Makar Sankranti

सूर्य के उत्तरायण का पर्व मकर संक्रांति आज पूरे देश में मनाया जा रहा है. इस त्योहार को देश के अलग-अलग हिस्सों में विभिन्न नामों से जाना जाता है. मकर संक्रांति पर जहां तिल-गुड़ के लड्डू और स्वादिष्ट पकवान बनाए जाते हैं तो वहीं इस दिन कई जगहों पर लोग पतंगबाज़ी का लुत्फ भी उठाते हैं. आम लोग ही नहीं, बल्कि बॉलीवुड और टेलीविज़न के सेलिब्रिटीज़ भी इस त्योहार को खास अंदाज़ में सेलिब्रेट करते नज़र आए.

मकर संक्रांति के मौके पर जहां बॉलीवुड के कई सितारों ने इस पर्व की सोशल मीडिया के ज़रिए बधाई दी है तो वहीं एक्टर वत्सल सेठ और उनकी पत्नी इशिता दत्ता सेठ भी मकर संक्रांति पर पंतग उड़ाते नज़र आए. पतंगबाज़ी का लुत्फ उठाते वत्सल सेठ और इशिता दत्ता की फोटोज़ सोशल मीडिया पर सुर्खियां बटोर रही हैं.

Vatsal Sheth and Wife Ishita Dutta
Picture Courtesy: Instagram

मकर संक्रांति पर वत्सल सेठ और इशिता दत्ता की जो तस्वीरें वायरल हो रही हैं, उनमें दोनों आसमान में पंतग उड़ाते दिख रहे हैं. जब इशिता पतंग उड़ाती दिख रही हैं तो वत्सल उनके पीछे खड़े दिख रहे हैं और जब वत्सल पतंग उड़ा रहे हैं तो पत्नी इशिता मांजा पकड़कर उनके पीछे खड़ी नज़र आ रही हैं. इस दौरान जहां इशिता ने रेड कलर का ड्रेस और व्हाइट दुपट्टा कैरी किया तो वहीं वत्सल ग्रीन कलर की टीशर्ट और ब्लू कलर की जींस में नज़र आ रहे हैं. वत्सल ने अहमदाबाद से पतंगबाज़ी की खूबसूरत तस्वीरों के साथ कैप्शन में लिखा है- हैप्पी मकर संक्रांति. यह भी पढ़ें: टीवी एक्ट्रेस पूजा बनर्जी और पति कुणाल वर्मा ने पहली बार दिखाया बेटे का चेहरा, क्यूट तस्वीरें हुईं वायरल (TV actress Pooja Banerjee And Husband Kunal Verma Introduce Son Krishiv To The World, Cute Pics Goes Viral)

Vatsal Sheth and Wife Ishita Dutta
Picture Courtesy: Instagram

दोनों की लव स्टोरी की बात करें तो इशिता दत्ता और वत्सल सेठ पहली बार सीरियल ‘रिश्तों का सौदागर-बाज़ीगर’ के सेट एक-दूसरे से मिले थे. इस शो के दौरान दोनों के बीच कनेक्शन जुड़ गया था, लेकिन दोनों इस बात से इनकार करते रहे, लेकिन वो कहावत तो आपने सुनी है ना कि ‘इश्क और मुश्क छुपाए नहीं छुपता’, बस इनके केस में भी ऐसा ही कुछ हुआ.

Vatsal Sheth and Wife Ishita Dutta
Picture Courtesy: Instagram

लाख छुपाने के बाद भी आखिरकार दोनों ने एक-दूसरे से प्यार का इज़हार कर ही लिया, फिर 28 नवंबर 2017 को कपल ने जुहू के इस्कॉन मंदिर में शादी की. वत्सल और इशिता की शादी को तीन साल से ज्यादा का समय हो चुका है और कुछ समय पहले इशिता की प्रेग्नेंसी की झूठी अफवाहों ने काफी सुर्खियां बटोरी थी, जबकि कपल लगातार इस तरह की खबरों का खंडन करता रहा.

Vatsal Sheth and Wife Ishita Dutta
Picture Courtesy: Instagram

बता दें कि पिछले साल करवा चौथ के मौके पर इशिता और वत्सल के फैन्स ने यह अनुमान लगाया था कि इशिता शायद प्रेग्नेंट हैं. दरअसल, करवा चौथ पर इशिता और वत्सल ने एक-दूसरे के साथ कुछ फोटोज़ शेयर की थीं, जिसमें इशिता गुलाबी कलर की खूबसूरत साड़ी में नज़र आ रही थीं, जबकि वत्सल ने काले रंग का कुर्ता पहना था. इस तस्वीर पर फैन्स कमेंट करते हुए यही सवाल कर रहे थे कि क्या इशिता प्रेग्नेंट हैं? फैन्स का ऐसा सवाल पूछना लाज़मी भी था, क्योंकि इस तस्वीर को गौर से देखने पर ऐसा लगता है कि इशिता प्रेग्नेंट हैं.

Vatsal Sheth and Wife Ishita Dutta
Picture Courtesy: Instagram

इसके अलावा एक कर्मशियल ऐड में भी इशिता को प्रेग्नेंट देखा गया था और वत्सल खुशी से झूम रहे थे. इस बारे में एक इंटरव्यू के दौरान जब इशिता से सवाल पूछा गया तो उन्होंने बताया कि प्रेग्नेंसी की अफवाहों के बाद उन्हें फैमिली और रिलेटिव्स के फोन आने शुरु हो गए थे, जबकि इस खबर में कोई सच्चाई नहीं थी. यह भी पढ़ें: एक्टिंग और स्टाइल में बॉलीवुड सेलेब्रिटीज़ से कम नहीं हैं टीवी के ये 8 हैंडसम एक्टर्स (These 8 Handsome Tv Actors Are More Stylish Than Bollywood Celebrities)

Vatsal Sheth and Wife Ishita Dutta
Picture Courtesy: Instagram

एक्ट्रेस ने कहा कि वह सिर्फ एक फूड बंप था जो बेबी बंप जैसा लग रहा था. एक्ट्रेस ने सभी अटकलों को खारिज करते हुए बताया था कि वह प्रेग्नेंट नहीं हैं. ऐसा ज्यादा मिठाई खाने और जिम न जाने के कारण हुआ है, लेकिन अब जिम खुल गए हैं तो अब मुझे कसरत करने की ज़रूरत है.

Vatsal Sheth and Wife Ishita Dutta
Picture Courtesy: Instagram

खैर, इस समय दोनों अपनी मैरिड लाइफ को एक-दूसरे के साथ खुलकर एन्जॉय कर रहे हैं. ऐसे में यह कहना मुश्किल है कि वो अभी पैरेंट्स बनने के लिए रेडी हैं या नहीं? दरअसल, दोनों एक-दूसरे को बच्चे की तरह ही ट्रीट करते हैं, शायद इसलिए उन्हें अपनी लाइफ में किसी बच्चे की कमी नहीं खलती है.

pic
मकर संक्रांति एक ऐसा त्योहार है जो पूरे देश में अलग-अलग संस्कृति में मनाया जाता है. देशभर में ऐसे कई प्रदेश हैं, जहां मकर संक्रांति को विभिन्न नामों से जाना जाता है. यह पर्व सूर्य के राशि परिवर्तन करने के साथ ही सेहत और जीवनशैली से इसका गहरा नाता है. इन सबके साथ ही यह लोगों की धार्मिक आस्था का भी पर्व है. वहीं यह पर्व किसानों की मेहनत से भी जुड़ा है, क्योंकि इसी दिन से फसल कटाई का समय हो जाता है.

सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है

विश्वास किया जाता है कि मकर संक्रांति के दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है. लिहाजा, खिचड़ी का भोग लगाया जाता है. गुड़-तिल, रेवड़ी आदि बांटी जाती है. इस पर्व का संबंध प्रकृति, ऋतु परिवर्तन और कृषि से है, तीनों चीज़ें जीवन का आधार हैं. प्रकृति के कारक के तौर पर सूर्यदेव को पूजा जाता है, जिन्हें शास्त्रों में भौतिक एवं अभौतिक तत्वों की आत्मा कहा गया है. सूर्य की स्थिति के अनुसार ऋतु परिवर्तन होता है और धरती अनाज पैदा करती है, जिससे हर प्राणी का भरण-पोषण होता है.

Ghughuti or Kale Kauva wishes – Uttarakand ,www.makarsankranti2017.com

क्या करते हैं?

देश भर में लोग मकर संक्रांति के पर्व पर अलग-अलग रूपों में तिल, चावल, उड़द की दाल एवं गुड़ का सेवन करते हैं. इन सभी सामग्रियों में सबसे ज़्यादा महत्व तिल का दिया गया है. तिल के महत्व के कारण मकर संक्रांति पर्व को ‘तिल संक्राति’ के नाम से भी जाना जाता है.

चावल व मूंग की दाल को पकाकर खिचड़ी बनाई जाती है. इस दिन खिचड़ी खाने का प्रचलन व विधान है. घी व मसालों में पकी खिचड़ी स्वादिष्ट, पाचक व ऊर्जा से भरपूर होती है. इस दिन गंगा नदी में स्नान व सूर्योपासना के बाद ब्राह्मणों को गुड़, चावल और तिल का दान भी अति श्रेष्ठ माना गया है. महाराष्ट्र में ऐसा माना जाता है कि मकर संक्रांति से सूर्य की गति तिल-तिल बढ़ती है, इसीलिए इस दिन तिल के विभिन्न मिष्ठान बनाकर एक-दूसरे का वितरित करते हुए शुभकामनाएं देकर यह त्योहार मनाया जाता है.

suruchi-recipe-khana-khazana-food-dishes-vyanjan-fast-food-kitchen-making-Makar-Sankranti-cereal-offerings-offer-to-Lord-Surya-news-in-hind-india-83214

यह पर्व सेहत के लिहाज से बड़ा ही फायदेमंद है. सुबह-सुबह पतंग उड़ाने के बहाने लोग जल्द उठ जाते हैं वहीं धूप लगने से विटामिन डी मिल जाता है. इसे त्वचा के लिए भी अच्छा माना गया है. सर्द हवाओं से होने वाली कई समस्याएं भी दूर हो जाती हैं. इसीलिए इस दिन को सुंदर और रंग-बिरंगी पतंगें उड़ाने का दिन भी माना जाता है. लोग बड़े उत्साह से पतंगें उड़ाकर पतंगबाज़ी के दांव-पेचों का मज़ा लेते हैं.

– हरिगोविंद विश्वकर्मा

raees

मकर संक्रांति 14 जनवरी को है और इस मौक़े पर रईस उड़ा रहा है अपनी दिल की पतंग. जी हां, हम बात कर रहे हैं फिल्म रईस के नए कलरफुल गाने की, जिसमें शाहरुख खान और माहिरा खान गरबा खेल रहे हैं और पतंग उड़ा रहे हैं. गुजराती धुन पर शाहरुख थिरकते नज़र आ रहे हैं. फेस्टिवल सीज़न पर ये गाना बिल्कुल फिट बैठता है. आप भी देखें ये गाना.

– प्रियंका सिंह