Tag Archives: motivational quotes

गुड मॉर्निंग से पहले ख़ुद से पूछें ये 5 सवाल (5 Inspiring And Motivational Thoughts To Start Your Day)

जैसे पृथ्वी के भीतर गुरुत्वाकर्षण की अद्भुत शक्ति होती है, ठीक उसी प्रकार हमारे भीतर भी आकर्षण की महाशक्ति मौजूद होती है. आकर्षण की इस शक्ति का प्रयोग करके हम अपने जीवन को और ख़ुशहाल व सकारात्मक बना सकते हैं और जिसकी शुरुआत हमें हर रोज़ सुबह करनी चाहिए. क्या हैं वे सकारात्मक बातें और सवाल, आइए जानते हैं.

Motivational Thoughts

करें सुबह की शुभ शुरुआत

–   सुबह आंखें खुलने पर एकदम झटके से न उठें.

–   भले ही आप अलार्म की आवाज़ के साथ उठते हैं, फिर भी दो मिनट तक बिस्तर पर यूं ही लेटे रहें.

–   उठते ही कामों की लिस्ट याद करने की बजाय सबसे पहले ईश्‍वर का नाम लेकर उन्हें धन्यवाद दें.

–   अगले एक मिनट में ख़ुद से कुछ सवाल पूछें, ताकि आपका पूरा दिन ऊर्जा और जोश से भरपूर हो.

–   कोशिश करें कि मुस्कुराएं और अपनी मुस्कुराहट को कुछ देर तक बनाए रखें.

–  अगर शरीर में कहीं तकलीफ़ है, तो भी मुस्कुराएं और ख़ुद से कहें कि आप जल्दी ही दर्दमुक्त हो जाएंगे.

पूछें ये 5 जादुई सवाल

हर सुबह हमारा नया जन्म होता है और हर दिन नई उम्मीदें, आशाएं और अवसर लेकर आता है. कभी-कभी ईश्‍वर हमें अपने चमत्कारों से आश्‍चर्यचकित कर देते हैं. जो आपने सोचा भी नहीं होता, वो भी आपको मिल जाता है. ऐसे में यह जादुई एहसास वाकई बहुत ख़ास होता है. तो आइए आपको भी बता दें कि कौन-से हैं वो पांच जादुई सवाल, जो आपको हर दिन पूछने चाहिए.

  1. मैं कैसा महसूस कर रहा/रही हूं?

–   आपके दिन की शुरुआत सेहत से होनी चाहिए, क्योंकि सेहत से बढ़कर कुछ भी नहीं.

– सबसे पहले ख़ुद से पूछें कि मैं कैसा महसूस कर रहा हूं? क्या मेरा शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य दुरुस्त है? मेरे शरीर में कहीं कोई तकलीफ़ तो नहीं? कहीं तनाव का असर मेरी मेंटल हेल्थ पर तो नहीं पड़ रहा?

–   इस बारे में सवाल करने पर आप इस तरफ़ ध्यान देंगे, क्योंकि आज भी बहुत-से लोग इमोशनल और मेंटल हेल्थ को उतनी तवज्जो नहीं देते.

–   अगर आपको कहीं भी ऐसा लग रहा है कि आप कमतर पड़ रहे हैं, तो थोड़ी और कोशिश करें और ख़ुद को ख़ुश व स्वस्थ रखें.

  1. आज का दिन कैसा होगा?

–   दूसरा सवाल ख़ुद से करें कि आज का दिन कैसा होगा. यक़ीनन हर दिन अपने साथ बहुत कुछ नया लेकर आता है.

–   आज का दिन मेरे लिए ढेरों ख़ुशियां लेकर आ रहा है. मैं ख़ुश हूं और दिनभर यह ख़ुशी, जोश और उत्साह बना रहेगा.

–   आज का दिन भी अपने साथ बहुत कुछ अच्छा लेकर आएगा. आज मैं अपने कुछ अधूरे वादे पूरे करने की कोशिश करूंगा.

  1. आज कौन-सी ख़ुशख़बरी मिलेगी?

–   दिनभर ख़ुद को उत्साहित रखने के लिए अपने दिन की शुरुआत इसी सवाल से करें. यक़ीन मानिए इस सवाल के साथ ही आपके चेहरे पर एक बड़ी-सी मुस्कान खिल जाएगी.

–   जो भी आप पाना चाहते हैं, उसकी एक लिस्ट अपनी आंखों के सामने लाएं और सोचें कि इसमें से ही एक ख़ुशख़बरी आज मुझे मिलेगी.

–   आपकी वाइब्स उस ख़ुशख़बरी को लाने के लिए सुबह से ही काम पर लग जाती हैं और जल्द ही आपको वो ख़ुशी नसीब होती है.

  1. क्या झुंझलाने से सब ठीक हो जाएगा?

–   बहुत-से लोग बीते हुए कल की समस्याओं, ईर्ष्या और नफ़रत जैसे नकारात्मक विचारों को ढोकर अगले दिन भी ले आते हैं और नए दिन की शुरुआत भी उसी नकारात्मकता से करते हैं.

–   अब बस दो मिनट के लिए शांत मन से सोचें कि झुंझलाने से क्या समस्या हल हो जाएगी? यक़ीनन जवाब ना में ही होगा. तो फिर ‘रात गई बात गई’ वाला फॉर्मूला अपनाएं और नए दिन की एक बेहतरीन नई शुरुआत करें.

  1. किस बात से मुझे सबसे ज़्यादा ख़ुशी मिलती है?

–  मोटिवेशनल स्पीकर्स की मानें, तो 100 में से 95 लोग इस पहलू की ओर ध्यान ही नहीं देते. माना कि आप अपनों से बहुत प्यार करते हैं और उनकी ख़ुशी के लिए ही सब कुछ करते हैं, पर अपनी ख़ुशी का भी ख़्याल रखें, वरना धीरे-धीरे आपके भीतर हताशा-निराशा घर करने लगेगी.

–   हर सुबह ख़ुद से अपनी ख़ुशियों के बारे में सवाल करें और उन्हें पूरा करने की ईमानदारी से कोशिश करें.

–   कुछ लोगों को लगता है कि ‘चल रहा है ना’ चलने दो, लेकिन ज़िंदगी ख़ुशी-ख़ुशी जीने के लिए है, चलाने के लिए नहीं, इसलिए अपनी ख़ुशियों को ख़ास तवज्जो दें.

–   छोटी-छोटी चीज़ें, जैसे- पानीपूरी खाना, आईस्क्रीम खाना, दोस्त को कॉल करना, किसी से दिल खोलकर बातें करना, झूला झूलना, पेड़ों को छूकर उनसे बातें करना आदि करके भी आप ख़ुश हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें: 10 तरह के चुगलखोर: कैसे करें इनसे डील (10 Types Of Snitches You Must Know)

Motivational Thoughts

थैंक्यू कहें, ख़ुश रहें

–   रोज़ाना सोकर उठने पर सबसे पहले ईश्‍वर को धन्यवाद दें कि आप ज़िंदा हैं, क्योंकि यही एक चीज़ है, जिसे लोग सबसे ज़्यादा ग्रांटेड लेते हैं. रोज़मर्रा की ज़िंदगी में हम अक्सर ऐसे उदाहरण देखते हैं, जहां अचानक ही आपके जान-पहचान के लोग यूं ही दुनिया छोड़कर चले जाते हैं, फिर भी हम अपने जीवन को ग्रांटेड लेते हैं.

–   शुक्रिया अदा करें कि आप स्वस्थ हैं, क्योंकि जब आप अस्वस्थ होते हैं, तो जल्द से जल्द ठीक होना चाहते हैं, पर ठीक होते ही अपने शरीर को अनहेल्दी फूड और माइंड को निगेटिव बातों और स्ट्रेस से भर देते हैं और फिर बीमार पड़ जाते हैं, इसलिए ख़ुश हो जाएं कि आप स्वस्थ हैं. आपकी सकारात्मक सोच आपको सकारात्मक ऊर्जा देती हैं, जिससे आप और अच्छा महसूस करते हैं.

–   धन्यवाद दें कि आपके पास नौकरी या व्यवसाय है, जिसके कारण आप स्वाभिमान के साथ अपना और अपने परिवार का भरण-पोषण कर पा रहे हैं, वरना बाहर बहुत-से लोग बेरोज़गार घूम रहे हैं, जिसके कारण वो डिप्रेशन का शिकार भी हो रहे हैं.

–   ईश्‍वर को धन्यवाद दें कि आपका परिवार है, दोस्त-रिश्तेदार हैं. आपके चाहनेवाले आपसे प्यार करते हैं, आपकी परवाह करते हैं, आपको स्पेशल फील कराने के लिए कुछ न कुछ करते रहते हैं, जबकि बहुत-से लोग अकेले हैं और अकेलापन उनकी ज़िंदगी को खोखला बना रहा है.

–   मुश्किल समय हमें बहुत कुछ सिखाता है. जब हम सबसे ज़्यादा मुसीबत में होते हैं, तब अपनी बहुत-सी पुरानी ग़लतियां याद आती हैं. बुरे हालात हमें लड़ने की ताक़त देते हैं. हमें सब्र और हिम्मत से काम लेना सिखाते हैं. ईश्‍वर को धन्यवाद दें कि उन्होंने आपको चैंलेंजेस दिए, वरना आप अपनी काबीलियत कभी पहचान ही नहीं पाते.

5 पावरफुल पैकेजेस 

हम आपकी भागदौड़ को अच्छी तरह समझते हैं, इसलिए अगर आपको लगता है कि आप रोज़ाना ये सवाल नहीं पूछ सकते, तो कोई बात नहीं आप हफ़्ते में तीन दिन सवाल के लिए रखें और तीन दिन पावरफुल पैकेजेस के लिए. सुबह सोकर उठने पर ये कहें-
1. मैं बेस्ट हूं.
2. मैं यह कर सकता हूं.
3. ईश्‍वर मेरे साथ हैं.
4. मैं विजेता हूं.
5. आज का दिन मेरा है.

– अनीता सिंह

यह भी पढ़ें: सर्वगुण संपन्न बनने में खो न दें ज़िंदगी का सुकून (How Multitasking Affects Your Happiness)

यह भी पढ़ें: क्या आप भी बहुत जल्दी डर जाते हैं? (Generalized Anxiety Disorder: Do You Worry Too Much?)

ख़ुशहाल ज़िंदगी जीने के 5 आसान तरीके (5 Simple Ways To Live Life For Yourself)

यदि हम अपने आप से पूछें कि हमारे लिए ख़ुशी की क्या परिभाषा है, हमें किस बात से ख़ुशी मिलती है, क्या हम वाकई ख़ुश हैं? तो शायद हम अपने ही सवालों का जवाब नहीं दे पाएंगे. ऐसा नहीं है कि हमें जवाब पता नहीं, लेकिन हम उसे स्वीकारना नहीं चाहते, क्योंकि हम अपने लिए कम और दूसरों के लिए ज़्यादा जीते हैं. हम ख़ुद से ज़्यादा लोगों की परवाह करने में लगे रहते हैं. हमें क्या पसंद है, हम क्या चाहते हैं, इससे ज़्यादा हमें इस बात की परवाह रहती है कि लोग क्या कहेंगे? आइए, हम आपको बताते हैं ख़ुशहाल ज़िंदगी जीने के 5 आसान तरीके.

Ways To Live Life

क्या आप वाकई खुश हैं?
क्या आपने कभी ख़ुद से ये सवाल किया है कि आप अपनी ख़ुशी के नाम पर जो भी करते हैं, क्या उसमें वाकई आपकी ख़ुशी होती है? चाहे त्योहार हो या शादी-ब्याह ऐसे ख़ास मौक़ों पर अपने लिए कुछ ख़रीदते समय भी हम ये सोचते रहते हैं कि ये चीज़ लोगों को पसंद आएगी या नहीं. आप अपनी ख़ुशी के बारे में कम और दूसरों की ख़ुशी के बारे में ज़्यादा सोचते रहते हैं. कई बार दूसरों पर अपना इंप्रेशन जमाने के लिए हम अपने बजट से ज़्यादा ख़र्च तो कर देते हैं, लेकिन बाद में उसकी भरपाई करना हमें मुश्किल लगने लगता है. दूसरों के बारे में सोच-सोचकर हम अपने सुंदर-सरल जीवन को इतना जटिल बना देते हैं कि कई बार हम अपनी पहचान ही खो देते हैं. हम ये भूल जाते हैं कि हमें किस चीज़ से ख़ुशी मिलती है.

यह भी पढ़ें: अमीर और क़ामयाब बनना है तो सीखें ये आदतें (How To Become Rich And Successful)

 

ख़ुशहाल ज़िंदगी जीने के 5 आसान तरीके

1) सुबह उठते ही सबसे पहले मुस्कुराएं और कहें कि मैं अपना/अपनी फेवरिट हूं. फिल्म जब वी मेट में करीना कपूर का यह डायलॉग सच में इतना पावरफुल है कि ये आपको ख़ुशी और एनर्जी से भर देता है. यकीन मानिए, जो लोग ख़ुद से प्यार करते हैं, वो दूसरों को भी हमेशा ख़ुश देखना चाहते हैं इसलिए सबसे पहले ख़ुद से प्यार करें.

2) सच्ची ख़ुशी पाने के लिए वही करें जो आपको अच्छा लगता है, न कि जो लोग कर रहे हैं.

3) हमेशा बड़ों की तरह बर्ताव न करें, कभी-कभी बच्चों की तरह खिलखिलाकर हंसें, उछलकूद करें, बेपरवाह होकर नाचे-गाएं, दोस्तों के साथ घूमने जाएं, सड़क पर खड़े होकर चाट का लुत्फ़ उठाएं… ऐसी छोटी-छोटी बातों में ही ज़िंदगी की असली ख़ुशी छुपी होती है.

यह भी पढ़ें: मन की बात लिखने से दूर होता है तनाव (Writing About Your Emotions Can Help Reduce Stress)

 

4) समस्या या परेशानियां सभी के जीवन में आती हैं, लेकिन जीवन में क़ामयाब वही होते हैं, जो परेशानियों से डरते नहीं, बल्कि उनका हल निकालने के रास्ते तलाशते हैं. आप भी ऐसा ही करें, आपके सोचने से समस्या हल नहीं होगी, उसके लिए आपको समस्या से बाहर निकलने के रास्ते तलाशने होेंगे.

5) कभी भी किसी और से अपनी तुलना न करें. ईश्‍वर ने हम सबको अलग और स्पेशल बनाया है इसलिए अपनी ख़ूबियों को पहचानें और अपनी अलग पहचान बनाएं. आपको ईश्‍वर ने जो भी हुनर दिया है, उसे निखारने की हमेशा कोशिश करते रहें, ताकि आप अपनी ज़िंदगी में कभी भी बोर न हों.

सीखें प्यार की 5 भाषाएं, देखें वीडियो:

दूसरों का भला करें (Do Good Things For Others)

Do Good Things For Othersकहते हैं कि जो लोग दूसरों के लिए गड्ढा खोदते हैं, एक दिन वो ख़ुद उसी गड्ढे में गिर जाते हैं. ठीक वैसे ही जो व्यक्ति दूसरों का भला करता है, उसका भला स्वयं भगवान करते हैं, इसलिए यदि आप चाहते हैं कि आपका भला हो, तो अब से दूसरों का भला करने की कोशिश करें.

जो बोएंगे, वही पाएंगे ये बात हम सदियों से सुनते आ रहे हैं, फिर भी न जाने क्यों? हम बबूल का पेड़ उगाकर उससे मीठा फल पाने की इच्छा रखते हैं. तो आइए, इस बार अपने मन-आंगन में भलाई के बीज बोने का प्रयास करते हैं, ताकि स्वादिष्ट फल का सुख भोग सकें.

सज्जन व्यक्ति करते हैं दूसरों का भला

तरुवर फल नहिं खात है, सरवर पियहि न पान।
कहि रहीम पर काज हित, संपति संचहि सुजान॥

संत रहीम दास जी कहते हैं कि पेड़ पर फलने वाले फल का सेवन स्वयं पेड़ नहीं करते और न ही नदी में बहता पानी ख़ुद नदी पीती है. ठीक उसी तरह जो संत पुरुष होते हैं, वो ख़ुद के लिए नहीं बल्कि दूसरों के हित के लिए धन संचय करते हैं. अतः अगर आप चाहते हैं कि आपकी गिनती भी सज्जन व्यक्ति में की जाए, तो दूसरों का हित करने की कोशिश करें.

दूसरों का भला करने से होता है ख़ुद का भला
यह बात सोलह आने सच है कि दूसरों का भला करने से ख़ुद का भला होता है. इस बात को परिभाषित करने के लिए प्रस्तुत है संत रहीम दास जी की निम्न पंक्ति,

वे रहीम नर धन्य हैं, पर उपकारी अंग।
बांटनवारे को लगै, ज्यौं मेहंदी को रंग॥

अर्थात जो व्यक्ति स्वयं अपने हाथों से दूसरों को मेहंदी बांटता है, उसके हाथ में ख़ुद-ब-ख़ुद मेंहदी का रंग चढ़ जाता है, ठीक इसी तरह जो नर दूसरों का भला करता है, उसका भी भला होता है.

ऐसे व्यक्ति किसी काम के नहीं…..

बड़ा हुआ तो क्या हुआ जैसे पेड़ खजूर।
पंथी को छाया नहीं फल लागे अति दूर॥

अपार धन-संपत्ति होने के बावजूद जो लोग कभी किसी की मदद नहीं करते और न ही दूसरों के हित के बारे में सोचते, ऐसे लोग बिल्कुल खजूर के उस पेड़ की तरह हैं, जो गगन चुंबी होते हुए भी न किसी को फल का सुख देता है और न ही राहगिरों को छाया दे पाता है.

यह भी पढ़ें: ख़ुद पर भरोसा रखें (Trust YourSelf)

[amazon_link asins=’0091906385,9351772071,9332537925,8186775587′ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’e5715a33-c6b9-11e7-b35b-9521db670c83′]

सुविचार- Inspirational Quotes

Inspirational Quotes

Inspirational Quotes

Inspirational Quotes

Inspirational Quotes

यह भी पढ़ें: Love Quotes- पहला पहला प्यार है…

Inspirational Quotes

रोचक और दिलचस्प शायरी के लिए यहां क्लिक करें: Shayeri

 

‘मिसाइल मैन’ कलाम साहब के जन्मदिन पर उनके टॉप 10 सुविचार (TOP 10 Quotes of Abdul Kalam on his Birth Anniversary)

26e7a06b53db08cb30bfb6af84aff787
‘मिसाइल मैन’ के नाम से प्रसिद्ध देश के पूर्व राष्ट्रपति और महान वैज्ञानिक डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम देश के युवाओं के लिए एक प्रेरणास्रोत हैं. सादा जीवन, उच्च विचार को अपनाकर उन्होंने ताउम्र सभी को मेहनत, लगन और आत्मविश्‍वास के साथ आगे बढ़ने का सशक्त संदेश दिया है. सभी के लिए आदर्श कलामजी का जन्म 15 अक्टूबर, 1931 को धनुषकोडी, रामेश्‍वरम, तमिलनाडु में हुआ था.  उनके जन्मदिन पर उन्हें याद करते हुए हम लेकर आए हैं, उनके टॉप 10 सुविचार. मेरी सहेली की तरफ़ से उन्हें कोटि-कोटि नमन!

 

  1. इससे पहले कि सपने सच हों, आपको सपने देखने होंगे.
  2. अगर आप सूर्य की तरह चमकना चाहते हैं, तो पहले आपको सूर्य की तरह जलना भी होगा.
  3. किसी को हरा देना बेहद आसान है, लेकिन किसी को जीतना बेहद मुश्किल.
  4. सफलता की कहानियां मत पढ़ो, उससे आपको केवल एक संदेेश मिलेगा. असफलता की कहानियां पढ़ो, उससे आपको सफल होने के आइडियाज़ मिलेंगे.
  5. आप अपना भविष्य नहीं बदल सकते, पर आप अपनी आदतें बदल सकते हैं और निश्‍चित रूप से आपकी आदतें आपका भविष्य
    बदल देंगी.
    -Kalam (new
  6. मेरे लिए स़िर्फ दो तरह के लोग होते हैं- जवान और अनुभवी लोग.
  7. काला रंग भावनात्मक रूप से बुरा होता है, लेकिन हर ब्लैक बोर्ड विद्यार्थियों का जीवन रौशन करता है.
  8. अपनी पहली सफलता के बाद विश्राम मत करो, क्योंकि अगर आप दूसरी बार असफल हो गए तो बहुत से होंठ यह कहने के इंतज़ार में होंगे कि आपकी पहली सफलता केवल एक तुक्का थी.
  9. जीवन में कठिनाइयां हमें बर्बाद करने नहीं आती हैं, बल्कि ये हमारे छुपे हुए सामर्थ्य और शक्तियों को बाहर निकालने में हमारी मदद करती हैं. कठिनाइयों को यह जान लेने दो कि आप उससे भी ज़्यादा कठिन हो.
  10. सभी लोगों में समान योग्यता नहीं होती, पर सभी लोगों को अपनी योग्यता को विकसित करने का समान अवसर ज़रूर मिलता है.

– अनीता सिंह