kidney health

ब्लड प्योरिफाई करने से लेकर बॉडी को डिटॉक्सीफाई करने और एसिड का संतुलन बनाए रखने जैसे बॉडी के कई महत्वपूर्ण फंक्शन किडनी करती है. यानी अगर किडनी हेल्दी है, तो आपके कई बॉडी फंक्शन्स सही तरीके से होते रहेंगे और आप भी हेल्दी रहेंगे. इसलिए ज़रूरी है किडनी की एक्स्ट्रा केयर. इसके लिए सबसे पहले अपनी कुछ ऐसी डेली हैबिट्स को बदलेें, जो आपकी किडनी को नुकसान पहुंचा सकती हैं.

1. कम पानी पीनाः अगर आपको भी कम पानी पीने की आदत है, तो इसे तुरंत छोड़ दें. दिन भर में कम से चार लीटर पानी ज़रूर पीएं. किडनी के सही फंक्शन के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीना बहुत ज़रूरी है. ये शरीर से सारे टॉक्सिन्स को बाहर निकालने में किडनी की मदद करता है. कम पानी पीने से किडनी पर बहुत बुरा प्रेशर पड़ता है और शरीर के टॉक्सिन्स भी नहीं निकल पाते. इसलिए किडनी को हेल्दी रखना है, तो खूब पानी पीएं.

Good Health Habits



2. देर तक यूरिन रोकनाः कई लोगों को आदत होती है कि घर से बाहर होने पर घंटों यूरिन रोक कर रखते हैं. लेकिन यूरिन रोकना या घंटों तक पेशाब न करना किडनी को डैमेज कर सकता है. इससे किडनी पर दबाव पड़ता है. इसलिए यूरिन को देर तक रोकने की आदत फौरन बदल दें.

3. दवाओं का बहुत ज़्यादा सेवनः कुछ दवाएं किडनी को नुकसान पहुंचा सकती हैं. डॉक्टरों द्वारा प्रिस्क्राइब की गई दवाएं ज़रूरी हैं, लेकिन दवाओं की उतनी ही डोज़ लें जितनी डॉक्टर ने कहा है. बात-बात पर पेनकिलर खाने की भी आदत छोड़ दें. लंबे समय तक पेनकिलर का सेवन आपकी किडनी को ख़राब कर सकता है. इसके अलावा एस्पिरीन और कुछ एंटीबायोटिक दवाएं भी किडनी को डैमेज कर सकती हैं, इसलिए ख़ुद अपने डॉक्टर बनने की कोशिश न करें.

4. ज्यादा मीठा खानाः ज़्यादा मीठा खाना भी किडनी को नुकसान पहुंचाता है. अधिक मीठा खाने से यूरिन से प्रोटीन निकलने लगता है, जो किडनी की हेल्थ के लिए ठीक नहीं है. इसके अलावा मीठी चीज़ों से लगाव डायबिटीज़ का कारण भी बन सकता है और डायबिटीज़ की वजह से किडनी से जुड़ी बीमारियों का ख़तरा बढ़ जाता है. इसलिए मीठे से दूर ही रहें.

5. अधिक मात्रा में नमक का सेवनः नमक का अत्यधिक सेवन हाई ब्लडप्रेशर का कारण बन सकता है, जिसका सीधा असर किडनी पर पड़ता है. ब्लडप्रेशर कंट्रोल करने के साथ ही किडनी को सेहतमंद बनाए रखने के लिए दिनभर में 5 ग्राम से अधिक नमक का सेवन करने से बचें.

6. ब्लडप्रेशर को मॉनिटर न करनाः ब्लडप्रेशर को समय-समय पर मॉनिटर करना बेहद ज़रूरी है, क्योंकि हाई ब्लडप्रेशर किडनी को नुक़सान पहुंचा सकता है. इसलिए रेग्युलर बेसिस पर अपना ब्लड प्रेशर चेक कराते रहें, वरना आपका बढ़ा हुआ ब्लड प्रेशर आपकी किडनी को डैमेज कर सकता है.

7. प्रोटीन का अत्यधिक सेवनः ज़रूरत से ज़्यादा प्रोटीन का सेवन करना भी किडनी के लिए नुक़सानदेह होता है. दरअसल प्रोटीन से रिलीज़ हुए नाइट्रोजन और अमोनिया जैसे टॉक्सिन्स को शरीर से बाहर निकालना किडनी की ज़िम्मेदारी होती है. अगर आप ज़रूरत से ज़्यादा प्रोटीन का सेवन करेंगे, तो किडनी को अपना काम करने के लिए ज्यादा मेहनत करनी पड़ेगी, जिससेआपकी किडनी समय से पहले ख़राब हो सकती है.

8. पूरी नींद न लेनाः अगर आप भी औसत से कम सोते हैं, तो समझ जाइए कि आपकी किडनी डेंजर जोन में है, क्योंकि कम नींद से भी किडनी में प्रॉब्लम्स होती हैं. दरअसल नींद के दौरान ही हमारा शरीर, किडनी के टिशूज़ हील होते हैं. अगर आप भरपूर नींद नहीं लेते, तो इससे आपकी आर्टरीज़ भी ब्लॉक हो सकती हैं, जिससे आपका ब्लड प्रेशर बढ़ेगा और किडनी को नुकसान पहुंचेगा, इसलिए रोज़ाना 7-8 घंटे की नींद ज़रूर लें.

Good Health Habits



9. विटामिन्स की कमीः रिसर्च से पता चला है कि विटामिन बी 6 और विटामिन डी की कमी से किडनी डैमेज़ होने और किडनी स्टोन होने का ख़तरा बढ़ जाता है, इसलिए अपनी डायट में ताज़ी हरी सब्ज़ियों और फलों को शामिल करें.

10. कैफीन का अधिक सेवनः अध्ययन से ये भी पता चला है कि लंबे समय तक ज़्यादा मात्रा में कैफीन का सेवन किडनी फेलियर की वजह बन सकता है. दरअसल कैफीन से ब्लडप्रेशर बढ़ता है, जो किडनी पर बहुत ज़्यादा प्रेशर डालता है. इसलिए कैफीन का सेवन आज से ही कम कर दें.

11. स्मोकिंगः स्मोकिंग आपके हार्ट और फेफड़े को सबसे ज़्यादा नुकसान तो पहुंचाता ही है, ये आपकी किडनी की हेल्थ के लिए भी ख़तरे की घंटी है. ख़ासकर अगर आपको हाई ब्लडप्रेशर और डायबिटीज़ है और आप स्मोकिंग भी करते हैं, तो आपकी किडनी को ज़्यादा ख़तरा है.


12. एक्सरसाइज़ न करनाः जो लोग रोज़ाना एक्सरसाइज़ नहीं करते, उन्हें कई तरह की बीमारियां घेर लेती हैं. एक्सरसाइज़ न करनेवालों को ब्लडप्रेशर या डायबिटीज़ का ख़तरा भी ज़्यादा होता है. जिसका सीधा असर किडनी पर पड़ता है. इसलिए हेल्दी किडनी चाहते हैं, तो नियमित रूप से एक्सरसाइज़ करें.

13. अल्कोहल का सेवनः अल्कोहल का ज़्यादा सेवन भी किडनी पर दबाव बढ़ाता है. ज़रूरत से ज़्यादा शराब पीने से बॉडी डीहाइड्रेट होती है. आपकी यह आदत शरीर के सभी ऑर्गन्स की कार्यप्रणाली को बाधित करती है. इससे किडनी और लिवर पर बुरा प्रभाव पड़ता है और यह दोनों को ख़राब कर सकता है.

14. इंफेक्शन होने पर तुरंत इलाज न करानाः हां ये सच है कि अगर किसी तरह का इंफेक्शन होने पर आप उसका टाइम पर इलाज नहीं कराते, तो वो आपके किडनी पर असर कर सकता है. इसलिए अगर अगली बार आपको फ्लू भी हो, तो एंटीबायोटिक का पूरा कोर्स करके उसे पूरी तरह ट्रीट करें. स्टडीज़ से पता चला है कि अगर किसी इंफेक्शन का इलाज नहीं कराया गया, तो वो किडनी में भी स्प्रेड हो सकता है और किडनी के फंक्शन को प्रभावित कर सकता है.

Good Health Habits


15. जंक फूड भी बिगाड़ता है किडनी की सेहतः किडनी की प्रॉब्लम्स से बचना चाहते हैं, तो फौरन जंक फूड खाना बंद कर दें. जंक फूड में नमक और कार्बोहाइडेट्स बहुत ज़्यादा मात्रा में होता है, जो आपकी किडनी के लिए नुकसानदायक है.

16. कोल्ड ड्रिंक्स का ज़्यादा सेवन भी किडनी के लिए है बुराः अगर आपक अक्सर ही सोडा या कोल्ड ड्रिंक पीते हैं, तो अपनी ये आदत तुरंत बदल डालिए. रिसर्च से पता चला है कि आर्टिफिशियली स्वीटंड ड्रिंक्स से किडनी फेलियर का ख़तरा दोगुना हो जाता है.


सावधान, ये लक्षण किडनी में प्रॉब्लम्स के संकेत हो सकते हैं

Good Health Habits

– शरीर का वजन अचानक बढ़ने लगना.
– शरीर में अक्सर सूजन रहना.
– अगर आपको यूरिन कम आने लगे.
– पेशाब का रंग गाढ़ा हो जाना या रंग में बदलाव आना भी किडनी प्रॉब्लम का लक्षण हो सकता है.
– जब आपको बार-बार पेशाब होने का एहसास हो, पर पेशाब न हो.
– पेशाब की मात्रा बढ़ जाना या कम हो जाना.
– पेशाब करते वक्त दर्द या जलन महसूस होना.
– पेशाब करते वक्त रक्त का आना.
– झाग जैसा पेशाब आना.
– अत्यधिक कमजोरी और थकान महसूस होना.
– चिड़चिड़ापन और एकाग्रता में कमी.
– हर समय ठंड महसूस होना.
– त्वचा में रैशेज़ और खुजली.