Tag Archives: personal problems

Personal Problems: ओवरी के सिस्ट को लेकर परेशान हूं (Worried About Cyst In Ovary)

Cyst In Ovary

Personal Problems: ओवरी के सिस्ट को लेकर परेशान हूं (Worried About Cyst In Ovary) 

मैं 27 वर्षीया वर्किंग वु.मन हूं. पिछले दिनों पेट के निचले हिस्से में दर्द की शिकायत के कारण डॉक्टर की सलाह पर सोनोग्राफी करवाई. रिपोर्ट में मेरी ओवरीज़ में 5 से.मी. का सिस्ट दिखा है. मेरे गायनाकोलॉजिस्ट ने कहा है कि घबराने की कोई बात नहीं और 3 महीने बाद फॉलोअप करने की सलाह दी है. मैं बहुत परेशान हूं, कृपया मार्गदर्शन करें
– रेणु वर्मा 

आपकी रिपोर्ट में जिस सिस्ट के बारे में लिखा गया है, उसे फिज़ियोलॉजिकल सिस्ट कहते हैं. महिलाओं की रिप्रोडक्टिव एज में यह आम बात है. अगर घबराने की कोई बात होती, तो डॉक्टर आपको ब्लड टेस्ट्स करने की सलाह देतीं, क्योंकि आपको 3 महीने बाद फॉलोअप के लिए बुलाया गया है, इससे पता चलता है कि कोई गंभीर बात नहीं है. सिस्ट के आकार में कोई बदलाव आया या नहीं, यह जानने के लिए फॉलोअप बहुत ज़रूरी है.

यह भी पढ़ें: वेजाइनल डिस्चार्ज का क्या कारण हो सकता है?

Cyst In Ovary

मैं 23 वर्षीय स्त्री हूं. छह माह पूर्व ही मेरा विवाह हुआ है. हम अगले दो सालों तक बच्चा नहीं चाहते, इसलिए कंडोम इस्तेमाल करते हैं. लेकिन मुझे इससे असहजता महसूस होती है और दर्द भी होता है. किसी ने मुझे बताया कि कंडोम या उसके जेल से मुझे एलर्जी हो सकती है. क्या वाकई मुझे इससे एलर्जी हो रही है? कृपया मेरी समस्या का समाधान बताएं.
 – अर्चना ढढवाल, देहरादून.

आपको कंडोम के रबर या फिर इसके जेल से एलर्जी होने की संभावना है. चूंकि अभी आपकी उम्र भी काफ़ी कम है और अगले दो साल तक आप परिवार बढ़ाना नहीं चाहतीं, तो ऐसे में आप गर्भनिरोधक दवाइयों का इस्तेमाल कर सकती हैं. बेहतर होगा कि आप किसी गायनाकोलॉजिस्ट से संपर्क करें, जो आपको बताएंगे कि आपके लिए कौन–सा गर्भनिरोधक उपयुक्त होगा.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

Personal Problems: पीरियड्स में कम ब्लीडिंग का क्या कारण हो सकता है? (What Could Be Possible Reasons For Light Periods?)

Reasons For Light Periods
मेरी शादी को दो साल हो रहे हैं. मेरी उम्र 26 साल है. हमने 3 साल बाद बच्चे की प्लानिंग की थी, लेकिन अब मुझे पीरियड्स में कम ब्लीडिंग हो रही है. कहीं इसके कारण आगे चलकर मुझे बच्चे पैदा करने में कोई दिक्कत तो नहीं होगी?
– महिमा रेड्डी, हैदराबाद.

पीरियड्स के दौरान कम ब्लीडिंग के कई कारण हो सकते हैं, जैसे- हार्मोन्स का असंतुलन, पोषण की कमी, पीसीओएस, थायरॉइड प्रॉब्लम्स. अपने परिवार में पता करें कि अर्ली मेनोपॉज़ की हिस्ट्री तो नहीं.  आपको कुछ ब्लड टेस्ट कराने होंगे. टेस्ट में ओवेरियन रिज़र्व चेक कराएं और सोनोग्राफी करवाएं ताकि पता चल सके कि कितने साल और रुक सकते हैं. किसी फर्टिलिटी एक्सपर्ट से मिलें.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या एनीमिया के कारण कंसीव नहीं कर पाऊंगी?

Reasons For Light Periods

मेरे बाएं ब्रेस्ट में गांठ है. इस गांठ की वजह से मुझे अब तक कोई प्रॉब्लम नहीं हुई है. लेकिन मेरे बाएं ब्रेस्ट का साइज़ दाएं वाले ब्रेस्ट से बड़ा है. क्या इससे मुझे भविष्य में कोई समस्या हो सकती है? मुझे क्या करना चाहिए?
– रोशनी पटवा, पटना.

ब्रेस्ट में छोटे लम्प्स फाइब्रोएडीनोमा हो सकते हैं. पर अच्छा होगा कि आप एक बार डॉक्टर से अपने ब्रेस्ट की कंप्लीट जांच करा लें. एक बार पारिवारिक इतिहास देख लें, कहीं किसी को परिवार में ब्रेस्ट कैंसर तो नहीं था. जॉक्टर की जांच के बाद आप बायलैट्रल ब्रेस्ट की सोनो-मैमोग्राफी करा लें. यह निदान का सबसे बेहतर टूल है.

यह भी पढ़ें: क्या कंसीव करने की संभावना को जानने के लिए कोई टेस्ट है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

 

Personal Problems: पैप स्मियर टेस्ट क्यों किया जाता है? (What Do They Check For In A Pap Smear Test?)

पैप स्मियर टेस्ट, Pap Smear Test
मैं 33 वर्षीया कामकाजी महिला हूं और मेरी 7 महीने की एक बच्ची है. कुछ दिनों पहले ही मुझे पता चला कि प्रेग्नेंसी के दौरान अगर मां को थायरॉइड हो, तो वो बच्चे को भी हो सकता है. हालांकि प्रेग्नेंसी के दौरान दवाई लेने के कारण मेरा थायरॉइड नॉर्मल था, पर क्या इसकी संभावना है? कृपया, मेरा मार्गदर्शन करें.
– सरोजनी भारद्वाज, पटना.

सबसे पहले तो आपको डरने की कोई ज़रूरत नहीं है, क्योंकि प्रेग्नेंसी में थायरॉइड की शिकायत होना कोई बड़ी बात नहीं. यह किसी तरह का इंफेक्शन नहीं है, जो मां से बच्चे को हो जाएगा. थायरॉइड डिसफंक्शन प्रेग्नेंसी के दौरान भी हो सकता है, पर ज़्यादातर मामलों में डिलीवरी के 6 हफ़्तों के भीतर ही इसका समाधान कर दिया जाता है. इसलिए ज़रूरी है कि आप डिलीवरी के बाद थायरॉइड का लेवल चेक करते रहें. अगर मां को थायरॉइड डिसफंक्शन है, तो इसका यह बिल्कुल मतलब नहीं कि भविष्य में यह बच्चे को हो सकता है. आमतौर पर डिलीवरी के बाद नियोनैटोलॉजिस्ट बच्चे के थायरॉइड हार्मोंस लेवल चेक करते हैं, ताकि किसी भी तरह की असामान्यता को तुरंत ठीक किया जा सके.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

पैप स्मियर टेस्ट, Pap Smear Test

 

मैं 26 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं. हाल ही में मैंने पैप स्मियर टेस्ट के बारे में सुना. यह क्या है और क्यों किया जाता है?
– वृंदा नलावडे, नागपुर.

पैप स्मियर एक स्क्रीनिंग टेस्ट है, जो सर्वाइकल कैंसर की शुरुआती जांच के लिए किया जाता है. वैसे हर शादीशुदा महिला को यह टेस्ट साल में एक बार और लगातार तीन सालों तक ज़रूर कराना चाहिए. अगर तीनों सालों की रिपोर्ट निगेटिव आती है, तो फिर हर तीन साल में एक बार यह टेस्ट कराना चाहिए. इस टेस्ट का मुख्य उद्देश्य सर्विक्स के सेल्स में होनेवाले बदलावों को देखकर कैंसर की संभावना को तुरंत ख़त्म करना है. दरअसल, शरीर के किसी भी हिस्से में कैंसर अचानक से नहीं हो जाता, बल्कि सालों पहले उसके लक्षण दिखाई देते हैं, इसलिए रेग्युलर चेकअप से कैंसर की किसी भी आशंका को दूर किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: क्या कंसीव करने की संभावना को जानने के लिए कोई टेस्ट है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: पीरियड्स के पहले बाएं स्तन में कंपन महसूस होती है? (Reasons For Palpitations In Left Breast Before Periods)

Breast, Periods, menstrual cycle
मैं 29 वर्षीया कामकाजी महिला हूं. पिछले कुछ महीनों से पीरियड्स के पहले मेरे बाएं स्तन में थोड़ी-थोड़ी देर पर कंपन या धकधकी महसूस होती है, पर कुछ देर बाद वह शांत हो जाती है. कहीं मुझे कोई बड़ी प्रॉब्लम तो नहीं?
– राजश्री पांचाल, मुंबई.

पीरियड्स के पहले हार्मोनल बदलावों के कारण छाती में बदलाव नज़र आते हैं. आपने महसूस किया होगा कि पीरियड्स के बाद यह कंपन बंद हो जाती है. आपको किसी गायनाकोलॉजिस्ट को मिलना चाहिए, ताकि अगर इससे आपके स्वास्थ्य पर कोई असर पड़ रहा हो, तो वो ज़रूरी टेस्ट्स व ट्रीटमेंट कर सकें. कंपन की जांच करवानी ज़रूरी है, क्योंकि वो हार्ट या थायरॉइड प्रॉब्लम्स के कारण भी हो सकती है. ऐसे ट्रीटमेंट में डॉक्टर आपको मल्टीविटामिन या फिर इवनिंग प्रिमरोज़ ऑयल सप्लीमेंट दे सकते हैं.

यह भी पढ़ें: क्या पेट के टीबी से फर्टिलिटी प्रभावित हो सकती है?

Breast, Periods, menstrual cycle

मैं 26 वर्षीया कॉलेज स्टूडेंट हूं. पिछले कुछ समय से खाना खाने के बाद मेरी नाभि के पास मुझे हल्का-हल्का दर्द महसूस होता है. इस दर्द का क्या कारण हो सकता है? कृपया, मेरी मदद करें.
– कोयल महापात्रा, कसौली.

स्टूडेंट्स अक्सर भागदौड़ व पढ़ाई के कारण अपने खानपान का ठीक से ध्यान नहीं देते. हो सकता है कि आप खाने के बीच में काफ़ी लंबा गैप कर देती हों, या फिर खाना समय से नहीं खातीं या फिर फास्टफूड ज़्यादा खाती हों. आमतौर पर नाभि के आसपास दर्द का सबसे बड़ा कारण एसिडिटी होती है. आपको ध्यान रखना होगा कि आप हर दो घंटे में कुछ न कुछ खाएं और तले व मसालेदार खाने से बचें. अगर दर्द लगातार बना हुआ है, तो आपको किसी गैस्ट्रोइंटरोलॉजिस्ट को मिलना चाहिए.

यह भी पढ़ें: क्या कंसीव करने की संभावना को जानने के लिए कोई टेस्ट है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

 

Personal Problems: पीरियड्स के दौरान अचानक वज़न बढ़ जाता है (Why I Feel Weight Gain During Periods?)

Personal Problems, Weight Gain, During Periods
मैं 21 साल की हूं. मेरा मासिक धर्म हमेशा नियमित रहता है, किंतु मासिक धर्म आने के पूर्व मेरा पेट फूल जाता है और अचानक वज़न भी बढ़ जाता है. ऐसा क्यों होता है? कृपया इस बारे में जानकारी दें.
– प्रतिमा सिंह, बिहार.

आपकी समस्याओं के बारे में जानकर ऐसा लगता है कि आप पीएमएस (प्रीमेन्सट्रुअल सिंड्रोम) यानि माहवारी से पहले होनेवाली तकलीफ़ों से गुज़र रही हैं. इस दौरान आपको अपने आप में और भी कई तरह के बदलाव नज़र आ सकते हैं, जैसे- स्तनों के आकार में वृद्धि, स्वभाव में चिड़चिड़ापन आना, अधिक भूख लगना आदि. ये सब माहवारी के दौरान के सामान्य लक्षण हैं, इसलिए चिंता की कोई बात नहीं है. हां, अपने गायनाकोलॉजिस्ट से यह अवश्य जान लें कि आपके वज़न बढ़ने का कारण कहीं कोई और समस्या तो नहीं है.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

Personal Problems, Weight Gain, During Periods

मैं 23 वर्षीय स्त्री हूं. छह माह पूर्व ही मेरा विवाह हुआ है. हम अगले दो सालों तक बच्चा नहीं चाहते, इसलिए कंडोम इस्तेमाल करते हैं. लेकिन मुझे इससे असहजता महसूस होती है और दर्द भी होता है. किसी ने मुझे बताया कि कंडोम या उसके जेल से मुझे एलर्जी हो सकती है. क्या वाकई मुझे इससे एलर्जी हो रही है? कृपया मेरी समस्या का समाधान बताएं.

आपको कंडोम के रबर या फिर इसके जेल से एलर्जी होने की संभावना है. चूंकि अभी आपकी उम्र भी काफ़ी कम है और अगले दो साल तक आप परिवार बढ़ाना नहीं चाहतीं, तो ऐसे में आप गर्भनिरोधक दवाइयों का इस्तेमाल कर सकती हैं. बेहतर होगा कि आप किसी गायनाकोलॉजिस्ट से संपर्क करें, जो आपको बताएंगे कि आपके लिए कौन–सा गर्भनिरोधक उपयुक्त होगा.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: क्या प्रेग्नेंसी में ब्लडप्रेशर की दवा लेना सेफ है? (Is It Safe To Have Blood Pressure Medicine During Pregnancy?)

Safe, Blood Pressure. Medicine During Pregnancy
मेरी नौ महीने की बेटी है, जिसे मैं ब्रेस्ट फीडिंग करती हूं. मेरी प्रेग्नेंसी रिपोर्ट पॉज़ीटिव आई है और सोनोग्राफी में 5 हफ़्ते की प्रेग्नेंसी का पता चला है. मेरे डॉक्टर ने मुझे सर्जिकल एबॉर्शन की बजाय मेडिकल एबॉर्शन की सलाह दी है. क्या यह सेफ और इफेक्टिव है?
– महिमा झा, हिसार.

स्टडीज़ में यह बात साबित हो चुकी है कि मेडिकल एबॉर्शन सेफ और इफेक्टिव तरीक़ा है. इसमें दो गोलियां दी जाती हैं. सर्जिकल प्रोसीजर भले ही कितना भी छोटा हो, फिर भी उसमें एनीस्थिसिया दिया जाता है और प्रोसीजर में कॉम्प्लीकेशंस की संभावना भी बनी रहती है, क्योंकि आपके डॉक्टर ने आपको मेडिकल एबॉर्शन की सलाह दी है, तो उन्होंने इसके बारे में आपको पूरी जानकारी भी दी होगी. इसलिए बेफिक्र रहें. ये बिल्कुल सेफ है.

 Blood Pressure Medicine During Pregnancy
मैं पहली बार मां बनी हूं और मेरी 8 महीने की प्रेग्नेंसी है. डॉक्टर ने कहा है कि मेरा ब्लड प्रेशर बढ़ रहा है, जिसे कंट्रोल करने के लिए मुझे दवा लेनी होगी. कहीं ये दवाएं मेरे बच्चे को कोई नुक़सान तो नहीं पहुंचाएंगी? मुझे क्या करना चाहिए?
– अमृता जैन, राजकोट.

पहली बार मां बननेवाली बहुत-सी महिलाओं को यह समस्या होती है, जिसे प्रेग्नेंसी के कारण होनेवाला हाइपरटेंशन कहते हैं. अगर ब्लड प्रेशर कंट्रोल न किया गया, तो यह आपके और आपके बच्चे की सेहत को नुक़सान पहुंचा सकता है. ज़्यादातर एंटी-हाइपरटेंसिव दवाएं टेस्टेड ही होती हैं, इसलिए इफेक्टिव और बच्चों के लिए सेफ हैं. अगर आपके डॉक्टर ने आपको इसकी सलाह दी है, तो वैसा ही करें.

 

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

Personal Problems: कौन कराए नसबंदी पति या पत्नी? (Vasectomy or Tubal Ligation, Which Is Better?)

Vasectomy or Tubal Ligation, Which Is Better
मेरी उम्र 27 साल है और रेग्युलर एक्सरसाइज़ व डायटिंग के बावजूद मेरा वज़न बढ़ रहा है. मेरे बाल बहुत झड़ गए हैं और पीरियड्स भी अनियमित हो गए हैं. साथ ही मुझे बहुत ज़्यादा ठंड भी लगती है. डॉक्टर ने पॉलिसिस्टिक ओवेरियन डिसीज़ की जांच के लिए टेस्ट भी करवाया, पर रिपोर्ट्स नॉर्मल आईं. अब उन्हें थायरॉइड की आशंका है और वे मेरा ब्लड टेस्ट कराना चाहते हैं, लेकिन क्या यह थायरॉइड हो सकता है?
– वानी त्रिवेदी, बीकानेर.

थायरॉइड ग्लैंड हमारे गले में स्थित सबसे बड़ा एंडोक्राइन ग्लैंड है, जो थायरॉइड हार्मोंस- टी3 और टी4 का निर्माण करता है. आपके द्वारा बताए गए लक्षणों को देखकर लगता है कि आपको हाइपोथायरॉइडिज़्म है. इसे कंफर्म करने का तरीक़ा स़िर्फ ब्लड टेस्ट ही है, तभी आपके टी3 और टी4 हार्मोंस के लेवल्स का पता चल पाएगा. इसके बाद ही डॉक्टर आपको दवाइयों आदि के बारे में बता पाएंगे.

 
हमारे दो बच्चे हैं और हम तीसरा बच्चा नहीं चाहते, इसलिए स्थायी नसबंदी करवाना चाहते हैं. मेरे पति को ऑपरेशन करवाना चाहिए या मुझे? कृपया, मार्गदर्शन करें.
– सान्वी सोलंकी, नासिक.

पुरुषों में स्थायी नसबंदी को वैसेक्टॉमी कहते हैं. आजकल तो बिना किसी कट के यह विधि होती है. यह बहुत ही आसान तरीक़ा है और इसमें हॉस्पिटल में भर्ती होने की ज़रूरत भी नहीं होती और बहुत कम समय भी लगता है. महिलाओं के लिए लैप्रोस्कोप की मदद से लैप्रोस्कोपिक एब्डॉमिनल ट्यूबल लिगेशन किया जाता है, जिसे मिनी लैप्रोटॉमी कहते हैं. इसमें महिला को 3 सेंटीमीटर का चीरा लगाना पड़ता है. दोनों में आपको एक दिन के लिए हॉस्पिटल में रुकना पड़ता है. यह एक आसान, सुरक्षित और प्रभावशाली विधि है. अपनी व अपने पति की मेडिकल कंडीशन के मुताबिक़ अपने डॉक्टर से सलाह लेकर ही कोई फैसला लें.

 

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

क्या सी सेक्शन के बाद आईयूसीडी इस्तेमाल कर सकते हैं? (Can I Use IUD After Cesarean Delivery?)

Can I Use IUD After Cesarean Delivery
मैं 29 वर्षीया महिला हूं और मेरा छह महीने का एक बच्चा भी है. मेरी सीज़ेरियन डिलीवरी हुई थी, पर मैं 3-4 साल तक दूसरा बच्चा नहीं चाहती. मेरी दोस्त के मुताबिक सीज़ेरियन डिलीवरी वाले इंट्रा यूटेराइन कॉन्ट्रासेप्टिव डिवाइस (आईयूसीडी) का इस्तेमाल नहीं कर सकते. क्या यह सच है?
– नैना जैन, राजकोट.

ऐसा बिल्कुल भी नहीं है. बहुत से लोगों को इस तरह की ग़लतफ़हमी हो जाती है, पर अगर आपको हैवी ब्लीडिंग नहीं होती, आपके यूटेरस का शेप नॉर्मल है और कभी पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिसीज़ की हिस्ट्री नहीं है, तो आप इसे बिना किसी परेशानी के इस्तेमाल कर सकती हैं. ये कुछ 2-3 सालों के लिए होते हैं, तो कुछ 10 सालों के लिए. यह एक इफेक्टिव व बेहतरीन गर्भनिरोधक है.

 

 Can I Use IUD After Cesarean Delivery

 

मेरी 14 वर्षीया बेटी को हर महीने पीरियड्स के 14-16वें दिन तक दर्द होता है, जबकि उसके पीरियड्स नियमित हैं और रक्तस्राव के दौरान उसे बिल्कुल भी दर्द नहीं होता. जबकि 14-16वें दिनवाला दर्द कभी-कभी इतना ज़्यादा बढ़ जाता है कि उसे पेनकिलर लेना पड़ता है. क्या उसे कोई प्रॉब्लम है? कृपया, मार्गदर्शन करें.
– प्रेरणा आचार्य, गोरखपुर.

जैसा कि आपने बताया है कि आपकी बेटी को महीने के 14-16वें दिन दर्द हो रहा है, जो मिड साइकल में होता है. यह एक सामान्य दर्द है, जिसे मितल्समर्ज़ कहते हैं. यह शरीर में ओवम रिलीज़ होने के कारण होता है. यह एक सामान्य अवस्था है, इसलिए आपको डरने की कोई ज़रूरत नहीं. आमतौर पर पेनकिलर लेने से यह दर्द चला जाता है. धीरे-धीरे कुछ समय बाद यह अपने आप ठीक हो जाता है.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या ब्रेस्टफीडिंग से बच्चे को इंफेक्शन ट्रांसफर हो सकता है? (Can Infection Be Transmitted Through Breastfeeding?)

Can Infection Be Transmitted Through Breastfeeding
प्रेग्नेंसी के पांचवें महीने में रूटीन चेकअप के दौरान मुझे पता चला है कि मैं एचआईवी पॉज़ीटिव हूं. इसलिए मुझे एंटीरेट्रोवाइरल (एआरवी) थेरेपी देने की सलाह दी गई है. मैं अपने बच्चे को स्तनपान कराना चाहती हूं, पर क्या इसके ज़रिए भी उसे इंफेक्शन ट्रांसफर हो सकता है?
– एकता पटेल, गुड़गांव.

स्तनपान से इंफेक्शन ट्रांसफर होने का रिस्क तो है, पर मां का दूध बच्चे के संपूर्ण विकास के लिए बहुत ज़रूरी है. इसमें मौजूद पोषक तत्व नवजात को बहुत-सी बीमारियों से बचाते हैं. हाल ही में वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइज़ेशन ने एक रिपोर्ट के द्वारा यह स्पष्ट किया है कि एआरवी थेरेपी एचआईवी पॉज़ीटिव मां से उसके बच्चे को इंफेक्शन ट्रांसफर होने की संभावना को बहुत हद तक कम कर देता है. एआरवी और स्तनपान की मदद से बच्चा एचआईवी से सुरक्षित रहता है. आपके डॉक्टर आपको एचआईवी क्लीनिक जाने की सलाह दे सकते हैं, जो इस तरह के मामलों के लिए ख़ासतौर पर बनाए गए हैं. आप उनसे स्तनपान आदि से जुड़ी सभी शंकाओं के समाधान पा सकती हैं.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

Can Infection Be Transmitted Through Breastfeeding
मेरी 13 वर्षीया बेटी के चेहरे, पैरों व पीठ पर बहुत बाल हैं, जिसके कारण उसे बहुत शर्मिंदगी महसूस होती है. कृपया बताएं, मैं क्या करूं?
– इशिता सेठी, रोहतक.

इस स्थिति को हर्सूटिज़्म कहते हैं, जिसके कई कारण हो सकते हैं. सबसे आम कारण है पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम, जिसमें टेस्टोस्टेरॉन
हार्मोन की अधिकता के कारण ऐसा होता है. इसके अलावा कुशिंग्स डिसीज़, लंबे समय तक स्टेरॉइड का इस्तेमाल और इंडोमिटिरियोसिस की दवा का सेवन भी इसके कारण हो सकते हैं. अपनी बेटी का टेस्टोस्टेरॉन लेवल चेक करवाएं. अगर वह ज़्यादा है, तो डॉक्टर आपको दवा, लेज़र ट्रीटमेंट या इलेक्ट्रोलिसिस की सलाह दे सकते हैं.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

पर्सनल प्रॉब्लम्स: पीरियड्स के दौरान असहनीय दर्द होता है (Possible Reasons For Painful Periods)

Reasons For Painful Periods
मैं 24 वर्षीया अविवाहित युवती हूं. हर महीने पीरियड्स के दौरान मुझे असहनीय दर्द होता है और मेरी रूटीन एकदम से बिगड़ जाती है. कृपया, कोई उचित मार्गदर्शन करें.
– नूपुर सेन, दिल्ली.

पीरियड्स के शुरुआती दिनों में दर्द नहीं होता, लेकिन कुछ सालों बाद दर्द शुरू हो जाता है. यह ओव्यूलेशन के कारण होता है. पीरियड्स के पहले दिन ज़्यादा दर्द होता है, पर धीरे-धीरे दर्द कम होने लगता है. आपके दर्द का कारण एंडोमेट्रियोसिस भी हो सकता है. सामान्य एंडोमेट्रियोसिस की स्थिति में दवा से आसानी से इलाज हो जाता है, लेकिन गंभीर एंडोमेट्रियोसिस के मामले में आपको लैप्रोस्कोपिक सर्जरी करवानी पड़ सकती है.

यह भी पढ़ें: शारीरिक संबंध के बाद १-२ दिन तक ब्लीडिंग क्यों होती है?

Reasons For Painful Periods

कई सालों पहले फायब्रॉइड्स के कारण मुझे अपना यूटरस निकलवाना पड़ा था. अब जब भी खांसती हूं या किसी काम के लिए ज़ोर लगाती हूं, तो वेजाइना बाहर की तरफ़ आ जाता है. मुझे क्या करना चाहिए?
 – रचना जाधव, पुणे.

आपके द्वारा बताए गए लक्षणों से लगता है कि आपको वॉल्ट प्रोलैप्स है. यूटरस निकलवाने के बाद कभी-कभी इस तरह की समस्या सामने आ जाती है. इसके लिए आपको वेजाइनल या लैप्रोस्कोपिक सर्जरी करवानी पड़ेगी. इस विषय में अधिक जानकारी के लिए जल्द से जल्द अपने डॉक्टर से संपर्क करें.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: लैप्रोस्कोपिक सर्जरी के कितने दिनों बाद प्रेग्नेंसी प्लान करूं? (Pregnancy After Laproscopy)

Pregnancy After Laproscopy
मैं 39 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं. दो साल पहले ही मेरी शादी हुई थी. कुछ दिनों बाद ही मेरी एंडोमिट्रियोटिक सिस्ट की लैप्रोस्कोपिक सर्जरी हुई थी. मैं जल्द से जल्द मां बनना चाहती हूं. मुझे कब प्रेग्नेंसी प्लान करनी चाहिए.                  
– कंचन देसाई, चेन्नई.

आजकल बहुत-से लोग लेट शादी करते हैं, पर अगर आप 39 साल की हो चुकी हैं, तो आपको ध्यान रखना होगा कि हर ओवरी में सीमित संख्या में ही ओवम होते हैं. 40-41 साल की उम्र तक महिलाओं में प्रजनन क्षमता घट जाती है. इसके अलावा 41 साल की उम्र में होनेवाली प्रेग्नेंसीज़ में कई बार गर्भपात या बच्चे में कोई शारीरिक विकृति होने की भी संभावना रहती है. आपने पहले ही लैप्रोस्कोपिक सर्जरी करवाई है, इसलिए किसी अच्छे इंफर्टिलिटी कंसल्टेंट से मिलें, ताकि जल्द से जल्द आप प्रेग्नेंसी प्लान कर सकें.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: पीरियड्स पोस्टपोन कैसे करूं?

Pregnancy After Laproscopy

मैं 45 वर्षीया महिला हूं. मुझे अक्सर योनिमार्ग से स़फेद स्राव निकलता है और कभी-कभी बहुत खुजली भी होती है. मुझे क्या करना चाहिए?
– करिश्मा यादव, पटना. 

कई बार योनिमार्ग से स़फेद स्राव निकलता है, पर अगर आपको उससे कोई समस्या नहीं है, तोउसके इलाज की कोई ज़रूरत नहीं होती है, वो अपने आप ठीक हो जाता है. योनि में खुजली होना और यूरिन पास करते समय जलन होना किसी इंफेक्शन के कारण हो सकता है और इसके कारण भी स़फेद स्राव होता है. अगर आपको डायबिटीज़ आदि कोई समस्या है, तो काफ़ी हद तक मुमकिन है कि यह फंगल इंफेक्शन हो. सबसे पहले फंगल इंफेक्शन का इलाज कराएं, इसके लिए आप अपने डॉक्टर से सलाह ले सकती हैं. इसके बाद आपको अपने डायबिटीज़ पर नियंत्रण करना होगा. योनि से होनेवाले स्राव के कई कारण हो सकते हैं, इसलिए जल्द से जल्द किसी अच्छे गायनाकोलॉजिस्ट से मिलें.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: एग फ्रीज़िंग की प्रक्रिया में कितना वक्त लगता है?

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या पति का सीमेन टेस्ट करवाना ज़रूरी है? (How Important Is Semen (Sperm Count) Test?)

How Important Is Semen Sperm Count Test
मैं 25 वर्षीया महिला हूं और शादी के 4 साल बाद भी कंसीव नहीं कर पाई हूं. मेरी सभी रिपोर्ट्स नॉर्मल हैं, पर पति का सीमेन टेस्ट नहीं हुआ है. क्या यह ज़रूरी है? कृपया, मेरा मार्गदर्शन करें.
– मीनाक्षी यादव, वाराणसी.

यह बहुत ज़रूरी है, क्योंकि कंसीव न कर पाने के 1/3 मामलों में कारण पुरुषों से जुड़े होते हैं. इसके लिए ज़रूरी है कि आपके पति किसी तरह की एंटीबायोटिक्स न ले रहे हों और उन्हें बुख़ार न हो. टेस्ट के 3-4 दिन पहले से ही शारीरिक संबंध न बनाएं, पर यह भी ध्यान रहे कि कई हफ़्तों का गैप न हो. अगर पति टूर पर थे, तो शारीरिक रिश्ते सामान्य होने पर ही टेस्ट कराएं. सीमेन मास्टरबेशन के ज़रिए लैब द्वारा दी गई शीशी में ही रखें. कभी भी कंडोम में सीमेन इकट्ठा न करें. रिपोर्ट आने पर ही अगला क़दम उठा सकते हैं.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: वेजाइनल डिस्चार्ज के साथ होनेवाली खुजली कहीं एसटीडी तो नहीं?

 How Important Is Semen Sperm Count Test
मैं 48 वर्षीया महिला हूं और ट्रीटमेंट के बावजूद पिछले कई सालों से हेवी ब्लीडिंग से परेशान हूं. डॉक्टर ने मुझे हिस्टेरेक्टॉमी की सलाह दी है. कृपया, इसके साइड इफेक्ट्स के बारे में बताएं.
– रेखा वर्मा, कानपुर.

हिस्टेरेक्टॉमी में सर्जरी के ज़रिए यूटरस और सर्विक्स निकाल दी जाती हैं. यह सर्जरी एब्डॉमिनल, वेजाइनल और लैप्रोस्कोपिक तरीक़ों से की जा सकती है. वेजाइनल और लैप्रोस्कोपिक दोनों ही बेहतरीन तरी़के हैं, क्योंकि इनमें रिकवरी तेज़ी से होती है और ज़्यादा ब्लीडिंग भी नहीं होती. कुछ ही हफ़्तों में आप अपनी नॉर्मल लाइफ शुरू कर सकती हैं. सर्जरी के दौरान ओवरीज़ भी निकाल देने से एस्ट्रोजेन की कमी हो जाती है, जिससे मेनोपॉज़ के सभी लक्षण महसूस होते हैं. हालांकि सर्जरी के बाद डॉक्टर आपको क्या करें, क्या न करें की पूरी लिस्ट देंगे. सर्जरी के बाद आपको हाई फाइबर डायट लेना होगा, ताकि कफ़ या कब्ज़ की शिकायत न हो, वरना आपकी सर्जरी पर इसका असर पड़ेगा.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: एग फ्रीज़िंग की प्रक्रिया में कितना वक्त लगता है?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies