Tag Archives: Natural Remedies

ऑयल फ्री स्किन पाने के 5 आसान घरेलू उपाय (Get Rid Of Oily Skin With These 5 Home Remedies)

ऑयली स्किन (Oily Skin) वालों को पिंपल्स, ब्लैक हेड्स, चिपचिपापन जैसी जैसी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है, जिसके कारण कई बार उनका कॉन्फिडेंस भी कम हो जाता है. यदि आपकी स्किन भी ऑयली है, तो आपको ये ब्यूटी प्रॉब्लम्स (Beauty Problems) होती होंगी, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा, क्योंकि हम आपको बता रहे हैं ऑयल फ्री स्किन पाने के 5 आसान घरेलू उपाय (Home Remedies). ऑयल फ्री स्किन पाने के ये 5 आसान घरेलू उपाय आपकी स्किन से एक्स्ट्रा ऑयल हटाकर आपको देंगे एक नया निखार. ऑयल फ्री स्किन पाने के 5 आसान घरेलू उपाय आप भी ज़रूर ट्राई करें.

Oily Skin Remedies

1) ऑयली स्किन से छुटकारा पाने के लिए नींबू के रस में चंदन पाउडर और दही मिलाकर लगाएं.
2) अंडे की सफ़ेदी में थोड़ा कपूर घोलकर इसकी पतली परत चेहरे पर लगाएं. सूखने पर ठंडे पानी से धो लें. कपूर मिलाने से अंडे की महक नहीं आएगी.
3) चोकर, बेसन, 1 टीस्पून ऑलिव ऑयल और चुटकीभर हल्दी पाउडर मिलाकर चेहरे पर हल्के हाथ से मसाज करने से मैल व अतिरिक्त तेल दोनों निकल जाएंगे.
4) ऑयली स्किन को साफ़ करने के लिए 1 खीरे का रस, 2 टीस्पून व्हाइट विनेगर, फिटकरी पाउडर, थोड़ा-सा कपूर और 2 अंडे की स़फेदी को एकसाथ ब्लेंड करके लगाएं. रोमछिद्र साफ़ हो जाएंगे और आप फ्रेश महसूस करेंगी.
5) 1 टेबलस्पून ओटमील पाउडर में आधा कद्दूकस किया हुआ सेब और दूध मिलाकर चेहरे और गले पर लगाएं. 15 मिनट बाद हल्का मसाज करते हुए छुड़ाएं.

यह भी पढ़ें: होममेड लिप ग्लॉस और लिप प्रोटेक्टिव क्रीम अब मिनटों में घर पर बनाएं (Homemade Lip Gloss And Lip Protective Cream)

 

10 होममेड फेस पैक से पाएं इंस्टेंट ग्लो, देखें वीडियो:

चेहरे के दाग़-धब्बे-झाइंयां मिटाने के 10 अचूक घरेलू उपाय (10 Effective Home Remedies To Remove Acne Scars And Dark Marks)

Home Remedies, Remove, Acne Scars, Dark Marks

दाग-धब्बे-झाइंयां चेहरे की ख़ूबसूरती बिगाड़ देते हैं. बेदाग-ख़ूबसूरत त्वचा पाने के लिए ट्राई करें ये आसान घरेलू उपाय. फिर देखिए, आपकी त्वचा में नई चमक और ख़ूबसूरत निखार आ जाएगा.

Home Remedies, Remove, Acne Scars, Dark Marks

1) चिरौंजी, मसूर की दाल और पीली सरसों, तीनोें का बारीक चूर्ण करके मिला लें. इस लेप को चेहरे पर लगाएं. सूख जाने पर हल्के हाथों से मसाज करते हुए चेहरा धो लें.
2) मसूर की दाल घी में भून लें और चूर्ण बना लें. इस चूर्ण को दूध मेें मिलाकर उबटन की तरह लगाएं. दाग़-धब्बे, झाइंयां और मुंहासे गायब हो जाएंगे.
3) नींब को काटकर झाइंयों और धब्बोें पर मलने से लाभ होता है.
4) दही की मलाई से मालिश करें. पंद्रह मिनट बाद धो लें.
5) एक दिन का बासी मट्ठा सुबह नहाने से पहले चेहरे पर मलें और 10 मिनट बाद नहा लें.
6) चेहरे के दाग़ दूर करने के लिए सौंफ की पत्तियों को पीसकर लेप बनाएं. हर रोज़ सोने से पहले इसे चेहरे पर लगाएं और सुबह उठने पर गुनगुने पानी से चेहरा धो देें.
7) मसूर को नींबू के रस के साथ पीसकर लेप करने व मसाज करने से लाभ होता है.
8) हेल्दी और बेदाग़ त्वचा पाने के लिए चंदन के चूर्ण में थोड़ी-सी हल्दी और आंवले की लुगदी मिलाकर पेस्ट बनाकर चेहरे पर लगाएं. लेप सूखने पर गुनगुने पानी से धो दें. इसके बाद जैतून का तेल लगाएं.
9) दालचीनी के पाउडर में नींबू का रस मिलाकर पेस्ट बना लें. इसे चेहरे पर लगाएं. थोड़ी देर बाद चेहरा धो लें. त्वचा के मार्क्स हल्के पड़कर ख़त्म हो जाएंगे.
10) अदरक, तुलसी की पत्तियां, पुदीने की पत्तियां- सबको समान मात्रा में पीसकर पेस्ट बना लें. इसमें थोड़ा-सा नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर लगाएं. दो घंटे बाद गुनगुने पानी से चेहरा धो लें. इससे झाइंयों से छुटकारा मिलता है.

यह भी पढ़ें: स्किन केयर: क्यों खो जाती है चेहरे की ख़ूबसूरती?

इन्हें भी आज़माएं:
* नींबू का रस शहद में मिलाकर लगाएं और नियमित रूप से जैतून के तेल से मालिश भी करें.
* हल्दी के चूर्ण को आक के दूध में मिलाकर पतला उबटन तैयार कर लें. रात को सोते समय झाइंयों पर लेप करें.
* शहद को नमक और सिरके में मिलाकर लगाने से झाइंयां दूर होती हैं.
* एक हफ़्ते तक रोज़ाना एक कप मूली का रस पीएं. चेहरा साफ़ हो जाएगा.

यह भी पढ़ें: 10 घरेलू उपाय डार्क अंडरआर्म्स से छुटकारा पाने के लिए

[amazon_link asins=’B006G84EX4,B00791FFD0,B00FREMKAW,B00791CPWO’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’9ce3bd8a-0004-11e8-aea1-ff98a3bf424c’]

सुंदर-गोरी रंगत पाने के लिए आज़माएं ये 15 हिट नुस्ख़े ( 15 Tips For Fair Skin)

Tips For Fair Skin
  1. केसर सर्दियों में त्वचा की रंगत निखारने के लिए इस्तेमाल किया  जा सकता है. थोड़े-से दूध में 2-3 केसर डालकर छोड़ दें. जब दूध का रंग हल्का पीला हो जाए तो इसे चेहरे व गर्दन पर लगाकर 15 मिनट छोड़ दें. फिर चेहरा धो लें.
  2. केले को मैश करके उसमें दूध मिलाएं और चेहरे पर लगाएं. सूखने पर धो दें.
    Tips For Fair Skin
  3. अंडे की सफ़ेदी और शहद को मिलाकर चेहरे पर अप्लाई करें. 20 मिनट बाद चेहरा धो दें.
  4. मेथी की पत्तियों का पेस्ट गोरापन तो देता ही है, साथ ही पिंपल्स से भी छुटकारा दिलाता है.
  5. नींबू का रस, शहद और वेजीटेबल ऑयल मिलाकर 10 मिनट तक चेहरे पर लगाकर रखें.
  6. पत्तागोभी को पानी में उबालें और इस पानी से चेहरा धोएं. चेहरे पर निखार आएगा.
    ये भी पढ़ेंः घर बैठे पाएं गोरी, जवां व खिली-खिली त्वचा
  7. ककड़ी को दूध में मिलाकर क्लींज़र की तरह यूज़ करें. चेहरा ग्लो करने लगेगा.
  8. स्मूद और ग्लोइंग स्किन के लिए शहद और दूध मिलाकर चेहरे पर लगाएं.
  9. एक टेबलस्पून गुलाबजल में एक टेबलस्पून दूध और 2-3 बूंदें नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर लगाएं. इससे चेहरे पर निखार आता है.
  10. पपीते का पल्प चेहरे पर लगाए. ये गोरापन तो देता ही है, डेड स्किन से छुटकारा दिलाकर स्किन को रिपेयर भी करता है.
  11. नियमित रूप से दही लगाने से भी रंगत निखरती है.
  12. एक टेबलस्पून शहद और दो टेबलस्पून बादाम पाउडर में आधा टीस्पून नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर मसाज करते हुए लगाएं. थोड़ी देर बाद धो दें.
  13. एेलोवेरा का फ्रेश जेल लगाएं. कुछ देर बाद चेहरा धो लें.
  14. टमाटर के पल्प में 2-3 बूंदें नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर लगाएं. 20 मिनट बाद धो लें.
  15. आधा टीस्पून शहद में चुटकीभर दालचीनी पाउडर मिलाकर चेहरे पर लगाएं.
    ये भी पढ़ेंः  गोरी रंगत पाने के जांचे-परखे नुस्खे
    [amazon_link asins=’B00MNBNIR6,B0168I6BAU,B072MZCMSQ,B071K61ZFR’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’424e6c80-de38-11e7-9c4c-bf2f32179764′]

साबुन को छोड़, इन 7 होममेड क्लींज़र से चेहरा करें साफ़ (7 Amazing Natural Cleansers for Gorgeous Skin)

Natural Cleansers for Gorgeous Skin

चेहरे की ख़ूबसूरती बरक़रार रखने के लिए त्वचा की सफ़ाई ज़रूरी है. मेकअप को रोज़ क्लींज़िंग मिल्क से निकाल पाना संभव नहीं होता, जिसके कारण रोमछिद्र गंदगी की वजह से बंद हो जाते हैं और त्वचा ख़राब होने लगती है. हम आपको बता रहे हैं घर में आसानी से बनने वाले कुछ आसान क्लींजर्स, जिनके प्रयोग से न सिर्फ़ आपकी त्वचा साफ़-सुथरी रहेगी, बल्कि उस पर निखार भी आ जाएगा.

Natural Cleansers for Gorgeous Skin
काबुली चना और हल्दी पाउडर
आधा कप काबुली चने का पाउडर लें. इसमें एक टीस्पून हल्दी और आधा कप दूध मिलाएं. इस पैक को चेहरे, माथे और गर्दन पर लगाएं. 2 मिनट बाद धो लें. यह तैलीय व कॉम्बिनेशन त्वचा वालों के लिए अच्छा क्लींज़र है.
दही और ककड़ी

एक ककड़ी को कद्दूकस करें और उसका रस निकालें. इसमें3-4 टेबलस्पून दही मिलाकर चेहरे,माथे और गर्दन पर लगाएं. यह चेहरे की सफ़ाई करने के साथ दाग़-धब्बों व झाइयों को भी हटाता है.

ये भी पढ़ेंः 17 आयुर्वेदिक घरेलू नुस्ख़े मिटाते हैं चेहरे के दाग़-धब्बे

दही और शहद
आधा कप दही में आधा कप शहद मिलाएं. चेहरे, माथे व गर्दन पर लगाए और धीरे-धीरे रगड़ें. 2-3 मिनट बाद ठंडे पानी से धो दें.
बादाम और अंडा

5-6 बादाम को पीसकर पाउडर बना लें. इसमें एक अंडे की जर्दी और एक टेबलस्पून शहद डालकर अच्छी तरह फेंटें. चेहरे, माथे और गर्दन पर लगाएं और धीरे-धीरे रब करें. जब सूखने लगे तो गुनगुने पानी से चेहरा धो लें. यह रूखी त्वचा के लिए अच्छा क्लींज़र है.
पाइनैप्पल पंच
पके हुए अनन्नास की स्लाइस या जूस चेहरे पर लगाएं और सूखने दें. फिर गुनगुने पानी से चेहरा धोएं.
क्रीमी क्लींज़र
एक टेबलस्पून क्रीम में रोज़ एसेन्शियल ऑयल की एक बूंद मिलाएं (चाहें तो गाजर के बीज का ऑयल भी ले सकती हैं). इस क्रीम को सॉफ्ट कपड़े में लगाकर चेहरे, गर्दन और चेस्ट पर सर्कुलर मोशन में लगाएं. थोड़ी देर  बाद धो दें. ये क्लींज़र ऑयली स्किन को छोड़कर सभी तरह की त्वचा के लिए अच्छा है.
ये भी पढ़ेंः बेकिंग सोडा से पाएं गोरी-निखरी त्वचा

कैबेज-कोकोनट क्लींज़र
1/4 कप पत्तागोभी के जूस में  1/4 कप नारियल का दूध और आधा टीस्पून बादाम का तेल मिलाएं. इस मिश्रण को चेहरे और गर्दन पर लगाकर मसाज करें. थोड़ी देर बाद गुनगुने पानी से धोएं. फिर ठंडे पानी से.
ग्रेप्स क्लींज़र

स्किन ऑयली हो तो अंगूर को अच्छी तरह मैश कर लें या ग्राइंडर में पीसकर पेस्ट बना लें. इसमें नींबू का रस और अंडे की ज़र्दी डालकर अच्छी तरह फेंटें. चेहरे पर 20 मिनट तक लगाकर रखें. फिर गुनगुने पानी से धो लें.

[amazon_link asins=’B00HNPRRCE,B00791FFMG,B01FCHK3XO,B00FZH9IPQ’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’c6cb6514-b30b-11e7-bc93-1918015214ee’]

जलने पर इन 21 घरेलू उपायों को आज़माएं (21 Home Remedy Tips for Burns)

Home Remedy Tips for Burns

Home Remedy Tips for Burns

जले हुए भाग को जब तक दर्द रुक न जाए, ठंडे पानी में रखें. जलने का उपचार (Home Remedy Tips for Burns) इस बात पर भी निर्भर करता है कि कितना हिस्सा जला है या कितना गहरा जला है. यदि अधिक जल गए हों, तो तुरंत डॉक्टर को दिखाना ज़रूरी होता है. लेकिन सामान्य रूप से जलने पर अर्थात् चाय, गर्म पानी या कोई गर्म चीज़ गिर जाने पर निम्न घरेलू नुस्ख़े आज़माएं.

* अनार की पत्तियों को पीसकर जले हुए भाग पर लगाने से जलन शांत होती है.
* यदि हाथ जल जाए, तो ब़र्फ को हाथ पर 10-15 मिनट तक रगड़ें. यह न केवल जलन को मिटता है, बल्कि सूजन व दाग़ भी नहीं होने देता.
* केले का गूदा जले हुए भाग पर लगाने से जलन मिटती है व फफोले नहीं पड़ते.
* चौलाई के पत्तों के साथ घास पीसकर लुगदी बनाकर जले पर लगाने से जलन दूर होती है.
* मेहंदी के पत्तों को पानी या सरसों के तेल के साथ पीसकर जले हुए स्थान पर लगाने से फ़ायदा होता है.
* हाथ-पैर आदि स्थानों पर जल जाने पर तुरंत टमाटर के स्लाइस कट करके इसे सूखने तक जले हुए जगह पर रखे रहें. इससे तुरंत आराम मिलता है.
* जलने पर तारपीन का तेल और कपूर बराबर मात्रा में मिलाकर लगाएं. तुरंत आराम मिलता है.
* आलू को कूट-पीसकर उसकी लुगदी जले भाग पर लेप करने से तुरंत जलन शांत होती है.
* हल्दी को जले हुए स्थान पर लगाकर सूखने दें. जब यह सूख जाए, तो इसे धोकर दोबारा हल्दी लगाएं. ऐसा बार-बार करने से दर्द में आराम मिलता है.
* जले भाग पर शुद्ध शहद का लेप करना लाभदायक होता है.

यह भी पढ़े: राई के 21 प्रभावकारी फ़ायदे 

यह भी पढ़े: प्रेग्नेंसी में होनेवाली उल्टी में राहत के लिए 9 प्रभावकारी होम रेमेडीज़ 

* बरगद के कोमल पत्तों को गाय के घी में पीसकर लगाने से जलन नष्ट होगी और ज़ख़्म जल्द भरेगा.
* नारियल के जल को अलसी के तेल के साथ पकाकर रखें. इस मिश्रण को जले पर लगाने से जल्द लाभ होता है.
* इमली की लकड़ी को जलाकर उसकी राख नारियल के तेल में मिलाकर लगाने से जलने का ज़ख़्म ठीक होता है.
* शरीर का कोई अंग जल जाने पर चमड़ी पर स़फेद निशान हो जाते हैं, जो बड़े भद्दे लगते हैं. रुई को शहद में भिगोकर उन पर बांधने से कुछ ही दिनों में स़फेद दाग़ मिटकर सामान्य त्वचा आ जाती है.
* एलोवीरा के पल्प को जले हुए स्थान पर लगाने से तुरंत आराम मिलता है.
* पीपल की छाल का महीन पाउडर बनाकर रख लें. यह पाउडर जल जाने से हुए घाव में आराम पहुंचाता है.
* जब स्किन जल जाती है, तो उसमें तेज़ी से जलन होने लगती है. इसी जलन को मिटाने के लिए अंडे का स़फेद भाग लगाएं और उसे कुछ देर तक सूखने दें. दर्द दूर करने और दाग़ न पड़ने के लिए इसे कई बार लगाना पड़ सकता है.
* शहद के साथ लौंग पीसकर जले हुए स्थान पर लगाने से ज़ख़्म नहीं बन पाता और ये जलन को भी मिटाता है.
* करेले के रस को रुई की सहायता से जले हुए स्थान पर लगाने से जलन नष्ट होती है.
* बेर की कोमल पत्तियों को दही के साथ पीसकर लगाने से जलने के निशान नहीं रहेंगे.
* जले हुए स्थान पर टूथपेस्ट लगाकर उसे सूखने दें.

– रीटा गुप्ता

दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें-  Dadi Ma Ka Khazana

करौंदे की 13 औषधीय उपयोगिता (13 Powerful Health Benefits of Karonde)

Health Benefits of Karonde

Health Benefits of Karonde

करौंदे (Health Benefits of Karonde) का कच्चा फल कड़वा, अग्निदीपक, खट्टा, स्वादिष्ट और रक्तपित्तकारक है. यह विष तथा वातनाशक भी है. यह एक छोटा-सा फल है, पर इसमें काफ़ी औषधीय गुण मौजूद हैं. उपचार के आधार से इसमें साइट्रिक एसिड और विटामिन सी समुचित मात्रा में है. इसमें कई सामान्य बीमारियों को नष्ट करने की अद्भुत क्षमता है. इसके फल, पत्तियों एवं जड़ की छाल औषधीय प्रयोग में लाई जाती है. करौंदे के फल का स्वरस 5 से 10 ग्राम, पत्तियों का रस 12 से 24 ग्राम तक, पत्तियों का काढ़ा 60 से 120 ग्राम और फलों का शर्बत 12 ग्राम की मात्रा में इस्तेमाल किया जाता है.

* करौंदे के कच्चे फल की सब्ज़ी खाने से कब्ज़ियत दूर होती है.

* बुख़ार होने पर करौंदे के पत्ते का क्वाथ पिलाना लाभदायक होता है.

* सूखी खांसी में एक चम्मच करौंदे के पत्ते का रस और एक चम्मच शहद मिलाकर सुबह-शाम सेवन करने से फ़ायदा होता है.

* इसके कच्चे फल की चटनी खाने से मसूड़ों की सूजन और दांतों की पीड़ा में लाभ मिलता है.

* करौंदे के मूल को उबालकर पिलाने से सर्प विष दूर हो जाता है.

यह भी पढ़ें: सेहत के लिए बहुत फ़ायदेमंद होता है कड़वा करेला

* करौंदे के ताज़े पत्ते लेकर उनका रस निकालें, छानकर ड्रॉपर से दो-दो बूंद आंखों में डालने से शुरुआती मोतियाबिंद ख़त्म हो जाता है.

* करौंदे के बीजों के रोगन (बीजों को पीसकर तेल में पकाया हुआ तेल) को मलने से हाथ-पैर की बिवाई होने पर बेहतर लाभ होता है.

* गर्मियों में रोज़ाना इसके मुरब्बे का सेवन करने से दिल के रोगों से बचाव होता है.

* इसको खाने से प्यास का शमन होता है और वायु दोष से छुटकारा मिलता है.

* करौंदे में लौह की मात्रा होने के कारण शरीर में रक्त की कमी की समस्या दूर होती है.

यह भी पढ़ें: हीमोग्लोबिन बढ़ाने के साथ ही इम्यूनिटी भी बूस्ट करता है पालक

* यह वायुशामक है. इसके पके फल रोज़ाना खाने से पेट की गैस की समस्या दूर होती है.

* जानवरों के कीड़े युक्त घावों में करौंदे की जड़ को पीसकर भर देने से कीड़े नष्ट होकर घाव शीघ्र भर जाते हैं.

* इसकी पत्तियों का क्वाथ सिर में लगाने से जूएं नष्ट हो जाती हैं.

हेल्थ अलर्ट
मूत्र संक्रमण से होनेवाली बीमारी मूत्रनली की सूजन में करौंदा लाभप्रद है. इज़राइल के वैज्ञानिकों द्वारा किए गए एक शोध के अनुसार, करौंदे में प्रोंथोसाइनाइडिंस नामक द्रव्य होता है, जो ई-कोली जीवाणु को मूत्राशय में चिपकने नहीं देता, जिसकी वजह से मूत्र से संबंधी बीमारियां नहीं होतीं. इतना ही नहीं, करौंदा शरीर में होनेवाले अल्सर और मुख के संक्रमण से भी बचाव करता है.

दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें- Dadi Ma Ka Khazana

 

वेट लॉस टिप ऑफ द डे (Weight Loss Tip Of The Day)

Weight Loss Tip

Weight Loss Tip

घर के कामों से वज़न घटाएं
* पोंछा लगाते समय 30 मिनट में 145 कैलोरी खर्च होती है जो ट्रेडमिल पर 15 मिनट दौड़ने के बराबर है.
* कपड़े धोते समय 60 मिनट में 85 कैलोरी बर्न होती है जो 100 सिटअप करने के बराबर है.
* खाना बनाते समय 60 मिनट में 150 कैलोरी खर्च होती है जो 15 मिनट एरोबिक्स करने के बराबर है.
* डस्टिंग करते समय 30 मिनट में 180 कैलोरी खर्च होती है जो 15 मिनट तक साइकिल चलाने के बराबर है.
* गार्डनिंग करते समय 60 मिनट में 250 कैलोरी बर्न होती है जो 25 मिनट सीढ़ी चढ़ने-उतरने के बराबर है.
* बिस्तर लगाते समय 15 मिनट में 66 कैलोरी बर्न होती है जो डेढ़ कि.मी. पैदल चलने के बराबर है.

यह भी पढ़ें:  फ्लैट टमी के लिए पीएं ये 5 ड्रिंक्स

जानें वज़न बढ़ने की वजहें
वज़न बढ़ने की वजहें कई हैं, लेकिन व़क्त रहते यदि मोटापे पर कंट्रोल नहीं किया गया, तो कई हेल्थ प्रॉब्लम्स हो सकती हैं इसलिए सबसे पहले वज़न बढ़ने की वजहों को जानना ज़रूरी है.

लाइफ स्टाइल
आधुनिक जीवनशैली ने सुख-सुविधाएं तो बहुत दी हैं, लेकिन उन सुविधाओं का लाभ उठाते हुए लोग शारीरिक श्रम करना ही भूल गए हैं. थोड़ी दूर भी जाना हो तो गाड़ी से ही जाएंगे, पहली मंज़िल पर जाने के लिए भी लिफ्ट का इस्तेमाल करेंगे, दिनभर एसी रूम में आरामकुर्सी से चिपके रहेंगे… लोगों की इन आरामपसंद आदतों ने उन्हें बड़ी-बड़ी बीमारियां दे दी हैं.
आसान है समाधान
बिज़ी दिनचर्या में भी समय निकालकर फिज़िकल एक्सरसाइज़ करना बहुत ज़रूरी है. सही डायट और एक्सरसाइज़ से फिट रहना मुश्किल काम नहीं है. अपनी लाइफ स्टाइल में बदलाव लाकर कोई भी फिट और हेल्दी रह सकता है.

जंक फूड
जंक फूड हमारी ज़िंदगी में इस क़दर शामिल हो गया है कि इसके बिना हम किसी भी सेलिब्रेशन की कल्पना भी नहीं कर सकते और जंक फूड की यही लत मोटापा बढ़ा देती है. बड़े ही नहीं बच्चे भी जंक फूड के आदी हो गए हैं. बड़ों की देखादेखी में अक्सर बच्चे भी पिज़्ज़ा, बर्गर, कोल्ड ड्रिंक आदि जंक फूड की डिमांड करने लगते हैं.
आसान है समाधान
आज के दौर में जंक फूड से पूरी तरह बचना तो मुमकिन नहीं, लेकिन उनमें भी हेल्दी ऑप्शन अपनाए जा सकते हैं. साथ ही जंक फूड के लिए हफ्ते या महीने में एक-दो दिन फिक्स कर लें और स़िर्फ उसी समय जंक फूड खाएं.

समय की कमी
महानगरों में ज़्यादातर पति-पत्नी दोनों नौकरीपेशा होते हैं, ऐसे में समय की कमी के कारण वो रेडी टु ईट खाने को प्राथमिकता देते हैं. समय के अभाव ने फास्ट फूड और दो मिनट में बन जाने वाली चीज़ों की डिमांड बढ़ा दी है और इन्हीं चीज़ों से मोटापा बढ़ने लगता है.
आसान है समाधान
कम समय में हेल्दी खाना बनाया जा सकता है जैसे- सूप, सलाद, ओट्स, दलिया आदि. वर्किंग कपल थोड़ी-सी प्लानिंग करके हेल्दी डायट अपना सकते हैं.

यह भी पढ़ें:  आयुर्वेदिक होम रेमेडीज़ ऐप- मेरी सहेली

स्ट्रेस
जी हां, तनाव भी वज़न बढ़ने की एक बड़ी वजह है. तनाव में अक्सर हम ज़्यादा खाते हैं और तनाव के समय मीठा खाने का मन करता है, जिससे मोठापा ज़्यादा बढ़ता है.
आसान है समाधान
जब भी लगे कि आप तनाव महसूस कर रही हैं, तो एक ग्लास पानी पी लें. साथ ही तनावमुक्त होने के लिए एक्सरसाइज़ करें, जैसे- गहसी सांसें लें, मसल रिलैक्शेसन तकनीक अपनाएं या कोई जोक बुक पढ़ें.

नींद की कमी
रात में देर से सोने और सुबह जल्दी उठ जाने से भी मोटापा बढ़ता है. ऐसा करने से रात में खाया हुआ खाना पच नहीं पाता. साथ ही इंसोम्निया (अनिद्रा), डिप्रेशन आदि के शिकार भी हो सकते हैं.
आसान है समाधान
अपना हर काम समय पर पूरा करने की कोशिश करें ताकि आप समय पर सो सकें और पर्याप्त नींद ले सकें. रोज़ाना 7-8 घंटे की नींद बेहद ज़रूरी है.

खाने का शौक
खाने के शौकीन लोग अक्सर भरे-पूरे शरीर वाले होते हैं, क्योंकि उनका खाने पर कोई कंट्रोल नहीं होता. फिर आगे चलकर खाने का ये शौक उन्हें इतना भारी पड़ता है कि उन्हें कई हेल्थ प्रॉब्लम्स होने लगती हैं.
आसान है समाधान
खाने का शौक होना अच्छी बात है, लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि जब जो जी में आया खा लिया. यदि आप खाने की शौकीन हैं और अक्सर ज़रूरत से ज़्यादा खा लेती हैं, तो अपने शौक की भरपाई एक्सरसाइज़ करके करें. इससे आपका शौक भी बना रहेगा और आप फिट भी बनी रहेंगी.

वेट लॉस के बारे में और जानने के लिए क्लिक करें

 

हर बीमारी का आयुर्वेदिक उपचार  उपाय जानने के लिए इंस्टॉल करे मेरी सहेली आयुर्वेदि हो रेमेडी 

महिलाओं में कमरदर्द- 10 उपयोगी घरेलू नुस्ख़े (10 Effective Lower Back Pain Home Remedies For Women)

Lower Back Pain Home Remedies For Women

Lower Back Pain Home Remedies For Women

कमरदर्द महिलाओं की एक आम समस्या है (Lower Back Pain Home Remedies For Women). अनियमित माहवारी, माहवारी में रक्तस्राव की कमी या अधिकता कमरदर्द का एक प्रमुख कारण है. रजोनिवृत्ति (मेनोपॉज़) के बाद भी महिलाओं में कमरदर्द की शिकायत पाई जाती है. स्त्री रोग, श्‍वेत प्रदर, रक्त प्रदर, कमर की हड्डियों के कमज़ोर होने से भी महिलाओं को कमरदर्द होता है. स्त्रियों को कमरदर्द चाहे किसी भी कारण से हो, इससे उनकी शारीरिक क्षमता और कामकाज प्रभावित होता है. इस दर्द के कारण स्त्री की मानसिक स्थिति भी प्रभावित होती है. वह दर्द के मारे बेहाल होकर चिड़च़िड़ी हो जाती है. बात-बात पर झुंझलाहट उसकी फ़ितरत बन जाती है.

* खसखस और कालीमिर्च दोनों को समान मात्रा में लेकर बारीक़ चूर्ण बनाकर रख लें. 10 ग्राम चूर्ण का सुबह-शाम गर्म दूध के साथ नियमित सेवन करें. इससे निश्‍चित ही कमरदर्द से राहत मिलती है.

* 150 ग्राम सरसों का तेल और 35 ग्राम देशी कपूर दोनों को मिलाकर शीशी में भरकर धूप में रख दें. जब कपूर पिघल जाए, तो इससे कमर पर हल्के हाथों से मालिश करें. ऐसा नियमित कुछ दिनों तक करने से कमरदर्द से छुटकारा मिल जाता है.

* 5 ग्राम की मात्रा में हल्दी के चूर्ण को फांककर ऊपर से मीठा दूध पीएं. इसका नियमित सुबह-शाम सेवन करें.

* कमरदर्द में नीम की पत्तियों के काढ़े से सेंक करने से लाभ होता है. नीम की कोमल पत्तियों को तोड़कर उसका काढ़ा (पानी में ख़ूब औंटाने से काढ़ा तैयार होता है) बना लें. इसके बाद रूई या साफ़ कपड़े को उक्त हल्के गरम का़ढ़े में भिगोकर दर्दवाले स्थान पर सेंक करें.

* बादाम के तेल से हर रोज़ कमर पर मालिश करें और सुबह बादाम की 5 गिरी (रात को पानी में भिगोकर सुबह छील लें) पीसकर दूध के साथ सेवन करते रहने से कमरदर्द दूर हो जाता है.

* 5 खजूर को उबालकर उसमें 2 ग्राम मेथी का चूर्ण डालकर नियमित पीने से कमरदर्द मिटता है.

* कमल ककड़ी के चूर्ण को दूध में उबालकर पीने से प्रदर दूर होता है और कमरदर्द से राहत मिलती है. कमरदर्द कितना ही पीड़ादायक हो, इसके सेवन से अवश्य लाभ होता है.

* अदरक का रस निकालकर उसे नारियल के तेल में मिलाकर गर्म करें. फिर उसे छानकर गुनगुना रहते हुए धीरे-धीरे मालिश करें. इससे महिलाओं को कमरदर्द से तुरंत राहत मिलेगी.

* धतूरे के हरे पत्तों को लेकर उसका 40 ग्राम रस निकालें. इसमें 3 ग्राम सेंधा नमक और थोड़ी-सी अफीम मिलाकर गर्म करें. फिर इसे उतारकर इससे कमर पर मालिश करें. 3-4 दिन तक ऐसा करने से कमरदर्द पूरी तरह ठीक हो जाता है.

* छुहारों की गुठली निकालकर उनमें शुद्ध गुग्गुल का चूर्ण बनाकर भर दें. फिर उनके ऊपर आटे का मोटा लेप लगाकर तेज़ आंच पर सेंके. जब वे जलने लगें, तो उन्हें आंच पर से उतार लें और ठंडा होने पर आटे को हटाकर छुहारे को गुग्गुल सहित पीसकर छोटी-छोटी गोलियां बनाकर रख लें. एक-एक गोली का सुबह-शाम मीठे गुनगुने दूध के साथ सेवन करें.

– योजना गुप्ता

दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें- Dadi Ma Ka Khazana

10 घरेलू उपाय डार्क अंडरआर्म्स से छुटकारा पाने के लिए (10 Best Home Remedies To Get Rid Of Dark Underarms)

dark underarms

क्या आप स्लीवलेस ड्रेसेस पहनने से स़िर्फ इसलिए हिचकिचाती हैं, क्योंकि आपके अंडरआर्म्स डार्क हैं? तो अब आपको शर्माने की कोई ज़रूरत नहीं है, क्योंकि हम आपको कुछ ऐसे असरदार उपाय बता रहे हैं जिनकी मदद से आप घर बैठे अपने अंडरआर्म्स की रंगत निखार कर सकती हैं.

shutterstock_164030132

1. सेब को कद्दूकस करके कांख पर रगड़ें. इससे वहां की रंगत भी हल्की होगी और पसीने की बदबू भी कम आएगी. सेब में एएचए होता है, जो कांख को काला बनाने वाले कीटाणुओं को ख़त्म करने में मदद करता है.
2. दो टीस्पून चंदन में दो टीस्पून गुलाबजल मिलाकर घोल बनाएं. इस मिश्रण को अंडरआर्म्स पर लगाकर पांच मिनट के लिए छोड़ दें. फिर पानी से धो लें. कुछ दिनों तक इस प्रक्रिया को रोज़ाना दोहराएं.
3. किसी माइल्ड स्किन लोशन में चुटकीभर केसर मिलाएं. इस मिश्रण को अंडरआर्म्स पर लगाकर 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें. ऐसा रोज़ाना करें.
4. एक टीस्पून शहद में एक टीस्पून नींबू का रस मिलाएं. इस मिश्रण को कांख पर लगाकर हल्के हाथों से 15 मिनट तक मसाज करें. बाद में धो लें.
5. खीरे को पतले स्लाइसेज़ में काटकर अंडरआर्म्स पर मलें.

shutterstock_195113696
6. अंडरआर्म्स पर नारियल के तेल से मालिश करने से भी फ़ायदा होता है.
7. संतरे के छिलके को चार-पांच दिनों तक घूप में सुखाकर महीन पाउडर बना लें. इस पाउडर में थोड़ा-सा गुलाबजल मिलाकर पेस्ट बनाएं. अंडरआर्म्स पर यह पेस्ट लगाकर 10 मिनट के लिए छोड़ दें. बाद में सादे पानी से धो दें.
8. दूध में कुछ ऐसे फैटी एसिड्स और विटामिन्स पाए जाते हैं जो त्वचा को चमकदार और स्वस्थ बनाने में मदद करते है. अतः अंडरआर्म्स पर दूध की कुछ बूंदें लगाकर मलें और 10 मिनट के लिए छोड़ दें. ऐसा नहाने से पहले रोज़ाना करें.
9. आलू के पतले स्लाइसेज़ काटकर कांख पर मलें.
10. शहद या दही में थोड़ा-सा हल्दी पाउडर मिलाकर अंडरआर्म्स पर लगाएं और कुछ देर बाद पानी से धो लें.

ये भी हैं ज़रूरीः एल्कोहल युक्त डिओड्रंट्स और हेयर रिमूवल क्रीम्स का ज़रूरत से ज़्यादा इस्तेमाल करने से परहेज़ करें. घर से बाहर निकलने के पहले त्वचा को पूरी तरह ढंक लें, क्योंकि घूप में मौजूद अल्ट्रा वॉयलेट किरणें त्वचा को नुक़सान पहुंचाती हैं.