Lata Mangeshkar

पूरी दुनिया में भारत देश को गौरवान्वित करने वाली स्वर कोकिला के नाम से मशहूर गायिका लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) ऐसी शख्सियत हैं, जिनके हाथों में आकर उपलब्धियां भी गौरवान्वित हो जाया करती हैं. जिनके गले में सरस्वती निवास करती हैं, जिनकी मधुर आवाज़ सुन अंतर आत्मा तक झंकृत हो जाया करती हैं, वो महान गायिका हर साल 28 सितम्बर को अपना जन्मदिन मनाती हैं. वैसे तो लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) की उम्र 92 साल हो गई है, लेकिन उनकी आवाज़ की वो मिठास आज भी बदस्तूर जारी है. उन्होंने अनेकों अमर गीतों में अपनी आवाज़ देकर उसे सदा के लिए अमर बना दिया. उनके गाए गानों का लोगों के दिलों पर ऐसा जादू चलता है, जिसे भुला पाना नामुमकिन होता है.

Lata Mangeshkar
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

ऐसे तो लता जी ने एक से बढ़कर एक गाने गाए, लेकिन आज हम बात कर रहे हैं उस गीत की, जिसे सुनकर हर किसी के रोंगटे खड़े हो जाया करते हैं. ये गीत सुन लोगों के दिलों में देशभक्ति की उबाल आ जाती है. इस गीत को सुन सीमा पर तैनात जवानों के जोश कई गुना ज्यादा बढ़ा जाया करते हैं. जी हां दोस्तों, हम आपको बता रहे हैं उस सदाबहार गीत ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ के बारे में, जिसे आवाज़ दी है स्वर कोकिला लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) ने. इस गीत की रचना से लेकर इसकी पहली प्रस्तुती की कहानी भी काफी ज्यादा खास और दिलचस्प है.

Lata Mangeshkar
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

कवि प्रदीप को मिला था इस गीत की रचना का ऑफर

ये बात साल 1962 के दौरान की है, जब भारत को चीन से हुए युद्ध में हार का सामना करना पड़ा था. ऐसे में देश का माहौल काफी ज्यादा गमगीन हो गया था. देश का हर नागरिक दुखी था. हर किसी का मनोबल मानो टूट सा गया था. ऐसी विसम परिस्थिती में आवश्यक्ता थी कुछ ऐसा करने की, जिससे देशवासियों का मनोबल बढ़ सके, लोगों का आत्मविश्वास जाग सके. ऐसे में लोगों की उम्मीद देश के कवियों और फिल्म जगत से बढ़ गई.

ये भी पढ़ें : अपनी एजुकेशन को लेकर रणबीर कपूर ने ऐश्वर्या राय से बोला था इतना बड़ा झूठ, जानकर यकीन नहीं होगा आपको (Ranbir kapoor Lied To Aishwarya Rai About His Education)

Lata Mangeshkar
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

सरकार की ओर से फिल्म इंडस्ट्री के दिग्गजों से ये आग्रह किया गया, कि वो कुछ ऐसा करे जिससे देशवासियों के अंदर फिर से जोश भर सके. इसी दौरान उन दिनों के जाने-माने कवि प्रदीप के पास एक गीत की चरना करने का प्रस्ताव आया था, जिसके बारे में एक इंटरव्यू के दौरान खुद कवि प्रदीप ने ही बताया था. दरअसल कवि प्रदीप को इस गीत की रचना का प्रस्ताव इसलिए आया था, क्योंकि उन्होंने पहले भी देशभक्ति के गाने लिखे थे.

Lata Mangeshkar
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

लता मंगेशकर को ध्यान में रखते हुए लिखा ये गीत

इंटरव्यू के दौरान कवि प्रदीप ने बताया कि, उन दिनों इंडस्ट्री में तीन महान गायक थे, मुकेश, मोहम्मद रफी और लता मंगेशकर. मोहम्मद रफी ने उस दौरान ‘अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा सकते नहीं’ गीत को गाया था, जबकि राज कपूर के आग्रह पर मुकेश ने ‘जिस देश में गंगा बहती है’ गीत को गाया था. अब बच गईं थीं लता मंगेशकर. कवि प्रदीप इस बात को मान रहे थे कि लता जा की मखमली व मीठी आवाज़ में कोई जोशिला गाना फिट नहीं बैठेगा. इसी वजह से उन्होंने लता मंगेशकर के लिए एक भावनात्मक गीत लिखने के बारे में सोचा और इस तरह गीत ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ की रचना हुई.

Lata Mangeshkar
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

लता मंगेशकर ने किया इस गीत को लेकर खुलासा

वहीं एक इंटरव्यू के दौरान लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) ने बताया कि, 1063 में ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ गीत को गणतंत्र दिवस के मौके पर गाने का उन्हें ऑफर मिला था. जब उन्हें इस गीत को गाने का प्रस्ताव मिला तो उस वक्त उन्होंने साफतौर पर मना कर दिया था, क्योंकि लता जी के पास इस गीत को गाने के लिए रहर्सल का समय नहीं था. इंटरव्यू के दौरान लता जी ने इस गीत से जुड़े किस्से को बताया. उन्होंने कहा कि, “कवि प्रीदीप ने इस गीत के अमर बोल लिखे थे और उन्होंने ही इस गीत को गाने की मुझसे गुजारिश की थी, लेकिन व्यस्तता की वजह से उनके लिए इस गीत को विशेष अटेंशन देना संभव नहीं था.”

Lata Mangeshkar
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

लता जी ने आगे बताया कि प्रदीप जी के काफी कहने पर वो इस गीत को गाने के लिए मान गईं, लेकिन वो इस गीत को अकेले नहींं, बल्कि आशा भोसले के साथ मिलकर गाने के लिए तैयार हुईं. अब जब प्रोग्राम के लिए दिल्ली जाने की बात आई तो आशा जी ने वहां जाने से मना कर दिया. आशा जी को मनाने की काफी कोशिश की गई लेकिन वो नहीं मानीं और आखिर में लता मंगेशकर को अकेले ही इस गीत को गाने की तैयारी करनी पड़ी.

ये भी पढ़ें : KBC: जैकी श्रॉफ ने बताया कहां से सीखी भीडू भाषा, जवाब सुन चौंक गए बिग बी (KBC: Jackie Shroff Told From Where He Learned The ‘Bhidu’ Language, Big B Was Shoked To Hear The Answer)

Lata Mangeshkar
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

रास्ते में किया गाने का रियाज

लता जी की मुश्किल तब और बढ़ गई जब ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ गीत की धुन तैयार करने वाले रामचंद्र जी भी 4-5 दिन पहले ही दिल्ली चले गए थे. ऐसे में लता जी को रियाज के लिए उनका साथ नहीं मिल पाया था. हालांकि रामचंद्र जी ने लता जी को गाने का एक टेप दे रखा था, जिसे सुनकर वो अपना रियाज करने में जुट गईं. लता मंगेश्कर (Lata Mangeshkar) ने बताया कि, जब वो दिल्ली पहुंची तो उनके पेट में तेज दर्द शुरु हो गया था. गाने को लेकर वो काफी ज्यादा चिंतित थीं. फिर 27 जनवरी 1963 को उन्होंने दिल्ली के नेशनल स्टेडियम जाकर इस गीत को गाया.

Lata Mangeshkar
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

पंडित नेहरु की छलक आई थी आंख

लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) ने बताया कि जब वो गाना खत्म करने के बाद स्टेज के पीछे चली गईं, तब महबूब खान ने वहां आकर उनका हाथ पकड़कर उनसे कहा कि, चलो नेहरु जी ने बुलाया है. महबूब खान की ये बात सुन लता जी को काफी हैरत हुई थी, कि आखिर क्यों पंडित जी उनसे मिलना चाहते हैं. जब लता जी वापस स्टेज पर गईं तो पंडित जी के साथ-साथ वहां मौजूद सारे लोगों ने खड़े होकर उनका स्वागत किया. पंडित जी ने उनके गाए उस गाने की जमकर तारीफ की और कहा कि उनकी आंखों में पानी आ गया.

Lata Mangeshkar
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

लता जी को भरोसा नहीं था कि ये गाना इतना मशहूर होगा

लता जी को इस बात का बिल्कुल भी यकीन नहीं था कि ये गाना इतना ज्यादा मशहूर हो जाएगा. ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ गीत लोगों को इतना ज्यादा पसंद आया कि हर प्रोग्राम में उनसे इस गीत को गाने का आग्रह होने लगा.

ये भी पढ़ें : तो इस मजबूरी में अमिताभ बच्चन ने किया था पान मसाला का विज्ञापन, खुद बताई वजह (So In This Compulsion, Amitabh Bachchan Did The Advertisement Of Pan Masala, The Reason Given Himself)

हिंदी सिनेमा की स्वर कोकिला लता मंगेशकर आज अपना जन्मदिन सेलिब्रेट कर रही हैं. दशकों तक अपनी सुरीली और जादुई आवाज़ से संगीत की दुनिया को सजाने वाली लता दीदी का 28 सितंबर यानी आज 92वां जन्मदिन है. लता दीदी की आवाज़ ने कभी दर्शकों को देशभक्ति की भावनाओं से ओत-प्रोत किया तो कभी उन्होंने प्यार भरे नगमों से लोगों के दिलों में मोहब्बत जगाई और कई बार उनके दर्दभरे गीतों ने आंखों में आंसू भी ला दिए. उनकी जादुई आवाज़ का ही यह करिश्मा है कि उनके चाहने वाले उन्हें ‘स्वर कोकिला’ कहकर पुकारते हैं.

Lata Mangeshkar
फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

लता दीदी के जन्मदिन पर हर कोई उन्हें बधाई दे रहा है और उनकी अच्छी सेहत के लिए दुआ कर रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर बॉलीवुड के कई सितारों ने सोशल मीडिया के ज़रिए लता मंगेशकर को जन्मदिन की बधाई दी है. यह भी पढ़ें: रणबीर कपूर के बर्थडे सेलिब्रेशन की इनसाइड तस्वीरें वायरल, लेडी लव आलिया ने अपने हाथों से सजाया केक(Ranbir Kapoor’s Birthday Party Inside Photos Goes Viral: See Pics)

Lata Mangeshkar
फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम
Lata Mangeshkar
फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

पीएम मोदी ने ट्वीट कर लता मंगेशकर को जन्मदिन की शुभकामनाएं दी हैं. उन्होंने लिखा है- लता दीदी को जन्मदिन की बधाई. उनकी सुरीली आवाज़ पूरी दुनिया में गूंजती है. भारतीय संस्कृति के प्रति उनकी विनम्रता और जुनून के लिए उनका सम्मान किया जाता है. उनका आशीर्वाद शक्ति का स्रोत है. मैं लता दीदी की लंबी और स्वस्थ जीवन के लिए प्रार्थना करता हूं.

बॉलीवुड के ही-मैन धर्मेंद्र ने भी लता दीदी को उनके जन्मदिन की बधाई दी है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा है- हैप्पी बर्थडे लता जी. दुनिया में सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली सिंगर लता जी. आप का साया हमेशा हम सब पर बना रहे. आप हमेशा खुश रहें…सेहतमंद रहें…

एक्ट्रेस जूही चावला ने लता मंगेशकर के जन्मदिन पर 100 पेड़ लगाने का ऐलान किया है. उन्होंने लिखा है- लता दीदी के बर्थडे पर 100 पेड़ लगाऊंगी. रेडियो सुन रही थी. आपके 70 के दशक के गाने बज रहे थे. आपकी आवाज़ को सुनकर ऐसा लगा जैसे फूलों की बारिश हो रही है. जैसे गंगा जी बह रही है, जूही ने इसके साथ ही लता मंगेशकर के साथ अपनी फोटो शेयर की है.

जाने-माने फिल्ममेकर मधुर भंडारकर ने सोशल मीडिया के ज़रिए लता मंगेशकर को बधाई दी है. उन्होंने लिखा है- हैप्पी बर्थडे लता ताई, जिनकी आवाज़ सभी दिलों को छू जाती है. मेरी ज़िंदगी का ऐसा कोई भी दिन नहीं है, जिस दिन मैं आपके गाने नहीं सुनता. भगवान गणेश आपको लंबी और स्वस्थ ज़िंदगी दें.

खबरों की मानें तो लता मंगेशकर को डूंगरपुर राजघराने के महाराजा राज सिंह से प्यार था, जो उनके भाई हृदयनाथ मंगेशकर के दोस्त भी थे, लेकिन दोनों का प्यार अधूरा ही रह गया. कहा जाता है कि लता जी के कंधे पर पूरे परिवार की ज़िम्मेदारी थी, इसलिए उन्होंने कभी शादी नहीं ही, लेकिन लता की तरह राज भी आजीवन अविवाहित ही रहे. यह भी पढ़ें: #Interesting जब इस एक्टर ने अपनी पत्नी के साथ अभिषेक बच्चन-ऐश्वर्या राय की शादी को दूरबीन से देखा था.. (When this actor saw Abhishek Bachchan-Aishwarya Rai’s wedding with his wife through binoculars…)

Lata Mangeshkar
फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम
Lata Mangeshkar
फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

गौरतलब है कि भारत रत्न, स्वर सम्राज्ञी लता मंगेशकर ने 36 भारतीय भाषाओं में गाने रिकॉर्ड कराए हैं, जबकि उन्होंने हिंदी भाषा में 1 हजार से भी ज्यादा गीतों को अपनी आवाज़ दी है. उन्हें साल 1989 में ‘दादासाहेब फाल्के पुरस्कार’ से भी सम्मानित किया जा चुका है. इतना ही नहीं साल 1999 में उन्हें ‘पद्म विभूषण’ और 2001 में भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ से भी नवाज़ा जा चुका है.

भारत की स्वर कोकिला लता मंगेशकर की तरह ही उनकी छोटी बहन आशा भोसले भी सिंगिंग के क्षेत्र में पॉपुलर हैं. अपने देश से लेकर अन्य देशों में भी आशा जी के प्रति लोगों का प्यार सर चढ़कर बोलता है. हर कोई उन्हें बहुत ही ज्यादा रेस्पेक्ट देते हैं, जो किसी-किसी को ही नसीब होता है.

Asha Bhosle
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

कुछ दिनों पहले की बात है जब आशा भोसले जी टीवी रियलिटी शो ‘इंडियन आइडल 12’ में चीफ गेस्ट बनकर पहुंची थीं. उनके वहां आने से शो में चार चांद लग गए थे. इसी शो के दौरान जब एक कंटेस्टेंट ने आशा जी के गाए गाने ‘आजा आजा मैं हूं प्यार तेरा’ को गाया तो आशा जी को इस गाने से जुड़ा एक दिलचस्प सा किस्सा याद आ गया और उन्होंने वो मजेदार किस्सा सबको सुनाया. साथ ही अपनी बड़ी बहन लता मंगेशकर जी की मिमिक्री भी की.

Asha Bhosle
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

आशा जी ने उस किस्से को याद करते हुए कहा – ‘ये गाना बहुत ज्यादा मुश्किल था मेरे लिए. आरडी बर्मन साहब घर पर आए और नीचे बैठकर बाजा लेकर उन्होंने मुझसे कहा आप मेरा गाना गाएंगी ? मैंने हां कह दी. तब उन्होंने वो गाना शुरू किया ‘आजा आजा मैं हूं प्यार तेरा’ और जब उन्होंने हाहाहा (गाने के बोल) किया तो मैं एकदम से झटका खा गई कि ये तो होगा नहीं. मैंने कहा ठहरो मैं करती हूं चार-पांच दिन के बाद. ये भी पढ़ें : भारत की पहली एरियल एक्शन फिल्म होगी ऋतिक रोशन और दीपिका पादुकोण की ‘फाइटर’ जानें क्या होती है एरियल एक्शन (Hritik Roshan And Deepika Padukone’s ‘Fighter’ Will Be India’s First Aerial Action Film. Know What Is Aerial Action)

Asha Bhosle
फोटो सौजन्य

आगे आशा जी ने बताया कि “मैं उसके बाद गाने का प्रैक्टिस करने लगी. एक दिन की बात है जब मैं गाड़ी से जा रही थी तो मैं गाड़ी में ही गाने का प्रैक्टिस कर रही थी. हाहा हा हाहा हा ऐसे प्रैक्टिस करती थी. फिर ऐसे ही प्रैक्टिस करते हुए मेरी गाड़ी हाजी अली पहुंची. मेरा घर वहीं है और हॉस्पिटल भी वहीं है. तो मेरे ड्राइवर को लगा कि मेरी सांस चढ़ी हुई है तो उसने पूछा बाई हॉस्पिटल में गाड़ी लूं ?” ये भी पढ़ें : दिशा पटानी ने उठाया 80 किलो वजन, ट्रेनर भी रह गया हैरान (Disha Patani Lifted 80 Kg Weight, The Trainer Was Also Surprised)

उन्होंने अपनी दीदी लता मंगेशकर की मिमिक्री करते हुए बताया उनका रिएक्शन

इस किस्से को खत्म करने के बाद आगे आशा जी कहती हैं – “जब गाने का टाइम आया तो उस दिन मैं थोड़ी नर्वस थी. मैं दीदी के कमरे में गई, मुझे देख दीदी कहती हैं – क्या बात है क्यों छटपटा रही हो? दीदी को मैने परेशानी सुनाई तो उन्होंने कहा – तुम भूल रही हो कि तुम पहले मंगेशकर हो बाद में भोसले हो. जाओ तुम्हारा गाना अच्छा होगा.”

Asha Bhosle
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि आशा जी के द्वारा गाया गया ये गाना कितना पॉपुलर हुआ. आज भी लोग इस गाने को काफी ज्यादा पसंद करते हैं. जहां भी ये गाना बज जाए लोगों के पैर अपने आप थिरकने लगते हैं. 

मशहूर संगीतकार राम लक्ष्मण की जोड़ी के लक्ष्मण का निधन हो गया है, वो 79 साल के थे और पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे. उन्होंने नागपुर स्थित अपने घर में शनिवार 22 मई की सुबह को अंतिम सांस ली.

उनका असली नाम था विजय पाटिल था और उनके पार्टनरथे सुरेंद्र, दोनों ने मिलकर राम लक्ष्मण की जोड़ी बनाई थी, जिसमें लक्ष्मण थे विजय पाटिल लेकिन राम यानी सुरेंद्र का निधन शुरुआती दौर में ही हो गया था जब दोनों में फ़िल्म एजेंट विनोद साइन की थी. उसके बाद विजय यानी लक्ष्मण ने अपने पार्टनर के नाम को अपने साथ जोड़े रखा और अपना पूरा नाम ही राम लक्ष्मण रख लिया. इन्होंने हिंदी, मराठी और भोजपुरी की क़रीब 200 से अधिक फ़िल्मों में संगीत दिया लेकिन इन्हें राजश्री प्रोडक्शन की फ़िल्मों से नई पहचान और पॉप्युलैरिटी मिली. फ़िल्म मैंने प्यार किया और हम आपके हैं कौन ने इन्हें नई कामयाबी दी. इन्हें फ़िल्मों में लाने वाले थे दादा कोंडके.
इनका निधन हार्ट अटैक की वजह से हुआ और उसके बाद फ़िल्म जगत भी शोकाकुल हो गया. लता दीदी ने भी ट्वीट कर शोक जताया…

लता जी ने लिखा- मुझे अभी पता चला कि बहुत गुणी और लोकप्रिय संगीतकार राम लक्ष्मण जी (विजय पाटिल) का स्वर्गवास हुआ. ये सुनकर मुझे बहुत दुख हुआ. वो बहुत अच्छे इंसान थे. मैंने उनके कई गाने गाए जो बहुत लोकप्रिय हुए. मैं उनको विनम्र श्रद्धांजलि अर्पण करती हूं!

Photo Courtesy: Twitter

यह भी पढ़ें: कंगना रनौत के बॉडीगार्ड पर लगे यौन शोषण के आरोप, महिला को शादी का झांसा देकर किया रेप (Kangana Ranaut’s bodyguard accused of rape, had forcible physical relationship with woman on pretext of marriage)

प्रॉपर्टी, ज्वेलरी, कार, अपना जीवन या हर वो बेशकीमती चीज़ जिसे हम बड़ी मेहनत से हासिल करते हैं या जिसके खो जाने या डैमेज हो जाने का खतरा होता है, उसका हम इन्श्योरेंस कराते हैं. लेकिन कुछ बॉलीवुड सेलेब्स ने प्रॉपर्टी या सामान का नहीं, बल्कि अपने बॉडी पार्ट्स का ही इंश्योरेंस करा लिया है. आज की स्टोरी में कुछ ऐसे ही सेलेब्स के बारे में जानेंगे जिन्होंने अपने बॉडी पार्ट्स का करोड़ों का इंश्योरेंस करवा रखा है.

प्रियंका चोपड़ा

Priyanka Chopra

इंटरनेशनल दिवा बन चुकी एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा के सेक्सी लिप्स और दिलकश स्माइल के लाखों दीवाने हैं. उनके परफेक्टली सेट दांत और सेक्सी लिप्स के कॉम्बिनेशन वाली स्माइल सच में किलर है. शायद प्रियंका को भी इस बात का अंदाज़ा है, तभी तो उन्होंने अपनी स्माइल को ही इंश्योर्ड कर लिया है.

अमिताभ बच्चन

Amitabh Bachchan

बिग बी अमिताभ बच्चन की दमदार आवाज़ को बॉलीवुड ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में आइकॉनिक माना जाता है. चाहे फिल्मों में कोई किरदार हो या टेलीविजन का कोई गेम शो, अमिताभ की आवाज़ के जादू से सभी इम्प्रेस्ड रहते हैं. अमिताभ भी अपनी आवाज़ की वैल्यू जानते हैं, इसलिए उन्होंने अपनी आवाज़ का इंश्योरेंस करवा रखा है. एक बार एक गुटका ब्रांड ने अपने ब्रांड को प्रमोट करने के लिए उनकी आवाज़ का इस्तेमाल कर लिया था, जिसे लेकर वो बेहद गुस्सा हो गए थे. भविष्य में फिर ऐसा न हो, इसलिए उन्होंने अपनी आवाज़ का इंश्योरेंस करवा लिया.

सनी देओल

Sunny Deol

वैसे तो सनी अपने ढाई किलो के हाथ लिए मशहूर हैं, लेकिन उन्होंने इंश्योरेंस ढाई किलो के हाथ का नहीं, बल्कि अपनी आवाज़ और डायलॉग डिलीवरी की स्टाइल का बीमा करवाया है. दरअसल अक्सर ही सनी पाजी की डायलॉग डिलीवरी की मिमिक्री की जाती है, जो सनी पाजी को बिल्कुल पसंद नहीं. इसीलिये उन्होंने अपनी डायलॉग डिलीवरी की स्टाइल को इंश्योर करवा लिया. उनका कहना है उनकी मिमिक्री करने से उन्हें कोई दिक्कत नहीं, लेकिन लोगों को अपनी हद पता होनी चाहिए.

जॉन अब्राहम

John abraham

जॉन अब्राहम की स्टाइल और हॉट बॉडी की लड़कियां ही नहीं, लड़के भी दीवाने हैं. जॉन यंगस्टर्स के फिटनेस इंस्पिरेशन हैं. फ़िल्म ‘दोस्ताना’ के दौरान जब एक गाने में जॉन ने अपना बम फ्लॉन्ट किया था, तो सबके दिल की धड़कनें बढ़ गई थीं. इसी के बाद जॉन को लगा कि उनका ये बॉडी पार्ट कितना वैल्यूएबल है, इसलिए उन्होंने अपने बम यानी नितम्ब का इंश्योरेंस करवा लिया. जॉन ने 2010 में अपने बम का 10 करोड़ रुपए का यह इन्श्योरेंस कराया था.

नेहा धूपिया

Neha Dhupia

एक्ट्रेस नेहा धूपिया ने भी अपने हिप्स का इन्श्योरेंस कराया है. नेहा ने उसी अमेरिकन इन्श्योरेंस कंपनी से अपना इन्श्योरेंस कराया है, जिसने हॉलीवुड एक्ट्रेस जेनिफर लोपेज के हिप का 27 मिलियन डॉलर में इन्श्योरेंस किया था. नेहा ने बताया था कि इस कंपनी ने जब उन्हें हिप इंश्योरेंस के लिए अप्रोच किया तो उन्होंने भी तुरंत हां कर दी.

लता मंगेशकर

Lata Mangeshkar

स्वर कोकिला और नाइटेगिंल ऑफ इंडिया के नाम से मशहूर लता मंगेशकर सच में लिविंग लेजेंड हैं. उन्होंने कई भाषाओं में हज़ारों फिल्मों में मधुर गीत गाए हैं और उनकी सुरीली आवाज के चाहनेवाले इंडिया ही नहीं पूरी दुनिया में सभी मुरीद हैं. लता जी ने भी अपने गले और सुरीली आवाज का इन्श्योरेंस करा रखा है.
 
रजनीकांत

Rajinikanth

साउथ के सुपरस्टार रजनीकांत की डायलॉग डिलीवरी, आवाज़, हर अंदाज़ के लाखों लोग दीवाने हैं. एक एक्टर के तौर पर पूरी इंडस्ट्री उनका बेहद सम्मान करती है. रजनीकांत ने भी अपनी आवाज़ का कॉपीराइट और इंश्योरेंस करा रखा है.

राखी सावंत

Rakhi Sawant

कॉन्ट्रोवर्सी क्वीन राखी सावंत ने भी नेहा धूपिया की तरह अपने हिप्स का इश्योरेंस कराया है. राखी ने अपने ब्रेस्ट का इश्योरेंस भी करवा रखा है.

अदनान सामी

Adnan Sami

अदनान सामी की ‘तेरा चेहरा…’ अल्बम की वो मीठी आवाज़ आज तक म्यूजिक लवर्स नहीं भूले हैं. बहुत कम लोगों को पता होगा कि अदनान सामी 35 म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट्स बजा सकते हैं. सिंगिंग के अलावा वो फास्टेस्ट कीबोर्ड प्लेयर के तौर पर भी दुनिया भर में मशहूर हैं. इसीलिए अदनान ने अपनी उंगलियों की इंश्योर कर रखा है.

मल्लिका शेरावत

Mallika Sherawat

बॉलीवुड की सेक्स बोम्ब के तौर पर जानी जाने वाली मल्लिका शेरावत ने करियर के शुरुआती दौर में अपनी सेक्सी बॉडी को जमकर फ्लॉन्ट किया. और उनकी हॉट एंड सेक्सी बॉडी के लोग बेतहाशा दीवाने भी थे. लोगों की इसी दीवानगी को देखते हुए मल्लिका ने अपनी पूरी बॉडी का 50 करोड़ का इंश्योरेंस करवाया है. मल्लिका ने 2009 में ये इश्योरेंस लिया था.

मिनिषा लांबा

Minisha Lamba

हालांकि मिनिषा अब बॉलीवुड से दूर हो गई हैं, लेकिन आज भी मिनिषा के परफेक्टली शेप्ड बम को ढेर सारे कॉम्प्लिमेंट्स मिलते हैं. राखी की तरह मीनिषा लांबा ने भी अपने हिप्स का इन्श्योरेंस करा रखा है.


चीन के वुहान से फैले कोरोना वायरस ने साल 2020 की शुरुआत से ही पूरी दुनिया में अपना प्रकोप फैलाना शुरू कर दिया था और अब नए साल का आगाज़ भी होने वाला है, बावजूद इसके कोविड-19 महामारी का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है. दरअसल, जब भारत में इस महामारी ने दस्तक दी और अपना प्रकोप फैलाना शुरु किया तो इससे अधिकांश लोग प्रभावित हुए. एक ओर जहां प्रवासी मजदूर अपने-अपने घरों की ओर पलायन करने को मजबूर हो गए तो वहीं लॉकडाउन के चलते अधिकांश लोगों के सामने रोज़ी रोटी का संकट खड़ा हो गया. ऐसी स्थिति में कोरोना वायरस से बचाव और रोकथाम के लिए केंद्र और राज्य सरकारों ने पीएम केयर्स फंड और सीएम रिलीफ फंड के जरिए लोगों से मदद करने की अपील की.

कोरोना संकट की घड़ी में ग्लैमर इंडस्ट्री से जुड़े कई दिग्गज सितारे, उद्योगपति और अन्य मशहूर हस्तियां आगे आईं और उन्होंने इस महामारी से जारी लड़ाई में आर्थिक सहायता प्रदान की. बॉलीवुड के कई सेलिब्रिटीज़ ने पीएम केयर्स फंड में दान दिया तो वहीं सोनू सूद मसीहा बनकर लोगों की मदद करने के लिए खुद उनके बीच पहुंचे. चलिए जानते हैं सलमान खान से लेकर अक्षय कुमार तक, किन सितारों ने कोरोना संकट के दौरान दिल खोलकर दान किया.

1- सलमान खान
बॉलीवुड के दबंग खान और भाईजान सलमान बेशक लाखों-करोड़ों दिलों पर राज करते हैं, लेकिन लोगों की मदद करने से भी वो कभी पीछे नहीं हटते हैं. उन्होंने कोरोना संकट के दौरान महाराष्ट्र के कई गावों में लोगों को फ्री में राशन मुहैया कराया, साथ ही उन्होंने ऑल इंडिया स्पेशल आर्टिस्ट एसोसिएशन के हर सदस्य को 3 हज़ार रुपए की मदद मुहैया कराई. इतना ही नहीं उन्होंने मुंबई पुलिस को 1 लाख हैंड सैनिटाइजर भी बंटवाएं और फ़िल्म इंडस्ट्री के 25 हज़ार दिहाड़ी मजदूरों के खाने-पीने का इंतज़ाम कराया.

Salman Khan

2- अक्षय कुमार
बॉलीवुड खिलाड़ी अक्षय कुमार भी दान देने के मामले में किसी से कम नहीं है. कोरोना के प्रकोप और लॉकडाउन के दौरान उन्होंने मदद का हाथ आगे बढ़ाया. उन्होंने पीएम केयर्स फंड में 25 करोड़ रुपए दान किए, ताकि इस महामारी से जारी लड़ाई में सहयोग कर सकें. इसके अलावा अक्षय ने बीएमसी को 3 करोड़ रुपए, मुंबई पुलिस को 2 करोड़ रुपए और कोरोना को डिटेक्ट करने वाली करीब एक हज़ार घड़ियों को दान किया था.

Akshay Kumar

3- शाहरुख खान
बॉलीवुड के बादशाह कहे जाने वाले शाहरुख खान ने भी कोरोना से जारी लड़ाई में मदद के लिए हाथ बढ़ाते हुए कोरोना रिलीफ फंड, पीएम केयर्स फंड और महाराष्ट्र सीएम रिलीफ फंड में पैसे डोनेट किए. इसके अलावा उन्होंने स्वास्थ्य कर्मियों के लिए पच्चीस हज़ार पीपीई किट्स भी डोनेट किए. उन्होंने अपने मुंबई स्थित ऑफिस को क्वारेंटाइन सेंटर के तौर पर इस्तेमाल करने के लिए बीएमसी को दिया था और हाल ही में एक्टर ने 500 रेमडेसिवीर इंजेक्शन भी डोनेट किए हैं.

Shahrukh Khan

4- सोनू सूद
सोनू सूद बॉलीवुड के एक ऐसे एक्टर हैं जो कोरोना काल में आम लोगों के लिए मसीहा बनकर सामने आए. लॉकडाउन के दौरान उन्होंने प्रवासी मजदूरों को उनके घर तक पहुंचाने का ज़िम्मा उठाया. इसके साथ ही उन्होंने मेडिकल, राशन, आर्थिक मदद और अन्य सुविधाएं प्रदान करके सबसे कठिन समय में लोगों की मदद की. लॉकडाउन के दौरान लोगों की मदद करने वाले सोनू सूद को लोग मसीहा मानते है.

Sonu Sood

5- ऋतिक रोशन
बॉलीवुड के इन दिग्गज अभिनेताओं के अलावा एक्टर ऋतिक रोशन ने भी कोरोना से जारी लड़ाई के लिए 20 लाख रुपए डोनेट किए थे. आर्थिक सहायता देने के अलावा उन्होंने बीएमसी और स्वास्थ्य कर्मचारियों के लिए मास्क और सैनिटाइजर भी दान किए थे. कोरोना संकट की घड़ी में ऋतिक ने अक्षय पात्र फाउंडेशन के साथ मिलकर 1,20,000 ज़रूरतमंद कर्मचारियों के लिए खाने का इंतज़ाम किया था.

Hrithik Roshan

6- प्रियंका चोपड़ा-निक जोनस
बॉलीवुड की देसीगर्ल प्रियंका चोपड़ा और उनके पति निक जोनस ने भी कोरोना से जारी जंग में मदद के तौर पर पीएम केयर्स फंड और यूनिसेफ समेत अन्य संगठनों में पैसे दान किए. कोरोना को मात देने की इस जंग में काम कर रहे कई संगठनों में पैसे दान करने वाली एक्ट्रेस ने कहा था कि इस स्थिति में लोगों की मदद के लिए आगे आएं और दान करें, चाहे वह दान एक डॉलर का ही क्यों न हो.

Priyanka Chopra-Nick Jonas

इन एक्टर्स के अलावा ‘उरी’ एक्टर विक्की कौशन ने भी पीएम केयर्स फंड और महाराष्ट्र सीएम रिलीफ फंड में 1 करोड़ रुपए दान किए थे, जबकि दान करने के मामले में कार्तिक आर्यन भी पीछे नहीं रहे और उन्होंने दरियादिली दिखाते हुए पीएम केयर्स फंड में 1 करोड़ रुपए बतौर दान दिए थे.

Top Actors

एक्टर रणदीप हूडा ने अपने दोस्त जय पटेल के साथ मिलकर पीएम केयर्स फंड में 1 करोड़ रुपए डोनेट किए थे. उधर, स्वर कोकिला लता मंगेशकर ने भी कोरोना संकट के दौरान 25 लाख रुपए महाराष्ट्र सीएम रिलीफ फंड में दान किए थे. सिंगर व रैपर गुरु रंधावा ने पीएम केयर्स फंड में 20 लाख रुपए तो वहीं एक्टर और होस्ट मनीष पॉल ने भी 20 लाख रुपए का दान दिया था.

लेजेंड सिंगर लता मंगेशकरजी को सांस लेने मेंं तकलीफ़ होने के कारण आईसीयू में भर्ती किया गया है. वे मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में हैं. कल रात से उन्हें सांस लेने में द़िक्क़त होने लगी, जिसके कारण उन्हें तुरंत अस्पताल में लाया गया.

 Lata Mangeshkar
पिछले ही महीने 28 सितंबर को लताजी ने अपना नब्बे वां जन्मदिन मनाया था. तब सभी सेलिब्रिटीज़ ने उन्हें बधाइयां और ढेर सारी शुभकामनाएं दी थीं. ख़ासकर अमिताभ बच्चन और सचिन तेंदुलकर ने तो दिल को छू लेनेवाले वीडियो संदेश सोशल मीडिया पर उन्हें जन्मदिन की मुबारकबाद देते हुए शेयर किए थे, जिसे लोगों ने बेहद पसंद दिया.
लताजी ने अब तक क़रीब एक हज़ार से अधिक गाने गाए हैं. उन्हें साल 2001 में भारत रत्न से भी सम्मानित किया जा चुका है. उन्होंने लगभग 36 भाषाओं में अपनी आवाज़ दी है.
पिछले दिनों अपने सोशल अकाउंट से उन्होंने पानीपत फिल्म में गोपिका बाई का क़िरदार निभा रही पद्मिनी कोल्हापुरे की तारीफ़ भी की थी.
उनकी अच्छे सेहत की दुआ करते हैं. आशा है, वे जल्द ही स्वस्थ होकर हो जाएंगी. गेट वेल सून…

यह भी पढ़ेHBD लता मंगेशकर, देखिए लताजी के 10 सदाबहार गाने (Happy Birthday Lata Mangeshkar)

लता मंगेशकर हो गई हैं 88 साल की. लता दीदी ने साढ़े छह दशकों में 30 से ज़्यादा भाषाओं में हज़ारों गाने गाए हैं. हर जेनेरेशन उनकी आवाज़ की दीवानी है. यूं तो लता दीदी ने हज़ारों गाने गाए हैं, जिनमें से टॉप 10 चुनना बेहद ही मुश्किल है. फिर भी हमने कोशिश की है उनके गानों में से कुछ गाने चुनकर उनके फैन्स तक पहुंचाने की.

फिल्म- वो कौन थी (1964)

https://www.youtube.com/watch?v=TFr6G5zveS8

फिल्म- ख़ामोशी (1969)

यह भी पढ़ें: हैप्पी बर्थडे देव साहब, जानें कुछ बातें, देखें उनके 10 गानें 

फिल्म- दो रास्ते (1969)

https://youtu.be/jp8G2PN9yhM

फिल्म- वीर-ज़ारा (2004)

यह भी पढ़ें: नवरात्र में मां दुर्गा की आराधना करें बॉलीवुड के 11 गरबा के गानों के साथ 

फिल्म- रज़िया सुल्तान (1983)

https://www.youtube.com/watch?v=rJRIAKQhaYA

फिल्म- घर (1978)

https://youtu.be/9j5bnsNS-FE

यह भी पढ़ें: 67 की हुईं शबाना आज़मी, पहली ही फिल्म में मिला था नेशनल अवॉर्ड, जानें दिलचस्प बातें 

फिल्म- पाकिज़ा (1972)

फिल्म- बातों बातों में (1979)

यह भी पढ़ें: बर्थ डे स्पेशल: ऋषि कपूर को बतौर चाइल्ड ऐक्टर मिला था पहला नेशनल अवॉर्ड, देखें टॉप 10 गाने

फिल्म- सरस्वतीचंद्र (1967)

https://youtu.be/FFW6dBHPcTo

फिल्म- इज्ज़त (1968)

यह भी पढ़ें: हैप्पी बर्थडे गुलज़ार साहब! देखें उनके 10 बेहतरीन गाने 

आमिर खान

16 सालों बाद वो हुआ, जो पहले कभी नहीं हुआ था. आमिर खान जिनके बारे में ये मशहूर है कि वो कभी किसी अवॉर्ड फंक्शन में नहीं जाते और न ही कोई अवॉर्ड एेक्सेप्ट करते हैं, वो अब 16 सालों बाद इस ट्रेंड को तोड़कर पहुंचे 75वें मास्टर दीनानाथ मंगेशकर अवॉर्ड्स में. आमिर न सिर्फ़यहां पहुंचे, बल्कि उन्होंने दीनानाथ मंगेशकर अवॉर्ड भी लिया, जो उन्हें फिल्म दंगल के लिए दिया गया. सुनने में आया है कि लता मंगशकर के कहने पर आमिर खान ये अवॉर्ड लेने पहुंचे. इससे पहले आमिर ऑस्कर अवॉर्ड्स में नज़र आए थे, जब उनकी फिल्म लगान ऑस्कर में नॉमिनेटेड थी.

आमिर खान को ये अवार्ड संघ प्रमुख मोहन भागवत ने दिया. आमिर के अलावा पूर्व क्रिकेटर कपिल देव और अभिनेत्री वैजयंती माला को भी मास्टर दीनानाथ मंगेशकर अवॉर्ड से सम्मानित किया गया.

आमिर खान

Lata Mangeshkar
लताजी ने पिछले सात दशक से अपने सुमधुर आवाज़ का जादू सभी पर बिखेरा है. भारत रत्न से सम्मानित बहुमुखी प्रतिभा की धनी लता मंगेशकर की उपलब्धियों में एक और सम्मान जुड़ गया है. उन्हें संगीत के क्षेत्र में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए डी.लिट की उपाधि से सम्मानित किया जा रहा है. यह पुरस्कार वाईसीएमओयू (यशवंतराव चव्हाण महाराष्ट्र मुक्त विश्‍वविद्यालय) द्वारा दिया जा रहा है.

– ऊषा गुप्ता

large-O-P-Nayyar-Newबॉलीवुड के सबसे स्टाइलिश संगीतकार माने जाने वाले ओ पी नैय्यर (O P Nayyar) साहब का जन्मदिन है. 16 जनवरी 1926 को लाहौर में जन्में नैय्यर साहब का पूरा नाम ओम प्रकाश नैय्यर था. बॉलीवुड को बेहतरीन गाने देने वाले नैय्यर साहब ने कभी संगीत की शिक्षा नहीं ली. म्‍यूज़िक डायरेक्‍टर, कंपोजर के तौर पर उन्होंने करिअर की शुरुआत 1949 में फिल्म कनीज से की, जिसका बैकग्राउंड स्‍कोर उन्होंने कंपोज किया था. फिल्म आसमान बतौर संगीतकार उनकी पहली फिल्म रही. ओ पी साहब अपनी शर्तों पर जीवन वाले व्यक्ति थे. उनका अंदाज़ एकदम रईसो वाला था. अक्सर वो हैट में नज़र आते थे. ये उनकी स्टाइल बन चुका था. दरअसल, ओ पी नैय्यर साहब को इंग्लिश फिल्में देखना बेहद पसंद था. वो हॉलीवुड के स्टाइल से इतने प्रभावित थे कि उन्होंने ने भी हैट पहननी शुरू कर दी, जो उनका सिग्नेचर स्टाइल बन गया था. ओ पी नैय्यर अपने ज़माने के सबसे महंगे संगीतकार थे. नैय्यर साहब एक बार जो सोच लेते थे, उसपर कायम रहते थे. इसका सबसे बड़ा उदाहरण ये है कि उन्होंने लता मंगेशकर के साथ कभी काम नहीं किया.

भले ही आज ओ पी नैय्यर साहब हम सब के बीच न हों, लेकिन उनके बनाए गाने अमर हैं, जो उनकी याद दिलाते रहेंगे.

मेरी सहेली (Meri Saheli) की ओर महान संगीतकार ओ पी नैय्यर साहब को नमन. आइए, उनके जन्मदिन के मौक़े पर देखते हैं उनके टॉप 5 गाने.

फिल्म- किस्मत (1968)

फिल्म- नया दौर (1957)

फिल्म- एक मुसाफिर एक हसीना (1962)

फिल्म- मिस्टर एंड मिसेज़ 55 (1955)

फिल्म- मेरे सनम (1965)

 

मेरी आवाज़ ही पहचान है… वाक़ई लता मंगेशकर की आवाज़ पूरे हिंदुस्तान की आवाज़ है. भारत रत्न लता दीदी भारत का वो चमकता सितारा हैं, जिसकी रोशनी पूरी दुनिया में फैली है. लता का 87वां जन्मदिन है, लेकिन इस बार वो अपना जन्मदिन नहीं मना रही हैं. लता मंगेशकर ने ट्वीट करके सबसे निवेदन किया है कि जो पैसे उनके फैन्स फूल, मिठाईयों और केक पर ख़र्च करते हैं, उन पैसों को उनके लिए ख़र्च करने की बजाय सीमा पर तैनात जवानों के लिए डोनेट करें. Best-of-Lata-Mangeshkar-mp3-songs (1)लता मंगेशकर की मधुर आवाज़ का दीवाना भारत ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया है. उन्हें कई उपाधियों से नवाज़ा जा चुका है. लता मंगेशकर का छह दशकों का गायकी का करियर उपलब्धियों से भरा है. उनकी आवाज़ ने संगीत की दुनिया को सुरों से सजाया है. उनकी आवाज लोगों के ज़हन में उतरती है. लता दीदी का नाम सुनते ही हम सभी के कानों में मीठी आवाज़ शहद-सी घुलने लगती है. उन्होंने हिंदी सिनेमा में कई गीत गाए है. छह दशक से हिंदुस्तान की आवाज बन चुकीं लता दीदी ने 30 से ज़्यादा भाषाओं में फिल्मी और नॉन फिल्मी हज़ारों गानों में अपनी आवाज का जादू चलाया. lata-mangeshkarलता मंगेशकर का जन्म 28 सितंबर, 1929 को एक मध्यम वर्गीय मराठा परिवार में हुआ. मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में जन्मीं लता पंडित दीनानाथ मंगेशकर की बड़ी बेटी थीं. लता का नाम पहले ‘हेमा’ था, मगर जन्म के पांच साल बाद माता-पिता ने उनका नाम ‘लता’ रख दिया था. लता अपने सभी भाई-बहनों में बड़ी हैं. मीना, आशा, उषा तथा हृदयनाथ उनसे छोटे हैं. उनके पिता रंगमंच के कलाकार और गायक थे.fd2b6c999d4380f5b509c128e5769581 (1)लता का जन्म इंदौर में हुआ था, लेकिन उनकी परवरिश महाराष्ट्र में हुई. जब लता सात साल की थीं, तब वह महाराष्ट्र आईं. लता ने पांच साल की उम्र से पिता के साथ एक रंगमंच कलाकार के रूप में अभिनय शुरू कर दिया था. वो बचपन से ही गायक बनना चाहती थीं.

लता के पिता शास्त्रीय संगीत के बहुत बड़े प्रशंसक थे, इसीलिए शायद वह लता दीदी के फिल्मों में गाने के ख़िलाफ़ थे. वर्ष 1942 में उनके पिता का देहांत हो गया. इसके बाद उनके परिवार की आर्थिक स्थिति बिगड़ गई और परिवार की ज़िम्मेदारी निभाने के लिए उन्होंने मराठी और हिंदी फिल्मों में छोटी-छोटी भूमिकाएं निभानी शुरू कर दीं.2013_09_28_03_09_48_L1 (1)लताजी को पहली बार मंच पर गाने के लिए 25 रुपये मिले थे. इसे वह अपनी पहली कमाई मानती हैं. लताजी ने पहली बार 1942 में मराठी फिल्म ‘किती हसाल’ के लिए गाना गाया. लता के भाई हृदयनाथ मंगेशकर और बहनें उषा मंगेशकर, मीना मंगेशकर और आशा भोंसले सभी ने संगीत को ही अपना करियर चुना.

विवाह के बंधन में क्यों नहीं बंधी लता मंगेशकर?

बचपन में कुंदनलाल सहगल की एक फिल्म चंडीदास देखकर लता कहती थीं कि वह बड़ी होकर सहगल से शादी करेंगी, लेकिन उन्होंने शादी नहीं की. उनका कहना है कि घर के सभी सदस्यों की ज़िम्मेदारी उन पर थी, ऐसे में जब शादी का ख़्याल आता भी तो वह उस पर अमल नहीं कर सकती थीं.lata-mangeshkar-dilip-kumarलता ने अपने करियर में कई उपलब्धियां हासिल की हैं. उनके मधुर गीत लोगों का ध्यान खींचते हैं, शायद ही कोई ऐसा होगा जो उनके गीतों पर मुग्ध न हो जाए. उनकी आवाज ने सैकड़ों फिल्मों के गीतों को अमर बनाया है.

इस बार लताजी ने अपने 87वें जन्मदिन पर प्रशंसकों से ख़ास गुजारिश की है, जो काबिले तारीफ़ है. मेरी सहेली की ओर से लता दीदी को जन्मदिन की ढेर सारी शुभकामनाएं.

On my birthday, remember and donate for soldiers: Lata Mangeshkar

 

 

 

 

 

×