mint

अक्सर हम पुदीने को चटनी के रूप में इस्तेमाल करते हैं, लेकिन इसके कई औषधीय गुण भी हैं. आयुर्वेद के अलावा कई घरेलू उपचारों में भी इसका उपयोग होता है. इसमें शरीर के लिए ज़रूरी सभी तत्व पाए जाते हैं. इसके रोज़ाना सेवन से कई बीमारियों से छुटकारा मिलता है. पुदीने में बड़ी मात्रा में कैरोटिन व विटामिन सी के अलावा मैग्नीशियम, कॉपर, आयरन, पोटैशियम व कैल्शियम होता है. विटामिन सी इम्यून सिस्टम को मज़बूत करने के अलावा नए टिश्यूज़ बनाने में भी मदद करता है.

रिसर्च के अनुसार, हर रोज़ पुदीना खाने से कैंसर से भी बचाव होता है. पुदीने के सेवन से गर्मियों के मौसम में लू से भी बचा जा सकता है. पुदीने को एंटीसेप्टिक के रूप में भी इस्तेमाल करते हैं. इसके रोज़ाना सेवन से भूख बढ़ती है. इसका उपयोग माउथफ्रेशनर के रूप में भी किया जाता है. पुदीना शरीर की बाहरी बीमारियों के साथ अंदरूनी बीमारियां भी ठीक करने में मदद करता है. शरीर के महत्वपूर्ण अंग, जैसे- लिवर, लंग्स, गर्भाशय, दांत व स्किन की बीमारियों में भी इसका सेवन फ़ायदेमंद होता है.

  • एक चम्मच पुदीने के रस और एक चम्मच नींबू के रस में शहद मिलाकर लेने से पेट के कीड़े नष्ट होते हैं और पाचनशक्ति बढ़ती है.
  • सिरदर्द होने पर पुदीने की पत्तियों को पीसकर माथे पर लगाने से तुरंत आराम मिलता है.
  • गुनगुने पानी में पुदीने की पत्तियों व नमक मिलाकर कुल्ला यानी गरारा करने से गले की खराश दूर होती है.
  • एक ग्राम पुदीने की पत्तियों के चूर्ण को मिश्री में मिलाकर सेवन करने से पेटदर्द में आराम मिलता है.
  • पुदीना, तुलसी, कालीमिर्च और अदरक का काढ़ा बनाकर पीने से गैस की समस्या दूर होती है.
  • पुदीने व तुलसी की पत्तियों का काढ़ा बनाकर पीने से बुखार उतर जाता है.

यह भी पढ़ें: सेहत के लिए लाभदायक है दालचीनी, जानें इसके बहुपयोगी 11 फ़ायदे… (11 Amazing Health Benefits Of Cinnamon You Need To Know)

  • दाद-खुजली होने पर हर रोज़ कम-से-कम दिनभर में दो बार पुदीने की पत्तियों को पीसकर लगाएं.
  • कील- मुंहासों या फिर स्कीन पर खरोंच आदि होने पर पुदीने की पत्तियों को पीसकर उस जगह पर लगाएं.
  • मुंह की दुर्गंध व अन्य तकलीफ़ों में पुदीने की पत्तियां चबाकर खाने से राहत मिलती है.
  • पुदीने की पत्तियों का रस पीने से हिचकियां बंद हो जाती हैं.
  • पुदीने के ताज़े रस के सेवन से कफ़ और सर्दी की समस्या दूर होती है.
  • पुदीने में मौजूद एंटीसेप्टिक तत्वों की वजह से इसका इस्तेमाल नेचुरल क्लींजर के रूप में भी होता है. यदि स्किन ऑयली है, तो रोज़ाना पुदीने का सेवन करने से स्किन ठीक हो जाती है.
  • पुदीने की पत्तियों के साथ कालीमिर्च, सेंधा नमक, हींग व जीरा मिलाकर चटनी बनाकर हर रोज़ खाने से पाचनशक्ति बढ़ती है. साथ ही बदहजमी की समस्या दूर होती है.
  • ऊषा गुप्ता
Mint Or Pudina

Diet Tip For Weight Loss

बढ़ते वज़न से लगभग हर दूसरा व्यक्ति परेशान है, लेकिन कभी समय की कमी, तो कभी व्यस्तता और थकान के कारण हम वेटलॉस के लिए कुछ एक्स्ट्रा नहीं कर पाते. पर अगर रात को सोने से पहले कुछ आसान से नुस्ख़ें आज़माएं (Diet Tip For Weight Loss), तो न स़िर्फ बढ़ते वज़न को कंट्रोल कर सकते हैं, बल्कि वज़न को कम करके फिट भी रह सकते हैं.

पुदीना
पुदीने की ख़ुशबू से भूख कम लगती है और यह कैलोरीज़ बर्न करने में भी मदद करता है, इसलिए रात के खाने में पुदीने का इस्तेमाल करें. साथ ही मिंट की ख़ुशबूवाली कैंडल बेडरूम में जलाएं व तकिए पर मिंट
ऑयल लगाएं.

ग्रीन टी
रात को सोने से पहले ग्रीन टी पीने से शरीर का मेटाबॉलिज़्म बढ़ता है. मेटाबॉलिज़्म बढ़ने से शरीर रात को भी कैलोरीज़ बर्न करने की प्रक्रिया को धीमा नहीं होने देता, जिससे शरीर में एक्स्ट्रा फैट्स नहीं बनते.

Diet Tip For Weight Loss

दूध

रोज़ाना रात को सोने से पहले एक ग्लास गुनगुना दूध ज़रूर पीएं. दूध में मौजूद कैल्शियम और प्रोटीन से पाचन बेहतर होता है. साथ ही इसमें मौजूद पोषक तत्वों से नींद अच्छी आती है और वज़न भी नियंत्रण में रहता है. इसके अलावा आपके दांत और हड्डियां भी मज़बूत होते हैं.

कालीमिर्च
कालीमिर्च में फैट बर्निंग प्रॉपर्टीज़ होती हैं, जो एक्स्ट्रा कैलोरीज़ को बर्न करने में हमारी मदद कर सकती हैं. साथ ही यह मेटाबॉलिज़्म भी बढ़ाता है, जिससे रात में भी कैलोरीज़ बर्न होती हैं. कालीमिर्च शरीर में हाइड्रोक्लोरिक एसिड की मात्रा बढ़ाता है, जिससे पाचन क्रिया बेहतर रहती है. रात के खाने में कालीमिर्च शामिल करें, ताकि रात को भी वज़न घटाने की प्रक्रिया जारी रहे.

हरी मिर्च
एक शोध में यह बात साबित हो चुकी है कि हरी मिर्च खाने से वज़न कम करने में मदद मिलती है. इसमें मौजूद रासायनिक तत्व शरीर में फैट बर्निंग प्रक्रिया को तेज़ करते हैं, जिससे पेट का फैट तेज़ी से कम होता है.

यह भी पढ़ें: 5 हाई कैलोरी फूड्स, जो वेट लॉस के लिए हैं ज़रूरी

अमीनो एसिड
अमीनो एसिड से भरपूर डायट वेटलॉस में काफ़ी फ़ायदेमंद साबित होती है. डिनर में आप अमीनो एसिड के गुणों से भरपूर चीज़ें, जैसे- फिश, चिकन, अंडे, दालें, नट्स आदि को शामिल करें. अमीनो एसिड से सुकूनभरी नींद आती है, जिससे आपकी बॉडी अच्छी तरह रिकवर भी करती है और वज़न भी कम करती है.

प्रोटीन शेक लें
रात के खाने के बाद प्रोटीन शेक लें और डिनर में भी प्रोटीन की मात्रा बढ़ा दें. दरअसल, प्रोटीन हैवी होता है, जिसे पचाने के लिए बॉडी को रात को एक्स्ट्रा फैट्स बर्न करने पड़ते हैं. इससे शरीर का मेटाबॉलिक रेट सुबह भी हाई रहता है, जिससे वज़न कम करने में मदद मिलती है.

यह भी पढ़ें: स्वादिष्ट स्मूदी वेट लॉस के लिए

                                                                                                  – शैलेंद्र सिंह