Modi

FitnessChallenge, PM Modi, virat kohli

प्रधानमंत्री मोदी ने स्वीकार की विराट कोहली की यह चुनौती… कहा- चैलेंज एक्सेप्टेड विराट! (Challenge Accepted Virat: Will B Sharing My Own #FitnessChallenge Video Soon-PM Modi)

खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने पिछले दिनों एक वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड किया था, जिसमें उन्होंने खेल और बॉलीवुड की हस्तियों को टैग किया था और उनसे अपील की थी कि देश में फिटनेस को लेकर जागरूकता अभियान में वे सबको प्रेरित करें.

राठौड़ ने टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को भी ये चैलेंज दिया था और विराट ने खेल इस चैलेंज को स्वीकार भी किया.

विराट ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा… मैंने राज्यवर्धन सर का फिटनेस चैलेंज स्वीकार कर लिया है. अब मैं अपनी पत्नी अनुष्का शर्मा, हमारे पीएम नरेंद्र मोदी जी और धोनी भाई को यह चैलेंज दे रहा हैं.

दिलचस्प बात यह है कि विराट के इस चैलेंज को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वीकार कर लिया है. उन्होंने ट्वीट किया- चैलेंज स्वीकार है विराट. जल्द ही अपना फिटनेस चैलेंज वीडियो शेयर करूंगा.

ग़ौरतलब है कि राठौड़ ने हम फिट तो इंडिया फिट हैशटैग से ट्विटर पर यह फिटनेस चैलेंज शुरू किया है. ट्विटर पर अपलोड वीडियो में राठौड़ ख़ुद अपने दफ्तर में ही व्यायाम करते नज़र आ रहे हैं. सोशल मीडिया पर लोग राठौड़ की इस मुहिम की काफ़ी प्रशंसा कर रहे हैं और इसे अच्छा-ख़ासा रेस्पॉन्स भी दे रहे हैं.

आप भी पढ़ें इन सभी के ट्टीट्स

 

यह भी पढ़ें: विराट कोहली चाहते हैं कि उनके बच्चे हों, लेकिन इस शर्त पर… 

Tarak Mehta Ka Ulta Chashma

क़रीब हफ़्ते भर पहले लिए गए सरकार के डिमॉनिटाइज़ेशन के फैसला का जहां कुछ लोग सपोर्ट कर रहे हैं, वहीं कुछ इसके विरोध में भी खड़े हैं. अब लोगों का मोरल बढ़ाने के लिए दो पॉप्युलर धारावाहिक इस मुद्दे को दिखाने वाले हैं. सब टीवी के दो धारावाहिक तारक मेहता का उल्टा चश्मा (Tarak Mehta Ka Ulta Chashma) और चिड़िया घर (Chidiya Ghar) का आने वाला एपिसोड इसी मुद्दे पर आधारित होगा. ख़बरों के मुताबिक़, इसका मक़सद लोगों के बीच नोटबंदी के लिए सकारात्मक सोच डेवलप करना है.
धारावाहिक तारक मेहता का उल्टा चश्मा में हमेशा सोशल इश्यूज़ को इंट्रेस्टिंग तरी़के से दिखाया जाता है.

Rs-500-and-Rs-1000
इसे कहते हैं सरकार द्वारा कुछ विशेष वर्ग की रातों की नींद उड़ाना. ये तो वही हो गया कि बैंक में नहीं है रुपया, लेकिन घर में नोटों के गद्दे पर सोते हैं, लोग. अगर यह क्रिकेट की पिच होती, तो नज़ारा कुछ ऐसा होता कि मैदान पर आते ही मोदी सरकार विरोधी खेमे की हर बॉलर की धुनाई कर रही है. वाह! कुछ इसी तरह बीती रात अचानक जब हर जगह 500 और हज़ार के नोट बंद होने की न्यूज़ फ्लैश होने लगी, तो लोगों की नींद उड़ गई.

काले धन वालों की बढ़ी मुसीबतें
वैसे तो सरकार के इस निर्णय से आम से लेकर कुछ ख़ास लोगों की मुश्किलें बढ़ गईं, लेकिन सबसे ज़्यादा मुसीबत तो उन लोगों की बढ़ी है, जिनकी आमदनी कागज़ पर कम, लेकिन घर में ज़्यादा है. इसे कहते हैं वाह क्या सरकारी चाल है!

अधिक फाइनेंस आर्टिकल के लिए यहां क्लिक करें: FINANCE ARTICLES