Jine ki kala

नम्रता से आप क्या हासिल कर सकते हैं, इसका बेहतरीन उदाहरण हैं सचिन तेंदुलकर, मदर टेरेसा, अमिताभ बच्चन जैसी हस्तियां, जिनके नम्र स्वभाव ने लाखों दिलों में अपनी ख़ास जगह बनाई है. आप कितने भी ज्ञानी, कितने भी क़ाबिल क्यों न हों, यदि आप में नम्रता नहीं है, तो आप लोगों का दिल जीतने में कभी क़ामयाब नहीं हो सकते. अतः सफलता के शिखर पर पहुंचकर भी नम्र बने रहें, तभी आप सही मायने में क़ामयाब कहलाएंगे.

नम्रता मान देती है, योग्यता स्थान देती है.
                                          – अज्ञात

नम्रता और मीठे वचन ही मनुष्य के आभूषण होते हैं.
                                                – तिरुवल्लुवर

नम्रता सारे गुणों का दृढ़ स्तंभ है.
                         – कन्फ्यूशस

विनम्रता एक आध्यात्मिक शक्ति है.
                      – रवींद्रनाथ ठाकुर

प्रार्थना नम्रता की पुकार है.
              – महात्मा गांधी

महान पुरुष की पहली पहचान उसकी नम्रता है.
                                              – अज्ञात

नम्रता की ऊंचाई का नाप नहीं.
                     – विनोबा भावे

विनम्रता शरीर की अंतरात्मा है.
      – एडीसन

कठोरता से अधिक शक्तिशाली नम्रता है.
                                       – अज्ञात

विनम्रता एक गुण है और यह गुण अतिथियों में स्वाभाविक रूप से होता है.
                                                                            – मैक्स बीरबोह्म

Life Goal

निर्धारित लक्ष्य के बिना आप जीवन के किसी भी क्षेत्र में सफल नहीं हो सकते. यदि आपको अपनी मंज़िल का ही पता नहीं होगा, तो भला रास्ता कैसे तय करेंगे? स्पष्ट लक्ष्य के अभाव में आप अनजान रास्तों पर यूं ही भटकते रहेंगे. अतः क़ामयाबी पाने के लिए पहले लक्ष्य निर्धारित कीजिए, फिर पूरी ईमानदारी और मेहनत से उसे हासिल करने में जुट जाइए.

जीवन की त्रासदी ये नहीं है कि आप अपने लक्ष्य तक
नहीं पहुंच पाए, त्रासदी तो पहुंचने के लिए लक्ष्य ही न होने में है.
                                                       – बेंजामिन मेस

आप कभी भी लक्ष्य निर्धारित करने या नया
सपना देखने के लिए बहुत बूढ़े नहीं होते.
                                  – सी.एस. लुईस

कठिनाइयों में भी अपने लक्ष्य का पीछा करते
रहें और विपत्तियों को अवसरों में बदल दें.
                                 – धीरूभाई अंबानी

लक्ष्य के बारे में सबसे महत्वपूर्ण चीज़ है उसका होना.
                                              – जेफ्री एफ ऐबर्ट

स्पष्ट और लिखित लक्ष्य जिनके होते हैं, वे कम समय में ही इतनी
सफलता प्राप्त करते हैं जितनी बिना ऐसे लक्ष्यों वाले सोच भी नहीं सकते.
                                                                        – ब्रायन ट्रेसी

लक्ष्य न होने के साथ समस्या ये है कि आप अपना समस्त जीवन मैदान में
ऊपर-नीचे दौड़ते रहने के बाद भी कोई जीत हासिल नहीं कर पाते.
                                                                        – बिल कोपलेंड

जब कोई व्यक्ति अपने लक्ष्य को इतनी गहराई से चाहे कि वह उसके
लिए अपना सब कुछ दांव पर लगाने के लिए तैयार हो, तो उसका जीतना सुनिश्चित है.
                                                                                                   – नेपोलियन हिल

मुट्ठीभर संकल्पवान लोग जिनकी अपने लक्ष्य में दृढ़ आस्था है,
इतिहास की धारा को बदल सकते हैं.
                                                                                                           – महात्मा गांधी

अपने मिशन में क़ामयाब होने के लिए आपको अपने लक्ष्य के प्रति निष्ठावान
होना पड़ेगा.
                                                                                – अज्ञात

कोई लक्ष्य मनुष्य के साहस से बड़ा नहीं, हारा वही जो लड़ा नहीं.
                                                                              – अज्ञात

अधिक जीने की कला के लिए यहां क्लिक करें: JEENE KI KALA

 

ख़ुशी एक एहसास है, जो होंठों पर मुस्कान और दिल में उमंग भर देती है. ख़ुश होने पर हमें हर चीज़ ख़ूबसूरत व प्यारी लगने लगती है. जब ख़ुशी इतनी अनमोल है, तो भला इससे महरूम क्यों रहें!

मौक़ा तलाशें
ख़ुशी कोई चीज़ नहीं, जिसे ढूंढ़ा या ख़रीदा जाए. ये तो एक एहसास है, जिसे स़िर्फ महसूस किया जा सकता है. यदि आप ख़ुश रहना चाहते हैं, तो हर पल का आनंद लीजिए. ये मत सोचिए कि ये अच्छा है या बुरा. अपने लिए ख़ुशी तलाशने की बजाय दूसरों की ख़ुशियों में शामिल हो जाइए. फिर देखिए, ज़िंदगी कितनी हसीन लगने लगेगी. हर पल ख़ुशी के मौ़के तलाशिए, आपकी ज़िंदगी ख़ुशनुमा हो जाएगी.

खुलकर जीएं
हमें ज़िंदगी जीने के लिए मिली है, काटने के लिए नहीं. इसे खुलकर जीने के लिए छोटी-छोटी बातों व क़ामयाबियों को अहमियत देना व उनका जश्‍न मनाना सीखिए. ख़ुश रहने का एक और तरीक़ा है- अपना पसंदीदा काम करना. किसी और की देखादेखी में या किसी का दिल रखने के लिए वो काम कभी न करें जो आपको पसंद न हो. ऐसा करके न तो आप काम के साथ न्याय कर पाते हैं और न ही ख़ुद के साथ.

यह भी पढ़ें: … क्योंकि गुज़रा हुआ व़क्त लौटकर नहीं आता


ख़ुशी का सेहत से रिश्ता

ख़ुश रहने के लिए चुस्त-दुरुस्त रहना भी ज़रूरी है. बीमारियां हमें चिड़चिड़ा बना देती हैं इसलिए अच्छी सेहत के लिए सही खानपान के साथ ही अपनी जीवनशैली में भी बदलाव लाना ज़रूरी है. सही समय पर सोने से लेकर खाने तक हर चीज़ का ध्यान रखकर आप स्वस्थ व ख़ुश रह सकते हैं.

चिंता से दूर रहें
ये काम नहीं हुआ तो मैं क्या करूंगी? मैं समय पर नहीं पहुंची तो क्या होगा? ऐसी बेकार की बातें सोचकर तनावग्रस्त होने की ज़रूरत नहीं. जो चीज़ आपके वश में है उसे दुरुस्त कर लें और जो नहीं है उसके बारे में सोचकर परेशान होने की ज़रूरत नहीं. कल जो होगा देखा जाएगा, ऐसा सोचकर आप ख़ुद को बेकार की चिंताओं से मुक्त कर सकते हैं.

सफलता ख़ुशी की चाबी नहीं है. ख़ुशी सफलता की चाबी है. आप जो कर रहे हैं अगर उससे प्यार करते हैं, तो आप सफल ज़रूर होंगे.
– हरमन केन

जब आसपास कोई न हो और आप मुस्कुराएं, तो आप वाक़ई में ख़ुश हैं.
– एंडी रूनी

ख़ुद को ख़ुश करने का बेहतरीन तरीक़ा है किसी और को ख़ुश करने की कोशिश करना.
– मार्क ट्वैन

अधिक जीने की कला के लिए यहां क्लिक करें: JEENE KI KALA