Tag Archives: personal problems

Personal Problems: क्या किडनी ट्रांसप्लांट के बाद प्रेग्नेंसी प्लान कर सकती हूं? (Can I Plan Pregnancy After Kidney Transplant?) )

मैं 28 वर्षीया महिला हूं. 4 साल पहले मेरा सफलतापूर्वक किडनी ट्रांसप्लांट हुआ था. डॉक्टर ने कहा है कि अब मैं प्रेग्नेंट हो सकती हूं. पर क्या यह मेरे लिए ठीक होगा? मैं 30 साल की होने से पहले मां बनना चाहती हूं, क्या करूं?
– बानी झा, रायपुर.

हां, यह बिल्कुल सच है कि किडनी ट्रांसप्लांट के बाद भी आप प्रेग्नेंसी प्लान कर सकती हैं. पर बच्चे प्लान करने से पहले आप डॉक्टर से मिलकर यूनोसप्रेसेंट थेरेपी के बारे में डिस्कस करें. दरअसल, प्रेग्नेंसी में शुरुआती दो महीने भ्रूण के लिए बहुत महत्वपूर्ण होते हैं. इस दौरान उसके शरीर के ऑर्गन्स बनते हैं. ऐसे में कुछ दवाइयां उसे नुक़सान पहुंचा सकती हैं, इसलिए डॉक्टर से इस बारे में पहले ही बात कर लें.

यह भी पढ़ें: पीएमएस के दौरान बहुत ज़्यादा चिड़चिड़ापन महसूस होता है (I Feel Very Frustrated During PMS)

 

Pregnancy

यह भी पढ़ें: पीरियड्स देरी से आने के क्या कारण हो सकते हैं? (What Could Be The Reasons For Delayed Periods?)

हाल ही में डॉक्टर ने मेरा पैप स्मियर टेस्ट करने के बाद कॉलपोस्कोपी की सलाह दी है. उनके मुताबिक़ मुझे सर्वाइकल कैंसर तो नहीं है, पर पूरी तरह से तसल्ली करने के लिए यह टेस्ट और सर्वाइकल बायोप्सी भी ज़रूरी है. क्या यह टेस्ट पेनफुल होता है और क्या इसमें एनीस्थिसिया की ज़रूरत पड़ती है? कृपया, मेरा मार्गदर्शन करें.

– आकृति नायर, कोयंबटूर.

कॉलपोस्कोपी एक्ज़ामिनेशन में सामान्य दर्द होता है, इसलिए इसमें एनीस्थिसिया की ज़रूरत नहीं पड़ती. इस टेस्ट में डॉक्टर बारीक़ी से वेजाइना और सर्विक्स की जांच करते हैं, ताकि किसी भी तरह की एब्नॉर्मिलिटी छूट न जाए. आपके पैप स्मियर टेस्ट में डॉक्टर को किसी तरह की असामान्यता नज़र आई होगी, इसलिए इसकी मदद से बायोप्सी करना चाहते हैं. महिलाओं को सर्वाइकल कैंसर से बचाने के लिए यह टेस्ट किया जाता है. यह एक सामान्य प्रक्रिया है, जिसमें क़रीब 15-20 मिनट लगता है. आजकल इस मशीन में डिजिटल कैमरा भी लगा होता है, जिससे टेस्ट के बाद किसी तरह की असामान्यता पाए जाने पर डॉक्टर कंप्यूटर की मदद से आपको वो दिखा भी सकते हैं.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

Dr. Rajshree Kumar

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: रूटीन हेल्थ चेकअप में क्या पैप स्मियर टेस्ट कराना चाहिए? (Should I Go For A Pap Smear Test In Routine Health Checkup?)

मैं 32 वर्षीया कामकाजी महिला हूं. मैं इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव्स के बारे में जानना चाहती हूं. क्या ये आम गर्भनिरोधकों की तरह है या इसके कुछ साइडइफेक्ट्स हैं?
– कुसुम मेहता, मुंबई.

इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव्स का इस्तेमाल असुरक्षित यौन संबंध के बाद इमरजेंसी में किया जाता है. इसे कभी भी रेग्युलर कॉन्ट्रासेप्टिव्स की तरह इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव्स दो तरह के हैं, एक प्रोजेस्टेरॉनयुक्त टैबलेट और दूसरा कॉपर टी. प्रेग्नेंसी टालने के लिए असुरक्षित यौन संबंध के 72 घंटों के भीतर टैबलेट का इस्तेमाल करना चाहिए, जबकि कॉपर टी के लिए 5 दिनों का समय होता है. इसके साइडइफेक्ट्स इस बात पर निर्भर करते हैं कि आप कौन-सा मेथड इस्तेमाल कर रहे हैं. अनियमित माहवारी और उल्टी आना जैसे साइडइफेक्ट्स दोनों ही मेथड में हो सकते हैं, जबकि कॉपर टी में इंफेक्शन का भी डर रहता है. कभी-कभी मेथड फेल भी हो जाता है.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: बच्चे को कितने समय तक ब्रेस्टफीडिंग करानी चाहिए?

Pap Smear Test

मैं 27 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं और डॉक्टर ने मुझे रूटीन हेल्थ चेकअप में पैप स्मियर टेस्ट करने की सलाह दी है. क्या मुझे यह टेस्ट कराना चाहिए?
– कुमकुम अग्रवाल, देहरादून.

पैप स्मियर एक स्क्रीनिंग टेस्ट है, जिसके ज़रिए सर्विक्स में होनेवाले कैंसर व प्रीकैंसर सेल्स की जांच की जाती है. वैसे तो 21 वर्ष पार कर चुकी सभी महिलाओं को हर साल यह टेस्ट कराना चाहिए, ताकि शुरू में ही किसी समस्या का पता चल सके. अगर लगातार तीन सालों तक स्मियर टेस्ट निगेटिव आता है, तो यह टेस्ट हर तीन साल में 65 साल की उम्र तक कराना चाहिए. इसमें एक स्पेशल ब्रश के ज़रिए सर्विक्स के सेल्स को इकट्ठा कर टेस्ट के लिए लैब भेजा जाता है, ताकि पता चल सके कि कैंसर है या नहीं.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

Dr. Rajshree Kumar

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

Personal Problems: क्या इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव्स के साइड इफेक्ट्स होते हैं? (Does Emergency Contraceptives Have Any Side Effects?)

 मैं 32 वर्षीया कामकाजी महिला हूं. मैं इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव्स के बारे में जानना चाहती हूं. क्या ये आम गर्भनिरोधकों की तरह है या इसके कुछ साइड इफेक्ट्स हैं?
– कुसुम मेहता, मुंबई.

इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव्स का इस्तेमाल असुरक्षित यौन संबंध के बाद इमरजेंसी में किया जाता है. इसे कभी भी रेग्युलर कॉन्ट्रासेप्टिव्स की तरह इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव्स दो तरह के हैं, एक प्रोजेस्टेरॉनयुक्त टैबलेट और दूसरा कॉपर टी. प्रेग्नेंसी टालने के लिए असुरक्षित यौन संबंध के 72 घंटों के भीतर टैबलेट का इस्तेमाल करना चाहिए, जबकि कॉपर टी के लिए 5 दिनों का समय होता है. इसके साइड इफेक्ट्स इस बात पर निर्भर करते हैं कि आप कौन-सा मेथड इस्तेमाल कर रहे हैं. अनियमित माहवारी और उल्टी आना जैसे साइड इफेक्ट्स दोनों ही मेथड में हो सकते हैं, जबकि कॉपर टी में इंफेक्शन का भी डर रहता है. कभी-कभी मेथड फेल भी हो जाता है.

यह भी पढ़ें: क्या एबॉर्शन के बाद कंसीव करने में समस्या आती है?

Emergency Contraceptives

मैं 27 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं और डॉक्टर ने मुझे रूटीन हेल्थ चेकअप में पैप स्मियर टेस्ट करने की सलाह दी है. क्या मुझे यह टेस्ट कराना चाहिए?
– कुमकुम अग्रवाल, देहरादून.

पैप स्मियर एक स्क्रीनिंग टेस्ट है, जिसके ज़रिए सर्विक्स में होनेवाले कैंसर व प्रीकैंसर सेल्स की जांच की जाती है. वैसे तो 21 वर्ष पार कर चुकी सभी महिलाओं को हर साल यह टेस्ट कराना चाहिए, ताकि शुरू में ही किसी समस्या का पता चल सके. अगर लगातार तीन सालों तक स्मियर टेस्ट निगेटिव आता है, तो यह टेस्ट हर तीन साल में 65 साल की उम्र तक कराना चाहिए. इसमें एक स्पेशल ब्रश के ज़रिए सर्विक्स के सेल्स को इकट्ठा कर टेस्ट के लिए लैब भेजा जाता है, ताकि पता चल सके कि कैंसर है या नहीं.

यह भी पढ़ें:  कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

यह भी पढ़ें: पीरियड्स में क्या है नॉर्मल, क्या है ऐब्नॉर्मल?

Dr. Rajshree Kumar

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

Personal Problems: आईवीएफ साइकल फेल होने पर क्या दोबारा ट्राई करूं? (Last IVF Failed, Should I Try Again?)

मैं 33 वर्षीया महिला हूं. मैं कंसीव नहीं कर पा रही थी, इसलिए हमने आईवीएफ की मदद लेने का विचार बनाया, पर मेरा आईवीएफ साइकल भी फेल हो गया है. अब मैं क्या करूं? कृपया, मार्गदर्शन करें.
– रोहिणी देशपांडे, पुणे.

आईवीएफ ट्रीटमेंट करा रहे लोगों के लिए यह काफ़ी हतोत्साहित करनेवाला है, पर आपको इतनी आसानी से हार नहीं माननी चाहिए. इसके फेल होने के पीछे स्टेरॉइड, एस्पिरीन, प्लैटलेट युक्त प्लाज़्मा, इंट्रालिपिड इंफ्यूज़न आदि कारण हैं. आईवीएफ में सफलता के लिए आजकल इंट्रासिटोप्लाज़्मिक स्पर्म इंजेक्शन (आईसीएसआई), एम्ब्रायोस्कोप, इंट्रासिटोप्लाज़्मिक मॉर्फोलॉजिकली सिलेक्टेड स्पर्म (आईएमएसआई) और विट्रिफिकेशन जैसी तकनीक के कारण आईवीएफ के सक्सेस रेट बढ़े हैं. कुछ लोगों के आईवीएफ 5-6 बार भी फेल हो जाते हैं, इसलिए आप निराश न हों.
अपने फर्टिलिटी एक्सपर्ट से बात करें. चाहें तो किसी और एक्सपर्ट से सेकंड ओपिनियन लें.

यह भी पढ़ें: शारीरिक संबंध के बाद १-२ दिन तक ब्लीडिंग क्यों होती है?

Personal Problems

मेरी उम्र 29 वर्ष है. हाल ही में मेरे ओवेरियन ट्यूब्स का पोटेंसी टेस्ट हुआ, जिसमें दोनों ही ट्यूब्स ब्लॉक हैं. ऐसे में मैं किस तरह मां बन सकती हूं?
– उर्मिला मिश्रा, जमशेदपुर.

जैसा कि आपने बताया आपकी दोनों ही ट्यूब्स ब्लॉक हैं, तो आपके पास प्रेग्नेंसी के लिए दो विकल्प हैं. पहला विकल्प है सर्जरी, जहां सर्जरी के ज़रिए ट्यूब्स के ब्लॉक्स निकाले जाएंगे. इसके बाद आप नेचुरली कंसीव कर सकती हैं, पर इसमें एक्टॉपिक प्रेग्नेंसी के चांसेज़ ज़्यादा रहते हैं. दूसरा विकल्प है आईवीएफ. लेटेस्ट टेक्नोलॉजी के कारण आईवीएफ में सफलता की संभावना पहले के मुक़ाबले कहीं ज़्यादा बढ़ गई है. आईवीएफ की प्रक्रिया भी काफ़ी आसान और पेशेंट फ्रेंडली है. इस बारे में अधिक जानकारी के लिए आप अपने गायनाकोलॉजिस्ट से बात कर सकती हैं, वो आपका सही मार्गदर्शन करेंगे.

यह भी पढ़ें:  कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

Dr. Rajshree Kumar

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

Personal Problems: पीरियड्स देरी से आने के क्या कारण हो सकते हैं? (What Could Be The Reasons For Delayed Periods?)

Personal Problems: पीरियड्स देरी से आने के क्या कारण हो सकते हैं? (What Could Be The Reasons For Delayed Periods?)
मैं 47 साल की महिला हूं. मुझे कई महीनों से पीरियड्स नहीं आ रहे हैं. इसकी क्या वजह हो सकती है? कहीं मुझे मेनोपॉज़ तो नहीं हो गया है. कृपया, मेरी समस्या का समाधान करें.
– रेषा गुप्ता, ठाणे.

मेनोपॉज़ होने पर पीरियड्स पहले की तरह रेग्युलर नहीं रहते हैं. कभी ब्लीडिंग ज़्यादा होती है, कभी कम और कई बार केवल स्पॉट नज़र आता है. कई बार पीरियड्स ज़्यादा दिनों के लिए रहते हैं, तो कभी कम दिनों में ही ख़त्म हो जाते हैं. अगर आपके पीरियड्स मिस हो रहे हैं, तो सबसे पहले प्रेग्नेंसी टेस्ट करें. अगर आप प्रेग्नेंट नहीं हैं, तो हो सकता है कि यह मेनोपॉज़ के संकेत हों. अगर लगातार 12 महीनों तक आपको पीरियड्स नहीं आते हैं और उसके बाद भी स्पॉटिंग ही दिखाई देती है, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें, क्योंकि ये कैंसर जैसी गंभीर समस्या भी हो सकती है.
मेनोपॉज़ को आप स्वयं पहचान सकती हैं. मेनोपॉज़ के कॉमन लक्षण हैं- वेजाइनल ड्रायनेस, नींद की कमी या नींद डिस्टर्ब हो जाना, ज़्यादा पसीना आना आदि. इन सारे लक्षणों की वजह से आप चिंता या अवसाद महसूस कर सकती हैं. मेनोपॉज़ है या नहीं ये जानने के लिए आप गायनाकोलॉजिस्ट से संपर्क करें. एक ब्लड टेस्ट के ज़रिए आसानी से इसका पता लगाया जा सकता है. इसके अलावा आप पैप स्मीयर यानी सरवाइकल कैंसर स्क्रीनिंग टेस्ट भी करवा सकती हैं.

यह भी पढ़ें: शारीरिक संबंध के बाद १-२ दिन तक ब्लीडिंग क्यों होती है?

Delayed Periods

पिछले 2-3 महीने से मेरे पीरियड्स देरी से आ रहे हैं. कृपया, मुझे बताएं कि पीरियड्स देरी से आने के क्या-क्या कारण हो सकते हैं.
– दीपिका शिंदे, जलगांव.  

स्ट्रेस, कुपोषण, थाइरॉइड प्रॉब्लम, कोई बीमारी, कंट्रासेप्टिव पिल्स, ईटिंग डिसऑर्डर, अर्ली मेनोपॉज़, ब्रेस्ट फीडिंग, मोटापा, पीसीओडी और अचानक से वज़न काम होने पर भी पीरियड्स देरी से आते हैं. आप अपने डॉक्टर से मिलें वो आपके पीरियड्स देरी से आने का कारण ज़्यादा सही तरीक़े से बता पाएंगे.

यह भी पढ़ें:  कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

 Dr. Rajshree Kumar

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: 10-15 दिन में पीरियड्स आने के क्या कारण हो सकते हैं? (Possible Reasons For Periods In 10-15 Days?)

Reasons For Periods
Personal Problems: 10-15 दिन में पीरियड्स आने के क्या कारण हो सकते हैं? (Possible Reasons For Periods In 10-15 Days?)

महिलाओं की कई व्यक्तिगत समस्याएं होती हैं, जिनके बारे में वो मेरी सहेली के Personal Problems में जान सकती हैं. हो सकता है आपकी समस्या, किसी और की भी समस्या हो. तो महिलाओं की ऐसी ही पर्सनल प्रॉब्लम्स के बारे में जानने के लिए यहाँ पढ़ें.

मेरी उम्र 22 साल है. मेरी समस्या यह है कि हर 10 से 15 दिन में मेरे पीरियड्स आ जाते हैं. ऐसा क्यों होता है? कृपया बताएं मुझे क्या करना चाहिए?
– कुसुम कुमारी, नागपुर.

ये समस्या ज़्यादातर हार्मोनल असंतुलन या थायरॉइड की वजह से होती है. अगर महिला मेनोपॉज़ की ओर बढ़ रही है, तो ये लक्षण सामान्य हैं, क्योंकि इस दौरान पीरियड्स अनियमित हो जाते हैं. लेकिन आप 22 साल की हैं, तो मेनोपॉज़ नहीं हो सकता है. कुछ हार्मोनल टेस्ट्स और अल्ट्रासोनोग्राफी के ज़रिए इसके कारण का पता लगाया जा सकता है. आपको अपने हीमोग्लोबिन पर भी नज़र बनाए रखनी होगी, क्योंकि बार-बार पीरियड्स होने की वजह से एनीमिया और कमज़ोरी हो सकती है. कुछ घरेलू उपचार, जैसे- गुड़, खजूर, फल व हरी पत्तेदार सब्ज़ियों का सेवन करने से आपकी समस्या काफ़ी हद तक कम हो सकती है.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: ओवरी के सिस्ट को लेकर परेशान हूं

Reasons For Periods

मेरी शादी को डेढ़ साल हो गए हैं. इस साल फरवरी में मेरा मिसकैरेज हो गया था. अब मैं दोबारा कंसीव करना चाहती हूं, लेकिन कंसीव नहीं हो पा रहा है. क्या इसकी वजह मिसकैरेज है? कृपया बताएं मुझे क्या करना चाहिए?
– रेखा यादव, इलाहाबाद. 

गर्भपात या ऐब्नॉर्मल प्रेगनेंसी को नेचर्स लॉ कह सकते हैं, क्योंकि यह हमारे हाथ में नहीं होता. आप दोबारा प्रेगनेंसी की कोशिश कर सकती हैं.
किसी इंफर्टिलिटी स्पेशलिस्ट से मिलें. किसी तरह की मेडिकल प्रॉब्लम, दवाई रोज़ाना लेती हैं, तो वो भी हमें बताएं. अगर पिछली बार आपने नेचुरली कंसीव किया था तो इस बार भी नेचुरली कंसीव करने की संभावना है. फिर भी ओवेरियन रिज़र्व, ट्यूब की पोटेंसी, थाइरॉइड आदि के बारे में चेक करना होगा.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: ओवरी के सिस्ट को लेकर परेशान हूं (Worried About Cyst In Ovary)

Cyst In Ovary

Personal Problems: ओवरी के सिस्ट को लेकर परेशान हूं (Worried About Cyst In Ovary) 

मैं 27 वर्षीया वर्किंग वु.मन हूं. पिछले दिनों पेट के निचले हिस्से में दर्द की शिकायत के कारण डॉक्टर की सलाह पर सोनोग्राफी करवाई. रिपोर्ट में मेरी ओवरीज़ में 5 से.मी. का सिस्ट दिखा है. मेरे गायनाकोलॉजिस्ट ने कहा है कि घबराने की कोई बात नहीं और 3 महीने बाद फॉलोअप करने की सलाह दी है. मैं बहुत परेशान हूं, कृपया मार्गदर्शन करें
– रेणु वर्मा 

आपकी रिपोर्ट में जिस सिस्ट के बारे में लिखा गया है, उसे फिज़ियोलॉजिकल सिस्ट कहते हैं. महिलाओं की रिप्रोडक्टिव एज में यह आम बात है. अगर घबराने की कोई बात होती, तो डॉक्टर आपको ब्लड टेस्ट्स करने की सलाह देतीं, क्योंकि आपको 3 महीने बाद फॉलोअप के लिए बुलाया गया है, इससे पता चलता है कि कोई गंभीर बात नहीं है. सिस्ट के आकार में कोई बदलाव आया या नहीं, यह जानने के लिए फॉलोअप बहुत ज़रूरी है.

यह भी पढ़ें: वेजाइनल डिस्चार्ज का क्या कारण हो सकता है?

Cyst In Ovary

मैं 23 वर्षीय स्त्री हूं. छह माह पूर्व ही मेरा विवाह हुआ है. हम अगले दो सालों तक बच्चा नहीं चाहते, इसलिए कंडोम इस्तेमाल करते हैं. लेकिन मुझे इससे असहजता महसूस होती है और दर्द भी होता है. किसी ने मुझे बताया कि कंडोम या उसके जेल से मुझे एलर्जी हो सकती है. क्या वाकई मुझे इससे एलर्जी हो रही है? कृपया मेरी समस्या का समाधान बताएं.
 – अर्चना ढढवाल, देहरादून.

आपको कंडोम के रबर या फिर इसके जेल से एलर्जी होने की संभावना है. चूंकि अभी आपकी उम्र भी काफ़ी कम है और अगले दो साल तक आप परिवार बढ़ाना नहीं चाहतीं, तो ऐसे में आप गर्भनिरोधक दवाइयों का इस्तेमाल कर सकती हैं. बेहतर होगा कि आप किसी गायनाकोलॉजिस्ट से संपर्क करें, जो आपको बताएंगे कि आपके लिए कौन–सा गर्भनिरोधक उपयुक्त होगा.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
rajshree.gynoncol[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

Personal Problems: पीरियड्स में कम ब्लीडिंग का क्या कारण हो सकता है? (What Could Be Possible Reasons For Light Periods?)

Reasons For Light Periods
मेरी शादी को दो साल हो रहे हैं. मेरी उम्र 26 साल है. हमने 3 साल बाद बच्चे की प्लानिंग की थी, लेकिन अब मुझे पीरियड्स में कम ब्लीडिंग हो रही है. कहीं इसके कारण आगे चलकर मुझे बच्चे पैदा करने में कोई दिक्कत तो नहीं होगी?
– महिमा रेड्डी, हैदराबाद.

पीरियड्स के दौरान कम ब्लीडिंग के कई कारण हो सकते हैं, जैसे- हार्मोन्स का असंतुलन, पोषण की कमी, पीसीओएस, थायरॉइड प्रॉब्लम्स. अपने परिवार में पता करें कि अर्ली मेनोपॉज़ की हिस्ट्री तो नहीं.  आपको कुछ ब्लड टेस्ट कराने होंगे. टेस्ट में ओवेरियन रिज़र्व चेक कराएं और सोनोग्राफी करवाएं ताकि पता चल सके कि कितने साल और रुक सकते हैं. किसी फर्टिलिटी एक्सपर्ट से मिलें.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या एनीमिया के कारण कंसीव नहीं कर पाऊंगी?

Reasons For Light Periods

मेरे बाएं ब्रेस्ट में गांठ है. इस गांठ की वजह से मुझे अब तक कोई प्रॉब्लम नहीं हुई है. लेकिन मेरे बाएं ब्रेस्ट का साइज़ दाएं वाले ब्रेस्ट से बड़ा है. क्या इससे मुझे भविष्य में कोई समस्या हो सकती है? मुझे क्या करना चाहिए?
– रोशनी पटवा, पटना.

ब्रेस्ट में छोटे लम्प्स फाइब्रोएडीनोमा हो सकते हैं. पर अच्छा होगा कि आप एक बार डॉक्टर से अपने ब्रेस्ट की कंप्लीट जांच करा लें. एक बार पारिवारिक इतिहास देख लें, कहीं किसी को परिवार में ब्रेस्ट कैंसर तो नहीं था. जॉक्टर की जांच के बाद आप बायलैट्रल ब्रेस्ट की सोनो-मैमोग्राफी करा लें. यह निदान का सबसे बेहतर टूल है.

यह भी पढ़ें: क्या कंसीव करने की संभावना को जानने के लिए कोई टेस्ट है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

 

Personal Problems: पैप स्मियर टेस्ट क्यों किया जाता है? (What Do They Check For In A Pap Smear Test?)

पैप स्मियर टेस्ट, Pap Smear Test
मैं 33 वर्षीया कामकाजी महिला हूं और मेरी 7 महीने की एक बच्ची है. कुछ दिनों पहले ही मुझे पता चला कि प्रेग्नेंसी के दौरान अगर मां को थायरॉइड हो, तो वो बच्चे को भी हो सकता है. हालांकि प्रेग्नेंसी के दौरान दवाई लेने के कारण मेरा थायरॉइड नॉर्मल था, पर क्या इसकी संभावना है? कृपया, मेरा मार्गदर्शन करें.
– सरोजनी भारद्वाज, पटना.

सबसे पहले तो आपको डरने की कोई ज़रूरत नहीं है, क्योंकि प्रेग्नेंसी में थायरॉइड की शिकायत होना कोई बड़ी बात नहीं. यह किसी तरह का इंफेक्शन नहीं है, जो मां से बच्चे को हो जाएगा. थायरॉइड डिसफंक्शन प्रेग्नेंसी के दौरान भी हो सकता है, पर ज़्यादातर मामलों में डिलीवरी के 6 हफ़्तों के भीतर ही इसका समाधान कर दिया जाता है. इसलिए ज़रूरी है कि आप डिलीवरी के बाद थायरॉइड का लेवल चेक करते रहें. अगर मां को थायरॉइड डिसफंक्शन है, तो इसका यह बिल्कुल मतलब नहीं कि भविष्य में यह बच्चे को हो सकता है. आमतौर पर डिलीवरी के बाद नियोनैटोलॉजिस्ट बच्चे के थायरॉइड हार्मोंस लेवल चेक करते हैं, ताकि किसी भी तरह की असामान्यता को तुरंत ठीक किया जा सके.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

पैप स्मियर टेस्ट, Pap Smear Test

 

मैं 26 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं. हाल ही में मैंने पैप स्मियर टेस्ट के बारे में सुना. यह क्या है और क्यों किया जाता है?
– वृंदा नलावडे, नागपुर.

पैप स्मियर एक स्क्रीनिंग टेस्ट है, जो सर्वाइकल कैंसर की शुरुआती जांच के लिए किया जाता है. वैसे हर शादीशुदा महिला को यह टेस्ट साल में एक बार और लगातार तीन सालों तक ज़रूर कराना चाहिए. अगर तीनों सालों की रिपोर्ट निगेटिव आती है, तो फिर हर तीन साल में एक बार यह टेस्ट कराना चाहिए. इस टेस्ट का मुख्य उद्देश्य सर्विक्स के सेल्स में होनेवाले बदलावों को देखकर कैंसर की संभावना को तुरंत ख़त्म करना है. दरअसल, शरीर के किसी भी हिस्से में कैंसर अचानक से नहीं हो जाता, बल्कि सालों पहले उसके लक्षण दिखाई देते हैं, इसलिए रेग्युलर चेकअप से कैंसर की किसी भी आशंका को दूर किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: क्या कंसीव करने की संभावना को जानने के लिए कोई टेस्ट है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: पीरियड्स के पहले बाएं स्तन में कंपन महसूस होती है? (Reasons For Palpitations In Left Breast Before Periods)

Breast, Periods, menstrual cycle
मैं 29 वर्षीया कामकाजी महिला हूं. पिछले कुछ महीनों से पीरियड्स के पहले मेरे बाएं स्तन में थोड़ी-थोड़ी देर पर कंपन या धकधकी महसूस होती है, पर कुछ देर बाद वह शांत हो जाती है. कहीं मुझे कोई बड़ी प्रॉब्लम तो नहीं?
– राजश्री पांचाल, मुंबई.

पीरियड्स के पहले हार्मोनल बदलावों के कारण छाती में बदलाव नज़र आते हैं. आपने महसूस किया होगा कि पीरियड्स के बाद यह कंपन बंद हो जाती है. आपको किसी गायनाकोलॉजिस्ट को मिलना चाहिए, ताकि अगर इससे आपके स्वास्थ्य पर कोई असर पड़ रहा हो, तो वो ज़रूरी टेस्ट्स व ट्रीटमेंट कर सकें. कंपन की जांच करवानी ज़रूरी है, क्योंकि वो हार्ट या थायरॉइड प्रॉब्लम्स के कारण भी हो सकती है. ऐसे ट्रीटमेंट में डॉक्टर आपको मल्टीविटामिन या फिर इवनिंग प्रिमरोज़ ऑयल सप्लीमेंट दे सकते हैं.

यह भी पढ़ें: क्या पेट के टीबी से फर्टिलिटी प्रभावित हो सकती है?

Breast, Periods, menstrual cycle

मैं 26 वर्षीया कॉलेज स्टूडेंट हूं. पिछले कुछ समय से खाना खाने के बाद मेरी नाभि के पास मुझे हल्का-हल्का दर्द महसूस होता है. इस दर्द का क्या कारण हो सकता है? कृपया, मेरी मदद करें.
– कोयल महापात्रा, कसौली.

स्टूडेंट्स अक्सर भागदौड़ व पढ़ाई के कारण अपने खानपान का ठीक से ध्यान नहीं देते. हो सकता है कि आप खाने के बीच में काफ़ी लंबा गैप कर देती हों, या फिर खाना समय से नहीं खातीं या फिर फास्टफूड ज़्यादा खाती हों. आमतौर पर नाभि के आसपास दर्द का सबसे बड़ा कारण एसिडिटी होती है. आपको ध्यान रखना होगा कि आप हर दो घंटे में कुछ न कुछ खाएं और तले व मसालेदार खाने से बचें. अगर दर्द लगातार बना हुआ है, तो आपको किसी गैस्ट्रोइंटरोलॉजिस्ट को मिलना चाहिए.

यह भी पढ़ें: क्या कंसीव करने की संभावना को जानने के लिए कोई टेस्ट है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

 

Personal Problems: पीरियड्स के दौरान अचानक वज़न बढ़ जाता है (Why I Feel Weight Gain During Periods?)

Personal Problems, Weight Gain, During Periods
मैं 21 साल की हूं. मेरा मासिक धर्म हमेशा नियमित रहता है, किंतु मासिक धर्म आने के पूर्व मेरा पेट फूल जाता है और अचानक वज़न भी बढ़ जाता है. ऐसा क्यों होता है? कृपया इस बारे में जानकारी दें.
– प्रतिमा सिंह, बिहार.

आपकी समस्याओं के बारे में जानकर ऐसा लगता है कि आप पीएमएस (प्रीमेन्सट्रुअल सिंड्रोम) यानि माहवारी से पहले होनेवाली तकलीफ़ों से गुज़र रही हैं. इस दौरान आपको अपने आप में और भी कई तरह के बदलाव नज़र आ सकते हैं, जैसे- स्तनों के आकार में वृद्धि, स्वभाव में चिड़चिड़ापन आना, अधिक भूख लगना आदि. ये सब माहवारी के दौरान के सामान्य लक्षण हैं, इसलिए चिंता की कोई बात नहीं है. हां, अपने गायनाकोलॉजिस्ट से यह अवश्य जान लें कि आपके वज़न बढ़ने का कारण कहीं कोई और समस्या तो नहीं है.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

Personal Problems, Weight Gain, During Periods

मैं 23 वर्षीय स्त्री हूं. छह माह पूर्व ही मेरा विवाह हुआ है. हम अगले दो सालों तक बच्चा नहीं चाहते, इसलिए कंडोम इस्तेमाल करते हैं. लेकिन मुझे इससे असहजता महसूस होती है और दर्द भी होता है. किसी ने मुझे बताया कि कंडोम या उसके जेल से मुझे एलर्जी हो सकती है. क्या वाकई मुझे इससे एलर्जी हो रही है? कृपया मेरी समस्या का समाधान बताएं.

आपको कंडोम के रबर या फिर इसके जेल से एलर्जी होने की संभावना है. चूंकि अभी आपकी उम्र भी काफ़ी कम है और अगले दो साल तक आप परिवार बढ़ाना नहीं चाहतीं, तो ऐसे में आप गर्भनिरोधक दवाइयों का इस्तेमाल कर सकती हैं. बेहतर होगा कि आप किसी गायनाकोलॉजिस्ट से संपर्क करें, जो आपको बताएंगे कि आपके लिए कौन–सा गर्भनिरोधक उपयुक्त होगा.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: क्या प्रेग्नेंसी में ब्लडप्रेशर की दवा लेना सेफ है? (Is It Safe To Have Blood Pressure Medicine During Pregnancy?)

Safe, Blood Pressure. Medicine During Pregnancy
मेरी नौ महीने की बेटी है, जिसे मैं ब्रेस्ट फीडिंग करती हूं. मेरी प्रेग्नेंसी रिपोर्ट पॉज़ीटिव आई है और सोनोग्राफी में 5 हफ़्ते की प्रेग्नेंसी का पता चला है. मेरे डॉक्टर ने मुझे सर्जिकल एबॉर्शन की बजाय मेडिकल एबॉर्शन की सलाह दी है. क्या यह सेफ और इफेक्टिव है?
– महिमा झा, हिसार.

स्टडीज़ में यह बात साबित हो चुकी है कि मेडिकल एबॉर्शन सेफ और इफेक्टिव तरीक़ा है. इसमें दो गोलियां दी जाती हैं. सर्जिकल प्रोसीजर भले ही कितना भी छोटा हो, फिर भी उसमें एनीस्थिसिया दिया जाता है और प्रोसीजर में कॉम्प्लीकेशंस की संभावना भी बनी रहती है, क्योंकि आपके डॉक्टर ने आपको मेडिकल एबॉर्शन की सलाह दी है, तो उन्होंने इसके बारे में आपको पूरी जानकारी भी दी होगी. इसलिए बेफिक्र रहें. ये बिल्कुल सेफ है.

 Blood Pressure Medicine During Pregnancy
मैं पहली बार मां बनी हूं और मेरी 8 महीने की प्रेग्नेंसी है. डॉक्टर ने कहा है कि मेरा ब्लड प्रेशर बढ़ रहा है, जिसे कंट्रोल करने के लिए मुझे दवा लेनी होगी. कहीं ये दवाएं मेरे बच्चे को कोई नुक़सान तो नहीं पहुंचाएंगी? मुझे क्या करना चाहिए?
– अमृता जैन, राजकोट.

पहली बार मां बननेवाली बहुत-सी महिलाओं को यह समस्या होती है, जिसे प्रेग्नेंसी के कारण होनेवाला हाइपरटेंशन कहते हैं. अगर ब्लड प्रेशर कंट्रोल न किया गया, तो यह आपके और आपके बच्चे की सेहत को नुक़सान पहुंचा सकता है. ज़्यादातर एंटी-हाइपरटेंसिव दवाएं टेस्टेड ही होती हैं, इसलिए इफेक्टिव और बच्चों के लिए सेफ हैं. अगर आपके डॉक्टर ने आपको इसकी सलाह दी है, तो वैसा ही करें.

 

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies