music

 

सुरों के सरताज ए. आर. रहमान हो गए हैं 53 साल के. रहमान उन चंद म्यूज़िक डायरेक्टर और सिंगर्स में से हैं, जो म्यूज़िक के साथ एक्सीपेरिमेंट्स करके बेहतरीन संगीत बनाने का दम रखते हैं. इंडियन म्यूज़िक को इंटरनेशनल लेवल तक ले जाने का श्रेय काफ़ी हद तक रहमान को भी जाता है. फिल्म स्लमडॉग मिलियनेयर के लिए उन्होंने ऑस्कर जीतकर भारत का गौरव बढ़ाया. 6 साल की छोटी-सी उम्र में ही रहमान को संगीत से प्यार हो गया था. सिंथेसाइजर और हारमोनियम पर उनकी नन्हीं-सी उंगलियां कमाल कर देती थीं. अपने पिता आर.के.शेखर की राह पर चलते हुए रहमान ने संगीत की विरासत को आगे बढ़ाया और आज टॉलीवुड, बॉलीवुड के साथ हॉलीवुड के भी पसंदीदा संगीतकार और गायक बन गए हैं. रहमान के संगीत का जादू ऐसा है कि वो हर उम्र के लोगों के फेवरेट हैं.

मेरी सहेली की ओर से ए. आर. रहमान को जन्मदिन की शुभकामनाएं.

आइए, उनके जन्मदिन पर देखते हैं उनके 10 बेहतरीन गाने…

फिल्म- दिल से (1998)

फिल्म- रंगीला (1995)

फिल्म- रोज़ा (1992)

https://www.youtube.com/watch?v=QIyQn_PlR38

फिल्म- ताल (1999)

https://www.youtube.com/watch?v=XpoNr0j4sms

फिल्म- रंग दे बसंती (2006)

फिल्म- ओके जानू (2017)

फिल्म- रॉकस्टार (2011)

फिल्म- बॉम्बे (1995)

https://www.youtube.com/watch?v=7uro3sLY-XY

फिल्म- स्लमडॉग मिलियनेयर (2009)

https://www.youtube.com/watch?v=5F2wvJr6WUA

एलबम- मां तुझे सलाम (1997)

यह भी पढ़े10 बॉलीवुड एक्ट्रेस जिनकी पहचान उनके पापा से है (10 Actresses In Bollywood Because Of Their Papa)

Stars Who Turned From Rich To Poor

अर्श से फर्श तक: बॉलीवुड स्टार्स, जिनकी मुफलिसी उन्हें सड़क पर ले आई थी! (Bollywood Stars Who Turned From Rich To Poor)

बॉलीवुड के लिए कहा जाता है कि यहां स़िर्फ चढ़ते सूरज को ही सलाम किया जाता है, व़क्त के साथ-साथ बड़े से बड़े सितारे यहां गुमनामी के अंधेरे में खो जाते हैं. यहां हम उन मशहूर फिल्म स्टार्स का ज़िक्र करेंगे, जो अपने समय के सुपर स्टार थे, लेकिन मुफलिसी ने उन्हें इस कदर घेरा कि वो सड़क पर आ गए.

मीना कुमारी: ट्रेजडी क्वीन मीना कुमारी ने जिस तरह सिल्वर स्क्रीन पर अपने हर किरदार को ज़िंदा किया, उससे सभी उनकी अदाकारी के कायल हो गए. लेकिन इनकी पर्सनल लाइफ में भी ट्रेजडी की कमी नहीं थी. ताउम्र प्यार के लिए तरसती मीना ने अपने अंतिम समय में भी ख़ुद को तन्हा ही पाया और उनके अंतिम समय में अस्पताल के बिल तक चुकाने के पैसे उनके पास नहीं थे. मीना कुमारी की ख़ासियत यह थी कि वो पारंपरिक मुसलमान लड़कियों से बहुत अलग थीं. वो बहुत अच्छी शायरा भी थीं, उनका अल्कोहॉलिक होना भी यह दर्शाता है कि ज़िंदगी से उन्होंने जो चाहा, वो उन्हें नहीं मिला. उनके परिवार ने उन्हें पैसा कमाने का मात्र एक ज़रिया समझा और यही वहज है कि जब कमला अमरोही से उनकी शादी हुई, तो परिवार को लगा कि मीना ने उन्हें धोखा दिया. मीना ख़ुद कहती थीं कि उन्हें लगता है भगवान से उन्हें शाप दिया है कि उनकी फिल्मों की ट्रेजडी रियल लाइफ में भी वो महसूस करें.

परवीन बाबी: 80 के दशक की हॉट, ग्लैमरस गर्ल परवीन अपने बोल्ड और बिंदास अंदाज़ के लिए मशहूर थीं. लेकिन परानॉइड स्किज़ोफ्रेनिया के चलते उनका एक्टिंग करियर व उनकी पर्सनल लाइफ भी प्रभावित होने लगी थीं. परवीन भी सच्चे प्यार की तलाश में रहीं और अंत में ख़ुद को तन्हा ही पाया. मुंबई के एक फ्लैट में अकेले रहते हुए ही उनकी मौत हो गई और उनके पड़ोसियों को यह बात तब पता चली, जब तीन दिन से उनके घर के बाहर दूध व अंडे यूं ही पड़े रहे. परवीन राज घराने में पैदा हुई थीं, लेकिन दुख की बात यह है कि परवीन के परिवार की तरफ़ से भी उनकी बॉडी तक क्लेम करने कोई नहीं आया और अंतत: महेश भट्ट ने उनका अंतिम संस्कार किया.

विमी: बी आर चोपड़ा की हमराज़ की इस ब्यूटी क्वीन से उस व़क्त सबका ध्यान अपनी ओर खींच लिया था. रातोंरात विमी स्टार बन चुकी थीं, लेकिन अपनी पर्सनल लाइफ में समस्याओं के चलते उन्हें फिल्मी मिलनी भी बंद हो गईं और फिर आर्थिक तंगी ने उन्हें अल्कोहॉल व अन्य गतिविधियों की तरफ़ धकेल दिया. विमी की रहस्मय मौत ने सबको चौंका दिया था.

यह भी पढ़ें: Bigg Boss 13: देवोलीना ने शहनाज को मारा थप्पड़, सोशल मीडिया पर देवो के खिलाफ यूजर्स का भड़का गुस्सा (Devoleena Bhattacharjee Slaps Shehnaz Gill, Enrages Fans)

गीतांजलि नागपाल: सुपर मॉडल गीतांजलि नेवल ऑफिसर की बेटी हैं और अपने समय के मशहूर व कामयाब मॉडल भी. लेकिन ड्रग एडिक्शन के चलते वो एक रोज़ सड़कों पर भीख मांगती नज़र आईं. एक फोटोग्राफर को वो पोज़ देने लगीं, तो सुर्ख़ियों में आईं और उसके बाद उनका इलाज शुरू हुआ.

ओपी नैयर: म्यूज़िक इंडस्ट्री में बड़ा नाम हैं ओपी नैयर, लेकिन उनकी परिवार ने उन्हें घर से निकाल दिया और अपने अंतिम दिन उन्होंने एक फैन के घर में गुज़ारे. सुनने में यही आता है कि यदि कोई उनसे इंटरव्यू मांगने आता, तो उससे वो शराब व पैसे की डिमांड ही करते थे.

एके हंगल: फिल्म शोले का एक डायलॉग और लोगों की आंखों से आंसू बहने लग जाते- इतना सन्नाटा क्यों है भाई! जी हां, हंगल साबह ने 225 फिल्मों में काम किया, लेकिन बावजूद इसके अपने अंतिम दिनों में वो गरीबी व बीमारी के शिकार थे. अपने मेडिकल बिल्स भी वो चुका नहीं पा रहे थे. अमिताभ बच्चन ने उनकी मदद की और उसके बाद कई और हस्तियां भी सामने आईं.

भगवान दादा: इनका नाम आते ही शोला जो भड़के गाना याद आता है. इंडस्ट्री में बड़ा नाम थे भगवान दादा, लेकिन अपने प्रोडक्शन में बनाई कुछ फिल्मों ने इन्हें कंगाल बना दिया था. इन्हें अपना जुहू का बंगला व 7 कारें, जो हफ़्ते के हर दिन के हिसाब से वो यूज़ करते थे, बेचनी पड़ी और अंतिम दिन उन्होंने एक चॉल में गुज़ारे.

भारत भूषण: फिल्म बैजू बावरा ने इन्हें सुपर स्टार बना दिया था और इन्होंने अपने दौर की सभी नामी एक्ट्रेसेस के साथ काम किया था. इनके पास मुंबई में कई फ्लैट्स थे, लेकिन पैसे न बचाने की आदत ने इन्हें इतना कंगाल कर दिया था कि अपने अंतिम दिनों में वो चॉल में रहने को मजबूर थे और स्टूडियो में चौकीदार की नौकरी कर रहे थे.

सिल्क स्मिता: अपने हॉट अंदाज़ से सिल्क ने अपनी अलग जगह बनाई थी. वो साउथ की मशहूर एक्ट्रेस बन चुकी थीं, लेकिन अपने प्रोडक्शन की फिल्म बनाने की चक्कर में वो कंगाल हो चुकी थीं और उन्होंने आत्महत्या कर ली थी. फिल्म डर्टी पिक्चर उन्हीं की लाइफ से प्रेरित थी.

यह भी पढ़ें: 9 टीवी एक्टर्स जिनकी कम उम्र में मौत हो गई (9 TV Actors Who Died Young)

Top Punjabi Wedding Songs

वेडिंग का सीज़न शुरू हो गया है. शादी में होने वाले संगीत में धमाल मचाने के लिए अभी से तैयारी शुरू कर दीजिए. संगीत और शादी में कोई भी डांस पंजाबी गानों के बिना पूरा नहीं हो सकता. पंजाबी गाने बॉलीवुड के हों या किसी एलबम के, संगीत को परफेक्ट और धमाकेदार बनाने के लिए बेस्ट होते हैं. आइए, जानते हैं इस वेडिंग सीज़न के 12 पंजाबी गाने (Top Punjabi Wedding Songs) कौन-से हैं.

साडे मुंडे दा व्याह- दिलप्रीत ढिल्लोन

3 पेग- शैरी मान

पटियाला पेग- दिलजीत दोसांझ

फिल्म- फिल्लोरी

स्नैपचैट- जस्सी गिल

फिल्म- तनु वेड्स मनु रिटर्न्स

चुल- बादशाह, फैज़लपुरिया

फिल्म- हिंदी मीडियम- सुखबी

गल्ला गोरिया- रफ्तार

सुपरस्टार- सुख-ए

पटाखे- सुनंदा शर्मा

मुंडा भल दी- शैरी मान

यह भी पढ़ें: जब बात हो ऐश्वर्या राय बच्चन की, तो उम्र बस एक नंबर है! देखें उनके अनदेखे पिक्चर्स 

Zakir Hussain

  • तबले पर उंगलियों की सुरीली थाप, देखने और सुननेवालों के कानों से टकराता रसीला संगीत… एक मस्तमौला शख़्स इन धुनों में इस क़दर खोया हुआ-सा नज़र आता है, जैसे वो और उसके तबले की थाप एक-दूसरे का अक्स हों और उनकी इसी जुगलबंदी से जैसे संगीत की दुनिया मुकम्मल हो. जी हां, तबले से निकलता संगीत जिनके छूनेभर से हो जाता है ख़ास, उन्हें हम कहते हैं उस्ताद… जी हां, उस्ताद ज़ाकिर हुसैन (Zakir Hussain ) की ही हम कर रहे हैं बात, जिनका जन्म 9 मार्च 1951 में हुआ था. उन्हें जन्मदिन की बहुत-बहुत शुभकामनाएं!
  • ज़ाकिर हुसैन का बचपन मुंबई में ही बीता और महज़ 12 वर्ष की आयु से ही उनका तबले व संगीत से नाता जुड़ गया था. 1973 से लेकर साल 2007 तक उस्ताद ज़ाकिर हुसैन ने अपने तबले की मीठी धुनों के ज़रिये कई राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय समारोहों को मंत्रमुग्ध किया.
  • 1988 में उन्हें पद्म श्री से नवाज़ा गया और उस व़क्त यह सम्मान पानेवाले वे सबसे कम उम्र के व्यक्ति थे. उनकी उम्र तब 37 वर्ष थी.
  • साल 2002 में संगीत में उनके योगदान को देखते हुए पद्म भूषण दिया गया. वे भारत में ही नहीं, विदेशों में भी बेहद लोकप्रिय हैं.
  • अपने एलबम्स के ज़रिए उन्होंने संगीत को प्रांत, देश व सीमाओं के पार पहुंचा दिया. उनकी ख़्याति व टैलेंट का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वर्ष 1992 व 2009 में उन्हें म्यूज़िक के सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार ‘ग्रैमी अवॉर्ड’ से भी नवाज़ा जा चुका है.

516_shekharबॉलीवुड के यंग और हॉट म्यूज़िक सिंगर-कंपोजर शेखर(Shekhar Ravjiani) हो गए हैं 40 साल के. आज शेखर मना रहे हैं अपना जन्मदिन. विशाल-शेखर की जोड़ी फिल्म झंकार बीट्स के बाद फेमस हुई थी. इसके बाद इस जोड़ी ने कई हिट नंबर्स दिए हैं. शेखर का पूरा नाम शेखर रवजियानी है. शेखर ने हिंदी फिल्मों में ही नहीं, बल्कि मराठी और तेलुगु में भी म्यूज़िक कंपोज़ किए हैं. 29 नवंबर को गुजरात के कच्छ में जन्मे शेखर के म्यूज़िक के पैशन को उनके पिता ने समझा और उनका साथ दिया. शेखर ने उस्ताद नियाज़ अहमद खान से संगीत की तालीम ली. सा रे गा मा पा में बतौर कंटेस्टेंट शेखर ने भाग लिया था और उसके बाद उन्होंने फिल्म प्यार में कभी कभी में अपना पहला गाना कंपोज़ किया. 49830612मेरी सहेली (MERI SAHELI) की तरफ़ से शेखर को ए वेरी हैप्पी बर्थ डे.

आइए, देखते हैं शेखर के कुछ बेहतरीन गाने.

फिल्म- प्यार में कभी कभी

फिल्म- आई हेट लव स्टोरीज़

फिल्म- नीरजा

https://www.youtube.com/watch?v=vkVUg-KcCMM

फिल्म- बचना ऐ हसीनों

फिल्म- टैक्सी नंबर 9211