Tag Archives: movie

मशहूर फोटोग्राफर ने सलमान खान से कहा था भाग्यश्री को अचानक स्मूच कर लेना, क्या था दबंग का जवाब? (When Salman Khan Was Asked To Catch And Smooch Bhagyashree)

फिल्म मैंने प्यार किया ने उस ज़माने में कई रेकॉर्ड बनाए थे लेकिन जो सबसे प्यारी चीज़ इंडस्ट्री को फ़िल्म से मिली थी वो थी मासूम भाग्यश्री जैसी अदाकारा और सलमान खान का रोमांटिक अंदाज़.

फ़िल्म भले ही लव स्टोरी पे आधारित थी लेकिन थी एकदम क्लीन. फ़िल्म में सलमान और भाग्यश्री का कांच को बीच में रखकर किया हुआ किसिंग सीन भी बहुत पोपुलर हुआ था. वो नया अंदाज़ था प्यार का जो लोगों को बहुत भाया.

Salman Khan  Bhagyashree

हाल ही में भाग्यश्री ने उस दौर की एक ऐसी घटना का ज़िक्र किया जिससे लोग अनजान थे. दरअसल फ़िल्म में दोनों की जोड़ी को खूब पसंद किया गया था और इस वजह से उन्हें फोटोशूट के ऑफर्स भी खूब आने लगे. एक ऐसे ही शूट के दौरान उस समय के मशहूर फोटोग्राफर (जो अब जीवित नहीं हैं) ने सलमान से कहा था कि वो शूट के दौरान अचानक भाग्यश्री को पकड़कर स्मूच करें. क्योंकि वो चाहते थे ये शूट हॉट हो और सलमान व उनकी हॉट पिक्स फोटोग्राफर ले सके.

Salman Khan Was Asked To Catch And Smooch Bhagyashree

भाग्यश्री उनकी बातों को सुन रही थीं क्योंकि वो नज़दीक ही खड़ी थीं लेकिन इसकी जानकारी दोनों को नहीं थी. वो फोटोग्राफर की बात से डर गईं लेकिन जब उन्होंने सलमान का जवाब सुना तो उनकी जान में जान आई.

Salman Khan  Bhagyashree

सलमान ने कहा कि वो ऐसा कुछ नहीं करनेवाले और अगर फोटोग्राफर ऐसा कोई पोज़ चाहता है तो उसे भाग्यश्री से बात करनी होगी. क्योंकि भाग्यश्री की मर्ज़ी के बिना वो ऐसा कुछ नहीं करेंगे.

भाग्यश्री ने खुलासा किया कि उस समय हम न्यू कमर थे और लोगों को लगता था कि वो हमसे जैसा चाहें वैसा बर्ताव कर सकते हैं लेकिन सलमान की बात सुन मुझे लगा कि मैं सुरक्षित माहौल में काम कर रही हूं. सलमान के लिए दिल में बेहद सम्मान है.

#ट्रेलर गुलाबो सिताबो: अमिताभ बच्चन और आयुष्मान खुराना की मज़ेदार नोक-झोंक… (#TrailerGulaboSitabo: Amitabh Bachchan And Ayushman Khurana’s Interesting Fights Will Be Seen In ‘Gulabo Sitabo’…)

आज अमिताभ बच्चन और आयुष्मान खुराना की चर्चित फिल्म गुलाबो सिताबो का ट्रेलर रिलीज हुआ. वाक़ई में दोनों की नोक-झोंक और लड़ाई मज़ेदार है. जो हंसाती भी है और गुदगुदाती भी है.
इस फिल्म में अमिताभ बच्चन एक बुज़ुर्ग मुस्लिम मकान मालिक का किरदार निभा रहे हैं. उनकी लखनऊ में एक बड़ी पुरानी हवेली है. इसी में आयुष्मान किराएदार हैं. मकान मालिक जो अपने किराएदार के अक्सर पीछे पड़ा रहता है कि वो उनका घर छोड़ दे. इसके लिए वे ना जाने कितने तिकड़म लड़ाते है. लड़ाई-झगड़ा, कोर्ट-कचहरी सब कुछ होता है, पर दोनों पार्टी झुकने को नहीं तैयार.
अमिताभ बच्चन तो बेहद उम्दा लगे हैं बूढ़े सनकी मकान मालिक के रूप में. आयुष्मान खुराना ने जलेबी की तरह एक सीधे किराएदार के रूप में प्रभावशाली अभिनय किया है.
इसके ट्रेलर लॉन्च के पहले अमिताभ बच्चन, आयुष्मान खुराना और फिल्म के निर्देशक शूजीत सरकार, इन तीनों के बीच वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा बात हुई कि फिल्म को कैसे प्रमोट किया जाए. इसमें अमिताभ बच्चन और आयुष्मान खुराना की नोक-झोंक दिलचस्प थी. जैसा कि फिल्म की तरह यहां भी दो पीढ़ी का अंतर देखने को मिलता है. अमितजी का कहना कि इस तरह से शुरू किया जाए, तो आयुष्मान टोकते रहते हैं कि इस अंदाज़ में पेश किया जाए, तो कैसे लगेगा. ख़ासकर जब वह शुरुआत करते हैं ‘देवियों सज्जनो…’ से तो आयुष्मान कहते हैं कि ऐसा लग रहा है कि कौन बनेगा करोड़पति शो शुरू होनेवाला है. हमें गुलाबो और सिताबो फिल्म का प्रमोशन का अनाउंसमेंट करना है, तो उसे उसे अलग तरह से करना चाहिए. फिर अमिताभ आयुष्मान को कहते हैं कि वो ही कहे. दोनों पहले आप पहले आप… करते रहते हैं. तब अमिताभ चुटकी लेते हैं कि जैसे लखनऊ के दो नवाबों की गाड़ी पहले आप पहले आप में छूट जाती है, तो वैसे ही वक़्त ना निकल जाए. तीनों की बातचीत बढ़िया थी. कल से ही यह वीडियो काफ़ी वायरल हो गया था, जिसे लोगों ने ख़ूब पसंद किया.
गुलाबों सिताबो की कहानी लखनऊ के शहर की है. जहां अमिताभ बच्चन की अपनी ख़ुद की हवेली है, वहां पर आयुष्मान किराएदार के रूप में रहने के लिए आते हैं. इसमें बकरियों की भी बहुत ही मज़ेदार भूमिका रही है, जिसमें एक हजरतगंज की है, तो दूसरी अमीनाबाद की.
इसके अभी तक जो भी पोस्टर, टीजर आए हैं सभी ने ख़ूब मज़े लिए है. अब ट्रेलर देखकर फिल्म का बेसब्री से इंतज़ार है. पहली बार अमिताभ बच्चन की कोई फिल्म ओटीटी पर रिलीज होने जा रही है. डिजिटल प्लेटफॉर्म पर यह फिल्म अमेजॉन प्राइम वीडियो पर 12 जून को रिलीज होगी. इसकी कहानी जूही चतुर्वेदी ने लिखी है. फ़िलहाल गुलाबो सिताबो के ट्रेलर का आनंद लीजिए.

Amitabh Bachchan And Ayushman Khurana Gulabo Sitabo

फिल्म समीक्षा: लव आज कल… आख़िर कब तक… (Movie Review: Love Aaj Kal)

प्यार पर इम्तियाज़ अली अपनी फिल्मों में काफ़ी प्रयोग करते रहे हैं. कभी यह कामयाब होती है, तो कभी उलझा कर रख देती है. कार्तिक आर्यन और सारा अली ख़ान अभिनीत उनकी लव आज कल फिल्म यूं तो पहले से ही बेहद चर्चा में रही, पर रिलीज़ होने के बाद और अधिक बातें होने लगी हैं. किसी ने इसे ख़ूबसूरत कहा, तो किसी ने ख़ास नहीं.

Love Aaj Kal Reviews

कार्तिक आर्यन फिल्म में दोहरी भूमिका में है. अपने अभिनय से वे पहले से ही सभी को प्रभावित करते रहे हैं. इस बार भी उन्होंने बाज़ी मार ली है. सारा के साथ उनकी जोड़ी आकर्षक लगती है. इस नए लव बर्ड्स को उनके फैन्स का प्यार भी ख़ूब मिल रहा है.

वीर (कार्तिक आर्यन) जूही (सारा अली) को प्यार करता है. लेकिन सारा अपने करियर को लेकर अधिक गंभीर है. वह दिल्ली के एक कैफे में बैठकर अक्सर ऑनलाइन जॉब के लिए कोशिश करती रहती है. वही उसकी मुलाक़ात रघु यानी रणदीप हुड्डा से होती है. इसी कैफे में वीर-जूही की दोस्ती भी परवाना चढ़ती है. रघु दोनों की जोड़ी को पसंद करता है.

रघु जूही को अपने स्कूल के दिनों की बातें व प्रेम के बारे में बताता है. फ्लैश बैक में उदयपुर के ख़ूबसूरत नज़ारे देखने को मिलते हैं. जहां पर रघु टीनएज की भूमिका में कार्तिक आर्यन अपनी साथ पढ़नेवाली लीना से प्रेम करता है. लीना की भूमिका में आरुषी शर्मा की यह पहली फिल्म है, पर उन्होंने सहजता से सशक्त अभिनय किया है. रघु-लीना का प्यार, नोक-झोंक, परिवार का विरोध, दोनों का बगावत… इन सब के बीच फिल्म आगे बढ़ती रहती है. लीना के माता-पिता रघु से पीछा छुड़ाने के लिए उसे दिल्ली भेज देते हैं. रघु भी दिल्ली पहुंच जाता है.

एक तरफ़ रघु-लीना की प्रेम कहानी फ्लैश बैक में चलती रहती है. साल 1990 का दौर चलता रहता है, वहीं दूसरी तरफ़ वीर-जूही की दोस्ती-प्यार धूप-छांव के खेल खेलती रहती है. इम्तियाज़ की ख़ासियत रही है कि अपनी फिल्म को वे सीधे-सरल तरी़के से नहीं दिखाते. उनकी फिल्मों में उतार-चढ़ाव, कल-आज की आंख-मिचौली ख़ूब चलती रहती है. कई बार इसी कारण से दर्शक असमंजस में पड़ जाते हैं. कुछ दर्शकों को उनका यह प्रयोग लुभाता है, तो कुछ का यह सोचना रहता है कि मनोरंजन के लिए आए हैं या माथापच्ची करने. यही पर आकर इम्तियाज़ की लव केमेस्ट्री गड़बड़ा जाती है. एक बात है कि जब वी मैट की अपार सफलता को वे कभी भी दोहरा नहीं पाए. वजह क्या रही, सोच से बाहर है. जैसे सोचा ना था, जो उनकी पहली फिल्म थी कि सादगी व प्रभाव को भी वे दोबारा कभी दोहरा नहीं पाए.

साल 2009 में सैफ अली ख़ान और दीपिका पादुकोण को लेकर इसी नाम से इम्तियाज़ अली ने फिल्म बनाई थी, जो बेहद सफल रही थी. अब सैफ की बेटी सारा को लेकर उनका एक्सपेरिमेंट कितना सफल रहा, वो लोगों की प्रतिक्रियाओं से ही पता चल गया, जो मिलीजुला रहा.

सारा अली ख़ान और कार्तिक आर्यन ने लाजवाब अभिनय तो किया ही है, पर आरुषी शर्मा अकेले ही दोनों को ज़बर्दस्त टक्कर देती हैं. बहुत दिनों बाद रणदीप हुड्डा को अलग क़िरदार में देखना अच्छा लगता है. प्रीतम का म्यूज़िक औसत है. गाने ठीक हैं. हां, अमित रॉय की सिनेमाटोग्राफी प्रभावित करती है. निर्माता दिनेश विजान ने तो ज़रूर कोशिश की होगी फिल्म अच्छी बनें, लेकिन रिलीज़ के बाद निर्णय तो दर्शकों के हाथ में रहता है.

प्रेम कहानी पसंद करनेवाले और सारा-कार्तिक के प्रशंसक फिल्म को ज़रूर पसंद करेंगे, इसमें कोई शक नहीं है. अब यह कितना अधिक सफल रहती है, यह तो कुछ हफ़्तों में ही जान पाएंगे. फ़िलहाल आज वैलेंटाइन डे को सार्थक करने के लिए अपनों व प्यार करनेवालों के साथ फिल्म देखा जा सकता.

यह भी पढ़ेसुष्मिता सेन ने प्रेमी व बेटियों के साथ एंजॉय किया वैलेंटाइन डे… (Sushmita Sen Enjoyed Valentine’s Day With Boyfriend And Daughters…)

“तुम्हारे घर पर तुम्हारा हक़ नहीं… तुम्हारे वतन पर तुम्हारा हक़ नहीं…” रील व रियल लाइफ में कश्मीर पंडितों के दर्द को बख़ूबी दर्शाता है शिकारा फिल्म… (“You Don’t Have The Right To Your Home… Not Your Right To Your Country…” Shikara Film Shows The Pain Of Kashmir Pandits In Reel And Real Life)

कश्मीरी पंडितों के दर्द को इतनी स्पष्टता व साफ़गोई से शायद ही किसी ने पहले कभी फिल्मी पर्दे पर दिखाया हो. जी हां, हम बात कर रहे हैं विधु विनोद चोपड़ा की फिल्म शिकारा की. इस फिल्म का दूसरा ट्रेलर ग़मगीन करने के साथ-साथ आक्रोश से भी भर देता है.

Shikara Film

आज़ाद देश के ग़ुलाम सी स्थिति हो जाती है, जब आतंक का तांडव मचा रहे आतंकवादी नायक कश्मीरी पंडित से भिड़ते हैं. उस समय की स्थिति और दर्द को बख़ूबी समझा जा सकता है. इसे देखकर ही इस बात की तसल्ली होती है कि बेहतर हुआ कि कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटा दिया गया.

शिकारा ने एक नई उम्मीद की किरण दिखाई है कश्मीरी पंडितों को, जो तीस साल से अपने ही घर में न रहे पाने के दर्द को झेल रहे हैं. जब फिल्म की पहली ट्रेलर रिलीज़ हुई थी, तब लोगों ने इसे ़ख़ूब सराहा था. सभी ने फिल्म के प्रस्तुतिकरण की जमकर तारीफ़ की थी. विधु चोपड़ाजी ने भी एक बार लीक से हटकर कुछ अलग देने की कोशिश की, जिसमें वे कामयाब भी रहे. शिकारा यूं तो सात फरवरी को रिलीज़ होनेवाली है, पर इसके ट्रेलर्स को देख बेसब्री सी हो गई है. उस दौर से लेकर अब तक कश्मीर पंडित के प्रेम, दर्द, संघर्ष, आपबीती को जानने-समझने की. आप भी देखें इसका ट्रेलर और क़रीब से महसूस करें अपनों के दर्द को जब यह कहने पर मजबूर किए जाते हैं कि यह घर तुम्हार नहीं है… यह वतन तुम्हारा नहीं है…

 

वैसे जिस तरह से भारत में फिल्मी हस्तियां कश्मीर से लेकर शाहीन बाग में हो रहे सीएए पर अपने विरोध को समर्थन दे रही है, वो भी मन को व्यथित कर देती है. आख़िरकार फिल्मों से जुड़ी ये शख़्सियत क्या साबित करना चाहती हैं, देशप्रेम या देश के विकास को लेकर नफ़रत. उनकी सोच का दायरा कहां तक विकृत है. कहीं-न-कहीं वे अपने पैरेंट्स के साथ-साथ अपने देश व भारतमाता के अपमान के सहभागी नहीं बन रहे. उन सभी को एक बार सोचना होगा, अपने माता-पिता के बारे में, जिन्होंने उन्हें पैदा किया, अपनों के बारे में और सबसे सर्वप्रिय देश के बारे में. आज़ादी का मतलब यह कतई नहीं है कि आप हर बात में विरोध प्रकट करें, वो भी अनैतिक व हल्के शब्दों में. इससे दूसरे क्या सोचते हैं, यह और बात है, पर इससे कहीं-न-कहीं आपके अभिभावकों के संस्कार भी प्रतिबिंबित होते हैं. कम-से-कम उन्हें तो शर्मिंदा न करें.

Shikara FilmShikara Film

 

शिकारा फिल्म में कई स्थानीय नए कलाकार भी देखने को मिलेंगे. साल 1989 से शुरू हुई निर्वासन की दास्तान आज तीस साल बाद भी न जाने कितने दर्द को संजोए हुए है. तब की स्थिति कितनी भयावह थी, जब आतंकवादियों ने कश्मीरी पंडितों को उनके घर छोड़कर चले जाने का फतवा जारी कर दिया था. स्थिति ऐसी थी कि चार लाख कश्मीरी पंडित शरणार्थियों की तरह रह रहे थे. अपना वतन, घर सब कुछ होने के बावजूद बंजारों सी स्थिति. उ़फ्! कितना कुछ सहा, देखा और झेला होगा उन्होंने.

इसी दर्द को समय-समय पर अनुपम खेर भी अपनी बातों व वीडियो से बताते रहे हैं.

हम घर वापस आएंगे… भी ख़ूब ट्रेंड हुआ था, जब दुनियाभर में रह रहे कश्मीरी पंडितों ने वीडियो के ज़रिए आव्हान किया था कि वे अपने वतन… अपने घर… अपने कश्मीर वापस आएंगे..

बैकग्राउंड में पंडित के दर्द को बयां करते अल्फ़ाज़ भी भावविभोर कर देते हैं- ऐ वादी शहज़ादी, बोलो कैसी हो? हर पल तेरी याद सताती रहती है, आती-जाती हर एक सांस ये कहती है, एक दिन तुमसे वापस मिलने आऊंगा, क्या है दिल में सब कुछ तुम्हें बताऊंगा, कुछ बरसों से टूट गया हूं, खंडित हूं, वादी तेरा बेटा हूं, पंडित हूं…

 

अब व़क्त आ गया है सभी के घर वापस आने का. विधुजी को धन्यवाद, जो सही समय में एक सार्थक फिल्म लेकर आ रहे हैं. विरोध व नफ़रत से दिलों को नहीं जीता जा सकता, बस आपसी भाईचारे व प्यार से ही हमारे देश की अनेकता में एकता की जो तस्वीर है, उसे और भी मज़बूत व ख़ूबसूरत बनाया जा सकता है. शिकारा फिल्म एक उदाहरण है उन विषयों का जिन पर बहुत कम ही बात होती है, तो कहने कम, अब देखने व सुनने का व़क्त आ गया है, भले ही शिकारा के ही ज़रिए क्यों ना!…

यह भी पढ़ेतैमूर की परवरिश सारा व इब्राहिम से अलगः सैफ अली खान (Saif Ali Khan On Raising Taimur Ali Khan Differently Than Sara Ali Khan And Ibrahim)

फिल्म समीक्षा: ब्लॉकबस्टर स्ट्रीट डांसर (Film Review: Blockbuster Street Dancer 3 D)

कुछ फिल्में ऐसी होती हैं, जिनका ख़ास वर्ग होता है, उसी में से एक है स्ट्रीट डांसर 3 डी फिल्म. डांस-म्यूज़िक के शौकिन और इसके प्रति जुनून रखनेवाले लोग वरुण धवन, श्रद्धा कपूर, नोरा फतेही, प्रभु देवा के साथ-साथ अन्य कलाकारों के डांस स्टेप्स देख, वाह.. कहे बिना नहीं रह सकेंगे. निर्देशक रेमो डिसोजा ने एक बार फिर डांस में कमाल कर दिखाया है. उनकी इसके पहले की एबीसीडी 1 और 2 दोनों ही ख़ूब पसंद की गई थी.

Street Dance 3D

वरुण धवन के डांस का तूफ़ान देखते ही बनता है. उस पर नोरा फतेही के डांस की गर्मी ने तो पहले से ही लोगों पर नशा कर रखा है. और हमारे इंडियन माइकल जैक्सन प्रभु देवा भी पूरे रंग में रंगे दिखाई दिए. श्रद्धा कपूर की अदाएं, नखरे, नृत्य व बदमाशियां लुभाती हैं. सजह यानी वरुण धवन भारत से लंदन आते हैं, डांस में नाम कमाने के लिए. भाई पुनीत के घायल होने और डांस कॉम्प्टीशन हारने पर उनकी ख़ातिर ट्रॉफी जीतने के लिए नए सिरे से संघर्ष शुरू कर देते हैं. श्रद्धा कपूर, भी डांस के हुनर दिखाने के लिए बेताब हैं. वरुण-श्रद्धा दोनों की नोक-झोंक व पंगे होते रहते हैं, ख़ासकर अपनी-अपनी टीम के क्रिकेट मैच को लेकर, क्योंकि श्रद्धा पाकिस्तान से हैं. कितने ही दिलचस्प मोड़ से गुज़रती है फिल्म और हर बार डांस के नए जलवे.. सिनेमा हॉल में अलग ही समां बांध देते हैं.

तनिष्क बागची, सचिन-जिगर, बादशाह के संगीत का जादू फिल्म की जान है. म्यूज़िक ही तो है, जो हर पल थिरकने को मजबूर कर देती है. नेहा कक्कड़ व बादशाह का गाना गर्मी… तो पहले ही हंगामा मचा चुका है. इस गाने को कलाकारों ने भी सोशल मीडिया पर अलग-अलग तरी़के से ख़ूब प्रमोट भी किया, जिसे यूज़र्स ने बेहद पसंद किया. इनके अलावा यश नर्वेकर, सचेत परंपरा, गैरी संधू, जैस्मीन सैंडलस के आवाज़ का नशा डांस विद सांग को परफेक्ट मैच करता है. प्रभु देवा के मुक़ाबला गाने का रिक्रिएशन स्ट्रीट डांसर का ख़ास आकर्षण है. इसमें सभी छोटे-बड़े आर्टिस्ट के डांस के स्टेप्स लाजवाब हैं.

Street Dance 3D

इन दिनों भूषण कुमार कई बेहतरीन फिल्मों को निर्मित करते जा रहे हैं. इसमें कृष्णा कुमार और दिव्या खोसला भी उनका बख़ूबी साथ निभा रहे हैं. रेमो डिसूजा की टीम के कोरियोग्राफर धर्मेश येलांडे, पुनीत पाठक, सलमान युसुफ ख़ान व राघव जुयाल के बिना फिल्म की कल्पना ही नहीं की जा सकती. इन चारों ने भी अपने अभिनय-नृत्य से फिल्म में डांस के जोश व दीवानगी को बरक़रार रखा है. डांस बेस फिल्मों में रेमो डिसूजा का कोई विकल्प नहीं, ये उन्होंने इस पर आधारित अपनी तीनों ही फिल्मों में साबित कर दिखाया है. डांस दीवानों के लिए स्ट्रीट डांसर बहुत कुछ सिखाता व मनोरंजन भी करता है. तो चलिए, नृत्य-संगीत की दुनिया में धूम मचाते कलाकारों को देखने का लुत्फ़ उठाएं और वीकेंड को यादगार बनाएं.

Street Dance 3D

View this post on Instagram

#Streetdancer3d in time square @spotifyindia 🙏

A post shared by Varun Dhawan (@varundvn) on

यह भी पढ़ेफिल्म रिव्यूः पंगा ( Movie Review Of Panga)

कंगना रनौत- विराट कोहली और मैं साथ पंगे लेंगे… (Kangana Ranaut – Virat Kohli And I Will Be Take Panga Together…)

पंगा क्वीन कंगना रनौत न किसी से डरती हैं और न ही अपनी बात कहने से पीछे हटती हैं. यदि क्रिकेट टीम के सबसे बड़े पंगेबाज़ की बात करें, तो उनके अनुसार, वे विराट कोहली हैं. वे न ही किसी से डरते हैं और देश को जीत दिलाने के लिए किभी तरह का पंगा लेने से नहीं कतराते. इस शुक्रवार को कंगना की फिल्म पंगा रिलीज होगी, जिस पर वे कहती हैं कि जहां मैं थिएटर में पंगा लूंगी, वहीं विराट कोहली न्यूज़ीलैंड में उनके घर में घुसकर ही खिलाड़ियों के साथ मैच जीतने का पंगा लेंगे. विराट बिल्कुल मेरी तरह हैं. किसी भी बात से नहीं घबराते, जो सही है, वहीं करते हैं…

Kangana Ranaut and Virat Kohli

सच ही कहा है विराट के बारे में कंगना ने. वैसे कंगना भी किसी से भी पंगा लेने से नहीं हिचकिचाती, फिर चाहे वो दीपिका पादुकोण हो, सैफ अली ख़ान या फिर कोई और. दीपिका के जेएनयू के विरोध प्रदर्शन में शामिल होने पर भी उन्होंने बेबाक़ी से कहा कि वे टुकड़े गैंग के साथ नहीं हैं. साथ ही दीपिका द्वारा छपाक लुक चैलेंज पर भी वे जमकर बरसी थीं. उनके अनुसार, इस तरह की चुनौती देकर दीपिका ने एसिड अटैक पीड़ित लोगों का अपमान ही किया है. उन्हें इतनी सस्ती पब्लिसिटी स्टंट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. अपने इस चैलेंज के लिए दीपिका ट्रोल भी ख़ूब हुई थीं.

Kangana RanautKangana Ranaut

View this post on Instagram

Kangana Ranaut debunks Saif's No India before British, asks "if No bharat, Then what was Mahabharata"? During 'Panga' promotions Kangana put her point of view over Saif Ali Khan’s 'No concept of India before British came in' statement. In an interview, during film panga promotions Kangana stated, ‘If there was no 'Bharat' then what was 'Mahabharat'' What did Ved Vyasa write then’. Kangana continued, "A few people have made their narratives that suit them but Lord Krishna was in Mahabharat, and that means Bharat was there at that time too. All the great kings of 'Bharat' fought the battle then. There was a collective identity even then called 'Bharat'." She further continues, "Now they say, that the territories should be different and should be split. But the division in three that happened then, people are still suffering from that.’ Video Courtesy: @zeenews #KanganaRanaut #SaifAliKhan

A post shared by Kangana Ranaut (@team_kangana_ranaut) on

सैफ अली ख़ान के भारत के अस्तित्व पर सवाल उठाने और इतिहास के साथ छेड़छाड़ करनेवाले बयान पर उन्होंने सैफ को लताड़ा. उनके अल्पज्ञान पर भी तंज कसा. रामायाण से लेकर महाभारत तक का ज़िक्र किया, जो हज़ारों वर्षों पुराने महाकाव्य हैं. सच, आख़िर अधिकतर सितारे इतने कम अक्ल क्यों होते हैं?

Kangana RanatKangana Ranat

वैसे धमाकेदार ख़बर तो यह भी है कि शायद कंगना राजनीति में भी आएं. रवि किशन से हुई बातचीत के बाद उन्होंने इस तरह का संकेत दिया है. वैसे भी थलाइवी फिल्म, जो अभिनेत्री व राजनीतिज्ञ जयललिता पर आधारित है, में वे उनका क़िरदार निभा रही हैं. ऐसे में यदि भविष्य में वे पॉलिटिक्स जॉइन करती हैं, तो कोई आश्‍चर्य की बात नहीं होगी. फ़िलहाल वे अपनी पंगा फिल्म द्वारा कबड्डी खेल में पंगे लेंगी. यह फिल्म एक ऐसी महिला कबड्डी खिलाड़ी पर है, जो शादी व बच्चे होने के बाद कबड्डी खेलना छोड़ देती है. लेकिन परिवार व सभी के द्वारा प्रोत्साहित करने पर दोबारा खेल में पंगा लेने के लिए कबड्डी से जुड़ती है. फिल्म से जुड़े प्रोमो, ट्रेलर, पोस्टर्स सब कुछ मज़ेदार रहा है अब तक. ख़ासकर कंगना के बेटे द्वारा उनकी हौसलाअफ़जाई करना, बहुत ही सुंदर व दिल को लुभाता है. अश्‍विनी अय्यर तिवारी द्वारा निर्देशित पंगा में कंगना के अलावा नीना गुप्ता, जस्सी गिल, रिचा चढ्डा भी ख़ास भूमिकाओं में है.

Street DancerKangana Ranat

कंगना रनौत के आए दिन पंगे लेते रहने की फ़ितरत के कारण फिल्म इंडस्ट्री भी बंटी हुई रहती है. लेकिन कंगना की सेहत पर इससे कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता. उनका तो बस एक ही फंडा है कि भई हम तो पंगे लेंगे, सितारे चाहे जो भी हो. अब उनकी पंगा फिल्म जो स्ट्रीट डांसर 3 डी फिल्म के साथ टकराएगी, कितनी सफल और चुनौतीपूर्ण बन पाती है, यह तो परसों ही पता चल जाएगा. फ़िलहाल दोनों ही फिल्मों व भारतीय क्रिकेट टीम को ऑल द बेस्ट!..

यह भी पढ़ेOMG: अक्षय कुमार ने बढ़ाई अपनी फीस, अब एक फिल्म के लिए लेंगे इतने करोड़ (Akshay Kumar Hikes His Fee Again)

ट्रेलर: कुछ ज़्यादा ही सावधान करती है ‘शुभ मंगल ज़्यादा सावधान’ फिल्म.. (Shubh Mangal Jyada Saavdhan Trailer: Film Makes People More Careful..)

सावधानी हटी, दुर्घटना घटी… कहा जाता है, पर कुछ सावधानियां ऐसी भी होती हैं कि परेशान भी करती हैं, गुदगुदाती भी हैं, जैसा कि शुभ मंगल ज़्यादा सावधान के साथ हो रहा है. आयुष्मान खुराना और जितेंद्र कुमार की जुगलबंदी इस फिल्म को और भी मज़ेदार और हास्य से भरपूर बना देती है ट्रेलर देखकर तो ऐसा ही लग रहा है.

Shubh Mangal Jyada Saavdhan Trailer

इसमें बधाई हो कि हिट जोड़ी नीना गुप्ता व गजराज राव भी दिलचस्प भूमिकाओं में नज़र आएंगे. वहीं भूमि पेडनेकर का केमियो रोल फिल्म का ख़ास आकर्षण है.

इसे ये नहीं… गे कहते हैं… जब मैंने पहली बार उसे देखा तो मेरी बड़ी हो गई थी पुतलियां,.. मैं मदर इंडिया बनूंगी… कुछ सरल, तो कुछ द्विअर्थी संवाद फिल्म को और भी मज़ेदार बना देते हैं. हमेशा की तरह आयुष्मान खुराना अपनी छाप छोड़ जाते हैं और उनका भरपूर साथ देते हैं जितेंद्र कुमार. नीना व गजराज भी ख़ूब जमे हैं. उन दोनों की इस रिश्ते को लेकर क्रियाएं-प्रतिक्रियाएं ग़ज़ब के हैं. दोनों जितेंद्र के अभिभावक बने हैं. आयुष्मान का बोल्ड अंदाज़, उनका व जितेंद्र का लिप लॉक कहानी को एक नया मोड़ देने लगता है. सभी कलाकारों ने फिल्म को मनोरंजन बनाने में कोई कोर कसर बाकी नहीं रखी है.

शुभ मंगल सावधान फिल्म का सीक्वल है शुभ मंगल ज़्यादा सावधान. उसमें जहां पुरुषों के इरेक्शन जैसे अछूते विषय को गहराई से समझाया गया था. वहीं इसमें होमोसेक्सुअल रिलेशन को हाइलाइट किया गया है. वैसे बकौल आयुष्मान खुराना के यह पूरी तरह से पारिवारिक फिल्म है, जिसे आप सभी के साथ देख सकते हैं. अक्सर इस तरह के विषयों पर कम बात होती है और समाज का दृष्टिकोण भी अलग रहता है. ऐसे में इस फिल्म का आना और उस पर कलाकारों का दावा करना कि यह थोड़ी अलग है और सभी को ज़रूर पसंद आएगी, क्योंकि इसमें एक सार्थक संदेश देने की भी कोशिश की गई है, इसके प्रति उत्सुकता बढ़ा देता है.

आज फिल्म के ट्रेलर के साथ-साथ इसके कई दिलचस्प पोस्टर्स भी देखने को मिले, जो फिल्म की कहानी को मनोरंजक ढंग से से बयां करते हैं, उस पर आयुष्मान का अंदाज़ कि- कार्तिक का प्यार हो कर रहेगा अमन!.. वे शादी के स्टेज पर जितेंद्र के साथ मस्तीभरे स्टाइल में हैं और जितेंद्र उन्हें प्यार से निहार रहे हैं. जबकि परिवार चिंता, ग़ुस्से, आक्रोश के मिलेजुले अंदाज़ में दोनों को आग्नेय नेत्रों से देख रहा है.

दूसरी तस्वीर भी कुछ कम रोचक नहीं है. इसमें दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे फिल्म के क्लाइमेक्स के सीन को रिक्रिएशन किया गया दिख रहा है. जहां आयुष्मान बैग लिए ट्रेन के दरवाज़े पर हाथ बढ़ाते हुए जितेंद्र को थामने की कोशिश कर रहे हैं, वहीं जितेंद्र कुमार ट्रेन के साथ भाग रहे हैं, उनके पीछे-पीछे उनका परिवार भी दौड़ रहा है. उ़फ् यह लव स्टोरी क्या गुल खिलाएगी, यह तो ऊपरवाला ही जानें.

तीसरी फोटो तो माशाअल्लाह अफ़लातून है. इसमें आयुष्मान घोड़ी पर सवार जितेंद्र को थामे हुए हैं और जितेंद्र के पैरेंट्स नीना गुप्ता व गजराज राव मानों दर्शकों से पूछ रहे हैं कि आख़िर इन दोनों का क्या करें. उस पर स्लोगन भी लाजवाब है कि जीतेगा प्यार सह-परिवार.. अब भाई यह क्या टोटका है, यह तो फिल्ममेकर ही जाने.

 

फिल्म के निर्माता आनंद एल. राय व भूषण कुमार के साथ-साथ निर्देशक हितेश केवालिया का भी मानना है कि उन्होंने इस संवेदनशील विषय को अलग ट्रीटमेंट दिया है. उनके अनुसार, हंसी-मज़ाक व मनोरंजन के साथ एक उद्देश्यपूर्ण बात भी कहती है फिल्म.

वैसे भी पिछले कुछ समय से आयुष्मान खुराना कई ऐसे विषयों पर फिल्म कर रहे हैं, जो भरपूर मसाला व हास्य के साथ-साथ समाज में फैले ग़लत बातों को भी उजागर करती है, जैसे- ड्रीम गर्ल, बाला आदि. यह फिल्म फरवरी में 21 तारीख़ को रिलीज़ होनेवाली है. समलैंगिकता पर आधारित शुभ मंगल ज़्यादा सावधान लोगों को कितना सावधान करेगी, यह तो फिल्म देखने के बाद ही जान पाएंगे. फ़िलहाल फिल्म के ट्रेलर का आनंद लीजिए…

 

 

यह भी पढ़ेदिशा पटानी से ज़्यादा खूबसूरत हैं उनकी बहन खुशबू, देखें उनका वायरल फिटनेस वीडियो (Khushboo Patani Viral Fitness Video)

‘छपाक’ फिल्म को लेकर दीपिका पादुकोण का दिलचस्प अंदाज़. (Deepika Padukone’s Interesing Idea About Film ‘Chhapaak’)

एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी पर आधारित मेघना गुलज़ार की छपाक (Chhapaak) फिल्म का ट्रेलर (Trailer) कल आनेवाला है, लेकिन इसमें मुख्य क़िरदार निभा रही दीपिका पादुकोण ने इसके बारे में दिलचस्प अंदाज़ में कुछ तस्वीरें व वीडियो शेयर की हैं, जो पूरी तरह से काली यानी ब्लैक हैं, जिसमें कुछ भी नहीं है.

Chhapaak

साथ में उनका यह कहना- एक पल सब कुछ ले गया… कल समय निकालकर इसका ट्रेलर ज़रूर देखें… ने सभी के दिलों में उत्सुकता पैदा कर दी है.

 

दीपिका पादुकोण हमेशा ही अर्थपूर्ण फिल्में करने के लिए जानी जाती हैं, फिर चाहे वो पद्मावत हो या फिर पिकू… लेकिन छपाक में दीपिका के लुक और इससे जुड़ी ख़बरों के कारण दर्शकों के मन में इसे लेकर हमेशा से ही उत्सुकता बनी रहती है. आज शेयर किए गए फोटोज़ व वीडियो से दीपिका ने हर किसी को बेसब्र कर दिया है. अब लोगों व फिल्म इंडस्ट्री में किस तरह की प्रतिक्रिया होगी, यह तो आनेवाला कल में ही पता चल पाएगा.

एसिड अटैक सर्वाइवर पर बेस छपाक फिल्म अगले साल दस जनवरी को रिलीज़ होनेवाली है. वैसे इसकी निर्देशक मेघना गुलज़ार शुरू से ही लीक से हटकर फिल्में बनाने के लिए मशहूर रही हैं. फिर चाहे उनकी पहली फिल्म फ़िलहाल हो, तलवार या राज़ी… वैसे दीपिका पादुकोण छपाक के अलावा रणवीर सिंह के साथ फिल्म 83 में भी नज़र आएंगी. इसमें वे फिल्म में भी रणवीर की पत्नी का क़िरदार निभा रही हैं.

यह भी पढ़ेHBD दीया मिर्ज़ाः जानिए दीया के बारे में कुछ अनकही बातें ( Happy Birthday Dia Mirza)

हैलोवीन 2019: दबंग बनीं प्रिटी ज़िंटा… (Halloween 2019: Dabangg Preity Zinta…)

इन दिनों प्रिटी ज़िंटा अक्सर ही अपनी ख़ूबसूरत तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर करती रहती हैं. कभी दिवाली पार्टिज़ कीं,  तो कभी दोस्तों के साथ मौज-मस्ती करते हुए. आज उन्होंने हैलोवीन डे के मौ़के पर अपनी कई दिलचस्प तस्वीरें शेयर कीं. उन्होंने तस्वीरों के साथ मज़ेदार बातें भी लिखीं.

Dabangg Preity Zinta

उनके अनुसार, हैलोवीन के दिन वे उत्तर प्रदेश के किसी ख़ास शख़्स से मिलीं. फिर उन्होंने एक तस्वीर में पुलिस की वर्दी में दबंग फिल्म के चुलबुल पांडे यानी सलमान ख़ान के स्टाइल में पीठ पर गॉगल को उल्टा लटकाते हुए दिखीं, तो दूसरी तस्वीर में सलमान ख़ान के साथ रोमांटिक अंदाज़ में क़ातिल अदाएं बिखेरतीं, साथ में सलमान भी मंद-मंद मुस्कुरा रहे हैं.

तस्वीरों से अनुमान लगाया जा सकता है कि दबंग 3 में प्रिटी ज़िंटा भी किसी ख़ास क़िरदार में हैं या फिर कोई कैमियो की भूमिका निभा रही हैं.

Dabangg Preity Zinta

सलमान ख़ान की दबंग 3 बीस दिसंबर को रिलीज़ हो रही है. लोगों को इसका ट्रेलर काफ़ी पसंद आया और फिल्म का भी सभी को बेसब्री से इंतज़ार है. इस फिल्म के ज़रिए महेश मांजरेकर की बेटी सई और दक्षिण भारत के मशहूर कलाकार किच्चा सुदीप भी हिंदी सिनेमा में पहली बार आ रहे हैं. साथ ही सलमान के पिता के रूप में विनोद खन्ना के भाई प्रमोद खन्ना भी हैं. इसके पहले दोनों पार्ट में यानी दबंग और दबंग 2 में विनोद खन्ना ने सलमान के पिता की भूमिका निभाई थी. साथी कलाकार में सोनाक्षी सिन्हा ज्यों की त्यों बरक़रार है.

वैसे प्रिटी के इन फोटोग्राफ्स को दर्शकों का काफ़ी प्यार मिल रहा है. यूज़र्स कई मज़ेदार कमेंट्स भी कर रहे हैं. लोग उन्हें दबंग ज़िंटा, लव लेडी कॉप, चुलबुली पांडे, डैशिंग प्रिटी जैसे संबोधन दे रहे हैं.

Dabangg Preity Zinta

प्रिटी ज़िंटा का कौन-सा जलवा दबंग 3 में देखने को मिलेगा, यह तो आनेवाला कल ही बता पाएगा, पर इतना तय है कि दोनों पार्ट की तरह दबंग 3 भी मनोरंजन व धूम-धड़ाका से भरपूर होगा.

Dabangg Preity Zinta

वैसे आज हैलोवीन डे पर फिल्म स्टार जॉन अब्राहम ने भी अपनी फिल्म पागलपंती की डरावने गेटअप तस्वीरें शेयर कीं. इसमें उनके साथ अनिल कपूर, पुलकित सम्राट, अरशद वारसी भी हैलोवीन लुक में दिखाई दे रहे हैं.

Halloween 2109

हैलोवीन डे की शुरुआत स्काटलैंड व आयरलैंड से शुरू हुई थी. इसे पूर्वजों की आत्मा की शांति के लिए उत्सव के रूप में मनाया जाता है. इसमें लोग डरावने ड्रेसेस व मेकअप करके पार्टियां करते हैं. धीरे-धीरे यह यूरोपीय देशों इंग्लैंड, अमेरिका व अन्य देशों में भी मनाया जाने लगा. इस पर कई हॉरर फिल्में ख़ासकर हैलोवीन भी सीरीज़ के रूप में बनीं, जो सुपर-डुपर हिट रहीं. किसी ने सही कहा है ना कि डरना भी ज़रूरी है क्यों? सभी को हैप्पी हैलोवीन!..

यह भी पढ़ेराष्ट्रीय एकता दिवस: सरदार वल्लभभाई पटेल जयंती- प्रधानमंत्री मोदीजी व देश ने उन्हें याद किया..

Entertainment: मॉनी रॉय का यह कूल साड़ी लुक लगा रहा है इंटरनेट पर आग… (Mouni Roy’s Cool Saari Look)

Mouni Roy

Entertainment: मॉनी रॉय का यह कूल साड़ी लुक लगा रहा है इंटरनेट पर आग… (Mouni Roy’s Cool Saari Look)

ग्लैमरस गर्ल मॉनी आजकल सोशल मीडिया पर अपनी जो भी पिक्चर्स शेयर करती हैं, वो उनके फैंस के होश उड़ा देती हैं, क्योंकि मॉनी ट्रेडिशनल आउटफिट्स को भी इतने मॉडर्न, बोल्ड और ग्लैमरस अंदाज़ में पहनती हैं कि उनका कूल लुक बन जाता है सुपर हॉट! तो आप भी देखें उनके ये डिफरेंट साड़ी लुक्स…

Mouni Roy

Mouni Roy

Mouni Roy

Mouni RoyMouni Roy Mouni Roy Mouni Roy Mouni Roy Mouni Roy

ये भी पढ़ेंः बिग बी ने अपनी सेहत के बारे में चुप्पी तोड़ी, कही ये बात (Amitabh Bachchan Finally OPENS UP On Rumours About His Health)

 

फिल्म समीक्षा: द स्काई इज़ पिंक, पर ज़िंदगी इस कदर गुलाबी नहीं होती. (Movie Review: The Sky Is Pink- Emotional And Inspirational Story)

जब भी प्रेरित करनेवाली सच्ची घटना पर फिल्म बनती है, तब वह न केवल दिलोदिमाग़ को झकझोर देती है, बल्कि ज़िंदगी के प्रति हमारे नज़रिए में भी सुधार करती है. कुछ इसी तरह की फिल्म है द स्काई इज़ पिंक. मोटिवेशनल स्पीकर आयशा चौधरी, जो मात्र 18 साल की उम्र में दर्द से जुड़कर ही सही भरपूर जीवन जीकर सभी को प्रेरणा देकर इस जहां से रुख़सत हो गईं. प्रियंका चोपड़ा, फरहान अख़्तर, ज़ायरा वसीम, रोहित सुरेश सराफ अभिनीत यह फिल्म कम ज़िंदगी का फ़लसफ़ा अधिक है. मौत से संघर्ष, बीमारी से लड़ाई, माता-पिता का अपनी बेटी को बचाने की ज़द्दोज़ेहद बहुत कुछ सोचने-समझने पर मजबूर कर देता है. निर्देशिका शोनाली बोस बधाई की पात्र हैं, जिन्होंने गंभीर विषय को सुलझे हुए तरी़के से क़ाबिल-ए-तारीफ़ बनाया.

The Sky Is Pink

आयशा चौधरी के क़िरदार में ज़ायरा वसीम सूत्रधार के रूप में अपने पैरेंट्स की प्रेम कहानी, उसकी बीमारी और मौत से उसे बचाने को लेकर संघर्ष, भाई रोहित का बहन के प्रति अटूट प्यार आदि के बारे में बताती हैं. आयशा को एससीआईडी  (सिवियर कंबाइन्ड इम्यूनो डेफिशिएंसी) बीमारी है, जिसमें इम्यून सिस्टम बिल्कुल काम नहीं करता और थोड़ा भी एलर्जी व इंफेक्शन होने पर मरीज़ का बचना मुश्किल हो जाता है. आयशा के पहले उसकी बड़ी बहन की भी इससे मृत्यु हो गई है, इसलिए उसके माता-पिता, प्रियंका-फरहान किसी भी तरह से अपनी इस बेटी आयशा को खोना नहीं चाहते. अपनी बेटी को बचाने का उनका संघर्ष दिल्ली से लेकर लंदन तक बदस्तूर चलता रहता है.

कहानी में कई भावनात्मक पड़ाव और उतार-चढ़ाव आते हैं. आयशा की दुर्लभ बीमारी, परिवार का सुख-दुख में एक-दूसरे का साथ, मां का बेटी के लिए किसी भी हद तक गुज़र जाना, पिता का सभी को हौसला बढ़ाना पर अकेले में टूटकर बिखरना… ऐसे कई मानवीय संवेदनाओं को बारीक़ी से ख़ूबसूरती के साथ दिखाया गया है.

The Sky Is Pink

फिल्म की जान इसके सभी पात्र हैं, फिर चाहे वो प्रियंका-फरहान हो या ज़ायरा-रोहित. संवाद-पटकथा सशक्त है, तो गीत-संगीत (प्रीतम) भी मधुर हैं. फिल्म आरएसवीपी मूवीज़, रॉय कपूर फिल्म्स व पर्पल पेबल पिक्चर्स के बैनर तले सिद्धार्थ रॉय कपूर, रोनी स्क्रूवाला व प्रियंका चोपड़ा द्वारा सह-निर्मित है. सच्ची घटनाओं पर आधारित बेहतरीन फिल्मों में से एक है द स्काई इज़ पिंक. दिल में ख़्याल आया कि आसमान तो नीला होता है, फिर गुलाबी से इसका क्या तात्पर्य है. शायद फिल्म का टाइटल ही यह संदेश देना चाह रहा हो कि चमत्कार भी होते हैं और जो दिखता है, ज़रूरी नहीं कि वो ही सच हो… आसमान से आगे जहां और भी है…

The Sky Is PinkThe Sky Is PinkThe Sky Is Pink

माय लिटिल एपिफैनीज किताब की युवा लेखिका आयशा चौधरी जिन पर यह फिल्म बनी है, ने यूं तो कई प्रेरणादायी भाषण दिए थे, पर उनका यह कहना कि मौत अंतिम सत्य है, पर मैंने अपने जीवन में ख़ुशी को अधिक महत्व दिया. यदि आप अपनी ज़िंदगी नहीं बदल सकते, तो आपके पास हमेशा किसी और की ज़िंदगी बेहतर बनाने का विकल्प होता है. और मैंने ख़ुद के लिए हैप्पी पल्मनरी फाइब्रोसिस को चुना… उनकी ये बातें दिल को छू जाती हैं.

इस फिल्म के निर्माता और मुख्य क़िरदार के रूप में प्रियंका चोपड़ा की कोशिश लाजवाब है. शादी के बाद उनका यह कमबैक सराहनीय है. पति निक जोनस ने भी प्रियंका के काम की ख़ूब तारीफ़ की. बकौल उनके प्रियंका ने उन्हें भी इस फिल्म के ज़रिए रुलाया और हंसाया भी है. कुछ फिल्में हिट-सुपरहिट या फिर स्टार रेटिंग से परे बस अच्छी और प्रेरणास्त्रोत होती हैं और वही है द स्काई इज़ पिंक…

– ऊषा गुप्ता

The Sky Is Pink

यह भी पढ़े: HBD रेखाः जानिए रेखा और अमिताभ बच्चन की अधूरी प्रेम कहानी का पूरा सच (Amitabh-Rekha’s Untold Love Story)

नोटबुक का पहला गाना ‘नहीं लगदा’ शेयर किया सलमान खान ने… (Nahi Lagda… Salman Khan Shares First Song From Notebook)

Song From Notebook

नोटबुक का पहला गाना ‘नहीं लगदा’ शेयर किया सलमान खान ने… (Nahi Lagda… Salman Khan Shares First Song From Notebook)

फिल्म नोटबुक (Notebook) का सॉन्ग (Song) सलमान खान (Salman Khan) ने सोशल मीडिया पर शेयर किया. यह रोमांटिक सॉन्ग है और सलमान की मानें, तो फैंस को यह गाना सुनकर महसूस करना चाहिए. यह एक रोमांटिक सॉन्ग है और नोटबुक सलमान खान के प्रोडक्शन हाउस की फिल्म है. इस फिल्म से डेब्यू कर रहे हैं एक्टर ज़हीर इकबाल और मोहनीश बहल की बेटी प्रनूतन. यह एक रोमांटिक मूवी है और सबको प्रनूतन की सिल्वर स्क्रीन पर एंट्री का भी बेसब्री से इंतज़ार है.

 

यह भी पढ़ें: Sanu Kehndi: अक्षय कुमार की केसरी का पहला सॉन्ग सानु केहंदी हुआ रिलीज़, म्यूज़िक चार्ट्स पर मचा रहा है धमाल…. देखें वीडियो! (The First Song From Kesari ‘Sanu Kehndi’ Out Now)