milk

दूध दुनिया के सबसे सेहतमंद प्रोडक्ट्स में से एक है, जिसका सेवन दुनियाभर में किया जाता है. कैल्शियम, विटामिन डी, प्रोटीन और अन्य पोषक पदार्थों से भरपूर दूध आपको स्वस्थ बनाए रखता है और दिनभर के लिए एनर्जी देता है. दूध में कई माइक्रो-न्यूट्रिएन्ट्स, जैसे- फाॅस्फोरस, पोटैशियम, मैग्निशियम, विटामिन ए, बी12 और राइबोफ्लेविन1 भी भरपूर मात्रा में होते हैं.
रिपोर्ट्स के मुताबिक़ एक व्यक्ति को रोज़ाना तीन कप दूध (लगभग 240 एमएल प्रति कप) या दूध के प्रोडक्ट्स का सेवन करना चाहिए. दूध की इतनी मात्रा रोज़मर्रा में कैल्शियम की ज़रूरत को पूरा करने के लिए आवश्यक है. इससे न केवल आपकी हड्डियां मज़बूत बनी रहती हैं, बल्कि ब्लड प्रेशर, बोन मास आदि भी संतुलित रहते हैं. दूध के बारे कई उपयोगी बातें ज्ञान डेरी के एम. के. गुप्ता, जो हैड क्वालिटी कंट्रोल हैं ने बताई.
दूध न केवल सेहत बनाता है, बल्कि स्वादिष्ट भी होता है. तो दिन की शुरूआत दूध के साथ कीजिए, फिर चाहे आपको किसी भी तरह से दूध पीना पसंद हो- आप प्लेन दूध या चाय, काॅफी के रूप में दूध या सिरियल्स के साथ भी दूध का सेवन कर सकते हैं. आप चाहें, तो दूध से दही या योगर्ट बनाकर इसका सेवन भी कर सकते हैं. अपने दोपहर के भोजन में आप पनीर या दही को शामिल कर अपने भोजन को स्वादिष्ट और सेहतमंद बना सकते हैं. शाम को आप दूध से बनी पुडिंग या एक ग्लास लस्सी के साथ अपनी दूध की ज़रूरत को पूरा कर सकते हैं.
यहां हम दूध एवं दूध के प्रोडक्ट्स के फ़ायदों के बारे में कुछ सुझाव लेकर आए हैं.

सम्पूर्ण पोषण
दूध उन लोगों की पहली पसंद है, जो अपनी सेहत को लेकर जागरुक रहते हैं, क्योंकि दूध में पोषक पदार्थ भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. दूध कैल्शियम, विटामिन ए, विटामिन बी, प्रोटीन, पोटैशियम, मैग्निशियम से भरपूर होता है. ये सभी अवयव आपको फिट और स्वस्थ बनाए रखने के लिए ज़रूरी हैं.

दिल को रखता है स्वस्थ
दूध में मौजूद मैग्निशियम एवं पोटैशियम आपके ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखते हैं, जिससे स्ट्रोक और दिल की बीमारियों की संभावना कम हो जाती है.

आम बीमारियों से लड़ने में मददगार
रोज़ाना उचित मात्रा में दूध एवं दूध के प्रोडक्ट्स (जैसे चीज़, योगर्ट) का सेवन करने से आपकी हड्डियां मज़बूत बनी रहती हैं. इससे टाइप 2 डायबिटीज़ और मोटापे तथा जीवनशैली से जुड़ी अन्य बीमारियों की संभावना भी कम हो जाती है.

ज़्यादा महंगा नहीं
दूध और दूध के प्रोडक्ट, बाज़ार में उपलब्ध सबसे किफ़ायती पोषक आहार है. इनमें शरीर के लिए ज़रूरी तक़रीबन सभी पोषक पदार्थ होते हैं, जो शरीर और दिमाग़ को स्वस्थ बनाए रखने के लिए ज़रूरी हैं. तो देर किस बात की, आज से ही अपने खानपान दूध को अनिवार्य रूप से शामिल करें.

ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़ें: त्योहारों के बाद बढ़ गया है वज़न, तो इन 8 तरीक़ों से करें बॉडी को डिटॉक्स (8 Ways To Detoxify Your Body After The Festive Season)

Benefits Of Milk

दूध सेहत के लिए बेहद फ़ायदेमंद माना जाता है. दूध में कैल्शियम, विटामिन, प्रोटीन और राइबोफ्लेविन (विटामिन बी -२) युक्त होता है. इसमें विटामिन ए, डी, के और ई सहित फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, आयोडीन व कई खनिज, वसा और ऊर्जा भी होती है. ध्यान रहे, दूध पीने के बाद कोई भी खट्टा पदार्थ नहीं खाना चाहिए. आइए, दूध की उपयोगिता के बारे में जानते हैं.

घरेलू नुस्ख़े

  • आधासीसी यानी माइग्रेन की तकलीफ़ में भी दूध काफ़ी फ़ायदेमंद है. इसमें पाव किलो दूध में 2 चम्मच शुद्ध घी मिलाकर पीएं. इसके अलावा दूध में चार-पांच छुआरा उबालकर खाएं और दूध में थोड़ा-सा शुद्ध घी मिलाकर पीएं. ये दोनों ही उपाय माइग्रेन की तकलीफ़ में बेहद लाभकारी है. इससे सिर का दर्द धीरे-धीरे ख़त्म हो जाता है.
  • गुर्दे में पथरी होने पर 30 ग्राम केले के तने का पानी, 25 ग्राम कलमी शोरा और पाव किलो दूध तीनों को मिला लें. दिनभर में दो या तीन बार इसका सेवन करें. इसके प्रभाव से पथरी गलने लगेगी और पेशाब के रास्ते से धीरे-धीरे बाहर निकल जाएगी.
  • इलायचीवाला दूध पीने से एनीमिया की परेशानी दूर होती है और झुर्रियां भी से कम पड़ती है. रोज़ रात को दूध में इलायची पाउडर मिलाकर पीएं.
  • पेशाब में जलन हो रही हो, तो पाव किलो दूध में एक कप पानी मिला लें. फिर मिश्री मिलाकर दिन में दो बार पिएं. एक हफ़्ते तक इसका सेवन करने से जलन की तकलीफ़ पूरी तरह से दूर हो जाएगी.
  • नींद की समस्या होने पर बकरी के दूध में मिश्री मिलाकर पीने से लाभ मिलता है. इसके अलावा पांच बादाम और एक चम्मच खसखस को पीस लें. इसमें दूध और मिश्री मिलाकर रात में पीएं. अनिद्रा की समस्या दूर हो जाएगी.

यह भी पढ़ें: औषधीय गुणों से भरपूर लौकी के 31 बेहतरीन फ़ायदे…(31 Health Benefits Of Lauki Or Bottle Gourd)

  • दस्त होने पर गाय के दूध को अच्छी तरह से पका लें. बेल का गूदा निकालकर दो सौ ग्राम तक खाएं और उसके ऊपर से दूध पी लें. दिन में दो-तीन बार लेने से दस्त की समस्या दूर हो जाएगी.
  • हल्दीवाला दूध तो हमेशा ही फ़ायदेमंद माना गया है. सर्दी-खांसी और ज़ुकाम के लिए रोज़ रात को हल्दीवाला दूध पीना रामबाण उपाय है.
  • हार्ट प्रॉब्लमवालों को कभी-कभी दिल में दर्द होता है. इसके लिए गाय के दूध की बनी हुई शुद्ध देसी घी दो चम्मच लेकर उसमें 10 ग्राम बेल का रस मिलाकर पीएं.
  • नपुंसकता की समस्या में भी दूध उपयोगी है. एक ग्लास गर्म दूध के साथ 5-5 ग्राम बेल की छाल, पत्ते और गुदा लेकर उसमें एक छुआरा, तीन मुनक्के या पांच किशमिश, 8-10 मूंगफली की गिरी और 3-4 बादाम की गिरी लेकर इन सबको बारीक़ पीस लें. आवश्यकतानुसार मिश्री मिलाकर दूध में डालकर पीएं. महीनेभर यह उपाय करने से समस्या दूर हो जाएगी.
  • यदि गले में दर्द महसूस कर रहे हों, तो एक कप गर्म दूध पीने से आपको दर्द से तुरंत छुटकारा मिल सकता है.
  • त्वचा के रंग को निखारने के लिए भी बहुत से लोग दूध का इस्तेमाल करते हैं. अपने चेहरे और गर्दन पर कच्चे दूध को लगाएं और 10 मिनट तक लगा रहने दें. फिर पानी से चेहरा धो लें. यह आपकी त्वचा को नर्म-मुलायम बनाने में भी मदद करता है.
  • सोयाबीनवाला दूध पीने से वज़न कम होता है और कोलेस्ट्रोल लेवल को भी कंट्रोल में रखता है.
  • दूध में नारियल मिलाकर पीना भी शरीर के लिए बहुत उपयोगी रहता है. नारियल दूध पीने से लिवर, जोड़ों के दर्द और त्वचा की समस्याएं भी दूर होती हैं.
  • दूध में बालों के बढ़ने, मज़बूत और घने होने के लिए ज़रूरी सभी प्रोटीन, कैल्शियम और खनिज मौजूद होते हैं. बालों को हेल्दी बनाए रखने में भी दूध मदद करता है. यह एक अच्छे कंडीशनर के रूप में भी काम करता है. बालों और सिर की त्वचा पर दूध लगाकर कुछ मिनट के लिए छोड़ दें. उसके बाद बालों को शैंपू से धो लें. इससे बाल ख़ूबसूरत, सॉफ्ट और सिल्की होते हैं.
  • यदि आप चाहें तो स्प्रे बोतल को भी ठंडे दूध से भरकर इसकी मदद से बालों पर अच्छी तरह से ठंडा दूध लगा सकती हैं और आधे घंटे बाद बालों को पानी से धोकर फिर शैंपू से दोबारा धो लें.

यह भी पढ़ें: कपूर के 23 चमत्कारी फ़ायदे (23 Miraculous Benefits Of Camphor (Kapur) You Must Know)

रिसर्च

  • कई अध्ययनों से पता चला है कि दूध महिलाओं और पुरुषों दोनों में कैंसर का ख़तरा कम करता है. दूध में विटामिन डी, कैल्शियम और लिनोलिक एसिड की मात्रा अधिक होती है. दूध के सेवन से कोलोरेक्टल, स्तन और पेट के कैंसर की संभावना को भी कम करता है.
  • शोधों से साबित हुआ है कि कि कम फैट्स वाला दूध मस्तिष्क शक्ति को बढ़ाने में और अल्जाइमर बीमारी को रोकने में मदद करता है. यह विटामिन बी 12 का एक अच्छा स्रोत है, जो सोचने की शक्ति को बनाए रखने के लिए एक महत्वपूर्ण प्रोटीन है.

सुपर टिप
दूध में शक्कर की बजाय यदि हम गुड़ मिलाकर लें, तो इसके अधिक फ़ायदे होते हैं और यह आयरन की कमी को पूरा करता है.

– ऊषा गुप्ता

दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें- Dadi Ma Ka Khazana

Milk

दूध (Milk) कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन और अनेक पोषक तत्वों से भरपूर होता है इसलिए इस बात में कोई शक नहीं है कि यह स्वास्थ्य (Health) की दृष्टि से बेहद लाभकारी होता है. लोग अलग-अलग तरी़के से दूध का सेवन करते हैं. कुछ लोगों को गर्म दूध (Hot Milk) पसंद होता है तो कुछ लोग ठंडा दूध (Cold Milk) पीते हैं. कुछ स्मूदी बनाकर दूध पीते हैं तो कुछ लोग शेक बनाकर पीते हैं. क्या आप जानते हैं कि आपके लिए दूध का कौन-सा प्रकार ज़्यादा अच्छा होता है? आइए जानते हैं कि क्या दूध पीने के प्रकार से भी आप स्वस्थ्य पर कोई प्रभाव पड़ता है? और अगर ऐसा है तो दूध का कौन सा प्रकार आपके लिए अधिक लाभकारी हो सकता है.

Milk

गर्म दूध के फ़ायदेः दूध को गर्म करने पर यह पतला हो जाता है जो कि पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद करता है. इसे पीने से डायरिया और पेट फूलने जैसी समस्याएं नहीं होती हैं. अगर आप शिशु को रात में गर्म दूध पिलाकर सुलाते हैं तो उसे अच्छी नींद आती है. दूध में मौजूद अमीनो एसिड, सेरोटोनिन और जैसे मेलाटोनिन मूड बूस्टर हार्मोन्स का स्तर बढ़ा देते हैं जिससे आपका मूड अच्छा रहता है. इसलिए दूध उबाल करके पीना भी फ़ायदेमंद होता है.

ये भी पढ़ेंः जानें दूध पीने से लंबाई बढ़ती है या नहीं? (Drinking Milk Makes You Taller: Truth Or White Lie?)

ठंडे दूध के लाभ: दूध को गर्म नहीं करने से उसमें पोषक तत्व बने रहते हैं इसलिए ठंडा दूध भी आपके शरीर के लिए अच्छा होता है. यह एसीडिटी को कम करता है और शरीर को भरपूर मात्रा में कैल्शियम देता है. ठंडा दूध पीने से आपको एसीडिटी नहीं होती है. ठंडे दूध में मौजूद इलेक्ट्रोलाइट्स आपके शरीर को डीहाइड्रेशन से बचाते हैं. दूध गर्म करने पर उसमें मौजूद इलेक्ट्रोलाइट्स ख़त्म हो जाते हैं. सुबह एक गिलास ठंडा दूध पीने से आपका शरीर दिन भर हाइड्रेट रहता है. रात को सोते समय ठंडा दूध नहीं पीना चाहिए क्योंकि इसे पचाने में आपको परेशानी हो सकती है.

Milk

क्या है आपके लिए बेहतर?
मौसम के अनुसार दूध को ठंडा या गर्म करके पीना चाहिए. उदाहरण के लिए गर्म दूध को सर्दी में पीना चाहिए इसके लिए आप दूध में थोड़ी सी हल्दी डालकर पी सकते हैं. ऐसे में आपके शरीर को गर्माहट मिलती है और आपको आराम महसूस होता है. ऐसे ही गर्मियों के दौरान ठंडा दूध पीने से पित्त की समस्या नहीं होती लेकिन आप मौसम के हिसाब से विपरीत तापमान वाला दूध पीते हैं तो इससे आपको नुकसान हो सकता है. इसलिए दूध का सेवन इस प्रकार से करें कि वह सदैव आपके लिए लाभकारी हो और मौसम के अनुसार ही दूध का तापमान रखना चाहिए.

अगर लैक्टोज़ से एलर्जी है तो गर्म दूध पीएं
गर्म दूध आसानी से पच जाता है. आप कॉर्नफ्लेक्स के साथ ठंडा दूध ले सकते हैं, लेकिन अगर आपको लैक्टोज़ से एलर्जी है और आपको डेयरी प्रोडक्ट्स पचाने में परेशानी होती है तो गर्म दूध पीना आपकी सेहत की दृष्टि से बेहतर होगा. दूध को गर्म करने से उसमें मौजूद लैक्टोज़ टूट जाता है, जिससे दस्त और पेट फूलने जैसी समस्याएं नहीं होतीं.

एसिडिटी खत्म करने के लिए ठंडा दूध पीएं
ठंडा दूध पेट में एसिडिटी के कारण होने वाली जलन में राहत पहुंचाने के लिए बेहतर है. खाने के बाद आधा गिलास ठंडा दूध पीने से एसिड उत्पादन खत्म हो जाता है और एसिडिटी से राहत मिलती है.

ये भी पढ़ेंः वर्ल्ड मिल्क डे पर जानें दूध के फ़ायदे और नुक़सान के बारे में (World Milk Day!)

Diet Tip For Weight Loss

बढ़ते वज़न से लगभग हर दूसरा व्यक्ति परेशान है, लेकिन कभी समय की कमी, तो कभी व्यस्तता और थकान के कारण हम वेटलॉस के लिए कुछ एक्स्ट्रा नहीं कर पाते. पर अगर रात को सोने से पहले कुछ आसान से नुस्ख़ें आज़माएं (Diet Tip For Weight Loss), तो न स़िर्फ बढ़ते वज़न को कंट्रोल कर सकते हैं, बल्कि वज़न को कम करके फिट भी रह सकते हैं.

पुदीना
पुदीने की ख़ुशबू से भूख कम लगती है और यह कैलोरीज़ बर्न करने में भी मदद करता है, इसलिए रात के खाने में पुदीने का इस्तेमाल करें. साथ ही मिंट की ख़ुशबूवाली कैंडल बेडरूम में जलाएं व तकिए पर मिंट
ऑयल लगाएं.

ग्रीन टी
रात को सोने से पहले ग्रीन टी पीने से शरीर का मेटाबॉलिज़्म बढ़ता है. मेटाबॉलिज़्म बढ़ने से शरीर रात को भी कैलोरीज़ बर्न करने की प्रक्रिया को धीमा नहीं होने देता, जिससे शरीर में एक्स्ट्रा फैट्स नहीं बनते.

Diet Tip For Weight Loss

दूध

रोज़ाना रात को सोने से पहले एक ग्लास गुनगुना दूध ज़रूर पीएं. दूध में मौजूद कैल्शियम और प्रोटीन से पाचन बेहतर होता है. साथ ही इसमें मौजूद पोषक तत्वों से नींद अच्छी आती है और वज़न भी नियंत्रण में रहता है. इसके अलावा आपके दांत और हड्डियां भी मज़बूत होते हैं.

कालीमिर्च
कालीमिर्च में फैट बर्निंग प्रॉपर्टीज़ होती हैं, जो एक्स्ट्रा कैलोरीज़ को बर्न करने में हमारी मदद कर सकती हैं. साथ ही यह मेटाबॉलिज़्म भी बढ़ाता है, जिससे रात में भी कैलोरीज़ बर्न होती हैं. कालीमिर्च शरीर में हाइड्रोक्लोरिक एसिड की मात्रा बढ़ाता है, जिससे पाचन क्रिया बेहतर रहती है. रात के खाने में कालीमिर्च शामिल करें, ताकि रात को भी वज़न घटाने की प्रक्रिया जारी रहे.

हरी मिर्च
एक शोध में यह बात साबित हो चुकी है कि हरी मिर्च खाने से वज़न कम करने में मदद मिलती है. इसमें मौजूद रासायनिक तत्व शरीर में फैट बर्निंग प्रक्रिया को तेज़ करते हैं, जिससे पेट का फैट तेज़ी से कम होता है.

यह भी पढ़ें: 5 हाई कैलोरी फूड्स, जो वेट लॉस के लिए हैं ज़रूरी

अमीनो एसिड
अमीनो एसिड से भरपूर डायट वेटलॉस में काफ़ी फ़ायदेमंद साबित होती है. डिनर में आप अमीनो एसिड के गुणों से भरपूर चीज़ें, जैसे- फिश, चिकन, अंडे, दालें, नट्स आदि को शामिल करें. अमीनो एसिड से सुकूनभरी नींद आती है, जिससे आपकी बॉडी अच्छी तरह रिकवर भी करती है और वज़न भी कम करती है.

प्रोटीन शेक लें
रात के खाने के बाद प्रोटीन शेक लें और डिनर में भी प्रोटीन की मात्रा बढ़ा दें. दरअसल, प्रोटीन हैवी होता है, जिसे पचाने के लिए बॉडी को रात को एक्स्ट्रा फैट्स बर्न करने पड़ते हैं. इससे शरीर का मेटाबॉलिक रेट सुबह भी हाई रहता है, जिससे वज़न कम करने में मदद मिलती है.

यह भी पढ़ें: स्वादिष्ट स्मूदी वेट लॉस के लिए

                                                                                                  – शैलेंद्र सिंह

Health Benefits of Milk

आज 17वां वर्ल्ड मिल्क डे (World Milk Day) मनाया जा रहा है, इस मौक़े पर आइए जानते हैं दूध के कुछ फ़ायदे और नुक़सान (Health Benefits of Milk)

के बारे में.

दूध के फ़ायदे :

  • मांसपेशियां मज़बूत होती हैं.
  • गर्म दूध शारीरिक तनाव को दूर करने का एक कारगर उपाय है.
  • यदि आप अनिद्रा से परेशान हैं तो रोज रात को एक ग्लास गर्म दूध पीएं.
  • गुड के साथ गर्म दूध का सेवन करने से शरीर से टॉक्सिन्स बाहर निकल जाते हैं. इससे त्वचा में निखार आता है और वज़न भी कंट्रोल में रहता है.
  •  ठंडे दूध में प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है. एक ग्लास ठंडा दूध आपको दिन भर एेक्टिव रखने में सहायक है.
  • केला और दूध का सेवन साथ में करने से शरीर को प्रोटीन, विटामिन, मिनरल्स, फाइबर का पोषण मिलता है. इसके सेवन से शरीर को तीन दिन की ऊर्जा एक ही दिन में ही मिल जाती है.
  • एक ग्लास गुनगुने दूध में एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से बांझपन और नपुंसकता की परेशानियों से राहत मिलती है.
  • एक ग्लास दूध में पिसा हुआ बादाम मिलाकर पीने से दिल, दिमाग़, त्वचा और आंखों को फ़ायदा होता है.

दूध के नुक़सान:

दूध के यदि फ़ायदे हैं तो कुछ नुक़सान भी हैं –

  • दूध में लैक्टोज होने के कारण इसके अधिक सेवन से डायजेशन से संबंधित परेशानियां हो सकती हैं.
  • दूध एक तरफ जहां कब्ज़ से राहत दिलाने में फ़ायदेमंद है, वहीं दूध का सेवन दस्त, गैस, पेटदर्द जैसी परेशानियां हो सकती है.
  • कुछ बच्चों को दूध में पाए जानेवाला कैसीन प्रोटीन पचता नहीं है, जिसके कारण बच्चों की सेहत को ख़तरा रहता है.

सबसे पहला विश्व दुग्ध दिवस (World Milk Day) १ जून २००१ के दिन मनाया गया था. इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य है दूध से संबंधित लाभ और हानि की तरफ़ सबका ध्यान आकर्षित करना और दूध उद्योग से जुडी सभी गतिविधियों का प्रचार-प्रसार करना.

health benefits of turmeric milk

आज भी सर्दी-खांसी होने पर आपकी दादी/नानी/मां हल्दी वाला दूध पीने की सलाह देती होंगी और आप उनकी सलाह सुनकर मुंह बनाते होंगे, आपको लगता है भला दूध में हल्दी मिलाकर पीने से भी कोई फ़ायदा होता है? मगर ये सच है कि हल्दी वाला दूध पीने से न स़िर्फ सर्दी-खासी में फ़ायदा होता है, बल्कि और भी कई समस्याओं से निजात मिलती है.

लिवर को डिटॉक्सीफाई करता है
हल्दी वाला दूध नेचुरल तरी़के लिवर को डिटॉक्सीफाई करता है. जब लिवर से सभी टॉक्सिन बाहर हो जाते हैं तब वो अच्छी तरह से ब्लड प्यूरीफाई कर देता है, इसलिए रोजाना रात को हल्दी वाला दूध पीएं.

पाचन तंत्र को ठीक रखता है
दूध में हल्दी मिलाकर पीने से डाइजेशन सिस्टम ठीक रहता है, लेकिन कोशिश करें कि आप टोन्ड मिल्क ही पीएं, क्योंकि ज्यादा फैट वाला दूध आसानी से नहीं पचता.

हड्डियां बनता है मज़बूत
हल्दी और दूध दोनों में कैल्शियम की मात्रा ज्यादा होती है. अतः रोजाना दो बार हल्दी वाला दूध पीने से हड्डियां मज़बूत होती है.

जोड़ों के दर्द में है फ़ायदेमंद
हल्दी में एंटी इंफ्लेमेट्री गुण होता है, इसलिए हल्दी वाला दूध पीने से जोड़ों की सूजन कम हो जाती हैं और मांसपेशियों के ऐंठन से भी आराम मिलता है.

ऐंठन के लिए
हल्दी एंटीस्पैसमोडिक गुण के लिए जानी जाती है, क्योंकि ये मांसपेशियों की ऐंठन को भी ख़त्म कर देती है, अगर आप पीरियड्स के दो हफ्ते पहले से गरम हल्दी वाले दूध का सेवन करेंगी, तो आपको पीरियड्स के दौरान कम ऐंठन होगी.

कैंसर से लड़ता है
हल्दी में करक्यूमिन मौजूद होता हैं जो कैंसर को रोकने में मदद करता है, इसलिए हल्दी वाले दूध का सेवन करें. दूध में थोड़ी मात्रा में हल्दी डालकर आप कैंसर जैसी ख़तरनाक बीमारी से बच सकते हैं.

ख़ूबसूरत त्वचा के लिए
ख़ूबसूरत त्वचा की ख़्वाहिश हर किसी को होती है आपकी भी होगी, तो इसके लिए पार्लर पर पैसे ख़र्च करने की बजाय हल्दी का पेस्ट बनाकर इसे स्क्रब के रूप में चेहरे पर लगाएं. फिर गुनगुने पानी से चेहरा धो लें. इससे न स़िर्फ त्वचा दमकेगी, बल्कि मुंहासों की समस्या भी दूर हो जाएगी.

अच्छी नींद के लिए
पुराने ज़माने में लोग सोने से पहले हल्दी वाला दूध पीया करते थे, क्योंकि हल्दी में ट्रायटोफन होता है जिससे अच्छी नींद आती है. जिन लोगों को रात में नींद न आने की बीमारी है, उनके लिए हल्दी वाला दूध बेहतरीन दवा है.

यूं बनाएं हल्दी वाला दूध
दूध को उबालकर उसमें थोड़ी-सी हल्दी डालें. फिर धीमी आंच पर कुछ देर पकने दें.
इसमें थोड़ा-सा शक्कर डाल सकती हैं. हल्दी वाला दूध तैयार है.
दूध को गरम (जितना पी सकें) ही पीएं.

– कंचन सिंह

लंबे, घने, रेशमी बालों के लिए स़िर्फ शैम्पू करना और कंडीशनर लगाना काफ़ी नहीं. बालों को सही पोषण देने के लिए हेल्दी डायट भी ज़रूरी है ताकि बालों को अंदर से मज़बूती मिले. हेल्दी हेयर के लिए अपने डेली डायट में इन टॉप 10 ब्यूटी फूड ज़रूर शामिल करें.

 

food for healthy hair

1. अंडे

अंडे में भरपूर मात्रा में प्रोटीन होता है. ये बालों को सही पोषण देता है.

2. बेरीज़

ब्लूबेरी, रसबेरी, स्ट्रॉबेरी और क्रेनबेरीज़ भी बालों की सेहत के लिए फ़ायदेमंद हैं. इनसे बालों में वॉल्यूम आता है और वो घने नज़र आते हैं.

3. गाजर

विटामिन ए से भरपूर गाजर भी बालों की सेहत के लिए अच्छा है. ये स्काल्प को हेल्दी बनाता है.

4. ग्रीन टी

विटामिन सी, डी और एंटीऑक्सिटेंड युक्त ग्रीन टी बालों को मज़बूत बनाती है, जिससेेबालों का झड़ना कम हो जाता है.

green tea

5. हरी सब्ज़ियां

हरी सब्ज़ियां शरीर और त्वचा के साथ ही स्वस्थ बालों के लिए भी फ़ायदेमंद होती हैं. अतः अपने खाने में ब्रोकोली, पालक और मेथी (पत्ते) ज़रूर शामिल करें.

6. अनाज

गेहूं और सोयाबीन जैसे साबूत अनाज आयरन, विटामिन बी और ज़िंक के अच्छे स्रोत हैं. ये बालों को हेल्दी बनाते हैं.

7. नट्स

अखरोट, काजू और बादाम ज़िंक व ओमेगा3 एसिड के अच्छे स्रोत हैं. ये बालों की ग्रोथ के लिए फ़ायदेमंद होते हैं.

8. लो फैट डेयरी प्रॉडक्ट्स

लंबे और चमकदार बालों के लिए अपने डेली डायट में लो फैट दूध और दही शामिल करें. इनसे न स़िर्फ बालों को मज़बूती मिलती है, बल्कि बाल शाइनी भी नज़र आते हैं.

Hair fruits

 

 

9. ऑयली फिश

विटामिन्स से भरपूर ऑयली फिश न स़िर्फ सेहत, बल्कि बालों के लिए भी फ़ायदेमंद हैं. ऑयली फिश से बाल ब्यूटीफुल और शाइनी नज़र आते हैं.

10. एवाकाडो

ओमेगा3 फैटी एसिड, विटामिन सी और ई के गुणों से भरपूर एवाकाडो डायट में ज़रूर शामिल करें. ये बालों को शाइनी और हेल्दी बनाता है.