Tag Archives: latest technology

यूं रीस्टार्ट करें अपनी डिजिटल लाइफ (Restart Your Digital Life Now)

हमारी वर्क लाइफ (Work Life) हो या पर्सनल लाइफ (Personal Life) सब कुछ बहुत तेज़ी से बदल रहा है. रोज़ नए-नए ऐप्स हमें बहुत कुछ सिखाने के लिए आतुर रहते हैं. हमारी डिजिटल लाइफ दिन-ब-दिन एडवांस होती जा रही है, तो क्यों न इस साल बची-खुची कसर भी पूरी कर दें और नए साल में अपनी डिजिटल लाइफ (Digital Life) को रीस्टार्ट करके ख़ुद को दें बेस्ट न्यू ईयर गिफ्ट. 

Digital Life

रीस्टार्ट करें डिजिटल लाइफ

अभी कुछ दिन पहले ही एक बहुत सुंदर-सी पंक्ति पढ़ी, जिसमें लिखा था- ‘सेल्फी ने झूठा ही सही, मगर लोगों को मुस्कुराना सिखा दिया.’ पढ़कर लगा भले ही हम डिजिटल लाइफ को कुछ भी कहें, पर आज यह हमारी पहचान बन चुकी है.

–   ऑनलाइन दुनिया में हमारा अपना एक डिजिटल आईडी कार्ड है ये डिजिटल लाइफ. फेसबुक, व्हाट्सऐप, इंस्टाग्राम, ट्विटर, स्नैप चैट जैसे सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर हमारी डिजिटल लाइफ की झलक देखने को मिलती है.

–     कभी ख़ुशी-कभी ग़म, कभी नखरे, कभी जलन, कभी भावुक होना, तो कभी ग़ुस्सा करना डिजिटल प्लेटफॉर्म पर हमारी डिजिटल लाइफ कई रंगों से गुज़रती है. भले ही सोशल मीडिया पर बहुत कुछ बनावटी होता है, पर हमारी असल ज़िंदगी की एक झलक तो सभी को मिल ही जाती है.

चेहरे पर मुस्कान लाती है डिजिटल लाइफ

ज़रा सोचिए आजकल हमारे चेहरे पर मुस्कान कब आती है-

–     जब कोई अपना हमें व्हाट्सऐप पर याद करता है.

–     जब कोई दोस्त फेसबुक की फोटो पर ईमोजी या कमेंट शेयर करता है.

–    कोई रिश्तेदार अपनी बहुत पुरानी फोटो शेयर करता है, जिसमें हम भी हों.

–    कोई आपके स्टेटस की तारीफ़ करता है.

–     कोई वीडियो कॉल करके कुछ स्पेशल शेयर करता है.

हमारी डिजिटल लाइफ ने हमें एक नया जहां दे दिया है, जहां लोग अपनी लाइफ को उस नज़रिए से सबके सामने रखते हैं, जैसा वो दिखना चाहते हैं. अपनी हसरतों को सबके सामने रखने का प्लेटफॉर्म सोशल मीडिया ने ही तो दिया है. इस डिजिटल लाइफ को नए साल में यूं रीस्टार्ट करें.

अपलोड करें फ्रेशनेस

–     एक और नया साल अपने साथ कई नए मौ़के लेकर आया है, तो इस बार इन्हें अपने हाथ से न जाने दें. फेसबुक पर अपने बचपन या स्कूल के दिनों के पुराने दोस्तों को ढूंढ़ें. नए साल में पुराने दोस्तों का साथ आपकी डिजिटल लाइफ में नई फ्रेशनेस भर देगा.

–    अब तक आप सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर बहुत कम शेयर करते थे, जैसे- महीने में एक बार प्रोफाइल पिक्चर चेंज करना, सालों तक एक ही कवर लगाए रखना आदि, शुरुआत यहीं से करें.

–    बीच-बीच में कभी कुछ स्टेटस डाल दें. कभी कोई बात, कभी कोई फोटो हमें बहुत अच्छी लगती है. उसे दूसरों के साथ शेयर करेंगे, तो उसके रिएक्शन हमें अलग ही ख़ुशी देते हैं.

–     नई-नई कम्यूनिटीज़ से जुड़ें, ताकि आपको कुछ नया जानने को मिले.

–     अपनी हॉबी से जुड़े पेजेज़ को लाइक और फॉलो करें, ताकि हर दिन आप अपनी हॉबी से जुड़े रहें.

–    अगर आपको लगता है कि कई सालों से आपका एक ही पासवर्ड है, जो दूसरों को भी पता है, तो नए साल में उसे भी नया कर दें. यह आपकी डिजिटल सेफ्टी के लिए भी बहुत ज़रूरी है.

डिजिटल कचरा साफ़ करें

–     फेसबुक के ऐसे दोस्तों को ब्लॉक कर दें, जिनकी पोस्ट आपको अच्छा फील नहीं कराती.

–     थोड़ा समय निकालकर अपनी फ्रेंड्स लिस्ट देखें और ग़ैरज़रूरी दोस्तों को लिस्ट से छांट दें. थोड़ा डिजिटल कचरा आपकी लाइफ से साफ़ हो जाएगा.

–    ऐसे कुछ लोग होते हैं, जिन्हें हम कॉमन फ्रेंड के ज़रिए जानते हैं और वो अक्सर अपनी फोटो डालकर भी 20 लोगों को टैग कर देते हैं. ऐसे लोगों से दूरी ही अच्छी.

–     व्हाट्सऐप जैसे मैसेजिंग ऐप्स पर न जाने कैसे-कैसे फोटोज़ और वीडियोज़ आते रहते हैं, इसलिए ऐप में जाकर ऑटो डाउनलोड बंद कर दें, ताकि उन्हें बैठकर डिलीट न करना पड़े.

यह भी पढ़ें: टॉप 10 टिप्स ऑनलाइन रोमांस स्कैम से बचने के (Top 10 Tips To Protect Yourself Against Online Romance Scams)

Digital Life
अपडेट करें स्टाइल और ट्रेंड

–     इस साल अपनी डिजिटल लाइफ को थोड़ा अलग बनाएं. पुराने और बोरिंग स्टाइल को कहें बाय-बाय.

–   डिजिटल लाइफ के प्रोफाइल से लेकर अपने पर्सनल प्रोफाइल तक में कुछ नया करें.

–     नया साल आपके लिए एक नया मौक़ा लेकर आया है, लीक से हटकर कुछ अलग करने के लिए. रोज़मर्रा के अपने बोरिंग रूटीन को बदलने के लिए.

–     नए साल में नए-नए गैजेट्स और स्मार्टफोन्स भी आपको लुभाएंगे, तो अपने स्मार्टफोन को अपडेट करने का समय भी आ गया है.

–     जो कुछ भी करें, यह याद रखें कि आपको अपनी लाइफ को बेहतरीन बनाना है.

रीचार्ज करें पर्सनल लाइफ

हमारी डिजिटल लाइफ सोशल मीडिया तक ही सीमित नहीं है. हमारी पर्सनल और वर्क लाइफ में भी यह काफ़ी मायने रखती है.

–     इस धरती पर ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है, जिसे यह पता हो कि वो ईश्‍वर से कितने सालों का रीचार्ज करवा के आया है, पर इतना यक़ीन है कि यह अनलिमिटेड नहीं है. तो हर पल ख़ुश रहें और अपनों को भी ख़ुश रखें, क्योंकि ख़ुशियां ही आपकी ज़िंदगी को रीचार्ज करती हैं.

–    हेल्थ और फिटनेस सबसे ज़रूरी है, इसलिए एक अच्छा-सा फिटनेस ऐप डाउनलोड करें. योग व एक्सरसाइज़ न स़िर्फ आपकी सेहत को रीचार्ज करेंगे, बल्कि आपकी डिजिटल लाइफ भी अपडेट हो जाएगी.

–     लाइफ को रीचार्ज करने का बेस्ट तरीक़ा है, ऐसे लोगों के साथ रहें, जो आपसे प्यार करते हैं और इसके लिए व्हाट्सऐप से बेहतर क्या हो सकता है.

–    व्हाट्सऐप की मदद से आप अपनों से 24 घंटे जुड़े रहते हैं. दिल में जो आया शेयर कर दिया, आपके अपनों के लिए इससे अच्छा क्या होगा कि आप उनसे 24ु7 जुड़े रहेंगे.

–    हर रोज़ कुछ नया सीखने की कोशिश करें. आप चाहें, तो कुछ ऐप्स डाउनलोड करें और उनके नोटिफिकेशन आपको हर रोज़ कुछ न कुछ नया सिखाएंगे. यूट्यूब और पिनट्रेस्ट पर भी आपको बहुत कुछ रोज़ाना सीखने को मिलेगा.

–     गेम्स आपकी क्रिएटिविटी और फ्लेक्सिबिलिटी बढ़ाते हैं. इसलिए नए साल में कुछ ऐसे डिजिटल और आउटडोर गेम्स को अपनी लाइफ में शामिल करें, जो डीस्ट्रेस करने के साथ-साथ आपके माइंड को शार्प भी बनाएंगे.

–     डायटिंग कर रहे हैं, तो ऐसा ऐप डाउनलोड करें, जो आपको बता सके कि आपने कितनी कैलोरीज़ खाई. इससे आप सचेत हो जाएंगे.

–    पढ़ने के शौक़ीन हैं, तो बुक्स के बहुत से ऐप्स ऑनलाइन मौजूद हैं. बस, उन्हें डाउनलोड करें और अपनी मनपसंद कहानियों व उपन्यास में खो जाएं.

–     कोई बिरला ही होगा, जिसे म्यूज़िक का शौक़ न हो. नए साल में अपने मनपसंद गानों का मज़ा लेना चाहते हैं, तो कोई म्यूज़िक ऐप डाउनलोड करें.

अपग्रेड करें वर्क लाइफ

–     बिज़नेस प्लान बनाना हो या लेटेस्ट प्रोजेक्ट को बेहतर बनाने के लिए भी आइडियाज़ की ज़रूरत हो, डिजिटल वर्ल्ड में ये चीज़ें चुटकी बजाते हो जाती हैं.

–     ऑफिस के काम को मैनेज करने के लिए आपका स्मार्टफोन आपकी काफ़ी मदद कर सकता है. दरअसल, आप अपनी फील्ड से संबंधित ज़रूरी ऐप्स डाउनलोड करके भी अपनी वर्क लाइफ को अपग्रेड कर सकते हैं.

– संतारा सिंह

यह भी पढ़ें: सेहत को नुक़सान पहुंचाते हैं ये गैजेट्स (These Gadgets Can Be Harmful To Your Health)

यह भी पढ़ें: प्रियंका चोपड़ा का फेमिनिस्ट डेटिंग ऐप-बम्बल: क्या है ख़ास? (Smart Features Of Priyanka Chopra’s Dating App Bumble)

होममेकर्स के लिए बेस्ट इंटीरियर डिज़ाइन वेबसाइट्स (Best Interior Design Websites For Homemakers)

 

Interior Design Websites

होममेकर्स के लिए बेस्ट इंटीरियर डिज़ाइन वेबसाइट्स (Best Interior Design Websites For Homemakers)

अपने घर (Home) को देना चाहते हैं एक ख़ास लुक, पर समझ नहीं पा रहे हैं कि आपके घर के लिए बेस्ट (Best) क्या होगा? तो फ़िक्र न करें. इंटरनेट (Internet) का ख़ज़ाना है ना. जी हां, बस एक क्लिक और अनगिनत इंटीरियर डिज़ाइन वेबसाइट्स (Interior Design Websites) आपके सामने. तो देर किस बात कि आज ही क्लिक करें इन वेबसाइट्स पर और बन जाएं इंटीरियर डिज़ाइनर. इंटरनेट के झरोखे से सजाएं अपना आशियाना यहां हम आपको कुछ वेबसाइट्स के बारे में बता रहे हैं, जिनकी मदद से आप सजा सकते हैं अपने सपनों का घर.

– डिज़ायर टू इंस्पायर डॉट नेट

इस वेबसाइट पर बहुत ही अच्छे-अच्छे इंटीरियर डिज़ाइन आइडियाज़ हैं, जिनसे आप अपना घर बहुत ही ख़ूबसूरती से सजा सकते हैं. अपने नाम के मुताबिक इस वेबसाइट पर इतने बेहतरीन आइडियाज़ हैं कि आप कुछ नया करने के लिए तुरंत इंस्पायर
हो जाएंगे.

– हाउज़ डॉट कॉम

अपने घर को ख़ूबसूरत एक्सेसरीज़ से सजाना चाहते हैं, तो आपके लिए यह वेबसाइट बहुत फ़ायदेमंद साबित हो सकती है. इस वेबसाइट पर लाखों की संख्या में इंटीरियर आइडियाज़ हैं. यहां आप कंटेम्पररी, एक्लेक्टिक, ट्रेडिशनल, मॉडर्न, एशियन, मेडिटेरेनियन, ट्रॉपिकल आदि स्टाइल के बेडरूम डिज़ाइन्स हैं. बच्चों के कमरे के ही 19 हज़ार से ज़्यादा फोटोग्राफ्स हैं. इसके अलावा एक्सटीरियर और एक्सेसरीज़ के हज़ारों आइडियाज़ हैं.

– अपार्टमेंट थेरेपी डॉट कॉम

इस वेबसाइट पर इंटीरियर, रेनोवेशन, डेकोर, टेक्नोलॉजी, गार्डेनिंग, शॉपिंग से जुड़ी बहुत-सी बेहतरीन जानकारियां दी गई हैं. इसमें बच्चों के लिए एक अलग से सेक्शन दिया गया है. इसके अलावा इस वेबसाइट की यह भी एक ख़ासियत है कि इसमें होम टूर्स सेक्शन है, जहां आप अपने घर की फोटोग्राफ्स अपलोड कर सकते हैं, ताकि दुनिया आपके हुनर को जान सके.

– इंडियन होम डिज़ाइन डॉट कॉम

इस वेबसाइट पर इंटीरियर से लेकर एक्सटीरियर तक की तमाम जानकारियां उपलब्ध हैं. अगर आप अपने घर को रेनोवेट करके नया लुक देना चाहते हैं, तो इसमें ख़ास इंडियन्स की पसंद को ध्यान में रखते हुए ट्रेडिशनल घरों के डिज़ाइन्स भी दिए गए हैं. इसके अलावा लेटेस्ट ट्रेंड के इंटीरियर के साथ ट्रेडिशनल इंटीरियर की झलक भी है. रेनोवेशन टिप्स, वुडेन आर्किटेक्चर के साथ-साथ होम डिज़ाइन बुक्स की एक लंबी लिस्ट है.

– फ्रेश होम डॉट कॉम

यह एक बेहतरीन वेबसाइट है, जहां आपको इंटीरियर डेकोरेशन के लेटेस्ट व क्रिएटिव आइडियाज़ मिलेंगे. इस वेबसाइट पर कई आइडियाज़ हैं, जिनकी मदद से आप अपने घर को और भी ख़ूबसूरत बना सकते हैं. साथ ही होमकेयर टिप्स से जुड़े कई बेहतरीन लेख भी हैं. फ्रेश होम डॉट कॉम के फोटोग्राफ्स को देखकर आप भी अपने घर को बनाएं फ्रेश होम.

– इंटीरियर्स इंडियन इटी ज़ोन डॉट कॉम

रेसिडेंशियल, कमर्शियल, विक्टोरियन, कंटेम्प्ररी और मॉडर्न इंटीरियर डिज़ाइन्स से सजे इस वेबसाइट से आप बहुत कुछ सीख सकते हैं. इसके अलावा फर्नीचर्स व फ्लोरिंग की एक ख़ास रेंज भी शामिल है. यहां पर इंटीरियर से जुड़े कई लेख भी हैं, जिन्हें पढ़कर आप इंटीरियर डिज़ाइनर्स के सिक्रेट्स जान सकते हैं.

– सुनीता सिंह

यह भी पढ़ें: हर किसी को जानने चाहिए व्हाट्सऐप के ये 5 हिडेन फीचर्स (5 Hidden Features Of Whatsapp Everyone Must Know)

यह भी पढ़ें: 7 कुकिंग ऐप्स जो बनाएंगे कुकिंग को आसान (7 Apps To Make Cooking Easy)

हर किसी को जानने चाहिए व्हाट्सऐप के ये 5 हिडेन फीचर्स (5 Hidden Features Of Whatsapp Everyone Must Know)

 

Hidden Features Of Whatsapp

हर किसी को जानने चाहिए व्हाट्सऐप के ये 5 हिडेन फीचर्स (5 Hidden Features Of Whattsapp Everyone Must Know)

माना कि आप व्हाट्सऐप (Whatsapp) रोज़ाना या फिर यूं कहें कि हर व़क्त इस्तेमाल करते हैं, पर इसके ऐसे कई फीचर्स (Features) हैं, जिनसे आप अब तक अंजान होंगे. क्या हैं वो स्मार्ट फीचर्स (Smart Features) आइए, आपको बताते हैं.

– ग्रुप चैट के बिना भेजें ग्रुप मैसेजेस

व्हाट्सऐप पर आजकल हर किसी के फैमिली से लेकर, ऑफिस, स्कूल, कॉलेज, बिल्डिंग और न जाने कितने ग्रुप्स होते हैं. पर कभी-कभी ऐसा होता है कि ग्रुप के कुछ लोगों से बात करनी है, पर आप नहीं चाहते कि सबको वो बातें पता चलें तो आपको करना होगा ग्रुप मैसेज. इसके लिए मेनू में जाकर न्यू ब्रॉडकास्ट पर क्लिक करें और जिन-जिन लोगों से बात करनी है, उन्हें ऐड करें. बातचीत करके आप तुरंत उसे डिलीट भी कर सकते हैं, ताकि किसी को पता न चले कि आप लोगों के बीच क्या बातचीत हुई.

– फोटो-वीडियो में टाइम और लोकेशन ऐड करें

आईओएस यूज़र्स की तरह ही एंड्रॉयड यूज़र्स भी अपने फोटो और वीडियो में टाइम और लोकेशन ऐड कर सकते हैं. चैट में जाकर फोटो गैलेरी से कोई फोटो भेजने के लिए सिलेक्ट करें. भेजने से पहले देखें, फोटो के ऊपर आपको स्माइली का सिंबल दिखेगा. उसे क्लिक करें. वहां आपको टाइम और लोकेशन दिखेगा, उस पर क्लिक करें. फोटो पर अपने मनमुताबिक उसे सेट करें.

– ज़रूरी मैसेजेस को सेव करें

व्हाट्सऐप अब स़िर्फ चैटिंग ऐप न रहकर हमारे रोज़मर्रा के कामों में काफ़ी उपयोगी साबित हो रहा है. ऐसे में कई बार कुछ ज़रूरी डॉक्यूमेंट, कोई बात या कोई फोटो जो हमें लगता है कि बाद में इसकी ज़रूरत पड़ेगी, तो उसे सेव करके रखना चाहिए. उस फोटो या बात को आप स्टार्ड करके भी सेव कर सकते हैं. जिस बात को स्टार मार्क करना है, उसे लॉन्ग प्रेस करें, सिलेक्ट होने पर ऊपर आपको स्टार का सिंबल दिखेगा, उस पर क्लिक करते ही आपका मैटर स्टार मार्क होकर सेव हो जाएगा. उसे देखने के लिए व्हाट्सऐप ओपन करें. राइट साइड के तीन डॉट्स को क्लिक करें आपको स्टार्ड मैसेजेस का ऑप्शन दिखेगा. उसे ओपन करके आप अपने सारे स्टार्ड मैसेजेस देख सकते हैं.

– ऑटो डाउनलोड बंद करके सेव करें डाटा

व्हाट्सऐप पर जितने फोटो, वीडियो या ऑडियो आते हैं, व्हाट्सऐप उन्हें ऑटोमैटिकली डाउनलोड करके आपकी गैलरी में सेव कर देता है, जिससे न स़िर्फ आपका डाटा बेवजह ख़र्च होता है, बल्कि गैलरी में भी ग़ैरज़रूरी चीज़ें भर जाती हैं. इससे छुटकारा पाने का बेस्ट तरीक़ा है, ऑटो डाउनलोड बंद करना. ऐसा करने के लिए व्हाट्सऐप में जाकर राइट साइड के तीन डॉट को ओपन करें. सेटिंग्स पर जाएं, वहां आपको डाटा एंड स्टोरेज यूसेज दिखेगा, उस पर क्लिक करें. वहां आपको मीडिया ऑटो डानलोड का सेक्शन दिखेगा, जिसमें व्हेन यूज़िंग मोबाइल डाटा, व्हेन केनक्टेड ऑन वाई-फाई और व्हेन रोमिंग के ऑप्शन दिखेंगे. अगर आप चाहते हैं कि मोबाइल डाटा से कुछ भी ऑटोमैटिकली सेव न हो, तो उसमें जाकर सारे ऑप्शन्स को अनटिक कर दें. जब तक आप ख़ुद डाउनलोड नहीं करेंगे, तब तक कोई फोटो या वीडियो डाउनलोड नहीं होगा.

– अपनी लोकेशन शेयर करें

आप कहीं पर हैं और कोई आपसे मिलना चाहता है, लेकिन वो सही रास्ता समझ नहीं पा रहा है, तो सबसे बेस्ट ऑप्शन है लोकेशन शेयर करना. अपने व्हाट्सऐप में जाकर उस व्यक्ति के चैट में जाएं. पेपर क्लिप आइकॉन पर क्लिक करेंगे, तो आपको कई ऑप्शन्स दिखेंगे, उसी में एक है लोकेशन. उसे क्लिक करेंगे, तो शेयर लाइव लोकेशन के अलावा सेंड योर करंट लोकेशन भी है. उस पर क्लिक करते ही आपका लोकेशन सामनेवाले को मिल जाएगा, फिर वो आसानी से आप तक पहुंच सकता है.

– अनीता सिंह

यह भी पढ़ें: 9 बेस्ट वेट लॉस ऐप्स (9 Best Weight Loss Apps)

यह भी पढ़ें: 7 कुकिंग ऐप्स जो बनाएंगे कुकिंग को आसान (7 Apps To Make Cooking Easy)

क्या आपने देखे ‘फ्यूचर ऑफ स्मार्टफोन’ आईफोन X के ये बेहतरीन फीचर्स? ( iPhone X- Loaded With Best Smartphone Features)

फ्यूचर, स्मार्टफोन, आईफोन X, बेहतरीन फीचर्स, iPhone X, Best Smartphone Features

फ्यूचर, स्मार्टफोन, आईफोन X, बेहतरीन फीचर्स, iPhone X, Best Smartphone Features

अपनी 10वीं सालगिरह पर ऐप्पल कंपनी ने आईफोन X (आईफोन टेन) लॉन्च किया. दुनिया के बेहतरीन फोन्स के स्मार्ट फीचर्स की ख़ूबियों से भरपूर आईफोन टेन किसी का भी दिल जीत सकता है. इसके फीचर्स के बारे में जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे. ऑल ग्लास डिज़ाइन, नो होम बटन और सुपर रेटिना डिस्प्ले जैसी अनगिनत ख़ूबियों वाले इस फोन की कीमत भारत में 89 हज़ार और 1 लाख, 2 हज़ार है. आइए जानें इसकी अन्य ख़ूबियां-

– ऑल ग्लास डिज़ाइन में सुपर रेटिना 5.8 डिस्प्ले है. यकीनन ग्लास डिज़ाइन सबको आकर्षित करेगा.

– नो होम बटन, जैसे कि सबको उम्मीद थी, इसमें से होम बटन ग़ायब हो गया है. इसकी बजाय इसमें होम बार होगा. यानी नीचे से ऊपर तक पूरे स्क्रीन पर कोई बटन नहीं.

यह भी पढ़ें: iPhone 8 Rumors: क्या ये होंगे आईफोन 8 के स्मार्टेस्ट फीचर्स?

फ्यूचर, स्मार्टफोन, आईफोन X, बेहतरीन फीचर्स, iPhone X, Best Smartphone Features

– फेस आईडी का नया फीचर इसमें शामिल किया गया है. आपके स्मार्टफोन की सुरक्षा और आपकी प्राइवेसी के साथ कोई छेड़छाड़ न कर सके, इसलिए ऐप्पल ने आपके फेस को ही बतौर अनलॉक रखा है यानी आपका फोन स़िर्फ आपके चेहरे को पहचानकर ही अनलॉक होगा.

यह भी पढ़ें:  मोबाइल डाटा बचाने के स्मार्ट टिप्स

– फोन के दोनों कैमरा को रीइंवेंट किया गया है. इसमें ट्रू डेप्थ सेंसिंग फीचर है, जिसके कारण अंधेरे में भी फोन आपका चेहरा पहचान लेगा.

 

– इसमें एनिमेटेड ईमोजी हैं, जिनका नाम ऐनिमोजी रखा गया है. इसमें मौजूद एनिमोजी आपके चेहरे के भावों को पहचानकर उसी तरह व्यवहार करेगा, जैसा आप करना चाहते हैं. यानी अगर आप किसी को सिर हिलाता हुआ एनिमोजी भेजना चाहता हैं, तो मनपसंद एनिमोजी सिलेक्ट करके सिर हिलाएं और भेज दें.

– अब आपकी दुनिया भी होगी वायरलेस. जी हां, इसमें वायरलेस चार्जिंग मौजूद है.

यह भी पढ़ें: क्या आपके पास हैं ये 8 Best ब्यूटी ऐप्स?

– यह सिल्वर और स्पेस ग्रे कलर्स में मौजूद है.

– इसका 64 जीबी फोन 89 हज़ार में, जबकि 256 जीबी वर्जन 1 लाख, 2 हज़ार में मिलेगा.

– भारत में यह फोन 3 नवंबर को लॉन्च होगा.

– दिनेश सिंह

यह भी पढ़ें: स्लो फोन को सुपरफास्ट बनाने के 5 स्मार्ट ट्रिक्स

6 ऐप्स जो आपके स्मार्टफोन को रखेंगे सेफ (6 Best Antivirus Apps To Protect Your Smartphone)

ऐप्स, स्मार्टफोन, सेफ, Best Antivirus, Apps, Protect, Smartphone
स्मार्टफोन को वायरस, मालवेयर, स्पाईवेयर, ट्रोजन जैसे ख़तरों से बचाने के लिए एंटीवायरस ऐप का होना बहुत ज़रूरी है. प्ले स्टोर में आपको ऐसे कई ऐप्स मिल जाएंगे, जो आपके फोन को सिक्योर रखने का दावा करते हैं, पर इनमें से कई अपने दावों पर खरे नहीं उतर पाते. स्मार्टफोन के बढ़ते ख़तरों को देखते हुए हम आपके लिए लाए हैं, 6 ऐप्स जो आपके स्मार्टफोन को रखेंगे सेफ.

 

1. 360 Security-Antivirus Boost  (360 सिक्योरिटी-एंटीवायरस बूस्ट)

200 मिलियन से ज़्यादा लोगों का पसंदीदा यह एक बेहद लोकप्रिय ऑल इन वन सिक्योरिटी ऐप है,  जिसमें पावर क्लीनर, स्मार्ट स्पीड बूस्टर और एंटीवायरस जैसे फीचर्स हैं, जो आपके ऐप्स की स्पीड बढ़ाने के साथ-साथ मेमोरी स्टोरेज को बढ़ाकर, जंक फाइल्स को क्लीन करता है. आइए, जाने इसके स्मार्ट फीचर्स.

– मोबाइल की सभी फाइल्स को स्कैन करके जंक फाइल्स और कैश मेमोरी को क्लीन करता है, जिससे मोबाइल की स्पीड धीमी नहीं होती और न ही वो हैंग होता है.

– मोबाइल बैटरी को जल्दी-जल्दी डिस्चार्ज होने से बचाता है, जिससे बैटरी लाइफ बढ़ती है.

– सिस्टम कैश, फोटो कैश, वीडियो कैश आदि सभी जंक फाइल्स को क्लीन करके मोबाइल की स्पीड को बढ़ाता है.

–  इसमें एंटी-थेफ्ट फीचर मौजूद है, जिससे चोरी होने या खोने पर मोबाइल को ढूंढ़ना आसान हो जाता है, साथ ही आपका पर्सनल डाटा भी सुरक्षित रखता है.

–  रियल टाइम प्रोटेक्शन की सुविधा है, जो ऑनलाइन शॉपिंग या पेमेंट करते समय आपको फ्रॉड वेबसाइट्स, ऑनलाइन फ्रॉड, फिशिंग आदि से सुरक्षित रखता है.

–  इसकी सबसे बड़ी ख़ूबी यह है कि इससे आप अपने सभी ऐप्स को अलग-अलग लॉक कर सकते हैं यानी अगर आप स़िर्फ अपना व्हाट्सऐप या फेसबुक लॉक करना चाहें, तो उसी ऐप को अलग से भी लॉक कर सकते हैं.

– यह ऐप पूरी तरह फ्री है यानी आपके स्मार्टफोन की सिक्योरिटी पूरी तरह मुफ़्त है.

2. CM Security Lite- Antivirus (सीएम सिक्योरिटी लाइट-एंटी वायरस)

यह ऐप ख़ास ऐसे स्मार्टफोन्स के लिए डिज़ाइन किया गया है, जिनकी मेमोरी 1 जीबी होती है, ताकि आपकी बैटरी ज़्यादा देर तक चले. 16 साल पुराने इस ऐप की लोकप्रियता और विश्‍वसनीयता का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आज 500 मिलियन से भी ज़्यादा लोग इस ऐप को इस्तेमाल कर रहे हैं. आइए जानें, इस ऐप की कुछ ख़ास बातें-

– यह आपके स्मार्टफोन को मल्टी लेयर प्रोटेक्शन देता है. नियमित रूप से फाइल्स व ऐप्स को स्कैन करके उन्हें सेफ रखता है.

– रियल टाइम प्रोटेक्शन देता है, जिससे बिना हिचके आप नए ऐप्स डाउनलोड कर सकते हैं.

– सिस्टम फाइल्स को हमेशा प्रोटेक्टेड और अपडेटेड रखता है, जिससे आपका फोन हैंग नहीं होता.

– जैसा कि इसके नाम से ही पता चलता है कि यह काफ़ी लाइट ऐप है यानी बाकी एंटीवायरस ऐप्स जितनी मेमोरी लेते हैं, उससे आधे स्पेस में यह ऐप आ जाता है.

– वायरस, ट्रोजन, ऐडवेयर, मालवेयर और स्पाईवेयर से आपके फोन को बचाता है.

यह भी पढ़ें: ‘वाहन’ से जानें किसी भी वाहन की जानकारी

3. AVG Antivirus (एवीजी एंटीवायरस)

100 मिलियन यूज़र्स के साथ एवीजी भी काफ़ी भरोसेमंद एंटीवायरस ऐप है, जो आपके फोन को हर ख़तरे से सुरक्षित रखता है. प्राइवेसी प्रोटेक्शन के ख़ास फीचर्स के कारण यह ऐप लोगों में ख़ासा पसंद किया जा रहा है.

– इसमें एक आम एंटीवायरस ऐप की वो सभी ख़ूबियां हैं, जो आपके स्मार्टफोन को वायरस, मालवेयर और स्पाईवेयर से बचाते हैं.

– ऑनलाइन सर्फिंग के दौरान ख़तरनाक वेबसाइट्स के ख़तरे को भांपकर आपको उस वेबसाइट पर जाने से रोकता है.

– इसमें पावर सेविंग का ऑप्शन भी है, जिसे सेट करके आपके काफ़ी बैटरी बचा सकती हैं. साथ ही  मोबाइल डाटा यूसेज़ का ट्रैक रखकर स्टोरेज स्पेस को बढ़ाता है.

– इसमें एंटी थेफ्ट फीचर भी है, जो फोन खो जाने या चोरी हो जाने पर गूगल मैप्स की मदद से  आपके फोन को खोज निकालता है.

– इसमें डिवाइस लॉक सिस्टम मौजूद है, जिससे जब भी कोई आपके मोबाइल का सिमकार्ड बदलता है, तो यह ऑटोमैटिकली फोन को लॉक कर देता है.

– अगर कोई आपके फोन को अनलॉक करने के लिए तीन बार से ज़्यादा ग़लत पासवर्ड डालता है, तो ऐप उसका फोटो खींचकर तुरंत आपको ईमेल कर देता है.

– इसमें आप अपनी पर्सनल फोटोज़ को वॉल्ट में लॉक करके सेफ रख सकते हैं.

– इसमें कॉल और मैसेज ब्लॉकर की सुविधा है, जिससे आप ग़ैरज़रूरी फोन कॉल्स और मैसेजेस को ब्लॉक कर सकते हैं.

ऐप्स, स्मार्टफोन, सेफ, Best Antivirus, Apps, Protect, Smartphone

4. Avast Mobile Security & Antivirus (अवास्ट मोबाइल सिक्योरिटी एंड एंटीवायरस)

100 मिलियन इंस्टॉल्स के साथ अवास्ट मोबाइल सिक्योरिटी एंड एंटीवायरस एंड्रॉयड स्मार्टफोन यूज़र्स का पसंदीदा सिक्योरिटी ऐप है. यह ग़ैरज़रूरी पॉपअप्स और ऐड्स से आपके मोबाइल फोन को बचाता है, जिससे आपका फोन सुरक्षित रहता है. इसकी कुछ ख़ूबियां इस तरह हैं-

– यह एक मल्टीटास्किंग ऐप है, जिसमें एंटी थेफ्ट, कॉल ब्लॉकर, ऐप लॉकर, प्राइवेसी एडवाइज़र, फायरवॉल सिक्योरिटी, रैम बूस्टर, चार्जिंग बूस्टर, जंक क्लीनर, वाईफाई स्कैनर आदि गुण हैं.

– बाकी एंटीवायरस ऐप की तरह इसमें भी एंटी थेफ्ट फीचर मौजूद है, जो सिम बदलने पर फोन को ऑटोमैटिकली लॉक कर देता है, पर साथ ही इसमें एक ख़ास फीचर और है, जो सिम बदलनेवाले का फोटो और ऑडियो रिकॉर्ड कर लेता है.

– बच्चों और अनजान लोगों से आपके पर्सनल डाटा को बचाने के लिए ऐप लॉक सिस्टम है, जिससे आप ऐप्स को लॉक कर सकते हैं.

– आपके मोबाइल को वेब शील्ड देता है, जिससे ऑनलाइन सर्फिंग करते समय ट्रोजन, मालवेयर, स्पाईवेयर वाले लिंक्स पर पहुंचते ही आपको अलर्ट भेजता है.

– वाईफाई सिक्योरिटी होने से बेहिचक आप किसी भी वाईफाई का इस्तेमाल कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: मोबाइल डाटा बचाने के स्मार्ट टिप्स

5. Sophos Free Antivirus and Security (सॉफॉस फ्री एंटीवायरस एंड सिक्योरिटी)

बेस्ट एंड्रॉयड सिक्योरिटी 2016 और बेस्ट प्रोटेक्शन 2015 अवॉर्ड से नवाज़ा जा चुका ऐप सॉफॉस एंड्रॉयड यूज़र्स में काफ़ी लोकप्रिय है. इस ऐप की सबसे बड़ी बात यह है कि फ्री होने के बावजूद यह पूरी तरह ऐड फ्री है यानी ऐप ओपन करने पर बार-बार आपको ऐड्स नहीं दिखाई देंगे.

– ऐप्स और स्टोरेज मीडिया को स्कैन करके उन्हें मालवेयर फ्री बनाता है. श्र मोबाइल खोने या चोरी होने पर एसएमएस कमांड की सुविधा देता है, जिसके ज़रिए आप अपने मोबाइल में डाटा ख़त्म करने, अलार्म बजने, लॉक होने, मैसेज टू फाइंडर आदि की सेटिंग कर सकते हैं.

– ग़ैरज़रूरी और ग़ैरक़ानूनी वेबसाइट्स पर जाने से रोकता है, ताकि मोबाइल को वायरस या मालवेयर डैमेज न कर सकें.

– वेब फिल्टरिंग, स्पैम प्रोटेक्शन और ऐप प्रोटेक्शन की सुविधा है.

– कंपनी द्वारा रोज़ाना मालवेयर डेफिनेशन अपडेट किया जाता है, जिससे आपका फोन हमेशा अपडेटेड व सिक्योर्ड रहता है.

– बैटरी लाइफ को इंप्रूव करने के लिए चार्जिंग के व़क्त डेली स्कैन प्रोग्राम को एक्टिव कर सकते हैं.

ऐप्स, स्मार्टफोन, सेफ, Best Antivirus, Apps, Protect, Smartphone

6. Nortan Security and Antivirus (नॉर्टन सिक्योरिटी एंड एंटीवायरस)

10 मिलियन से ज़्यादा यूज़र्स के साथ यह एक पॉप्युलर एंटीवायरस ऐप बन गया है. यह आपके स्मार्टफोन या टैबलेट के लिए ऑल इन वन फ्री सिक्योरिटी ऐप है. आपके डिवाइस को स्लो करनेवाले या डैमेज करनेवाले वायरस व  मालवेयर को ख़त्म कर देता है.

– बाकी एंटीवायरस ऐप्स की तरह इसमें भी स्पैम कॉल्स व मैसेजेस ब्लॉकेज की सुविधा दी गई है.

– आपकी प्राइवेसी को प्रोटेक्ट करने के लिए खोए या चोरी हुए फोन के डाटा को ख़त्म कर देता है.

– 10 फेल्ड अनलॉक अटेम्ट के बाद मोबाइल को ऑटोमैटिकली लॉक कर देता है.

– वायरस प्रोटेक्शन, स्टोरेज स्पेस और बैटरी की लाइफ को भी बढ़ाता है.

– संतारा सिंह

यह भी पढ़ें: महिलाओं के लिए ख़ास सेफ्टी ऐप्स

स्मार्टफोन आंखों के लिए है हानिकारक (Smartphone Overuse May Damage Your Eyes)

Smartphone Overuse

दिन-रात फोन से चिपके रहने की आदत भले ही आपको दूर-दराज़ बैठे लोगों से जोड़ रही हो, लेकिन ये आपकी आंखों की सेहत बड़ी तेज़ी से बिगाड़ रहा है. आंखों का एकटक मोबाइल फोन पर टिके रहना, उसकी सेहत को डैमेज कर रही है. आइए, हम आपको बताते हैं कि कैसे मोबाइल फोन बहुत स्मार्टली आपकी आंखों को ख़राब कर रहा है. स्मार्टफोन की स्क्रीन आंखों के लिए बड़ी मुसीबत खड़ी कर सकती है. स्मार्टफोन के आने से आंखों की परेशानी में इज़ाफ़ा हुआ है. नई-नई तरह की बीमारियां सुनने और देखने को मिल रही हैं.

we-1234
रेटिना पर अटैक

रात में जब आप अपना फोन यूज़ करते हैं, तो उससे निकलनेवाली लाइट सीधे रेटिना पर असर करती है. इससे आपकी आंखें जल्दी ख़राब होने लगती हैं. देखने की क्षमता धीरे-धीरे घटने लगती है.

ड्राईनेस

दिनभर काम करते रहने से आंखों को आराम नहीं मिलता, ऐसे में रात में भी सोने की बजाय फोन पर देर तक बिज़ी रहना आंखों को ड्राई कर देती है. इससे आंखों में खुजली और जलन होने लगती है. लगातार ऐसा करने से आंखों की अश्रु ग्रंथि पर बुरा प्रभाव पड़ता है.

आईसाइट डैमेज

क्या आप जानते हैं कि स्मार्टफोन हमेशा के लिए आंखों की रोशनी छीन सकता है? जी हां, कई शोधों में ये बात साबित हो चुकी है. फोन से निकलनेवाली ब्लू लाइट (कएत श्रळसहीं) आंखों को पूरी तरह से डैमेज कर सकती है.

यह भी पढ़ें: स्लो फोन को सुपरफास्ट बनाने के 5 स्मार्ट ट्रिक्स
आंखों से पानी गिरना

घंटों स्मार्टफोन से चिपके रहने से आंखों से पानी गिरने लगता है. ऐसा मोबाइल से निकलनेवाली किरणों के कारण होता है. लगातार मोबाइल पर देखते रहने से पलकों का झपकना लगभग कम हो जाता है. इससे आखों को आराम नहीं मिलता और आंखों से पानी गिरने लगता है.

चश्मा लगना

ये मोबाइल फोन आपको भले ही सोशल साइट्स से जोड़कर सुकून पहुंचाते हों, लेकिन आपकी आंखों पर जल्द ही चश्मा चढ़ा देते हैं. इतना ही नहीं, धीरे-धीरे आंखों का नंबर बढ़ने लगता है और पतला चश्मा मोटा होने लगता है. कुछ सालों के बाद आपको आंखों का ऑपरेशन तक करवाना पड़ सकता है.

पुतलियों का सिकुड़ना

स्मार्टफोन का अधिक उपयोग करने से न केवल पलक झपकाने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है, बल्कि आंखों की पुतलियां भी सिकुड़ने लगती हैं. आंखों की नसें सिकुड़ने लगती हैं. इससे आंखों की रोशनी के साथ सिरदर्द की समस्या भी होने लगती है.

आंखों का लाल होना

लगातार फोन की स्क्रीन पर देखते रहने से आंखों का स़फेद भाग लाल होने लगता है. आईड्रॉप डालने से भी ये समस्या कम नहीं होती. लाल होने के साथ ही आंखें हमेशा सूजी हुई भी लगती हैं.

यह भी पढ़ें: हेडफोन ख़रीदते समय रखें इन बातों का ख़्याल
टेंपरेरी ब्लाइंडनेस

लगातार फोन की तरफ़ देखने से जब अचानक आप कहीं और देखते हैं, तो कुछ देर के लिए सब ब्लैक दिखता है. आंखों के सामने अंधेरा छा जाता है. यह आपकी आंखों के लिए अच्छा संकेत नहीं है.

धुंधला दिखना

स्मार्टफोन का अधिक उपयोग आपको इतना नुक़सान पहुंचाता है कि आपको धुंधला दिखने लगता है. अंग्रेज़ी में इसे ब्लर्ड विज़न कहते हैं. यह प्रक्रिया आगे चलकर गंभीर हो जाती है और आपको दिखने में समस्या होने लगती है

shutterstock_91918328

कैसे बचें?

अगर आप चाहते हैं कि आपकी आंखें ख़राब न हों, तो आप नीचे दिए गए सुझावों को अपनाएं.

दूरी मेंटेन करें

आप अचानक तो फोन का यूज़ करना बंद या कम नहीं कर सकते. ये सच भी है लेकिन फोन को आंखों से दूर रखकर कुछ हद तक आंखों को सेफ रख सकते हैं. जब भी फोन यूज़ करें इस बात का ज़रूर ध्यान रखें कि फोन आंखों के बेहद क़रीब न हो.

20 सेकंड का ब्रेक

दिनभर ऑफिस में कंप्यूटर पर काम करने के बाद वैसे ही आपकी आंखें थक जाती हैं. ऐसे में फोन की स्क्रीन से चिपके रहने पर आंखों की सेहत पर बुरा असर पड़ता है. जब भी फोन इस्तेमाल करें, तब हर 20 मिनट के बाद 20 सेकंड का ब्रेक लें. यह ब्रेक आंखों को रिलैक्स करेगा.

नो नाइट वॉच

क्या आपको नहीं लगता कि रात सोने के लिए बनी है. दिनभर काम और रात को फोन पर चैटिंग, वीडियो वॉचिंग आदि आपको कितना थका देता है. ख़ुद ही एक लिमिट तय करें. रात में एक समय के बाद फोन यूज़ न करें. देर रात तक फोन यूज़ करने से नींद ख़राब होती है और बाद में ये आदत-सी हो जाती है. इससे आंखों के नीचे डार्क सर्कल, पफनेस आदि होने के साथ आईसाइट पर भी बुरा असर होता है.

लाइट कम करें

शुरुआत में फोन की लत से बचना बहुत मुश्किल है. हां, धीरे-धीरे इस आदत को आप कम कर सकते हैं, इसलिए बेहतर होगा कि फोन यूज़ करते समय फोन की ब्राइटनेस कम करें. इससे आंखों पर प्रेशर कम पड़ेगा.

– श्‍वेता सिंह

यह भी पढ़ें: मोबाइल चार्जिंग में रखें इन बातों का ख़्याल

 

सोशल मीडिया पर बचें इन 15 ग़लतियों से (Avoid These 15 Social Media Mistakes)

Social Media Mistakes

पल-पल की ख़बर देनेवाला सोशल मीडिया (Social Media) आज युवाओं के जीवन का अभिन्न अंग बन चुका है. इसके प्रभाव से कोई भी अछूता नहीं है. सोशल मीडिया जहां एक ओर हमें जोड़ने का काम करता है, वहीं कुछ धोखेबाज़ व आपराधिक क़िस्म के लोग इसका दुरुपयोग अपने फ़ायदे के लिए भी करते हैं, इसलिए सोशल मीडिया पर एक्टिव रहते समय ऐसी ग़लतियां न करें, जिनका ख़ामियाज़ा आपको भविष्य में भुगतना पड़े.

web-1234

  1. सोशल मीडिया पर एकसाथ ढेरों फोटोज़ शेयर न करें. अक्सर लोग इस तरह की ग़लतियां करते हैं. किसी के पास इतना समय नहीं होता है कि वह आपकी इतनी फोटोज़ के लिए ख़ास समय निकाले. आपके फ्रेंड्स व रिश्तेदार भी केवल चुनिंदा और अच्छी फोटोज़ देखना ही पसंद करते हैं.
  2. सोशल साइट पर अपने अंतरंग व भद्दे फोटोज़ शेयर न करें, जिससे आपके फ्रेंड्स व रिश्तेदार असहज महसूस करें.
  3. अक्सर लोग घूमने के लिए जाते समय सोशल मीडिया पर अपना स्टेटस डालते हैं, जो बहुत बड़ी ग़लती है. हो सकता है, कुछ आपराधिक क़िस्म के लोग आपके स्टेटस पर अपनी पैनी नज़र रखे हों. आपके स्टेटस को पढ़कर आपकी गैरहाज़री में वे आपके घर पर किसी वारदात को अंजाम दे सकते हैं.
  4. अक्सर लोग सोशल मीडिया (फेसबुक आदि) पर धर्म व भगवान के नाम की पोस्ट शेयर करते हैं. इस तरह की पोस्ट को लाइक करने की ग़लती न करें. जैसे ही आप उस पोेस्ट को लाइक करेंगे, पोस्ट करनेवाले को नोटिफिकेशन मिलेगा और वह आपके नाम पर ‘क्लिक’ करके आपका प्रोफाइल देख सकता है. फोटो सेक्शन में जाकर आपकी अच्छी फोटोज़ को ‘सेव’ करके अश्‍लील वेबसाइट पर अपलोड करके उनका दुरुपयोग कर सकता है.
  5. इसके अलावा आपकी फोटो के साथ अश्‍लील व गंदे टाइटल लगाकर भी वह अश्‍लील वेबसाइट पर अपलोड कर सकता है.
  6. कुछ धोखेबाज़ व घटिया मानसिकतावाले लोग फोटोशॉप में जाकर आपकी फोटो को आपत्तिजनक स्थिति में लगाकर भी दूसरी साइट्स पर अपलोड कर सकते हैं.
  7. सोशल मीडिया पर धर्म से जुड़ी बातें/शहीद सैनिक/कोई प्यारा-सा बच्चा, जो किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित बताया जाता है, इस तरह की पोस्ट को लाइक और शेयर करने की भूल न करें.
  8. इस तरह की पोस्ट आपकी भावनाओं का लाभ उठाने के लिए की जाती है. आप इमोशनल होकर या देशभक्ति की भावना दिखाने के उद्देश्य से इन पोस्ट को लाइक और शेयर करके भूल जाते हैं, लेकिन इस तरह की पोस्ट करनेवाले धोखेबाज़ लोगों व कंपनियों को आपका प्रोफाइल मिल जाता है और वे आपकी फोटोज़ को सेव करके उनका दुरुपयोग भी कर सकते हैं.
  9. कुछ फ़र्जी कंपनियां अपनी मार्केटिंग के लिए आपकी फोटोज़ का दुरुपयोग कर सकती हैं. इन कंपनियों का कंटेंट कुछ ख़ास नहीं होता, लेकिन विज्ञापन होने की वजह से ये कंपनियां भरपूर कमाई करती हैं. इसलिए अपनी सेटिंग में अपनी फोटोज़ को ‘पब्लिक’ करने की ग़लती न करें.
  10. इसी तरह से सोशल मीडिया पर सस्ते दर पर लोन लेने और घर ख़रीदनेवाली पोस्ट्स आती रहती हैं. इन पोस्ट्स को लाइक और शेयर करने से बचें.
  11. न ही अपने जानकारों व रिश्तेदारों के साथ इन पोस्ट्स को शेयर करें.
  12.  इस तरह की पोस्ट में आपकी पर्सनल डिटेल्स (नाम, पता, मोबाइल नंबर, बैंक
    अकाउंट नंबर, पिन नंबर आदि) मांगी जाती हैं और आपके द्वारा पर्सनल डिटेल्स शेयर करने पर सारी जानकारी उनके डाटा बेस में चली जाती है. फिर वे बार-बार एसएमएस भेजकर परेशान करते हैं.
  13. अकाउंट नंबर और पिन नंबर शेयर करने पर फ्रॉड लोग आपके अकांउट से रुपए भी निकाल सकते हैं.
  14. सोशल मीडिया पर अंजानी डेटिंग साइट्स की भरमार रहती है. इन साइट्स पर ग़लती से भी क्लिक न करें. ये फेक डेटिंग साइट्स लड़कियों व महिलाओं की फोटो को सेव करके उनका मिसयूज़ करती हैं.
  15. सोशल साइट्स पर कोई विवादास्पद फोटो शेयर न करें, जिससे किसी की भावनाएं आहत हों.
[amazon_link asins=’B01FM7GGFI,B072LNVPMN,B01LZKSUXF,B0756VP793′ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’a8eddee0-baf3-11e7-b096-efe86ad8d658′]
यह भी पढ़ें: महिलाओं के लिए ख़ास सेफ्टी ऐप्स
web-1236
सोशल मीडिया अलर्ट
  • ध्यान रखें, अपनी फोटो को केवल अपने फैमिली व फ्रेंड्स के साथ ही शेयर करें.
  • इसी तरह से आपकी पुरानी फोटोज़ का दुरुपयोग न हो सके, उनकी शेयरिंग को भी ‘फ्रेंड्स’ कर दें.
  • फैमिली व पर्सनल फोटोज़ को स़िर्फ ‘कस्टमाइज़्ड’ ग्रुप में ही शेयर करें.
  • हमेशा अपनी फोटोज़ और जानकारियां पोस्ट करते समय ‘फ्रेंड्स’ सिलेक्ट करें ‘पब्लिक’ नहीं.
  • अनजान फोटोज़ या पोस्ट पर लाइक, शेयर या कमेंट न करें.
  • इस तरह की पोस्ट को नज़रअंदाज़ करें.
  • अपने दोस्तों व रिश्तेदारों को भी इस तरह की पोस्ट पर लाइक, शेयर या कमेंट करने के लिए मना करें.
  • उन्हें भी इस तरह की पोस्ट या मैसेज को आगे फॉरवर्ड करने से रोकें.
  • सोशल साइट्स पर अपनी पर्सनल डिटेल्स किसी के साथ शेयर न करें.
  • ऑनलाइन शॉपिंग करते समय पर्सनल डिटेल्स सोच-समझकर शेयर करें.
  • शेयर करने से पहले कंपनी की विश्‍वसनीयता ज़रूर जांच लें.
  • ऐसे पोस्ट व मैसेज आगे शेयर न करें, जिसमें ज़रूरत से ज़्यादा कम क़ीमत पर सामान बेचने का दावा किया जा रहा हो.
  • अगर किसी अंजान नंबर से कोई मैसेज आया हो, तो उसे तुरंत ब्लॉक कर दें.
– पूनम नागेंद्र शर्मा

यह भी पढ़ें: सुस्त कंप्यूटर को तेज़ बनाने के आसान टिप्स

2017 में किन मोबाइल्स को सपोर्ट नहीं करेगा व्हाट्सऐप? (WhatsApp Update: List of Smartphones That Will Not Be Supported in 2017)

Whatsapp
पुराने वर्ज़न के मोबाइल इस्तेमाल करनेवाले 2017 से फ्री मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप (WhatsApp) का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे. जी हां, हाल ही में वीडियो कॉलिंग और जिफ जैसे नए फीचर्स लॉन्च करनेवाला व्हाट्सऐप अब एक नया क़दम उठानेवाला है, जिसके तहत व्हाट्सऐप 2017 से पुराने मोबाइल्स पर अपनी सर्विस बंद करने जा रहा है यानी पुराने वर्ज़न के मोबाइल्स वाले अब व्हाट्सऐप का लुत्फ़ नहीं उठा पाएंगे.

Whatsapp

मोबाइल्स जिनमें बंद हो जाएगा व्हाट्सऐप (WhatsApp)

एंड्रॉयड, आईफोन, ब्लैकबेरी और विंडोज़ फोन के पुराने वर्ज़न्स को व्हाट्सऐप (WhatsApp) अब सपोर्ट नहीं करेगा. कौन-कौन-से हैं वो मोबाइल्स, आइए जानते हैं-

ब्लैकबेरी ओएस और ब्लैकबेरी 10

व्हाट्सऐप (WhatsApp) ब्लैकबेरी के ज़्यादातर डिवाइसेस से अपना सपोर्ट हटानेवाला है. इसमें ब्लैकबेरी ज़ेड 10, ब्लैकबेरी पासपोर्ट और ब्लैकबेरी क्लासिक शामिल हैं. इनकी सर्विसेज़ 30 जून, 2017 तक बंद हो जाएंगी.

नोकिया एस 40 और सिंबियन एस 60

इसमें नोकिया एस 40 के अलावा नोकिया प्योरव्यू 808 भी शामिल हैं.

एंड्रॉयड 2.1 और एंड्रॉयड 2.2

एंड्रॉयड के ये वर्ज़न 5 साल पहले लॉन्च हुए थे, इसलिए बहुत ही कम लोग इनका इस्तेमाल करते होंगे, जिससे प्रभावित लोगों की संख्या कम ही रहेगी.

विंडोज़ फोन 7

माइक्रोसॉफ्ट का विंडोज़ 7 बहुत बड़े पैमाने पर लॉन्च किया गया था, पर इसके फीचर्स के कारण यह कुछ ख़ास नहीं चला. इसके अलावा लूमिया 510, 710 और 810 स्मार्टफोन्स भी हैं.

आईफोन 3 जीएस/आईओएस 6

एप्पल ने 2012 में आईओएस 6 लॉन्च किया था. पर आजकल जो भी आईफोन्स लोग इस्तेमाल करते हैं, वो आईफोन 4 के बाद के वर्ज़न हैं, इसलिए आईफोन यूज़र्स को घबराने की कोई ज़रूरत नहीं है.

– दिनेश सिंह

7 वेडिंग ऐप्स से आसान बनाएं 7 फेरों का सफ़र (7 best wedding apps)

wedding

wedding

आवर वेडिंग प्लानर (Our Wedding Planner)

अगर आप शादी जैसे बड़े ओकेज़न को ‘परफेक्ट’ बनाना चाहते हैं, तो यह फ्री ऐप आपके लिए बहुत फ़ायदेमंद है. इस ऐप की सहायता से आपको बेसिक टु-डू लिस्ट, गेस्ट लिस्ट, बजट और सर्विस प्रोवाइडर (केटरर, फोटोग्राफर, वीडियोग्राफर, फ्लोरिस्ट, डीजे आदि सेवाएं उपलब्ध करानेवाले लोग) की सुविधा एक ही स्थान पर मिल जाती है. इस ऐप के द्वारा आप अपने फोन से संपर्क करनेवाले दोस्तों व रिश्तेदारों को गेस्ट लिस्ट में डाल सकते हैं, साथ ही यह ऐप इंविटेशन को मैनेज करने में भी मदद करता है. अपने वेडिंग बजट को विभिन्न श्रेणियों में किस तरह से बांटना चाहिए, यह आइडिया भी इस ऐप की सहायता से मिलता है.

वेडिंग प्लानर (Wedding Planner)

इस फ्री ऐप की सहायता से आप शादी के सभी कार्यों को आसानी से नियंत्रित कर सकते हैं. इस ऐप को डाउनलोड करने के बाद आपको अपने स्मार्टफोन पर गेस्ट स्क्रीन, बजट स्क्रीन, वेंडर स्क्रीन, टास्क स्क्रीन और अन्य महत्वपूर्ण स्क्रीन दिखाई देंगी. यह ऐप गेस्ट लिस्ट, वेंडर और शादी का बजट आदि ज़रूरी कार्यों को मैनेज करने में मदद करता है. उदाहरण के लिए वेंडर स्क्रीन में जाकर आप किसी भी वेंडर को ट्रैक करके वेन्यु (विवाह स्थल) का निरीक्षण और चुनाव कर सकते हैं, साथ ही इसमें विवाह स्थल से जुड़ी जानकारी, रेटिंग, प्रत्येक वेंडर के काम का मेहनताना आदि से जुड़ी सूचनाएं भी दी रहती हैं. इसी तरह से बाकी के स्क्रीन्स में जाकर सारी जानकारियां प्राप्त करके आप अपनी ज़रूरत के अनुसार निर्णय ले सकते हैं.

वेडिंग प्लानड्रॉयड (Wedding Plandroid)

यह फ्री ऐप इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि शादी की तारीख़ से लेकर शादी के दिन तक की वर-वधू की सारी तैयारियों में उनकी मदद करता है. इसके अलावा शादी से जुड़ी सभी तैयारियां, वेडिंग बजट, गेस्ट लिस्ट, वेंडर आदि को मैनेज करता है. इस ऐप का उद्देश्य शादी की तैयारियों को तनावरहित बनाना है, ताकि वर-वधू और उनके परिवार के सदस्य शादी को एंजॉय कर सकें.

वेडिंग डेकोरेशन आइडियाज़ (Wedding Decoration Ideas)

यह ऐप उपरोक्त बताए गए ऐप्स से बिल्कुल अलग है, क्योंकि यह फ्री एंड्रॉयड ऐप उन लोगों के लिए बहुत फ़ायदेमंद है, जो शादी की सजावट के लिए अलग तरह के आइडियाज़ चाहते हैं. यहां पर आपको अनेक प्रकार के वेडिंग डेकोरेटिव आइडियाज़ मिल जाएंगे. यदि आप डेकोरेटिव आइडिया तय नहीं कर पा रहे हैं, तो यह ऐप डेकोरेटिव आइडिया चुनने में आपकी मदद भी करता है. इस ऐप के ज़रिए आपको 100 से भी अधिक वेडिंग डेकोरेटिव आइडियाज़ से जुड़े इमेजेस मिल जाएंगे. आप इन इमेजेस को अपने मोबाइल में सेव कर सकते हैं और अन्य लोगों के साथ शेयर भी कर सकते हैं.

वेडिंग ऑर्गनाइज़र (Wedding Organizer)

इस फ्री एंड्रॉयड ऐप ‘वेडिंग ऑर्गनाइज़र’ की सहायता से आप शादी जैसे बड़े काम को बहुत ही ऑर्गनाइज़्ड और सिस्टमेटिक तरी़के से कर सकते हैं. इस ऐप में शादी की तारीख़ से लेकर विवाह स्थल का चुनाव, शादी में होनेवाले ख़र्चों और मंथली सेविंग से जुड़ी सारी जानकारी दर्ज़ करनी पड़ती है. इतना ही नहीं, आप इस ऐप के द्वारा शादी के अलग-अलग फंक्शन को अटेंड करनेवाले दोस्तों-रिश्तेदारों (साथ ही कौन-कौन वेज और नॉनवेज हैं) को भी मार्क कर सकते हैं.

परफेक्ट वेडिंग प्लानर (Perfect Wedding Planner)

इस ऐप की सहायता से आप शादी जैसे बड़े अवसर के लिए की जानेवाली तैयारियों को अच्छी तरह और आसान तरी़के से मैनेज कर सकते हैं. इस ऐप में अनेक उपयोगी और आकर्षक फीचर्स, जैसे- कॉन्टैक्ट्स, इन्विटेशन, उपस्थित लोग, बजट, चेकलिस्ट, वेंडर्स आदि हैं, जिन्हें आसानी से क्रिएट और ऑपरेट कर सकते हैं. इस ऐप को इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि शादी की प्लानिंग करते समय आपकी एनर्जी और टाइम की बचत हो. गेस्ट लिस्ट से लेकर शादी की सारी तैयारियां, यहां तक कि मेहमानों को आने के लिए धन्यवाद देने तक के फीचर्स इस ऐप में उपलब्ध हैं.

द बजट वेडिंग (The Budget Wedding)

यदि आप सीमित बजट में शादी करने की योजना बना रहे हैं, तो ‘द बजट वेडिंग’ फ्री एंड्रॉयड ऐप आपके लिए बहुत ही फ़ायदेमंद है. इस ऐप में अनेक मनी सेविंग आइडियाज़ हैं, जिनकी सहायता से आप शादी में होनेवाले अनावश्यक ख़र्चों को कम करके बचत कर सकते हैं. अगर आप एक सक्सेसफुल वेडिंग की प्लानिंग कर रहे हैं, तो उपरोक्त बताए गए बेस्ट वेडिंग ऐप्स आपके लिए बहुत फ़ायदेमंद साबित होंगे. आप अपने स्मार्टफोन पर अपनी पसंद और ज़रूरत के अनुसार इन उपयोगी ऐप्स को डाउनलोड कर सकते हैं. इन ऐप्स की सहायता से आप अपनी शादी को ख़ूबसूरत और यादगार बना सकते हैं.

– पूनम शर्मा

व्हाट्सऐप वीडियो कॉलिंग- क्या आपने किया एक्टिवेट? (whatsApp video calling- have you updated?)

स्मार्टफोन इस्तेमाल करनेवालों में कोई बिरला ही होगा, जो फ्री मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप (WhatsApp) का इस्तेमाल न करता हो. ईज़ी फीचर्स के कारण यह काफ़ी लोकप्रिय हो गया है. लोगों के बीच बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए ही व्हाट्सऐप ने वीडियो कॉलिंग फीचर लॉन्च किया है यानी अब आप बिना एक पैसा ख़र्च किए अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ जी भरकर वीडियो कॉलिंग कर सकते हैं.

WhatsApp

कैसे करें एक्टिवेट?

– गूगल प्ले स्टोर में जाकर व्हाट्सऐप सर्च करें.
– व्हाट्सऐप अपडेट करें.
– वीडियो कॉलिंग फीचर ऑटोमैटिकली अपडेट हो जाएगा.

कैसे करें वीडियो कॉल?

– व्हाट्सऐप ओपन करें.
– कॉन्टैक्ट्स में जाकर जिसे कॉल करना है, उसके नाम के आगे बने फोन के आइकॉन पर क्लिक करके वीडियो फीचर सिलेक्ट करके वीडियो कॉलिंग का लुत्फ़ उठाएं.

नोट: व्हाट्सऐप कॉलिंग के लिए सामनेवाले का व्हाट्सऐप भी अपडेटेड होना चाहिए.

बचें व्हाट्सऐप इन्वाइट मैसेज से

आजकल सभी व्हाट्सऐप ग्रुप पर व्हाट्सऐप वीडियो कॉलिंग का मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें वीडियो कॉलिंग फीचर को अपडेट करने की बात की गई है, पर आप भूलकर भी इस मैसेज पर क्लिक न करें. दरअसल, यह एक स्पैम है, जिसे क्लिक करते ही आप एक वेबसाइट पर पहुंच जाएंगे और आपको वहां अपने कुछ और कॉन्टैक्ट्स ऐड करने की मांग करता है. ऐसा करने पर आपके कॉन्टैक्ट्स हैक हो सकते हैं, इसलिए ऐसे किसी भी मैसेज को डिलीट कर दें और प्ले स्टोर में जाकर अपना ऐप अपडेट करें.

– दिनेश सिंह

क्या हैं आईफोन 7 के नए फीचर्स? (smart features of iPhone 7)

स्टेटस सिंबल बन चुके आईफोन 7 का सबको बेसब्री से इंतज़ार था. पूरी दुनिया की तरह भारत में भी आईफोन के दीवानों की कमी नहीं और इस बार तो कुछ ख़ास ही रहा इंतज़ार, क्योंकि कंपनी ने आईफोन 7 में जोड़े हैं कई नए फीचर्स. भारत में भी आईफोन7 लॉन्च हो चुका है, तो आइए जानते हैं, क्या कुछ है इसमें ख़ास? iPhone 7

1

 

– आईफोन 7 पहली बार 32 जीबी के मिनिमम मेमोरी से साथ लॉन्च हुआ है.
– इसमें दो नए कलर्स हैं- मैट ब्लैक और जेट ग्लॉसी ब्लैक.
– इसका ए 10 फ्यूज़न प्रोसेसर आईफोन 6 के मुकाबले 40 गुना ज़्यादा फास्ट है.
– इसमें क्वाड एलईडी ट्रू टोन फ्लैश भी दिया गया है.
– सेल्फी के शौक़ीनों के लिए ख़ास 7 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा है.

The-iPhone-7-and-iPhone-7-Plus-finally-arrive-in-India-along-with-the-Apple-Watch-Series-2

– कैमरा 2x ऑप्टिकल ज़ूम के साथ दो रियर कैमरे भी हैं, जिसमें पहला वाइड एंगल लेंस है, जबकि दूसरा टेलीफोटो का काम करता है. और सबसे ख़ास बात यह कि यह 10x तक ज़ूम करता है.
– आईफोन 7 में हेडफोन जैक नहीं है, बल्कि उसकी जगह कंपनी ने ऑडियो के लिए लाइटिंग पोर्ट का इस्तेमाल किया है.
– इसकी एक और ख़ास बात है इसका रेटिना एचडी डिस्प्ले. जी हां, कंपनी का दावा है कि इसके हाई डेफिनेशन फीचर्स के कारण यह पहले से 25% ज़्यादा ब्राइट और आकर्षक लगता है.
– आईफोन 7 को वॉटर और डस्ट प्रूफ बनाया गया है यानि अब न पानी में गिरने का डर और न ही बार-बार धूल साफ़ करने की झंझट.
– साथ ही इसके होम बटन में भी बदलाव हुआ है. अब यह एप्पल के टैप्टिक इंजन पर चलेगा यानी यह मैकबुक के ट्रैकपैड जैसा काम करेगा. इसे आपको क्लिक नहीं करना होगा, बल्कि प्रेस करना होगा.
– शैलेंद्र सिंह

पासवर्ड सिलेक्ट करते व़क्त न करें ये ग़लतियां

2

ईमेल अकाउंट हो या बैंक अकाउंट, प्रोफेशनल अकाउंट हो या फिर पर्सनल अकाउंट- हर तरह के अकाउंट को सुरक्षित रखने के लिए हम सबसे सिक्योर्ड पासवर्ड बनाते हैं, पर कई छोटी-छोटी ग़लतियां इन अकाउंट्स की सुरक्षा के लिए ख़तरा हो सकती हैं. हैकिंग की बढ़ती वारदातों से सबक लेते हुए हमें पासवर्ड सिलेक्ट करते व़क्त कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए. तो आइए जानें, कौन-सी हैं वो ग़लतियां, जो अक्सर लोग करते हैं? और कैसे बनाएं एक स्ट्रॉन्ग व सिक्योर्ड पासवर्ड?

पासवर्ड मिस्टेक्स

छोटा पासवर्ड: बड़े पासवर्ड को याद रखने की झंझट से बचने के लिए अक्सर लोग छोटा पासवर्ड बनाने की ग़लती
करते हैं.

पर्सनल डाटा को चुनना: मोबाइल नंबर, जन्मदिन, शादी की सालगिरह, पत्नी या बच्चों का नाम, अपना पता आदि को पासवर्ड बनाने की ग़लती ज़्यादातर लोग करते हैं. ऐसे में आपके बारे में थोड़ी-बहुत जानकारी रखनेवाला कोई भी व्यक्ति आपका अकाउंट हैक कर सकता है.

बहुत कॉमन पासवर्ड रखना: बहुत कॉमन पासवर्ड, जैसे- अपने फेवरेट एक्टर का नाम, अपनी मनपसंद डिश का नाम, आपका फेवरेट डायलॉग या तकियाकलाम आदि रखने से दूसरों के लिए पासवर्ड पता करना बहुत आसान हो
जाता है.

अपने नाम का पासवर्ड बनाना: बहुत-से लोगों को यह सबसे आसान लगता है कि अपने ही नाम, सरनेम या निक नेम को पासवर्ड बनाएं, पर हैकर्स के लिए भी यह उतना ही
आसान है.

स़िर्फ अक्षर या नंबर रखना: पासवर्ड हमेशा लेटर्स, नंबर्स, स्पेशल कैरेटर्स आदि को जोड़कर बनाना चाहिए, स़िर्फ अक्षर या नंबर्स को क्रैक करना आसान होता है.

सभी जगह एक ही पासवर्ड रखना: याद रखने की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए बहुत-से लोग एक ही पासवर्ड का इस्तेमाल सभी अकाउंट्स में करते हैं, चाहे वो ईमेल हो, नेट बैंकिंग हो या मोबाइल फोन की सिक्योरिटी. इसमें सबसे बड़ा ख़तरा यही होता है कि एक जगह का पासवर्ड क्रैक हो गया, तो धोखाधड़ी करनेवालों के लिए यह बहुत आसान हो जाता है.

पासवर्ड न बदलना: सालों से एक ही पासवर्ड इस्तेमाल करने से उसके लीक होने की संभावना बढ़ जाती है. पासवर्ड को समय-समय पर बदलते रहना चाहिए.

लिखकर रखना: पासवर्ड बनाने के बाद भूल न जाएं, इसलिए लिखना ज़रूरी है, पर संभालकर. अपने मोबाइल में, एटीएम कार्ड के पीछे, कीबोर्ड के नीचे, पॉकेट में चिट बनाकर रखने से उसके दूसरे के हाथों में लगने की संभावना बढ़ जाती है.
दूसरों से शेयर करना: दोस्ती-यारी के चक्कर में बहुत-से लोग अपना पासवर्ड दूसरों से शेयर करते हैं, पर यह ठीक नहीं. इससे उसके लीक होने की संभावना बढ़ जाती है.

कमज़ोर सिक्योरिटी सवाल: पासवर्ड भूलने की स्थिति में सिक्योरिटी से जुड़े सवालों के जवाब देकर आप अपना अकाउंट ओपन कर सकते हैं. इसलिए सिक्योरिटी से जुड़े सवाल ऐसे रखें, जिनके जवाब आपके अलावा किसी और को न पता हों.
पर्सनल व प्रोफेशनल अकाउंट्स के लिए एक ही पासवर्ड: जिस तरह आप अपनी पर्सनल लाइफ को प्रोफेशनल से अलग रखते हैं, ठीक उसी तरह अपने पासवर्ड्स को भी रखें. ऐसे में प्रोफेशनल लेवल पर धोखाधड़ी होने पर आपके सभी पर्सनल अकाउंट्स की जानकारी छिन जाएगी.

अनसिक्योर्ड कंप्यूटर या नेटवर्क से लॉग इन करना: ऐसे नेटवर्क या डिवाइस से लॉग इन करने से हैकिंग की संभावना बढ़ जाती है. इसलिए हमेशा सिक्योर्ड सिस्टम का ही इस्तेमाल करें.

पासवर्ड बनाते समय दिए गए निर्देशों का पालन न करना: जब भी हम पासवर्ड बनाते हैं, तब सिस्टम हमें कुछ निर्देश देता रहता है, जिनका हमें पालन करना चाहिए, पर उनका पालन न करने से हमारा पासवर्ड कमज़ोर रह जाता है.

यह भी पढ़ें: 5 ईज़ी स्टेप्स में अनलॉक करें लॉक्ड स्मार्टफोन

1

बनाएं स्ट्रॉन्ग पासवर्ड

  • पासवर्ड हमेशा बड़ा होना चाहिए.
  • पर्सनल डाटा अवॉइड करें.
  • कुछ क्रिएटिव और अलग सोचें.
  • पासवर्ड में अपना या अपनों का नाम अवॉइड करें. चाहें, तो आप दो-तीन लोगों के नाम को जोड़कर या हेर-फेर करके भी पासवर्ड बना सकते हैं.
  • पासवर्ड हमेशा 8 लेटर्स से ज़्यादा का ही रखें. उसमें लेटर्स, नंबर्स और स्पेशल कैरेक्टर ज़रूर रखें.
  • सभी अकाउंट्स के लिए अलग-अलग
    पासवर्ड्स बनाएं.
  • अकाउंट के सिक्योरिटी वाले सवाल सबके
    अलग-अलग रखें.
  • हर तीन-चार महीने पर अपना पासवर्ड बदलते रहें, ताकि दूसरों के
    लिए उसे क्रैक करना आसान न हो.
  • पासवर्ड लिखकर रखना चाहते हैं, तो किसी सिक्योर्ड डायरी में रखें, जो दूसरों के हाथ न लगे.
  • कभी भी अपना पासवर्ड दूसरों से शेयर न करें.
  • सार्वजनिक स्थान पर पासवर्ड कभी न बताएं. किसी से शेयर करना है, तो उसे लिखकर दें.
  • अपने कंप्यूटर को हमेशा एंटी वायरस से अपडेटेड रखें.
  • इंग्लिश के शब्दों को ज्यों का त्यों लिखने की बजाय उन्हें उल्टा करके लिखें, जैसे- आई i को उल्टा करके ! बना दें.

– दिनेश सिंह

यह भी पढ़ें: सुस्त कंप्यूटर को तेज़ बनाने के आसान टिप्स