Learn Cooking

प्यूरी बनना, बैटर तैयार करना, ग्रीस करना… ये सब रेसिपी के कुछ ऐसे शब्द हैं, जिनका प्रयोग विधि-सामग्री में कई बार किया जाता है, लेकिन कई महिलाएं इनका अर्थ नहीं समझ पातीं. आपकी सुविधा के लिए हम बता रहे हैं कुकिंग के दौरान अक्सर प्रयोग किए जाने वाले शब्द और उनका अर्थ. 

Language Of Cooking

चॉपिंग करना
सब्ज़ी, सलाद को काटना ही चॉपिंग कहलाता है.

स्लाइस करना
किसी सब्ज़ी या फ्रूट्स को पतला/लंबा एक समान काटना स्लाइस करना कहलाता है. उदाहरण के लिए- पोटैटो चिप्स बनाने के लिए आलू के गोलाकर स्लाइस करना.

बॉइल करना
उबालने की प्रक्रिया को बॉइल करना कहते हैं, जैसे- पानी, चाय, दूध उबालना.

बैटर बनाना
चीला, इडली, डोसा आदि बनाने के लिए तैयार किए जाने वाला घोल को बैटर कहते हैं, जैसे- बेसन के बैटर में लपेटकर पकौड़े तलना.

गोल्डन ब्राउन
प्याज़, पकौड़े आदि को सुनहरा भूरा होने तक भूनने या तलने को गोल्डन ब्राउन होने तक भूनना/तलना कहते हैं.

बेक करना
अवन में किसी चीज़ को दोनों तरफ़ सेंकने का मतलब होता है उसे बेक करना, जैसे- केक या पिज़्ज़ा बेस को अवन में बेक करना.

ब्लांच करना
उबलते हुए पानी में सब्ज़ी डालकर उसे अधपका करना ब्लांच करना कहलाता है, जैसे- पालक पनीर बनाने के लिए पालक को पानी में ब्लांच किया जाता है.

फोल्ड करना
भरावन रखने के लिए रोटी, ब्रेड आदि को मोड़ने की प्रक्रिया को फोल्ड करना कहते हैं, जैसे- मैदे की रोटी को दो भागों में काटकर फोल्ड करके समोसे तैयार करना.

ग्राइंड करना
किसी भी चीज़ को पीसने की प्रक्रिया को ग्राइंड करना कहते हैं, जैसे- ग्रेवी तैयार करने के लिए प्याज़ या गीला मसाला पीसना या चटनी पीसना.

बीट करना
दही, अंडा, बटर आदि को फेंटने का मतलब उसे बीट करना होता है.

चर्न करना
लस्सी बनाने के लिए दही, लोनी निकालने के लिए मलाई को मथना उसे चर्न करना कहलाता है.

मेरिनेट करना
पनीर, आलू आदि को मसाले, दही या किसी ख़ास घोल में कुछ देर के लिए लपेटना उसे मेरिनेट करना कहलाता है, जैसे- पनीर पकौड़ा बनाने से पहले पनीर को कुछ देर मसाले के घोल में मेरिनेट किया जाता है.

पील करना
छीलने को पील करना कहते हैं, जैसे- आलू या सब्ज़ी को काटने से पहले उसे पील करना.

स्टीम करना
किसी भी चीज़ को भाप में पकाने का मतलब है स्टीम करना, जैसे- ढोकला, इडली आदि को स्टीम करना.

प्यूरी बनाना
किसी भी चीज़ का गाढ़ा घोल तैयार करना प्यूरी बनाना कहलाता है, जैसे- टमाटर या कश्मीरी मिर्च को पीसकर उसकी प्यूरी बनाना.

यह भी पढ़ें: सीखें दाल बनाने के 10 नए तरी़के (10 Best And Easy Dal Recipes)

Cooking Tips

स्टफ करना
भरावन की प्रक्रिया को ही स्टफ करना कहते हैं, जैसे- भरवां करेला बनाते समय उसमें मसाला स्टफ करना या स्टफ्ड चीज़ टोमैटो बनाते समय टमाटर में चीज़ स्टफ करना.

मैश करना
मसलने को मैश करना कहते हैं, जैसे- आलू परांठा बनाते समय आलू को मैश करना.

फ्राई करना
किसी चीज़ को तलना ही फ्राई करना कहलाता है, जैसे- तेल में पकौड़े, पूरियां फ्राई करना.

ड्रीप फ्राई करना
ज़्यादा देर तक तलने की प्रक्रिया को ड्रीप फ्राई करना कहते हैं.

क्रश करना
चूरा करने को क्रश करना कहते हैं, जैसे- ब्रेड को क्रश करना.

ग्रेट करना
कद्दूकस करने को ग्रेट करना कहते हैं, जैसे- कटलेट बनाने के लिए किसी सब्ज़ी को ग्रेट करना या नारियल ग्रेट करना.

मिक्स करना
दो या दो से अधिक सामग्री को आपस में मिलाने को मिक्स करना कहते हैं, जैसे- पकौड़े बनाने के लिए बेसन में प्याज़, हरी मिर्च, नमक आदि मिलाना.

ब्लेंड करना
दो या दो से अधिक पतले घोल को आपस में मिलाना ब्लेंड करना कहलाता है, जैसे- फेंटा हुआ दही और पीसे हुए मसाले ब्लेंड करना.

फिल्टर करना
छानने को फिल्टर करना कहते हैं, जैसे- किसी सामग्री में से पानी निथारने के लिए उसे फिल्टर करना.

बारबेक्यू
किसी चीज़ को सींक में गोदकर सीधे आंच पर सेंकने को बारबेक्यू करना कहते हैं, जैसे- सींक में पनीर, आलू या मटन के टुकड़े गोदकर सेंकना.

नीड करना
गूंधने को नीड करना कहते हैं, जैसे- रोटी या परांठे के लिए आटा गूंधना.

रोस्ट करना
भूनने को रोस्ट करना कहते हैं, जैसे- मूंगफली, सूखे मसाले भूनना.

कैरामल
शक्कर को सुनहरा लाल होने तक भूनने या पकाने को कैरामल कहते हैं. कैरामल शब्द का इस्तेमाल ख़ासकर मिठाई की विधि में किया जाता है.

पिंच
पिंच का अर्थ है चुटकीभर, जैसे- चुटकीभर चाट मसाला या केसर डालना.

ब्रश करना
बेक करने से पहले ब्रेड, टोस्ट, पिज़्ज़ा आदि पर हल्का-सा तेल, दूध, आटा या बटर लगाने को ब्रश करना कहा जाता है.

स्प्रेड करना
फैलाने को स्प्रेड करना कहते हैं, जैसे- पिज़्ज़ा बेस पर चीज़ फैलाना, ब्रेड पर बटर लगाना आदि.

स्कूप करना
आलू, टमाटर जैसी सब्ज़ियों के मध्य भाग में चाकू घूमाकर उसे खोलला करने को स्कूप करना कहते हैं, जैसे- भरवां बैंगन, भरवां आलू बनाते समय उन्हें स्कूप किया जाता है.

यह भी पढ़ें: 10 कुकिंग टिप्स हर महिला को मालूम होने चाहिए (10 Awesome Cooking Tips & tricks Every Woman Should Know)

स्किम करना
मलाई, झाग, फेन आदि निकालने को स्किम करना कहते हैं, जैसे- उबले हुए दूध से मलाई निकालना.

ग्रीस करना
तेल या बटर से किसी खास सांचे या बर्तन में चिकनाई लगाने को ग्रीस करना कहा जाता है, जैसे- मोदक बनाने के लिए उसके सांचे को ग्रीस किया जाता है.

क्रिस्पी बनाना
किसी चीज़ को तलकर कुरकुरा बनाने को क्रीस्पी बनाना कहते हैं, जैसे- पकौड़े को तेज़ आंच पर क्रिस्पी होने तक तलना.

गार्निश करना
किसी भी डिश को सजाना उसे गार्निश करना कहलाता है. उदाहरण के लिए- सब्ज़ी परोसने से पहले उसे कटे हुए हरे धनिया या पावभाजी को प्याज़ व हरे धनिया से गार्निश करना.

सर्व करना
परोसने को सर्व करना कहते हैं.

यह भी पढ़ें: आलू की 5 बेस्ट और ईज़ी रेसिपीज़ (5 Best And Easy Potato Recipes)

खाना बनाना एक कला है और टेस्टी खाना बनाने के लिए हमेशा कुछ नया ट्राई करते रहना चाहिए. यहां हम आपको 10 ऐसे यूज़फुल किचन टिप्स बता रहे हैं, जो हर महिला को मालूम होने चाहिए. ये 10 ईज़ी किचन टिप्स आपकी कुकिंग को आसान बना देंगे.

Awesome Cooking Tips, Cooking tricks

 

1) टमाटर का सूप बनाने के लिए उसे उबालते समय ही एक हरी मिर्च, एक लहसुन की कली और एक टुकड़ा अदरक डाल दें, सूप स्वादिष्ट बनेगा.
2) ग्रेवी के लिए अदरक-लहसुन का पेस्ट तैयार करते समय हमेशा लहसुन की मात्रा 60% और अदरक 40% होना चाहिए, क्योंकि अदरक का स्वाद बहुत स्ट्रॉन्ग होता है.
3) अगर आप रात में चने, छोले या राजमा भिगोना भूल गई हैं, तो कोई बात नहीं. सुबह उन्हें एक से डेढ़ घंटे तक गरम पानी में भिगोकर रखें और उबालते समय उसमें 2 खड़ी सुपारी डाल दें.
4) खसखस को 10-15 मिनट पानी में भिगोने के बाद ही मिक्सर में पीसें. इससे वो अच्छी तरह पिस जाएगा.
5) सब्ज़ियां, सलाद आदि बहुत छोटे आकार में काटने से उनकी पौष्टिकता कम हो जाती है.
6) अचार और सब्ज़ियों में घर में तैयार लालमिर्च पाउडर डालने से स्वाद और रंग अच्छा आता है.
7) हरी सब्ज़ियों को ढंककर पकाएं ताकि उनमें मौजूद विटामिन भाप के साथ उड़े नहीं.
8) दाल में अगर पानी ज़्यादा हो जाए तो उसे फेंके नहीं, बल्कि सब्ज़ी, सूप आदि में इसका इस्तेमाल कर लें.
9) अगर मसाले में नारियल पिसा हो तो उसे ज़्यादा देर तक न भूनें.
10) करी को शाम तक फ्रेश रखने के लिए उसमें आधा नींबू निचोड़ दें.

यह भी पढ़ें: आलू की 5 बेस्ट और ईज़ी रेसिपीज़

 

ये टिप्स भी हैं काम के
* आंच से उतारने के बाद भी कड़ाही/पैन गरम होने की वजह से खाना पकता रहता है, इसलिए खाने को (खासकर चावल की डिश को) ज़्यादा पकने से बचाने के लिए उसे पूरी तरह पकने से कुछ देर पहले ही आंच से उतार लें.
* चिकन, मटन और फिश को फ्रिज में रखने से पहले अच्छी तरह धो लें. साथ ही इन्हें अलग-अलग पैकेट्स में रखें.
* अगर आप फिश या सब्ज़ी के लिए राई का पेस्ट बना रही हैं, तो इसकी कड़वाहट दूर करने के लिए इसमें थोड़ा-सा भिगोया हुआ खसखस, मिर्च और नमक मिलाएं.
* टमाटर को आसानी से छीलने के लिए उसे बीच से काट लें और कटे हुए भाग को नीचे की ओर रखते हुए माइक्रोवेव में 2-3 मिनट के लिए रखें.
* नॉन स्टिक पैन को गरम करने से पहले उसे नॉन स्टिक वेजीटेबल कुकिंग स्प्रे से कोट कर लें. साथ ही उसे 3 मिनट से ज़्यादा देर तक गरम न करें.
* पाई बनाने या किसी चीज़ को माइक्रोवेव में गरम करने के लिए कांच के बर्तन का इस्तेमाल करें, जबकि केक बनाने के लिए नॉन-स्टिक या सिलिकॉन पैन का प्रयोग करें.
* कोई भी चीज़ ग्रिल करने से पहले ग्रिल पर नॉन-स्टिक कुकिंग स्प्रे छिड़के ताकि कोई भी चीज़ ग्रिल करते समय चिपके नहीं.

यह भी पढ़ें: आम की 5 बेस्ट और ईज़ी रेसिपीज़

 

यदि मेहमान आपके घर कुछ दिन ठहरने के लिए आ रहे हैं तो इसके लिए आपको कुछ प्री-कुकिंग आइडियाज़ अपनाने ज़रूरी हैं, ताकि आप मेहमानों की ख़ातिरदारी भी अच्छी तरह कर पाएं और आप पर एक साथ काम का ज़्यादा बोझ भी न पड़े. इसके लिए:

Guest Management, Easy Cooking Ideas

1) टमाटरों को मिक्सी में ब्लैंड करें. इस प्यूरी को डीप-फ्रीज़ कर के रख लें. आप इसे 15 दिनों तक इस्तेमाल में ला सकती हैं.
2) पालक को उबालें और मिक्सी में ब्लेंड करके डीप-फ्रीज़ कर दें. पालक पनीर बनाते समय इसका आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है.
3) मूंगफली के दाने भी भूनकर रखें. चाहें तो इन्हें पीस कर भी रख सकती हैं, ताकि फलाहार बनते समय आपका समय बचे.
4) आलू उबाल लें. ठंडा होने पर इन्हें फ्रिज में स्टोर कर लें. इन्हें तीन-चार दिनों तक इस्तेमाल किया जा सकता है.
5) थोड़ा-सा तेल गर्म करके उसमें राई के दाने, करी पत्ते, काजू, मूंगफली, उड़द की दाल डालें. अब इसमें रवा डालकर हल्का भूरा होने तक भूनें. स्वादानुसार नमक व शक्कर मिला दें. ठंडा होने पर एयर टाइट कंटेनर में भर लें. फिर जब भी उपमा बनाना हो तो पानी उबालें, उसमें नींबू निचोड़ें और रेडी-मिक्स मिलाएं. स्वाद बढ़ाने के लिए ऊपर से आवश्यकतानुसार शुद्ध घी भी मिला सकती हैं.
6) दलिया बनाना चाहें तो उसे भी पहले वे भून कर रख सकती हैं.
7) यदि सब्ज़ियों और सलाद को अच्छी तरह काट कर क्लिगं फ़िल्म से ढंक कर रखा जाए तो काटने के तीन दिन बाद तक भी उनका उपयोग किया जा सकता है.
8) यदि सलाद क्लिगं फ़िल्म से ढंक कर रख रही हैं तो उसमें नमक न डालें, वरना वह पानी छोड़ देगा और क्रिस्पी नहीं रहेगा.
9) सब्ज़ियों को फ्रिज में रखने के लिए सही तरी़के का इस्तेमाल करें, जैसे- उन्हें धोएं और फिर पोंछ कर पॉलिथिन में भर कर रखें. ऐसा करने से सब्ज़ियां जल्दी ख़राब नहीं होतीं.
10) इसी तरह यदि हरी मिर्च अधिक मात्रा में स्टोर कर रही हों तो उनके डंठल निकाल कर स्टोर करें.

यह भी पढ़ें: 7 रंग अपनी डायट में ज़रूर शामिल करें 

11) मेहमानों के लिए पहले से ही सेब काटकर रखना चाहती हैं तो उसमें थोड़ा-सा नींबू निचोड़ लें. ऐसा करने से सेब का रंग नहीं बदलता.
12) रोज़ सुबह आटा गूंधते समय शाम के लिए भी आटा गूंध लें. सुबह की रोटियां बनाने के बाद बचे हुए आटे पर हल्का-सा तेल लगा कर रखें. इससे आटा नर्म रहेगा और रोटियां भी सॉ़फ़्ट बनेंगी.
13) नान का आटा भी आप पहले से गूंध कर फ्रिज में रख सकती हैं. इस पर भी हल्का-सा तेल लगा कर रखें. यह दो-तीन दिनों तक चल जाता है.
14) जब नान बनाएं तो स्वाद बदलने के लिए उसके एक हिस्से में बारीक़ कटी हुई लहसुन मिलाएं, गार्लिक नान तैयार हो जाएगी.
15) इसी तरह इसी आटे से स्टफ्ड नान भी तैयार किया जा सकता है.
16) कच्चे आम या अन्य मौसमी फलों का स्क्वॉश बना कर रखें.
17) कस्टर्ड एवं अन्य स्वीट-डिशेज़ में डाल कर खाई जाने वाली जेली को भी पहले से बनाकर रख सकती हैं. ध्यान रखें, इसे केवल तीन दिन तक ही इस्तेमाल किया जा सकता है.
18) इसी तरह कस्टर्ड भी बना कर फ्रिज में रख सकती हैं और इसे भी तीन दिनों तक ही उपयोग किया जा सकता है.
19) यदि स्वीट डिश में श्रीखंड बनाना चाहती हैं तो इसे भी पहले से बना कर फ्रिज में रख सकती हैं. इसे भी बनाने के बाद तीन दिनों तक इस्तेमाल किया जा सकता है.
20) केक भी पहले से बना कर रखा जा सकता है. अच्छी तरह बेक किया हुआ केक तीन-चार दिन तक ख़राब नहीं होता.

यह भी पढ़ें: सीखें कुकिंग के नए तरीके

कुकिंग एक आर्ट है इसलिए अच्छे कुक को हमेशा कुकिंग के नए तरीके सीखते रहना चाहिए. इससे आप नई चीज़ें भी सीख जाते हैं और ढेर सारी तारी़फें भी पाते हैं. आप भी सीखें कुकिंग के नए तरीके.

New Tips, Tricks Of Smart And Easy Cooking

* भिंडी की मसाले वाली सब्ज़ी बनानी हो तो गरम मसाले को 10 मिनट के लिए इमली के पानी में डालकर रख दें, फिर इस मसाले से भिंडी बनाएं. भिंडी का रंग और स्वाद लाजवाब होगा.

* नर्म और फूले हुए गुलाब जामुन बनाने के लिए गुलाबजामुन की सामग्री को 10 मिनट तक प्रेशर कुकर में पका दें और फिर बनाएं. गुलाबजामुन सॉ़फ़्ट और स्पंजी बनेंगे.

* घर में बाज़ार जैसी क्रीम बनाने के लिए मलाई को मिक्सी में 4-5 सेकेंड तक ब्लेंड करके फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दें.

* थोड़ी-सी फ्रेश क्रीम में पीसी हुई शक्कर मिला कर अच्छी तरह फेंटें. इसे फ्रूट सलाद में डालें और अच्छी तरह मिलाएं. शाही फ्रूट सलाद तैयार है.

* नींबू को हल्के गरम पानी में रखकर दो मिनट बाद रस निकालें. ऐसा करने से रस निकालने में आसानी होती है और ़ज़्यादा रस भी निकलता है.

* खस्ता आलू पूरी बनाते समय आटे में सूजी (रवा) मिलाने से पूरियां खस्ता बनती हैं.

* पकौड़े बनाते समय बेसन के घोल में थोड़ा-सा रिफ़ाइंड ऑयल, हींग और अजवाइन डालकर अच्छी तरह फेंटें. ऐसा करने से पकौड़े तो करारे बनेंगे ही, पेट में गैस की शिकायत भी नहीं होगी.

यह भी पढ़ें: 6 कॉमन कुकिंग मिस्टेक्स

* इडली को नए अंदाज़ में बनाने के लिए उसमें कटी हुई सब्ज़ियां या सब्ज़ियों को पीसकर उसका पेस्ट मिलाकर वेजीटेबल इडली बनाएं. आपका ये क्रिएशन मेहमानों को ख़ूब पसंद आएगा.

* पाव भाजी बना रही हैं तो सब्ज़ी बनाते समय उसमें कॉर्न, पनीर आदि मिलाकर हेल्दी और क्रिएटिव पावभाजी तैयार करें.

* प्लेन ऑमलेट बनाने के बजाय उसमें शिमला मिर्च, प्याज़, टमाटर आदि डाल दें. इससे ऑमलेट का स्वाद भी बढ़ेगा और एक नई डिश भी तैयार हो जाएगी.

* अचार में फफूंद न लगे इसके लिए ज़रूरी है कि बनाते समय उसमें नमक की मात्रा आवश्यकता से थोड़ी अधिक रखी जाए और अचार पूरी तरह तेल में डूबा रहे. इससे अचार ़ज़्यादा दिनों तक ख़राब नहीं होता.

* पालक पनीर बनाने के लिए पालक को उबालते समय उसमें एक टीस्पून शक्कर डालें. जब पालक पका रही हों तो उसमें उसमें 1 टीस्पून नींबू का रस डालें. इससे पालक का रंग हरा ही बना रहेगा.

* बची हुई पीली दाल को आटे के साथ गूधें. स्वाद बढ़ाने के लिए कटा हुआ प्याज़, हरा धनिया, अदरक-लहसुन का पेस्ट, नींबू का रस आदि भी मिला सकती हैं. प्लेन रोटी के बजाय ये परांठे मेहमान ज़्यादा चाव से खाएंगे.

* पोहा बनाते समय उसमें भी कटी हुई सब्ज़ियां मिलाकर उसे और हेल्दी बनाना जा सकता है.

यह भी पढ़ें: हेल्दी कुकिंग टेकनीक्स