Tag Archives: living room vastu guide

28 वास्तु टिप्स फॉर लिविंग रूम (28 Valuable Vastu Tips for living Room)

लिविंग रूम घर का महत्वपूर्ण हिस्सा होता है. यह वो हिस्सा होता है, जिसमें गृहस्वामी का वैभव, सुरुचि, संपन्नता और मानसिकता प्रदर्शित होती है. लिविंग रूम की सलीके से की गई सजावट के साथ-साथ न केवल वास्तु व फैंगशुई के अनुसार की गई साज-सज्जा न केवल कमरे की ख़ूबसूरती को बढ़ाती है, बल्कि सुख-समृद्धि व ख़ुशहाली भी लाती है.

  • लिविंग रूम उत्तर पूर्व, पश्‍चिम या उत्तर-पश्‍चिम में बनाना चाहिए. वास्तु के अनुसार इसे शुभ माना जाता है.
  • अन्य कमरों की तुलना में लिविंग रूम बड़ा होना चाहिए.
  • लिविंग रूम में फर्नीचर इस तरह से रखें कि आनेजाने में किसी तरह की परेशानी न हो.
  • बीम के नीचे सोफा या कुरसी न रखें.
  • लिविंग रूम का उत्तर पूर्व अन्य धरातल से नीचे होना चाहिए.
  • इस रूम में पूर्व में अधिकतम खिड़की होनी चाहिए.
  • दक्षिण और पश्‍चिम भाग कुछ ऊंचा व बहुत ज़्यादा सुसज्जित होना चाहिए. टीवी, म्यूजिक आदि मनोरंजन वाले उपकरण इसी दिशा में रखने चाहिए.
  • अपने पूर्वजों की फोटो व उनकी निशानियों को व्यवस्थित ढंग से लगाएं. इससे अतिथियों पर पॉजिटिव असर पड़ता है.
  • बैठने का अरेंजमेंट इस तरह से होना चाहिए कि घर का मुखिया पूर्व या उत्तरमुखी हो.
  • सीलिंग के बीचोंबीच एक झूमर न होकर दो झूमर इस तरह से लगाएं कि बीच की जगह खाली हो.
  • मेहमानों के बैठने का अरेंजमेंट दक्षिण व पश्‍चिम मुखी हो.
  • लिविंग रूम में फूलों की सजावट का खास महत्व है, यहां पर रंग बिरंगे फूलों से भरा वास ख़ूबसूरत तरी़के से सजा होना चाहिए. आर्टिफिशियल फूलों की बजाय रियल फूलों का इस्तेमाल सकारात्मक ऊर्जा बढ़ाता है.
  • मेन एंटेरेंस पर मांगलिक तोरण ज़रूर लगाना चाहिए.
  • कमरे के उत्तर, पूर्व या उत्तर-पूर्व में कोई वॉटर बॉडी रखना फेंगशुई के अनुसार शुभ होता ह. सेहत व धन-वैभव के अनुसार भी अच्छा होता है.
  • लिविंग रूम के लिए वर्गाकार व आयताकार स्वरूप अच्छा समझा जाता है. इससे पॉजिटिव एनर्जी मिलती है. यदि कमरे की डिज़ाइनिंग इस तरह की न हो, तो कमरे में कोई पौधा लगाना शुभ माना जाता है.
  • ज़मीन पर सजाए हुए ख़ूबसूरत कारपेट देखने में अच्छे लगते हैं और मेहमानों को भी आकर्षित करते हैं.

  • लिविंग रूम में शोपीस, परदे आदि सलीके से लगाएं.

  • दीवारों पर लाइट कलर्स यूज़ करें.
  • दीवारों का कलर छत के कलर से अलग हों.
  • कमरे में युद्ध, क्रोधित हावभाव व मौत वाली फोटो, पेंटिंग या तस्वीर न लगाएं.
  • इस कमरे को क्लीन रखें. साथ ही नेचुरल लाइट और एयर आने की पूरी व्यवस्था हो.
  • घर की छत न तो बहुत ऊंची हो व नही बहुत नीची, क्योंकि ऊंचाई से असुरक्षा का अहसास होता है, जबकि छत के नीचे होने से दबाव-सा महसूस होता है.
  • अधिक ऑक्सीजन व फ्रेश एयर के लिए लिविंग रूम में कम-से-कम दो खिड़कियां व दो रोशनदान ज़रूर हों.
  • लिविंग रूम को डाइनिंग रूम या किचन से ऊंचा नहीं होना चाहिए.

  • सोफा सेट दक्षिण व पश्‍चिम हिस्से की दीवार के पास रखें.

  • फिश एक्वेरियम या फाउंटेन को उत्तरी कोने में रखें.
  • लिविंग रूम को अट्रैक्टिव बनाने के लिए लाइट कलर की दीवारों पर डार्क कलर की फोटो लगाएं.
  • अगर कमरे में फायर प्लेस बनाना चाहते हैं, तो उसे दक्षिण-पूर्व या उत्तर-पश्‍चिमी हिस्से पर बनाएं.