Meena kumari

बॉलीवुड में ‘ट्रेजेडी क्वीन’ के नाम से जानी जाने वाली मशहूर अदाकारा मीना कुमारी के जीवन पर एक वेब सीरीज बनने वाली है. मीना कुमारी की पूरी ज़िंदगी संघर्षभरी रही है, ऐसे में कहने की जरूरत नहीं है कि मीना कुमारी के जीवन पर बनने वाली वेब सीरीज बहुत दिलचस्प होगी. मीना कुमारी के जीवन पर बनने वाली इस वेब सीरीज का निर्माण प्रभलीन कौर करेंगी. बता दें कि प्रभलीन कौर हाल ही में ओटीटी प्लेटफॉर्म के लिए एक वेब सीरीज ‘मस्तराम’ का निर्माण कर चुकी हैं.

Meena Kumari

मीना कुमारी की ज़िंदगी को पर्दे पर उतारने की तैयारी
मीना कुमारी के जीवन पर वेब सीरीज को बनाने के लिए प्रभलीन कौर ने अश्वनी भटनागर की मीना कुमारी के जीवन पर आधारित लिखी किताब ‘मेहजबीन ऐज मीना कुमारी’ के अधिकार खरीदे हैं. प्रभलीन कौर इस वेब सीरीज के निर्माण को लेकर बहुत ज्यादा उत्साहित हैं. प्रभलीन कौर ने अश्वनी भटनागर की किताब का कवर सोशल मीडिया पर शेयर किया है और इस प्रोजेक्ट को लेकर अपनी ख़ुशी जाहिर की है. प्रभलीन कौर कहती हैं, ‘मेरे लिए यह एक सपना पूरा होने जैसा है. मीना कुमारी के नाम से बड़ा और उनके जीवन से ज्यादा सुंदर मेरे लिए और कुछ नहीं है. फिल्म को सच्चाई के ज्यादा करीब ले जाने के लिए हमने हिंदी फिल्म पत्रकारिता के सर्वश्रेष्ठ लोगों को काम पर रखा है, ताकि वो सही तथ्यों की जानकारी दे सकें.”

दर्दभरी है मीना कुमारी की ज़िंदगी
मीना कुमारी की ज़िंदगी बहुत दर्दभरी रही है, उनकी ज़िंदगी पर वेब सीरीज़ बनाना आसान काम नहीं है. फिलहाल इस बात का खुलासा नहीं किया गया है कि इस वेब सीरीज़ का निर्देशन कौन करेंगे और इसके लिए किन कलाकारों का चुनाव किया जाएगा, लेकिन मीना कुमारी का किरदार कौन अभिनेत्री निभाएगी, इसका इंतज़ार सभी को है. जहां तक मीना कुमारी की ज़िंदगी की बात है, तो बचपन से उनकी ज़िंदगी में दर्द शामिल हो गया था और उनकी मौत तक हमेशा उनके साथ रहा. मीना कुमारी का असली नाम महज़बीं बानो था. महज़ चार साल की उम्र से उनके पिता ने मीना कुमारी को फिल्मों में काम करने को मजबूर कर दिया था, फिर उसके बाद मीना कुमारी के संघर्ष का सफर कुछ यूं शुरू हुआ कि उनके इस दुनिया से जाने के बाद ही उनकी रूह को आराम मिला होगा. मीना कुमारी को साहिब बीवी और गुलाम, पाकीजा, मेरे अपने, बैजू बावरा, दिल अपना और प्रीत पराई, दिल एक मंदिर, काजल जैसी कई सुपरहिट फिल्मों में उनकी शानदार अदाकारी के लिए जाना जाता है.

यह भी पढ़ें: Childhood Pictures: बचपन में भी क्यूट दिखते थे ये बॉलीवुड स्टार (Childhood Pictures: Throwback Photos Of Bollywood Celebrities)

ऐसा था मीना कुमारी का बचपन
मीना कुमारी का बचपन ग़रीबी में गुजरा. मीना कुमारी का परिवार मुम्बई की एक चॉल में रहता था. जब मीना कुमारी का जन्म हुआ, तो घर में पहले से दो बेटियां होने के कारण उनके पिता उन्हें एक अनाथालय के बाहर छोड़ आए, लेकिन कुछ दूर जाने पर उनसे अपनी बेटी का रोना देखा नहीं गया और वो उसे घर ले आए. जब परिवार की तंगहाली और ज़्यादा बढ़ने लगी, तो मीना कुमारी के पिता ने महज़ चार साल की उम्र से ही उन्हें फिल्मों में काम करने को मजबूर कर दिया. महज़बीं उर्फ़ मीना कुमारी के अब्बू उन्हें जबरदस्ती मार-पीट कर फिल्मों के सेट पर ले जाया करते थे. नन्हीं महजबीं पढ़ना चाहती थीं, दूसरे बच्चों की तरह खेलना-कूदना चाहती थी, लेकिन उनके अब्बू ने न तो उन्हें पढ़ने दिया और न ही उन्हें अपना बचपन जीने दिया, उनके अब्बू ने सिर्फ उनसे काम करवाया. इसी वजह से मीना कुमारी को अपने पिता से नफरत-सी हो गई थी.

Meena Kumari

प्यार में हमेशा धोखा मिला मीना कुमारी को
कमाल अमरोही दो शादियां कर चुका थे और तीन बच्चों के पिता थे, फिर भी मीना कुमारी ने उन्हें टूटकर चाहा. अपने अब्बू के डर से मीना कुमारी ने चुपके से कमाल अमरोही से निकाह कर लिया, लेकिन शादी के बाद मीना कुमारी को सिर्फ दुख ही मिला और शादी के 12 साल बाद वो कमाल अमरोही से अलग हो गई. मीना कुमारी का नाम कई लोगों के साथ जोड़ा गया, जिसमें धर्मेंद्र, गुलज़ार, भारत भूषण, राजकुमार आदि नाम शामिल हैं.

यह भी पढ़ें: मशहूर अदाकारा मीना कुमारी की चुनिंदा शायरी (Best Shayari Of Bollywood Actress Meena Kumari)

मीना कुमारी को ऐसे पड़ी थी शराब पीने की लत
फिल्मी करियर में बेहद सफलता मिलने के बाद भी मीना कुमारी को कभी प्रेम नहीं मिल पाया, वो हमेशा तन्हाई से लड़ती रहीं. ऐसा कहा जाता है कि कमाल अमरोही के साथ अपने असफल रिश्ते और धर्मेंद्र के साथ अपने अधूरे प्रेम संबंध की वजह से मीना कुमारी इस तरह डिप्रेशन में चली गईं कि उन्होंने शराब को अपना साथी बना लिया. अभिनय की दुनिया में आसमान-सी ऊंचाई हासिल करने वाली मीना कुमारी अपनी पर्सनल लाइफ से हार गई. मीना कुमारी को शराब की ऐसी लत लगी कि इस लत ने ही उनकी जान ले ली और महज चालीस साल की उम्र में महजबीं उर्फ मीना कुमारी ने ज़िंदगी को अलविदा कह दिया.

सुशांत सिंह राजपूत के यूं अचानक चले जाने से आज भी उनके फैन्स सदमे में हैं. उनके निधन के कुछ दिनों बाद ही उनकी आखिरी फिल्म दिल बेचारा रिलीज़ होनेवाली है, जिसका सभी को बेसब्री से इंतज़ार है. सुशांत की ही तरह बॉलीवुड के कुछ और भी ऐसे सितारे हैं, जो यूं अचानक चले गए और उनकी आखिरी फ़िल्म उनके निधन के कुछ दिन या महीनों बाद रिलीज़ हुई. आइये देखते हैं कौन हैं वो बॉलीवुड के सितारे?

  1. सुशांत सिंह राजपूत
sushant singh rajput

14 जून, 2020 को सुशांत सिंह राजपूत ने अपने बांद्रावाले घर में आत्महत्या कर ली थी, पर आज भी उनके फैन्स उनकी मौत के लिए सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं, क्योंकि इतना खुशमिज़ाज़ व्यक्ति आत्महत्या कर सकता है, यह बात आज भी किसी के गले के नीचे नहीं उतर रही है. उनकी फिल्म दिल बेचारा पहले मई, 2020 में थियेटर में रिलीज़ होनेवाली थी, पर देशभर में चल रहे लॉकडाउन के कारण रिलीज़ नहीं हो पाई और अब वह 24 जुलाई को डिजिटल प्लैटफॉर्म पर रिलीज़ होनेवाली है. 6 जुलाई को फ़िल्म का ट्रेलर रिलीज़ हुआ था, जिसने कई रिकॉर्ड्स तोड़ दिए थे. 24 घंटे के भीतर ही ट्रेलर को 5 मिलियन्स से ज़्यादा लाइक्स मिले.

2. श्रीदेवी

sridevi

श्रीदेवी बॉलीवुड की बेहद ख़ूबसूरत और टैलेंटेड एक्ट्रेसेस में से एक थीं. उनकी मौत भी बॉलीवुड और उनके फैन्स के लिए किसी सदमे से कम नहीं थी. 24 फरवरी 2018 को दुबई के हॉटेल में बाथटब में डूबने से उनकी मौत हो गई थी. उन्होंने फिल्म ज़ीरो में कैमियो रोल किया था, जो उनकी आख़िरी फ़िल्म साबित हुई.

3. दिव्या भारती

divya bharti

19 साल की महज़ छोटी सी उम्र में अचानक उनकी मौत ने सभी को चौंका दिया था. कुछ ही फिल्मों से सभी के दिलों पर राज करनेवाली दिव्या भारती की मौत 1993 में हुई थी, जो आज भी एक रहस्य बनी हुई है. उनकी आख़िरी फ़िल्म शतरंज उनकी मौत के 9 महीने बाद रिलीज़ हुई थी, जो बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित हुई थी.

4. राजेश खन्ना

rajesh khanna

बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार और ओरिजिनल सुपरस्टार राजेश खन्ना आज भी फैन्स के दिलों में वही अहमियत रखते हैं, जो वो अपने ज़माने में रखते थे. करीब 30 साल तक बॉलीवुड में राज करनेवाले राजेश खन्ना 18 जुलाई 2012 को इस दुनिया को अलविदा कह गए. उनकी आख़िरी फ़िल्म रियासत 2014 में रिलीज़ हुई.

5. शम्मी कपूर

shammi kapoor

70 के दशक में लड़कियों के दिलों की धड़कन बढ़ानेवाले स्टार शम्मी कपूर ने अपनी बेहतरीन अदाकारी और गुड लुक्स से लाखों को घायल किया था. शम्मी कपूर ने 14 अगस्त, 2011 को क्रॉनिक रेनल फेलियर के कारण दुनिया को अलविदा कह गए. उनकी आख़िरी फ़िल्म थी रणबीर कपूर स्टारर रॉकस्टार, जो उसी साल नवंबर में रिलीज़ हुई थी.

6. स्मिता पाटिल

smita patil

नेचुरल ब्यूटी और ऐक्टिंग के लिए मशहूर स्मिता पाटिल ने अपने करियर में ऐसी कई फिल्में की, जिसे लोग आज भी याद करते हैं. 13 दिसंबर, 1986 को उनका निधन हो गया था. उनकी आख़िरी फ़िल्म गलियों के बादशाह 17 मार्च, 1989 को रिलीज़ हुई थी.

7. मधुबाला

madhubala

ख़ूबसूरती की मिसाल मधुबाला के आज भी लाखों दीवाने हैं. ख़ूबसूरती के साथ साथ उनकी चंचल और शोख अदाएं भला कौन भूल सकता है. दिल में छेद होने के कारण 23 फरवरी, 1969 को यह दुनिया छोड़कर चली गईं. उनकी आख़िरी फ़िल्म ज्वाला उनकी मौत के दो साल बाद 1971 में रिलीज़ हुई थी.

8. मीना कुमारी

meena kumari

‘इंडियन सिनेमा की ट्रैजडी क्वीन’ के नाम से मशहूर मीना कुमारी ने कई बेहतरीन फिल्में की हैं. पाकीज़ा जैसी बेहद पॉप्युलर फ़िल्म के दौरान ही मीना कुमारी की तबियत ख़राब होने लगी थी. महज़ 38 साल की उम्र में लिवर सिरोसिस के कारण मार्च, 1972 में उनका निधन हो गया. उसी साल उनकी आख़िरी फ़िल्म गोमती के किनारे रिलीज़ हुई थी.

9. संजीव कुमार

sanjeev kumar

ठाकुर के किरदार के लिए मशहूर बेहद टैलेंटेड एक्टर संजीव कुमार को जन्मजात दिल की बीमारी थी. बॉलीवुड में एक से एक बेहतरीन किरदार निभानेवाले संजीव कुमार का निधन 6 नवंबर, 1985 को हुआ था. उनके निधन के 8 सालों बाद बाद उनकी आख़िरी फ़िल्म प्रोफेसर की पड़ोसन रिलीज़ हुई थी.

10. ओम पुरी

sanjeev kumar

अलग-अलग किरदारों के ज़रिए बॉलीवुड में अपनी एक अलग पहचान बनानेवाले ओम पुरी का हार्ट अटैक के कारण 6 जनवरी, 2017 को निधन हो गया था. निधन के कुछ महीनों पहले ही उन्होंने सलमान खान की फ़िल्म ट्यूबलाइट की शूटिंग ख़त्म की थी. उनके निधन के बाद यह फ़िल्म ईद के मौके पर रिलीज़ हुई थी.

यह भी पढ़ें: सुशांत सिंह राजपूत के नाम से समर्पित किया गया चौक और रोड, मेयर ने की सीबीआई जांच की मांग (A Road And Chowk Named After Sushant Singh Rajput In His Hometown In Bihar)

करोड़ों रूपए बतौर फीस लेनेवाले बॉलीवुड एक्टर्स में से ऐसे भी कई स्टार्स हैं, जिन्होंने कभी फिल्म, तो कभी डायरेक्टर या प्रोड्यूसर की वजह से फिल्म में काम करने के लिए कोई फीस नहीं ली और फ्री में की ये फ़िल्में. बॉलीवुड में ऐसा कई बार देखा गया है, जब फिल्म के रोल के लिए कुछ कलाकारों ने सिर्फ़ टोकन अमाउंट लिया और पूरी शिद्दत के साथ अपनी भूमिका निभाई. आइए देखें कौन हैं वो बॉलीवुड स्टार्स जिन्होंने ऐसा भी किया है.

अमिताभ बच्चन

amitabh bachchan

फिल्म ब्लैक की स्क्रिप्ट से बिग बी इतने इम्प्रेस्ड हुए थे कि उन्होंने यह फिल्म फ्री में की थी. इस फिल्म को करने का एक और कारण संजय लीला भंसाली के साथ काम करना भी बताया था. इसके अलावा जब अमितजी के मेकअप मैन भोजपुरी फिल्मों के डायरेक्टर बने, तो उन्होंने अमितजी को अपनी फिल्म में रोल दिया, लेकिन अमितजी ने उनकी फिल्मों गंगा, गंगोत्री और गंगा देवी के लिए एक भी पैसा नहीं लिया.

दीपिका पादुकोण

deepika padukone

बॉलीवुड में अपनी डेब्यू फिल्म ओम शांति ओम में सुपरस्टार शाहरुख खान के साथ काम करने की इतनी बड़ी ऑपर्चुनिटी के लिए दीपिका ने एक भी रुपया नहीं लिया. यह फिल्म उन्होंने फ्री में की थी, जो ब्लॉकबस्टर साबित हुई.

फरहान अख्तर

farhan akhtar

अपनी पूरी मेहनत और शिद्दत के साथ मिल्खा सिंह का किरदार निभानेवाले फरहान अख्तर ने इस फिल्म के लिए महज़ 11 रूपये का टोकन अमाउंट लिया था. इस फिल्म के लिए फरहान ने काफ़ी मेहनत की, जिसके कारण फिल्म सुपरहिट रही.

शाहिद कपूर

shahid kapoor

साल 2014 में आई फिल्म हैदर के लिए शाहिद कपूर ने कोई पैसे नहीं लिए और यह फिल्म फ्री में की. हैदर फिल्म में उनकी बेहतरीन अदाकारी के लिए शाहिद को काफ़ी सराहना भी मिली थी.

शाहरुख खान

shahrukh khan

बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान ने भी अमिताभ बच्चन की फिल्म भूतनाथ में काम करने के लिए कोई फीस नहीं ली थी. इसके अलावा कमल हसन की फिल्म हे राम में भी उन्होंने फ्री में काम किया था.

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी

nawazuddin siddiqui

साल 2018 में नंदिता दास के डायरेक्शन में बनी फिल्म मंटो के लिए नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी ने सिर्फ़ 1 रूपये टोकन अमाउंट लिया था. नवाज़ुद्दीन के अलावा ऋषि कपूर, जावेद अख्तर, गुरदास मान, राजश्री देशपांडे, रणवीर शोरी और स्वानंद किरकिरे ने भी यह फिल्म फ्री में की थी. इसके अलावा नवाज़ुद्दीन ने फिल्म हरामखोर के लिए भी सिर्फ़ 1 रूपये टोकन अमाउंट लिया था.

मीना कुमारी

Meena Kumari

कमाल अमरोही की क्लासिक फिल्म पाकीज़ा के लिए मीना कुमारी ने सिर्फ़ 1 रूपये का टोकन अमाउंट लिया था. दुर्भाग्य से यह उनकी आख़िरी फिल्म साबित हुई. फिल्म की रिलीज़ के कुछ हफ़्ते बाद ही लिवर की बीमारी से उनका देहांत हो गया.

ओम पुरी

Om Puri

डेढ़ लाख के बजट में बनी फिल्म घासीराम कोतवाल ओम पुरी की डेब्यू फिल्म थी, जिसके लिए उन्होंने कोई फीस नहीं ली थी. यह एक मराठी फिल्म थी, जो मराठी नाटक पर आधारित थी.

इरफ़ान खान

irrfan khan

साल 2004 में आई फिल्म रोड टु लद्दाख एक ऐसी ही फिल्म थी, जिसे महज़ 16 दिनों में पूरा किया गया था. इस फिल्म के लिए इरफ़ान खान ने कोई अमाउंट नहीं लिया था.

यह भी पढ़ें: सलमान से लेकर अमिताभ सहित ये 9 बॉलीवुड स्टार्स हेयर ट्रांसप्लांट पर कर चुके हैं लाखों रुपये खर्च: हो चुके थे ऑलमोस्ट गंजे (From Salman To Amitabh, 9 Bollywood Celebrities Who Spent millions On Hair Transplants)

बहुत कम लोग जानते हैं कि मशहूर अदाकारा मीना कुमारी को शायरी का भी शौक़ था. शायरी का ये शौक़ ही उन्हें गुलजार के करीब ले गया था. मीना कुमारी के शायराना अंदाज़ और अदाकारी पर गुलजार बहुत फिदा थे. फ़ुर्सत के लम्हों में दोनों शेर-ओ-शायरी पर बातें किया करते थे. फिर एक दिन मीना कुमारी अपनी तमाम निजी डायरियां गुलज़ार को सौंपकर दुनिया से रुख़सत हो गईं. मीना कुमारी की जाने के बाद उनकी लिखी नज़्मों और ग़ज़लों को गुलज़ार ने एक नया कलेवर देकर ‘मीना कुमारी की शायरी’ नामक किताब प्रकाशित करवाई. आप भी पढ़िए मशहूर अदाकारा मीना कुमारी की चुनिंदा शायरी.

Actress Meena Kumari

मशहूर अदाकारा मीना कुमारी की चुनिंदा शायरी
आग़ाज़ तो होता है अंजाम नहीं होता
जब मेरी कहानी में वो नाम नहीं होता
जब ज़ुल्फ़ की कालक में घुल जाए कोई राही
बदनाम सही लेकिन गुमनाम नहीं होता

चाँद तन्हा है आसमाँ तन्हा
दिल मिला है कहाँ कहाँ तन्हा
बुझ गई आस छुप गया तारा
थरथराता रहा धुआँ तन्हा

यूँ तेरी रहगुज़र से दीवाना-वार गुज़रे
काँधे पे अपने रख के अपना मज़ार गुज़रे
बैठे हैं रास्ते में दिल का खंडर सजा कर
शायद इसी तरफ़ से इक दिन बहार गुज़रे

बरसात मुबारक हो, ये साथ मुबारक हो
हर दिन रहे सलोना, हर रात मुबारक हो
सँवलाई हुई शामों को, हर सुब्ह मुबारक हो
हिचकी हो या सिसकी हो, हर नग़्मा मुबारक हो

रूह का चेहरा किताबी होगा
जिस्म का रंग उन्नाबी होगा
शरबती रंग से लिक्खो आँखें
और एहसास शराबी होगा

तेरे क़दमों की आहट को ये दिल है ढूँडता हर दम
हर इक आवाज़ पर इक थरथराहट होती जाती

हँसी थमी है इन आँखों में यूँ नमी की तरह
चमक उठे हैं अंधेरे भी रौशनी की तरह

कहीं कहीं कोई तारा कहीं कहीं जुगनू
जो मेरी रात थी वो आप का सवेरा है

यह भी पढ़ें: मीना कुमारी के अधूरे प्रेम की दर्दभरी दास्तान: कमाल अमरोही से लेकर धर्मेंद्र तक सबने प्यार में धोखा दिया (Tragic Love Story Of Tragedy Queen Meena Kumari)

फिल्मी दुनिया की सुपरस्टार मीना कुमारी ने अपनी खूबसूरती और बेहतरीन अदाकारी से लाखों दिलों पर राज किया, लेकिन असल ज़िंदगी में वो हमेशा अकेलेपन से लड़ती रही और हमेशा प्यार के लिए तरसती रह गई. कमाल अमरोही से लेकर धर्मेंद्र तक सबने मीना कुमारी को प्यार में धोखा दिया ही दिया. बॉलीवुड में ट्रेजेडी क्वीन के नाम से जानी जाने वाली मीना कुमारी का असली नाम महज़बीं बानो था. महज़ चार साल की उम्र से उनके पिता ने मीना कुमारी को फिल्मों में काम करने को मजबूर कर दिया था, फिर उसके बाद मीना कुमारी के संघर्ष का सफर कुछ यूं शुरू हुआ कि उनके इस दुनिया से जाने के बाद ही उनकी रूह को आराम मिला होगा. मीना कुमारी जितनी खूबसूरत थीं, उतनी दी दर्दभरी थी उनकी ज़िंदगी. आइए, हम आपको मीना कुमारी के अधूरे प्रेम की दर्दभरी दास्तान सुनाते हैं. मीना कुमारी ने हर बार टूटकर इश्क़ किया, लेकिन हर बार मोहब्बत में उन्हें धोखा ही मिला. 

Meena Kumari

पिता से लेकर प्रेमी तक, हर किसी ने मीना कुमारी को सिर्फ दर्द ही दिया
मीना कुमारी का बचपन ग़रीबी में गुजरा. मीना कुमारी का परिवार मुम्बई की एक चॉल में रहता था. जब मीना कुमारी का जन्म हुआ, तो घर में पहले से दो बेटियां होने के कारण उनके पिता उन्हें एक अनाथालय के बाहर छोड़ आए, लेकिन कुछ दूर जाने पर उनसे अपनी बेटी का रोना देखा नहीं गया और वो उसे घर ले आए. जब परिवार की तंगहाली और ज़्यादा बढ़ने लगी, तो मीना कुमारी के पिता ने महज़ चार साल की उम्र से ही उन्हें फिल्मों में काम करने को मजबूर कर दिया. महज़बीं उर्फ़ मीना कुमारी के अब्बू उन्हें जबरदस्ती मार-पीट कर फिल्मों के सेट पर ले जाया करते थे. नन्हीं महजबीं पढ़ना चाहती थीं, दूसरे बच्चों की तरह खेलना-कूदना चाहती थी, लेकिन उनके अब्बू ने न तो उन्हें पढ़ने दिया और न ही उन्हें अपना बचपन जीने दिया, उनके अब्बू ने सिर्फ उनसे काम करवाया. इसी वजह से मीना कुमारी को अपने पिता से नफरत-सी हो गई थी.

Meena Kumari

जब मीना कुमारी को कमाल अमरोही से हुआ प्यार 
ये उन दिनों की बात है जब ‘महल’ फिल्म को निर्देशित करने के बाद कमाल अमरोही रातोंरात स्टार बन गए. मीना कुमारी ने जब कमाल अमरोही की तस्वीर एक मैगजीन में देखी, तो वो उनसे बहुत प्रभावित हुई. फिर कुछ समय बाद मीना कुमारी किसी मित्र के माध्यम से कमाल अमरोही से मिलीं. इस मुलाक़ात के बाद कमाल अमरोही ने मीना कुमारी को अपनी अगली फिल्म के लिए साइन किया. ये फिल्म तो नहीं बन पाई, लेकिन इन दोनों की प्रेम कहानी शुरू हो गई. कमाल अमरोही दो शादियां कर चुका थे और तीन बच्चों के पिता थे, फिर भी मीना कुमारी ने उन्हें टूटकर चाहा. जब मीना कुमारी का एक छोटा-सा एक्सीडेंट हुआ और वो उस वक़्त पुणे में हॉस्पिटल में भर्ती थी, तो कमाल अमरोही उनसे मिलने मुंबई से पुणे जाया करते थे. अपने अब्बू के डर से मीना कुमारी ने चुपके से कमाल अमरोही से निकाह कर लिया, जब उनके पिता को इस बात का पता चला, तो उन्हें ये बात बर्दाश्त नहीं हुई. उन्हें ये बात पसंद नहीं थी कि कमाल अमरोही की पहले से दो बीवियां और तीन बच्चें थे और वो मीना कुमारी से उम्र में बहुत बड़े थे. मीना कुमारी के पिता ने उनकी शादी तोड़ने की भी कोशिश की, लेकिन मीना कुमारी पूरी तरह कमाल अमरोही के प्यार में पागल थीं. आखिरकार मीना कुमारी अपनी सारी कमाई अपने अब्बू के घर छोड़ सिर्फ कुछ साड़ियां लेकर रात में  कमाल अमरोही के घर उनके साथ रहने चली गईं. शादी के पहले तक तो सब ठीक था, लेकिन शादी के बाद कमाल अमरोही बदलने लगे, वो अब प्रेमी से पति जो बन चुके थे. मीना कुमारी का करियर बहुत अच्छा चल रहा था, जिसके चलते कमाल अब मीना कुमारी की कामयाबी से जलने लगे थे. साथ ही वो उन पर शक भी करने लगे थे. कमाल अमरोही ने मीना कुमारी को कभी अपने बच्चे की मां नहीं बनने दिया, मीना कुमारी ने अपना प्यार और अपनी गृहस्थी बचाने की हर मुमकिन कोशिश की, लेकिन वो कामयाब न हो सकी. आखिरकार हार कर 12 साल बाद मीना कुमारी ने कमाल अमरोही का घर छोड़ दिया.

यह भी पढ़ें: शादीशुदा ज़िंदगी में दो बार फेल होने के बाद श्वेता तिवारी को तीसरी बार हुआ है प्यार, क्या आप जानते हैं श्वेता तिवारी की ज़िंदगी का ये राज़ (Shweta Tiwari Is In Love For The Third Time After Failing Twice In Married Life)

Meena Kumari kamal amrohi

मीना कुमारी और धर्मेंद्र की प्रेम कहानी
जब धर्मेंद्र फिल्म इंडस्ट्री में आए, उस समय मीना कुमारी बहुत बड़ी स्टार बन चुकी थीं. मीना कुमारी की सिफारिश पर धर्मेंद्र को कई फिल्मों में काम मिला. दरअसल मीना कुमारी को धर्मेंद्र का मेंटॉर कहा जा सकता है. वो धर्मेंद्र को एक्टिंग की बारीकियां सिखाती थीं. मीना कुमारी ने ही धर्मेंद्र के व्यक्तित्व को निखारा. फिर फिल्मों में साथ काम करते हुए दोनों करीब आ गए, लेकिन मुश्किल ये थी कि वो दोनों ही उस समय शादीशुदा थे इसलिए उनका इश्क़ अधूरा ही रह गया. जानने वाले बताते हैं कि जब मीना कुमारी बहुत ज्यादा बीमार हो गईं, तो आखिर तक जो चंद फिल्मी दोस्त उनसे मिलने आते थे, उनमें धर्मेंद्र भी एक थे. 

Meena Kumari Dahrmender

मीना कुमारी और गुलज़ार की प्रेम कहानी
कमाल अमरोही हमेशा मीना कुमारी पर पहरे लगाकर रखते थे. उनके मेकअप रूम में किसी मर्द को जाने नहीं देते थे, लेकिन पति की ज़्यादतियों से तंग आ चुकी मीना कुमारी अब विद्रोही हो चुकी थी. मीना कुमारी कुछ पल अपने लिए जी लेना चाहती थी. इसी के चलते वो गुलज़ार के भी करीब आईं. उस समय मीना कुमारी और गुलज़ार की प्रेम कहानी का ज़िक्र भी खूब हुआ करता था. ऐसा कहा जाता है कि एक बार मीना कुमारी ने स्टूडियो में गुलज़ार को बुलाया और सबके सामने अपना प्यार ज़ाहिर किया. उसके बाद मीना कुमारी अपने पति के घर से चली गईं, फिर वो अपनी बहन के साथ रहने लगीं. दरअसल, मीना कुमारी को शायरी लिखना बहुत पसंद तह. शायरी का ये शौक़ ही उन्हें गुलजार के करीब ले गया था. मीना कुमारी के शायराना अंदाज़ और अदाकारी पर गुलजार भी फिदा थे. फ़ुर्सत के लम्हों में दोनों शेर-ओ-शायरी पर बातें किया करते थे. मीना कुमारी अपनी तमाम निजी डायरियां गुलज़ार को सौंपकर दुनिया से रुख़सत हो गईं. फिर मीना कुमारी की लिखी नज़्मों और ग़ज़लों को गुलज़ार ने एक नया कलेवर देकर ‘मीना कुमारी की शायरी’ नामक किताब प्रकाशित करवाई, लेकिन डायरियों में लिखा बहुत कुछ कभी बाहर नहीं आ सका.

यह भी पढ़ें: Childhood Pictures: बचपन में भी क्यूट दिखते थे ये बॉलीवुड स्टार (Childhood Pictures: Throwback Photos Of Bollywood Celebrities)

Meena Kumari Gulzar

कई लोगों से जोड़ा गया था मीना कुमारी का नाम
मीना कुमारी का नाम कई लोगों के साथ जोड़ा गया था. फिल्म बैजू बावरा के निर्माण के दौरान अभिनेता भारत भूषण भी मीना कुमारी के प्रति अपने प्रेम का इज़हार कर चुके थे. इसी तरह अभिनेता राजकुमार को मीना कुमार से इस कदर मोहब्बत हो गई थी कि वो मीना कुमारी के साथ काम करते हुए सेट पर अपने डायलॉग भूल जाते थे.

Meena Kumari

मीना कुमारी को ऐसे पड़ी थी शराब पीने की लत
फिल्मी करियर में बेहद सफलता मिलने के बाद भी मीना कुमारी को कभी प्रेम नहीं मिल पाया, वो हमेशा तन्हाई से लड़ती रहीं. ऐसा कहा जाता है कि कमाल अमरोही के साथ अपने असफल रिश्ते और धर्मेंद्र के साथ अपने अधूरे प्रेम संबंध की वजह से मीना कुमारी इस तरह डिप्रेशन में चली गईं कि उन्होंने शराब को अपना साथी बना लिया. अभिनय की दुनिया में आसमान-सी ऊंचाई हासिल करने वाली मीना कुमारी अपनी पर्सनल लाइफ से हार गई. मीना कुमारी को शराब की ऐसी लत लगी कि इस लत ने ही उनकी जान ले ली और महज चालीस साल की उम्र में महजबीं उर्फ मीना कुमारी ने ज़िंदगी को अलविदा कह दिया.

यह भी पढ़ें: ऋषि कपूर की 10 बेहतरीन फिल्में, आपको कौन सी फिल्म सबसे ज़्यादा पसंद है? (10 Best Movies Of Rishi Kapoor, Which Movie Do You Like The Most?)

रील से रियल: क्या आप जानते हैं इन बॉलीवुड स्टार्स के रियल नाम?

आप अपने चहेते फिल्मी सितारों की हर बात, हर अंदाज़ को पसंद करते हैं और उनके बारे में हर चीज़ जानने को आतुर भी रहते हैं. ऐसे में आपको यह भी पता होना चाहिए कि वो जिन नामों से हमारे बीच मशहूर हैं, वो दरअसल उनके असली नाम हैं ही नहीं. रील लाइफ के लिए वो अपना नाम बदलते हैं, जबकि रियल लाइफ में उनके नाम बहुत अलग होते हैं. क्या हैं उनके असली नाम, आइए जानें

दिलीप कुमार: मुहम्मद यूसुफ खान

Dilip Kumar: Muhammad Yusuf Khan

मधुबाला: मुमताज़ जहां देहलवी

Madhubala: Mumtaz Jahan Dehalvi
मीना कुमारी: महज़बीन बान

Meena Kumari: Mahazbeen Ban
राजेश खन्ना: जतिन खन्ना
Rajesh Khanna: Jatin Khanna

अमिताभ बच्चन: इंकलाब

Amitabh Bachchan: Inquilab

अक्षय कुमार: राजीव हरि ओम भाटिया

Akshay Kumar: Rajiv Hari Om Bhatia

रीना रॉय: सायरा ख़ान

Reena Roy: Saira Khan

देव आनंद: धरम देवदत्त पिशोरीमल आनंद

Dev Anand: Dharam Devdutt Pishorimal Anand

गुरु दत्त: वसंथ कुमार शिवशंकर पादुकोण

Guru Dutt: Vasanth Kumar Shivshankar Padukone

शम्मी कपूर: शमशेर राज कपूर

Shammi Kapoor: Shamsher Raj Kapoor

संजीव कुमार: हरीभाई ज़रीवाला

Sanjeev Kumar: Haribhai Zariwala

मनोज कुमार: हरिकृष्ण गिरी गोस्वामी

Manoj Kumar: Harikrishna Giri Goswami

रेखा: भानुरेखा गणेशन

Rekha: Bhanurekha Ganesan

जॉनी वॉकर: बदरुद्दीन जमालुद्दीन काज़ी

Johnny Walker: Badruddin Jamaluddin Kazi

सनी देओल: अजय सिंह देओल

Sunny Deol: Ajay Singh Deol

श्रीदेवी:  अम्मा येंगर अय्यपन

Sridevi: Amma Yengar Ayyapan

नरगिस: फातिमा राशिद

Nargis: Fatima Rashid

मिथुन चक्रबर्ती:  गौरांग चक्रबर्ती

Mithun Chakraborty: Gaurang Chakraborty

जॉन अब्राहम: फरहान अब्राहम

John Abraham: Farhan Abraham

शिल्पा शेट्टी: अश्‍विनी शेट्टी

Shilpa Shetty: Ashwini Shetty

कमल हसन: पार्थसारथी 

Kamal Hassan: Parthasarathy

कटरीना कैफ: कटरीना टरक्वेट

Katrina Kaif: Fatima Rashid

आमिर ख़ान: मोहम्मद आमिर हुसैन ख़ान

Aamir Khan: Mohammad Aamir Hussain Khan

अजय देवगन: विशाल देवगन

Ajay Devgan: Vishal Devgan

सैफ अली ख़ान: साजिद अली ख़ान

Saif Ali Khan: Sajid Ali Khan

तबु: तबस्सुम फातिमा हाशमी

Tabu: Tabassum Fatima Hashmi

डैनी डेनजॉन्गपा: शेरिंग फिन्सो डेनजॉन्गपा

Danny Denzongpa: shering phinso denajongapa

राज कुमार: कूलभूषण पंडित

Raj Kumar: Kulbhushan Pandit

सुनील दत्त: बलराज

Sunil Dutt: Balraj

संजय ख़ान: शाह अब्बास ख़ान

Sanjay Khan: Shah Abbas Khan

यह भी पढ़ें: बिग बॉस13: जानिए रश्मि और नंदीश ने क्यों तोड़ी थी अपनी शादी? (BB 13: Here’s Why Rashmi Desai Divorced Nandish Sandhu)

Stars Who Turned From Rich To Poor

अर्श से फर्श तक: बॉलीवुड स्टार्स, जिनकी मुफलिसी उन्हें सड़क पर ले आई थी! (Bollywood Stars Who Turned From Rich To Poor)

बॉलीवुड के लिए कहा जाता है कि यहां स़िर्फ चढ़ते सूरज को ही सलाम किया जाता है, व़क्त के साथ-साथ बड़े से बड़े सितारे यहां गुमनामी के अंधेरे में खो जाते हैं. यहां हम उन मशहूर फिल्म स्टार्स का ज़िक्र करेंगे, जो अपने समय के सुपर स्टार थे, लेकिन मुफलिसी ने उन्हें इस कदर घेरा कि वो सड़क पर आ गए.

मीना कुमारी: ट्रेजडी क्वीन मीना कुमारी ने जिस तरह सिल्वर स्क्रीन पर अपने हर किरदार को ज़िंदा किया, उससे सभी उनकी अदाकारी के कायल हो गए. लेकिन इनकी पर्सनल लाइफ में भी ट्रेजडी की कमी नहीं थी. ताउम्र प्यार के लिए तरसती मीना ने अपने अंतिम समय में भी ख़ुद को तन्हा ही पाया और उनके अंतिम समय में अस्पताल के बिल तक चुकाने के पैसे उनके पास नहीं थे. मीना कुमारी की ख़ासियत यह थी कि वो पारंपरिक मुसलमान लड़कियों से बहुत अलग थीं. वो बहुत अच्छी शायरा भी थीं, उनका अल्कोहॉलिक होना भी यह दर्शाता है कि ज़िंदगी से उन्होंने जो चाहा, वो उन्हें नहीं मिला. उनके परिवार ने उन्हें पैसा कमाने का मात्र एक ज़रिया समझा और यही वहज है कि जब कमला अमरोही से उनकी शादी हुई, तो परिवार को लगा कि मीना ने उन्हें धोखा दिया. मीना ख़ुद कहती थीं कि उन्हें लगता है भगवान से उन्हें शाप दिया है कि उनकी फिल्मों की ट्रेजडी रियल लाइफ में भी वो महसूस करें.

परवीन बाबी: 80 के दशक की हॉट, ग्लैमरस गर्ल परवीन अपने बोल्ड और बिंदास अंदाज़ के लिए मशहूर थीं. लेकिन परानॉइड स्किज़ोफ्रेनिया के चलते उनका एक्टिंग करियर व उनकी पर्सनल लाइफ भी प्रभावित होने लगी थीं. परवीन भी सच्चे प्यार की तलाश में रहीं और अंत में ख़ुद को तन्हा ही पाया. मुंबई के एक फ्लैट में अकेले रहते हुए ही उनकी मौत हो गई और उनके पड़ोसियों को यह बात तब पता चली, जब तीन दिन से उनके घर के बाहर दूध व अंडे यूं ही पड़े रहे. परवीन राज घराने में पैदा हुई थीं, लेकिन दुख की बात यह है कि परवीन के परिवार की तरफ़ से भी उनकी बॉडी तक क्लेम करने कोई नहीं आया और अंतत: महेश भट्ट ने उनका अंतिम संस्कार किया.

विमी: बी आर चोपड़ा की हमराज़ की इस ब्यूटी क्वीन से उस व़क्त सबका ध्यान अपनी ओर खींच लिया था. रातोंरात विमी स्टार बन चुकी थीं, लेकिन अपनी पर्सनल लाइफ में समस्याओं के चलते उन्हें फिल्मी मिलनी भी बंद हो गईं और फिर आर्थिक तंगी ने उन्हें अल्कोहॉल व अन्य गतिविधियों की तरफ़ धकेल दिया. विमी की रहस्मय मौत ने सबको चौंका दिया था.

यह भी पढ़ें: Bigg Boss 13: देवोलीना ने शहनाज को मारा थप्पड़, सोशल मीडिया पर देवो के खिलाफ यूजर्स का भड़का गुस्सा (Devoleena Bhattacharjee Slaps Shehnaz Gill, Enrages Fans)

गीतांजलि नागपाल: सुपर मॉडल गीतांजलि नेवल ऑफिसर की बेटी हैं और अपने समय के मशहूर व कामयाब मॉडल भी. लेकिन ड्रग एडिक्शन के चलते वो एक रोज़ सड़कों पर भीख मांगती नज़र आईं. एक फोटोग्राफर को वो पोज़ देने लगीं, तो सुर्ख़ियों में आईं और उसके बाद उनका इलाज शुरू हुआ.

ओपी नैयर: म्यूज़िक इंडस्ट्री में बड़ा नाम हैं ओपी नैयर, लेकिन उनकी परिवार ने उन्हें घर से निकाल दिया और अपने अंतिम दिन उन्होंने एक फैन के घर में गुज़ारे. सुनने में यही आता है कि यदि कोई उनसे इंटरव्यू मांगने आता, तो उससे वो शराब व पैसे की डिमांड ही करते थे.

एके हंगल: फिल्म शोले का एक डायलॉग और लोगों की आंखों से आंसू बहने लग जाते- इतना सन्नाटा क्यों है भाई! जी हां, हंगल साबह ने 225 फिल्मों में काम किया, लेकिन बावजूद इसके अपने अंतिम दिनों में वो गरीबी व बीमारी के शिकार थे. अपने मेडिकल बिल्स भी वो चुका नहीं पा रहे थे. अमिताभ बच्चन ने उनकी मदद की और उसके बाद कई और हस्तियां भी सामने आईं.

भगवान दादा: इनका नाम आते ही शोला जो भड़के गाना याद आता है. इंडस्ट्री में बड़ा नाम थे भगवान दादा, लेकिन अपने प्रोडक्शन में बनाई कुछ फिल्मों ने इन्हें कंगाल बना दिया था. इन्हें अपना जुहू का बंगला व 7 कारें, जो हफ़्ते के हर दिन के हिसाब से वो यूज़ करते थे, बेचनी पड़ी और अंतिम दिन उन्होंने एक चॉल में गुज़ारे.

भारत भूषण: फिल्म बैजू बावरा ने इन्हें सुपर स्टार बना दिया था और इन्होंने अपने दौर की सभी नामी एक्ट्रेसेस के साथ काम किया था. इनके पास मुंबई में कई फ्लैट्स थे, लेकिन पैसे न बचाने की आदत ने इन्हें इतना कंगाल कर दिया था कि अपने अंतिम दिनों में वो चॉल में रहने को मजबूर थे और स्टूडियो में चौकीदार की नौकरी कर रहे थे.

सिल्क स्मिता: अपने हॉट अंदाज़ से सिल्क ने अपनी अलग जगह बनाई थी. वो साउथ की मशहूर एक्ट्रेस बन चुकी थीं, लेकिन अपने प्रोडक्शन की फिल्म बनाने की चक्कर में वो कंगाल हो चुकी थीं और उन्होंने आत्महत्या कर ली थी. फिल्म डर्टी पिक्चर उन्हीं की लाइफ से प्रेरित थी.

यह भी पढ़ें: 9 टीवी एक्टर्स जिनकी कम उम्र में मौत हो गई (9 TV Actors Who Died Young)

Meena kumari Suffered Triple Talaq

तीन तलाक़ पर सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फ़ैसले सुनाते हुए इसे असंवैधानिक करार दिया है और इस पर 6 महीने तक की रोक लगाते हुए केंद्र सरकार से कहा कि वो संसद में वो इसके लिए क़ानून बनाए.

तीन तलाक़ का ये दर्द बॉलीवुड अदाकारा व ट्रैजेडी क्वीन मीना कुमारी भी झेल चुकी थीं. मीना कुमारी की ज़िंदगी में तीन तलाक़ एक तूफ़ान बनकर आया और उनकी पूरी ज़िंदगी बिखेर गया. मीना कुमारी का निकाह कमाल अमरोही से हुआ था. एक दिन कमाल ने ग़ुस्से में आकर मीना कुमारी को तीन बार तलाक़ कह दिया और दोनों का तलाक़ हो गया. कुछ दिनों बाद उन्हें इस बात का पछतावा हुआ और वो मीना कुमारी से दोबारा निकाह करना चाहते थे. लेकिन इससे पहले मीना कुमारी को हलाला से गुज़रना पड़ा था.

हलाला के लिए मीना कुमारी का निकाह कमाल ने अपने दोस्त और जीनत अमान के पिता अमान उल्ला खान से करवाया, जिसके साथ मीना कुमारी को नए शौहर के साथ हमबिस्तर होना पड़ा. इसके बाद उन्होंने अमान उल्ला खान से तीन तलाक लेकर दोबारा कमाल अमरोही से निकाह किया.

यह भी पढ़ें: रणवीर-दीपिका के Kiss से भंसाली परेशान, ब्रेकअप की ख़बर थी अफ़वाह

इन सब से गुज़रने के बाद मानी कुमारी ने कहा था, “जब मुझे धर्म के नाम पर अपने जिस्म को किसी दूसरे मर्द को भी सौंपना पड़ा, तो फिर मुझमें और वेश्या में क्या फ़र्क रह गया? इस घटना ने उन्हें तोड़कर रख दिया था, मीना कुमारी डिप्रेशन में रहने लगी थीं, शराब पीने लगी थीं. महज़ 39 साल की उम्र में ही उनकी मौत हो गई.

बॉलीवुड और टीवी से जुड़ी और ख़बरों के लिए क्लिक करें.