Tag Archives: Navratri

नवरात्र 2020 शुभ मुहूर्त: कोरोना कर्फ्यू में ऐसे करें चैत्र नवरात्र की तैयारियां (Navratri 2020 Auspicious Time: How To Prepare For Chaitra Navratri In Corona Curfew)

चैत्र नवरात्र 2020 कल यानी 25 मार्च से शुरू हो रहे हैं. देश में कई राज्यों में कर्फ्यू के कारण कई लोग नवरात्र पूजा के लिए ज़रूरी सामान नहीं ख़रीद पा रहे हैं, जिसके चलते लोगों के मन में निराशा का भाव भी है. इस विपरीत परिस्थिति में जो भी संसाधन उपलब्ध हैं, उनसे आप किस तरह चैत्र नवरात्र की तैयारी कर सकते हैं, ये जानने के लिए हमने बात की एस्ट्रो-टैरो एक्सपर्ट व न्यूमरोलॉजिस्ट मनीषा कौशिक से. मनीषा कौशिक ने हमें कोरोना कर्फ्यू में नवरात्र की तैयारी करने के कुछ आसान उपाय बताए इस तरह बताए:

Chaitra Navratri



चैत्र नवरात्र 2020 का शुभ मुहूर्त
25 मार्च 2020 से चैत्र नवरात्र शुरू हो रहे हैं. चैत्र नवरात्र 2020 का शुभ मुहूर्त है :

* घटस्थापना मुहूर्त सुबह 6.19 से 7.17 बजे तक
* यदि आप सुबह जल्दी घटस्थापना नहीं कर पा रहे हैं, तो सुबह 11 बजे से 12.31 बजे भी घटस्थापना कर सकते हैं. ये मुहूर्त शुभ कार्य की शुरुआत के लिए भी अच्छा है.

कोरोना कर्फ्यू में ऐसे करें चैत्र नवरात्र 2020 की तैयारियां
कई लोग इस बात से परेशान हैं कि कोरोना कर्फ्यू के चलते वो नवरात्र पूजा और घटस्थापना के लिए ज़रूरी सामान नहीं खरीद पा रहे हैं. यदि आपके साथ भी ऐसा ही हो रहा है, तो घबराएं नहीं. कोरोना कर्फ्यू में आप इस तरह चैत्र नवरात्र 2020 की तैयारियां कर सकते हैं:
* यदि आप नवदुर्गा को चढ़ाने के लिए नई चुनरी नहीं ख़रीद पा रहे हैं, तो आज यानी नवरात्र से एक दिन पहले घर की पुरानी चुनरी धोकर उसका प्रयोग करें.
* आज यानी 24 मार्च 2020 दोपहर 2. 57 बजे से प्रतिपदा तिथि शुरू हो चुकी है इसलिए आज से व्रत की तैयारियां शुरू की जा सकती हैं. जो लोग व्रत करने वाले हैं, वो आज रात से लहसुन-प्याज़ खाना बंद कर दें.
* यदि किसी कारणवश पुरानी चुनरी भी नहीं धो पाए, तो चुनरी पर गंगाजल छिड़ककर फिर उसे पूजा में प्रयोग में लाएं.
* यदि आपके पास चुनरी नहीं है, तो नवदुर्गा के सिर पर मौली का एक टुकड़ा रख दें, ये भी वस्त्र का ही काम करता है.
* यदि आप घटस्थापना के लिए श्रीफल यानी नारियल नहीं ख़रीद पा रही हैं, तो मंदिर में सिर्फ घी का दीया जलाकर भी अपने व्रत की शुरुआत कर सकती हैं.
* कोरोना कर्फ्यू के चलते आपको कन्या जिमाने में भी दिक्कत आ सकती है, क्योंकि लोग अपनी लड़कियों को नहीं भी भेज सकते हैं. यदि आपको कन्या जिमाने में दिक्कत आ रही है, तो आप पूजा का भोग-प्रसाद बनाकर उसे एक थाली में नौ भागों में रख दें और उस थाली को छत में रखें. ऐसा करने से पक्षी आपका भोग-प्रसाद खाएंगे, जिससे आपको उतना ही पुण्य मिलेगा. हां, भोग के साथ छत पर पानी भी ज़रूर रखें. जिस तरह खाने के बाद हमें पानी की ज़रूरत पड़ती है, उसी तरह पक्षियों को भी प्यास लगती है, इसलिए भोग के साथ एक बर्तन में पानी भी ज़रूर रखें.

चैत्र नवरात्र 2020 का व्रत रखते समय इस बात का रखें ख़ास ध्यान
किसी भी पूजा-अर्चना, व्रत-उपवास में उसकी सामग्री से कहीं ज्यादा भक्त की भावना मायने रखती है, इसलिए आपकी पूजा या उपवास में कोई कमी रह भी जाए, तो परेशान न हों, माता रानी आपकी भावना को समझेंगी और आपको ढेर सारा आशीर्वाद देंगी.

चैत्र नवरात्र 2020 आप सभी के जीवन सुख-सौभाग्य-समृद्धि लेकर आए!

– कमला बडोनी

नवरात्रि पर विशेष: आरती… मां अम्बे की (Navratri Special: Ma Ambe Ki Aarti)

ma durga aarti
नवरात्रि पर विशेष: आरती... मां अम्बे की
नवरात्रि पर विशेष: आरती… मां अम्बे की (Navratri Special: Ma Ambe Ki Aarti)

मां अम्बे की आरती

ॐ जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी
तुम को निशदिन ध्यावत हरि ब्रह्मा शिवरी. ॐ जय अम्बे…

मांग सिंदूर विराजत टीको मृगमद को
उज्जवल से दो नैना चन्द्र बदन नीको. ॐ जय अम्बे…

कनक समान कलेवर रक्ताम्बर राजे
रक्त पुष्प दल माला कंठन पर साजे. ॐ जय अम्बे…

केहरि वाहन राजत खड़्ग खप्पर धारी
सुर-नर मुनिजन सेवत तिनके दुखहारी. ॐ जय अम्बे…

कानन कुण्डल शोभित नासग्रे मोती
कोटिक चन्द्र दिवाकर राजत सम ज्योति. ॐ जय अम्बे…

शुम्भ निशुम्भ विडारे महिषासुर धाती
धूम्र विलोचन नैना निशदिन मदमाती. ॐ जय अम्बे…

चण्ड – मुंड संहारे सोणित बीज हरे
मधु कैटभ दोऊ मारे सुर भयहीन करे.ॐ जय अम्बे…

ब्रह्माणी रुद्राणी तुम कमला रानी
आगम निगम बखानी तुम शिव पटरानी. ॐ जय अम्बे…

चौसठ योगिनी मंगल गावत नृत्य करत भैरु
बाजत ताल मृदंगा और बाजत डमरु. ॐ जय अम्बे…

तुम ही जग की माता तुम ही हो भर्ता
भक्तन की दुःख हरता सुख सम्पत्ति कर्ताॐ जय अम्बे…

भुजा चार अति शोभित वर मुद्रा धारी
मन वांछित फ़ल पावत सेवत नर-नारी. ॐ जय अम्बे…

कंचन थार विराजत अगर कपूर बाती
श्रीमालकेतु में राजत कोटि रत्न ज्योति. ॐ जय अम्बे…

श्री अम्बे जी की आरती जो कोई नर गावे
कहत शिवानंद स्वामी सुख संपत्ति पावे. ॐ जय अम्बे…

यह भी पढ़ें: धार्मिक कार्यों में शंख बजाने की परंपरा क्यों है?

नवरात्र में मां दुर्गा की आराधना करें बॉलीवुड के 11 गरबा के गानों के साथ (Best 11 Bollywood Dandiya And Garba Songs)

Best Bollywood Dandiya And Garba Songs

होली की ही तरह नवरात्रि भी बॉलीवुड का फेवरेट त्योहार रहा है. दुर्गा मां की आराधना, गरबा और डांडिया फिल्मों का अहम् हिस्सा बन चुका है. फिल्मों में कई गाने बने हैं, जो इन 9 दिनों में ख़ूब बजाए जाते हैं और लोग इन गानों पर जमकर थिरकते हैं. गरबा और डांडिया के लिए कौन से गाने हैं परफेक्ट आइए, देखते हैं.

फिल्म- गोलियों की रासलीला रामलीला

फिल्म- हम दिल दे चुके सनम

यह भी पढ़ें: 67 की हुईं शबाना आज़मी, पहली ही फिल्म में मिला था नेशनल अवॉर्ड, जानें दिलचस्प बातें 

फिल्म- सुहाग

फिल्म- काय पो चे

यह भी पढ़ें: हैप्पी बर्थ डे आशा ताई, देखें उनके टॉप 10 गाने 

फिल्म- गोलियों की रासलीला रामलीला

फिल्म- क्रांतिवीर

यह भी पढ़ें: बर्थ डे स्पेशल: ऋषि कपूर को बतौर चाइल्ड ऐक्टर मिला था पहला नेशनल अवॉर्ड, देखें टॉप 10 गाने 

फिल्म- अवतार

फिल्म- आशा

यह भी पढ़ें: Ganesh Chaturthi Special: गणपति बप्पा के टॉप 10 गाने

फिल्म- लव लव लव

फिल्म- ख़ूबसूरत

फिल्म- सपने साजन के

यह भी पढ़ें: हैप्पी बर्थडे गुलज़ार साहब! देखें उनके 10 बेहतरीन गाने 

हिंदू नव वर्ष: इस साल अमेरिका और लंदन में भी मनाया जाएगा हिंदू नव वर्ष (Hindu New Year)

हिंदू नव वर्ष

हिंदू नव वर्ष

चैत्र नवरात्र से नए साल की शुरुआत मानी जाती है. यह दिन हर हिंदुस्तानी के लिए पवित्र दिन होता है. मां दुर्गा का आगमन होने से घर में पवित्र शक्तियों का आगमन होता है और परिवार में सुख-शांति बनी रहती है. हिंदुओं के लिए नए साल की शुरुआत में देशभर में अलग-अलग तरी़के से इसे सेलिब्रेट किया जाता है. उत्तर से लेकर दक्षिण और पूर्व से लेकर पश्‍चिम तक इस नए साल के अवसर पर कई तरह के पकवान बनाए जाते हैं. हर साल चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से ही विक्रमी सम्वत शुरू होता है और इस बार नए विक्रमी सम्वत 2074 का शुभारम्भ चैत्र मास की तिथि 15 अर्थात 28 मार्च मंगलवार को होगा. मंगलवार के दिन नए साल के शुरुआत होने से ऐसा माना जा रहा है कि पूरा साल हर किसी के लिए सुखद रहेगा.

मां दुर्गा के 9 रूपों की पूजा-आराधना इन दिनों होती है. 9 कन्याओं को खिलाने की भी प्रथा है. कुछ घरों में कलश की स्थापना की जाती है. हर दिन सुबह-शाम मां दुर्गा की पूजा होती है. इस नव वर्ष से आप हर शुभ कार्य कर सकते हैं. नवरात्री के ये 9 दिन आपके लिए हर तरह से शुभ और फलदायी होते हैं. इस दिन आप नई वस्तुएं भी ख़रीद सकते हैं. कुछ लोग नई गाड़ी, नया घर सोने के गहने आदि की ख़रीददारी करते हैं. महाराष्ट्र में इसे गुड़ी पड़वा के नाम से मनाते हैं. इस दिन मीठा चावल और पूरन पोली बनती है. इस दिन गहने ख़रीदने का ख़ास प्रावधान है.

हिंदू नव वर्ष

साल 2017 कई मामलों में हिंदुओं के लिए अच्छा है. इस साल पहली बार विदेशों में भी हिंदुओं का नया साल मनाया जाएगा. अमेरिका और लंदन के लोग इस साल हिंदु नव वर्ष मनाएंगे. पूजा-आराधना की विधि वो मेल के ज़रिए भारतीय पंडितों से मंगवाएंगे. विदेशों में हिंदु नव वर्ष मनाया जाना गौरव की बात है.

क्या न करें?
हिंदु नव वर्ष के साथ ही नवरात्रि भी शुरू हो रही है. नवरात्रि के मौ़के पर इस तरह की ग़लतियां करने से बचें.
– इस 9 दिन नाख़ून काटने से लेकर पुरुषों के दाढ़ी और बाल काटने की भी मनहाई होती है.
– अगर आपने कलश की स्थापना की है, तो घर को खाली छोड़कर न जाएं.
– इन 9 दिन घर में मांसाहारी भोजन न पकाएं.
– अगर आप 9 दिन का व्रत रख रहे हैं, तो भूलकर भी अनाज और नमक का सेवन न करें.
– 9 दिन का उपवास रखने वालों को काले कपड़े नहीं पहनने चाहिए.