Tag Archives: modern

फेस्टिवल फैशन मंत्र (Festival Fashion Mantra)

वो टूटकर न गिरे एक ख़्वाब मेरा, उसे पलकों के दरमियान कैद कर लूं मैं… मेरी आंखों ने जो देखे हैं तेरी मुहब्बत के हसीन सपने, उन्हें अपने लबों पर ताउम्र के लिए सजाकर रख लूं मैं… कभी तू चांद बनकर आ जाना, कभी तू रात बन जाना, कभी बारिश की फुहारों-सी बेपनाह बरस जाना, कभी धूप-सी खिल जाना… और मैं बस तुझे सोचता रहूं… मैं बस तुझे देखता रहूं… यूं ही… ख़ामोशी ओढ़े अपने इश्क़ का इज़हार करता रहूं…

Festival Fashion Mantra

फेस्टिवल फैशन मंत्र

यूं तो हम फेस्टिव सीज़न में ट्रेडिशनल वेयर ही पहनना पसंद करते हैं, लेकिन अब समय बदल रहा है और लोगों का टेस्ट भी. आजकल लोग एक्सपेरिमेंट करना पसंद करते हैं और फेस्टिव सीज़न में भी मॉडर्न लुक चाहते हैं. वैसे भी फेस्टिवल टाइम में हम सभी चाहते हैं कि सबसे अलग लगें, ताकि सबकी नज़रें हम पर ही हों. ऐसे में यहां हम कुछ फैशन ट्रेंड्स और टिप्स बता रहे हैं, जिन्हें आज़माकर आप कुछ अलग लुक क्रिएट कर सकती हैं.

ट्रेडिशनल वेयर कभी नहीं होता आउट ऑफ फैशन

– ट्रेडिशनल वेयर फेस्टिवल की पहली पसंद होता है.

– आप इसे मॉडर्न लुक के साथ पहन सकती हैं.

– आजकल साड़ियों को अलग-अलग तरह से ड्रेप किया जाता है. आप ड्रेपिंग स्टाइल से डिफरेंट लुक क्रिएट कर सकती हैं.

– साड़ी के फैब्रिक से भी फ़र्क़ पड़ता है. फेस्टिवल टाइम ही होता है, जब आप हैवी साड़ियां पहन सकती हैं. बनारसी से लेकर चंदेरी, सिल्क आदि.

–  लहंगा-चोली भी सबको बहुत पसंद होता है, इनमें भी काफ़ी वेरायटी मिल जाएगी.

– लहंगा स्टाइल में फ्लेयर्ड के अलावा फिटेड, फिश कट, ए लाइन लहंगे आदि आप अपनी बॉडी टाइप के अनुसार ट्राई कर सकती हैं.

– चोली में भी आजकल ट्रेंड्स बदल गया है. आप ट्रेंडी टॉप को भी चोली की तरह पहन सकती हैं.

– हाई नेक टॉप, लेसी टॉप, क्रॉप टॉप, ब्लैक कलर टॉप, ब्लिंग या सीक्वेंस का टॉप- इनमें से कुछ भी पेयर कर सकती हैं.

– फ्लोर लेंथ अनारकली ड्रेसेस बेहद ग्लैमरस लगती हैं. वो भी ऑप्शन है.

– आप अगर ड्रेस सिंपल रखना चाहती हैं, तो उसे हैवी दुपट्टे और ज्वेलरी के साथ पेयर करके फेस्टिवल लुक दे सकती हैं.

लहंगा होगा पॉप्युलर

–  लॉन्ग लहंगा टाइप घाघरा फेस्टिवल में इन होंगे. अपने ड्रेस को मुगल और राजस्थानी लुक दें.

– अनारकली इस फेस्टिव सीज़न में भी इन होगा. हां इसका लुक थोड़ा बदल गया है.

– घाघरा पैंट और शरारा भी फेस्टिव सीज़न के लिए परफेक्ट हैं.

–  एसिमेट्रिकल कुर्ता के साथ वाइड सलवार सिलेक्ट करें.

– अनारकली कुर्ता भी ट्राई कर सकती हैं. ये लंबे समय से फैशन में है और इस सीज़न में भी इन रहेगा.

– इसी तरह ब्रोकेड की शॉर्ट जैकेट को पेंसिल स्कर्ट के साथ पहनें.

– स्कर्टटेड ड्रेस, वेरायटी ऑफ पैंट्स, फ्लेयर्ड ट्यूनिक्स, लूज़ पायजामा- इनमें से आप कुछ भी ट्राई कर सकती हैं.

–  कॉटन या सिल्क का प्लेन घाघरा सिलेक्ट करें. इसके हैवी बॉर्डर और लटकन लगवा लें. क्रॉप्ड टॉप के साथ कंबाइन करके पहनें. कम बजट में आपका ख़ूबसूरत फेस्टिव ड्रेस रेडी हो जाएगा.

Festival Fashion Mantra

 

साड़ी है फेवरेट चॉइस

– साड़ी तो ऑलटाइम फेवरेट है ही, इसलिए अपने फेस्टिव वार्डरोब में डिज़ाइनर साड़ी शामिल करें.

– डिफरेंट लुक के लिए साड़ी के साथ वेस्टकोट ट्राई करें. ये ख़ूबसूरत लगता है.

– आजकल कॉलर वाले और बंद गले के ब्लाउजेज़ ट्रेंड में हैं.

– आजकल लहंगा और गाउन साड़ी भी बहुत पॉपुलर है और यंगस्टर्स की पहली पसंद भी.

– डिफरेंट लुक के लिए धोती साड़ी, पैंट साड़ी भी ट्राई कर सकती हैं.

– शॉर्ट कुर्ता के साथ साड़ी पेयर करें. ये भी फेस्टिव सीज़न में आपको डिफरेंट लुक देगा.

यह भी पढ़ें: 10 शेपवेयर्स से मिनटों में छुपाएं मोटापा (10 Types Of Shapewear To Look Slimmer And Attractive)

Festival Fashion Mantra

क्रॉप टॉप्स

–  ब्लिंग में कोई क्रॉप टॉप सिलेक्ट करें या फिर आप प्लेन ब्लैक भी पहन सकती हैं. इन्हें हाई वेस्ट स्कर्ट, लहंगा या फ्लेयर्ड पैंट्स के साथ पेयर करें.

– आप सीक्वेंसवाला या कोई एंब्रायडर्ड टॉप भी पहन सकती हैं. ये आपको परफेक्ट फेस्टिव लुक देगा.

–  अगर आपका टॉप सिंपल है, तो आप लोअर्स के साथ एक्सपेरिमेंट करके फेस्टिव लुक क्रिएट कर सकती हैं.

–  आप सीक्वेंसवाली या शिमरी पैंट या स्कर्ट पहन सकती हैं.

कलर्स इन ट्रेंड

–  सॉफ्ट कलर्स सिलेक्ट करें. ये ट्रेंड में हैं और फेस्टिवल के लिए परफेक्ट चॉइस भी.

–  बेज, ऑफ व्हाइट के साथ गोल्ड वर्क का कॉम्बीनेशन रॉयल लुक देता है.

–  पेस्टल शेड्स भी इस फेस्टिव सीज़न में काफी पॉप्युलर रहेंगे. पेस्टल ग्रीन, पीच, पिंक जैसे सॉफ्ट पेस्टल कलर्स ट्राई करें.

– चाहें तो एक ही कलर के दो शेड को कंबाइन करें. ये लेटेस्ट फैशन मंत्र है.

– ऑफ व्हाइट कलर सिलेक्ट कर रही हैं तो उसके साथ ऑलिव ग्रीन का कॉम्बीनेशन ट्राई करें. ये आपको ट्रेंडी लुक देगा.

– गोल्ड कभी आउट ऑफ फैशन नहीं होता और त्योहारों व स्पेशल ओकेज़न पर रॉयल लुक भी देता है. इसलिए अपने वार्डरोब में इन्हें भी शामिल करें.

फ्रिंजेस का है फैशन

– आजकल फ्रिंजेस काफ़ी इन है. यह बहुत ही अलग लगता है और अपने फेस्टिवल सीज़न को कूल बनाने के लिए आप भी इसे ट्राई कर सकती हैं.

– टॉप्स में या पैंट्स में या लेयर्स, हैंड बैग्स… सभी में फ्रिंजेस उपलब्ध हैं. आपकी चॉइस है कि आपको इसे कैसे पहनना है.

मेश यानी नेट भी है कूल

–  ये लाइटवेट भी होता है और कूल लुक देता है. आप सिंपल प्लेन इनर के ऊपर नेट पहन सकती हैं.

–  नियॉन कलर्स पर भी आप नेट पहनकर डिफरेंट लुक ट्राई कर सकती हैं.

–  मेटालिक इनर्स पर भी आप ब्लैक मेश पहन सकती हैं.

नियॉन ट्राई करें

–  नियॉन कलर्स सिंपल-सी ड्रेस को भी फेस्टिव लुक देते हैं.

–  अगर बहुत ज़्यादा ब्राइट कलर्स पहनने से परहेज़ है, तो स़िर्फ टॉप्स में एक्सपेरिमेंट करें. लाइट लोअर के साथ नियॉन टॉप्स पहनें.

– आप ट्रेडिशनल वेयर में भी इन कलर्स को ट्राई कर सकती हैं.

गॉर्जियस गाउन्स

–  इनकी सबसे बड़ी ख़ूबी यह होती है कि ये कभी भी आउट ऑफ फैशन नहीं होते.

– आप गाउन्स भी पहन सकती हैं.

–  ये हर ओकेज़न पर ग्लैमरस और ख़ूबसूरत ही लगते हैं.

– ट्रेडिशनल लुक के लिए एम्ब्रॉयडरीवाला या कॉटन गाउन पहनकर ट्रेडिशनल हैवी ज्वेलरी पहनें.

– अगर मॉडर्न लुक चाहती हैं, तो शिमरी, सीक्वेंस या मेटालिक गाउन्स ट्राई करें.

बॉडी ज्वेल्स

– ये भले ही आपको थोड़ा एक्स्ट्रा लगे, पर यक़ीन मानें, ये फेस्टिवल लुक में मैजिक क्रिएट कर देंगे. आपके सिंपल से आउटफिट को भी अलग दिखाएंगे.

– अगर आप पूरा नया आउटफिट नहीं लेना चाहतीं, तो बॉडी पर ग्लिटर और स्टोन्स अप्लाई करें. फेस पर भी अपने मेकअप में आप ग्लिटर और ज्वेल ऐड कर सकती हैं.

फेस्टिवल मस्टहैव्स

फेस्टिवल मस्टहैव्स: एम्ब्रॉयडर्ड कुर्तीज़ या टॉप्स, सीक्वेंसवेय, शिमरी आउटफिट्स, लेसी वेयर, साड़ियां, लहंगा-चोली, अनारकली, स्टाइलिश चोली और ट्रेंडी ब्लाउज़ेस, कोर्सेट, अलग-अलग तरह के दुपट्टे, चंकी ज्वेलरी, हील्स और ट्रेडिशनल फ्लैट्स.

– योगिनी भारद्वाज

यह भी पढ़ें: फैशन ब्लंडर्स: क्या आप भी करती हैं ये 5 ग़लतियां? (5 Fashion Blunders You Might Be Making)

 

लाइफस्टाइल के नए फंडे (How Modern Lifestyle Has Changed Our Perception Of Life & Fitness)

Life & Fitness

लाइफस्टाइल के नए फंडे (How Modern Lifestyle Has Changed Our Perception Of Life & Fitness)

यह तो सच है कि ज़िंदगी और इसे जीने का अंदाज़ (Lifestyle) पहले से बहुत बदल (Changed) गया है और हम उन बदलावों के बीच ख़ुद को एडजस्ट करने में लगे हैं. कुछ बदलाव अच्छे होते हैं, तो कुछ ज़रूरी होते हैं, कुछ हमें तनाव दे जाते हैं, तो कुछ मजबूरी होते हैं… पर ज़िंदगी है, हर पल बदलती है… इसे ही तो लाइफ कहते हैं और इन बदलावों के बीच सामंजस्य बैठाने के तौर-तरीक़ों को हम लाइफस्टाइल का नाम दे देते हैं. क्या कुछ नया जुड़ता जा रहा है और क्या कुछ तेज़ी से बदलता जा रहा, इसी विषय को हम समझने का प्रयास करेंगे, ताकि इस बदलाव की प्रक्रिया को सहजता से ले सकें और अपनी लाइफस्टाइल को भी बेहतर बना सकें. क्या हैं ये लाइफस्टाइल के न्यू फंडे, आइए जानें.

स्वैग ज़रूरी है…
लोग, लोगों की ज़रूरतें, उनके तौर-तरी़के… सब कुछ हर पल में तेज़ी से बदल रहा है. इसी बदलाव का लेटेस्ट व हॉट ट्रेंड है स्वैग. जी हां, आज की लाइफस्टाइल में अगर आपके पास स्वैग नहीं है, तो आपकी ज़िंदगी बेकार है. यही वजह है कि लोग कभी अपने लुक्स के साथ, तो कभी अपने स्टाइल के साथ एक्सपेरिमेंट करने लगे हैं. हेयरस्टाइल और हेयरकलर्स में भी यह स्वैग उतर आया है, कभी देसी स्वैग, तो कभी स्वैगवाली टोपी, कभी चलने का स्टाइल, तो कभी आपका अंदाज़… हर चीज़ में स्वैग ज़रूरी हो गया है. यह बदलते लाइफस्टाइल का सबसे बड़ा बदलाव है.

फिटनेस है न्यू हॉटनेस…
लाइफस्टाइल का सबसे ज़्यादा असर हमारी हेल्थ और फिटनेस पर पड़ता है. हमारी डायट बदलती है, रहने का ढंग भी बदलता है, साथ ही ढेर सारा स्ट्रेस भी होता है. ये सब हमें अनफिट और अनहेल्दी बनाता है. लेकिन अब नहीं, क्योंकि लोग अब फिट रहना पसंद करते हैं. चाहे कितना भी तनाव हो या कितना ही वर्कलोड हो, फिटनेस के लिए टाइम निकालते हैं. जिम जाते हैं, हेल्दी डायट भी लेते हैं और यह बहुत ही पॉज़ीटिव बदलाव है, क्योंकि फिटनेस ही अब हॉटनेस की नई परिभाषा.

सोशल साइट्स अब बन गई हैं शो ऑफ साइट्स…
लोगों का नया घर बन चुकी हैं ये सोशल साइट्स. क्या खा रहे हैं, क्या सोच रहे हैं, रिलेशनशिप स्टेटस क्या है, हॉलीडे प्लान्स, वीकेंड पार्टीज़… सब कुछ वो यहीं शेयर और पोस्ट करते हैं. घर के मेंमर्स अब फिज़िकली पास होकर भी वो सब नहीं जान पाते, जो सोशल साइट्स पर फ्रेंड बने दूर-दराज़ बसे लोग जान लेते हैं. लेकिन इसमें भी चौंकानेवाली बात यह है कि लोग यहां ईमानदार नहीं हैं, हर किसी का मक़सद स़िर्फ ‘दिखावा’ यानी ‘शो ऑफ’ ही होता है. भले ही निजी ज़िंदगी उतनी हैपनिंग न हो, लेकिन सोशल साट्स भी सबकी ज़िंदगी की एक अलग ही तस्वीर नज़र आती है. एक नक़लीपन होता है वहां, जिसे जानबूझकर हम हक़ीक़त समझकर ख़ुद को ख़ुश करने का बहाना बना लेते हैं. यह जितना रोमांचक है, उतना ही ख़तरनाक भी हो सकता है. लेकिन आज की लाइफस्टाइल का यह अभिन्न हिस्सा बन चुका है, जिससे फिल्हाल तो दूर-दूर तक निजात मिलना नामुमकिन ही लग रहा है.

इंस्टाग्राम पर फिटनेस का बोलबाला- इन सेलेब्स ने उड़ाए सबके होश…
जैसाकि हम पहले भी बता चुके हैं कि आज की लाइफस्टाइल में फिटनेस ही हॉटनेस की नई परिभाषा बन चुकी है, तो ऐसे में कई ऐसे सेलेब्स हैं, जो इन दिनों इंस्टाग्राम पर अपनी फिटनेस को लेकर ही काफ़ी हॉट टॉपिक बन चुके हैं. वो अक्सर अपने फिटनेस वीडियोज़ और डायट टिप्स व हेल्दी लाइफस्टाइल के पिक्चर्स शेयर करते रहते हैं. वो अपनी कॉन्टैक्ट डिटेल्स भी देते हैं यदि कोई उनसे पर्सनली फिटनेस ट्रेनिंग लेना चाहे तो. इनमें सेलेब्स में टॉप पर हैं- मंदिरा बेदी, भाग्यश्री, मिलिंद सोमन, विराट कोहली, शिल्पा शेट्टी, सुष्मिता सेन, जैकलिन फर्नांडिस, मलिका शेरावत, शीबा, करिश्मा तन्ना, जॉन अब्राहम, गौतम गुलाटी, प्रिंस नरुला आदि.

यह भी पढ़ें: अब डिप्रेशन दूर भगाएगा किराये का बॉयफ्रेंड… रेंट ए बॉयफ्रेंड ऐप, एक अनोखी पहल! (RABF: This App Lets You Rent A Boyfriend To Cure Depression)

इंडिया के टॉप फिटनेस इंस्टाग्रामर्स, जिन्हें ज़रूर करें फॉलो

आज के समय में अधिकतर लोग फिटनेस फ्रीक हैं, ऐसे में आप भी अगर फिटनेस में दिलचस्पी रखते हैं, तो इन इंस्टाग्रामर्स को ज़रूर फॉलो करें.

– रोहित खंडेलवाल: मिस्टर इंडिया 2016 रोहित को देखते ही आप उनकी फिटनेस लेवल को जान जाएंगे. फिट रहना न स़िर्फ उनके प्रोफेशन की डिमांड है, बल्कि उनका पैशन भी है.

– मिलिंद सोमन: इन्हें कौन नहीं जानता और फिटनेस के प्रति इनके पैशन से भी हम सभी वाक़िफ़ हैं. मिलिंद के लिए मानो उम्र रुक सी गई हो और वो आज हम सभी को इंस्पायर करते हैं.

– बानी: अपनी ख़ूबसूरती से लेकर बिंदास अंदाज़ के लिए बानी जानी जाती हैं, वहीं उनकी फिटनेस भी किसी से छिपी नहीं. बानी को उनके रफ-टफ अंदाज़ के लिए ही सभी पसंद करते हैं.

Fitness

– गौतम गुलाटी: बिग बॉस के विनर बनकर गौतम ने हर किसी का दिल जीत लिया था. शो के दौरान भी गौतम की फिटनेस और हॉट बॉडी सबकी चर्चा का विषय बनी रहती थी. मल्टी टैलेंटेड गौतम फिटनेस को लेकर काफ़ी गंभीर हैं और यही वजह है कि फिटनेस उनकी पहचान बन चुकी है.

Gautam Gulati

 

– नम्रता पुरोहित: नम्रता राष्ट्रीय स्तर की स्क्वैश प्लेयर थीं और स्टेट लेवल की फुटबॉल प्लेयर भी थीं, लेकिन एक बार घुड़सवारी के दौरान वो गिर गई थीं और उनके घुटने में गंभीर चोट आ गई थी, जिसके चलते उनकी सर्जरी तो हो गई, लेकिन उन्हें स्पोर्ट्स को करियर के तौर पर छोड़ना पड़ा. उनके पिता, जो एक सेलिब्रिटी फिटनेस एक्सपर्ट थे, उन्होंने नम्रता को पिलेट्स प्रैक्टिस करने की सलाह दी. उसके बाद नम्रता दुनिया की सबसे कम उम्र की सर्टिफाइड स्टॉट पिलेट्स इंस्ट्रक्टर बनीं. आज फिटनेस की दुनिया में वो एक जाना-माना नाम हैं.

– रेसलर संग्राम सिंह: कोई सोच भी नहीं सकता था कि आर्थराइटिस से पीड़ित कोई व्यक्ति अंतर्राष्ट्रीय स्तर का पहलवान बन सकता है, लेकिन संग्राम सिंह ने यह कर दिखाया. उन्होंने न स़िर्फ देश का नाम रौशन किया है, बल्कि वो मोटिवेशनल स्पीकर भी हैं और फिटनेस के लिए लोगों को प्रेरित करते रहते हैं. बिग बॉस में भी संग्राम के देसी अंदाज़ को सभी ने पसंद किया था और रियल लाइफ में भी उनके फाइटिंग स्पिरिट के सभी कायल हैं.

Sangram Singh

– विनोद चन्ना: विनोद आज फिटनेस फील्ड का बहुत बड़ा नाम हैं. ये सेलिब्रिटी फिटनेस ट्रेनर हैं. बड़े-बड़े सेलेब्स इनके काम का लोहा मान चुके हैं. हालांकि विनोद के लिए यहां तक का सफ़र बेहद मुश्किलों भरा था. बचपन उन्होंने बेहद ग़रीबी देखी. शरीर से वो बहुत ही दुबले-पतले थे. उन्हें अक्सर लोग ‘सुकड़ा’ कहकर चिढ़ाते थे. इसी बात ने उन पर ऐसा असर डाला कि उन्होंने अपने शरीर पर ही काम करने का इरादा बना लिया, लेकिन पैसों की तंगी के कारण वो जिम नहीं जा सके. तब उन्होंने पढ़ाई के साथ-साथ ख़ुद काम करने की सोची. वो सैलेरी का छोटा-सा हिस्सा ही घर में देते थे, बाकी अपनी फिटनेस ट्रेनिंग पर ख़र्च करते थे. घरवाले उन पर तब नाराज़ होते थे, क्योंकि घर पर पैसों की ज़रूरत थी, लेकिन उनके अनुसार यदि मैं आज ख़ुद पर ध्यान देकर काबिल बन जाऊंगा, तब ही तो परिवार को भविष्य में बेहतर कुछ दे पाऊंगा… विनोद टॉप रेटेड फिटनेस ट्रेनर बनना चाहते थे और फिटनेस के प्रति उनके पैशन ने ही उन्हें वो सब कुछ दिया, जिसके सपने वो देखा करते थे. वो प्रोफेशनल बॉडी बिल्डर भी थे और कई प्रतियोगिताओं में विजेता भी बने.

– प्रशांत सावंत: इनकी इंस्टा आईडी से ही आपको इनके फिटनेस प्रेम का अंदाज़ा हो जाएगा. जी हां, प्रशांतसिक्सपैक नाम से है इनकी आईडी और ये भी बहुत बड़े सेलिब्रिटी फिटनेस ट्रेनर हैं. चाहे शाहरुख हों या आलिया, वरुण धवन, अजय देवगन और अभिषक बच्चन इनके क्लाइंट्स हैं. दहिसर के 10/10 के छोटे से कमरे में बड़े परिवार के साथ रहनेवाले प्रशांत इस मुक़ाम तक पहुंचेंगे यह किसी ने नहीं सोचा था. कॉलेज ड्रापआउट, जिन्हें परिवार के लोग भी गंभीरता से नहीं लेते थे, आज बादशाह ख़ान के फिटनेस ट्रेनर हैं. प्रशांत बचपन में बहुत मोटे थे, लेकिन वो हमेशा से अच्छा दिखना चाहते थे. जो चीज़ फैशन के लिए शुरू हुई, वो पैशन में बदल गई और उनके वर्क स्टाइल के बड़े-बड़े स्टार्स भी कायल हो गए.

यह भी पढ़ें: लव से लेकर लस्ट तक… बदल रही है प्यार की परिभाषा (What Is The Difference Between Love And Lust?)

लाइफस्टाइल तो बदल रही है, पर क्या हम बदल रहे हैं… फिटनेस एथलीट श्‍वेता मेहता
रोडीज़ राइज़िंग 2017 की विनर श्‍वेता की स्टोरी आपको ज़रूर इंस्पायर करेगी. एक आईटी प्रोफेशनल से रोडीज़ तक का सफ़र आसान नहीं था श्‍वेता के लिए. वो फिटनेस और बिकनी एथलीट हैं. एशियन बॉडी बिल्डिंग चैंपियनशिप में भी वो भारत का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं. आज की बदलती लाइफस्टाइल और उसके इंपैक्ट के बारे में हमने ख़ुद श्‍वेता से बात की…

“आज से बस 3 साल पहले तक की बात है कि मुझे यह भी नहीं पता था कि जिम आख़िर होता क्या है. मैं पीठ दर्द से परेशान रहती थी. यह समस्या तब से थी, जब में 12वीं में पढ़ रही थी. स्पॉन्डिलाइटिस से जूझना वैसे भी आसान नहीं होता. पढ़ाई पूरी होने के बाद में जॉब करने लगी और मेरा 12 घंटे का डेस्क जॉब मेरे बैक पेन को और बढ़ा रहा था. मुझे एक्सरसाइज़ करने का समय ही नहीं मिलता था, लेकिन मेरे लिए यह ज़रूरी हो गया था कि सिक्योर फ्यूचर, जॉब, सैलरी के मायाजाल से बाहर निकलूं. मैंने हिम्मत की और आज रिज़ल्ट सबके सामने है. आज फिटनेस ही मेरी पहचान बन चुकी है. मैंने अपनी लाइफस्टाइल चेंज की और मुझे मेरे सपनों की लाइफ मिली. मैं फिटनेस एथलीट हूं, पिछले 3 सालों में 5-6 कॉम्पटीशन्स जीत चुकी हूं. मैं हरियाणा की हूं और मैंने कभी स्लीवलेस कपड़े तक नहीं पहने थे. मेरे पैरेंट्स को मेरी बिकनी की पिक्चर्स के लिए यहां तक सुनना पड़ता था कि क्या आपकी बेटी नाइट क्लब में काम करती है… लेकिन आज मैं कामयाब हूं, तो वही लोग मेरा सम्मान करते हैं. मेरा यही कहना है कि अपने सपनों को मत बदलो, कुछ ऐसा करो कि लोगों का नज़रिया बदले.  मेरी कामयाबी में बहुत बड़ा रोल मेरे पैरेंट्स के सपोर्ट का है और हेल्दी लाइफस्टाल का भी है और अब मैं इस लाइफस्टाइल को बदलना नहीं चाहती, जो भी चीज़ मेरी फिटनेस के आड़े आती है, मैं उसे करती ही नहीं. क्योंकि फिटनेस और हेल्दी लाइफस्टाइल से कोई समझौता नहीं करना है.

 

Woman Fitness

हमारे यहां प्रॉब्लम यह है कि हम समय और परिस्थितियों के अनुसार न ख़ुद को ढालते हैं और न ही अपना डायट बदलते हैं. उदाहरण के तौर पर कोई कहता है कि भई हम तो पंजाबी हैं, हम तो तगड़ा ही खाते हैं, कोई कहता है हम गुजराती हैं, मीठा तो छोड़ नहीं सकते… इसी तरह से हम ट्रेडिशन के नाम पर वही डायट फॉलो करते हैं, जो हमारे दादाजी के समय में खाया जाता था. लेकिन यह भी तो सोचो कि वो समय अलग था, उनका काम अलग था. आज हम सभी डेस्क जॉब करते हैं, कहां से पचेगा तगड़ा खाना…? बेहतर होगा कि मीठा कंट्रोल करें, ऑयली फूड अवॉइड करें, एक्सरसाइज़ करें. ख़ुद की बॉडी से प्यार करें. तब जाकर आप हेल्दी बनोगे. कुछ चीज़ें हम सभी को पता होती हैं, लेकिन हम फॉलो नही करते, जैसे- पानी भरपूर पीएं, ऑयली-फैटी फूड कम खाएं, मीठा ज़्यादा न खाएं, प्रोटीन अधिक लें… आदि… लेकिन हम जानते हुए भी फॉलो नहीं करते. मैं बस हेल्दी चीज़ें लेती हूं और अनहेल्दी चीज़ें अवॉइड करती हूं, यही है डायट. मैं अपना खाना ख़ुद बनाती हूं. दिन में 6 बार खाती हूं, 2 बार जिम जाती हूं… मैं अपना ये रूटीन नहीं बदलती और इसीलिए फिट रहती हूं.”

Life & Fitness

वीकेंड्स के बदलते रूल्स…
एक व़क्त था, जब वीकेंड्स को आराम करने में ही बिताया जाता था. सभी लोग ज़्यादातर घर पर ही रहना पसंद करते थे, ताकि हफ़्तेभर की थकान मिट सके, लेकिन अब थकान व स्ट्रेस भगाने के तरी़के बदल गए हैं. लोग बाहर घूमने जाते हैं. पूरी प्लानिंग करते हैं कि कैसे हर वीकेंड को वो यादगार बना सकें.

वर्क मोर, पार्टी हार्ड…
वर्क लोड हर जगह, हर क्षेत्र में बढ़ा है. ऐसे में ज़्यादा काम करना ज़रूरी भी है और मजबूरी भी, लेकिन इस वर्क लोड के बदले लोग ख़ुद को ख़ुश करने के रास्ते भी ढूंढ़ लेते हैं. यह ख़ुशी उन्हें मिलती है पार्टी करके. फ्रेंड्स के साथ पार्टी करने का एक भी मौका आजकल कोई नहीं छोड़ता, बल्कि लोग तो बहाने ढूंढ़ते हैं कि कब पार्टी करके अपने वर्क लोड के स्ट्रेस को दूर कर सकें, क्योंकि बदलती लाइफस्टाइल में स्ट्रस बस्टर्स भी बदल गए हैं. एक समय था, जब परिवार के साथ बैठकर खाना खाने व अपनी तकली़फें शेयर करने से तनाव दूर होता था, वहीं अब फ्रेंड्स के साथ पार्टी करके, एंजॉय करके स्ट्रेस दूर किया जाने लगा है.

Life

महंगे गैजेट्स बन गए हैं सबकी ज़रूरत…
भले ही आपकी सैलरी या घर की कंडीशन ऐसी न हो कि आप लैग्ज़री को अपनी लाइफस्टाइल बना सकें, लेकिन यह भी सच है कि जैसे-तैसे महंगे गैजेट्स आप ज़रूरी अफोर्ड या मैनेज कर लेते हैं, क्योंकि वो इस लाइफस्टाइल की ज़रूरत बन चुके हैं. पर्सनल काम ही नहीं, ऑफिशियल काम के लिए भी यह ज़रूरी हो गया है. बेसिक फोन्स अब आउटडेटेड हो गए हैं, स्मार्ट फोन्स ने लाइफ में जगह बना ली है. वाईफाई अब घर-घर की ज़रूरत है, डेटा कार्ड से लेकर नोट पैड तक सभी कुछ एक ही घर में अब देखने को मिलता है, क्योंकि बच्चों के स्कूल प्रोजेक्ट्स से लेकर घरवालों की शॉपिंग तक इन्हीं से होती है.

क्या शो ऑफ बनकर रह गई है ज़िंदगी…?
आज लोग ज़िंदगी जीने से कहीं ज़्यादा दिखावे में यकीन करने लगे हैं. इसकी सबसे बड़ी वजह है सोशल नेटवर्किंग साइट्स, जो एक तरह से तो बहुत बड़ा ज़रिया है लोगों से जुड़ने का, लेकिन हमने इन्हें शो ऑफ की जगह बना डाला. यहां लोग अक्सर अपनी पर्सनल लाइफ से ख़ुद को बहुत अलग दिखाने की होड़ में लगे रहते हैं. अपनी लाइफस्टाइल को बहुत ही हैपनिंग दिखाते हैं. इसके पीछे एक वजह यह भी होती है कि यहां लोगों का स्ट्रेस कम हो जाता है, कुछ पल के लिए भ्रम में रहकर ख़ुद को हल्का और पॉज़ीटिव महसूस करते हैं, लेकिन यह सही है कि अपने नए जूते-कपड़ों से लेकर लेटेस्ट गैजेट्स व कार तक की पिक्चर्स लोग यहां सबसे पहले शेयर करते हैं. घरवालों को भी पता नहीं होता है, लेकिन आप कहां पार्टी कर रहे हो और किन के साथ, यह आपके चेकइन्स से सोशल साइट्स पर सभी को पता चल जाता है.

यह भी पढ़ें: जानें 21 दिलचस्प तथ्य (21 Interesting Facts That Will Amaze You)

रिलेशनशिप स्टेटस- इसमें छुपाने की क्या बात है…
अब लोग हिचकते नहीं है, भले ही वो लिव इन में हों या एक्स्ट्रामैरिटल अफेयर कर रहे हों, उन्हें लगता है कि इसमें छिपाने की क्या बात है. आख़िर हमारी लाइफ है, हमें चाहे जैसे जीएं. लोग क्या कहेंगे का डर अब लोगों के मन से काफ़ी हद तक निकल चुका है और यह अच्छी बात भी है, क्योंकि कम से कम नकली ज़िंदगी तो नहीं जीते. जो हैं, जैसे हैं, सबके सामने हैं.

ऑउटस्पोकन, आउटगोइंग बन गई है कॉन्फिडेंस और स्मार्टनेस की नई पहचान…
शर्म-संकोच आज के समय में दब्बूपन की निशानी मानी जाती है. ज़्यादा बोलना, खुलकर बोलना यह जताता है कि आप कॉन्फिडेंट और स्मार्ट हो. पहले कम बोलनेवाले और संकोची इंसान को लोग संस्कारी मानते थे, लेकिन बदलती लाइफस्टाइल ने संस्कारों के मायने भी बदल दिए हैं. अगर आप कम बोलते हैं, ज़्यादा शर्माते हैं, तो आपको पर्सनैलिटी डेवलेपमेंट क्लासेस जॉइन करने की सलाह भी मिलते देर नहीं लगेगी, क्योंकि आज के समय की ज़रूरत है कि आप शर्म-संकोच हटाकर बिंदास बनें. चाहे पर्सनल लाइफ हो या प्रोफेशनल, सभी जगह यही डिमांड है.

सेक्स पर बात करना अब संकोच या शर्म की बात नहीं
जैसे खाना-पीना-सोना, वैसे ही सेक्स, इसमें शर्माने की क्या बात है… जी हां, आजकल अधिकांश लोग यही मानते हैं. सेक्स अब प्राइवेसी का विषय नहीं रहा. लोग उस पर खुलकर बात भी करते हैं और इसे बुरा भी नहीं समझते. एक तरह से हम कह सकते हैं कि सेक्स को लेकर थोड़ी मैच्योरिटी और खुलापन तो आया है समाज में. लड़कियां भी इसे सहजता से लेती हैं. अपनी मूल ज़रूरत पर शर्माने की क्या बात है, ऐसा लोग मानने लगे हैं. लोग अब सेक्स को गंदा या बेशर्मी न मानकर स्वाभाविक व नैसर्गिक चीज़ समझने लगे हैं, यही वजह है कि अब वो खुलकर उस पर बात करते हैं. इसकी ज़रूरत भी है, ताकि सेक्सुअल डिसीज़ व सेक्स संबंधी अन्य मानसिक व शारीरिक समस्याओं का निवारण आसानी से हो सके. बच्चों को भी सेक्स एजुकेशन मे महत्व पर ज़ोर दिया जाने लगा है, ताकि वो भी यौन शोषण से बच सकें.

पीरियड्स पर अब खुलकर बोलते हैं…
इसी तरह से पीरिड्स पर भी बात करना, खुलकर चर्चा करने को लोग सहजता से लेने लगे हैं. यह एक प्राकृतिक क्रिया है, तो इसमें शर्मिंदगी या झिझक क्यों? ख़ुद लड़कियां व कई संस्थाएं भी आगे आकर सोशल साइट्स के ज़रिए अपने कैंपेन को चला रही हैं और लोगों में जागरूकता ला रही हैं. ऐसे में लाइफस्टाइल में आए कुछ नए बदलाव वाक़ई काबिले तारीफ़ हैं, जिससे समाज पहले के मुकाबले अधिक परिपक्व व सहज हो सकेगा.

– गीता शर्मा

6 स्मार्ट तरीक़ों से रखें डिजिटल वॉलेट को सेफ़? (6 smart tips for safe digital wallet)

digital wallet

digital wallet

घर बैठे-बैठे सिनेमा हॉल की टिकट बुक करना, हॉस्टल में पढ़ रहे बेटे की फीस जमा करना, गांव में पैसे भिजवाना, बिना लाइन में खड़े हुए बिजली का बिल भर देना जैसी सहूलियत आपको ई वॉलेट से ही मिलती है. बिना झंझट और झल्लाहट के आप आराम से घर बैठे कई काम कर देते हैं. घर से बाहर निकलने पर अब आपके पैसे चोरी का डर भी नहीं रहता, क्योंकि अपना बहुत सारा काम आप ई वॉलेट के ज़रिए निपटा देते हैं. डिजिटल हो रहे इस मॉडर्न ज़माने के साथ क़दम से क़दम मिलाकर चलने के लिए आपका भी डिजिटल होना बहुत ज़रूरी है, लेकिन इन सबके बीच सुरक्षा यानी आपके ई वॉलेट की सेफ्टी का इश्यू वैसे ही रह जाता है. आपका हर काम आसान करनेवाले डिजिटल वॉलेट को सेफ़ कैसे रखें? आइए, हम बताते हैं.

फोन लॉक करें
आमतौर पर स़िर्फ एक उंगली की दूरी पर है आपका ई वॉलेट. ऐसे में उसकी सुरक्षा और भी अहम् हो जाती है, इसलिए अपने फोन में लॉक कोड रखें. इतने से ही काम नहीं चलेगा. आप चाहें, तो अपने फोन में फिंगर लॉक रखें. ऐसे में कोई दूसरा आपके फोन को एक्सेस नहीं कर पाएगा.

ऐप लॉक
स़िर्फ फोन लॉक करने से काम नहीं चलेगा. कहीं आपका फोन चोरी हो गया और ग़लती से सामने वाले ने फोन का लॉक खोल लिया, तो आसानी से आपके ई वॉलेट का मिसयूज़ कर सकता है, इसलिए ज़रूरी है कि ऐप पर लॉक कोड सेट करें.

स्ट्रॉन्ग पासवर्ड
ऐप का पासवर्ड रखते समय इस बात का ध्यान रखें कि वो सिंपल और छोटा न हो. इससे कोई भी आसानी से ब्रेक कर सकता है. बेहतर होगा कि 10 डिज़िट का पासवर्ड रखें. स्पेशल कैरेक्टर के साथ पासवर्ड रखें.

एंटी वायरस डालें
कंप्यूटर, लैपटॉप की तरह मोबाइल में भी एंटी वायरस डलवाएं. ऐसा इसलिए करें, क्योंकि आप अपने मोबाइल का यूज़ एक लैपटॉप की तरह करते हैं. सोशल साइट्स से लेकर कई साइट्स पर जाते हैं. ऐसे में वायरस आपके मोबाइल में एंटर कर सकते हैं.

मिनिमम बैलेंस
अगर आप चाहते हैं कि फ्यूचर में आपको रोना न पड़े, तो अपने ई वॉलेट में कम पैसा रखें. ऐसे में अगर आपका मोबाइल किसी और के हाथ में आ भी गया, तो वो बहुत ज़्यादा पैसे का यूज़ नहीं कर पाएगा.

कार्ड डिटेल सेव न करें
मानाकि कार्ड डिटेल सेव करने से आपको पेमेंट करने में आसानी होती है, लेकिन ये सही नहीं है. ऐसा करना भारी पड़ सकता है. किसी के हाथ मोबाइल लगने पर, वो आपका पूरा पैसा ख़त्म कर सकता है.

इन सेफ्टी ट्रिक्स को अपनाकर आप अपने ई वॉलेट को सेफ रख सकते हैं.

श्वेता सिंह

अधिक फाइनेंस आर्टिकल के लिए यहां क्लिक करें: FINANCE ARTICLES 

[amazon_link asins=’B06Y3VRQ46,B07645598Z,B07647XYQF’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’24a0dd9e-b4b2-11e7-9baf-637e969a6f8c’]

 

डायनिंग रूम मेकओवर

अपने ड्रीम होम का कंप्लीट मेकओवर करना चाहती हैं, तो डायनिंग रूम की सजावट को नज़रअंदाज़ करने की ग़लती न करें. अपने आशियाने के इस अहम् हिस्से का कैसे करें मेकओवर? आइए, हम बताते हैं.

 

3

मॉडर्न लुक
* डायनिंग रूम को मॉडर्न लुक देने के लिए डायनिंग टेबल, चेयर, क्रॉकरीज़ आदि मॉडर्न शेप एवं स्टाइल की ख़रीदें.
* प्रिंटेड की बजाय प्लेन टेबल क्लॉथ को प्राथमिकता दें.
* डायनिंग टेबल डेकोरेशन के लिए ग्लास या ऑक्सीडाइज़्ड स्टील फ्लावर पॉट सिलेक्ट करें.
* यदि स्पेस कम हो, तो फोल्डिंग डायनिंग टेबल ख़रीदें. आजकल मार्केट में दीवार से अटैच होने वाले व फोल्डिंग डायनिंग टेबल की ढेरों वैरायटी मौजूद है.

6

ट्रेडिशनल लुक
* डायनिंग रूम को प्योर इंडियन या ट्रेडिशनल फील देने के लिए टेबल क्लॉथ के लिए बाटिक, बांधनी, लखनवी जैसे ट्रेडिशनल फैब्रिक का चुनाव करें.
* ट्रेडिशनल पैटर्न के डायनिंग टेबल, चेयर और क्रॉकरीज़ चुनें.
* ग्लास या रॉट आयरन के कैंडल स्टैंड से डायनिंग टेबल का मेकओवर करें.
* दीवार पर एंटीक डेकोर एक्सेसरीज़ लगाएं.

2

वॉल डेकोरेशन
* डायनिंग रूम की दीवारों को ब्राइट कलर से पेंट करवाएं.
* आप चाहें तो वॉॅलपेपर से भी दीवारों का मेकओवर कर सकती हैं.
* वॉलपेपर के लिए फ्लोरल से लेकर जियोमैट्रिक जो भी डिज़ाइन पसंद हो लगाएं, मगर वॉलपेपर सिलेक्ट करते समय फर्नीचर का कलर ध्यान में रखें.
* पेंटिंग्स या फोटो फ्रेम लगाकर भी आप दीवारों का लुक बदल सकती हैं.
* डायनिंग रूम के एक कॉर्नर में ग्लास का शेल्फ बनवाकर उस पर ख़ूबसूरत क्रॉकरीज़ भी सजा सकती हैं.

5

लाइटिंग
* घर के बाकी हिस्से की तरह ही डायनिंग रूम में भी लाइटिंग का ख़ास ध्यान रखें.
* यहां आप रिलैक्स होते हैं, इसलिए कभी भी हार्श लाइट न लगाएं, जो सीधे आंखों में चुभे.
* यदि डिज़ाइनर लाइट या शैंडलियर आदि लगा रही हैं, तो साइज़ का ख़ास ध्यान रखें.
* लाइट का साइज़ डायनिंग टेबल से क़रीब 12 इंच छोटा रखें.
* लाइट लगाते समय टेबल का डिज़ाइन भी ध्यान में रखें. शैंडलियर जैसी राउंड लाइट राउंड डानयिंग टेबल के साथ अच्छी लगती है.

7

स्मार्ट आइडियाज़
* अलग कमरे में डायनिंग रूम नहीं बना सकतीं, तो किचन के ख़ास कोने में डायनिंग टेबल सेट करें.
* ओकेज़न के अनुसार टेबल मैट, कोस्टर, नैपकिन होल्डर बदलकर डायनिंग टेबल को ट्रेंडी लुक दें.
* जगह की कमी है, तो फोल्डिंग डायनिंग टेबल व चेयर का चुनाव करें.
* डायनिंग टेबल को सजाने के लिए ताज़े फूल व ख़ूबसूरत कैंडल्स ख़रीदें.
* ब्राइट लाइटिंग अरेंजमेंट से डायनिंग रूम को आकर्षक बनाएं.
* मार्केट में डायनिंग टेबल की ढेरों वैरायटी मौजूद हैं, आप अपने बजट और घर में मौजूद जगह के हिसाब से इसका चुनाव कर सकती हैं.
* ग्लास के डायनिंग टेबल अट्रैक्टिव व क्लासी लुक देते हैं.
* अपनी सुविधा और बजट के अनुसार आप वुड या ग्लास के डायनिंग टेबल का चुनाव कर सकती हैं.
* अट्रैक्टिव क्रॉकरीज़ से भी डायनिंग टेबल को आकर्षक बनाया जा सकता है.

– कंचन सिंह