Jodhpur court

लगभग दो दशक बाद अभिनेता सलमान खान (Salman Khan) को काला हिरण शिकार मामले में दोषी करार देते हुए जोधपुर की अदालत ने 5 साल की सज़ा सुनाई है. हालांकि सज़ा का ऐलान होते ही उनकी दोनों बहनें अर्पिता और अलविरा की आंखों से आंसू छलक पड़े. सज़ा सुनाए जाने के बाद सलमान को जोधपुर सेंट्रल जेल भेजा जाएगा. जहां उन्हें आम कैदियों की तरह ही जेल के सभी नियमों का सख़्ती से पालन करना पड़ेगा.

Salman Khan, follow these rules of jail

ऐसा होगा जेल में सलमान का रूटीन
  • घर की तरह जेल में सलमान को सोने की आज़ादी नहीं मिलेगी, जेल के नियमों के मुताबिक आम कैदियों की तरह सलमान को सुबह 5.30 उठना होगा.
  • उठने के बाद सुबह 7 बजे तक नहाकर तैयार होना होगा. नहाने के बाद सुबह 7 से 8 बजे तक नाश्ता कर लेना होगा. नाश्ते में आम कैदियों की तरह उन्हें भी 2 ब्रेड, सब्ज़ी और चाय दी जाएगी.
  • नाश्ता करने के तुरंत बाद सुबह 8 से 11.30 बजे तक जेल की ओर से तय किए गए काम को करना पड़ेगा.
  • 11.30 से 12.00 तक लंच करने के लिए समय दिया जाएगा. जेल में कैदियों को लंच में सब्ज़ी, रोटी, दाल, चावल दिया जाता है. लंच के बाद 12 बजे से शाम 5 बजे तक जेल की ओर से तय किया गया काम करना होगा.
  • हर रोज़ लाखों रुपए कमाने वाले सलमान को जेल में मेहनताने के रूप में हर रोज़ 40 रुपए से लेकर 55.50 रुपए दिए जा सकते हैं.
  • सूरज ढ़लने से पहले यानी शाम 5.30 बज़े तक आम कैदियों की तरह सलमान को भी बैरक में वापस लौटना पड़ेगा. बैरक में लौटने के बाद शाम 6 बजे तक डिनर करना होगा.
  • जेल के नियमों के अनुसार बैरक में लौटने के बाद शाम 6 बजे कैदियों को डिनर दिया जाता है. डिनर में सब्ज़ी-रोटी मिलती है.
  • डिनर के बाद कुछ देर तक कॉमन हॉल में टीवी देखने या बुक पढ़ने की छूट कैदियों को दी जाती है. फिर 8 बजे तक कैदियों को अपने बैरक में वापस जाकर सोना पड़ता है.
  • बता दें कि घर के केवल 5 सदस्य ही एक कैदी से एक महीने में मिल सकते हैं और उन्हें मिलने के लिए सिर्फ़ 20 मिनट का समय ही दिया जाता है.

बहरहाल, सलमान को जेल में आम कैदियों की तरह ही जेल के इन नियमों का पालन सख़्ती से करना पड़ेगा और जेल के नियमों के मुताबिक ही उनका डेली रूटीन भी होगा.

जेल जाने से बचने का यह है रास्ता

अगर सलमान को 3 साल से कम अवधि की सज़ा मिलती तो उन्हें जेल नहीं जाना पड़ता, लेकिन उन्हें 5 साल की सज़ा मिली है और ऐसे में उन्हें जेल में सज़ा काटनी पड़ सकती है. हालांकि इस सज़ा से बचने के लिए सलमान सेशंस कोर्ट का रूख कर सकते हैं.

सज़ा की अवधि 3 साल से ज़्यादा है ऐसे में सेशंस कोर्ट से ही उन्हें ज़मानत मिल सकती है, लेकिन इस प्रक्रिया में ज़्यादा समय भी लग सकता है और जब तक उन्हें ज़मानत नहीं मिल जाती, तब तक उन्हें सलाखों के पीछे ही रहना पड़ेगा.

यह भी पढ़ें: काला हिरण शिकार मामले में सलमान खान दोषी करार, मिली 5 साल की सज़ा 

 

20 साल पुराने काला हिरण शिकार मामले में जोधपुर कोर्ट ने सलमान खान (Salman Khan) को दोषी करार देते हुए 5 साल की कैद और 10 हज़ार रुपए के जुर्माने की सज़ा सुनाई है, जिसके बाद सलमान खान को हिरासत में लेकर जोधपुर सेंट्रल जेल भेजा जा रहा है. इस मामले में सलमान के अलावा सैफ अली खान, नीलम, तब्बू और सोनाली बेंद्रे भी सह-आरोपी थे, जिन्हें कोर्ट ने बरी कर दिया है.

Salman Khan Found Guilty, Blackbuck Poaching Case

बीस साल पुराना है यह मामला

बता दें कि सलमान खान और उनके साथियों पर 2 चिंकारा और 3 काले हिरणों के शिकार का आरोप लगा था. सलमान पर आर्म्स एक्ट के तहत केस भी दर्ज हुआ था. यह वाकया 1998 का है जब ये सभी सितारे राजस्थान में फिल्म ‘हम साथ-साथ हैं’ की शूटिंग कर रहे थे.

हालांकि दोषी करार दिए जाने के बाद सलमान खान को कम सज़ा मिले, इसके लिए उनके वकील ने काफ़ी कोशिश की, लेकिन वो इसमें कामयाब नहीं हो सके. हालांकि उनके वकील ने कहा था कि अगर सलमान को 3 साल से ज़्यादा की सज़ा होती है तो ज़मानत के लिए वो ऊपरी अदालत का दरवाज़ा खटखटाएंगे.

केस के बाकी आरोपी हुए बरी

सलमान खान को कोर्ट ने दोषी करार दिया है,लेकिन सलमान के अलावा सैफ अली खान, नीलम कोठारी, सोनाली बेंद्रे और तब्बू इस मामले में सह-आरोपी करार दिए गए थे. इन सभी पर सलमान को उकसाने का आरोप था. बता दें कि सुनवाई के दौरान ये सभी सह-आरोपी भी कोर्ट में पेश हुए, लेकिन कोर्ट ने इन सभी को बरी कर दिया.

सलमान पर दर्ज थे 4 केस

काला हिरण शिकार मामले में सलमान खान पर कुल 4 केस दर्ज किए गए थे. जिनमें से तीन मामले हिरणों के शिकार के थे और चौथा आर्म्स एक्ट का था. बताया जाता है कि उस दौरान सलमान के कमरे से उनकी निजी पिस्टल और राइफल बरामद की गई थी, जिनके लाइसेंस की मियाद ख़त्म हो चुकी थी.

कितने साल की सज़ा का है प्रावधान

वाइल्ड लाइफ एक्ट की धारा 149 के तहत काले हिरण का शिकार करने के मामले में दोषी पाए जानेवाले आरोपी को अधिकतम 7 साल की सज़ा देने का प्रावधान है, जो पहले 6 साल हुआ करती थी. हालांकि सलमान का केस 20 साल पुराना है, इसलिए उन्हें कोर्ट ने 5 साल की सज़ा सुनाई है.

3 साल से ज़्यादा की सज़ा पर जेल

बता दें कि सलमान को 5 साल की जेल की सज़ा सुनाई गई है इसलिए उन्हें सलाखों के पीछे जाना पड़ेगा. हालांकि इस सज़ा को सस्पेंड कराने के लिए उन्हें सेशन कोर्ट में याचिका दायर करानी पड़ेगी और जब तक सेशन कोर्ट से सज़ा सस्पेंड नहीं होती, तब तक उन्हें जेल में ही रहना पड़ेगा. अगर सलमान को 3 साल से कम की सज़ा होती तो उन्हें जेल नहीं जाना पड़ता. 

यह भी पढ़ें: कमाल ख़ान को है पेट का कैंसर, ख़ुद किया खुलासा

 

 

Salman Khan18 साल पुराने आर्म्स एक्ट मामले में जोधपुर कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए उन्हें बरी कर दिया है. जज ने डेढ़ लाइन का फैसला सुनाते हुए सलमान का नाम पूछा और कहा आप दोषमुक्त किए जाते हैं. कोर्ट में सलमान के साथ उनकी बहन अलविरा भी मौजूद थीं.

साल 1998 में जोधपुर में फिल्म हम साथ-साथ हैं की शूटिंग के दौरान सलमान पर अवैध रुप से हथियार रखने का आरोप लगा था. अगर ये फ़ैसला सलमान के हक़ में नहीं आता, तो उन्हें तीन साल तक की सज़ा हो सकती थी.

फ़ैसला आने के बाद सलमान बेहद ख़ुश थे, उन्होंने अलविरा से हाथ मिलाया और अपने फैन्स का शुक्रिया अदा किया. सलमान के बरी होते ही कोर्ट के बाहर खड़े फैंस काफ़ी ख़ुश हो गए.