Kriti Sanon

आज इंजीनियर्स डे है और हम सभी जानते ही हैं कि देश के विकास में हमारे इंजीनियर्स का कितना बड़ा हाथ होता है. क्या आप जानते हैं हमारे बॉलीवुड के कई स्टार्स भी इंजीनियर हैं, लेकिन बॉलीवुड में करियर बनाने के लिए इन स्टार्स ने इंजीनियर की डिग्री को साइडलाइन कर दिया और एक्टर बन गए. आज इंजीनियर्स डे के मौके पर बात करते हैं इंजीनियर स्टार्स की.

सुशांत सिंह राजपूत

Sushant Singh Rajput


बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत भले ही आज हम लोगों के बीच न हों, लेकिन उनकी इंटेलिजेंस का इंडस्ट्री में भी सभी लोहा मानते थे. सुशांत ने आल इंडिया इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम में सातवीं रैंक हासिल की थी. इसके बाद उन्होंने दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की, लेकिन इंजीनियरिंग करने के बाद सुशांत एक्टिंग की दुनिया में आ गए थे.

कार्तिक आर्यन

Karthik aryan


डॉक्टर फैमिली में जन्मे कार्तिक भी हमेशा पढ़ाई में अव्वल रहे हैं. अपनी एक्टिंग से सबका दिल जीत लेनेवाले कार्तिक आर्यन भी इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर चुके हैं. कार्तिक ने डीवाई पाटिल इंजीनियरिंग कॉलेज, नवी मुंबई से बायोटेक्नोलॉजी में इंजीनियरिंग की है.

विकी कौशल

vicky kaushal


फ़िल्म ‘उरी द सर्जीकल स्ट्राइक’ के लिए नेशनल अवार्ड जीतनेवाले विकी कौशल ने बचपन से ही एक्टर बनने का सपना देखा था. लेकिन विकी के पापा चाहते थे कि विकी इंजीनियर बने. विकी ने भी पापा को निराश नहीं किया और मुम्बई के राजीव गांधी इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से इलेक्ट्रॉनिक एंड टेली कम्युनिकेशन में इंजिनीरिंग की.

तापसी पन्नू

Taapsee Pannu


कई बेहतरीन फिल्मों में अपनी शानदार एक्टिंग से सबका दिल जीत लेने वाली तापसी पन्नू ने भी इंजीनियर की डिग्री हासिल की है. तापसी ने कंप्यूटर साइंस से इंजीनियरिंग की है.

सोनू सूद

Sonu Sood


बेहतर एक्टर और उससे भी बेहतरीन इंसान सोनू सूद ने जिस तरह से लॉक डाउन में लोगों की दिन रात मदद की है, उससे वो रियल लाइफ में भी सबके हीरो बन गए हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि साउथ से लेकर बॉलीवुड तक जाने अपनी पहचान बनाने वाले सोनू सूद इलेक्ट्रोनिक्स में इंजीनियरिंग कर चुके हैं. सोनू सूद पहले इलेक्ट्रिकल इंजिनियर हुआ करते थे. लेकिन एक्टर बनने का सपना उन्हें बॉलीवुड में खींच लाया.

कृति सेनन

Kriti Sanon


टाइगर श्रॉफ के साथ फिल्म ‘हीरोपंती’ से बॉलीवुड में कदम रखने वाली कृति भी इंजीनियर हुआ करती थी. कृति सेनन ने इलेक्ट्रॉनिक एंड कम्युनिकेशन में बीटेक की डिग्री की है.


रितेश देशमुख

Ritesh Deshmukh


रितेश देशमुख पॉलिटिकल फैमिली से ताल्लुक रखते है, रितेश बचपन से ही पढ़ाई में बहुत तेज़ थे. रितेश ने सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की हुई है. लेकिन रितेश का मन एक्टर बनने का था, इसलिए पॉलिटिक्स में ना जाते हुए और इंजीनियर बनने के बावजूद वो एक्टर बन गए.

आर माधवन

R. Madhavan


आर माधवन भी बचपन से ही पढ़ाई में बहुत तेज थे. अपने पढ़ाई के दम पर आर माधवन ने स्कॉलरशिप भी जीती थी. आई आई तो, मद्रास से आर माधवन ने मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की थी. लेकिन फिर इंजीनियरिंग में करियर बनाने की बजाय वो एक्टिंग फील्ड में आ गए.

कृति सैनॉन बेहतरीन कलाकार होने के साथ-साथ नेक दिल इंसान भी हैं. आज उनके जन्मदिन पर हम उनके पारिवारिक और फिल्मों से जुड़ी बातों और तस्वीरों को देखेंगे.
इंजीनियरिंग की पढ़ाई करनेवाली कृति की किस्मत ने यूं मोड़ लिया कि वे अभिनय की दुनिया में आ गईं. मनोवैज्ञानिक थ्रिलर तेलुगु फिल्म नेनोक्कडीने से कृति ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी. इसमें साउथ के सुपरस्टार महेश बाबू उनके हीरो थे. हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में हीरोपंती में उन्होंने अपना आगाज़ किया था, जहां उनके साथ टाइगर श्रॉफ थे. टाइगर श्रॉफ की यह पहली फिल्म थी.
कृति ने बहुत कम समय में अपनी उम्दा अभिनय की अदायगी और ख़ूबसूरती से लोगों के दिलों में अपनी ख़ास जगह बना ली है. हीरोपंती से लेकर दिलवाले, राब्ता, पानीपत, बरेली की बर्फी हो.. हर फिल्म में उनका अभिनय का निखरता गया और वे बेहतरीन बनती चली गईं.
कृति ने अपने फैशन सेंस, एक्टिंग और ख़ासकर मासूमियतभरी एक्सप्रेशन से लोगों को काफ़ी प्रभावित किया. उनकी हर फिल्म में वे थोड़ी अलग लगीं. फिर चाहे वो तेलुगु फिल्म से शुरुआत हो या फिर बरेली की बर्फी या पानीपत ही क्यों ना हो.
सुशांत सिंह राजपूत के साथ की राब्ता फिल्म भी कुछ ख़ास रही. इस फिल्म के ज़रिए दोनों क़रीब भी आए. उन्होंने काफ़ी ख़ूबसूरत लम्हे साथ बिताएं. और अचानक सुशांत का जाना कृति को बेहद ग़मगीन और खालीपन दे गया. तभी तो सुशांत की आख़िरी फिल्म दिल बेचारा देखने के बाद उन्होंने अपने दिल के दर्द को इमोशनल नोट के साथ बयां कर दिया था.
उन्होंने फिल्म के साथ-साथ सुशांत के अभिनय और हकीक़त की कई छोटी-छोटी बातों को, चीज़ों को बहुत ही क़रीब से समझा-जाना और उसे अपनी लेखनी में दर्ज किया. सुशांत को हर कोई प्यार करता था, पर यह और बात है कि कुछ उनके अनजाने में विरोधी बन गए थे.
कृति अपने परिवार के बहुत क़रीब हैं, ख़ासकर उनकी बहन नूपुर. उससे ख़ूब पटती है. दोनों अक्सर साथ के मस्ती भरे फोटो-वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर करते रहते हैं. बचपन की भी दोनों की काफ़ी ख़ूबसूरत यादें और पल हैं, जो दोनों ने ही अपने सोशल मीडिया पर शेयर किया है.
आज उनकी बहन ने बड़े ही मज़ेदार अंदाज़ में उन्हें जन्मदिन की बधाई दी थी. आज बर्थडे पर उनका पूरा परिवार साथ है, इस बात की सभी को ख़ुशी है. मां गीता और पिता राहुल भी इन लम्हों को संजो लेना चाहते हैं. कृति के फेवरेट हमेशा ही उनके पापा रहे हैं. फादर्स डे पर पापा के कंधों पर बैठी हुई बचपन की तस्वीर साझा करके पिता को विश किया था.
कृति ब्यूटी, फैशन, डांस, कुकिंग सभी में माहिर हैं. कोरोना महामारी के समय लॉकडाउन में उन्होंने कई स्वीट डिश और अन्य रेसिपी ट्राय की.
साथी कलाकारों में शरद केलकर जो हाउसफुल 4 में राजा सुदर्शन बने थे. उन्होंने शाही अंदाज़ में कृति को बधाई दी. उन्होंने अपना, अक्षय कुमार और कृति तीनों के साथ की फोटो शेयर की और कहा कि राजा सुदर्शन और बाला की तरफ से राजकुमारी को जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई!..
कृति को मेरी सहेली की तरफ़ से जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई!.. वे यूं ही अपने अभिनय से लोगों को प्रभावित करती रहें और कामयाबी की बुलंदियों को छुएं.
आइए, आज कृति के जन्मदिन पर उनकी बचपन की यादों को ताज़ा करते हैं. इसमें कोई दो राय नहीं कि कृति फैशन आईकाॅन भी हैं. क्यों ना हो मॉडलिंग का अनुभव जो रहा है. उनके कुछ उम्दा व आकर्षक आउटफिट लुक, जिसमें वे बोल्ड एंड ब्यूटीफुल नज़र आती हैं, को भी देखते हैं…

Kriti Sanon

आजकल बोर्ड एग्जाम के रिजल्ट का मौसम है. बच्चों के बोर्ड एग्जाम के रिजल्ट से कोई खुश है, तो कोई कम खुश है, ऐसे में हमने सोचा क्यों न आपको बॉलीवुड स्टार्स के बोर्ड एग्जाम रिजल्ट के बारे में बताते हैं. आप भी देखिए, आपके फेवरेट बॉलीवुड स्टार पढ़ाई में कितने तेज थे.

Bollywood Stars

1) कंगना रनौत
आपको जानकर हैरानी होगी कि बॉलीवुड क्वीन कंगना रनौत 12वीं में केमेस्ट्री में फेल हो गई थीं, जिसकी वजह से उन्होंने पढ़ाई का इरादा ही छोड़ दिया और बॉलीवुड में अपनी किस्मत आजमाने निकल पड़ी. आज कंगना रनौत बॉलीवुड की बेहतरीन और सफल एक्ट्रेस में से एक हैं और अपने बेबाक बयानों की वजह से हमेशा चर्चा में रहती हैं.

Kangana Ranaut

2) दीपिका पादुकोण
बॉलीवुड की मस्तानी दीपिका पादुकोण अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर पाई. दीपिका पादुकोण ने अपनी पढ़ाई के बारे में एक इंटरव्यू में बताया था कि वो अपनी 12वीं तक की पढ़ाई ही पूरी कर पाई थी, लेकिन वो कभी कॉलेज नहीं जा सकी. इसकी वजह ये है कि छोटी उम्र से ही दीपिका पादुकोण को मॉडलिंग के ऑफर आने लगे थे और वो अपने काम में बीजी हो है थीं. दीपिका को 12वीं में कितने नंबर मिले थे, इसकी जानकारी उपलब्ध नहीं है.

Deepika Padukone

3) शाहरुख खान
किंग खान की न सिर्फ एक्टिंग लाजवाब है, बल्कि वो पढ़ाई में भी बहुत अच्छे थे. शाहरुख खान दिल्ली के सेंट कोलंबस स्कूल से पढ़े हुए हैं. शाहरुख खान ने दिल्ली के हंसराज कॉलेज से इकोनॉमिक्स में ग्रैजुएशन किया है. बता दें कि बॉलीवुड के किंग शाहरुख खान को 12वीं में 80.5% नंबर मिले थे. शाहरुख खान पढ़ाई में अव्वल होने के साथ-साथ अच्छे फुटबॉल प्लेयर भी थे.

यह भी पढ़ें: बॉलीवुड स्टार जो पब्लिक प्लेस में भी एक दूसरे का सामना करने से बचते हैं, ये है असली वजह (Bollywood Stars Who Avoid Facing Each Other Even In Public Places)

Shahrukh Khan

4) आलिया भट्ट
आपको जानकर हैरानी होगी कि जिस आलिया भट्ट की इंटेलिजेंस को लेकर इतने जोक्स बनते हैं, वो पढ़ाई में बहुत अच्छी रही हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आलिया भट्ट ने 10th के बोर्ड एग्ज़ाम में 71% नंबर हासिल किए थे. आलिया भट्ट के 12वीं के मार्क्स के बारे में किसी को जानकारी नहीं है. आलिया भट्ट पढ़ाई में भी अच्छी थीं और एक्टिंग की दुनिया में भी खूब कामयाबी हासिल कर रही हैं.

Alia Bhatt

5) रणबीर कपूर
रणबीर कपूर एक बेहतरीन कलाकार हैं, लेकिन पढ़ाई के मामले में थोड़ा कच्चे हैं. रणबीर कपूर ने खुद इस बात का खुलासा किया है कि उनके परिवार का पढ़ाई-लिखाई का इतिहास बहुत अच्छा नहीं रहा है. रणबीर कपूर ने अपने एक इंटरव्यू में कहा, “मेरे पिता 8वीं कक्षा में फेल हो गए थे, मेरे चाचा 9वीं फेल हैं और मेरे दादा 6वीं क्लास तक तक ही पढ़े थे तो इस तरह से कहा जाए तो मैं अपने परिवार का सबसे ज्यादा पढ़ा- लिखा सदस्य हूं.” आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रणबीर कपूर को 10वीं के बोर्ड एग्जाम में 56% नंबर आए थे.

Ranbir Kapoor

6) अनुष्का शर्मा
अनुष्का शर्मा ने बहुत कम समय में बॉलीवुड में अपनी अलग पहचान बनाई है. आर्मी परिवार की बेटी अनुष्का शर्मा ब्यूटी विथ ब्रेन्स का बेहतरीन उदाहरण हैं. अनुष्का शर्मा एक्टिंग में ही नहीं, पढ़ाई में भी बहुत अच्छी रही हैं. अनुष्का ने 10वीं में 93% और 12वीं में 89% अंक हासिल किए हैं.

यह भी पढ़ें: अभिनेत्री रेखा की बोल्ड फिल्में, तवायफ से लेकर लेडी डॉन तक हर किरदार है बोल्ड और बिंदास (5 Bold Movies Of Rekha That Made Her A Bollywood Sensation)

Anushka Sharma

7) श्रद्धा कपूर
बॉलीवुड की बबली गर्ल श्रद्धा कपूर की खूबसूरती और एक्टिंग के लाखों दीवाने हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि श्रद्धा कपूर ने अपनी स्कूलिंग जमनाबाई नरसी स्कूल और अमेरिकन स्कूल ऑफ बॉम्बे से की है. श्रद्धा को 10वीं में 70% और 12वीं में 95 % अंक मिले थे.

Shraddha Kapoor

8) कृति सेनन
कृति सेनन देखने में जितनी खूबसूरत लगती हैं, पढ़ाई में भी उतनी ही अच्छी रही हैं. कृति सेनन हमेशा टॉपर स्टूडेंट रही हैं. कृति इंजीनियरिंग की स्टुडेंट रह चुकी हैं आपकी जानकारी के लिए बता दें किकृति सेनन ने 10वीं में 72% और 12वीं में 90% अंक हासिल किए थे.

Kriti Sanon

सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद से ही बॉलीवुड में नेपोटिज्म की चर्चा फिर शुरू हो गई है. कंगना रनौत का वीडियो, शेखर कपूर के ट्वीट और अभिनव भट्ट द्वारा किए गए सोशल मीडिया पोस्ट से लोगों के बीच बॉलीवुड में नेपोटिज्म वाले मुद्दे को फिर हवा दे दी है. बॉलीवुड में नेपोटिज्म एक्सिस्ट करता है, ये मानते तो सभी हैं. बस फर्क इतना है कोई इसे सही मानता है तो कई गलत. आइए देखते हैं नेपोटिज्म पर किस स्टार की क्या सोच है.

इमरान हाशमी
नेपोटिज्‍म ना होता तो मैं एक्टर बन ही नहीं पाता.

Emraan Hashmi

इमरान हाशमी कहते हैं कि वो नेपोटिज्‍म का ही नतीजा हैं. एक कम टैलेंटेड एक्टर को उनके अंकल महेश भट्ट ने 2003 में फुटपाथ जैसी फ़िल्म से लॉन्च कर दिया. ”यानी इंडस्ट्री में नेपोटिज्‍म न होता तो मैं एक्टर बन ही नहीं पाता, मुझे ब्रेक ही नहीं मिल पाता. अगर मेरे अंकल महेश भट्ट, जो कि प्रोड्यूसर-डायरेक्टर हैं, न होते तो मैं भी एक एक्टर के तौर पर इंडस्ट्री में न होता.”

आयुष्मान खुराना
अगर नेपोटिज्‍म न होता तो 22 साल की उम्र में ही डेब्यू कर लिया होता

ayushmann khurrana

आयुष्मान खुराना, जिन्हें बॉलीवुड में अपनी पहचान बनाने के लिए काफी स्ट्रगल करना पड़ा और टैलेंट होने के बावजूद जिन्हें खुद को साबित करने के लिए सालों लग गए, ने कहा कि अगर नेपोटिज्‍म न होता तो उन्होंने 22 साल की उम्र में ही डेब्यू कर लिया होता. ”मेरी डेब्यू फिल्म ‘विकी डोनर’ मुझे 27 साल की उम्र में मिली. अगर मैं स्टार किड होता, तो ये फ़िल्म मुझे 22 साल की उम्र में ही मिल जाती. हालांकि मेरे मामले में ये 5 साल की देरी से मुझे कोई खास फर्क नहीं पड़ा. उल्टे मुझे लगता है 27 साल की उम्र में मैं ज़्यादा मैच्योर एक्टर बन पाया.”

राजकुमार राव
नेपोटिज्‍म की वजह से मैं कई नॉन टैलेंटेड लोगों को फिल्मों में एक्टिंग करते देखता हूँ.

Raj Kumar Rao

राजकुमार राव ने हालांकि अपनी एक्टिंग और जो किरदार उन्होंने निभाये, उससे बॉलीवुड में अपनी एक अलग जगह बना ली, लेकिन उन्होंने भी माना कि इंडस्ट्री में नेपोटिज्‍म एक्सिस्ट करता है और इस वजह से उन्हें भी स्ट्रगल करना पड़ा और इस वजह से जिनके पास कोई टैलेंट नहीं है, उन्हें भी बड़ी फिल्में मिल जाती हैं.
”फेवरिटीज़म सब जगह है, हर फील्ड में है और रहेगा. चलो कोई बात नहीं. पर मुझे तब बुरा लगता है जब फेवरिटीज़म की वजह से नॉन टैलेंटेड लोगों को बड़ी फिल्मों में देखता हूँ. मैं स्क्रीन पर टैलेंटेड लोगों को देखना चाहता हूँ. मुझे इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि वो किस फैमिली का हिस्सा हैं, बस उनमें टैलेंट हो. इंडस्ट्री में रणबीर कपूर और आलिया भट्ट जैसे स्टार किड काम कर रहे हैं, लेकिन वो सही मायने में टैलेंटेड हैं.”

कंगना रनौत
स्टार किड तो शुरुआत ही वहीं से करते हैं, जहां उनके लिए सब कुछ, स्टारडम तक रेडी रहता है.

kangana ranaut

नेपोटिज्म पर अक्सर बोलने वाली कंगना ने ही दरअसल इस विषय पर बोलने की शुरुआत की थी जब करण जौहर के शो पर उन्होंने करण के मुंह पर ही कह दिया था कि बॉलीवुड में नेपोटिज्म के लीडर करण ही हैं, तब से नेपोटिज्म पर विवाद थमा ही नहीं. नेपोटिज्म पर बोलते हुए एक इंटरव्यू में कंगना ने कहा था, ”क्या इन स्टार किड्स को पता भी है कि किसी भी एक्टर को ऑडियंस और क्रिटिक्स बनाने के लिए 10 साल से ज़्यादा लग जाते हैं. स्टार किड तो शुरुआत ही वहीं से करते हैं, जहां उनके लिए सब कुछ, स्टारडम तक रेडी रहता है. इसलिए वो कभी नहीं समझ पाएंगे कि आउटसाइडर को बॉलीवुड में अपनी जगह बनाने के लिए कई बार पूरी ज़िंदगी लगा देनी पड़ती है.” सुशांत सिंह सुसाइड केस के बाद भी कंगना खुलकर नेपोटिज्म के खिलाफ बोल रही हैं.

करीना कपूर
अगर यहां रणबीर कपूर है तो यहां रणवीर सिंह भी है, जो किसी बॉलीवुड परिवार से वास्‍ता नहीं रखता.

kareena kapoor

नेपोटिज्‍म पर करीना कपूर का कहना है, ‘नेपोटिज्‍म कहाँ नहीं है? लेकिन कोई इसके बारे में बात नहीं करता. बिजनेस परिवारों में बेटे बिजनेस को आगे बढ़ाते हैं. राजनीतिक परिवारों में बेटे उनकी जगह लेते हैं. इस सब को नेपोटिज्‍म की श्रेणी में नहीं रखा जाता, बल्कि इसे अच्‍छा माना जाता है. बस बॉलीवुड को टारगेट किया जाता है. आप ये क्यों नहीं देखते कि कई स्‍टार किड्स भी उस मुकाम पर नहीं पहुंच पाए, जहां उनके माता-पिता पहुंचे. दरअसल में इंडस्‍ट्री में सिर्फ टैलेंट ही काम आता है और यहां वही टिक पाते हैं जिनमें टैलेंट हो, वरना यहां कई स्‍टार किड्स नंबर 1 की पोजीशन पर होते.’ करीना ने कहा, ‘अगर यहां रणबीर कपूर है तो यहां रणवीर सिंह भी है, यहां आलिया भट्ट है तो यहां कंगना रनोट भी है, जो किसी बॉलीवुड परिवार से वास्‍ता नहीं रखता. इसलिए मुझे लगता है कि ‘नेपोटिज्‍म’ की बहस बेमानी है.’

शाहरुख खान
मेरे भी बच्चे जो बनना चाहते हैं, बनेंगे और जाहिर है कि फादर होने के नाते मैं उनके साथ रहूंगा.

shahrukh khan

शाहरुख कहते हैं कि नेपोटिज्‍म पर इतनी कॉन्ट्रोवर्सी क्यों की जा रही है, “मुझे यह कॉन्सेप्ट बिल्कुल समझ नहीं आता. मेरे भी बच्चे हैं, वे जो बनना चाहते हैं, बनेंगे और जाहिर है कि मैं इसमें उनके साथ हूं और रहूंगा. सच बताऊं.. मुझे नेपोटिज्‍म शब्द समझ नहीं आता और यह भी कि इस पर बेवजह का बवाल क्यों मचा है? मैं दिल्ली का लौंडा हूं. वहां से मुंबई गया, लोगों का प्यार मिला और कुछ बना. मैं चाहता हूं कि मेरे बच्चे भी खुद अपने बूते पर नाम कमाएं. उनका फादर होने के नाते मुझसे जो भी बन पड़ेगा मैं करूँगा और ये मेरी ज़िम्मेदारी भी है.”

सोनू सूद
जब आप बाहर से होते हैं, तो कोई भी आप से नहीं मिलना चाहता.

sonu sood

सोनू सूद भी मानते हैं कि अगर आप फिल्मी बैकग्राउंड से न हों, तो सब कुछ मुश्किल हो जाता है. ”जब मैं फिल्म इंडस्ट्री में आया, तो निश्चित रूप से मुझे काफी चुनौतियों का सामना करना पड़ा. जब आप बाहर से होते हैं, मतलब नॉन फिल्मी बैकग्राउंड से तो कोई भी आप से नहीं मिलना चाहता, कोई भी आपकी बात नहीं सुनना चाहता और आपका काम नहीं देखना चाहता. मुझे लगता है कि इस मुश्किल हालात से हर नए स्टार को गुजरना पड़ता है.”

रणवीर शौरी
इंडस्ट्री का जो पावर है, वो चार छह लोगों के ही कंट्रोल में है.

Ranveer Shorey

मैं ये नहीं कहूंगा कि पूरी इंडस्ट्री पर नेपोटिज्म हावी है, क्योंकि इंडस्ट्री तो बहुत बड़ी है. यहां बहुत सारी छोटी फिल्में भी बनती हैं. हां ये ज़रूर कहूंगा कि इस इंडस्ट्री का जो पावर है, वो चार- छह लोगों के ही कंट्रोल में है. मेरी भी अनदेखी हुई है मेनस्ट्रीम के बड़े नामों से. साल दो साल मैं भी घर पर बिना काम के बैठा हूं. किसी तरह मैं इंडिपेंडेंट फिल्मों और सीरीज की तरह खुद को यहां बरकार रख पाया हूं. जिनके ड्रीम्स बड़े होंगे, उनको ये सब अनदेखी झेलने के लिए बहुत स्ट्रेंथ चाहिए. यही वजह है कि मैंने अपनी महत्वकांक्षाएं कम कर ली थीं. मैं समझ गया था कि मुझे कभी भी मेनस्ट्रीम फिल्मों में लीड भूमिकाएं नहीं मिलेंगी, चाहे मेरी एक्टिंग कितनी अच्छी क्यों न हो.शुरुआत में इस लालच में मेनस्ट्रीम में छोटे मोटे रोल कर लेता था कि शायद नोटिस होने से अच्छा काम मिलेगा. फिर समझ आया कि वो आपको नोटिस ही नहीं करना चाहते हैं. फिर दीवार पर सर मारने से क्या होगा.”

अनन्या पांडे
‘आप स्टार किड हों तो पहली फ़िल्म मिलना एकदम आसान होता है.’

Ranveer Shorey

स्टूडेंड ऑफ द ईयर 2 से बॉलीवुड में डेब्यू करने वाली अनन्या पांडे मानती हैं कि अगर आप स्टार किड हो तो आपको लॉन्चिंग फ़िल्म आसानी से मिल जाती है. ”मेरा मतलब है आपको पहली फ़िल्म आसानी से मिल जाती है, लेकिन फिर अपनी पहचान बनाना, खुद को एक एक्टर के तौर पर प्रूव करना आपकी ज़िम्मेदारी होती है…. फाइनली टैलेंट ही सक्सेस की gaurantee होता है.”

कृति सेनन
एक स्टार किड की वजह से मुझे फ़िल्म से आउट करके उसे लिया गया

kriti sanon

जब आप स्टार किड होते हैं या फिल्मी फैमिली से होते हैं, तो आपकी पहली फ़िल्म की रिलीज से पहले ही आपको फिल्में मिल जाती हैं, लेकिन जब आप फिल्म फैमिली से ताल्लुक नहीं रखते तो आपको दूसरी फिल्म पहली फिल्म की रिलीज से पहले नहीं मिलती. उन्होंने बताया कि किस तरह एक स्टार किड की वजह से उन्हें फ़िल्म में रिप्लेस कर दिया गया, “मैं नहीं जानती कि उन्होंने उसे फोन किया था या नहीं? लेकिन कोई था, जो फिल्म फैमिली से था या उसकी चर्चा कुछ ज्यादा थी, उससे मुझे रिप्लेस कर दिया गया था. हां, मेरे साथ यह हुआ है, लेकिन मुझे इसका कारण पता नहीं. हो सकता है कि डायरेक्टर को वाकई उसकी जरूरत हो? ऐसा एक बार नहीं, कई बार हुआ है.”

तापसी पन्नू
तापसी को बिना कोई वजह बताए एक फ़िल्म से किक आउट कर दिया गया

taapsee pannu

तापसी पन्नू जो सिर्फ सेलेक्टिव रोल्स करने के लिए जानी जाती हैं, ने एक इंटरव्यू में बताया था कि किस तरह उन्हें बिना कोई वजह बताए सिर्फ इसलिए एक फ़िल्म से आउट कर दिया गया क्योंकि वो किसी फिल्मी फैमिली से नहीं हैं. ”और मुझे इस बात से कोई शॉक भी नहीं लगा कि मेरे हाथ से कोई फ़िल्म निकल गई. और मुझे फ़िल्म से आउट करने की वजह ये नहीं थी कि मैं वो रोल डिज़र्व नहीं करती थी, बल्कि वजह थी कि मैं किसी स्टार या प्रोड्यूसर-डायरेक्टर की बेटी या बहन नहीं हूँ या किसी स्टार को डेट नहीं कर रही हूँ. लेकिन मुझे इन बातों से कोई फर्क नहीं पड़ता. हां अगर कोई फ़िल्म मेरे हाथ से इसलिए चली जाती क्योंकि वो रोल करने का टैलेंट मुझमें नहीं होता, तो बेशक मुझे फर्क पड़ता.”

सिद्धांत चतुर्वेदी
स्टार किड के लिए सब कुछ आसान होता है और हम जैसे सेल्फ मेड एक्टर्स के लिए बहुत मुश्किल

Siddhant Chaturvedi

फ़िल्म ‘गली बॉय’ में एमसी शेर का किरदार निभाकर पॉपुलर हुए सिद्धांत चतुर्वेदी कहते हैं, ”हम जैसे सेल्फ मेड लोगों के लिए इंडस्ट्री में खड़े रहना मुश्किल होता है, जबकि अगर आप किसी स्टार के बच्चे हो तो नाम शोहरत सब आसानी से मिल जाता है. जहां हमारे सपने पूरे होते हैं, वहां इनका स्ट्रगल शुरू होता है.”

पूरे देश में इस समय लॉकडाउन है. सभी अपने-अपने घरों में बंद हैं. बॉलीवुड स्टार्स भी अपनों घरों में कुछ न कुछ कर रहे हैं. कोई कुकिंग कर रहा है, कोई सफ़ाई तो कोई पेंटिंग. सभी का छुपा हुआ टैलेंट बाहर आ रहा है. ऐसा ही एक छुपा टैलेंट तब देखने को मिला, जब बॉलीवुड की बिंदास गर्ल कृति सैनॉन ने एक बेहद रोमांटिक कविता सोशल मीडिया पर शेयर की.

Kriti Sanon cute

कृति इतनी अच्छी कविता लिख सकती हैं, इसका अंदाज़ा शायद ही कोई लगा सकता था. कविता ख़ुद कृति ने लिखी है और उसे अपनी आवाज़ भी दी है. कविता की पंक्तियां बेहद ख़ूबसूरत हैं, जो सीधे दिल तक पहुंचती हैं. आप भी देखें उस कविता की ये पंक्तियां.

मोनोक्रोम इमेजेज़ से बने इस वीडियो को शेयर करते हुए कृति ने लिखा, मैंने आपको बताया था ना कि मुझे रोमांस कितना पसंद है. दिल से रोमांटिक, मैंने कुछ लिखा है, उम्मीद है आप भी इससे दिल से जुड़ेंगे. मेरे द्वारा लिखा और गाया गया.

Kriti Sanon

पिछली बार कृति पानीपत में अर्जुन कपूर के साथ दिखी थीं. उनका आनेवाला प्रोजेक्ट राजकुमार राव, परेश रावल और डिंपल कपाड़िया के साथ था, जो 15 मार्च से शुरू होनेवाला था, पर लॉकडाउन के कारण वो आगे बढ़ा दिया गया है. इसके अलावा कृति मिमी और बच्चन पांडे में भी अक्षय कुमार के साथ नज़र आनेवाली हैं.

– अनीता सिंह

यह भी पढ़ें: लाफ़्टर क्वीन भारती ने ईजाद की कोरोना की अचूक वैक्सीन #GPB21D (Laughter Queen Bharti Singh Talks About Vaccine Of COVID 19)

न्यू ईयर 2020 पार्टी में बॉलीवुड एक्ट्रेस की तरह पार्टी ड्रेसेज़ पहनकर आप भी ग्लैमरस लुक पा सकती हैं. न्यू ईयर पार्टी में सबसे अलग और स्टाइलिश नज़र आने के लिए आप भी बॉलीवुड एक्ट्रेस की तरह पार्टी ड्रेसेज़ पहनें. इस पार्टी सीज़न में ब्राइट कलर के शिमरी ड्रेसेज़ फैशन में हैं और बॉलीवुड एक्ट्रेस भी शिमरी पाटीर्र् ड्रेसेज़ पहनना पसंद कर रही हैं. यहां हम आपको बता रहे हैं बॉलीवुड एक्ट्रेस की तरह पार्टी ड्रेसेज़ पहनने के स्मार्ट आइडियाज़.

Party Dresses for New Year

1) करीना कपूर खान (Kareena Kapoor Khan) 

Kareena Kapoor Khan

2) शिल्पा शेट्टी (Shilpa Shetty) 

Shilpa Shetty

3) कृति सेनन (Kriti Sanon)

Kriti Sanon

यह भी पढ़ें: फिर आ गया पोल्का डॉट का फैशन- बॉलीवुड एक्ट्रेस की तरह आप भी पहनें पोल्का डॉट ड्रेसेज़ (Polka Dot Is Back In Trend: Bollywood Actresses And Polka Dots)

4) दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone)

Deepika Padukone

5) कटरीना कैफ (Katrina Kaif) 

Katrina Kaif

6) जाह्नवी कपूर (Jahnvi Kapoor)

Jahnvi Kapoor

7) सारा अली खान (Sara Ali Khan)

Sara Ali Khan

यह भी पढ़ें: विंटर फैशन ट्रेंड्स 2019: सर्दियों में पहनें ये 20 स्टाइलिश विंटर आउटफिट्स (Winter Fashion Trends 2019: 20 Best Winter Outfits You Need To Own)

8) अनुष्का शर्मा (Anushka Sharma) 

Anushka Sharma

9) करिश्मा कपूर (Karishma Kapoor) 

Karishma Kapoor

 

10) आलिया भट्ट (Alia Bhatt)

Alia Bhatt

11) प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra)

Priyanka Chopra

12) मलाइका अरोड़ा (Malaika Arora) 

Malaika Arora

यह भी पढ़ें: शिल्पा शेट्टी के 20 लेटेस्ट साड़ी ब्लाउज़ डिजाइन्स: आप भी ट्राई कर सकती हैं ये ब्लाउज़ डिजाइन्स (20 Latest Saree Blouse Designs By Shilpa Shetty That Can Be Copied By Anyone)

 

 

कार्तिक आर्यन-कृति सेनन (Kartik Aryan-Kriti Sanon) स्टारर लुका छुपी (Luka Chuppi) मूवी जहां दर्शकों का भरपूर मनोरंजन करने में कामयाब रही है, वहीं सोनचिड़िया (Sonchiriya) में डाकुओं की ज़िंदगी के अनकहे पहलुओं को पूरी ईमानदारी से दिखाया गया है. ये दोनों ही फिल्में अलग-अलग तरीक़ों से दर्शकों को प्रभावित करने में सफल रही हैं. इसके लिए निर्देशक लक्ष्मण उतेकर और अभिषेक चौबे बधाई के पात्र हैं.

Luka Chuppi And Sonchiriya

प्यार की लुका छुपी

कार्तिक आर्यन-कृति सेनन की फ्रेश जोड़ी ने अपनी लव व कॉमेडी के डबल डोज़ से सभी को प्रभावित किया है. लिव इन रिलेशन, छोटे शहर की मानसिकता, आज के युवापीढ़ी की सोच इन सभी का निर्देशक लक्ष्मण उतेकर ने बारीक़ी से चित्रण किया है.

कार्तिक मथुरा के लोकल केबल चैनल का रिपोर्टर है. कृति सेनन, जो राजनेता विनय पाठक की बेटी अपनी पढ़ाई पूरी करके इंर्टनशिप के लिए कार्तिक के चैनल को ज्वॉइन करती है. दोनों एक-दूसरे को चाहने लगते हैं. कार्तिक चाहता है कि इस प्यार को रिश्ते का नाम दे दिया जाए यानी जल्द से जल्द शादी कर ली जाए. लेकिन कृति की सोच थोड़ी अलग है, वो पहले अपने जीवनसाथी को जानना-परखना चाहती है फिर किसी बंधन में बंधना चाहती है. वो लिव इन में रहकर एक-दूसरे को अच्छी तरह से समझने का प्रस्ताव रखती है. लेकिन कार्तिक संयुक्पत परिवार से है और परिवार की सोच पारंपरिक है. उसे यह ठीक नहीं लगता. इसमें उसका दोस्त अपारशक्ति खुराना आइडिया देता है कि ऑफिस के काम से उन्हें कुछ दिनों के लिए शूट के सिलसिले में ग्वालियर जाना ही है, तो क्यों ने वे अपने इस प्रयोग को वही आज़मा लें. कार्तिक-कृति को भी यह ठीक लगता है और वहां पर दोनों लिव इन में रहने लगते हैं. कहानी में ज़बरर्दस्त मोड़ तब आता है, जब कार्तिक के भाई का साला पंकज त्रिपाठी दोनों को वहां देख लेता है और कार्तिक के परिवार को वहां पर ले आता है. तब ख़ूब ड्रामा, डायलॉगबाज़ी, कभी हंसना, तो कभी रोना जैसी स्थिति बनती-बिगड़ती है, पर आख़िरकार परिवारवाले इस रिश्ते को स्वीकार कर लेते हैं.

ज़रा रुकिए, कहानी में एक और ट्विस्ट है, वो कृति के पिताजी विनय पाठक. वे प्रेम व लिव इन के सख़्त ख़िलाफ़ है. इसके लिए उन्होंने न केवल प्रेमी लोगों का बहिष्कार किया है, बल्कि मथुरा में ऐसे जोड़ों का मुंह काला करवाकर उन्हें बेइज़्ज़त भी किया जाता है.

क्या कृति के पिता कार्तिक के साथ उसके रिश्ते को स्वीकार करेंगे? क्या कार्तिक-कृति एक हो पाएंगे या फिर उनकी प्रेम कहानी अधूरी ही रह जाएगी? या फिर दोनों को लुका छुपी की तरह ही अपने रिश्ते को आगे बढ़ाना होगा? इन तमाम सवालों को जानने के लिए थिएटर में फिल्म देखना ज़रूरी है और तब ही आप सभी के उम्दा मनोरंजन का लुत्फ़ उठा पाएंगे.

फिल्म में कई गानों का रीमिक्स है, जो अलग ढंग से लुभाता है. कोका कोला… पोस्टर छपवा दो अख़बार में गाने तो पहले से हिट हो चुके हैं. तनिष्क बागची, अभिजीत वघानी, केतन सोढ़ा के संगीत मधुर हैं. सभी ने बेहतरीन एक्टिंग की है, ख़ासतौर पर अपारशक्ति खुराना, पंकज त्रिपाठी की परफेक्ट कॉमेडी दर्शकों का भरपूर मनोरंजन करती है. कार्तिक आर्यन और कृति सेनन ने भी अपने सहज व सशक्त अभिनय से प्रभावित किया है. इसमें कोई दो राय नहीं कि निर्माता दिनेश विजान ने एक मनोरंजक फिल्म देने की कोशिश की है.

Luka Chuppi And Sonchiriya

डैकेतों की ज़िंदगी से रू-ब-रू कराती सोनचिड़िया

यूं तो डाकुओं के जीवन पर कई फिल्में बनी हैं, जैसे शोले, बैंडिट क्वीन, गुलामी, पान सिंह तोमर आदि. लेकिन सोनचिड़िया जैसा ट्रीटमेंट किसी में नहीं दिखा. निर्देशक अभिषेक चौबे ने बड़ी ख़ूबसूरती से डकैतों के जीवन के विभिन्न पहलुओं परिभाषित किया है. यह फिल्म ग्लैमर नहीं पेश करती, बल्कि सिक्के के दूसरे पहलू को सच्चाई के साथ दिखाती है. डाकुओं के गिरोह का बिहड़ जंगलों में रहना, खाने-पीने के लिए संघर्ष करना, उनकी भावनाएं, दर्द को बख़ूबी दर्शया गया है. साथ ही जात-पांत, भेदभाव, ऊंच-नीच, गरीबी, महिलाओं की स्थिति, पुरुषों की मर्दानगी पर भी करारा कटाक्ष किया गया है.

हर कलाकार ने फिर चाहे उसका रोल छोटा हो या बड़ा अपने क़िरदार के साथ न्याय किया है. सुशांत सिंह राजपूत दिनोंदिन अभिनय की ऊंचाइयों को छूते जा रहे हैं. वे अपने रोल में इस कदर रच-बस गए कि एकबारगी यूं लगने लगता है कि यह डाकू तो कितना इनोसेंट है, आख़िर उसके साथ ही ऐसा क्यों हो रहा है. मनोज बाजपेयी, आशुतोष राणा, रणवीर शौरी, भूमि पेडनेकर अपने लाजवाब अदाकारी से कहानी को बांधे रखते हैं.

रॉनी स्क्रूवाला निर्मित सोनचिड़िया दर्शकों को अपराधियों की एक अलग ही दुनिया से रू-ब-रू कराती है. अनुज राकेश धवन की सिनेमौटोग्राफी काबिल-ए-तारीफ़ है. मेघना सेन की एडिटिंग बेजोड़ है. संगीत ठीक-ठाक है. फिल्म की कहानी अभिषेक चौबे और सुदीप शर्मा ने मिलकर लिखी है. फिल्म में अपराध, मारधाड़, एक्शन-ड्रामा सब कुछ है, जो आमतौर पर पसंद किया जाता है. वैसे डकैतों पर बनी बेहतरीन फिल्मों में से एक है सोनचिड़िया.

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़ेप्रियंका-निक की हॉट जोड़ी ने मचाया धमाल, देखें वीडियो (Watch Priyanka Chopra And Nick Jonas In Sucker Video)

Actor Diljit Dosanjh

पंजाबी ऐक्टर और सिंगर दिलजीत दोसांझ ने अपनी ऐक्टिंग से बॉलीवुड में भी अपनी जगह बना ली है. उड़ता पंजाब और फिल्लौरी जैसी फिल्मों में दिलजीत को पसंद किया गया. करीना कपूर खान और अनुष्का शर्मा के बाद अब दिलजीत कृति सैनन के साथ फिल्म करने जा रहे हैं. दिलजीत ने कृति के साथ सेल्फी लेकर इसे सोशल मीडिया पर शेयर किया.Actor Diljit Dosanjhदिनेश विजन की अगली फिल्म अर्जुन पटियाला में दिलजीत और कृति साथ नज़र आएंगे. इसकी शूटिंग अगले साल फरवरी से शुरू होगी.

यह भी पढ़ें: मैं ऐक्टर हूं और कैमरे के लिए परफॉर्म करता हूं- पवन मल्होत्रा

कृति ने अपने ट्विटर एकाउंट पर पिक्चर्स शेयर करते हुए लिखा, “अर्जुन पटियाला का सफ़र ज़बरदस्त और मस्ती भरा होने वाला है… लार्जर देन लाइफ! शूटिंग शुरू होने का बेसब्री से इंतज़ार है.”

इस फिल्म के अलावा दिलजीत हॉकी खिलाड़ी संदीप सिंह की बायोपिक पर भी काम कर रहे हैं.

फिल्म- राबता

स्टारकास्ट- सुशांत सिंह राजपूत, कृति सेनन, राजकुमार राव

डायरेक्टर- दिनेश विजन

रेटिंग- 2.5 स्टार film-raabta_68d47db4-4b5c-11e7-81ca-1a4d4992589d (1)पुनर्जन्म की कहानी अक्सर लोगों को पसंद आती हैं, लेकिन न्यू जनेरेशन के साथ पुनर्जन्म को जोड़ना थोड़ा मुश्किल हो जाता है. राबता की कहानी भी पुनर्जन्म पर आधारित है. दिनेश विजन की डायरेक्टोरियल डेब्यू फिल्म है राबता. आइए, जानते हैं कैसी है ये फिल्म.

फिल्‍म की कहानी शिव (सुशांत सिंह राजपूत) और सारा ( कृति सेनन) के प्यार की, जो पिछले जन्म में अधूरी रह जाती है. शिव एक बैंकर है और नौकरी के लिए वो बुडापेस्‍ट जाता है, जहां उसकी मुलाकात सारा से होती है. दोनों को लगता है उनमें कोई न कोई कनेक्‍शन है. दोनों को प्यार हो जाता है. लेकिन इस प्यार के बीच तीसरा शख़्स आ जाता है. फिर क्या होता है, ये जानने के लिए आपको ये फिल्म देखनी होगी.

सुशांत सिंह राजपूत और कृति सेनन की केमेस्ट्री अच्छी लग रही है. लेकिन फिल्म की कहानी वो कमाल नहीं कर पाई, जिसकी उम्मीद की जा रही थी. फिल्म के कुछ डायलॉग्स दमदार हैं. अगर विजुअल के मुताबिक़ फिल्म की समीक्षा की जाए, तो विजु्ली फिल्म अच्छी लगती है. लेकिन अगर कहानी में ही दम ना हो, तो न गाने काम आते हैं, न विजुअल्स. फिल्म का सेकंड हाफ काफ़ी स्लो है.

खैर कुल मिलाकर देखा जाए, तो अगर इस वीकेंड आप कुछ नहीं कर रहे हैं, तो एक बार ये फिल्म देख सकते हैं. अगर ये फिल्म आपसे मिस भी हो गई, तो कोई ख़ास नुक़सान नहीं होगा आपका.

BEHEN-HOGI-TERI-COMPLETED (1)

फिल्म- बहन होगी तेरी

स्टारकास्ट- राजकुमार राव, श्रुति हसन, रंजीत, गुलशन ग्रोवर

डायरेक्टर- अजय पन्नालाल

 रेटिंग- 3 स्टार
बहन होगी तेरी कॉमेडी फिल्म है. वो कपल्स इस फिल्म से ज़्यादा इत्तेफ़ाक रख पाएंगे, जो एक ही मोहल्ले में बड़े हुए हैं और एक-दूसरे से इश्क करते हैं. आइए, जानते हैं कैसी है फिल्म.
फिल्म की कहानी है लखनऊ के एक ही मोहल्ले में रहने वाले गट्टू (राजकुमार राव) और श्रुति हसन (बिन्नी) की. दोनों पड़ोसी हैं. दोनों एक-दूसरे को पसंद करते हैं, लेकिन जैसा होता है, अक्सर एक ही मोहल्ले के लड़के-लड़कियों को भाई-बहन समझा जाता है, वैसा ही कुछ हाल इस फिल्म की कहानी में दोनों का है.
गट्टू पर भी यही प्रेशर है. एक दिन बिन्नी की शादी राहुल (गौतम गुलाटी) के साथ तय कर दी जाती है.  बिन्नी पर नज़र रखने की ज़िम्मेदारी गट्टू को दी जाती है.
अंत में क्या गट्टू आगे आकर बिन्नी के घरवालों से अपनी शादी की बात कर पाता है या राहुल बिन्नी से शादी कर लेता है. इन सारे सवालों का जवाब तब मिलेगा, जब आप ये फिल्म देखेंगे.
कहानी अच्छी है, लेकिन इसे सही तरीक़े से दर्शाने में थोड़ी-सी कमी रह गई है. बात करें अगर अभिनय कि तो राजकुमार राव हमेशा की तरह अपने अभिनय से इस फिल्म में भी दिल जीत लेते है. श्रुति हसन का अभिनय भी अच्छा है.
अगर आप राजकुमार राव के फैन हैं, तो ये फिल्म आप ज़रूर देख सकते हैं.

Raabta-movie-Poster (1)

कृति सैनन और सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म राब्ता का ट्रेलर रिलीज़ हो गया है. दोनों की केमेस्ट्री कमाल लग रही है. ट्रेलर भी काफ़ी इंट्रेस्टिंग है, जो वर्तमान से अतीत की कहानी बयां कर रहा है. कृति और सुशांत के बीच इस ट्रेलर में आ जाता है एक अंजान शख़्स, जो उन्हें अतीत में ले जाता है, जहां दोनों युद्ध करते नज़र आ रहे हैं. रोमांस और ऐक्शन का ज़बर्दस्त तड़का है ट्रेलर में. राब्ता 9 जून को रिलीज़ होगी. देखें ट्रेलर.

Kriti Sanon8 मार्च को जहां हर कोई इंटरनेशनल वुमेन्स डे मना रहा है, वहीं कृति सनोन ने एक वीडियो के ज़रिए पूछा है एक बेहद ज़रूरी सवाल. कृति ने इस वीडियो में बिना कुछ बोले मैसेज बोर्ड के ज़रिए कहा है कि लोग आजकल जेंडर इक्वैलिटी, गर्ल पावर, महिलाओं के अधिकार और न जाने क्या क्या बातें करते हैं, जबकि हमारी सड़के अब भी असुरक्षित हैं. लोग अब भी ये तय करते हैं कि हमें क्या पहनना चाहिए. हम सिर्फ़ बातें करते हैं और मैं अब बात कर चुकी हूं, Happy Whatever!

View this post on Instagram

Here we go again..! #HappyWhatever @ms.takenfashion

A post shared by Kriti (@kritisanon) on