदू मैरिज एक्ट के बारे में?

हिंदू मैरिज एक्ट, 1955 में बनाया गया था. इस क़ानून के तहत सभी हिंदुओं, सिख, जैन और बौद्धों के शादी, तलाक़ और मेंटेनेंस के मामले सुलझाए जाते हैं.

–     सबसे पहले तो शादी के समय लड़की की उम्र 18 और लड़के की 21 साल होनी चाहिए. कुछ समय पहले जनहित याचिका के तहत एक वकील ने लड़के की उम्र भी 18 साल करने की मांग की थी, जिसे कोर्ट ने सिरे से ख़ारिज कर दिया.

–     हिंदू मैरिज एक्ट के तहत कोई शादीशुदा व्यक्ति पहली पत्नी के जीवित रहते, उससे तलाक़ लिए बिना दूसरी शादी नहीं कर सकता. अगर ऐसा होता है, तो उसे सात साल की जेल और जुर्माना दोनों हो सकता है. कुछ लोगों ने इसका तोड़ निकालने के लिए धर्म बदलकर शादी करनी शुरू की, जिसके ख़िलाफ़ 1995 में सुप्रीम कोर्ट ने ़फैसला सुनाया कि यह क़ानूनन जुर्म है, जिसके लिए उस व्यक्ति को सज़ा हो सकती है.

–     गोवा के फैमिली लॉ के कोड ऑफ यूसेजेस एंड कस्टम्स में गैर-ईसाई हिंदू व्यक्ति को एक से ज़्यादा शादियां करने की छूट है, बशर्ते 25 साल की उम्र तक उसकी पत्नी मां न बनी हो और 30 साल की उम्र तक उन्हें कोई बेटा न हो.

–     इसके तहत शादी के लिए किसी ख़ास रस्म का ज़िक्र नहीं किया गया है. लड़के या लड़की किसी के भी रीति-रिवाज़ों के आधार पर शादी की जा सकती है.

–     शादी के बाद पति-पत्नी दोनों को ही वैवाहिक अधिकार (सेक्सुअल रिलेशन के अधिकार) मिलते हैं. क़ानूनन शादी तभी संपन्न मानी जाती है, जब उनके बीच शारीरिक संबंध बनते हैं. अगर कोई पार्टनर दूसरे को इस अधिकार से महरूम रखता है, तो दूसरा पार्टनर कोर्ट का दरवाज़ा खटखटा सकता है. कोर्ट ऐसी शादी को अमान्य या निरस्त कर सकता है.

–     इसके तहत शादी का रजिस्ट्रेशन ज़रूरी है, ताकि शादी के बाद होनेवाली लीगल डॉक्यूमेंटेशन में कोई अड़चन न आए, लेकिन आज भी बहुत से लोग मैरिज सर्टिफिकेट नहीं बनवाते, जिसके कारण कुछ लोग उसका ग़लत फ़ायदा भी उठाते हैं.

–     हिंदू मैरिज एक्ट में शादी को पवित्र बंधन माना गया है, लेकिन अगर दोनों की शादी में समस्या आ रही है, तो वो तलाक़ ले सकते हैं. तलाक़ के आधार- व्यभिचार, धर्मांतरण, मानसिक विकार, कुष्ठ रोग, नपुंसकता, सांसारिक कर्त्तव्यों को त्याग देना, सात सालों से लापता, जुडीशियल सेपरेशन (कोर्ट द्वारा अलग रहने की इजाज़त), किसी भी तरह के शारीरिक संबंध नहीं बनाना और निष्ठुरता या क्रूरता हैं. पिछले कुछ सालों में मानसिक क्रूरता (मेंटल क्रुएल्टी) के आधार पर तलाक़ के मामलों में बढ़ोतरी हुई है.

–   क़ानून ने महिलाओं को परमानेंट एलीमनी और मेंटेनेंस का अधिकार दिया है, लेकिन वो ऐसी महिलाएं हैं, जो ख़ुद अपना भरण-पोषण नहीं कर सकतीं. कामकाजी महिलाओं को मेंटेनेंस का अधिकार नहीं था, लेकिन 2011 में दिल्ली हाईकोर्ट ने अहम् ़फैसला दिया कि पति से अलग रहनेवाली कामकाजी महिलाएं भी मेंटेनेंस की हक़दार होंगी.

–     बच्चों की कस्टडी को लेकर भी नियम बनाए गए हैं. तलाक़ के बाद अगर बच्चा छोटा है, तो मां को ही उसकी कस्टडी मिलती है. बड़े बच्चों के लिए कोर्ट मामले को दोनों की आर्थिक स्थिति व परिस्थितियों को ध्यान में रखकर ़फैसला करता है.

किन स्थितियों में शादी हो सकती है अमान्य?

हिंदू मैरिज एक्ट में ऐसा भी प्रावधान है कि कुछ स्थितियों में आप अपनी शादी को कोर्ट से अमान्य घोषित करा सकते हैं. ऐसे में आप तलाक़शुदा नहीं कहे जाएंगे, बल्कि ऐसा माना जाएगा कि आपकी शादी हुई ही नहीं थी.

–   अगर शादी के व़क्त लड़की किसी और पुरुष से प्रेग्नेंट हो, तो ऐसी सूरत में शादी अमान्य हो सकती है. कुछ साल पहले ऐसा एक मामला सुर्ख़ियों में आया था. उस केस में लड़की शादी के व़क्त प्रेग्नेंट थी. शादी के बाद जब उसके पति को इसका शक हुआ, तो उन्होंने सोनोग्राफी करवाई, तो पता चला कि लड़की प्रेग्नेंट है. उसके पति ने तुरंत फैमिली कोर्ट में शादी को अमान्य करने की याचिका दाख़िल की. इस मामले में आपको यह ध्यान रखना होगा कि शादी के एक साल के भीतर मामला दाख़िल करना होगा.

–     अगर नपुंसकता के कारण पति-पत्नी का रिश्ता नहीं बन पाया, तो शादी क़ानूनन पूरी नहीं मानी जाएगी और ऐसे में व्यक्ति को हक़ है कि वो शादी को अमान्य करा सके. ऐसे में आपको तलाक़ लेने की ज़रूरत नहीं, बल्कि शादी को अमान्य करा सकते हैं.

–    अगर शादी के बाद आपको पता चले कि शादी के व़क्त ही आपके पार्टनर की मानसिक स्थिति सही नहीं थी और यह बात आपसे छुपाई गई, तो आप ऐसी स्थिति में अपनी शादी को अमान्य करा सकते हैं.

यह भी पढ़ें: 10 क़ानूनी मिथ्याएं और उनकी हक़ीक़त (10 Common Myths About Indian Laws Busted!)

Hindu Marriage Act Changes
विवाह विधेयक क़ानून, 2010

हिंदू मैरिज एक्ट और स्पेशल मैरिज एक्ट में कुछ बदलाव करने के उद्देश्य से साल 2010 में यह विधेयक लाया गया था. इस विधेयक में महिलाओं के ह़क़ में कई बदलाव किए गए हैं. 2013 में यह विधेयक राज्यसभा में पारित हुआ, पर लोकसभा में पारित न हो सका. इसमें प्रस्तावित कुछ बदलावों के बारे में आइए आपको बताते हैं.

–    इसमें पत्नी को यह अधिकार दिया गया है कि वो इस आधार पर अपने पति से तलाक़ ले सकती है कि अब उनकी शादी इस मुक़ाम पर पहुंच गई है कि उसे बरक़रार रखना नामुमकिन है, इसलिए वो तलाक़ चाहती है.

–     अगर पति ‘शादी पूरी तरह से टूट गई है और बरक़रार नहीं रह सकती,’ इस आधार पर तलाक़ लेना चाहता है, तो पत्नी इसका विरोध कर सकती है, पर पति के पास यह अधिकार नहीं है.

–     पत्नी को पति की चल-अचल संपत्ति में समान अधिकार मिलेगा. साथ ही उसे पति की रिहायशी संपत्ति यानी घर आदि में हिस्सा मिलेगा.

–     पति-पत्नी द्वारा गोद लिए बच्चों को सगे बच्चों के समान प्रॉपर्टी में अधिकार मिलेगा.

–     आपसी सहमति से तलाक़ के लिए याचिका दायर करने के बाद कोई पक्ष क़ानूनी कार्यवाही से पीछे नहीं हट सकता.

छह महीने का इंतज़ार ख़त्म

इस बीच सितंबर, 2017 में हिंदू मैरिज एक्ट में एक और अहम् बदलाव आया. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आपसी सहमति से तलाक़ लेने के लिए लोगों को 6 महीने का इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा. कोर्ट के मुताबिक़ अगर दोनों के बीच समझौते की कोई गुंजाइश नहीं बची है और बच्चों की कस्टडी का ़फैसला भी हो गया है, तो उन्हें छह महीने के कूलिंग ऑफ पीरियड को पूरा करने की मजबूरी नहीं है. इससे दोबारा वो जल्दी अपना घर बसा सकते हैं.

यह भी पढ़ें: हर महिला को पता होना चाहिए रिप्रोडक्टिव राइट्स (मातृत्व अधिकार)(Every Woman Must Know These Reproductive Rights)

Hindu Marriage Act Changes  
 स्पेशल मैरिज एक्ट से जुड़ी 10 ज़रूरी बातें

यह क़ानून ख़ासतौर से अंतर्जातीय विवाह कर रहे लोगों की रक्षा के लिए बनाया गया है. इसके तहत अपनी शादी रजिस्टर कराने के लिए आपको कोई धार्मिक रीति-रिवाज़ निभाने नहीं पड़ते.

  1. इस एक्ट के तहत अंतर्जातीय और अलग-अलग धर्म के लोग विवाह कर सकते हैं.
  2. इसके तहत हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, जैन या बौद्ध धर्म के लोग विवाह कर सकते हैं.
  3. शादी के लिए आपको 30 दिन पहले नोटिस देना पड़ता है. दूल्हा या दुल्हन दोनों में से कोई एक अपने इलाके के रजिस्ट्रार ऑफिस में नोटिस जमा कर सकता है.
  4. इसके तहत स़िर्फ भारतीय ही नहीं, बल्कि विदेशों में रह रहे प्रवासी भारतीय भी विवाह रजिस्टर करा सकते हैं.
  5. हिंदू मैरिज एक्ट की तरह इसमें भी कुछ नियम व शर्तें हैं, जैसे-

–     लड़के की उम्र कम से कम 21 साल और लड़की 18 साल होनी चाहिए.

–     दोनों कुंआरे हों या फिर शादीशुदा न हों यानी कोई पति-पत्नी न हों.

–     शादी के व़क्त मानसिक स्थिति अच्छी होनी चाहिए.

–     दोनों ही पक्ष प्रोहिबिटेड रिलेशनशिप की कैटेगरी में न आते हों. प्रोहिबिटेड रिलेशनशिप यानी भाई-बहन न हों, न ही सौतेले भाई-बहन हों. आपको बता दें कि सपिंडवाले भी इसके तहत शादी नहीं कर सकते. सपिंड यानी मां की तरफ़ से तीन पीढ़ी और पिता की तरफ़ से पांच पीढ़ी तक में शादी निषिद्ध मानी जाती है.

  1. 30 दिनों के लिए शादी का नोटिस रजिस्ट्रार ऑफिस के नोटिस बोर्ड पर लगाया जाता है. अगर किसी को इस शादी से आपत्ति हो, तो वो अपनी आपत्ति ज़ाहिर कर सकता है.
  2. अगर कोई आपत्ति आती है, तो रजिस्ट्रार को उसे 30 दिनों के भीतर सुलझाना होता है, लेकिन अगर कोई आपत्ति नहीं आती, तो नियत तारीख़ को तीन गवाहों की उपस्थिति में शादी संपन्न कराई जाती है.
  3. हर किसी के लिए यह जानना ज़रूरी है कि इसके तहत शादी करनेवालों के प्रॉपर्टी सक्सेशन के मामले इंडियन सक्सेशन एक्ट के तहत सुलझाए जाते हैं.
  1. यहां यह जानना भी बेहद ज़रूरी है कि आप शादी के एक साल के भीतर तलाक़ के लिए अप्लाई नहीं कर सकते. लेकिन अगर आप साबित कर सकें कि शादी बहुत बुरे हालात से गुज़र रही है, तो कोर्ट आवेदन पर अमल कर सकता है.
  2. इस एक्ट में दोबारा शादी का प्रावधान भी शामिल किया गया है, लेकिन शर्त यही है कि पहली शादी टूट चुकी हो और मामले में दोबारा अपील की गुंजाइश न बची हो.

– अनीता सिंह

यह भी पढ़ेंहर वर्किंग वुमन को पता होना चाहिए ये क़ानूनी अधिकार (Every Working Woman Must Know These Right)

10 बॉलीवुड एक्ट्रेस ने पहना सबसे महंगा शादी का जोड़ा (10 Most Expensive Wedding Dress of Bollywood Actresses)

10 बॉलीवुड एक्ट्रेस (Bollywood Actresses) ने पहना सबसे महंगा शादी का लहंगा (Wedding Dress) और इनके लहंगे की कीमत सुनकर दंग रह जाएंगी आप. दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone), अनुष्का शर्मा (Anushka Sharma), ऐश्‍वर्या राय बच्चन (Aishwarya Rai Bachchan), करीना कपूर  ख़ान (Kareena Kapoor Khan),शिल्पा शेट्टी (Shilpa Shetty), सोनम कपूर (Sonam Kapoor), नेहा धूपिया (Neha Dhupia) जैसी ख़ूबसूरत बॉलीवुड एक्ट्रेस ने अपनी शादी के समय लाखों रुपए का लहंगा पहना. आइए, हम आपको बताते हैं बॉलीवुड की उन 10 एक्ट्रेसेस के बारे में, जिन्होंने अपनी शादी में सबसे महंगा लहंगा पहना.

Wedding Dress of Bollywood Actresses

 

1) दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) 
दीपिका पादुकोण और रणवीर सिंह की शादी इस साल की सबसे चर्चित शादी रही. दोनों के वेडिंग लुक की भी ख़ूब तारी़फें हुईं. दीपिका पादुकोण ने अपनी शादी के दिन सब्यासाची का रेड कलर का लहंगा पहना था, जिसकी कीमत थी लगभग 97 लाख रूपए. इस लहंगे में दीपिका पादुकोण किसी राजकुमारी से कम सुंदर नहीं लग रही थी.

Wedding Dress of Deepika

2) अनुष्का शर्मा (Anushka Sharma)
अनुष्का शर्मा ने इसी साल भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली से शादी की. इस शादी ने भी खूब सुर्खियां बटोरी. अनुष्का शर्मा ने अपनी शादी के दिन सब्यासाची का पिंक कलर का लहंगा पहना था, जिसकी कीमत थी लगभग 95 लाख रूपए. सब्यासाची के इस लहंगे में अनुष्का शर्मा किसी परी से कम नहीं लग रही थीं.

Wedding Dress of Anushka Sharma

3) ऐश्‍वर्या राय बच्चन (Aishwarya Rai Bachchan)
मिस यूनिवर्स ऐश्‍वर्या राय की शादी जब बिग बी अमिताभ बच्चन के बेटे अभिषेक बच्चन से हुई, तो हर कोई उनकी एक झलक पाने के लिए बेताब था. ऐश्‍वर्या-अभिषेक की शादी बिल्कुल शाही अंदाज़ में हुई. ऐश्‍वर्या ने अपनी शादी में नीता लुल्ला की डिज़ाइन की हुई यलो और गोल्डन कलर की ट्रेडिशनल कांजीवरम साड़ी पहनी थी, जिसकी कीमत लगभग 75 लाख रुपए थी.

यह भी पढ़े: पंजाबी दुल्हन हाथों में चूड़ा और कलीरे क्यों पहनती हैं? (Bridal Special: Significance Of Chooda And Kalire For Punjabi Bride)

Wedding Dress of Aishwarya Rai

4) करीना कपूर  ख़ान (Kareena Kapoor Khan)
बोल्ड-बिंदास बेबो उर्फ करीना कपूर ने जब नवाब फैमिली के शहज़ादे सैफ अली खान से शादी की, तो करीना का ब्राइडल लुक देखने के लिए हर कोई बेताब था. करीना कपूर ने अपनी शादी के फंक्शन में मनीष मल्होत्रा का डिज़ाइन किया हुआ जो मैरून और बरगंडी कलर का लहंगा पहना था, उसकी कीमत 50 लाख रुपए थी.

Wedding Dress of Kareena Kapoor

5) शिल्पा शेट्टी (Shilpa Shetty)
शिल्पा शेट्टी ने अपने विदेशी वॉयफ्रेंड बिज़नेसमैन राज कुंद्रा से शादी की और शिल्पा का ब्राइडल लुक भी बहुत शाही था. शिल्पा शेट्टी ने अपनी शादी में जो साड़ी पहनी थी, उसकी कीमत लगभग 50 लाख रुपए थी.

Wedding Dress of Shilpa Shetty

6) जेनेलिया डिसूज़ा (Genelia D’Souza)
क्यूट जेनेलिया डिसूज़ा और रितेश देशमुख की शादी भी बहुत धूमधाम से हुई. जेनेलिया डिसूज़ा ने अपनी शादी में नीता लुल्ला की साड़ी पहनी थी, जिसकी कीमत लगभग 17 लाख रुपए थी.

यह भी पढ़े: शादी का लहंगा चुनते समय रखें इन 10 बातों का ध्यान (10 Bridal Lehenga Shopping Tips: How To Choose Best Bridal Lehenga For Your Body Shape)

Wedding Dress of Genelia D'Souza

7) सोनम कपूर (Sonam Kapoor)
इस साल की पॉप्युलर शादियों में सोनम कपूर की शादी भी एक थी और सोनम का वेडिंग लुक भी ख़ूब सुर्खियों में रहा. सोनम कपूर ने अपनी शादी में 7 लाख रुपए का लहंगा पहना था.

Wedding Dress of Sonam Kapoor

8) उर्मिला मातोंडकर (Urmila Matondkar) 
उर्मिला मातोंडकर ने अपनी शादी में मनीष मल्होत्रा का रेड कलर का लहंगा पहना था, जिसकी कीमत 5.5 लाख रुपए थी.

Wedding Dress of Urmila Matondkar

9) नेहा धूपिया (Neha Dhupia)
एक्ट्रेस नेहा धूपिया ने अपनी शादी को बिल्कुल सीक्रेट ही रखा था. नेहा धूपिया ने अपनी शादी में जो ख़ूबसूरत पिंक लहंगा पहना था, उसकी कीमत 5.2 लाख रुपए थी.

यह भी पढ़े: 10 बॉलीवुड एक्ट्रेस ने जब पहली बार मांग में भरा सिंदूर (First Sindoor Looks Of 10 Bollywood Actresses)

Wedding Dress of Neha Dhupia

10) बिपाशा बसु (Bipasha Basu)
बंगाली बाला बिपाशा बसु और करण सिंह ग्रोवर का वेडिंग लुक भी ख़ूब पसंद किया गया. बिपाशा बसु ने अपनी शादी में सब्यासाची का वेडिंग ड्रेस पहना था, जिसकी कीमत लगभग 4 लाख रुपए थी.

Wedding Dress of Bipasha Basu

 

5 स्टाइलिश अंदाज़ में पहनें साड़ी, देखें वीडियो:

 

पंजाबी दुल्हन हाथों में चूड़ा और कलीरे क्यों पहनती हैं? (Bridal Special: Significance Of Chooda And Kalire For Punjabi Bride)

पंजाबी दुल्हन (Punjabi Brides) हाथों में चूड़ा और कलीरे क्यों पहनती हैं? ये सवाल यदि आपके जेहन में भी अक्सर आता है, तो चलिए हम आपको बताते हैं कि पंजाबी दुल्हन हाथों में चूड़ा क्यों पहनती हैं. वैसे अब पंजाबी ही नहीं, लगभग हर प्रांत की दुल्हन चूड़ा पहनने लगी हैं. बॉलीवुड फिल्मों ने दुल्हन के शृंगार में चूड़ा को इस कदर शामिल कर दिया है कि बॉलीवुड एक्ट्रेस को देखकर अब हर लड़की शादी के दिन चूड़ा पहनना चाहती है.

Chooda And Kalire

बॉलीवुड एक्ट्रेस और टीवी एक्ट्रेस ने बढ़ाया दुल्हन के चूड़ा पहनने का क्रेज़
हाल ही में एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा, सोनम कपूर, अनुष्का शर्मा के साथ ही दीपिका पादुकोण को भी अपनी शादी के समय हाथों में चूड़ा पहने देखा होगा. बॉलीवुड एक्ट्रेस को शादी के समय हाथों में चूड़ा पहने देख हर लड़की के मन में ये चाहत होती है कि वो भी अपनी के दिन चूड़ा पहने इसीलिए चूड़ा पहनने का फैशन अब हर जगह हो गया है. बॉलीवुड एक्ट्रेस और टीवी एक्ट्रेस को शादी के दिन चूड़ा पहने देख अब हर लड़की शादी के दिन चूड़ा पहनना चाहती है. बॉलीवुड एक्ट्रेस और टीवी एक्ट्रेस ने दुल्हन के चूड़ा पहनने का क्रेज़ इस कदर बढ़ाया है कि शादी के दिन दुल्हन के चूड़ा पहनने का शौक अब हर लड़की को हो गया है.

Bridal Wear

Bridal Special

चूड़ा और चूड़ियां हैं दुल्हन का ख़ास शृंगार
शादी के समय दुल्हन की चूड़ियों का ख़ास महत्व होता है. शादी के समय दुल्हन के लिए लाल-हरी चूड़ियां शुभ मानी जाती हैं. मेहंदी से सजे हाथों में जब दुल्हन लाल-हरी चूड़ियां पहनती है, तो उसके हाथों की ख़ूबसूरती और बढ़ जाती है. इसी तरह मेहंदी रचे पंजाबी दुल्हन के हाथों में जब चूड़ा और कलीरे सजते हैं, तो दुल्हन के हाथों की ख़ूबसूरती कई गुना बढ़ जाती है. दुल्हन शादी के जोड़े के अलावा जब साड़ी, पार्टी गाउन या रेग्युलर कपड़ों के साथ भी चूड़ा पहनती है, तो हर कपड़े में वो ख़ूबसूरत नज़र आती है और हर कोई जानता है कि वो न्यूली मैरिड ब्राइड है. चूड़ा की ख़ासियत है कि वो इंडियन-वेस्टर्न हर तरह के कपड़ों में अच्छे लगते हैं इसीलिए लगभग हर प्रांत की दुल्हन अब चूड़ा पहनना पसंद करती हैं.

यह भी पढ़ें: विवाहित महिलाएं मंगलसूत्र क्यों पहनती हैं? (Why Do Indian Married Women Wear Mangalsutra)

Bridal Wear

पंजाबी दुल्हन हाथों में चूड़ा और कलीरे क्यों पहनती हैं?
पंजाबी शादियों में चूड़ा पहनने का विशेष महत्व होता है. पंजाबी शादियों में चूड़ा और कलीरे पहनने की विशेष रस्म होती है. पंजाबी दुल्हन के मामा उसके लिये चूड़ा लेकर आते हैं, जिसमें लाल और सफेद रंग की 21 चूडियां होती हैं. ख़ास बात ये है कि दुल्हन इस चूड़े को तब तक नहीं देख पाती है जब तक वह पूरी तरह तैयार न हो जाए और मंडप पर दूल्हे के साथ न बैठ न जाए.

 

दुल्हन को चूड़ा ऐसे पहनाया जाता है
दुल्हन के चूड़ा पहनने की रस्म भी बड़ी दिलचस्प होती है. दुल्हन को चूड़ा पहनाने से पहले यानी शादी की एक रात पहले चूड़ा को दूध में भिगोकर रखा जाता है. फिर शादी के दिन दुल्हन के मामा शादी के मंडप में ही दुल्हन को चूड़ा देते हैं. उस समय दुल्हन की मां उसकी आंखें बंद कर देती है, ताकि दुल्हन चूड़ा को न देख पाए और कहीं उसकी ख़ुद की नज़र चूड़े को न लग जाए.

यह भी पढ़ें: चूड़ियां पहनने के 5 धार्मिक और वैज्ञानिक लाभ (Why Do Indian Women Wear Bangles-Science Behind Indian Ornaments)

Punjabi Bride

Punjabi Bride Dresses

दुल्हन के चूड़ा पहनने का धार्मिक महत्व क्या है?
चूड़ा शादी के समय दुल्हन को पहनाया जाता है इसलिए चूड़ा लड़की के शादीशुदा होने का प्रतीक है. चूड़ा को प्रजनन और समृद्धि का प्रतीक भी माना जाता है. चूड़ा को सुहाग का प्रतीक माना जाता है और ये पति की भलाई के लिए भी पहना जाता है.

Bridal Dresses

दुल्हन हाथों में चूड़ा कितने दिनों तक पहनती है?
पंजाबी रिवाज के हिसाब से दुल्हन को लगभग 1 साल तक चूड़ा पहनना होता है. हालांकि समय के साथ सालभर तक चूड़ा पहनने का रिवाज़ भी बदल गया है. आज की वर्किंग दुल्हन 40 दिनों तक ही चूड़ा पहनती हैं.

Punjabi Bride

सोनम कपूर जैसी ग्लैमरस हेयरस्टाइल बनाना सीखने के लिए देखें वीडियो:

ऐसी होती है चूड़ा उतारने की रस्म
हालांकि चूड़ा उतारने की रस्म समय के साथ बदलती जा रही है, लेकिन पहले जिस दिन दुल्हन को चूड़ा उतारना होता था, उस दिन घर में छोटा-सा फंक्शन रखा जाता था. उस दिन दुल्हन को शगुन और मिठाई दी जाती है. उसके बाद दुल्हन को चूड़ा उतारकर कांच की चूड़ियां पहना दी जाती हैं. बहुत पहले चूड़ा उतारने की रस्म नदी के किनारे होती थी. नदी के पास दुल्हन चूड़ा उतारती थी और फिर पूजा के बाद चूड़ा को नदी में बहा दिया जाता था. समय के साथ चूड़ा उतारने की रस्म बदलती गई, अब लोग अपनी सुविधा के हिसाब से चूड़ा उतारने की रस्म निभाते हैं.

यह भी पढ़ें: ज्योतिष टिप्स: यदि आपका विवाह नहीं हो रहा है तो करें ये 20 उपाय (Astrology Tips: 20 Things That Will Make Your Marriage Possible Soon)

Chooda And Kalire

पंजाबी दुल्हन कलीरे क्यों पहनती हैं?
पंजाबी दुल्हन हाथों में चूड़ा के साथ कलीरे भी ज़रूर पहनती हैं. कलीरे की रस्म चूड़ा पहनने की रस्म के बाद होती है. जब दुल्हन अपने हाथों में कलीरे पहन लेती है, तो उसे अपने हाथों को अपनी अविवाहित सहेलियों के सिर पर झटकना होता है. ऐसी मान्यता है कि दुल्हन का कलीरा जिस लड़की के सिर पर गिरता है, उसकी शादी बहुत जल्दी हो जाती है. पंजाबी दुल्हन के हाथों में पहने जाने वाले चूड़ा और कलीरे पहनने की रस्म जितनी ख़ूबसूरत होती है, उतनी ही ख़ूबसूरत होती है इनकी डिज़ाइन. शादी में चूड़ा और कलीरे पहनने का रिवाज़ अब इस कदर बढ़ गया है कि इनका मार्केट भी ख़ूब फल-फूल रहा है.

विडिंग डांस के ईज़ी स्टेप्स सीखने के लिए देखें वीडियो:

 

विवाहित महिलाएं मंगलसूत्र क्यों पहनती हैं? (Why Do Indian Married Women Wear Mangalsutra)

Married Women Wear Mangalsutra

विवाहित महिलाएं मंगलसूत्र क्यों पहनती हैं? ये सवाल कभी न कभी आपके दिमाग में भी ज़रूर आया होगा. भारत में सुहागन स्त्रियां मंगलसूत्र ज़रूर पहनती हैं, ऐसा क्यों है? क्यों शादी के बाद ही महिलाएं मंगलसूत्र पहनती हैं? मंगलसूत्र पहनने के पीछे क्या धार्मिक मान्यता है? क्या मंगलसूत्र पहनने का कोई वैज्ञानिक महत्व भी है? आख़िर भारतीय महिलाएं मंगलसूत्र क्यों पहनती हैं? आपके मन में उठने वाली ऐसी ही तमाम जिज्ञासाओं का समाधान आपको इस लेख में मिलेगा.

Married Women Wear Mangalsutra

मंगलसूत्र पहनने की धार्मिक मान्यता
भारत में विवाह के समय मंगलसूत्र का विशेष महत्व है. शादी की सबसे ज़रूरी रस्म है मंगलसूत्र पहनाने की रस्म. सात फेरों के सात वचन निभाने का संकल्प लेने के साथ ही वर वधु के गले में मंगलसूत्र पहनाता है. इसके बाद ही शादी की रस्म पूरी होती है. भारत में मंगलसूत्र पहनने की धार्मिक मान्यता ये है कि यहां मंगलसूत्र को सुहाग का प्रतीक माना जाता है इसीलिए सभी सुहागन महिलाएं मंगलसूत्र ज़रूर पहनती हैं. ज्योतिष की दृष्टि से देखा जाए, तो ज्योतिषशास्त्र के अनुसार सोना गुरू के प्रभाव में होता है और गुरु ग्रह वैवाहिक जीवन में खुशहाली, संपत्ति व ज्ञान का प्रतीक माना जाता है. यदि मंगलसूत्र में पिरोए हुए काले मोतियों की बात करें, तो काला रंग शनि का प्रतीक माना जाता है. शनि स्थायित्व तथा निष्ठा का प्रतीक माना जाता है. अतः ऐसा माना जाता है कि मंगलसूत्र के प्रतीक के रूप में गुरु और शनि मिलकर वैवाहिक जीवन में सुख-समृद्धि और स्थायित्व लाते हैं.

यह भी पढ़ें: चूड़ियां पहनने के 5 धार्मिक और वैज्ञानिक लाभ (Why Do Indian Women Wear Bangles-Science Behind Indian Ornaments)

मंगलसूत्र पहनने का वैज्ञानिक महत्व
मंगलसूत्र पहनने की धार्मिक मान्यता के साथ-साथ मंगलसूत्र पहनने का वैज्ञानिक महत्व भी है. वैज्ञानिक दृष्टि से देखा जाए तो मंगलसूत्र सोने से निर्मित होता है और सोना शरीर में बल व ओज बढ़ानेवाली धातु है, इसलिए ये शारीरिक ऊर्जा का क्षय होने से रोकती है. सोने का मंगलसूत्र पहनने से महिलाओं में शारीरिक ऊर्जा बरकरार रहती है और इससे उनकी सुंदरता भी निखरती है.

विवाहित महिलाएं इसलिए पहनती हैं मंगलसूत्र

* विवाह के समय दुल्हन सबसे ख़ूबसूरत नज़र आती है और सबकी नज़र दुल्हन पर ही टिकी होती है. ऐसे में दुल्हन को किसी की बुरी नज़र न लगे, इसीलिए काले मोती में पिरोया हुआ मंगलसूत्र दुल्हन को पहनाया जाता है. मंगलसूत्र में पिरोए हुए काले मोती बुरी नजर से दुल्हन की रक्षा करते हैं.

* ऐसा माना जाता है कि विवाहित स्त्री के मंगलसूत्र में इतनी शक्ति होती है कि इससे सुहागन स्त्री के पति पर आने वाली विपत्तियां दूर होती हैं.

* मंगलसूत्र को प्रेम का प्रतीक माना जाता है, पति-पत्नी में उम्रभर प्रेम बना रहे इसलिए दुल्हन को मंगलसूत्र पहनाया जाता है.

यह भी पढ़ें: चरणामृत और पंचामृत में क्या अंतर है? (What Is The Difference Between Charanamrit And Panchamrit)

शादी के दिन दूल्हा-दुल्हन न करें ये 18 ग़लतियां (18 Common Mistakes Brides And Grooms Must Avoid)

शादी (Wedding) का दिन हर किसी के लिए ख़ास होता है. उस दिन के लिए न जाने कितने सपने, कितनी उम्मीदें और न जानें कितनी आकांक्षाएं जोड़ रखी होती है सबने, ऐसे में छोटी-छोटी ग़लतियां (Mistakes) शादी के सारे उत्साह-उमंग को फीका कर सकती हैं. अगर आपकी भी शादी होनेवाली है, तो ज़रूरी बातों के साथ-साथ इन बातों का भी ध्यान रखें, ताकि शादी के दिन की ख़ुशियां ताउम्र आपके चेहरे पर मुस्कुराहट लाने का कारण बन सकें.

Brides And Grooms Mistakes

दुल्हन बचे इन ग़लतियों से

रितु की बारात आनेवाली थी. शादी के हॉल में घरवाले तैयारियों में लगे थे, पर रितु को कभी डेकोरेशन में कमी नज़र आ रही थी, तो कभी ब्यूटीशियन की तैयारी में कमी दिख रही थी, जिसके कारण उसे बहुत ग़ुस्सा आ रहा. ग़ुस्से में वो अपने मेकअप पर भी ध्यान नहीं दे रही थी. ब्यूटीशियन ने तो उसे तैयार कर दिया, पर लहंगे की मैचिंग चूड़ियां घर पर ही छूट गई थीं, जिससे उसका पारा और चढ़ गया. भाई ने आनन-फानन में चूड़ियां लाकर दीं, पर तब तक रितु ने सबका मूड ख़राब कर दिया था. जिसकी ख़ुशी के लिए सबने इतनी मेहनत की, अगर वही नाख़ुश रहे, तो सोचें कि घरवालों का क्या हाल होगा. शादी के दिन दुल्हन ऐसी कुछ ग़लतियों से बचे, तो वह ख़ूबसूरत दिन उसके साथ-साथ सभी के लिए ख़ास बन जाए.

1. लास्ट मोमेंट के लिए तैयारियां छोड़कर रखना

अक्सर कुछ दुल्हन कपड़े, ज्वेलरी, एक्सेसरीज़, अंडर गार्मेंट्स और स्पेशल ओकेज़न की स्पेशल ड्रेसेज़ या साड़ियां आदि लास्ट मोमेंट यानी शादीवाले दिन की पैकिंग के लिए छोड़कर रखती हैं, जिसके कारण जल्दबाज़ी में कुछ न कुछ छूट जाता है. आप अपनी पैकिंग शादी के 2-3 दिन पहले ही करके रख लें. शादी वाले दिन के लिए ये तैयारियां कभी भी न रखें, क्योंकि उस दिन व़क्त कैसे निकल जाएगा आपको पता भी नहीं चलेगा.

2. मन मुताबिक काम न होने पर ग़ुस्सा करना

माना कि आपने डेकोरेशन या म्यूज़िक अरेंजमेंट के लिए पहले से बात कर ली थी, पर अगर आख़िरी व़क्त पर किसी कारण उसमें कुछ बदलाव हो गए हैं, तो तिल का ताड़ न बनाएं. ग़ुस्सा करके अपना व घरवालों का मूड ख़राब न करें. ख़ुशी के इस मौ़के को ख़ुशगवार बनाए रखें.

3. रिश्तेदारों से ससुरालवालों की बुराई

अक्सर शादी के दिन दुल्हन के क़रीबी रिश्तेदार ससुरालवालों के बारे में जानने-समझने को आतुर रहते हैं, ऐसे में आपको ध्यान रखना चाहिए कि ससुरालवालों के बारे में आपको सकारात्मक ही बोलना है, क्योंकि किसी भी तरह की नकारात्मक सोच के साथ नए घर जाना सही नहीं. किसी भी तरह की नकारात्मक टिप्पणी मामले को बिगाड़ सकती है. क्या पता उन्हीं रिश्तेदारों में कोई ऐसा हो, जिसका कनेक्शन ससुराल पक्ष से हो.

4. सब कुछ ख़ुद करने की कोशिश करना

शादी के दिन रीति-रिवाज़ों की तैयारी, ख़ुद को तैयार रखना, नाते-रिश्तेदारों से मिलना-जुलना, घरवालों के छोटे-मोटे कई काम होते हैं, ये सब आप ख़ुद करने के चक्कर में न पड़ें. सभी को काम की ज़िम्मेदारियां पहले ही बांट दें. शादी के दिन दुल्हन को मेंटली और फिज़िकली रिलैक्स रहना बहुत ज़रूरी है, ऐसे में किसी भी तरह का फिज़िकल या मेंटल स्ट्रेस आपके ब्राइडल लुक के लिए सही नहीं होगा.

5. कुछ ज़्यादा ही हुकुम चलाना

शादी की गहमागहमी में अक्सर कुछ चीज़ें लोग भूल जाते हैं, ऐसे में सब की क्लास न लेती फिरें. हर कोई आपकी शादी को यादगार बनाने की कोशिश में लगा है, इसका ख़्याल रखें. उन्हें कुछ ऐसा न कह दें, जिससे उन्हें बुरा लगे.

6. दूल्हे से बहस करना

शादी की रस्मों के दौरान अगर दूल्हे राजा ने आपके मनमुताबिक कुछ नहीं किया, तो उनसे बहस करने न बैठ जाएं. ध्यान रखें कि शादी की रस्मों में आपके साथ-साथ उनके रिश्तेदार भी मौजूद हैं, अपने बेटे के साथ होनेवाली बहू का ऐसा व्यवहार उनपर आपका ग़लत इंप्रेशन डाल सकता है.

7 हर बात की शिकायत करना

किसी रिश्तेदार ने साड़ी या लहंगे के लिए कुछ कहा, किसी ने वेन्यू के लिए कुछ कहा या फिर किसी ने मेन्यू के बारे में कुछ कंपैरिज़न करके ताना मारा हो, तो उसे अवॉइड करें. शादियों में रिश्तेदार ऐसा करते ही हैं. इन बातों पर न तो ख़ुद परेशान हों और न ही ये बातें पैरेंट्स को
बताकर उन्हें परेशान करें. याद रखें आप हर किसी को ख़ुश नहीं रख सकतीं, इसलिए सब भूलकर अपना वेडिंग डे एंजॉय करें.

– कुछ भी न खाने की ग़लती

शादी के दिन काम की भागदौड़, लास्ट मोमेंेट की तैयारियों और एक्साइटमेंट के बीच अक्सर लड़कियां खाने पर ध्यान नहीं देतीं, जिसके कारण शाम तक उन्हें गैस-एसिडिटी हो जाती है या फिर चक्कर आने लगते हैं. आप ऐसा न करें. खाना समय से खाएं और पानी भी पर्याप्त पीएं, ताकि आप हाइड्रेटेड रहें और आपका चेहरा
खिला-खिला दिखे.

– सहेलियों के साथ मिलकर ससुरालवालों की ख़िंचाई करना

शादी की रस्मों के दौरान हंसी-मज़ाक अच्छा है, पर सहेलियों के साथ मिलकर ससुराल वालों की ख़िंचाई करना या मज़ाक बनाना ठीक नहीं.
ससुराल के लोग अब आपका परिवार हैं, ऐसे में उन पर आपका अच्छा प्रभाव नहीं पड़ेगा. हो सकता है, उसके लिए आपको बाद में सुनना भी पड़े, इसलिए जो भी करें, मर्यादा में रहकर करें.

– बहुत ज़्यादा हैवी लहंगा या साड़ी सिलेक्ट करना

शादी के दिन कई रस्में और विधि-विधान होते हैं और ऐसे में अगर आपका लहंगा और ज्वेलरी इतनी हैवी या चुभनेवाली है कि आप बहुत असहज महसूस कर रही हैं, तो शादी का सारा मज़ा किरकिरा हो जाएगा. कुछ लड़कियां तो इतने हैवी लहंगे पहन लेती हैं कि उठने-बैठन के लिए भी मदद की ज़रूरत पड़ती है. शादी का मतलब हैवी लहंगा या ज्वेलरी पहनना नहीं है. यह आपके लिए काफ़ी स्पेशल दिन है, तो आपका कंफर्टेबल रहना बहुत ज़रूरी है, इसलिए ऐसे कपड़े और ज्वेलरी पहनें, जो आप आसानी से कैरी कर सकें.

यह भी पढ़ें: किस राशिवाले किससे करें विवाह? (Perfect Life Partner According To Your Zodiac Sign)

 Brides And Grooms

दूल्हा बचे इन ग़लतियों से

– शेरवानी या सूट गाड़ी में न रखना

मुंबई में रहनेवाले किशोर की पिछले महीने शादी हुई. शादी का हॉल लड़कीवालों के घर के नज़दीक था, जो कि किशोर के घर से काफ़ी दूर था. जब किशोर की बारात हॉल पहुंची और शादी की विधि-विधान के लिए उसने शेरवानी ढूंढ़नी शुरू की, तो पता चला शेरवानी घर पर ही छूट गई. घर जाकर शेरवानी लाने में काफ़ी व़क्त निकल जाता, इसलिए पास में ही रह रहे किशोर के एक दोस्त ने उसे अपनी शादी की शेरवानी लाकर दी, जिससे फेरों की रस्म पूरी हुई. घरवाले एक-दूसरे के भरोसे रह गए और अच्छी-ख़ासी शेरवानी यूं ही रह गई. इससे सभी दूल्हों को सबक लेना चाहिए और शादी के कपड़े गाड़ी में रखना न भूलें.

– देर रात तक जागना

अक्सर देखा गया है कि शादी के ठीक पहले वाली रात दूल्हा भाई-बंधुओं और दोस्तों के साथ बैचलर पार्टी मनाने में इतना व्यस्त रहता है कि ठीक से सो नहीं पाता. एंजॉयमेंट के चक्कर में उसकी नींद पूरी नहीं होती, जिसके कारण शादी वाले दिन उसकी फोटोज़ उतनी अच्छी नहीं आती, जितनी फ्रेश फेस के साथ आ सकती थीं. इस बात का ख़ास ख़्याल रखें और अच्छी तरह नींद लें.

– एक्सेसरीज़ भूल जाना

शादी के लिए सब सूट या शेरवानी को ध्यान से ख़रीदते हैं, पर मोज़े, बेल्ट, कफलिंक्स, हैंकी आदि पर उतना ध्यान नहीं देते, जिससे बारात निकलने से पहले पता चलता है कि मोज़े नहीं हैं या फिर बेल्ट ख़रीदना भूल गए थे. आपके साथ ऐसा न हो, इसलिए इन बातों का ध्यान रखें.

– लास्ट मिनट की भाग-दौड़ ख़ुद करना

शादी के दिन सभी को समय से बुलाना, सभी वेंडर्स के साथ कोऑर्डिनेट करना, नाते-रिश्तेदारों को लाना-ले जाना, जैसे कई काम होते हैं, अगर आप ये सब काम ख़ुद करेंगे, तो थक जाएंगे. लास्ट मिनट की इस भाग-दौड़ की बजाय रिलैक्स करें, दूसरों में काम बांट दें.

– शादी की गाड़ी समय से न बुलाना

बारात निकलने के लिए सबसे ज़रूरी है, दूल्हे की गाड़ी. घर पर गाड़ी आने के बाद भी उसे सजाने में काफ़ी व़क्त लगता है, जिसके कारण ज़्यादातर बारातें लेट हो जाती हैं. अगर आप ऐसा नहीं चाहते, तो बारात निकलने के 2-3 घंटे पहले ही गाड़ी बुला लें.

– बिना बोले समझने की उम्मीद करना

आज आपकी शादी है, आप अपने लिए कुछ स्पेशल करवाना चाहते हैं या कुछ ख़ास करने की इच्छा है, तो आपको बोलना पड़ेगा. बिना बोले घरवालों से यह उम्मीद करना की वो अपने आप समझ जाएंगे, बेव़कूफ़ी है. अपने ख़ास दिन को और ख़ास बनाने के लिए जो चाहते हैं करें, घरवालों को भी अच्छा लगेगा.

– घरवालों की भावनाओं का ख़्याल न रखना

आज आपकी शादी है, इसका यह मतलब नहीं कि आप जो चाहें, बोलें, जो चाहें करें. सब आपको पैंपर करने के लिए वैसे ही कुछ न कुछ ख़ास करते रहते हैं. उनकी भावनाओं का ख़्याल रखें. मुझे यह पसंद नहीं या मुझे यह अच्छा नहीं लगता बोलकर उनका दिल न दुखाएं. माता-पिता के साथ-साथ बुआ, मौसी, चाची, दादी, नानी आदि की भी कई इच्छाएं होती हैं. इस दिन को अपने साथ-साथ उनके लिए भी ख़ास बनाएं और उन्हें हमेशा के लिए ढेरों ख़ुशियां दें.

– तैयारियों में कमी के लिए दुल्हन या घरवालों को सुनाना

कुछ दूल्हे ऐसे भी होते हैं, जो तैयारियों से नाख़ुश होने पर शादी के व़क्त ही नाराज़गी व्यक्त करने के लिए या तो मुंह फुला लेते हैं या फिर दुल्हन को सुनाते हैं. यह बहुत ही ग़लत है. ऐसा करके न स़िर्फ आप अपने ख़ास दिन को बर्बाद करते हैं, बल्कि दुल्हन व उसके घरवालों का भी मूड ख़राब कर देते हैं. इस बेकार-सी ग़लती से बचें.

घरवाले बचे इन ग़लतियों से

– लड़केवाले और लड़कीवाले दोनों के लिए सबसे ज़रूरी है कि वो शादी के हॉल में समय से पहुंचे, क्योंकि अगर वो लेट हो गए, तो सारे कार्यक्रम देरी से होंगे और रिश्तेदार देरी के कारण पूरी शादी एंजॉय नहीं कर पाएंगे.

– बारात पहुंचते ही पटाखों का शोर हर किसी को बता देता है कि बारात आ गई है, लेकिन कभी-कभार इससे हादसे भी हो जाते हैं. पटाखे जलाते समय इस बात का ध्यान रखें कि
नाचनेवालों के पास पटाखे उड़कर न जाएं, वरना किसी को चोट भी लग सकती है. दूल्हा-दुल्हन की गाड़ी में फर्स्ट एड बॉक्स ज़रूर रखें.

– रस्मों की चीज़ों के बैग संभालकर साथ रखें, वरना भीड़-भाड़ में बैग कहीं छूट सकते हैं.

– अरेंजमेंट का बैकअप ज़रूरी है. सभी वेंडर्स को पहले से इतल्ला कर दें कि किसी भी चीज़ की कमी के लिए शादी के व़क्त तैयार रहें.

– सबसे ज़रूरी बात इस गहमागहमी में यह न भूलें कि यह आपके बच्चे के लिए ख़ास दिन है, इसलिए किसी भी तरह की कमी के बावजूद ख़ुश रहें और माहौल को ख़ुशगवार बनाए रखें.

– अनीता सिंह

यह भी पढ़ें: शादी के बाद क्यों बढ़ता है वज़न? जानें टॉप 10 कारण (Top 10 Reasons For Weight Gain After Marriage)

शादी का लहंगा खरीदते समय इन बातों का रखें खास ख्याल (How To Choose Best Bridal Lehenga According To Your Complexion And Body Type)

How To Choose Best Bridal Lehenga

शादी का लहंगा खरीदने (How To Choose Best Bridal Lehenga) जा रही हैं, तो पहले थोड़ा होमवर्क कर लें. हम आपको बता रहे हैं ब्राइडल लहंगा खरीदने के बेस्ट टिप्स. ये टिप्स ट्राई करें और शादी के लिए परफेक्ट लहंगा खरीदें.

How To Choose Best Bridal Lehenga

बॉडी शेप के अनुसार करें लहंगे का चुनाव
लहंगा सिलेक्ट करते समय इस बात का घ्यान रखें कि आपकी बॉडी पर कैसा लहंगा सूट करेगा.

अगर आपका बॉडी शेप परफेक्ट है
* जिन ब्राइड्स का बॉडी शेप परफेक्ट है, उन पर किसी भी स्टाइल का लहंगा ख़ूबसूरत लगेगा.
* लेकिन स्लिम फिट लहंगा आप पर ज़्यादा ख़ूबसूरत लगेगा.
* गोल्डन हिंटवाले ब्राइट कलर्स का सिलेक्शन करें.
* स्ट्रैपी, हाई नेक, बोट नेक, ऑफ शोल्डर, डीप बैक- चोली के साथ कुछ भी एक्सपेरिमेंट कर सकती हैं.
* हाइट थोड़ी ज़्यादा दिखानी हो, तो खड़ी डिज़ाइनवाली एम्ब्रॉयडरी का चुनाव करें.

अगर आप दुबली-पतली हैं
* लहंगे को ख़ूब सारा वॉल्यूम दें. इससे आपकी पर्सनैलिटी को ग्रेस मिलेगा.
* ऐसे फैब्रिक का चुनाव करें, जो आपकी बॉडी को थोड़ा कर्व दे. शिफॉन, पॉली क्रैप या सैटिन फैब्रिक से बचें.
* जामदानी, बनारसी, ब्रोकेड, टसर सिल्क, कोसा सिल्क जैसे फैब्रिक स्किनी महिलाओं के लिए बेस्ट ऑप्शन होते हैं.
* आपका मिड बॉडी पार्ट ही आपका असेट है, उसे हाइलाइट करने के लिए ब्लाउज़ डिज़ाइन्स के साथ एक्सपेरिमेंट करें.
* लंबी चोली का चुनाव करने से बचें. इससे आप और भी दुबली नज़र आएंगी.
* डीप नेक चोली सिलवाएं. हाई नेकलाइन और लंबी स्लीव का चुनाव कभी न करें.
* दुपट्टा लंबा होना चाहिए.

अगर आपके ब्रेस्ट हैवी हैं
* सबसे पहले अपने फिगर को लेकर कॉन्शियस न हों और फैशन के साथ चलने की बजाय वो पहनें, जो आपकी बॉडी टाइप को सूट करता हो.
* अगर आपके ब्रेस्ट हैवी हैं, तो हैवी वर्कवाली चोली का चुनाव करने से बचें. इससे आप और ज़्यादा बस्टी नज़र आएंगी.
* सिंगल टोन फैब्रिक का सिलेक्शन करें, जिस पर मिनिमम एम्बेलिशमेंट हो या न हो.
* ज्वेल नेकलाइन से बचें. इससे आप और भी बस्टी नज़र आएंगी. इसी तरह बहुत ज़्यादा डीप नेक भी आपको बस्टी लुक देंगे.
* राउंट या वी नेक ही आपके लिए सेफ होगा.
* ब्रेस्ट को सही शेप और लिफ्ट देने के लिए अंडरवायर ब्रा का इस्तेमाल करें.
* ए लाइन लहंगा की जगह फुल लहंगे का चुनाव करें.

पियर शेप ब्राइड
* पियर शेप यानी जिन लड़कियों के कमर के ऊपर का हिस्सा तो शेप में होता है, लेकिन कमर के नीचे का हिस्सा काफ़ी हैवी होता है, ख़ासकर हिप्स.
* फ्लेयर आपके बॉडी को बैलेंस करेगा. आप फ्लेयर्ड, पैनलवाले या ए लाइन का सिलेक्शन करें, लेकिन ध्यान रखें कि आपके लहंगे में ज़्यादा वॉल्यूम हो. सॉफ्ट फैब्रिक का सिलेक्शन करें, क्योंकि हैवी या स्टिफ फैब्रिक का लहंगा आपके लोअर बॉडी पार्ट को और हैवी लुक देगा.
* फिगर को बैलेंस लुक देने के लिए फुल स्लीव की चोली पहनें या शोल्डर को पैडेड करवा लें.
* ऐसी चोली का सिलेक्शन करें, जिसमें हैवी जरी या जरदोज़ी वर्क हो, इससे पूरा अटेंशन आपके लोअर बॉडी पार्ट की बजाय अपर बॉडी पार्ट पर ही रहेगा.

यह भी पढ़ें: शादी में पहनें अनुष्का की तरह वेल्वेट साड़ी, देखें कुछ ख़ूबसूरत वेल्वेट साड़ियां

 

कलर सिलेक्शन आइडियाज़
लहंगे का कलर सिलेक्ट करते समय इस बात का ध्यान रखें कि आपके कॉम्प्लेक्शन पर कैसा कलर सूट करेगा.

अगर आपका कॉम्प्लेक्शन डस्की है
* डस्की कॉम्प्लेक्शन को ख़ूबसूरत लुक देने के लिए ब्राइट कलर्स पहनें.
* ब्लू, पीच, पिंक, वाइन, डल गोल्ड, ऑलिव, ऑरेंज, रेड कलर्स आपके कॉम्प्लेक्शन को कॉम्प्लीमेंट करेंगे.
* जहां तक एम्ब्रॉयडरी की बात है, इस बात का ध्यान रखें कि आप सिल्वर वर्क से बचें. डल गोल्ड का सिक्वेन वर्क या थ्रेड वर्क का लहंगा आप पर ख़ूबसूरत लगेगा.
स्पेशल टिपः बहुत ज़्यादा शाइन से बचें. भड़कीले रंगों से बचें.

अगर आप गोरी हैं
* अगर आपका कॉम्प्लेक्शन फेयर है, तो आप कोई भी कलर सिलेक्ट कर सकती हैं.
* परफेक्ट लुक के लिए सॉफ्ट पेस्टल शेड्स सिलेक्ट करें. पीच, पिंक, एक्वा, सॉ़फ़्ट ग्रीन और ब्लू के शेड्स आप पर ख़ूबसूरत लगेंगे.
* रेड कलर भी आप पर ख़ूबसूरत लगेगा.
* बहुत ज़्यादा डार्क कलर्स के सिलेक्शन से बचें.
* अगर आपका कॉम्प्लेक्शन पिंक टोन लिए है, तो इवनिंग लुक जैसे रिसेप्शन-पार्टी आदि के समय आप सिल्वर वर्क के डीप नेवी ब्लू या सफायर ब्लू रंग का लहंगा पहनें.
स्पेशल टिपः अगर आपका कॉम्प्लेक्शन बहुत ज़्यादा फेयर है, तो पेस्टल या पेल कलर्स से बचें. ये आपको डल लुक दे सकते हैं.

अगर आपका रंग गेहुंआ है (व्हीटिश कॉम्प्लेक्शन)
* एमराल्ड ग्रीन, रूबी रेड, रिच ज्वेल टोन, ऑरेंज, रस्ट, नेवी ब्लू, फिरोज़ी ब्लू इनमें से आप कोई भी कलर्स सिलेक्ट कर सकती हैं.
* कॉम्प्लेक्शन थोड़ा और डार्क हो, तो गोल्ड बेस वर्क के साथ मैरून, मैट गोल्ड वर्क के साथ एमराल्ड ग्रीन या कॉपर के शेड्स अच्छे लगते हैं.
* अगर आपका कॉम्प्लेक्शन गोल्डन अंडरटोन लिए है, तो आपके लिए मॉर्निंग और इवनिंग कलर्स हैं एंटीक गोल्ड वर्क के साथ मस्टर्ड या कॉपर वर्क का ऑरेंज या फिर डीप या रॉयल ब्लू पर सिल्वर वर्क.
स्पेशल टिपः पेस्टल कलर्स से बचें. इससे आपका कॉम्प्लेक्शन और डार्क नज़र आ सकता है.

यह भी पढ़ें: 15+ स्टाइलिश डिज़ाइनर ब्लाउज़ आइडियाज़

हाइट के अनुसार चुनें लहंगे की सही लेंथ
आपकी हाइट पर कैसा लहंगा सूट करेगा, इसकी जानकारी भी आपको होनी चाहिए.

अगर आपकी हाइट कम है
हाई वेस्ट लहंगा सिलेक्ट करें. इससे आप लंबी नज़र आएंगी. सिंगल टोन लहंगा सिलेक्ट करें. शॉर्ट चोली और हाई हील भी आपके लिए बेस्ट हैं. शरारा लहंगे का सिलेक्शन बिल्कुल न करें, इससे आपकी हाइट और शॉर्ट नज़र आएगी.

अगर आप लंबी हैं
आप लकी हैं. लहंगा आपकी हाइट पर और भी ख़ूबसूरत लगेगा. आपको हील्स पहनने की ज़रूरत नहीं. लहंगे की लेंथ भी हील्स तक ही रखें. लॉन्ग चोली आप पर ग्रेसफुल लगेगी.

यह भी पढ़ें: 30+ ब्राइडल फैशन टिप्स: दुल्हन किस फंक्शन में क्या पहने?

 

कब क्या पहनें?
आप किस फंक्शन में कैसा लहंगा पहनेंगी इसका होमवर्क भी पहले ही कर लें.

डे वेडिंग में क्या पहनें
मॉर्निंग वेडिंग और फंक्शन के लिए ब्राइट शेड सिलेक्ट करें. एम्बेलिशमेंट लाइट या मिनिमल होना चाहिए

नाइट वेडिंग के लिए परफेक्ट लहंगा सिलेक्शन
डार्क, रिच कलर्स, हैवी वर्क, शिमर-शाइन- नाइट वेडिंग को रॉयल लुक देते हैं.

फोटो सौजन्य: नरगिस, त्रिवेणी

 

30+ ब्राइडल फैशन टिप्स: दुल्हन किस फंक्शन में क्या पहने? (30+ Latest Fashion Trends Indian Brides Must Try This Wedding Season)

Latest Fashion Trends, Indian Brides

ग्लोबलाइजेशन के इस दौर में भारतीय शादियों पर भी ग्लोबल इफेक्ट नज़र आने लगा है. डेस्टिनेशन वेडिंग, थीम वेडिंग, रिज़ॉर्ट वेडिंग जैसे नए-नए कॉन्सेप्ट शादियों को नया रूप दे रहे हैं. जब शादियां ही मॉडर्न अंदाज़ में होने लगी हैं, तो ब्राइडल फैशन पीछे कैसे रह सकता है. आइए, हम आपको बताते हैं ब्राइडल फैशन के न्यू ट्रेंड्स. शादी का दिन ज़िंदगी का ख़ास दिन होता है और इस दिन हर लड़की सबसे ख़ूबसूरत नज़र आना चाहती है. आप तक ब्राइडल फैशन के लेटेस्ट ट्रेंड्स पहुंचाने के लिए हमने बात की कुछ फैशन एक्सपर्ट्स से. आइए, उन्हीं से जानते हैं न्यू फैशन ट्रेंड्स.

Latest Fashion Trends, Indian Brides

फैशन एक्सपर्ट श्रुति संचेति के अनुसार:
आजकल ब्राइडल फैशन में फ्यूज़न वेयर का ट्रेंड बहुत बढ़ गया है. दुल्हन टिपिकल आउटफिट नहीं पहनना चाहतीं, वो ब्राइडल वेयर को भी नए अंदाज़ में पहनना चाहती हैं. आजकल ज़्यादातर लोग डेस्टिनेशन वेडिंग पसंद करने लगे हैं इसलिए वेन्यू के हिसाब से दूल्हा-दुल्हन के कपड़े तैयार किए जा रहे हैं. पहले स़िर्फ अपर क्लास में इस तरह की शादियां देखी जाती थीं, लेकिन अब मिडल क्लास लोग भी अपनी शादी को स्पेशल और यादगार बनाने के लिए कुछ न कुछ स्पेशल थीम रखना चाहते हैं. लोग अब शहर से बाहर शादी का वेन्यू रखना चाहते हैं और अपने शहर में भी शादी करते हैं, तो ओपन स्पेस में अपने हिसाब से थीम डिसाइड करते हैं, इसीलिए दूल्हा-दुल्हन के कपड़ों में भी काफ़ी बदलाव आने लगा है. शादी के लिए शॉपिंग करते समय दुल्हन को इन बातों का ध्यान रखना चाहिए:

किस फंक्शन में क्या पहनें?
* सगाई के लिए ऐसा आउटफिट सिलेक्ट करें, जिसमें आप यंग और ख़ूबसूरत नज़र आएं. इसके लिए पीच, पिंक, ऑलिव, एक्वा जैसे पेस्टल कलर की अनारकली ड्रेस या साड़ी पहनें. सगाई में हैवी लहंगा न पहनें तो अच्छा है.
* संगीत में लॉन्ग अनारकली, लॉन्ग स्कर्ट या घाघरा पहन सकती हैं, क्योंकि डांस करते समय घेर वाले आउटफिट दुल्हन पर अच्छे लगते हैं.
* मेहंदी फंक्शन में धोती पैंट के साथ स्लीव लेस या शॉर्ट स्लीव वाला टॉप पहन सकती हैं या फिर क्रॉप टॉप के साथ एंकल लेंथ स्कर्ट पहन सकती हैं, क्योंकि इसमें दुपट्टा संभालने की भी ज़रूरत नहीं है. इन ड्रेसेज़ में आपकी मेहंदी भी खराब नहीं होगी और आप डांस भी कर सकेंगी.
* कॉकटेल पार्टी या बैचलर पार्टी में केप के साथ धोती पैंट या जैकेट के साथ लॉन्ग स्कर्ट पहन सकती हैं.
* फेरे के समय ट्रेडिशनल आउटफिट पहनें, जैसे साड़ी, लहंगा-चोली आदि. इस समय पूजा होती है इसलिए पारंपरिक कपड़े ही अच्छे लगते हैं.
* रिसेप्शन के लिए थीम के हिसाब से कपड़े सिलेक्ट करें. यदि आपका रिसेप्शन फॉर्मल है, तो क्लासी साड़ी, गाउन, लहंगा-चोली पहन सकती हैं, लेकिन इनफॉर्मल रिसेप्शन है, तो कोई भी इंडो-वेस्टर्न ड्रेस पहन सकती हैं.

Latest Fashion Trends, Indian Brides

स्मार्ट शॉपिंग आइडियाज़
फैशन एक्सपर्ट श्रुति संचेति के अनुसार दुल्हन के लिए शॉपिंग करते समय थोड़ी तैयारी कर लेनी ज़रूरी है:
* आमतौर पर भारतीय महिलाओं की लोवर बॉडी हैवी होती है, लेकिन कमर पतली होती है, इसलिए उन्हें एम्पायर लाइन गाउन या अनारकली सिलेक्ट करना चाहिए. इससे कमर तक का हिस्सा पतला नज़र आता है और लोवर बॉडी घेरे में छुप जाती है, जिससे मोटापे का पता नहीं चलता.
* अगर आपकी बॉडी परफेक्ट शेप में नहीं है तो बहुत फिटेड ड्रेस न पहनें. साथ ही ऐसा ब्लाउज़ या गाउन न सिलेक्ट करें जिसमें स्किन ज़्यादा दिखे, जैसे- बैकलेस, हॉल्टर नेक, वन शोल्डर आदि. ऐसे कपड़े में आप ज़्यादा मोटी नज़र आएंगी.
* भारतीय महिलाओं का स्किन टोन इतना अच्छा होता है कि उन पर लगभग सारे कलर अच्छे लगते हैं इसलिए शादी की शॉपिंग करते समय रंगों का खुलकर इस्तेमाल करें. ब्राइडल वेयर के लिए आप रेड, रस्ट, बर्न्ट ऑरेंज, यलो, लाइलैक, पिंक आदि कलर ट्राई कर सकती हैं.
* हां, फेरे के समय ट्रेडिशनल आउटफिट ज़रूर पहनें. आजकल एक तरह से जैसे ट्रक्सटाइल मूवमेंट चल रहा है. इन दिनों दुल्हन शादी के दिन अपनी मां, नानी, दादी की शादी की साड़ी या कोई पारंपरिक शादी का जोड़ा पहनना पसंद कर रही हैं. आप भी किसी पारंपरिक हैंडलूम, जैसे बनारसी, पटोला, घरचोला आदि की साड़ी को मॉडर्न ब्लाउज़ के साथ पहन सकती हैं.
* बाकी फंक्शन में फ्यूज़न वेयर या वेडिंग थीम के हिसाब से ही कपड़े सिलेक्ट करें.
* ज्वेलरी में भी आजकल दुल्हन घर की पुरानी पारंपरिक ज्वेलरी पहनना पसंद करती हैं. आप भी पाशा, माथापट्टी, नथ, हाथफूल आदि पहन सकती हैं.
* आजकल लड़कियां अपनी शादी को एंजॉय करना चाहती हैं इसलिए ऐसा आउटफिट नहीं पहनना चाहतीं, जो कंफर्टेबल न हो. 15-20 किलो का लहंगा और उसके साथ हैवी ज्वलेरी पहनकर दुल्हन कंफर्टेबल नहीं रह सकती इसलिए आप भी लाइट वेट कपड़े सिलेक्ट करें, जो मॉडर्न भी हों और कंफर्टेबल भी.
* क्रॉप टॉप विद स्कर्ट, लॉन्ग जैकेट के साथ एम्ब्रॉयडर्ड पलाज़ो, कॉकटेल साड़ी, धोती पैंट्स के साथ केप्स, गाउन, मैक्सी अनारकली, साड़ी के साथ लॉन्ग जैकेट या केप्स पहनना स्मार्ट आइडिया है.
* आजकल लड़कियां काफ़ी प्रैक्टिकल हो गई हैं, वो शादी के लिए ऐसे कपड़े ख़रीदना चाहती हैं, जिन्हें वो बाद में भी पहन सकें, जैसे- एम्ब्रॉयडर्ड केप को आप वेडिंग लहंगा के साथ भी पहन सकती हैं और बाद में पार्टी में जीन्स के साथ भी पहन सकती हैं. इसी तरह पलाज़ो, कॉर्सेट, जैकेट, स्कर्ट आदि को शादी के बाद भी पहना जा सकता है.
* पहले शादियों में रेड, पिंक, ऑरेंज जैसे टिपिकल कलर्स ही पहने जाते थे, लेकिन अब मैटालिक कलर जैसे गन मैटल, रोज़ गोल्ड, सिल्वर, ब्लू, ग्रीन आदि कलर्स भी पहने जाने लगे हैं, आप भी इन्हें ट्राई कर सकती हैं.
* आजकल ब्राइडल वेयर में पेस्टल कलर्स जैसे- पीच, आयवरी, लाइलैक आदि काफ़ी पसंद किए जा रहे हैं. ये दुल्हन को यंग और फ्रेश लुक देते हैं.
* हैवी एम्ब्रॉयडरी जैसे ज़रदोज़ी आदि की बजाय आजकल डेलिकेट एम्बॉयडरी, वोवन फ्रैब्रिक आदि ज़्यादा पसंद किए जा रहे हैं. बहुत भरे हुए वेडिंग ड्रेस आजकल पसंद नहीं किए जा रहे हैं.
* हेयर-मेकअप में भी आजकल बहुत एक्सपेरिमेंट किए जा रहे हैं. पहले जूड़ा, चोटी बनाकर उसके ऊपर दुल्हन चुनरी पहन लेती थीं. बड़ी-सी लाल बिंदी और लाल लिपस्टिक लगा लेती थी, लेकिन अब आउटफिट के हिसाब से हेयर और मेकअप भी बदलता रहता है, जैसे- एक लुक में दुल्हन के बालों को कर्ल कराया है, तो दूसरे में स्ट्रेट रखती हैं. हेयर स्टाइल की तरह ही मेकअप भी बदलता रहता है. डे और नाइट लुक के हिसाब से कपड़े, ज्वेलरी, मेकअप, हेयर स्टाइल आदि डिसाइड किया जाता है.
* छोटे शहरों में भी लड़कियां कॉकटेल पार्टी या रिसेप्शन में लहंगा या टिपिकल साड़ी की बजाय गाउन, साड़ी गाउन या मैक्सी अनारकली ड्रेस आदि ही पहनना पसंद करती हैं.

यह भी पढ़ें: बॉलीवुड एक्ट्रेस की तरह पहनें ट्रेडिशनल साड़ी

 

स्मार्ट टिप:
शादी के दिन भले ही आप मॉडर्न कपड़े पहनें, आपकी वेडिंग ड्रेस का लुक भले ही ग्लोबल हो, लेकिन उसकी एम्ब्रॉयडरी, फैब्रिक आदि इंडियन हो, जैसे आप ट्रेडिशनल एम्ब्रॉयडरी वाला मॉडर्न गाउन पहन सकती हैं. बनारसी साड़ी के साथ मॉडर्न जैकेट पहन सकती हैं. आपकी ड्रेस का लुक-फील ट्रेडिशनल होना चाहिए, ताकि आप भारतीय दुल्हन नज़र आएं.

Latest Fashion Trends, Indian Brides

फैशन डिज़ाइनर आसिफ मर्चेंट के अनुसार:
आजकल दुल्हन हर फंक्शन के लिए अलग लुक चाहती हैं इसलिए शादी की शॉपिंग बहुत सोच-समझकर करती हैं. टिपिकल ब्राइडल वेयर पहनने की बजाय दुल्हन मॉडर्न लुक चाहती हैं. आसिफ मर्चेंट ने हमें ब्राइडल फैशन के कुछ ख़ास टिप्स बताए:

* ब्राइडल वेयर में इन दिनों रेड, मरून जैसे टिपिकल कलर की बजाय पीच, पिंक, ऑलिव, वाइन, लाइलैक जैसे पेस्टल कलर पसंद किए जा रहे हैं.
* हां, फेरे के समय हर दुल्हन ट्रेडिशनल लहंगा या साड़ी ही पहनना चाहती है, लेकिन बाकी फंक्शन के लिए अब बहुत एक्सपेरिमेंट किए जा रहे हैं. दुल्हन अब बाकी फंक्शन में वेस्टर्न टच वाले कपड़े पहनना पसंद कर रही हैं, जैसे- गाउन, जैकेट, गरारा, शरारा, स्कर्ट, क्रॉप टॉप आदि.
* फ्लेयर्ड लहंगा रॉयल लुक देता है इसलिए दुल्हन के लहंगे में घेरा ज़्यादा रखा जाता है. हां, लहंगे में कैन-कैन का इस्तेमाल तभी करें जब आप उसे मैनेज कर सकें, वरना कंफर्टेबल लहंगा सिलेक्ट करें. फेरे के समय कैन-कैन से दुल्हन को उठने-बैठने में तकलीफ़ हो सकती है.
* लहंगे का वज़न इतना ज़्यादा न हो कि आप उसे मैनेज न कर सकें.
* साड़ी के साथ भी आप बहुत एक्सपेरिमेंट कर सकती हैं. साड़ी के ऊपर अनारकली ब्लाउज़ पहन सकती हैं, इसमें घेरा ट्रांसपेरेंट होता है और स्लिट भी होती है, जिससे साड़ी और अनारकली दोनों की ख़ूबसूरती निखर कर आती है. ये कॉम्बिनेशन बहुत अच्छा लगता है.
* साड़ी के साथ केप, जैकेट भी पहन सकती हैं. गाउन साड़ी भी पहन सकती हैं.
* ब्लाउज़ में पावर स्लीव, फुल स्लीव, रफल्स स्लीव का प्रयोग कर सकती हैं. ब्लाउज़ की लंबाई ज़्यादा भी रख सकती हैं.
* आजकल दुल्हन के जोड़े के लिए क्रिस्टल, सीक्वेंस, बीड्स आदि वर्क पसंद किए जा रहे हैं. साथ ही थ्रीडी इफेक्ट, ब्रॉड शोल्डर लुक आदि एक्सपेरिमेंट भी किए जा रहे हैं.
* भारतीय दुल्हन को वेस्ट कट वाला फ्लेयर्ड गाउन सिलेक्ट करना चाहिए, क्योंकि ज़्यादातर भारतीय महिलाओं की लोवर बॉडी हैवी होती है. ऐसे गाउन में ऊपर से बॉडी पतली नज़र आती है और नीचे की बॉडी फ्लेयर में छुप जाती है. ऐसे गाउन के साथ हील्स पहनकर आप लंबी भी नज़र आएंगी.
* यदि आपका कॉम्प्लेक्शन डार्क है तो पीच, यलो, स्किन कलर जैसे शेड न पहनें. आप आयवरी, गोल्ड जैसे मॉडर्न कलर ट्राई कर सकती हैं.
* मेहंदी फंक्शन में पलाज़ो या गरारा पहनें. इन्हें मैनेज करना आसान होता है. शॉर्ट स्लीव के कपड़े पहनें, ताकि मेहंदी लगाना आसान हो जाए और आप भी फ्री रहें. इसी तरह अटैच्ड दुपट्टा वाला आउटफिट पहनें. जैकेट के साथ स्कर्ट भी पहन सकती हैं.
* ब्राइडल वेयर में आजकल प्लेन स्कर्ट के साथ लंबा एम्बेलिश्ड जैकेट फैशन में है, आप भी ये कॉम्बिनेशन ट्राई कर सकती हैं.
* यदि आप स्लिम हैं तो फिश टेल लुक भी ट्राई कर सकती हैं. साथ ही वन शोल्डर, ऑफ शोल्डर, फ्री फ्लोवी गाउन भी ट्राई कर सकती हैं.
* इन दिनों कॉस्ट्यूम ज्वेलरी का ट्रेंड है यानी दुल्हन आउटफिट के हिसाब से ज्वेलरी पहनती हैं. लॉन्ग ईयररिंग, कफ, कॉकटेल रिंग जैसी क्लासी ज्वेलरी पसंद की जा रही हैं.

यह भी पढ़ें: अनुष्का शर्मा, दीपिका पादुकोण, सोनम कपूर… बॉलीवुड एक्ट्रेस बना रही हैं बनारसी साड़ी को ट्रेंडी

Latest Fashion Trends, Indian Brides

फैशन डिज़ाइनर गौरांग शाह के अनुसार:
ब्राइडल वेयर में आजकल वोवन हेरिटेज लहंगा और साड़ी काफ़ी पसंद किए जा रहे हैं यानी हाथ की कारीगरी को ज़्यादा पसंद किया जा रहा है. पैठणी, बांधनी, कांजीवरम, बनारसी आदि एक बार फिर फैशन में हैं. इन दिनों दुल्हन अपनी शादी के दिन पारंपरिक भारतीय परिधान पहनना चाहती हैं.
* कंफर्ट और फंक्शन को ध्यान में रखते हुए शादी के आउटफिट ख़रीदें, जैसे संगीत के लिए हैवी लहंगा न ख़रीदें, वरना आपको डांस करने में दिक्कत होगी.
* भारतीय साड़ी को 100 से भी अधिक तरी़के से पहना जा सकता है. आजकल साड़ी को लहंगा, अनारकली, कुर्ता आदि के साथ पहनकर कंटेंप्रेरी लुक दिया जा रहा है.
* डेस्टिनेशन वेडिंग के लिए शॉपिंग करते समय मौसम और थीम को ध्यान में रखते हुए कपड़े ख़रीदें. थीम वेडिंग के लिए भी कंफर्ट को ज़रूर ध्यान में रखें, वरना आप अपनी शादी को एंजॉय नहीं कर पाएंगी.
* यदि आप अपनी शादी में पारंपरिक भारतीय कपड़े पहनना चाहती हैं तो मेहंदी फंक्शन के लिए ब्राइट कलर का कलमकारी वर्क वाला अनारकली, कॉकटेल पार्टी के लिए खादी जामदानी का क्लासी और एलिगेंट आउटफिट, संगीत के लिए पाटन पटोला, फेरे के लिए कांजीवरम, पैठणी, बनारसी साड़ी, रिसेप्शन के लिए ऑर्गेंज़ा, कांजीवरम लहंगा-चोली पहन सकती हैं.

 – कमला बडोनी

फोटो सौजन्य: नरगिस

यह भी पढ़ें: Exclusive: 5 स्टाइलिश अंदाज़ में पहनें साड़ी