Tag Archives: orgasm

20 सेक्स फैक्ट्स, जो हर कपल जानना चाहता है (20 Sex Facts Every Couple Must Know)

सेक्स, रोमांस, प्यार, चाहत, मोहब्बत हर किसी के लिए प्यार के अपने मायने होते हैं. भले ही इसके अनगिनत नाम हों, पर एहसास तो एक ही है, एक-दूसरे को दुनिया जहां की ख़ुशियां देने का जुनून, एक-दूसरे पर मर-मिटने को तैयार, एक-दूसरे की ख़ातिर सब कुछ कुर्बान कर देने का जज़्बा… हर कपल (Couple) के लिए सेक्स (Sex) एक ऐसा विषय है, जिसके बारे में वो जानना तो बहुत कुछ चाहता है, पर बहुत बार आधी-अधूरी जानकारी ही उसके पास होती है. सेक्स से जुड़े ऐसे ही कई पहलुओं के बारे में हर कपल को हम रूबरू करा रहे हैं..

Sex Facts

  1. अक्सर ऐसा सोचा और कहा जाता है कि बच्चे के जन्म के बाद पत्नी को सेक्स में रुचि नहीं रह जाती, जो कि सरासर ग़लत है. रिसर्च बताते हैं कि बच्चे के जन्म के बाद क्लाइमेक्स (चरमोत्कर्ष) की तीव्रता बढ़ जाती है. इसका कारण है नर्व एंडिग का ज़्यादा सेंसिटिव होना.
  2. कम्युनिकेशन (संवाद) बनाए रखें. यह आपसी प्यार और रिश्ते की मज़बूती के लिए बहुत ज़रूरी है. इससे सेक्स लाइफ़ में भी सुधार होता है, क्योंकि बातचीत आपको क़रीब लाती है. इनके अभाव में रिश्ता पनप नहीं पाता.
  3. कभी-कभार आप भी सेक्स के लिए पहल करें. अक्सर महिलाएं ऐसा करने से हिचकिचाती हैं, पर ध्यान रहे, आपका पहल करना उन्हें सुखद एहसास में डुबा देता है. यदि बच्चे छोटे हैं तो सेक्स लाइफ़ में मुश्किलें भी आती हैं और महिलाएं इतनी खुली व रिलैक्स भी नहीं रह पातीं, ऐसे में बच्चों के सोने का इंतज़ार करने से अच्छा है जब भी मौक़ा लगे, प्यार में खो जाएं.
  4. कई बार महिलाएं समझ ही नहीं पातीं कि कौन-सी चीज़ उन्हें उत्तेजित करती है. पहले ख़ुद ही पता लगाएं. कई बार वे जानकर भी बताने से शरमाती हैं. अतः ख़ुद ही कल्पना करें व एन्जॉय करें. जब सहज लगे, तब पति को बताएं. इससे फोरप्ले मेंं आसानी होती है.
  5. शरीर का बेडौल होना या शेप में न होना कई बार महिलाओं में हीनता की भावना भर देता है. इसका एक कारण टीवी तथा फ़िल्मों में ङ्गजीरो फ़िगरफ को महत्व दिया जाना है. याद रखें, वास्तविक जीवन फिल्मों से बहुत अलग होता है. आत्मविश्‍वास बनाए रखें, तभी आप पति से जुड़ पाएंगी. हां, बैलेंस्ड डायट व व्यायाम के ज़रिए सुडौल शरीर पाने की कोशिश अवश्य करें.
  6. बच्चे होने के बाद उनकी देखभाल व घर के कामकाज महिलाओं को बहुत थका देते हैं. उन्हें सेक्स की इच्छा ही नहीं रह जाती. अपने आराम के लिए अवश्य समय निकालें, तभी आपका सेक्स जीवन संतुष्टिपूर्ण होगा. चिड़चिड़ाहट नहीं होगी और आप ख़ुश रहेंगी.
  7. सेक्स में आप क्या चाहती हैं? आपको क्या अच्छा लगता है? ये पति को बताएं, परंतु सेक्स के दौरान नहीं, जब आप दोनों रिलैक्स हों, सही समय हो और मूड भी हो, क्योंकि इन बातों के लिए सही समय होना बहुत ज़रूरी है.
  8. एक-दूसरे की कंपनी एन्जॉय करें. धीरे-धीरे प्यार की ओर बढ़ें. सेक्स से पूर्व काफ़ी देर तक किया गया फोरप्ले दोनों को चरम संतुष्टि देता है.
  9. आजकल अलग-अलग रंगों व ख़ुशबुओं में कंडोम मिलते हैं. ये कई प्रकार के होते हैं, जैसे- लुब्रिकेटेड, रिंड व डॉटेड. इससे फोरप्ले के दौरान उत्तेजना और आनंद बढ़ता है. अतः इसका उपयोग करें.
  10. सेक्स संबंधी क़िताबों, फ़िल्मों, कहानियों में सेक्स को बढ़ा-चढ़ाकर बताया जाता है. सत्य यह है कि सामान्य कपल्स ह़फ़्ते में 1 या 2 या इससे भी कम बार सेक्स करते हैं. अतिशयोक्ति पर विश्‍वास न करें. ध्यान रखें, क्वांटिटी की अपेक्षा क्वालिटी महत्वपूर्ण होती है.

    यह भी पढ़ें: महिलाओं के 10 कामोत्तेजक अंग (Top 10 Sexiest Erogenous Parts Of A Women’s Body)

Sex Facts

11. क्लाइमेक्स, चरमोत्कर्ष या ऑर्गेज़्म एक आनंददायी संतुष्टिपूर्ण अनुभव है. कई जोड़े इस बात से नाराज़ रहते हैं कि दोनों एक साथ चरमोत्कर्ष पर नहीं पहुंचते. ऐसा हो सकता है, परंतु इससे कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता. महिलाएं एक से अधिक बार ऑर्गेज़्म का अनुभव करती हैं.

12. अच्छी सेक्स लाइफ़ के लिए आपका शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ रहना बहुत आवश्यक है. इसके लिए महत्वपूर्ण है बैलेंस्ड डाइट, थोड़ी-बहुत एक्सरसाइज़, भरपूर नींद औैर ज़्यादा चाय, कॉफी, सिगरेट या शराब का सेवन न करना.

13. सस्ती सेक्स क़िताबों, पोर्नोग्राफ़िक फ़िल्मों और समाचार-पत्रों में आए दिन कई विज्ञापनों में पेनिस (लिंग) के आकार या लंबाई को बढ़ा-चढ़ाकर एवं कम लंबाई को एक समस्या के रूप में दिखाया जाता है, जिससे युवावर्ग भ्रमित हो जाता है और तनावग्रस्त रहकर उल्टे-सीधे उपाय करने लगता है. ये सब ग़लत है. छोटे आकार से ऑर्गेज़्म में कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता, क्योंकि योनि का केवल एक तिहाई भाग ही सेंसिटिव होता है. अतः सही सेक्स पोज़ीशन में छोटा लिंग भी पूरी तरह चरमोत्कर्ष दे सकता है.

14. सेक्स करते समय किसी और पुरुष की कल्पना उत्तेजित करती है और सेक्स का आनंद बढ़ाती है. अतः कल्पना करें. इसके लिए मन में किसी तरह का अपराधबोध न आने दें. इसमें कोई बुराई नहीं है.

15. यदि पति-पत्नी दोनों वर्किंग हैं, व्यस्त हैं, रात को देर से आते हैं, तो उनकी सेक्स लाइफ़ न के बराबर होती है. ऐसे में बेहतर होता है कि सुबह उठकर फ्रेश मूड में सेक्स का
आनंद उठाएं.

16. कुछ सालों के बाद सेक्स लाइफ़ बोरिंग हो जाती है. इसलिए एक्सपेरिमेंट करते रहें. अलग-अलग पोज़ीशन ट्राई करें. कुछ ऐसा, जो ज़िंदगी में रंग भर दे.

17. सेक्स दोनों को शारीरिक ही नहीं, मानसिक रूप से भी क़रीब लाता है. यही जुड़ाव दांपत्य जीवन की नींव है. ख़ुद का ध्यान रखना, संवरना, ख़ूबसूरत दिखना ज़रूरी है.

18. बढ़ती उम्र के साथ-साथ सेक्स लाइफ़ को जीवंत रखना एक चुनौती है. इसके लिए फोरप्ले का समय बढ़ाएं. नए तरी़के आज़माएं. अपने पुराने दिनों को याद करें. परंतु सेक्स करना बंद ना करें.

19. यदि सेक्स की इच्छा है, परंतु आप बहुत थके हुए व तनावग्रस्त महसूस कर रहे हैं, तो डरावनी फ़िल्म या हॉरर शो देखें या 1 कप कॉफी पीएं. आपका दिल ज़ोरों से धड़कने लगेगा. इससे शरीर में एड्रीनलीन की मात्रा बढ़ जाएगी. यही वह केमिकल है, जो सेक्सुअल एक्साइटमेंट (उत्तेजना) पैदा करता है.

20. रिसर्च बताते हैं कि सिगरेट व शराब सेक्स की क्रिया को प्रभावित करते हैं, क्योंकि इनका सीधा संबंध आपके ब्लड सर्कुलेशन और नर्वस सिस्टम पर प़ड़ता है. इससे उत्तेजना, योनि की चिकनाहट और सेंसेशन कम होता है. शराब व सिगरेट पुरुषों व महिलाओं दोनों पर समान असर डालती है.

 

– डॉ. सुषमा श्रीराव

 

यह भी पढ़ें: हर किसी को जाननी चाहिए सेक्स से ज़ुड़ी ये 35 रोचक बातें (35 Interesting Facts About Sex)

जानें वो 10 कारण जो आपको ऑर्गैज़्म से वंचित रख रहे हैं? (10 Reasons You’re Not Having An Orgasm)

सेक्स (Sex) और रोमांस (Romance) का इतना एक्सपोज़र होने के बावजूद आज भी बहुत-सी ऐसी महिलाएं (Women) है, जो ऑर्गैज़्म (Orgasm) से वंचित रह जाती हैं. ऑर्गैज़्म न आने के कई कारण हैं, पर ज़्यादातर मामलों में देखा गया है कि महिलाएं ख़ुद इसके लिए कोई ख़ास कोशिश नहीं करतीं. ऑर्गैज़्म एक ऐसा एहसास है, जो न स़िर्फ महिलाओं को आत्मिक सुख का एहसास कराता है, बल्कि उन्हें पूर्णता का एहसास भी कराता है. अपनी शादीशुदा ज़िंदगी को और रोमानी बनाना चाहती है, तो ऑर्गैज़्म बहुत ज़रूरी है. तो फिर ऐसा क्या है, जो आपको इस एहसास से वंचित रख रहा है, आइए जानते हैं.

Reasons Of Not Having An Orgasm

1. आप डेस्क जॉब करती हैं

लगातार बैठकर काम करनेवाली महिलाओं की पेल्विक मसल्स शॉर्ट होने लगती हैं, जिससे उन्हें पेल्विक पेन होता है. पेल्विक पेन आपके ऑर्गैज़्म में बाधा बनता है. इसके लिए मैरिज काउंसलर और सेक्स थेरेपस्टिस्ट काम के दौरान हर आधे घंटे में अपनी सीट से उठने की सलाह देते हैं. बीच-बीच में ये ब्रेक आपकी पेल्विक मसल्स को मज़बूती प्रदान करते हैं.  स्न्वैट्स और बटरफ्लाई एक्सरसाइज़ेस पेल्विक मसल्स की मज़बूती के लिए बेस्ट हैं.

2. बहुत ज़्यादा हाई हील्स पहनती हैं

हाई हील्स पहनना न स़िर्फ आपके पैरों में दर्द का कारण बनता है, बल्कि यह आपको ऑर्गैज़्म से भी वंचित रख सकता है. दरअसरल, पैरों की सोअस मसल्स पेल्विक नर्व्स से जुड़ी होती हैं, जिनके डैमेज होने से ऑगैऱ्ज्मवाला सिग्नल आप तक जल्दी नहीं पहुंचता. इसलिए ज़रूरी है कि आप अपने सोअस मसल्स को ध्यान में रखते हुए बहुत ज़्यादा हाई हील्स न पहनें और न ही बहुत ज़्यादा देर तक पहनें.

3. पानी कम पीती हैं

पानी की कमी से न स़िर्फ रोज़मर्रा की हेल्थ प्रॉब्लम्स, जैसे- कब्ज़ और थकान की समस्या होती है, बल्कि यह आपके ऑर्गैज़्म को भी प्रभावित करता है. आपके शरीर में मौजूद अरॉउज़ल टिश्यूज़ को बेहतर ढंग से काम करने के लिए फ्लूइड की ज़रूरत होती है, जिसकी पूर्ति शरीर को हाइड्रेटेड रखकर ही की जा सकती है. अगर आप डिहाइड्रेशन का शिकार हैं, तो आपके लिए ऑगैऱ्ज्म पाना और भी मुश्किल हो जाता है. इसलिए कोशिश करें कि रोज़ाना 7-8 ग्लास पानी ज़रूर पीएं.

4. सेक्स के दौरान चुप रहना

शायद आपको यह बात पता नहीं होगी कि सेक्स के दौरान की चुप्पी आपको ऑर्गैज़्म से वंचित रख सकती है. अगर सेक्स के दौरान आप आवाज़ नहीं करतीं या सिसकारी नहीं भरतीं, तो ऑर्गैज़्म मिलने में आपको काफ़ी व़क्त लगता है. अगर सेक्स के दौरान आप आवाज़ करती हैं, तो आपको ऑर्गैज़्म जल्दी और लंबे समय तक मिलता है.

 

5. दवाइयां हैं ज़िम्मेदार

दवाइयों में मौजूद प्रोलैक्टिन एक ऐसा तत्व है, जो आपकी सेक्स ड्राइव को कमज़ोर बनाता है. इसके लगातार इस्तेमाल से महिलाओं में सेक्स में रुचि कम हो जाती है. अगर आप भी लंबे समय से ब्लड प्रेशर की दवाइयां, बर्थ कंट्रोल पिल्स या फिर एंटीडिप्रेसेंट का इस्तेमाल कर रही हैं, तो समझ जाएं कि आपके और आपके ऑर्गैज़्म के बीच कौन दुश्मन बनकर खड़ा है. ऐसी स्थिति से निपटने के लिए सेक्स थेरेपिस्ट महिलाओं को लुब्रिकेंट इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं.

यह भी पढ़ें: जानें सुबह के वक़्त सेक्स के 5 फ़ायदे (5 Health Benefits Of Morning Sex)

Orgasm
6. ऑक्सीटॉसिन लेवल बहुत कम है

एक्सपर्ट्स के मुताबिक ऑर्गैज़्म के लिए ‘फील गुड’ या ‘लव हार्मोन’ कहा जानेवाला ऑक्सीटॉसिन हार्मोन का लेवल बहुत मायने रखता है. अगर आपके शरीर में इसका लेवल कम है, तो आपको ऑर्गैज़्म मिलने में मुश्किल होती है. ऑक्सीटॉसिन की कमी का कारण स्ट्रेस है, जो आजकल अमूनन हर किसी को परेशान करता है. पार्टनर के साथ ज़्यादा से ज़्यादा व़क्त बिताना, किसिंग और हगिंग इस हार्मोन के प्रोडक्शन को बढ़ाने में मदद करता है.

7. ब्लैडर का फुल रहना

जिस तरह सेक्स के बाद यूरिन पास करना आपको यूरिनरी ट्रैक्ट से बचा सकता है, ठीक उसी तरह सेक्स से पहले ब्लैडर खाली करके आप ऑर्गैज़्म जल्दी पा सकती हैं. ब्लैडर फुल होने पर ऑर्गैज़्म की फीलिंग जल्दी नहीं आती. ख़ासतौर से महिलाएं संबंध बनाने से पहले यूरिन पास करें, ताकि ब्लैडर खाली रहे और आप उस व़क्त को एंजॉय कर सकें.

8. आप मास्टरबेशन नहीं करतीं

आज भी बहुत-सी महिलाएं इसे ग़लत मानती हैं, जिसका सीधा असर उनकी सेक्स लाइफ और उनके ऑर्गैज़्म पर पड़ता है. मास्टरबेशन एक ऐसी प्रक्रिया है जसिके ज़रिए आप ख़ुद को संतुष्ट करती हैं. मास्टरबेशन के दौरान आपकी फैंटसीज़ चरम पर होती हैं और आप खुद को संतुष्ट करने के लिए अपनी बॉडी को बेहतर समझती हैं, जो पार्टनर के साथ सेक्स करते वक़्त आपको ऑर्गैज़्म दिलाने में आपको मदद करता है. एक्सपर्ट भी सप्ताह में एक बार मास्टरबेशन की सलाह देते हैं.

9. पार्टनर को अपनी फैंटसीज़ नहीं बतातीं

यह भी एक कारण है कि आप ऑर्गैज़्म तक नहीं पहुंच पातीं. आप क्या चाहती हैं, क्या नहीं चाहती इस बारे में पार्टनर को खुलकर्र नहीं बतातीं। आपको दर है कि कहीं वो आपको ग़लत न समझ ले. पर ज़रूरी नहीं ऐसा हो. हो सकता है उसे अच्छा लगे कि आपने अपने दिल की बात उनसे कही. जब आपकी फैंटसीज़ पूरी होंगी, तो आपको ऑर्गैज़्म मिलना ही है.

10.  दिमाग़ ही दुश्मन है

आपने अपने दिमाग में यह बात बिठा ली है कि ऑर्गज़्म आपके लिए नहीं बना है. अगर शादी के इतने सालों में इसका एहसास नहीं हुआ तो, अब कभी नहीं होगा. लेकिन ऐसा है नहीं, हो सकता है, आपने इसके लिए कोशिश ही नहीं की. महिलाओं को पुरुषों के मुकाबले ऑर्गैज़्म मिलने में थोड़ा समय लगता है और यह बात बहुत काम पुरुषों को पता होती है. महिलाओं को भी उस सुख का एहसास हो इसके लिए महिलाओं को ही पहल करनी होगी. आप टॉप पोज़िशन ट्राय करें आपको इसका जल्द एहसास होगा.

 

 – अनीता सिंह   

यह भी पढ़ें: माथे पर क्यों किस करते हैं पार्टनर्स? (What It Means When Partner Kisses On Forehead?)

यह भी पढ़ें: कितना फ़ायदेमंद है हस्तमैथुन? (Health Benefits Of Masturbation)

नहीं जानते होंगे आप ऑर्गैज़्म से जुड़ी ये 10 बातें (10 Surprising Facts Of Female Orgasm)

Surprising Facts Of Female Orgasm
नहीं जानते होंगे आप ऑर्गैज़्म से जुड़ी ये 10 बातें (10 Surprising Facts Of Female Orgasm)

सेक्स या सेक्सुअल लाइफ में ऑगैज़्म यानी चरमसुख बहुत मायने रखता है. आज भी बहुतसी महिलाएं ऑगैज़्म तक नहीं पहुंच पाती, जिससे सेक्स उनके लिए उनका आनंददायक नहीं बन पाता, जितना उनके पार्टनर के लिए, इसलिए ऑर्गैज़्म से जुड़ी ये ज़रूरी बातें आपको भी पता होनी चाहिए…

Surprising Facts Of Female Orgasm

1. ऑर्गैज़्म पेनकिलर का काम करता है

आपको सिरदर्द है, तो कोई और उपाय करने से पहले एक बार सेक्स ट्राई करें. दरअसल, सेक्स के दौरान शरीर में ऑक्सीटॉसिन रिलीज़ होता है, जो हमें रिलैक्स करता है, तभी तो ऑर्गैज़्म आपके सिरदर्द के लिए बेहतरीन पेनकिलर का काम करता है.

2. कंडोम ऑर्गैज़्म क्वालिटी को अफेक्ट नहीं करता

अगर आपको लगता है कि कंडोम पहनने से सेक्स प्रक्रिया उतनी आनंददायक नहीं रहती, जितनी होनी चाहिए, तो यकीन मानिए एक्सपर्ट्स आपसे बिल्कुल इत्तेफ़ाक नहीं रखते. उनके मुताबिक कंडोम पहनने या न पहनने का ऑर्गैज़्म पर कोई असर नहीं पड़ता. यह ऑर्गैज़्म में बिल्कुल भी अड़चन नहीं बनता.

3. 30% महिलाएं ऑर्गैज़्म से वंचित रह जाती हैं

अगर आप ऑर्गैज़्म का अनुभव करने में सक्षम नहीं हो पाई हैं, तो घबराएं नहीं, बल्कि आपको यह जानकर हैरानी होगी कि लगभग 30% महिलाएं ऑर्गैज़्म तक नहीं पहुंच पातीं. कभी-कभार इसका कारण फीमेल सेक्सुअल डिस्फंक्शन भी होता है. अगर आप भी क्लाइमैक्स तक नहीं पहुंच पा रही हैं, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें. आप चाहें, तो डायबिटीज़ या थायरॉइड भी चेक करवा सकती हैं.

4. जी स्पॉट आपके ऑर्गैज़्म को बेहतर बना सकता है

अक्सर बहुत-सी महिलाओं को अपने जी-स्पॉट के बारे में पता ही नहीं होता. आपको पता होना चाहिए कि वेजाइना के किस हिस्से में स्टिमुलेशन होने पर आप ऑर्गैज़्म तक पहुंचती हैं. आमतौर पर जी स्पॉट का टेक्स्चर रफ होता है, इसलिए इसे ढूंढ़ना बहुत मुश्किल नहीं. अपने जी स्पॉट की पहचान कर आप ऑर्गैज़्म तक आसानी से पहुंच सकती हैं.

5. उम्र के साथ ऑर्गैज़्म बेहतर होता जाता है

कहते हैं उम्र के साथ बहुत-सी चीज़ें बेहतर होती जाती हैं और ऑर्गैज़्म भी उसी का एक हिस्सा है, जो उम्र के साथ और बेहतर होता जाता है. रिपोर्ट्स की मानें, तो बढ़ती उम्र में महिलाओं को ऑर्गैज़्म आसानी से और जल्दी मिलता है, जो कि कम उम्र में उतनी जल्दी नहीं मिलता. जहां 18-24 साल की लड़कियों में मात्र 61% को ऑर्गैज़्म मिलता है, वहीं 30 की उम्र की लगभग 65% महिलाओं को ऑर्गैज़्म मिलता है, तो वहीं 40-50 की उम्र की 70% महिलाओं को ऑर्गैज़्म मिलता है.

यह भी पढ़ें: सेक्स रिसर्च: सेक्स से जुड़ी ये 20 Amazing बातें, जो हैरान कर देंगी आपको

Surprising Facts Of Female Orgasm

6. अलग-अलग पोज़ीशन्स से जल्दी ऑर्गैज़्म मिलता है

अगर आप रोज़ ही एक ही सेक्स पोज़ीशन ट्राई करती हैं और ऑर्गैज़्म तक नहीं पहुंच पातीं, तो आज कुछ अलग ट्राई करें. आज आप एक या दो पोज़ीशन्स ट्राई करें, इसके अलावा ओरल सेक्स को भी इसमें शामिल करें.

7. आपका आत्मविश्‍वास ऑर्गैज़्म को प्रभावित करता है

महिलाएं अक्सर अपने प्राइवेट पार्ट्स को लेकर काफ़ी कॉन्शियस रहती हैं, पर उसकी ज़रूरत नहीं, क्योंकि वेजाइना को कोई परफेक्ट शेप या साइज़ जैसी चीज़ नहीं होती. आपका प्राइवेट पार्ट जैसा भी है, आपको उसमें कॉन्फिडेंस होना चाहिए, क्योंकि आपका आत्मविश्‍वास ही आपको बेहतर ऑर्गैज़्म दिला सकता है.

8. महिलाओं के लिए टॉप पोज़ीशन

सेक्सोलॉजिस्ट्स के मुताबिक जिन महिलाओं को जल्दी ऑर्गैज़्म नहीं मिलता, उन्हें टॉप पोज़ीशन ट्राई करनी चाहिए, इसमें उन्हें जल्दी ऑर्गैज़्म मिलता है. बहुत-सी महिलाएं पूरी ज़िंदगी यही सोचती हैं कि सेक्स करना पति की ज़िम्मेदारी है, उन्हें बस उसमें साथ देना है, जबकि ऐसा है. संभोग को जब तक दोनों समान रूप से एंजॉय नहीं करेंगे, दोनों को ही उस चरमसुख की प्राप्ति नहीं होगी.

9. दुर्लभ मामलों में एक्सरसाइज़ से भी हो सकता है ऑर्गैज़्म

एक्सपर्ट की मानें, तो कुछ लोगों को एक्सरसाइज़ या मसाज के दौरान भी ऑर्गैज़्म मिल सकता है, हालांकि यह बहुत दुर्लभ स्थिति है. ऐसा बिरले लोगों के साथ ही होता है. दरअसल, एक्सरसाइज़ या मसाज के दौरान रक्त संचार बढ़ जाता है. अगर किसी के प्राइवेट पार्ट्स में ब्लड फ्लो बढ़ जाए, तो उसे ऑर्गैज़्म मिल सकता है. उदाहरण के लिए किसी को ट्रेडमिल पर चलने मात्र से ऑर्गैज़्म आ सकता है.

10. ज़्यादातर महिलाओं को ऑर्गैज़्म में व़क्त लगता है

यह तो सभी को पता है कि महिलाओं को पुरुषों की तुलना में ऑर्गैज़्म देरी से आता है, पर यह पूरी तरह सामान्य है. इसके लिए आप यह बिल्कुल न सोचें कि आपमें कोई कमी है, बल्कि अपनी सेक्स लाइफ को एंजॉय करें. याद रखें, आप अपनी सेक्स लाइफ को जितना इंट्रेस्टिंग बनाएंगी, ऑर्गैज़्म उतनी जल्दी मिलेगा.

– अनीता सिंह 

यह भी पढ़ें: सेक्सुअल हेल्थ के 30+ घरेलू नुस्खे

 

जानें जिम के 8 Exciting सेक्स बेनेफिट्स(8 Exciting Sex Benefits Of Gym)

जिम में रोज़ाना एक्सरसाइज़ करने से न स़िर्फ बॉडी फिट एंड फाइन रहती है, बल्कि ये सेक्स लाइफ को हेल्दी बनाने में भी मदद करता है. रेग्युलर जिम जाना आपके अंतरंग पलों के लिए क्यों फ़ायदेमंद है? आइए, जानते हैं.

Depositphotos_5420299_m

1. टेस्टोस्टेरॉन लेवल बढ़ता है

अंतरंग पलों में टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. ये हार्मोन सेक्स की इच्छा और क्रियाशीलता के लिए उत्तरदायी है. रिसर्च बताती है कि रेग्युलर एक्सरसाइज़, ख़ासकर जिम में किए जानेवाले स्न्वैट्स से टेस्टोस्टेरॉन लेवल बढ़ता है.

2. एनर्जी लेवल बढ़ता है

रेग्युलर एक्सरसाइज़ करने से एनर्जी लेवल बढ़ता है और ये एनर्जी सेक्स लाइफ में भी आपको एनर्जेटिक बनाए रखता है और आप सेक्स को ज़्यादा एंजॉय कर पाते हैं.

3. आत्मविश्‍वास बढ़ता है

मोटापा सेक्स के लिए हानिकारक है. इससे जल्दी थकान महसूस होने लगती है और मोटापे का शिकार व्यक्ति पार्टनर को संतुष्ट नहीं कर पाता. इससे उसका आत्मविश्‍वास टूट जाता है और वह सेक्स से दूर भागने लगता है. जिम में एक्सरसाइज़ करने से मोटापा कम होता है और टेस्टोस्टेरॉन लेवल बढ़ने से सेक्स की इच्छा जागने लगती है.

ये भी पढें: मसाज थेरेपी फॉर बेटर सेक्स

4. मिलती है टोन्ड-अट्रैक्टिव बॉडी

स्लिम-ट्रिम व टोन्ड बॉडी सबको आकर्षित करती है. जिम जाने से एब्स टोन्ड होते हैं. हाथ और पैरों की मसल्स स्ट्रॉन्ग होती हैं. महिलाओं की कमर पतली होने लगती है. बॉडी में कर्व्स आने लगते हैं. प्यार के उन ख़ास पलों में आपकी आकर्षक बॉडी पार्टनर को आपके और क़रीब ले आती है.

5. दूर होता है स्ट्रेस

आमतौर पर स्ट्रेस के कारण कपल्स अंतरंग पलों को पूरी तरह एंजॉय नहीं कर पाते. तनावग्रस्त होने पर उन्हें सेक्स की इच्छा नहीं होती. स्ट्रेस से स्टेमिना भी घटता है. जिम में रेग्युलर एक्सरसाइज़ स्ट्रेस बस्टर का काम करता है. एक्सरसाइज़ करने के बाद आप रिलैक्स महसूस करते हैं.

6. बैलेंस डायट

जिम में एक्सरसाइज़ के साथ ही ट्रेनर आपको डायट चार्ट भी देते हैं. वो आपके एक्सरसाइज़ टाइप और शरीर की ज़रूरतों के अनुसार आपका डायट चार्ट बनाते हैं. वर्कआउट के बाद शरीर को पोषक तत्वों की ज़रूरत पड़ती है. मसल्स और बॉडी बिल्डिंग के लिए हाईप्रोटीन और ज़िंक युक्त डायट लेनी चाहिए. हेल्दी सेक्स लाइफ के लिए बैलेंस डायट बहुत ज़रूरी है.

7. ब्रीदिंग पर कंट्रोल होता है

valentines-day-planning (1)
एक्सरसाइज़ और योग आपको ब्रीदिंग पर कंट्रोल करना सिखाता है और सही ब्रीदिंग टेकनीक से आप सेक्स का ड्यूरेशन और प्लेज़र दोनों बढ़ा सकते हैं.

 ये भी पढें: रिलेशनशिप को हेल्दी रखने के लिए ज़रूरी है फिट रहना

 

8. ऑर्गेज़म को बेहतर बनाता है

रिसर्च से ये बात पता चली है कि जो महिलाएं रेग्युलर एक्सरसाइज़ करती हैं, वे जल्दी उत्तेजित हो जाती हैं और ऑगेज़म को एन्जॉय करती हैं. दरअसल एक्सरसाइज़ से उनमें सेक्स हार्मोन्स का लेवल बढ़ जाता है, जिससे वे बेहतर सेक्स पार्टनर साबित होती हैं.

[amazon_link asins=’B00VRQK0FG,B00JJH7W42,B00HRNXVMM,B00J2XF5D8,B00LUSUN3K’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’d75a18b4-b944-11e7-93be-99f922c15031′]