irrfan khan

आज अभिनेता इरफान ख़ान हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन उनका अभिनय, उनकी संवाद अदायगी, उनका सेंस ऑफ ह्यूमर, उनका चुटीलापन… वह सब कुछ हमारे बीच हमेशा रहेगा. इरफान एक बेहतरीन कलाकार थे, फिल्मों में सशक्त अभिनय से उन्होंने यह साबित भी किया. 

फिल्म पान सिंह तोमर के लिए उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. हासिल फिल्म के लिए सर्वश्रेष्ठ खलनायक का पुरस्कार भी उन्होंने जीता. लेकिन फिल्मों में मुक़ाम हासिल करने के लिए उन्हें काफ़ी संघर्ष करना पड़ा. आइए, इरफान ख़ान से जुडी कही-अनकही बातों के बारे में जानते हैं…

अभिनय का सफ़र और जीवन परिचय…

* इरफान ख़ान का जन्म राजस्थान के टोंक जिले में हुआ था.
* उनका परिवार जयपुर में रहता है.
* हाल ही में यानी 25 अप्रैल को उनकी मां सैयदा बेगम का इंतकाल हुआ था.
* लेकिन कोरोना वायरस के कारण देश में लॉकडाउन होने और उनकी तबीयत ठीक नहीं होने की वजह से वे मां के अंतिम यात्रा में शामिल नहीं हो सके थे. लिहाज़ा वीडियो कॉल के ज़रिए मां के अंतिम दर्शन किए.

* जब इरफान ख़ान ने फिल्मों में काम करने का निर्णय लिया, तब एक बार उनकी मां ने पूछा था कि अब तुम नाचने-गाने का काम करोगे. उनके परिवार में इसे ठीक नहीं समझा जाता था. सभी और इरफान ख़ुद भी बहुत कम फिल्में देखते थे. उस समय इरफान ने मां को आश्वस्त किया था कि वे कभी भी उन्हें शर्मिंदा होने नहीं देंगे. वे ऐसा कुछ करेंगे, जिससे उन्हें अच्छा लगेगा. और ऐसा उन्होंने किया भी. इरफान अपनी मां के काफ़ी क़रीब थे, मां की मृत्यु से वे आहत भी थे. यह संयोग ही था कि उनके जाने के चार दिन बाद इरफान ने भी दुनिया को अलविदा कह दिया.
* लंचबॉक्स फिल्म के लिए उन्हें कई अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार मिले थे
* उन्होंने अस्सी से अधिक फिल्मों में काम किया. अंग्रेजी मीडियम उनकी अंतिम फिल्म रही.
* बाइस से ज़्यादा धारावाहिक भी किए.
* जमींदार परिवार के होने बावजूद शिकार बहुत कम ही करते थे.
* जयपुर के रवींद्र मंच से अभिनय तो शुरू हुआ, पर संतुष्टि नहीं मिली. यही उन्होंने कई नाटक किए. जलते बदन उनका पहला नाटक था.
* दिल्ली के राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय में अदाकारी को ऊंची उड़ान मिली.
* शुरुआती में सरकारी स्कूल में पढ़ाई हुई. फिर मां की इच्छा के चलते इंग्लिश कॉन्वेंट स्कूल में पढ़ाई की.
* शुरू में उन्हें अंग्रेज़ी समझाने में काफ़ी दिक्कत आती थी. सज़ा भी मिलती थी.
* उनकी मां चाहती थीं कि ग्रेजुएशन पूरा करने बाद ही वे कुछ और करें. इसलिए उन्हें स्नातक करना पड़ा. उसके बाद उन्होंने अभिनय की तरफ़ रुख किया.
* खेल में इरफान क्रिकेट के शौकीन थे. जयपुर के चौगान स्टेडियम में क्रिकेट खेलने भी जाया करते थे. सीके नायडू ट्रॉफी के लिए वे सिलेक्ट भी हुए थे. लेकिन परिवार द्वारा उन्हें क्रिकेट में करियर बनाने की मंजूरी नहीं मिली.
* आज बुधवार यानी 29 अप्रैल को मुंबई के कोकिलाबेन हॉस्पिटल में उनका निधन हो गया. वे कैंसर और आंतों के इन्फेक्शन से जूझ रहे थे.

* इरफान के पिता यासीन का बिज़नेस था.
* उनकी मां चाहती थीं कि वे लेक्चरर बने, लेकिन इरफान पर अभिनय का जुनून सवार था.
* जब वे अभिनय की बारीकियां सीख रहे थे, उसी बीच उनके पिता का देहांत हो गया था.
* फिर उन्होंने अपने स्कॉलरशिप के ज़रिए अपने अभिनय का कोर्स पूरा किया.
* उनके संघर्षों के दिनों में उनकी पत्नी सुतापा सिकदर ने उनका बेहद साथ दिया.
* सुतापा स्क्रीनप्ले राइटर हैं.
* साल 1995 में दोनों ने शादी कर ली. इरफान का परिवार इस शादी के ख़िलाफ था, लेकिन बाद में सब रज़ामंद हो गए.
* इरफान शर्मीले स्वभाव के थे. वे सुतापा को पसंद करते थे. तब उनके भोपाल के रंगमंच के मित्र आलोक चटर्जी उनके शादी का प्रस्ताव सुतापा के पास लेकर गए थे. इस पर सुतापा ख़ूब हंसी भी थीं और पूछा भी की इरफान ने ख़ुद क्यों नहीं कहा. तब आलोक ने उनके शर्मीले नेचर के बारे में बताया. बकौल आलोक के इरफान अक्सर उन्हें कहते थे कि वे नहीं होते, तो शायद उनकी शादी सुतापा से नहीं हो पाती.
* इरफान के दो बेटे बाबिल और अयान हैं.
* एक बार अपने इंटरव्यू में इरफान ने कहा था कि अगर ऊपरवाले ने मुझे ज़िंदगी बक्शी, तो मैं अपनी पत्नी के लिए और जीना चाहूंगा, क्योंकि उसने हमेशा मेरा साथ दिया. हर संघर्ष में चाहे वह फिल्म करियर का हो या मेरे बीमारियों से लड़ने का वह हमेशा मेरे साथ रही. मैं उनका शुक्रगुज़ार हूं और ख़ुशनसीब हूं कि मुझे इतनी अच्छी पत्नी मिली.
* इरफान के पिता अक्सर उन्हें ब्राह्मण करके ताना मारते थे, क्योंकि वे पठान परिवार में जन्म लेने के बावजूद मांस यानी नॉन वेज नहीं खाते थे.
* दरअसल इरफान को नॉन वेज खाना पसंद नहीं था. तब उनके पिता अक्सर कहते थे कि ना जाने यह ब्राह्मण कहां पठान के घर में पैदा हो गया.
इरफान ने सलाम बॉम्बे फिल्म से अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी.
* इस फिल्म में छोटा-सा रोल था, लेकिन वह अपना प्रभाव छोड़ने में कामयाब रहे. उसके बाद कई छोटी-मोटी फिल्में की.
* कई सीरियल भी किए,जिनमें चंद्रकांता, भारत एक खोज, चाणक्य जैसी सीरियल ख़ास रहीं.
* लेकिन उन्हें सही मायने में कामयाबी हासिल फिल्म से मिली.
* इस फिल्म में उन्होंने खलनायक की भूमिका निभाई थी और इसके लिए उन्हें बेस्ट विलेन का अवार्ड भी मिला था.

* अभिनय के लिए 2011 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था.

* लंचबॉक्स फिल्म के लिए उन्हें कई अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार मिले थे. 
* हिन्दी मीडियम, अंग्रेज़ी मीडियम, मदारी, लंचबॉक्स, स्लमडॉग मिलेनियर, द नेमसेक, लाइफ ऑफ पई, मकबूल, पीकू, पान सिंह तोमर, हासिल, स्पाइडर मैन, जुरासिक वर्ल्ड, इन्फर्नो आदि उनकी बेहतरीन फिल्में रहीं. 

* हॉलीवुड एक्टर टॉम हैंक्स ने उनकी तारीफ़ करते हुए कहा था कि इरफान की आंखें भी अभिनय करती हैं.

* इरफान नेशनल ही नहीं इंटरनेशनल एक्टर थे. उन्होंने कई हॉलीवुड फिल्में भी की थीं और अपने अभिनय की छाप छोड़ी.
* वहां के निर्माता-निर्देशकों को भी उनका काम काफ़ी पसंद था.
* लाइफ ऑफ पई फिल्म के ताईवान के निर्देशक ने भी उन्हें याद किया. उनका कहना था कि इरफान एक सशक्त अभिनेता थे.
* इरफान खान सरल व सहज कलाकार थे. हर कोई उनसे आसानी से जुड़ जाता था.
* आज की ही बात ले लीजिए. आज उनके चले जाने पर जब मुंबई के वर्सोवा कब्रिस्तान में उन्हें सुपुर्द-ए-ख़ाक किया जा रहा था, तब एक स्पॉटबॉय उनके अंतिम दर्शन के लिए कब्रिस्तान आया. वो इरफान से केवल एक बार ही मिला था. लेकिन एक ही मुलाकात में इरफान ने उस शख्स पर ऐसी गहरी छाप छोड़ी थी कि वो अंतिम बार उन्हें देखने के लिए ख़ुद को रोक ना सका. ऐसे थे सभी के प्रिय अदाकार इरफान.
* लॉक डाउन के कारण बहुत कम के लोग ही शोक यात्रा में शामिल हो पाए. पुलिस ने उनकी पत्नी से रिक्वेस्ट की थी कि सोशल डिस्टेंसिंग का ख़्याल रखा जाए, तो उन्होंने भी पुलिस का साथ दिया और अस्पताल से घर ना जाते हुए सीधे कब्रिस्तान में ही पार्थिव शरीर को लाया गया.
* निर्देशक विशाल भारद्वाज भी कब्रिस्तान में पहुंचे थे अपने मित्र और प्रिय कलाकार इरफान को अंतिम विदाई देने के लिए. गौर करनेवाली बात है कि उनकी फिल्म मकबूल में इरफान ने जानदार अभिनय किया था.
* अभिनेता, नेता, खिलाड़ी, मशहूर शख्सियत… हर किसी ने इरफान ख़ान को याद किया और उनके प्रति अपनी भावनाओं को व्यक्त किया.
* प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी से लेकर सुपरस्टार बिग बी अमिताभ बच्चन तक ने अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि दी.
* हर किसी को उनका यूं चले जाना दुखी कर गया. तभी तो आयुष्मान खुराना यह कह गए कि आपके साथ काम करने का मौक़ा नहीं मिल पाया. सोचा था एक आध फिल्म आपके साथ करूंगा. शूटिंग में पेड़ के नीचे चाय पीते हुए आपसे ज़िंदगी का पाठ सीख लूंगा.. पर यह हो न सका.. लेकिन आपने जो भी दिया बहुत दिया.. आप हमेशा याद आएंगे…
* शाहरुख ख़ान को भी अपने दोस्त का यूं अलविदा कहना खल गया. बिल्लू फिल्म में उनकी ख़ास जुगलबंदी दिखने को मिली थी.
* अक्षय कुमार, आमिर ख़ान, अजय देवगन, सलमान ख़ान, प्रियंका चोपड़ा, शाहिद कपूर जिस किसी ने उनके साथ काम किया था, उनको क़रीब से जाना था.. वे सभी ग़मगीन हैं, क्योंकि वे जानते हैं कि उन्होंने एक लाजवाब कलाकार ही नहीं, बल्कि एक बेहतरीन इंसान को भी खो दिया है.

* महाभारत सीरियल के कर्ण यानी पंकज धीर के साथ इरफान ने करियर के शुरुआती दिनों में चंद्रकांता धारावाहिक में काम किया था. पंकजजी के अनुसार इरफान शर्मीले स्वभाव के थे और यही उनके अभिनय में मील का पत्थर साबित हुई.

* मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का भी यह कहना था कि उनके फेवरेट कलाकारों में से एक थे इरफान खान.
* गायिका लता मंगेशकरजी ने भी इरफान के जाने का दुख प्रकट किया.
* अनुपम खेर इरफान के बारे में कहते हुए एक वीडियो शेयर करते हुए बेहद भावुक हो गए थे. उनकी आंखें भर आई थीं, क्योंकि ड्रामा के दिनों में इरफान उनके जूनियर हुआ करते थे. उनसे जुड़ी कई यादें थीं.
* फिल्म इंडस्ट्री के अधिकतर लोगों ने इस बात को ख़ास कहा कि इरफान की जगह कोई नहीं भर सकता.
* कुमार विश्वास ने बहुत संजीदा होते हुए अपने मित्र को भावभीनी श्रद्धांजलि दी.
रहने को सदा दहर में आता नहीं कोई
तुम जैसे गए ऐसे भी नहीं जाता कोई
इक बार तो ख़ुद मौत भी घबरा गई होगी
यूं मौत को सीने से लगाता नहीं कोई…
सच, लोग तो जाते हैं, पर कोई इस कदर तो नहीं जाता… इरफान का यूं जाना हर किसी को ग़मगीन कर गया. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें. ॐ शांति!
– ऊषा गुप्ता

Irrfan Khan
View this post on Instagram

#RIPIrrfanKhan sir..

A post shared by Ayushmann Khurrana (@ayushmannk) on

View this post on Instagram

💔 #irrfankhan

A post shared by Deepika Padukone (@deepikapadukone) on

View this post on Instagram

RIP SIR🙏

A post shared by Malaika Arora (@malaikaaroraofficial) on

बॉलीवुड से बहुत ही चौकानेवाली व दुखद खबर आयी है. अभिनेता इरफ़ान खान(Irrfan Khan) अब हमारे बीच नहीं रहे. किसी को इस खबर पर भरोसा नहीं हो रहा है, पर सच यही है कि इरफ़ान अब हमारे बीच नहीं रहे. अभी-अभी यह दुखद खबर मीडिया में आयी है. आपको बता दें कि कल शाम को ही इरफ़ान खान को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी, जिसके बाद उन्हें मुम्बई के कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इतनी कम उम्र में वो हमें छोड़कर चले जाएंगे, किसी को भरोसा ही नहीं हो रहा. उनकी उम्र 54 साल थी. इरफ़ान के निधन की ख़बर डायरेक्टर शुजीत सरकार ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से दी.

Irrfan Khan

बॉलवुड में अपनी एक अलग पहचान के लिए जाने जानेवाले इरफ़ान की मौत से पूरा देश इस समय शोक में हैं. आपको बता दें कि 2018 से ही इरफ़ान कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे थे. इसके बाद इरफ़ान विदेश में इसका इलाज करा रहे थे, जिसके बाद उन्होंने खुद सोशल मीडिया के ज़रिये सभी को इन्फॉर्म किया था कि वो ठीक हैं. लंबे समय के बाद वो भारत वापस लौटे और उन्होंने अपनी फिल्म अंग्रेज़ी मीडियम पूरी की.

Irrfan Khan dies

इरफ़ान खान की अदाकारी के लाखों दीवाने थे. उनकी अपनी एक अलग पहचान थी. कुछ अलग तरह के रोल के लिए जाने जानेवाले इरफ़ान खान का इस तरह असमय जाना सभी के लिए बेहद दुखद है. आपको बता दें कि उनके परिवार में उनकी पत्नी और दो बच्चे हैं.

फिल्म अंग्रेज़ी मीडियम की शूटिंग के दौरान इरफ़ान ख़ान ने दिल छू लेनेवाला ये संदेश दिया था, तब शायद किसी ने सोचा भी न होगा कि वो अब कुछ दिन के मेहमान हैं. इरफ़ान का ये संदेश सुनकर आज हर किसी की आंखों में आंसू हैं. ‘वेट फॉर मी’ कहकर उन्होंने ख़ुद सबको अलविदा कह दिया.

2018 में भी कैंसर से लड़ते वक़्त इरफ़ान खान ने नोट लिखा था- ‘मैं हार गया.’ इसके बाद उन्होंने कई बार यह बात कही थी, पर कोई नहीं जानता था कि सिल्वर स्क्रीन पर दर्शकों का दिल जीतनेवाले इरफ़ान इस तरह हम सभी को छोड़कर चले जायेंगे. मेरी सहेली की ओर से इरफ़ान को भावभीनी श्रद्धांजलि.

– अनीता सिंह

पिता और बेटी की प्यारभरी ज़बर्दस्त बॉन्डिंग देखने मिलती है अंग्रेज़ी मीडियम फिल्म के ‘एक ज़िंदगी…’ गाने में. इरफान ख़ान ने इस गाने को आज सोशल मीडिया पर शेयर किया. साथ ही इस ज़िंदगी की सौ ख़्वाहिशें पूरी करने चले पापा और बिटिया… उनके गहरे अल्फ़ाज़ पूरी फिल्म की दास्तां बयां कर देते हैं. इरफान और राधिका मदान की सादगीभरी अदाकारी लुभाती है.

Angrezi Medium Film's Song

गाने में एक टीनएज लड़की के पढ़ने के सपने और आगे बढ़ने की ख़्वाहिश, बेटी का क्लासमेट के साथ पढ़ना करना, पिता की जासूसी, खट्टे-मीठे संवाद, चुटीले अंदाज़, इमोशंस, रोना… गाने में पूरी फिल्म का निचोड़ दिखाई देता है. कुछ दृश्य हंसाती है, तो कुछ आंखें नम कर देती हैं. ख़ासकर एक आम भारतीय पिता की तरह इरफान ख़ान का अपनी बेटी को लेकर चिंतित रहना, उसके लड़के फ्रेंड को लेकर संशकित रहना, दोनों पर नज़र रखना… मुस्कुराने के कई पल जुटाते हैं. सचिन-जिगर द्वारा संगीतमय इस गीत में आवाज़ का जादू तनिष्का संघवी ने बिखेरा है. गीत के बोल जिगर सरिया ने लिखे है, जो बेहद प्रभावशाली हैं.

वैसे फादर-डॉटर पर एक से बढ़कर एक इमोशनल कर देनेवाली फिल्में बनी हैं, जिनमें से अमिताभ बच्चन और दीपिका पादुकोण अभिनीत पीकू को दर्शकों ने बेहद पसंद किया था. इसमें भी इरफान ख़ान थे और उनका क़िरदार भी मज़ेदार था. इसी तरह हाल ही में आई जवानी जानेमन फिल्म में भी सैफ अली ख़ान और आलिया एफ जिनकी यह पहली फिल्म थी, में भी पिता-पुत्री के मॉडर्न कल्चर को कॉमेडी के तड़के के साथ देखा गया.

अंग्रेज़ी मीडियम फिल्म हिंदी मीडियम का सीक्वल है. उस फिल्म में जहां हिंदी से लड़ाई थी, तो इसमें अंग्रेज़ी से जंग लड़ी गई है. बेटी के आगे पढ़ने के लिए विदेश जाने की इच्छा को एक पिता किस तरह पूरी करता है देखना जहां मज़ेदार है, वहीं पिता-बेटी का प्यार और संवेदनशील संवाद भी दिल में खलबली मचा देते हैं.

फिल्म की रिलीज़ डेट बदल गई है. अब यह फिल्म 13 मार्च को प्रदर्शित होनेवाली है. बकौल इरफान ख़ान के इस बार फादर्स डे जल्दी आ रहा है यानी जून की बजाय 13 मार्च को. ऐसे में पिता-बिटिया के लिए इससे बेहतर तोहफ़ा भला क्या हो सकता है. आप भी एक ज़िदगी… गाने का लुत्फ़ उठाएं और पिता की कोशिशें, बेटी की ख़्वाहिशों से ख़ुद को कनेक्ट करें.

 

 

Angrezi Medium Film's SongAngrezi Medium Film's Song

यह भी पढ़ेकपिल देव की रियल लव स्टोरीः ऐसे प्रोपोज़ किया था कपिल ने रोमी को (Kapil Dev’s Real Love Story)

 

लंदन में कैंसर का इलाज करा रहे इरफान खान (Irrfan Khan) आज अपना 52 वां जन्मदिन (Birthday) मना रहे हैं. वे हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में कुछ चुनिंदा एक्टर्स ऐसे हैं जिन्होंने बॉलीवुड के साथ-साथ हॉलीवुड की फिल्मों में भी काम किया है. इस एक्टर ने थिएटर से टीवी और टीवी से फिल्मों तक का बड़ा लंबा सफर तय किया है.. आइए जानते हैं इरफान खान के जीवन और उनकी फिल्मी सफर से जुड़ी कुछ खास बातें.

Irrfan Khan

1. इरफान खान का जन्म 7 जनवरी 1967 को जयपुर (राजस्थान) में हुआ था. उनके पिता टायर का बिजनेस किया करते थे.

इरफान के बचपन की तस्वीर

Irrfan Khan's Childhood Pic

2. जन्म के वक्त इरफान का नाम साहबजादे इरफान अली खान था.

3. इरफान उन दिनों एमए की पढ़ाई कर रहे थे जब उन्हें दिल्ली के ‘नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (NSD)’ में पढ़ाई के लिए स्कॉलरशिप मिली और इरफान ने NSD से 1984 में एक्टिंग की शिक्षा ली.

4. एक्टिंग की पढ़ाई के बाद इरफान खान ने दिल्ली से मुंबई का रुख किया और वहां जाकर ‘चाणक्य’, ‘भारत एक खोज’, ‘सारा जहां हमारा’, ‘बनेगी अपनी बात’, ‘चंद्रकांता’ और ‘श्रीकांत’ जैसे सीरियल में काम किया.

इरफान खान महेश भट्ट के साथ

Irrfan Khan

5. थिएटर और टीवी के धारावाहिकों में जमकर काम करते हुए इरफान को फिल्ममेकर मीरा नायर ने अपनी फिल्म ‘सलाम बॉम्बे’ में एक कैमियो रोल दिया लेकिन जब फिल्म रिलीज हुई तो उनका हिस्सा काट दिया गया था.

इरफान का परिवार

Irrfan Khan's Family

6. साल 1990 में इरफान ने क्रिटिक्स के द्वारा सराही गई फिल्म ‘एक डॉक्टर की मौत’ में काम किया. उसके बाद इरफान ने ‘द वॉरियर’ और ‘मकबूल’ जैसी फिल्मों में भी अहम किरदार निभाए.

7. इरफान ने पहली बार 2005 की फिल्म ‘रोग’ में लीड रोल किया. उसके बाद फिल्म ‘हासिल’ के लिए इरफान खान को उस साल का ‘बेस्ट विलेन’ का फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला.
इरफान अपने छोटे बेटे और पत्नी के साथ
Irrfan Khan

 

8. इरफान खान ने ‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ फिल्म में भी पुलिस इंस्पेक्टर का अहम किरदार निभाया. इस फिल्म को कई पुरस्कारों से नवाजा गया. उसके बाद इरफान ने ‘लंचबॉक्स’, ‘गुंडे’, ‘हैदर’ ‘पीकू’ और जुरासिक वर्ल्ड’ में भी काम किया.

9. इरफान खान को फिल्म ‘पान सिंह तोमर’ के लिए नेशनल अवॉर्ड से सम्मानित किया गया उर साथ ही उन्हें भारत सरकार की तरफ से पद्मश्री अवॉर्ड भी दिया गया है.

10. इरफान ने 23 फरवरी 1995 को एनएसडी ग्रेजुएट ‘सुतपा सिकंदर’ से विवाह रचाया. उन्हें दो बेटे बाबिल और अयान हैं.

उनके जन्मदिन के अवसर पर हम यही कामना करते हैं कि वे जल्द ही पहले की तरह स्वस्थ होकर फिर से शानदार अभिनय करके अपने प्रशंसकों का दिल जीतें.  तमाम फैंस उनके लिए लगातार दुआएं कर रहे हैं और हर कोई कह रहा है कमबैक इरफ़ान! 

ये भी पढ़ेंः HBD बिपाशा बासुः एक्ट्रेस ने अपने पति के साथ इस तरह मनाया अपना स्पेशल डे, देखें वीडियो (Bipasha Basu Birthday Celebration

 

 

लंदन में “न्यूरोएंडोक्राइन कैंसर” (Neuroendocrine Cancer)  का इलाज करा रहे इरफान ख़ान (Irrfan Khan) के फैंस के लिए खुशखबरी है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इरफान का ट्रीटमेंट पूरा होनेवाला है और जल्द ही वे देश लौटने वाले हैं.एक वेबसाइट में छपी ख़बर के अनुसार, ”इरफान ख़ान मुंबई वापस आने वाले हैं. आने वाले 1-2 दिनों में वे मेडिकल ट्रीटमेंट पूरी करके  मुंबई लौटेंगे.”

Irrfan Khan

इसके अलावा फैंस के लिए एक और सरप्राइज है. सूत्रों के मुताबिक, इरफान देश लौटकर हिंदी मीडियम- 2 की शूटिंग शुरू करेंगे. दिसंबर के पहले हफ्ते में मूवी की शूटिंग शुरू होनी है. ये सब तब हुआ जब हिंदी मीडियम के मेकर्स लंदन में इरफान से मिलने गए. उन्होंने एेक्टर को मूवी की स्क्रिप्ट सुनाई. जिसके बाद इरफान ने इसके सीक्वल में काम करने की हामी भरी.
आपको याद दिला दें कि इरफान ने कुछ महीनों पहले ट्वीट कर अपनी बीमारी का खुलासा किया था. उन्होंने लिखा था कि, ”जिंदगी में अचानक कुछ ऐसा हो जाता है जो आपको आगे लेकर जाती है. मेरी जिंदगी के पिछले कुछ दिन ऐसे ही रहे हैं. मुझे न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर नामक बीमारी हुई है. लेकिन मेरे आसपास मौजूद लोगों के प्यार और ताकत ने मुझमें उम्मीद जगाई है. मुझे नहीं पता था कि दुर्लभ कहानियों को तलाश करते-करते मेरा सामना एक दुर्लभ बीमारी से हो जाएगा.”

ये भी पढ़ेंः  #Metoo: आलोकनाथ और साजिद ख़ान के खिलाफ़ नॉन कॉपरेशन नोटिस जारी करेगी FWICE (#Metoo: FWICE To Issue Non-Cooperation Notice Against Alok Nath And Sajid Khan)

 

 

अभिनेता इरफान खान (Irrfan Khan) लंदन में न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर का इलाज करा रहै हैं. इसी बीच आज उनकी फिल्म कारवां बॉक्स ऑफिस पर रिलीज़ हो गई है. भागदौड़ भरी ज़िंदगी के बीच सुकून के कुछ पलों को तलाशती दिलचस्प यात्रा की कहानी है फिल्म कारवां. इस फिल्म में हंसी-ठहाकों के बीच ड्रामा और डार्क ह्यूमर भी देखने को मिलता है. चलिए हम आपको ले चलते हैं फिल्म के तीन मुख्य कलाकारों की त्रासदी भरी ज़िंदगी को फिर से पटरी पर लाने की इस दिलचस्प यात्रा पर.

Karwaan Movie

मूवी- कारवां
डायरेक्टर- आकर्ष खुराना
स्टार कास्ट- इरफान खान, दुलकर सलमान, मिथिला पालकर, कृति खरबंदा.
अवधि- 2 घंटा
रेटिंग- 3.5/5
Karwaan Movie

कहानी- फिल्म का एक किरदार अविनाश (दुलकर सलमान) बेचैनी से भरा एक ऐसा इंसान है जो अपनी असफलताओं के लिए अपने पिता को ही ज़िम्मेदार ठहराता है. अविनाश का अपने पिता के साथ बहुत ही अजीब सा रिश्ता है. पिता और बेटे के इस जटिल रिश्ते के बीच फिल्म की कहानी की शुरुआत अविनाश को आए एक फोन कॉल से शुरू होती है. जब फोन पर उसे पिता के मौत की जानकारी मिलती है. पिता की मौत के बाद अविनाश और उसका दोस्त शौकत (इरफान खान) बेंग्लुरु से कोच्चि आ जाते हैं और इस यात्रा के दौरान उन्हें अपनी ज़िंदगी के बारे में सोचने का समय मिलता है. दोनों के इस कारवां में तान्या (मिथिला पालकर) की एंट्री होती है. इन तीनों की इस यात्रा में कई ट्विस्ट और टर्न्स आते हैं, जिसे जानने के लिए आपको सिनेमा घरों की ओर रुख करना होगा.

डायरेक्शन- बिजॉय नाम्बियार ने कारवां की कहानी को लिखा है. फिल्म के डायलॉग्स और डायरेक्टर आकर्ष खुराना का स्क्रीनप्ले काफ़ी दमदार है. इस फिल्म के ट्रेलर में जितने जोक्स देखने को मिले हैं, उनसे कहीं ज़्यादा जोक्स पूरी फिल्म में देखने को मिलेंगे. फिल्म को साउथ इंडिया के ख़ूबसूरत लोकेशन्स पर शूट किया गया है. फिल्म में इरफान खान की मौजूदगी इसे और भी एंटरटेनिंग बनाती है. हालांकि फिल्म के गाने कुछ ख़ास कमाल नहीं दिखा पाए हैं.

एक्टिंग- इस फिल्म के ज़रिए हिंदी फिल्मों में कदम रखने वाले दुलकर सलमान ने जबरदस्त एक्टिंग की है. वहीं यूट्यूब सेंसेशन मिथिला पालकर ने भी फिल्म में अच्छा काम किया है. दोनों की केमेस्ट्री कमाल की है. हालांकि इरफान खान की मौजूदगी इस फिल्म को और भी बेहतर बनाती है. इरफान खान जब-जब स्क्रीन पर आते हैं उन्हें देखकर दर्शकों के चेहरे पर मुस्कान ज़रूर आ जाती है. फिल्म में उन्होंने अपने किरदार को बखूबी निभाया है.

बहरहाल, अगर आप भी अपनी भागदौड़ भरी ज़िंदगी से कुछ सुकून भरे पल चुराकर ख़ुश होने का बहाना तलाश रहे हैं तो इस वीकेंड फिल्म कारवां ज़रूर देखें.

यह भी पढ़ें: Fanney Khan Movie Review: सितारों से सजी कॉमेडी और म्यूज़िकल ड्रामा फिल्म है ‘फन्ने खां’ (Fanney Khan Movie Review)

 

 

 

एक्‍टर इरफान खान (Irrfan Khan)  ने दो दिन पहले अपने ट्विटर अकाउंट से एक पोस्ट करके दुनिया को बताया कि वे एक ‘दुर्लभ बीमारी’ से जूझ रहे हैं, लेकिन अब सामने आया है कि वे ब्रेन कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से पीड़ित हैं. खबरों की मानें तो इरफान खान ब्रेन ट्यूमर की चौथी स्टेज पर हैं जिसे ‘डेथ ऑन डायग्नोसिस’ भी कहा जाता है. इसके अलावा खबर यह भी है कि जल्द ही उनका ऑपरेशन भी किया जा सकता है.

Actor Irrfan Khan, brain cancer

हालांकि उन्‍होंने ट्विटर पर जारी किए गए अपने बयान में साफ कर दिया था कि उनकी बीमारी की अभी पूरी जांच नहीं हुई है. जैसे ही उन्हें इसका पता चलेगा वे 10 दिन में सबके सामने अपनी बीमारी का खुलासा करेंगे, बावजूद इसके मीडिया में आ रही खबरों में ऐसा कहा गया है कि उन्हें ब्रेन कैंसर हुआ है और वो मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती हैं.

Actor Irrfan Khan, brain cancer

बता दें कि इरफान खान ने अपने पोस्ट में लिखा था कि ‘मुझे क्या हुआ है इस बारे में मुझे भी कोई जानकारी नहीं है, जो मेरी रिसर्च है उससे ये लग रहा है कि मुझे कोई गंभीर बीमारी हो गई है. मैंने कभी हार नहीं मानी है और न ही मानूंगा. मेरा परिवार और दोस्त मेरे साथ हैं. हम सब इस बीमारी से निकलने का रास्ता तलाश रहे हैं इस दौरान आप इसको लेकर कोई कयास न लगाएं. 10 दिन में जब जांच की रिपोर्ट आ जाएगी तो मैं खुद ही आपको इसके बारे में बताउंगा.

बहरहाल इरफान खान की इस बीमारी की जानकारी मिलते ही बॉलीवुड के कई सितारे जल्द ही उनके ठीक होने की दुआ कर रहे हैं. बता दें कि अपनी इस बीमारी के चलते इरफान खान ने निर्देशक विशाल भारद्वाज की फिल्म की शूटिंग को कुछ दिनों के लिए टाल दिया है.

Actor Irrfan Khan, brain cancer

यह भी पढ़ें: रवीना टंडन के खिलाफ FIR दर्ज, लगा यह आरोप !

इरफान खान ने आखिरकार इंस्टाग्राम पर एंट्री कर ली है. उन्होंने अपनी पुरानी पिक्चर्स शेयर की हैं, जिसमें वह बॉलीवुड के कुछ लोकप्रिय दृश्यों की कॉपी करते दिखाई दे रहे हैं.

irrfan-khan-660-102813104002-1496051368 (1)

एक तस्वीर में इरफान और उनका दोस्त शोले फिल्म के एक दृश्य की नकल करते नजर आ रहे हैं. इस तस्वीर में इरफान और उनके दोस्त का अंदाज कुछ ऐसा है जैसे शोले में धर्मेद्र, अमिताभ बच्चन के कंधों पर बैठ कर सीटी और माउथआर्गन बजा रहे हैं, साथ ही लिखा, “शोले के पोस्टर से प्रभावित हमारी यह तस्वीर. फिल्मी प्रभाव.”

दूसरी तस्वीर में इरफान सुपरस्टार राजेश खन्ना के आइकॉनिक कपड़े में घोड़े की सवारी करते नजर आ रहे हैं.

देखें कुछ और तस्वीरें.

https://www.instagram.com/p/BUrXQUHDSfj/?taken-by=irrfan

 

 

इरफान खान का पूरा ध्यान इन दिनों केवल अपनी फिल्म मदारी पर लगा हुआ है और हो भी क्यों न इरफान इस फिल्म के प्रोड्यूसर जो हैं. तभी तो वो इस फिल्म को प्रमोट करने का कोई मौक़ा नहीं छोड़ रहे हैं. हाल ही में इरफान फिल्म के निर्देशक निशिकांत कामत के साथ पहुंचे विल्सन कॉलेज और स्टूडेंट्स के साथ की बातचीत. देखें वीडियो.

 

 

 

सोचिए क्या हो जब मदारी पहुंच जाए किसी शो पर? यक़ीनन आप हैरान हो जाएंगे, लेकिन वाक़ई में मदारी पहुंचे कपिल शर्मा के शो पर. यहां मदारी से हमारा मतलब मदारी फिल्म की स्टारकास्ट से है. इरफान खान और जिम्मी शेरगिल फिल्म का प्रमोशन करने और हंसी के ठहाके लगाने पहुंचे कपिल के शो पर.3अब जब सितारे इस मंच पर होंगे तो मस्ती, तो होगी ही, तो इरफान हाथों में डमरू पकड़ कर जमकर नाचे शो पर.1शो की ननद-भाभी यानी कीकू और सुनील ग्रोवर ने भी इरफान और जिम्मी के साथ मिलकर की कॉमेडी.2वैसे इन तस्वीरों को देखकर अंदाज़ा लगया जा सकता है कि सेट पर सबने ख़ूब एंजॉय किया है.

 

यक़ीनन ये गाना आपको बचपन में ले जाएगा. मोगली, बघीरा, शेर ख़ान को भला कैसे भूला जा सकता है. एक बार फिर यादें ताज़ा होंगी इन सबकी हॉलीवुड फिल्म दी जंगल बुक के ज़रिए. गुलज़ार साहब का लिखा ये गीत 90 के दशक में ख़ासा पसंद किया गया था और अब दी जंगल बुक के हिंदी वर्जन के लिए इस गाने को दोबारा रिकॉर्ड किया गया है. इस गाने के संगीतकार हैं विशाल भारद्वाज. आप भी देखिए ये वीडियो और खो जाइए बचपन की यादों में.