Tag Archives: Nicktoons

Exclusive Interview: शांतनु माहेश्वरी का ये नया रोल आपको बहुत पसंद आएगा (Exclusive Interview: Are You Curious To Know KKK Winner Shantanu Maheshwari New Role?)

Exclusive Interview, KKK Winner, Shantanu Maheshwari

हाल ही में एक से बढ़कर एक स्टंट करके खतरों के खिलाड़ी सीज़न 8 (Khatron Ke Khiladi 8) जीतने वाले शांतनु माहेश्‍वरी (Shantanu Maheshwari) को अब बच्चों का साथ लुभा रहा है. जी हां, बहुत जल्दी आप शांतनु माहेश्‍वरी को एक कार्टून कैरेक्ट में देखेंगे. इन दिनों शांतनु माहेश्वरी एम टीवी के न्यू शो लव ऑन द रन (Love On The Run) के होस्ट के रूप में भी टेलीविज़न पर नज़र आ रहे हैं. शांतनु के इस न्यू लुक और नए किरदार के बारे में आइए, शांतनु से ही जानते हैं.

Exclusive Interview, KKK Winner, Shantanu Maheshwari

आप पहली बार कार्टून कैरेक्टर प्ले कर रहे हैं. कैसा लग रहा है ये अनुभव?
सच में बहुत मज़ा आ रहा है. कार्टून कैरेक्टर प्ले करना, डांस करना… मेरे लिए ये एक्सपीरियंस बहुत अलग है. मुझे ये सब करने में बहुत मज़ा आ रहा है. मेरा ये न्यू लुक आप निकलोडियन चैनल पर गट्टू-बटूटू शो में देख सकेंगे. मैं गट्टू का रोल प्ले कर रहा हूं और मेरे साथ बट्टू का रोल योगेश प्ले कर रहे हैं. अब हम सब मिलकर परफॉर्म करेंगे और बच्चों को खूब एंटरटेन करेंगे.

बचपन में अपके फेवरेट कार्टून कैरेक्टर कौन-से थे?
बचपन में मेरे फेवरेट कार्टून कैरेक्टर टॉम एंड जेरी थे. मैं ये कार्टून शो बहुत देखता था. दरअसल, मैं उन्हें ख़ुद से कनेक्ट कर पाता हूं. मैं भी टॉम एंड जेरी की तरह भागता रहता हूं और किसी न किसी को पकड़ता रहता हूं. आजकल मुझे मोटू-पतलू कार्टून कैरेक्टर अच्छे लगते हैं. और हां, जिनका रोल मैं प्ले करूंगा गट्टू-बट्टू, वो भी मुझे बहुत पसंद हैं.

क्या आपको बच्चों का साथ अच्छा लगता है?
हां, मुझे बच्चों की कंपनी बहुत पसंद है, ख़ासकर जब बच्चे झुंड में होते हैं. उस समय उनके साथ ज़्यादा मज़ा आता है. उस समय वो सब अलग-अलग हरकतें करते रहते हैं, शैतानियां करते रहते हैं, जिसे देखना बहुत अच्छा लगता है. मुझे बच्चों को हंसाना और कभी-कभी उन्हें डराना भी अच्छा लगता है.

क्या आप भी बचपन में शरारती थे?
मैं आपको अपनी एक अजीब आदत के बारे में बताता हूं. बचपन में मुझमें एक बड़ी अजीब आदत थी. मैं मम्मी-पापा को घर से कोई भी चीज़ फेंकने ही नहीं देता था. वो जो भी चीज़ें डस्टबिन में फेंकते थे, मैं उन्हें उठा लेता था और उनसे कुछ न कुछ नया बना देता था, जैसे- कभी तराजू बना लिया, कभी कैमरा बना लिया… आज ये सब याद करता हूं तो बहुत हंसी आती है, लेकिन उस व़क्त मुझे ये सब करने में बहुत मज़ा आता था.

अपने फैन्स से आपको किस तरह के कॉम्प्लिमेंट्स मिलते हैं?
लोग कहते हैं कि मैं बॉय नेक्स्ट डोर लगता हूं, उन्हें लगता है कि मैं उनके घर का ही बच्चा हूं, उन्हें लगता है जैसे वो मुझे पहले से जानते हैं… मेरे फैन्स जब मुझे इस तरह के कॉम्प्लिमेंट्स देते हैं, तो मुझे बहुत अच्छा लगता है. वो मुझे स्वीट, क्यूट… जाने क्या-क्या कहते हैं. हां, लड़कियां जब अपने प्यार का इज़हार करती हैं, तो थोड़ा अजीब ज़रूर लगता है. दरअसल, लोग हमें टेलीविज़न पर रोज़ देखते हैं इसलिए वो हमारे कैरेक्टर से कनेक्ट हो जाते हैं. वो हमें बहुत प्यार देते हैं. मैं जब भी कहीं जाता हूं और लड़कियां मुझसे पहली बार मिलने पर अपने प्यार का इज़हार करने लगती हैं, तो मुझे ख़ुशी होती है, लेकिन मैं थोड़ा एम्बेरेस (असहज) भी हो जाता हूं. इस सिचुएशन में मुझे समझ नहीं आता कि कैसे रिएक्ट करूं.

यह भी देखें: देखें Pics: बच्चों के साथ श्वेता तिवारी पहुंचीं वैष्णों देवी

Exclusive Interview, KKK Winner, Shantanu Maheshwari

क्या आपने सोचा था कि आप खतरों के खिलाड़ी सीज़न 8 (Khatron Ke Khiladi 8) जीत जाएंगे?
मैंने खतरों के खिलाड़ी सीज़न 8 में ये सोचकर हिस्सा नहीं लिया था कि मैं जीतूंगा ही. हां, मैंने ये ज़रूर सोचा था कि मैं अपना बेस्ट करूंगा. मैं जानता था कि खतरों के खिलाड़ी शो में मुझे बहुत सारे खतरों को फेस करना है, लेकिन मैं इसके लिए मेंटली तैयार था. खतरों के खिलाड़ी में हिस्सा लेना मेरे लिए स्पेन घूमने का मौका था, लोगों से मिलने का मौका था, अलग-अलग स्टंट करने का मौका था… इन सबका एक्सपीरियंस बहुत अच्छा था. मैं फ्लो के साथ आगे बढ़ता चला गया और जीत भी गया. खतरों के खिलाड़ी सीज़न 8 मेरे लिए एक बड़ा अचीवमेंट है.

खतरों के खिलाड़ी 8 (Khatron Ke Khiladi 8) शो के दौरान कौन-से स्टंट्स आपके लिए चैलेंजिंग थे?
मुझे चिकन वाला स्टंट बिल्कुल अच्छा नहीं लगा. और हां, पानी वाला टास्क भी मेरे लिए मुश्किल था. मैं अच्छा स्विमर नहीं हूं इसलिए उसे करने में मुझे बहुत तकलीफ़ हुई.

शांतनु माहेश्‍वरी और डांस को कैसे डिसक्राइब करेंगे?
मैं डांस के लिए इतना ही कह सकता हूं कि डांस के बिना शांतनु माहेश्‍वरी जी नहीं सकता.

आपको डांस का शौक कब हुआ?
मेरी मां को डांस का बहुत शौक था, लेकिन उन्हें उनके बचपन में डांस करने का मौका नहीं दिया गया, इसलिए वो चाहती थीं कि उनके बच्चों में ये टैलेंट हो. तो बस, उनके इस बच्चे में डांस का टैलेंट आ गया. मेरे डांस में मेरी मां बहुत बड़ा योगदान है, मां ने हमेशा मेरे डांस को बढ़ावा देने की हर मुमकिन कोशिश की है.

क्या आप सिंगल चाइल्ड हैं?
(हंसते हुए) नहीं, मैं ड्वेल चाइल्ड हूं. हम दो भाई हैं. हम ज्वाइन फैमिली में रहते हैं, इसलिए एक और भैया भी हैं, मैं घर में सबसे छोटा था इसलिए इन सबके काम मैं ही किया करता था. (हंसते हुए) जैसे ऑफिस में रनर बॉय होता है ना, बस समझ लीजिए मैं अपने घर का रनर बॉय ही था. ख़ास बात ये है कि हम सब में बहुत अच्छी बॉन्डिंग है.

यह भी देखें: दया बेन बनीं मां, बेटी को दिया जन्म

Exclusive Interview, KKK Winner, Shantanu Maheshwari

क्या आपको बचपन में कभी मार पड़ी है?
मैंने बचपन में शैतानियां बहुत की हैं इसलिए घर में सबसे ज़्यादा मार भी मुझे ही पड़ी है और मैं घर का सबसे छोटा बेटा था, इसलिए सबसे ज़्यादा प्यार भी मुझे ही मिला है.

क्या आपको गुस्सा आता है?
हां, मुझे गुस्सा तो बहुत आता है, लेकिन मैं अपने गुस्से को कंट्रोल कर लेता हूं. लेकिन जब कोई झूठ बोलता है, तब मैं अपना गुस्सा कंट्रोल नहीं कर पाता.

ऐसी कौन-सी चीज़ है जो आपको अपनी पर्सनैलिटी में सबसे अच्छी लगती है?
मैं बहुत मेहनती हूं और अपना हर काम पूरी मेहनत और लगन से करता हूं.

आपकी पर्सनैलिटी की बुरी बात क्या है?
मैं बहुत ज़्यादा इमोशनल हूं, इतना ज़्यादा सेंसिटिव होना शायद ठीक नहीं है.

क्या आप कभी झूठ बोलते हैं?
वैसे तो मैं झूठ नहीं बोलता, लेकिन छोटे-मोटे झूठ बोल लेता हूं, जैसे- भले ही मुझे पहुंचने में एक घंटा लगने वाला हो, लेकिन मैं कह देता हूं, बस पहुंचने ही वाला हूं.

– कमला बडोनी

यह भी देखें: Pics: ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ के नैतिक के बेटे का हुआ अन्नप्राशन

[amazon_link asins=’B0777J1P3M,B01LWTDKY3,B017NU6LZM’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’c997892c-e582-11e7-84fe-b9f93d719a2b’]