pm modi

अपने बेबाक और विवादित बयानों के कारण चर्चा में रहने वाली बॉलीवुड की कंट्रोवर्सी क्वीन कंगना रनौत का गुस्सा एक बार फिर से सातवें आसमान पर जा पहुंचा है. इस बार कंगना रनौत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के तीन कृषि कानूनों को वापस लेने के फैसले को लेकर अपनी भड़ास निकाली है. दरअसल, पीएम मोदी ने शुक्रवार को तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का फैसला करके करीब एक साल से आंदोलन कर रहे किसानों को राहत पहुंचाने का काम किया है, लेकिन लगता है कंगना प्रधानमंत्री के इस फैसले से सहमत नहीं हैं, तभी वो एक बार फिर से भड़क उठी हैं और पीएम मोदी के कृषि कानूनों को वापस लेने के फैसले को लेकर बड़ी बात कह दी है.

Kangana Ranaut
Kangana Ranaut

कंगना का ट्विटर अकाउंट तो पहले से ही सस्पेंड है, लिहाजा एक्ट्रेस ने अपना गुस्सा ज़ाहिर करने के लिए अपने इंस्टाग्राम अकाउंट का सहारा लिया है. कंगना ने सबसे पहले देश की पहली प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की जयंती पर सबको शुभकामनाएं दी, फिर कृषि कानूनों को वापस लिए जाने के फैसले पर अपनी भड़ास निकाली. एक्ट्रेस ने कृषि कानूनों को वापस लेने के फैसले को दुखद और शर्मनाक बताते हुए लिखा है- ‘अगर संसद में चुनी हुई सरकार के बदले सड़कों पर लोगों ने कानून बनाना शुरू कर दिया तो यह एक जिहादी राष्ट्र है. उन सभी को बधाई जो ऐसा चाहते थे.’ एक्ट्रेस ने मोदी सरकार के इस फैसले को पूरी  तरह से अनुचित बताया है. यह भी पढ़ें: जावेद जाफरी की बेटी अलाविया जाफरी की खूबसूरती के आगे सब हैं फेल, तस्वीरें देख नज़रें नहीं हटा पाते लोग… (Drop-Dead Gorgeous: Meet Jaaved Jaaferi’s Beautiful & Glamorous Daughter Alaviaa Jaaferi)

Kangana Ranaut

कंगना के इस बयान के बाद एक बार फिर से उन्हें सोशल मीडिया पर क्रिटीसाइज किया जा रहा है और #Arrest_Castiest_Kangna सहित कई हैशटैग के साथ सोशल मीडिया पर कंगना को गिरफ्तार करने की मांग की जा रही है. बता दें कि पीएम मोदी ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए पिछले एक साल से विवादों में घिरे तीन कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान किया है और आश्वासन दिया है कि इसके लिए संसद के आगामी सत्र में विधेयक लाया जाएगा.

भले ही कंगना कृषि कानूनों को वापस लिए जाने के सरकार के फैसले से खफा हैं, लेकिन बॉलीवुड के कई सेलेब्स ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. गरीबों के मसीहा कहे जाने वाले एक्टर सोनू सूद ने ट्वीट कर पीएम मोदी को धन्यवाद दिया है. उन्होंने लिखा है- किसान वापस अपने खेतों में आएंगे, देश के खेत एक बार फिर से लहराएंगे. धन्यवाद नरेंद्र मोदी जी. इस ऐतिहासिक फैसले से किसानों का प्रकाश पर्व और भी ऐतिहासिक हो गया. जय जवान जय किसान. सोनू सूद के अलावा तापसी पन्नू ने भी ट्वीट कर लिखा है- और… गुरु पर्व दिया सब नू वधाइयां, जबकि ऋचा चड्ढा ने लिखा है- जीत गए आप, आपकी जीत में सबकी जीत है. यह भी पढ़ें: कंगना ने अब साधा गांधी जी पर निशाना, कहा, गांधी चाहते थे भगत सिंह को फांसी हो (Kangana Ranaut now slams Mahatma Gandhi, says Gandhi ‘never supported’ Bhagat Singh)

Kangana Ranaut

गौरतलब है कि गुरु नानक जयंती और कार्तिक पूर्णिमा के खास अवसर पर देशवासियों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने 2020 में संसद में पारित तीन कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान किया. उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि आज मैं आपको, पूरे देश को बताने आया हूं कि हमने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का फैसला किया है. इस महीने शुरू होने वाले संसद सत्र में हम इन तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने के लिए संवैधानिक प्रक्रिया को पूरा करेंगे. दरअसल, करीब एक साल से किसान तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं, लेकिन पीएम मोदी के इस फैसले के बाद किसानों में खुशी की लहर है.

ग्लैमर इंडस्ट्री की फेमस एक्ट्रेस सुधा चंद्रन सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं. वो अपने चाहने वालों के साथ अक्सर सोशल मीडिया के ज़रिए जुड़ी रहती हैं. अब एक्ट्रेस अपने एक वीडियो को लेकर सुर्खियों में आ गई हैं, जिसमें वो देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से एक खास अपील करती दिख रही हैं. दरअसल, एयरपोर्ट सिक्योरिटी को लेकर वीडियो में एक्ट्रेस का दर्द छलका है और सिक्योरिटी द्वारा हर बार एयरपोर्ट पर रोके जाने से एक्ट्रेस बेहद दुखी हो गई हैं, जिसके बाद उन्होंने पीएम मोदी से गुहार लगाई है.

Sudha Chandran
फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम से वीडियो शेयर करके उन्होंने उसे पीएम मोदी को टैग किया है. सुधा चंद्रन ने वरिष्ठ नागरिकों के लिए एक कार्ड जारी करने की अपील की है. एक्ट्रेस ने पीएम मोदी से यह गुहार इसलिए लगाई है, ताकि फ्लाइट से यात्रा करने वाले वरिष्ठ नागरिकों को एयरपोर्ट पर चेकिंग के दौरान ज्यादा दिक्कतें न झेलनी पड़े. सुधा का कहना है कि जब भी वो काम के सिलसिले में फ्लाइट से ट्रैवल करती हैं तो उन्हें हर बार एयरपोर्ट सिक्योरिटी के लोग रोक लेते हैं और उनके आर्टिफिशियल लिंब यानी नकली पैर को उतारकर उसे चेक करने के लिए कहते हैं. यह भी पढ़ें: आखिर क्यों देबिना बनर्जी को मुंडवाना पड़ा अपना सिर, जानें एक्ट्रेस द्वारा शेयर किए गए वीडियो की सच्चाई (Why Debina Bonnerjee Gone Bald, Know The Truth of a Video Shared by Actress)

Sudha Chandran
फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

अपने दर्द को बयां करते हुए सुधा ने कहा है कि वो जब भी एयरपोर्ट पर जाती हैं, तब उन्हें बार-बार रोका जाता है और सुरक्षाकर्मी उनकी आर्टिफिशियल लिंब उतारकर चेकिंग करते हैं. एक्ट्रेस का कहना है कि आर्टिफिशियल लिंब को खोलने की प्रक्रिया काफी दर्दनाक होती है, लेकिन हर बार सिक्योरिटी चेक के दौरान उन्हें इस प्रक्रिया से गुज़रना पड़ता है.

Sudha Chandran
फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम
Sudha Chandran
फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

इंस्टाग्राम पर शेयर किए गए वीडियो में सुधा कहती हैं- गुड इवनिंग, मैं जो कहने जा रही हूं वो बहुत ही पर्सनल नोट है. मैं अपनी बात देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक पहुंचाना चाहती हूं. मैं केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों से अपील करना चाहती हूं. मैं सुधा चंद्रन हूं, प्रोफेशनल डांसर और एक्ट्रेस हूं. मैंने आर्टिफिशियल लिंब के सहारे डांस किया और इतिहास रचा. मैंने अपने देश को गौरवान्वित किया है, लेकिन हर बार जब प्रोफेशनल काम के सिलसिले में हवाई यात्रा करती हूं तो हर बार मुझे एयरपोर्ट सिक्योरिटी द्वारा रोक लिया जाता है.

एक्ट्रेस आगे कहती हैं कि एयरपोर्ट पर रोके जाने पर जब मैं सुरक्षा में तैनात सीआईएसएफ अधिकारियों से अनुरोध करती हूं कि मेरे आर्टिफिशियल लिंब को ईटीडी यानी विस्फोटक ट्रेस डिटेक्टर से चेक करें तो वो मेरे अनुरोध को नहीं मानते हैं और मेरे आर्टिफिशियल लिंब को निकालने के लिए कहते हैं. उन्होंने अपना गुस्सा ज़ाहिर करते हुए सवाल किया कि क्या मोदी जी यह मानवीय रूप से संभव है कि मैं अपने आर्टिफिशियल लिंब को बार-बार निकालकर दिखाऊं. क्या यही हमारा देश है, यही वो सम्मान है जो एक महिला दूसरी महिला को देती है? यह भी पढ़ें: मुनमुन दत्ता से लेकर एजाज खान तक, सेक्सुअल एब्यूज झेल चुके टीवी स्टार्स कर चुके हैं ये शॉकिंग खुलासे (From Munmun Dutta To Eijaz Khan These TV celebs have opened up about being victims of sexual abuse)

Sudha Chandran
फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

मैं पीएम मोदी से अनुरोध करती हूं कि कृपया वरिष्ठ नागरिकों के लिए एक कार्ड जारी किया जाए, जिसमें लिखा हो कि वो वरिष्ठ नागरिक हैं या वो स्पेशली चैलेंज्ड हैं. कई बार यह मेरे लिए बहुत शर्मनाक और दर्दनाक होता है कि जब मुझे इसी प्रक्रिया को बार-बार करना पड़ता है. इस वीडियो में अपने दर्द को बयां करते हुए एक्ट्रेस ने केंद्र सरकार से इस मामले में जल्द से जल्द उचित कार्रवाई करने का अनुरोध भी किया है.

अपने बेबाक बयानों के लिए सुर्ख़ियों में रहने वाली बॉलीवुड अभिनेत्री स्वरा भास्कर एक बार फिर सुर्ख़ियों में हैं. इस बार स्वरा ऑक्सीजन और बेड की कमी पर बोलने पर ट्रोल हुई हैं. स्वरा भास्कर ने नए प्रधानमंत्री की मांग की है, जिसको लेकर ट्रोलर्स ने कहा ये…

Swara Bhaskar

देशभर में कोरोना की दूसरी लहर कहर बरपा रही है. पूरा देश डर और संशय के माहौल में है. ऐसे में ऑक्सिजन, दवाइयों, बेड की कमी को देखकर स्वरा भास्कर मोदी सरकार पर बुरी तरह भड़की हुई हैं. इसी के चलते स्वरा ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए ट्वीट करके कहा कि अब देश को नए प्रधानमंत्री की जरूरत है.

Swara Bhaskar

दरअसल जब शेखर गुप्ता ने हाल ही एक ट्वीट करके लिखा था, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक नई टीम की जरूरत है. अगर पीएमओ चाहते हैं कि देश चलता रहे, आगे बढ़ता रहे.’

इसका जवाब देते हुए स्वरा भास्कर ने ट्वीट करके लिखा, ‘भारत को एक नए प्रधानमंत्री की जरूरत है. यदि भारतीय चाहते हैं कि वो अपने प्रियजनों को सांस के लिए हांफते हुए नहीं देखना चाहते हैं तो.’

स्वरा भास्कर के इस ट्वीट से सोशल मीडिया पर ट्वीट्स और कमेंट्स की बाढ़-सी आ गई. स्वरा भास्कर का ये ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है और ट्रोलर्स स्वरा की ट्रोल कर रहे हैं. कई लोगों ने स्वरा भास्कर को खरीखोटी सुनाई. एक यूजर ने लिखा, ‘माफ कीजिए पर 2024 से पहले ऐसा नहीं हो सकता. अब इसे ही झेलो.’

यह भी पढ़ें: शाहरुख़ खान की फिल्म परदेस की अभिनेत्री महिमा चौधरी की बेटी अरियाना हैं बेहद खूबसूरत, देखें उनकी क्यूट तस्वीरें (Meet Pardes Actress Mahima Chaudhry’s Cute And Pretty Daughter Ariana, Who Is As Beautiful As Her Mother)

एक अन्य यूजर ने लिखा, ‘ये स्वरा भास्कर है कौन?’ आप भी देखिए यूज़र्स के ये ट्वीट्स:

स्वरा भास्कर के बेबाक बयान अक्सर सोशल मीडिया में छाए रहते हैं, लेकिन इस बार ट्रोलर्स ने स्वरा को बुरी तरह ट्रोल किया है.

यह भी पढ़ें: कंगना रनौत का ट्विटर अकाउंट फिर से सस्पेंड होने पर अभिनेत्री कुब्रा सैत ने खुश होकर कहा ये… (Kubbra Sait Reacts To Kangana Ranaut’s Twitter Suspension ‘I Hope A Permanent Relief’)

Swara Bhaskar

आपको क्या लगता है, स्वरा को प्रधानमंत्री के लिए ऐसा ट्वीट करना चाहिए था?

कोरोना वायरस का कहर पूरा देश झेल रहा है. इस महामारी ने देश की कई मशहूर हस्तियों को हमसे छीन लिया है. वरिष्ठ पत्रकार और टीवी एंकर रोहित सरदाना का भी कोरोना के संक्रमण से आज 30 अप्रैल को निधन हो गया है. रोहित ने निधन पर पीएम मोदी सहित देश के बड़े नेताओं ने शोक जताया है.

Rohit Sardana

बता दें कि 29 अप्रैल को जाने-माने कवि और गीतकर कुंअर बेचैन की भी कोरोना संक्रमण से निधन हो गया है और एक दिन बाद ही वरिष्ठ पत्रकार और टीवी एंकर रोहित सरदाना का भी कोरोना के संक्रमण से निधन हो गया है. रोहित सरदाना के परिवार के साथ ही उनके साथी पत्रकार रोहित के यूं अकस्मात निधन से स्तब्ध हैं.

रोहित सरदाना का शो दंगल देशभर में कई लोग देखते थे और उन्हें सोशल मीडिया पर फॉलो भी करते थे. ख़बरों के अनुसार, रोहित सरदाना कोरोना से संक्रमित थे. फिर गंभीर स्थिति के चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. इसके बावजूद डॉक्टर्स रोहित सरदाना को नहीं बचा सके. ख़बरों के अनुसार, हार्टअटैक आने की वजह से रोहित सरदाना का निधन हो गया, लेकिन ये भी सच है कि वे कोरोना वायरस से संक्रमित थे.

रोहित सरदाना के निधन पर पत्रकारिता जगत से जुड़े तमाम लोग दुखी हैं और पीएम मोदी सहित देश के बड़े नेताओं ने रोहित सरदाना के निधन पर शोक जताया है.

पीएम मोदी ने ट्वीट कर रोहित सरदाना के निधन पर शोक जताते हुए लिखा है, ‘रोहित सरदाना ने हमें बहुत जल्द छोड़ दिया. ऊर्जा से भरपूर… उनके असामयिक निधन ने मीडिया जगत में एक बहुत बड़ा शून्य छोड़ दिया है. उनके परिवार, दोस्तों और प्रशंसकों के प्रति संवेदना. ॐ शांति.’

रोहित सरदाना के निधन पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर लिखा है, ‘वरिष्ठ टीवी पत्रकार रोहित सरदाना जी के निधन की दुखद ख़बर स्तब्ध कर देने वाली है. ईश्वर उनकी आत्मा को अपने चरणों में स्थान दें और परिवार को ये दुख सहने का साहस दें.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली AIIMS में COVID वैक्सीन का पहला डोज़ लिया. आज से शुरू हुए कोरोना टीकाकरण के दूसरे चरण के अभियान में पीएम ने खुद वैक्सीन लगवाकर एक बड़ा संदेश दिया. जो लोग उन पर आरोप लगा रहे थे और देश में बनी वैक्सीन पर संदेह जता रहे थे कि अगर वैक्सीन सही है तो मोदीजी खुद क्यों नहीं लगवाते अब उनको भी जवाब मिल गया होगा. पीएम ने भारत बायोटेक के कोवैक्सीन की पहली डोज ली है और ट्वीट करके और विडीओ के ज़रिए भी संदेश जारी किया है कि उन सभी से वैक्सीन लेने का आग्रह करता हूं जो इसके लिए योग्य हैं. आइए, हमसब मिलकर भारत को कोविड-19 मुक्त बनाते हैं!

पीएम ने डाक्टर्स और वैज्ञानिकों की प्रशंसा की है कि इतने कम वक़्त में कोविड के खिलाफ वैश्विक लड़ाई को मजबूत करने में हमारे डॉक्टरों और वैज्ञानिकों ने जितनी तेजी से काम वो उल्लेखनीय और क़ाबिले तारीफ़ है.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी वैक्सीन लेनेवाले हैं और इस तरह से लोगों को बड़ा संदेश व वैक्सीन लेने की प्रेरणा भी मिल रही है. दरअसल कोरोना वैक्सीनेशन अभियान का अगला चरण 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों व अन्य बीमारियों से पीड़ित 45 वर्ष या उससे अधिक आयु के लोगों के लिए एक मार्च से शुरू हो रहा है और इसका रेजिस्ट्रेशन को-विन 2.0 पोर्टल पर मंडे सुबह नौ बजे शुरू होगा. जो भी योग्य व्यक्ति है वो रेजिस्ट्रेशन करवा सकता है और कोरोना से अपनी सुरक्षा पुख़्ता कर सकता है.

यह भी पढ़ें: युवाओं में तेज़ी से बढ़ रहे हैं विटामिन D की कमी के मामले, क्या आपको भी पर्याप्त सनलाइट नहीं मिलती? इन 4 तरीकों से विटामिन D की ज़रूरत को पूरा कर सकते हैं (Not Getting Enough Sunlight? Here Are 4 Tips To Up Your Vitamin D Intake)

सुशांत सिंह राजपूत की बहन ने अब पूरे मामले की निष्पक्ष जांच के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्वीट करके ओपन लेटर लिखा जिसमें कई बातों का ज़िक्र भी है और परिवार के मन की आशंकाएँ भी.

सुशांत की बहन श्वेता सिंह ने ट्वीट किया कि मैन सुशांत सिंह राजपूत की बहन हूं और निवेदन करती हूं कि मामले की जल्द से जल्द सुनवाई हो. हम भारत की न्याय व्यवस्था में विश्वास रखते हैं और इंसाफ़ की उम्मीद करते हैं.

Sushant Singh Rajput With His Sister

मिसके बाद उन्होंने अपने ओपन लेटर में लिखा- डियर सर, मेरा दिल कहता है कि आप सच के लिए और सच के साथ खड़े होते हैं. हम बेहद साधारण परिवार से हैं. मेरे भाई का इंडस्ट्री में कोई गॉडफादर नहीं है और ना ही फ़िलहाल हमारा कोई गॉडफादर है. मेरा निवेदन है कि आप फ़ौरन इस मामले को देखें और यह सुनिश्चित करें कि सब कुछ साफ व निष्पक्ष तरीके से किया जाए और किसी भी सबूत के साथ कोई छेड़खानी ना की जाए. इंसाफ की उम्मीद है.

जैसाकि सभी जानते हैं कि सुशांत के परिवार वालों ने रिया चक्रवर्ती के ख़िलाफ़ fir करवाई है और पूरे मामले की छानबीन के लिए बिहार पुलिस भी मुम्बई आई हुई है, लेकिन अब इस मामले ने राजनीतिक रंग ले किया है और यह इंसाफ़ की बजाय नाक की लड़ाई बन गई. बिहार पुलिस का आरोप है कि मुम्बई पुलिस उसे सहयोग नहीं कर रही. इस तरह दोनों ही आमने सामने हैं. यही वजह है कि सबको डर है कि निष्पक्ष जांच होगी या नाहीं.

सभी ने CBI जांच की भी मांग की है जिसे महाराष्ट्र सरकार ख़ारिज कर रही है.

यह भी पढ़ें: ‘सात फेरे’ फेम राजश्री ठाकुर के बारे में नहीं जानते होंगे ये बातें, जल्द ही कर रही हैं टीवी पर वापसी (Unknown Facts About Saat Phere Fame Rajshree Thakur)

देश पर जब भी कोई मुसीबत आती है, तो बॉलीवुड मदद के लिए हमेशा देश के साथ खड़ा रहता है. आज जब कि पूरा देश कोरोना से लड़ रहा है और सरकार कोरोना से लड़ने की हर मुमकिन कोशिश कर रही है, तो ऐसे में बॉलीवुड सेलेब्स भी सरकार के इस काम में पूरी मदद कर रहे हैं. इस मुश्किल घड़ी में हमारे स्टार्स न सिर्फ दिल खोलकर फाइनेंसियल हेल्प कर रहे हैं, बल्कि जागरूकता लाने के लिए वीडियोज़ बनाकर या मैसेज के ज़रिए अपनी बात भी लोगों तक पहुंचा रहे हैं.

asha bhosle


अक्षय कुमार ने कोरोना से लड़ रहे मेडिकल वर्कर्स के सम्मान में सॉन्ग ‘तेरी मिट्टी….’ को रिक्रिएट करके डेडिकेट किया था, तो अजय देवगन ने भी गाना ‘ठहर जा’ के जरिए देशवासियों को संदेश दिया था कि वह इस खतरनाक बीमारी के दौरान सभी अपने-अपने घरों में ही रहें और अपने परिवार के बीच प्यार बांटें. और भी बॉलीवुड स्टार्स इस कठिन समय में लोगों की हौसलाअफजाई कर रहे हैं और उनमें जागरूकता लाने के लिये सोशल मीडिया के ज़रिये लगातार सन्देश दे रहे हैं.

asha bhosle pm modi

और अब जब पीएम नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन की चुनौती से निपटने के लिए ‘आत्‍मनिर्भर भारत’ बनाने का आह्वान किया है, तो उनके इस अभियान से भी बॉलीवुड जुड़ रहा है.
दरअसल मोदीजी के ‘आत्मनिर्भर भारत’ को सपोर्ट करने के लिए और कोरोना की स्थिति में भी लोगों में नया उत्साह जगाने के लिए हमारे 211 मशहूर गायकों ने मिलकर आत्मनिर्भर थीम पर एक गाना बनाया है. इस गाने का शीर्षक है ‘वन नेशन वन वॉइस- जयतु जयतु भारतम’. इस गीत के लेखक हैं प्रसून जोशी. इस गीत को 12 भाषाओं में बनाया गया है, ताकि ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक सन्देश पहुंचे.

211 singers


इस गीत को स्वरकोकीला लता मंगेशकर जी ने खुद अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के जरिए शेयर किया है. ये गीत इतना अच्छा बना है कि इस गीत की तारीफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी की है.

लगा जी ने ये गीत प्रधामनंत्री मोदी जी को अर्पित करते हुए ट्वीट में लिखा है, ‘नमस्कार। हमारे ISRA (इंडियन सिंगर्स राइट्स असोसिएशन) के बहुत गुणी 211 कलाकारों ने एक होकर आत्मनिर्भर भारत की भावना से प्रेरित होकर इस गीत का निर्माण किया है, जो पूरे भारत की जनता को और हमारे आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्रभाई मोदीजी को हम अर्पण करते हैं. जयतु भारतम्.’
लता जी के इस ट्वीट को रिट्वीट करते हुए पीएम मोदी जी ने भी इस गीत और इन कलाकारों की प्रशंसा की और रिट्वीट करते हुए लिखा, ‘यह गीत हर किसी को उत्साहित और प्रेरित करने वाला है. इसमें आत्मनिर्भर भारत के लिए सुरों से सजा उद्घोष है.’


‘जयतु जयतु भारतम’ गीत को देशभर के प्रसिद्ध गायकों और गीतकारों ने मिलकर बनाया है. गाने की शुरुआत आशा भोसले से होती है और आगे उनके साथ एसपी बालसुब्रमण्यम, सोनू निगम, शंकर महादेवन, कैलाश खेर, अनूप जलोटा, अनुराधा पौडवाल, कविता कृष्णमूर्ति, शान जैसे गायक जुड़ते हैं.

कोरोना से जंग सारी दुनिया लड़ रही है लेकिन भारत के प्रयासों की सराहना who भी कर चुका है. इसी के मद्देनज़रप्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार 3 अप्रैल सुबह 9 बजे राष्ट्र के नाम संदेश में देशवासियों का हौसला बढ़ाया और लॉकडाउन मेंसाथ देने के लिए सबकी तारीफ़ की. 

इस संदेश की ख़ास बात यह रही कि प्रधानमंत्री मोदी ने देश की एकजुटता पर ज़ोर दिया, लोगों को निराश ना होकरपॉज़िटिव रहने की प्रेरणा दी, कोरोना की निराशा को हावी ना होने देकर प्रकाश की ओर बढ़ने की सलाह दी. 

मोदीजी ने देशवासियों का हौसला बढ़ने के लिए रविवार 5 अप्रैल रात 9 बजे 9 मिनट के लिए घर की लाइट्स बंद करकेअपनी बाल्कनी या दरवाज़ों  पर दीया, मोमबत्ती या मोबाइल टॉर्च या फ़्लैश लाइट ऑन करने को कहा. साथ ही उन्होंनेयह भी चेताया कि कोई भी इस दौरान सड़कों, गलियों में उतरकर भीड़ ना जमा करे, क्योंकि कोरोना को हराने का एकमात्ररास्ता सोशल डिस्टन्सिंग ही है.

दरअसल प्रधानमंत्री जानते हैं कि लॉकडाउन के दौरान घर में रह रहकर कहीं लोगों के मन में निराशा ना घर कर जाए, इसीलिए उन्होंने एक दिशा में लोगों को सोचने का एक मक़सद और लक्ष्य दे दिया जिससे उनका हौसला बढ़े

कोरोना के बढ़ते ख़तरे को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम संदेश देते हुए २४ मार्च रात बारह बजे से १४ एप्रिल तक यानी पूरे २१ दिनों के लॉकडाउन की घोषणा कर दी. मोदी जी ने यह कड़ा कदम इसलिए भी उठाया क्योंकि लोग कर्फ़्यू को भी गम्भीरता से नहीं ले रहे थे और बाहर निकलकर कोरोना के ख़तरे को बढ़ा रहे थे.

PM Modi

इसके बाद गृह मंत्रालय ने आपात बैठक बुलाई और गाइडलाइन जारी की कि इस दौरान ज़रूरी चीजों यानी आवश्यक वस्तुओं की दुकान व सर्विसेज़ जारी रहेंगी, जिसमें दूध, फल, सब्ज़ी, मेडिकल, बैंक, ATM और LIC आदि शामिल हैं.

 

Athlete Hima Das

भारतीय ऐथ्लीट हिमा दास ने गुरुवार को आईएएएफ विश्व अंडर २० एथलेटिक्स चैम्पीयन्शिप की ४०० मीटर दौड़ में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है.

ये चैम्पीयन्शिप फ़िनलैंड के टेम्पेयर शहर में हुई थी. ऐसा करके अब हिमा ट्रैक स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीतनेवाली पहली भारतीय खिलाड़ी बन गई हैं.

प्रधानमंत्री मोदी ने भी उनकी तारीफ़ करते हुए उन्हें बधाई दी… मोदी जी ने कहा…जीत के बाद तिरंगे के लिए जो प्यार हिमा के जज़्बे में दिखा और राष्ट्रगान के समय उनका भावुक होना मेरे मन को भीतर तक छू गया! यह देखने के बाद आख़िर किस भारतीय की आँखें नम ना होंगी!

आप देखें प्रधानमंत्री मोदी ने जो वीडियो ट्विटर पर शेयर किया

असम की रहनेवाली हिमा १८ साल की हैं और ग़रीब किसान की बेटी हैं… हम सबको उनपर गर्व है!

– गीता शर्मा

यह भी पढ़ें: संपत्ति में हक़ मांगनेवाली लड़कियों को नहीं मिलता आज भी सम्मान…

Mahashivratri

महाशिवरात्रि के शुभ अवसर पर देशभर में भगवान शिव के मंदिरों में भीड़ लगी है. लोग भगवान शिव की पूजा-अर्चना करके मन की मुराद मांग रहे हैं. गांव-शहर हर जगह शिवरात्रि की धूम दिख रही है. आइए, जानते हैं कि आख़िर क्यों मनाते हैं महाशिवरात्रि.

क्यों मनाते हैं महाशिवरात्रि?
ऐसी मान्यता है कि भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह इसी दिन हुआ था. इस कारण इसे पूरे देश में बड़े धूम-धाम से मनाया जाता है. शिवरात्रि के दिन जो भी भगवान शिव की पवित्र मन से आराधना करता है, उसकी सारी मनोकामना पूर्ण होती है.

कैसे करें पूजा?
भगवान शंकर की पूजा के समय शुद्ध आसन पर बैठकर पहले आचमन करेे. यज्ञोपवित धारण कर शरीर शुद्ध करें. उसके बाद आसन की शुद्धि करें. पूजन-सामग्री को यथास्थान रखकर रक्षादीप प्रज्ज्वलित कर लें. अब जलाभिषेक करने के बाद पाठ करें. भगवान शिव का अभिषेक करते समय दूध, दही, शहद, पानी आदि का उपयोग कर सकते हैं. शिवलिंग पर बेलपत्र चढ़ाकर, अभिषेक करके हाथ जोड़कर पाठ करें. पूजा ख़त्म होने के बाद क्षमा याचना करना न भलें. ये इसलिए कि अगर आपेस पूजा करने में कोई भूल-चूक हो गई हो, तो भोलेनाथ उसे क्षमा कर दें.

क्यों चढ़ाते हैं सिंदूर?
सिंदूर चढ़ाने की परंपरा शिव उपासना के लिए उत्तम माना जाता है. बैद्यनाथधाम प्रकृति और पुरुष का मिलन स्थल है, इसलिए यहां शिव और शक्ति दोनों की पूजा होती है, ख़ासकर महिलाओं के लिए यह दिन विशेष महत्व रखता है. उनकी माने तो माता पार्वती ने कठोर तप कर भगवान शंकर को प्राप्त किया था और इसीलिए महिलाएं सौभाग्य और समृद्धि की कामना के लिए बाबा के दरबार पहुंचती हैं. ऐसे में सिंदूर चढ़ाने से भगवान भोलेनाथ की तरह ही सुयोग्य वर की प्राप्ति होती है.

क्या है भोलेनाथ को पसंद?
भोलेनाथ को भांग, धतूरा, बेलपत्र अति प्रिय है. मंदिर में जाते समय आप इसे साथ ले जाएं और भगवान को अर्पित करें.

भोलेनाथ को पसंद हैं ये फूल
भगवान शिव को कुछ अलग तरह के फूल ही पसंद हैं. मंदिर जाते समय इन्हीं फूलों को ले जाएं.
– धतूरे के फूल
– अलसी के फूल
– बेला के फूल
– कनेर के फूल

पीएम मोदी ने दी देशवासियों को शुभकामनाएं
इस अवसर पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ट्विटर के ज़रिए सभी को शुभकामनाएं दी हैं.

 

श्वेता सिंह 

Narendra Modi

  • फोर्ब्स पत्रिका ने दुनिया के 10 सबसे पावरफुल लोगों की लिस्ट जारी कर दी है, जिसमें भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) 9वें स्थान पर हैं.
  • इस लिस्ट में पहले स्थान पर रूस के राष्ट्रपति पुतिन हैं और अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प दूसरे स्थान पर हैं.
  • ग़ौरतलब है कि पुतिन लगातार चौथी बार पहले स्थान पर काबिज़ होने में कामयाब रहे हैं.
  • फोर्ब्स के अनुसार मोदी काफ़ी पॉप्युलर हैं और वो ग्लोबल लीडर के तौर पर तेज़ी से उभरे हैं. फोर्ब्स ने मोदी के नोटबंदी के फैसले का भी ज़िक्र किया है.

Narendra Modi

  • पुतिन के विषय में फोर्ब्स का कहना है कि वो दुनिया पर अपना प्रभाव डालने में पूरी तरह से कामयाब रहे हैं और जो वो चाहते हैं, वही पाने में वो सफल भी रहे हैं.
  • इससे पहले टाइम पर्सन ऑफ द ईयर के रीडर्स पोल में भी नरेंद्र मोदी पहला स्थान हासिल करने में कामयाब रहे थे और उन्होंने ओबामा व ट्रम्प जैसी हस्तियों को भी पछाड़ दिया था.
  • यह अलग बात है कि जूरी ने रीडर्स पोल को तवज्जो न देते हुए ट्रम्प को टाइम पर्सन ऑफ द ईयर घोषित किया, लेकिन कहीं न कहीं यह बात सभी जानते हैं कि मोदी का दबदबा पूरी दुनिया में बना हुआ है.
ट्विटर पर आप पूरी लिस्ट देख सकते हैं 

– गीता शर्मा 

 

×