#Metoo: FWICE To Issue Non-...

बॉलीवुड का #MeToo अभियान तुनश्री दत्ता ने शुरू किया. उन्होंने नाना पाटेकर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया. तनुश्री के बाद कई अभिनेत्रियों व महिलाओं ने अपने खिलाफ़ हुए यौन अत्याचार के बारे में खुलासे किए. जिसके कारण एमजे अकबर, आलोकनाथ, साजिद खान, विकास बहल, चेतन भगत सहित कई हस्तियों का नाम उजागर हुआ. इसी बात को मद्देनज़र रखते हुए द इंडियन फिल्म एंड टेलिविज़न डायरेक्टर्स एसोसिएशन ने आलोकनाथ और साजिद खान के खिलाफ शो-कॉज़ नोटिस जारी किया था.  इस संस्था को आलोकनाथ द्वारा दिए गए जवाब संतोषजनक नहीं लगे.  संस्था के बाद अब  फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न सिने एंप्लॉइज़ भी इन दोनों के विरूद्ध नॉन-कॉपरेशन नोटिस जारी करेगी.

Alok Nath And Sajid Khan

मी़डिया में छपी ख़बर के अनुसार द इंडियन फिल्म एंड टेलिविज़न डायरेक्टर्स एसोसिएशन को आलोकनाथ का बयान असंतोषजनक लगा और उसी के बाद इस संस्था ने फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न सिने एंप्लॉइज़ को आलोकनाथ व साजिद खान के खिलाफ कार्यवाई करने का आदेश दिया. द इंडियन फिल्म एंड टेलिविज़न डायरेक्टर्स एसोसिएशन के प्रेसिडेंट अशोक पंडित ने बताया,” आलोक नाथ द्वारा असंतोषजनक जवाब मिलने के बाद हमने फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न सिने एंप्लॉइज़ को संपर्क किया. साजिद ने तो हमारी नोटिस का जवाब भी नहीं दिया. ”

आपको याद दिला दें कि #MeToo अभियान के तहत 90 के दशक के टीवी प्रोड्यूसर विंटा नंदा ने अलोकनाथ पर बलात्कार का आरोप लगाया था. विंटा ने अपने फेसबुक पोस्ट में अपने साथ बीती घटना का जिक्र किया था. इसी तरह फिल्म निर्देशक साजिद ख़ान पर भी दो-तीन एक्ट्रेस ने सेक्सुअल हैरेसमेंट का आरोप लगाया है.  हम आपको बता दें कि सिर्फ़ आलोकनाथ और साजिद ख़ान को ही शो कॉज़ नोटिस नहीं दिया गया है. सेक्सुअल हैरेसमेंट का आरोप झेल रहे कई अन्य बॉलीवुड सेलेब्रिटीज़ को भी नोटिस भेजा गया है. डायरेक्टर विकास बहल ने नोटिस का जवाब दे देते हुए अपने ऊपर लगाए सभी आरोपों को ग़लत बताया है. उन्होंने एसोसिएशन ने आग्रह किया है कि जब तक आरोप सिद्ध न हो जाएं, उनके खिलाफ कोई कार्यवाई न की जाए.

ये भी पढ़ेंः Shocking: ये क्या हो गया है आयशा टाकिया को (Ayesha Takia New Look Will Shock You)