Manikarnika The Queen Jhansi

वर्ष 2019 न स़िर्फ स्पोर्ट्स, बल्कि फिल्मों के मामले में भी महिलाओं के नाम रहा. साल 2019 में एक के बाद एक बेहतरीन महिला प्रधान फिल्में रिलीज़ हुईं और इन फिल्मों में अपने दमदार अभिनय के दम पर अभिनेत्रियों ने ये साबित कर दिया कि महिला प्रधान फिल्में भी बॉक्स ऑफिस पर कमाल दिखा सकती हैं और इन फिल्मों को हिट कराने के लिए हीरो की ज़रूरत नहीं है. वर्ष 2019 ही नहीं 2020 भी महिला प्रधान फिल्मों के नाम रहनेवाला है यानी इस साल भी एक से बढ़कर एक महिला प्रधान फिल्में रिलीज़ के लिए तैयार हैं. इस साल आपको ये महिला प्रधान फिल्में ज़रूर देखनी चाहिए:

1) छपाक
जनवरी 2020 में रिलीज़ हुई दीपिका पादुकोण की फिल्म छपाक एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल के जीवन पर आधारित है. ये फिल्म आज की ज़रूरत है. इस फिल्म के माध्यम से एसिड अटैक की घटनाओं को रोकने का संदेश दिया गया है और लोगों को जागरूक करने की कोशिश की गई है. हालांकि दीपिका पादुकोण के जेएनयू दौरे के कारण कई जगहों पर फिल्म के प्रदर्शन में द़िक्क़त आई, लेकिन इस फिल्म को एक बेहतरीन महिला प्रधान फिल्म कहा जा सकता है.

2) पंगा
जनवरी 2020 में ही एक और महिला प्रधान फिल्म पंगा रिलीज़ हुई. ये फिल्म भारतीय महिला कबड्डी टीम की भूतपूर्व कप्तान रह चुकी जया निगम की कहानी है. फिल्म में जया निगम का क़िरदार कंगना रनौत ने निभाया है. फिल्म पंगा को भी दर्शकों ने पसंद किया. इस फिल्म में ये संदेश देने की कोशिश की गई है कि महिला को यदि अपने परिवारवालों का सपोर्ट मिले, तो वो अपने सपनों को आसानी से पूरा कर सकती है और सपनों को हासिल करने में उम्र कभी बाधा नहीं बनती.

3) थप्पड़
महिला प्रधान फिल्मों में तापसी पन्नू का होना ही फिल्म को स्पेशल बनाता है. फिल्म थप्पड़ में भी तापसी पन्नू ने दमदार अभिनय किया है. फरवरी 2020 में रिलीज़ हुई फिल्म थप्पड़ एक ड्रामा थ्रिलर है और एक बेहतरीन महिला प्रधान फिल्म भी.

यह भी पढ़ें: करीना कपूर से लेकर कैटरीना कैफ तक बॉलीवुड एक्ट्रेस को पसंद है रेड साड़ी (Bollywood Actress Likes Red Saree From Kareena Kapoor To Katrina Kaif)

4) गुंजन सक्सेना: द कारगिल गर्ल
इस फिल्म की ख़ास बात ये है कि इसकी चर्चा 2019 में भी काफ़ी हो चुकी है. गुंजन सक्सेना: द कारगिल गर्ल फिल्म में जाह्नवी कपूर मुख्य भूमिका में हैं. यह फिल्म महिलाओं के लिए ही नहीं, पूरे देश के लिए प्रेरणादायक है. वर्ष 2020 की महिला प्रधान फिल्मों में गुंजन सक्सेना: द कारगिल गर्ल एक महत्वपूर्ण फिल्म है.

5) धाकड़
कंगना रनौत का शानदार एक्शन आप पहले भी कई फिल्मों में देख चुके हैं. फिल्म धाकड़ में एक बार फिर कंगना एक्शन करती नज़र आएंगी. महिला प्रधान फिल्मों में कंगना रनौत का हमेशा से विशेष योगदान रहा है और इस फिल्म में भी वो अपनी एक अलग पहचान बनाती नज़र आएंगी.

6) शकुंतला देवी
बॉलीवुड की मोस्ट टैलेंटेड एक्ट्रेस विद्या बालन जल्द ही फिल्म शकुंतला देवी में नज़र आनेवाली हैं. इस फिल्म की कहानी महान गणितज्ञ शकुंतला देवी पर आधारित है. शकुंतला देवी तेज़ी से गणित का हिसाब करने की कला में माहिर थीं. इसी वजह से उन्हें मानव कंप्यूटर का उपनाम भी दिया गया था. फिल्म में विद्या बालन के पति का क़िरदार बांग्ला फिल्म जगत के लोकप्रिय अभिनेता जीशु सेनगुप्ता निभाएंगे.

यह भी पढ़ें: 10 बॉलीवुड एक्ट्रेस ने जब पहली बार मांग में भरा सिंदूर (First Sindoor Looks Of 10 Bollywood Actresses)

7) थलाइवी
जानी-मानी राजनीतिज्ञ और फिल्म अभिनेत्री रहीं जयललिता की बायोपिक थलाइवी में कंगना रनौत उनका क़िरदार निभाएंगी. इस फिल्म को ए एल विजय निर्देशित कर रहे हैं. 2020 में थलाइवी फिल्म को तमिल, तेलुगू और हिंदी में एक साथ रिलीज़ किया जाएगा.

8) गंगूबाई काठियावाड़ी
संजय लीला भंसाली की फिल्म गंगूबाई काठियावाड़ी भी वर्ष 2020 की एक प्रमुख महिला प्रधान फिल्म है. इस फिल्म में आलिया भट्ट मुख्य भूमिका में हैं. मुंबई के कमाठीपुरा में रहनेवाली एक माफिया क्वीन गंगूबाई पर आधारित फिल्म गंगूबाई काठियावाड़ी की कहानी हुसैन ज़ैदी की क़िताब माफिया क्वीन्स ऑफ मुंबई से ली गई है.

वर्ष 2019 की ये महिला प्रधान फिल्में हर महिला को देखनी चाहिए
वर्ष 2019 न स़िर्फ स्पोर्ट्स, बल्कि फिल्मों के मामले में भी महिलाओं के नाम रहा. साल 2019 में एक के बाद एक बेहतरीन महिला प्रधान फिल्में रिलीज़ हुईं और इन फिल्मों में अपने दमदार अभिनय के दम पर अभिनेत्रियों ने ये साबित कर दिया कि महिला प्रधान फिल्में भी बॉक्स ऑफिस पर कमाल दिखा सकती हैं और इन फिल्मों को हिट कराने के लिए हीरो की ज़रूरत नहीं है.

इन 10 बॉलीवुड एक्ट्रेस ने पहना सबसे महंगा शादी का जोड़ा, देखें वीडियो:

1) सांड की आंख
तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर की फिल्म सांड की आंख वर्ष 2019 की सबसे बेहतरीन महिला प्रधान फिल्म थी. इस फिल्म की सबसे ख़ास बात ये थी कि पहली बार कोई महिला प्रधान फिल्म दीपावली के समय रिलीज़ हुई और सांड की आंख फिल्म को दर्शकों ने ख़ूब पसंद भी किया. इस फिल्म में दोनों अभिनेत्रियों ने शूटर दादी का ज़बर्दस्त क़िरदार निभाया. फिल्म की कहानी और तापसी-भूमि की शानदार एक्टिंग के लिए फिल्म को काफी सराहना मिली. फिल्म सांड की आंख ने बॉक्स आफिस पर शानदार कमाई की.

2) मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी
बॉलीवुड की क्वीन कही जानेवाली एक्ट्रेस कंगना रनौत की फिल्म मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी इस साल की सबसे बड़ी महिला प्रधान फिल्म है. यह फिल्म झांसी की रानी लक्ष्मीबाई के जीवन पर आधारित है. इस फिल्म में कंगना ने झांसी की रानी की भूमिका निभाई है और फिल्म में कंगना के काम को दर्शकों ने बहुत पसंद किया. हालांकि फिल्म अपने कुछ अंदरूनी मसलों के कारण विवादों में रही, लेकिन इसके बावजूद फिल्म को दर्शकों की अच्छी सराहना मिली. महिला प्रधान फिल्म होने के साथ ही इस फिल्म की ख़ास बात ये है कि इस फिल्म की निर्देशक भी कंगना रनौत ही हैं.

3) मिशन मंगल
इसरो की पहली ही कोशिश में मंगल पहुंचने की कहानी पर आधारित फिल्म मिशन मंगल में मुख्य क़िरदार में विद्या बालन, तापसी पन्नू, सोनाक्षी सिन्हा, कीर्ति कुल्हारी और नित्या मेनन हैं. हालांकि फिल्म में अक्षय कुमार मुख्य अभिनेता के रूप में थे, लेकिन ये फिल्म पूरी तरह से महिला प्रधान है. मार्स मिशन में महिलाओं का महत्वपूर्ण योगदान था और मिशन मंगल फिल्म में यही बताया गया है. हालांकि फिल्म के प्रमोशन के लिए अक्षय कुमार के नाम का सहारा लेने के लिए इस फिल्म की आलोचना भी हुई, लेकिन फिल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट साबित हुई और सभी एक्ट्रेस की एक्टिंग की ख़ूब तारीफ़ भी हुई.

यह भी पढ़ें: लैक्मे फैशन वीक समर रिज़ॉर्ट 2020 में ये बॉलीवुड स्टार्स थे शो स्टॉपर (These Bollywood Stars Were The Show Stopper At Lakme Fashion Week Summer Resort 2020)

4) बदला
ये एक ऐसी महिला प्रधान फिल्म है, जिसने ये साबित कर दिखाया कि कम बजट में भी अच्छी फिल्म बनाई जा सकती है. कम बजट में बनी शाहरुख ख़ान के रेड चिलीज़ प्रोडक्शन की फिल्म बदला ने बॉक्स ऑफिस पर अच्छी कमाई की. फिल्म में तापसी पन्नू और अमिताभ बच्चन मुख्य भूमिका में हैं. फिल्म में तापसी एक कत्ल के इल्ज़ाम में फंस जाती है और ख़ुद को बचाने के लिए अमिताभ बच्चन से मदद मांगती है. फिल्म बदला की कहानी और कलाकारों की एक्टिंग इतनी अच्छी है कि इसी कारण कम बजट में इतनी बेहतरीन फिल्म बन पाई है.

5) द स्काई इज़ पिंक
देसी गर्ल प्रियंका चोपड़ा लंबे समय से हिंदी फिल्मों में नज़र नहीं आईं, लेकिन जब उनकी फिल्म द स्काई इज़ पिंक रिलीज़ हुई, तो एक बार फिर दर्शक उनकी एक्टिंग के कायल हो गए. फिल्म में प्रियंका चोपड़ा ने जिस तरह एक प्रेमिका और मां की भूमिका निभाई है, उसने दर्शकों का दिल जीत लिया. फिल्म में प्रियंका के साथ फरहान अख़्तर भी हैं. इस फिल्म की कहानी और प्रियंका चोपड़ा की एक्टिंग इतनी भावुक है कि द स्काई इज़ पिंक फिल्म की तारीफ़ न स़िर्फ दर्शकों ने की, बल्कि कई कलाकारों ने भी की.

6) मर्दानी 2
पिछले कुछ समय से रानी मुखर्जी लगातार महिला प्रधान फिल्मों में काम कर रही हैं. मर्दानी, हिचकी जैसी संवेदनशील फिल्मों में काम करने के बाद 2019 में रानी मुखर्जी फिल्म मर्दानी 2 में इंस्पेक्टर शिवानी शिवाजी राव बनकर महिलाओं पर ज़ुल्म करनेवाले अपराधियों पर कहर बरपाती नज़र आईं. मर्दानी 2 फिल्म को दर्शकों ने पसंद किया और इसे रिलीज़ के पहले दिन से ही अच्छा रिस्पॉन्स मिला.

यह भी पढ़ें: 8 बॉलीवुड एक्ट्रेस ने भारतीय परिधान को दिया ग्लोबल लुक (8 Bollywood Actresses Gave Global Look To Indian Apparel)

7) एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा
इस फिल्म में यूं तो सोनम कपूर के साथ अनिल कपूर और राजकुमार राव भी मुख्य भूमिका में हैं, लेकिन अपने नाम और कहानी के कारण फिल्म सोनम कपूर के इर्दगिर्द ही घूमती है. एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा फिल्म की कहानी लेस्बियन यानी समलैंगिकता पर आधारित है. फिल्म का विषय अच्छा होते हुए भी ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर ख़ास कमाल नहीं दिखा पाई, लेकिन वर्ष 2019 की महिला प्रधान फिल्मों में इस फिल्म को शामिल किए बिना महिला प्रधान फिल्मों की बात अधूरी रह जाएगी.

8) द ज़ोया फैक्टर
सोनम कपूर ने वर्ष 2019 में दो महिला प्रधान फिल्मों (एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा और द ज़ोया फैक्टर) में काम किया, लेकिन अफ़सोस उनकी दोनों ही फिल्में बॉक्स ऑफिस पर कुछ ख़ास कमाल नहीं कर पाईं. फिल्म द ज़ोया फैक्टर में सोनम कपूर ने एक ऐसी लड़की का क़िरदार निभाया है, जो इंडियन क्रिकेट टीम का लकी चार्म होती है, उसकी मौजूदगी में टीम सारे मैच जीतने लगती है. हालांकि फिल्म में सोनम कपूर के साथ दुलकर सलमान भी हैं, लेकिन फिल्म की कहानी पूरी तरह से सोनम कपूर के इर्दगिर्द ही घूमती है. सोनम कपूर की ये फिल्म भी ख़ास नहीं चली, लेकिन इस फिल्म को भी महिला प्रधान फिल्मों की कैटेगरी में रखना ज़रूरी है.
कमला बडोनी

पिछले कुछ दिनों से कंगना रनौत (Kangana Ranaut) सुर्खियों में बनी हुई हैं. जब से उनकी फिल्म मणिकार्णिका (Manikarnika) रिलीज़ हुई है, तब से उनपर आरोप प्रत्योराप का सिलसिला जारी है. फिल्म रिलीज़ होते ही फिल्म के डायरेक्टर रह चुके क्रिस और एक एक्ट्रेस मिष्टी ने कंगना पर फिल्म व रोल के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाया. इसके बाद कंगना ने भी प्रतिक्रिया देते हुए पूरे बॉलीवुड पर अपनी भड़ास निकाली. उन्होंने कहा कि पूरा बॉलीवुड उनके पीछे पड़ा हुआ है. किसी ने न तो उनकी फिल्म को प्रोमोट करने में उनकी कोई मदद की और न ही फिल्म की सराहना की. कंगना के अनुसार, सब उनकी सफलता से जलते हैं, क्योंकि उन्होंने बॉलीवुड में प्रचलित भाई-भतीजावाद के खिलाफ बोला था. उसके बाद कंगना ने आलिया को भी आड़े हाथ लेते हुए उन्हें करण जौहर की हाथ की कठपुतली बताया था. कंगना के अनुसार, आलिया की अपनी कोई आवाज़ नहीं है, वे सिर्फ करण जौहर के इशारों पर चलती हैं.

Tanushee Dutta and Kangana Ranaut

कंगना के इस बयान के बाद अभिनेता अनुपम खेर ने भी उनकी सराहना की थी. अनुपम ने कहा था कि कंगना महिला सशक्तिकरण का मजबूत उदाहरण है और साथ ही उन्हें रॉकस्टार भी बताया था. ऐसे में कंगना का सपोर्ट करते हुए तुनश्री ने भी उनके विरोधियों पर धावा बोल दिया है. जी हां, तनुश्री ने न सिर्फ कंगना को सपोर्ट किया है बल्कि एक ओपन लेटर लिखकर यह भी बताया है कि लोग कंगना को सपोर्ट क्यों नहीं कर रहे हैं. तनुश्री दत्ता ने कंगना को लेटर लिखकर कहा है कि कंगना रनौत A++ एक्ट्रेस हैं. एक एक्स्ट्रा प्लस इसलिए क्योंकि बॉलीवुड में वे बिना किसी सपोर्ट, बिना किसी ए-लिस्ट स्टार के रिकमंडेशन या बिना किसी हाई प्रोफाइल सरनेम के हैं. इसके साथ ही उन्होंने बाकी एक्ट्रेस की तरह दिखावे भरा, परफेक्ट और साफ-सुथरी छवि का लबादा नहीं ओढ़ा हुआ है.

तनुश्री ने उनकी एक्टिंग को भी पावरफुल कहा. तनुश्री ने आगे लिखा कि कंगना ये लोग आपको इसलिए सपोर्ट नहीं कर रहे क्योंकि ये आपके टैलेंट से डरे हुए हैं और आपकी हिम्मत को पसंद नहीं करते. वे खुद को भगवान समझते हैं. तनुश्री ने यह भी बताया कि उन्होंने अब तक फिल्म नहीं देखी है लेकिन उनके यूएस फ्रेंड्स ने उन्हें यह फिल्म देखने के लिए कहा है. उन्होंने बताया कि उनके पैरेंट्स ने यह फिल्म ओपनिंग वीक में ही देख ली और उन्होंने काफी तारीफ की, खासकर आपके
परफॉर्मेंस की.

Kangana Ranaut and Alia Bhatt

वहीं दूसरी तरफ कंगना के आरोपों का जवाब देते हुए आलिया ने उनसे पर्सनली मिलने की बात की. उन्होंने कहा,”मैं इन खबरों पर कंगना से पर्सनली बात करूंगी, मैं नहीं चाहती हूं कि मैं मीडिया को इन बयानों पर कोई जवाब दूं और फिर बात बढ़ती चली जाए, मैंने पहले भी कहा है और अब भी कह रही हूं कि मैं कंगना की बहुत इज्जत करती हूं और वो अपने दम पर यहां तक पहुंची हैं, वो खुलकर अपनी बात रखती हैं और मैं उसका भी सम्मान करती हूं.”

ये भी पढ़ेंः 10 हॉटेस्ट सेलिब्रिटीज़, जो हैं शाकाहारी (10 Hottest Vegetarian Bollywood Celebrities)

काफी विवादों और आलोचनाओं का सामना करने के बाद संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ रिलीज़ हो पाई, जिसे दर्शकों की ओर से खूब सराहना भी मिली. अभी यह फिल्म विवादों के घेरे से बाहर आई ही थी कि एक और नई फिल्म को लेकर बवाल शुरू हो गया है.

अब यह नया बवाल अभिनेत्री कंगना रनौत की फिल्म ‘मणिकर्णिका- द क्वीन ऑफ झांसी’ को लेकर शुरू हो गया है. खबरों के अनुसार एक संगठन ने आरोप लगाया है कि इस फिल्म में रानी लक्ष्मीबाई के कुछ प्रेम प्रसंग वाले सीन फिल्माए गए हैं और इसी बात को लेकर विवाद शुरू हो गया है.

Padmaavat protest starts againt Manikarnika

आपको बता दें कि इस फिल्म में कंगना रनौत झांसी की रानी लक्ष्मीबाई का किरदार निभा रही हैं. इस फिल्म की शूटिंग काफी हद तक पूरी हो गई है और अब इसके अंतिम चरण की शूटिंग राजस्थान में शुरू होनी है लेकिन यहां शूटिंग शुरू होने से पहले ही एक संगठन ने फिल्म में इतिहास से छेड़छाड़ करने का आरोप लगाते हुए विवाद शुरू कर दिया है.

Padmaavat protest starts againt Manikarnika

जयपुर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सर्व  ब्राह्मण महासभा के अक्ष्यक्ष पंडित सुरेश मिश्रा के अनुसार इस फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़-मरोड़कर पेश करने का काम किया जा रहा है और रानी लक्ष्मीबाई का किसी अंग्रेज के साथ प्रेम प्रसंग दिखाया जा रहा है. इसी बात का विरोध करते हुए इस महासभा ने राजस्थान सरकार को फिल्म की शूटिंग रुकवाने के लिए तीन दिन की मोहलत दी है.

Padmaavat protest starts againt Manikarnika

महासभा का मानना है कि इस फिल्म में रानी लक्ष्मीबाई का प्रेम प्रसंग एक अंग्रेज के साथ दिखाकर उनकी प्रतिष्ठा से खिलवाड़ किया जा रहा है. अंग्रेज़ों से लड़ते हुए युवावस्था में अपने प्राणों का बलिदान करनेवाली रानी लक्ष्मीबाई के बारे में कोई भी यह नहीं सोच सकता है कि उनका किसी अंग्रेज़ के साथ अफेयर रहा होगा.

Padmaavat protest starts againt Manikarnika

इस मामले में महासभा के अध्यक्ष ने फिल्म निर्माता को पत्र  लिखकर इस बात का जवाब मांगा है लेकिन अब तक उन्हें कोई जवाब नहीं मिला है, पर विरोध में उठती इस आवाज़ से अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि पद्मावत को जितना विवाद झेलना पड़ा है कहीं उतने ही विवादों का सामना ‘मणिकर्णिका-द क्वीन ऑफ झांसी’ को भी न करना पड़े.

यह भी पढ़ें: उतरन की मुक्ता का ये बोल्ड लुक आपने इससे पहले नहीं देखा होगा

Ankita-Lokhande-hot-look (2)

 

टेलिविज़न के फेमस शो पवित्र रिश्ता की अर्चना यानी अंकिता लोखंडे अब सिल्वर स्क्रीन पर आने की तैयारी कर रही हैं. ये ख़बर ख़ुद अंकिता ने इंस्टाग्राम पर एक न्यूज़ पेपर की कटिंग शेयर करते हुए दी है.

मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी में अंकिता झलकारी बाई का किरदार निभाएंगी. इस फिल्म में कंगना रनौत मुख्य भूमिका में हैं. कंगना रानी लक्ष्मीबाई के किरदार में होंगी. फिल्म का पोस्टर पहले ही वाराणसी में लॉन्च किया जा चुका है. C-_nfxdVYAACBKN (1)

अगस्त में अंकिता फिल्म की शूटिंग शुरू करेंगी. झलकारी बाई का रानी लक्ष्मीबाई की सेना में अहम् स्थान था. इस फिल्म के ज़रिए अब उनके बारे में भी जानने का मौका मिलेगा.