Tag Archives: part time job

ऐसे पढ़ाई के साथ करें कमाई भी (Earn While You Learn)

Earn While You Learn

Earn While You Learn
अगर आप आज की परिस्थिति पर ग़ौर फ़रमाएं, तो पाएंगे कि 16 से 19 साल तक के युवाओं में पढ़ाई के साथ-साथ काम करने का रुझान काफ़ी बढ़ा है. कॉलेज जानेवाले, पढ़ाई करनेवाले ये बच्चे कई प्रकार के पार्ट टाइम कामों से जुड़े हुए हैं. ये काम के साथ-साथ अपनी पढ़ाई भी कर रहे हैं. काम करने की वजह सबकी अपनी-अपनी और अलग-अलग है, पर उद्देश्य सबका एक ही है- आत्मनिर्भर बनना.

क्यों पार्ट टाइम जॉब की ओर बढ़ा युवाओं का रुझान?

एक इंटरनेट सर्वे से यह पता चलता है कि कॉलेजों में पढ़नेवाले लगभग 40 फ़ीसदी बच्चे किसी ना किसी पार्ट टाइम जॉब से जुड़े हुए हैं. इसके कई सारे कारण हैं- पॉकेटमनी, आत्मनिर्भरता, कुछ व्यावहारिक ज्ञान पाना चाहते हैं, कुछ अपने विषय से जुड़े क्षेत्र की जानकारी पाना चाहते हैं, तो कुछ अपनी कमज़ोर आर्थिक स्थिति के चलते काम करना चाहते है. कारण चाहे कुछ भी हो, पर हमें एक बात तो माननी पड़ेगी कि ये बच्चे छोटी उम्र में अपनी ज़िम्मेदारियों को समझने का प्रयास कर रहे हैं.

जॉब ऑप्शन्स

शायद कुछ साल पहले पार्ट टाइम जॉब के विकल्प नहीं थे या थे भी तो बहुत कम, पर आज इसमें कोई कमी नहीं है. एक्सपर्ट्स कहते हैं कि आज कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं रह गया है, इसलिए काम के विकल्प भी बढ़े हैं. छात्र हर तरह के काम कर रहे हैं. कोई कॉफी शॉप में वेटर है, कोई सेल्समैन, तो कोई जिम इंस्ट्रक्टर. यह अच्छा भी है. ऐसे में आप ऐसे काम का चुनाव कर सकते हैं, जो आपका करियर तो नहीं है, पर आपको रुचिकर लगता है. जिसे आप पसंद करते हैं. ऐसे छात्र, जो पार्ट टाइम जॉब करना चाहते हैं, उनके लिए कई तरह के ऑनलाइन जॉब्स भी उपलब्ध हैं. इनमें से अधिकतर जॉब्स के लिए किसी प्रकार की डिग्री या प्रोफेशनल ट्रेनिंग की ज़रूरत नहीं होती और सबसे अच्छी बात, आप अपने काम के साथ अपनी पढ़ाई और बाकी काम भी आराम से कर सकते हैं, क्योंकि ये जॉब्स टाइम कंज़्यूमिंग नहीं होते. इनमें से कुछ काम तो ऐसे भी होते हैं, जिनमें आप काम करते हुए काम की जगह पर ही अपनी पढ़ाई भी कर सकते हैं, जैसे- लाइब्रेरी मैनेजर या कहीं रिसेप्शनिस्ट का काम.

इनके अलावा आप इन क्षेत्रों में भी काम कर सकते हैं- अकाउंट राइटर, ट्यूटर, फ्रीलांसर, जिम इंस्ट्रक्टर, रिसेप्शनिस्ट, वेटर, डांस टीचर, म्यूज़िक टीचर, लाइब्रेरी मैनेजर, किसी भी क्षेत्र में इनटर्न, टूर गाइड, ईवेंट मैनेजमेंट, कॉल सेंटर, रिसर्च राइटर आदि. ऐसे कई सारे और जॉब्स आपको जॉब सर्च वेबसाइट्स पर भी उपलब्ध हैं.

और भी पढ़ें:

जॉब करने से पहले यह सोचें

  •  काम करने का निर्णय लेने से पहले ख़ुद से यह ज़रूर पूछें कि यह काम क्यों करना चाहते हैं.
  • स़िर्फ दिखावे या फैशन के लिए काम ना करें.
  • हर काम की अपनी ज़िम्मेदारी होती है, इसका ध्यान रखें.
  • कहीं काम करने से पहले यह तय कर लें कि यह काम आपकी पढ़ाई को प्रभावित ना करे.
  • काम करने से पहले उस काम में अपनी रुचि का ध्यान ज़रूर रखें.
  • कहीं भी काम करने से पहले उस काम की, उस जगह की पूरी पूछताछ कर लें. किसी भी संशयित जगह पर काम ना करें. याद रखें आपकी सुरक्षा सर्वोपरि है.
  •  कहीं भी काम करने से पहले अपने पैरेंट्स को उसकी पूरी जानकारी दें. उन्हें विश्‍वास में लें. उनसे कोई भी बात ना छुपाएं.
  •  पैरेंट्स के लिए भी ज़रूरी है कि अगर आपके बच्चे इस तरह का कोई काम करना चाहते हैं, तो उन्हें प्रोत्साहित करें. उनकी पूरी मदद करें. आज समय बदल गया है, उसे स्वीकार करें. उन्हें यह कहकर हतोत्साहित ना करें कि पढ़ाई के समय स़िर्फ पढ़ाई करो. हां, पर इस बात का ध्यान ज़रूर रखें कि वे काम के चलते पढ़ाई को नज़रअंदाज़ न करें.

और भी पढ़ें: छोटे कोर्सेस से पूरे करें बड़े सपने

कैसे-कैसे पार्ट टाइम जॉब्स?

कॉफी शॉप 

आजकल कई सारे हाई प्रोफा इल कॉफी शॉप्स लोकप्रिय हैं. छात्रों का ऐसी जगहों पर काम करने का रुझान भी काफ़ी बढ़ा है. ऐसी जगहों पर महज़ 5 से 6 घंटे की शिफ्ट में काम करने के रुपये 6000 से 10000 कमाए जा सकते हैं.

पिज़्ज़ा शॉप 

किसी भी पिज़्ज़ा शॉप में अगर आप 5 से 6 घंटे की शिफ्ट करते हैं, तो आप रुपये 5000 से 8000 कमा सकते हैं.

रिसेप्शनिस्ट

किसी प्राइवेट ऑफिस या हॉस्पिटल या कंपनी में पार्ट टाइम रिसेप्शनिस्ट का काम करने के आपको रुपये  3000 से 8000 मिल सकते हैं. इसके लिए आपको 4 से 5 घंटे का समय देना पड़ेगा.

कॉल सेंटर या बीपीओ

आजकल युवाओं में इसका सबसे ज़्यादा क्रेज़ है. कॉल सेंटर्स में डेटा एंट्री का काम भी होता है. इसमें कई तरह के टाइमिंग्स हैं, जिसमें कुछ शिफ्ट्स रात को भी होती हैं. आप चाहें, तो आप यह काम ऑन लाइन घर पर बैठकर भी कर सकते हैं. इस काम के लिए आपको 2 से 6 घंटे देने पड़ सकते हैं,  जिसके आपको रुपये 4000 से 12000 भी मिल सकते हैं.

इवेंट प्लानर

इसके लिए आप किसी भी बड़ी इवेंट कंपनी के साथ जुड़ सकते हैं, जिसके लिए आप 4 से 6 घंटे काम करके रुपये 4000 से 12000 तक कमा सकते हैं.

सॉफ्टवेयर टेस्टर 

अगर आप सॉफ्टवेयर फील्ड में ही शिक्षा ले रहे हैं, तो आप अपने घर से ही सॉफ्टवेयर टेस्टिंग का काम कर सकते हैं, जिसमें आपको अपने क्लाइंट की मांग के अनुसार समय देना होगा. इसमें आप रुपये 6000 से 13000 तक कमा सकते हैं.

इंटर्न 

अगर आप कोई प्रोफेशनल कोर्स कर रहे हैं, तो आपको किसी प्रोफेशनल के ऑफिस में इंटर्न का काम मिल सकता है, जिसमें 4 से 6 घंटे काम करने के आपको रुपये 8000 से 15000 मिल सकते हैं.

लाइब्रेरी असिस्टेंट

अगर आपको क़िताबों की अच्छी जानकारी है, तो आपको इस काम के लिए 4 से 6 घंटे व्यतीत करने के रुपये 6000 से 8000 मिल सकते हैं.

और भी पढ़ें: करें पढ़ाई के साथ कमाई

                                    – विजया कठाले निबंधे

कैसे करें मैनेज जब हो सिंगल इंकम? (How to Manage With Single Income?)

अगर पैसों का मैनेजमेंट सही है, तो कम से कम पैसों में भी सभी ज़रूरतों को पूरा किया जा सकता है. साथ ही भविष्य के लिए पैसा बचाया भी जा सकता है. फिर भले ही आप घर में अकेले कमानेवाले हों यानी सिंगल इनकम वाले हों. आइए, इसी से संबंधित कई उपयोगी बातों के बारे में जानते हैं.  

कैसी हो ख़रीददारी?

  • यह विषय काफ़ी हद तक स्त्रियों से संबंधित है. घर में अगर स्त्री वर्किंग नहीं है, तो ख़रीददारी को लेकर काफ़ी एहतियात बरतने की ज़रूरत है.
  •  कोई भी ख़रीददारी हमेशा पूर्व नियोजित होनी चाहिए. किसी भी ख़रीददारी पर जाने से पहले क्या ख़रीदना है, कितने दाम का ख़रीदना है? यह पहले से तय कर लें. ऐसे में फ़िज़ूलख़र्ची नहीं होगी.
  • शॉपिंग पर जाने से पहले शॉपिंग काग़ज़ पर हो जानी चाहिए यानी क्या-क्या लेना है और उसके लिए आपका बजट क्या है, सब लिस्ट में लिख लेें. इससे आपको एक सही बजट मिल जाता है और शॉपिंग करते व़क्त फ़िजूलख़र्ची नहीं होती.

और भी पढ़ें: ऐसे करेंगे ख़र्च, तो सेविंग होगी ज़्यादा

प्री-प्लानिंग करें

  • प्री-प्लानिंग बहुत ज़रूरी है. यह आदत आपको स़िर्फ पैसों के मामले में ही नहीं, बल्कि शारीरिक और मानसिक तौर पर भी स्वस्थ रखेगी.
  • पैसे का मैनेजमेंट बहुत ज़रूरी है और यह तब और अनिवार्य हो जाता है, जब घर की आर्थिक ज़िम्मेदारी किसी एक व्यक्ति पर हो.
  •  प्री-प्लानिंग का मतलब है कि जैसे आपको पता है कि दो महीने बाद आपको किसी शादी या समारोह में शरीक होने कहीं शहर से बाहर जाना है, तो आप अपनी तैयारी अभी से शुरू कर दें. फिर चाहे वह शादी की ख़रीददारी हो, तोह़फे हों या फिर आने-जाने की टिकट. धीरे-धीरे अपनी तैयारी शुरू कर दें. 
  • यह तो स़िर्फ एक उदाहरण था, पर ऐसे ही कई चीज़ों की प्री-प्लानिंग की जा सकती है, जैसे कोई बड़ी वस्तु आप ख़रीदना चाह रहे हों या फिर कहीं दूर घूमने का इरादा हो.  

निवेश

  • आपने हमेशा सुना होगा पैसों के निवेश के बारे में, पर वास्तव में पैसों का निवेश काफ़ी पेचीदा विषय है. तो अगर आप पैसे कमाने के लिए कहीं बाहर नहीं जाते हैं, तो अपने पैसों का निवेश आप अच्छी तरह से कर सकते हैं.
  •  इसके लिए बिना किसी जानकारी के निवेश करना ख़तरनाक हो सकता है. चूंकि आपके पास समय है, तो आप किसी आर्थिक विशेषज्ञ से सलाह-मशवरे के बाद निवेश करके अपनी आर्थिक स्थिति को मज़बूत कर सकते हैं.

और भी पढ़ेंन्वेस्टमेंट से जुड़ी 10 ग़लतियां

पार्ट टाइम जॉब है ऑप्शन 

  • यह बात सच है कि घर के साथ बाहर जाकर नौकरी करना वाक़ई मुश्किल काम है, पर बच्चों के स्कूल जाने के बाद आप कोई पार्ट टाइम जॉब कर सकती हैं, जैसे- किसी मॉन्टेसरी स्कूल में टीचर बन सकती हैं या आप घर पर ट्यूशन ले सकती हैं या आजकल बहुत सारे ऐसे काम होते हैं, जो घर बैठे किए जा सकते हैं, इन्हे फ्रीलांसिंग कहते हैं.
  •  इससे होनेवाली कमाई चाहे कम हो, पर यक़ीन मानिए, इससे काफ़ी मदद मिलेगी. 
  • आपका समय भी कटेगा और अतिरिक्त पैसे भी मिल जाएंगे.

बैंक अकाउंट खुलवाएं

  • सामान्य तौर पर यह देखा गया है कि अगर घर का वह सदस्य, जो पैसे नहीं कमाता, वह अपना बैंक अकाउंट नहीं खुलवाता है.
  •  यह ग़लत है, जब घर में एक ही कमानेवाला हो, तो आपका अकाउंट होना बहुतज़रूरी है.
  • उसमें हर महीने आप ख़र्चों और निवेश के बाद बचे अतिरिक्त पैसे डाल सकते हैं, जिससे बचत होगी.
  • उसे आप एक आपातकालीन व्यवस्था की तरह उपयोग में ला सकते हैं.

और भी पढ़ें: जानें बैंकिंग के स्मार्ट ऑप्शन्स

आपसी विचार-विमर्श करें

  • चूंकि घर में कमानेवाला एक ही है, इसलिए जब कभी पैसा ख़र्च करने की बात हो या निवेश की बात आए, तो ज़रूरी है कि दोनों साथ में निर्णय लें. इसके अलावा महीने का बजट बनाने में भी दोनों का एकमत होना ज़रूरी है.

ईगो की लड़ाई से बचें

  • यह शायद पैसे से परोक्ष रूप से संबंधित ना हो, पर अपरोक्ष रूप से यह होता है, जब घर किसी एक की कमाई पर चलता है, तब कमानेवाले को ईगो की समस्या नहीं होनी चाहिए. इससे आपसी संबंध ख़राब होंगे और आपकी मुश्किलें और बढ़ जाएंगी.
  • हमेशा याद रखें कि अगर आप पैसे कमा रहे हैं, तो उनका मैनेजमेंट आपका साथी कर रहा है, जो कहीं ना कहीं आपको आर्थिक रूप से सहयोग देता है.

                                                                              – विजया कठाले निबंधे

[amazon_link asins=’B00UGZWM2I,B01KA8WOVY,B01HBC7LSS’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’ae96a364-b8a2-11e7-aaa4-03783b443d79′]

 

समर वेकेशन के लिए 9 बेस्ट पार्ट टाइम जॉब ( 9 Best Part Time Job for Summer Vacation)

Summer Vacation

 

4

समर वेकेशन में घर पर बैठकर टाइम पास करने से अच्छा है कि कुछ सीख लिया जाए, ताकि छुट्टियों में सीखने के साथ-साथ टाइम भी पास हो जाए और जेब में कुछ पैसे भी आ जाएं. इस समर वेकेशन में आप किस तरह के पार्ट टाइम जॉब करके अपनी छुट्टियों को यूज़फुल बना सकते हैं, जानने के लिए हमने बात की करियर काउंसलर मालिनी शाह से.

कंटेंट राइटिंग
यदि आप क्रिएटिव हैं और लिखना पसंद करते हैं, तो आपके लिए ये बेहतरीन जॉब हो सकती है. समर वेकेशन में आप चाहें तो किसी छोटे फर्म में जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं. ख़ास बात ये है कि कंटेंट राइटिंग की जॉब आसानी से मिल जाती है और इससे अच्छी कमाई भी हो जाती है. आजकल ऑनलाइन भी इस जॉब की डिमांड बढ़ रही है. आप चाहें तो वहां भी जॉइन कर सकते हैं.

इवेंट ऑर्गनाइज़र
अगर आपको घूमने-फिरने का शौक़ है, तो ये फील्ड आपके लिए बहुत अच्छी है. बड़े-बड़े इवेंट ऑर्गनाइज़र को असिस्टेंट की ज़रूरत होती है. इसके लिए वो अच्छी पेमेंट भी करते हैं. तो आप सोच क्या रहे हैं, ऑनलाइन कुछ बेहतरीन इवेंट ऑर्गनाइज़र से संपर्क कीजिए और जुट जाइए इस काम में. इससे आपकी पर्सनैलिटी भी निखरेगी और जेब में पैसे भी आएंगे.

लाइब्रेरी सर्विस
पढ़ाई में आगे बढ़ने की ख़्वाहिश रखने वालों के लिए ये जॉब बेहतरीन है. इसमें आप कुछ घंटे के लिए किसी लाइब्रेरी से जुड़ जाते हैं और लोगों की मदद करते हैं. इतना ही नहीं, इस जॉब को करते हुए आप देश-दुनिया की तरह-तरह की क़िताबें भी पढ़ सकते हैं. इस नौकरी से आपकी पढ़ाई भी होती रहेगी और कमाई भी.

मॉडलिंग
टीवी पर रैंप वॉक करते हुए मॉडल्स को देखकर ख़ुद भी रैंप वॉक करने का विचार अगर आपके मन में भी आता है, तो निश्‍चित तौर पर ये फील्ड आपके लिए है. आजकल तो पार्ट टाइम बेसिस पर नए-नए मॉडल्स को अपॉर्च्युनिटी दी जाती है. बस, न्यूज़ पेपर और इंटरनेट से कुछ एजेंसियों के नंबर निकालिए और पूरी लगन से इस काम में जुट जाइए. पैसे के साथ-साथ आप पॉप्युलर भी हो जाएंगे.

फिटनेस इंस्ट्रक्टर
यदि आपको सुबह-सुबह एक्सरसाइज़ करने और दूसरों को भी इसके लिए जागरूक करने की आदत है, तो आप फिटनेस इंस्ट्रक्टर बन सकते हैं. किसी अच्छे जिम में आप अपनी छुट्टियों को यूज़फुल बना सकते हैं. आमतौर पर बड़े-बड़े ट्रेनर्स को हेल्पर/असिस्टेंट की ज़रूरत होती है. ये जॉब आप कॉलेज शुरू होने के बाद भी जारी रख सकते हैं. बस, आपको ज़रूरत होगी तो एक टाइम फिक्स करने की.

5

टूर गाइड
सुनने में भले ही आपको लग रहा हो कि ये कैसे संभव है, लेकिन ये सच है. इसके लिए आपको नॉलेज की बहुत ज़रूरत होती है. ट्रैवल एजेंसियां आजकल फ्रेशर और कॉलेज गोइंग स्टूडेंट्स को कुछ महीनों के लिए हायर करती हैं. 1-2 दिन की ट्रेनिंग के बाद वो आपको काम पर लगा देती हैं. इस जॉब से अच्छी कमाई होने के साथ-साथ आप कई शहर भी घूम लेते हैं. बस, शर्त ये है कि आपको घर से दूर जाना पड़ता है और कई दिनों तक बाहर रहना पड़ता है.

रीटेल जॉब
कॉलेज स्टूडेंट्स में ये जॉब काफ़ी पॉप्युलर है. सालभर की पढ़ाई के बाद दो महीने की छुट्टी होते ही महानगरों के बच्चे बिना किसी झिझक के मॉल्स में जॉब करने लगते हैं. घर के आसपास किसी मॉल में वो लग जाते हैं और पढ़ाई के साथ-साथ लोगों से बात करने, उन्हें हैंडल करने की तकनीक भी सीख लेते हैं. आप भी ये जॉब कर सकते हैं. हां, इसमें आपको संयम रखना बहुत ज़रूरी होता है, क्योंकि हर तरह के कस्टमर आते हैं और कई बार ग़ैरज़रूरी डिमांड भी करते हैं. ऐसे में कई बार ग़ुस्सा आ जाता है.

ट्यूशन
बच्चों को पढ़ाना अगर आपको अच्छा लगता है, तो आप होम ट्यूशन/कोचिंग क्लासेस में पढ़ा सकते हैं. इससे आपकी स्टडी भी हो जाएगी और आपको पैसे भी मिल जाएंगे. अब ये आप पर निर्भर करता है कि आप किस क्लास के बच्चों को पढ़ा सकते हैं. अपनी क्षमता के अनुसार आप ज़्यादा से ज़्यादा बच्चों को ट्यूशन पढ़ा सकते हैं.

वेटर/वेट्रेस
पहले ये जॉब करना थोड़ा मुश्किल होता था, क्योंकि माता-पिता बच्चों को इस तरह की नौकरी करने की इजाज़त नहीं देते थे, लेकिन अब बच्चों के साथ-साथ पैरेंट्स भी इसके लिए राज़ी होने लगे हैं. आप चाहें तो बड़े-बड़े फूड सेंटर में काम कर सकते हैं.

रखें इन बातों का ध्यान

  •  अपनी इच्छानुसार ही जॉब करें.
  • किसी तरह के प्रेशर में जॉब जॉइन न करें.
  • दोस्त के कहने पर बिना सही जानकारी के कोई भी जॉब जॉइन न करें.
  • अपने पैरेंट्स से जॉब के बारे में बातचीत कर लें ताकि आगे कोई दिक्क़त न हो.
  •  जिस फील्ड में आपको आगे करियर बनाना है, हो सके तो उससे संबंधित जॉब ही करें.
  •  दो महीनों की इस जॉब को इतनी गंभीरता से भी न लें कि कॉलेज खुलने के बाद भी पढ़ाई की बजाय आप नौकरी करते रहें.
  • पैसे के लालच में कोई भी ग़लत काम न करें.
  • अपने द्वारा कमाए हुए पैसों को सही जगह लगाएं.
  • यदि आप छुट्टियों में जॉब नहीं करना चाहते, तो आगे की पढ़ाई कर
    सकते हैं.

– श्वेता सिंह