Master Blaster

इंडियन क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी और क्रिकेट के अभिन्न अंग मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर इंडिया ही नहीं, बल्कि विश्‍व क्रिकेट के एक ऐसे सितारे हैं, जिनकी चमक हमेशा क्रिकेट में बरक़रार रहेगी. जन्मदिन के मौ़के पर आइए, जानते हैं मास्टर ब्लास्टर की 10 इंटरेस्टिंग बातों के बारे में.

 

सचिन तेंदुलकर का नाम उनके पिता ने एसडी बर्मन से प्रभावित होकर रखा. एसडी बर्मन का पूरा नाम सचिन देव बर्मन है.

♦ 14 साल की उम्र में रणजी खेलने वाले सचिन अभी तक के सबसे यंग खिलाड़ी हैं.

♦ सचिन तेंदुलकर बैट्समैन नहीं, बल्कि फास्ट बॉलर बनना चाहते थे.

♦ सचिन एक ऐसे खिलाड़ी हैं, जिनकी टीम भले ही हार गई हो, लेकिन मैन ऑफ द मैच उन्हें ही मिला.

♦ सचिन तेंदुलकर बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी राइट हैंड से करते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि सचिन लेफ्ट हैंड से लिखते हैं. सचिन लेफ्टी हैं. ऐसा कॉम्बिनेशन बहुत कम देखने को मिलता है.

♦ 20 साल की उम्र के पहले ही सचिन ने टेस्ट मैच में 5 शतक लगाए हैं, जो अब तक रिकॉर्ड है. अभी तक किसी प्लेयर ने ऐसा नहीं किया है.

♦ 1990 में पहली टेस्ट सेंचुरी लगाने पर सचिन को मैन ऑफ द मैच से नवाज़ा गया और साथ में शैंपेन की बॉटल गिफ्ट की गई, लेकिन सचिन ने शैंपन की बॉटल को उस समय नहीं खोला, क्योंकि सचिन की उम्र 18 साल से कम थी और इस उम्र में किसी भी तरह का एल्कोहल लेना वर्जित है. उस शैंपेन को सचिन ने अपनी बेटी के पहले बर्थडे पर खोला.

♦ रात में सोते समय सचिन को चलने की आदत है. साथ में नींद में सचिन बड़बड़ाते भी हैं.

♦ सचिन तेंदुलकर पहले खिलाड़ी हैं, जिन्हें थर्ड अंपायर ने आउट करार दिया.

♦ सचिन दुनिया के दूसरे ऐसे खिलाड़ी हैं, जो भारी बैट से खेलते हैं. इतने हैवी बैट से केवल दक्षिण अफ्रीका के लान्स क्लुसनर ही खेलते थे.

मेरी सहेली (Meri Saheli) की ओर से सचिन तेंदुलकर को ढेरों शुभकामनाएं.