PMO

आज वर्ल्ड हेल्थ डे(World Health Day) है, लेकिन इस साल ये दिन पूरे विश्व के लिए बहुत अलग है. इस समय जब पूरी दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है, ऐसे में हेल्थ को लेकर सजग होना बहुत ज़रूरी है. आज यानी वर्ल्ड हेल्थ डे उन सभी लोगों को धन्यवाद कहने का दिन है जो हमारे स्वास्थ्य की रक्षा करने के लिए दिनरात मेहनत करते हैं. आज के दिन हमें उन सभी डॉक्टरों, नर्सों, चिकित्सा कर्मचारियों और स्वास्थ्य सेवा कर्मियों को तहे दिल से धन्यवाद कहना चाहिए, जो अपनी जान की परवाह किए बिना, अपने परिवार से दूर रहकर हम सब के स्वास्थ्य की रक्षा करने के लिए कोरोना वायरस से दिनरात जंग लड़ रहे हैं. आइए, वर्ल्ड हेल्थ डे के अवसर पर हम सब मिलकर उन सभी डॉक्टरों, नर्सों, चिकित्सा कर्मचारियों और स्वास्थ्य सेवा कर्मियों के लिए की प्रार्थना करें, जो हमारी जान की रक्षा करने के लिए इस समय कोरोना वायरस से दिनरात जंग लड़ रहे हैं.

World Health Day

वर्ल्ड हेल्थ डे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी डॉक्टरों, नर्सों, चिकित्सा कर्मचारियों और स्वास्थ्य सेवा कर्मियों के लिए की प्रार्थना और कहा ये

आज यानी वर्ल्ड हेल्थ डे के ख़ास अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके सभी डॉक्टरों, नर्सों, चिकित्सा कर्मचारियों और स्वास्थ्य सेवा कर्मियों के लिए प्रार्थना की.

Prime Minister Narendra Modi Praying For All The Doctors, Nurses, Medical Staff And Healthcare Workers Who Are Fighting Bravely From Corona

यह भी पढ़ें: कोरोना लॉकडाउन पीरियड में मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य का ध्यान रखना बेहद ज़रूरी है (How To Take Care Of Yourself, Your Children And The Elderly At Home In The Corona Lockdown Period)

प्रधानमंत्री मोदी ने आज ट्वीट करके कहा कि हमें आज न केवल एक-दूसरे के अच्छे स्वास्थ्य और कल्याण के लिए प्रार्थना करना है, बल्कि उन सभी डॉक्टरों, नर्सों, चिकित्सा कर्मचारियों और स्वास्थ्य सेवा कर्मियों के लिए भी प्रार्थना करना है जो, कोरोना वायरस से बहादुरी से लड़ रहे हैं.

वर्ल्ड हेल्थ डे से जुड़ी ज़रूरी बातें

* वर्ष 1948 में आज के दिन ही विश्व स्वास्थ्य संगठन की स्थापना हुई थी और इस दिन की शुरुआत विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा ही वर्ष 1950 में की गई थी. उसके बाद से हर साल 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य संगठन के स्थापना दिवस की वर्षगांठ पर विश्व स्वास्थ्य दिवस यानी वर्ल्ड हेल्थ डे मनाया जाता है.

* विश्व स्वास्थ्य संगठन, जिसे हम शॉर्ट में डब्ल्यूएचओ के नाम से जानते हैं, यह यूनाइटेड नेशन यानी संयुक्त राष्ट्र का हिस्सा है. इसका मुख्य कार्य पूरे विश्व में स्वास्थ्य समस्याओं पर नज़र रखना और स्वास्थ्य सेवा को बेहतर बनाने तथा इसके निवारण में मदद करना है. 

* विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अब तक स्मॉल चिकेन पॉक्स जैसी गंभीर बीमारी को खत्म करने में बड़ी जिम्मेदारी निभाई है.

* इसी तरह डब्ल्यूएचओ टीबी, एचआईवी, एड्स जैसी जानलेवा बीमारियों की रोकथाम के लिए भी निरंतर रिसर्च कर रहा है. 

* भारत की बात करें तो, हमारे देश में अब तक पोलियो जैसी महामारी को खत्म किया गया है.

* इस समय डब्ल्यूएचओ कई देशों की सरकारों के साथ मिलकर कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है.

* डब्ल्यूएचओ ने सभी से नर्सिंग एवं मिडवाइफ कर्मियों को सशक्त बनाने के लिए सहयोग देने का आह्वान किया है, ताकि हर जगह और सभी लोगों को जरूरी स्वास्थ्य सुविधाएं आसानी से उपलब्ध हो सकें.

यह भी पढ़ें: कोरोना लॉकडाउन में सर्दी, खांसी, जुकाम से बचने के लिए करें ये 10 घरेलू उपाय (10 Home Remedies To Prevent Cough And Cold In Corona Lockdown)

कैशलेस अर्थव्यवस्था की ओर एक और मज़बूत क़दम बढ़ाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘भीम (Bhim) ऐप’ लॉन्च किया है. ‘भीम’ का पूरा नाम- भारत इंटरफेस फॉर मनी है. इस ऐप के ज़रिए डिजिटल पेमेंट्स को बढ़ावा मिलेगा. इसे नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने बनाया है.

   bhim revised

    क्या ख़ास है ‘भीम’ (Bhim) में?

  • इसकी सबसे ख़ास बात यह है कि इसमें  आपको बार-बार अकाउंट नंबर डालने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी. बस, एक बार अकाउंट नंबर रजिस्टर करें और आसानी से डिजिटल पेमेंट करें.
  • इसकी दूसरी सबसे ख़ास बात है कि यह ऐप बिना इंटरनेट के भी काम करेगा.
  • इसमें टठ कोड भी दिया गया है, जिससे आप सामान ख़रीदने के बाद आसानी से पेमेंट कर सकते हैं. इसके लिए आपको स़िर्फ दुकानदार का टठ कोड स्कैन करके पेमेंट करना होगा.
  • पेमेंट्स करने के साथ-साथ आप अपने बैंक अकाउंट का बैलेंस भी चेक कर सकते हैं.
  • इसमें कस्टम पेमेंट ऐड करने की सुविधा है.
  • इस ऐप में मिनिमम पेमेंट लिमिट 10 हज़ार और मैक्सिमम 20 हज़ार रुपए है.
    यह भी पढ़ें: सफल करियर के लिए चुनें बेस्ट करियर ऐप्स और वेबसाइट्स

    कैसे ऑपरेट करें ‘भीम’?

  • यह एक फ्री ऐप है, तो इसे बस डाउनलोड कर इंस्टॉल करें. 
  • इसके बाद स़िर्फ एक बार आपको अपना बैंक अकाउंट नंबर रजिस्टर करना होगा और एक
    यूपीआई (UPI) पिनकोड जनरेट करना होगा.
  • इसके बाद आपका मोबाइल नंबर ही आपका पेमेंट ऐड्रेस होगा.
  • इंटरनेट कनेक्शन न होने पर आप अपने मोबाइल से USSD कोड +99# डालकर ऑपरेट कर सकते हैं.
  • फिलहाल यह ऐप हिंदी और अंगे़्रजी दो भाषाओं में है, पर जल्द ही अन्य क्षेत्रीय भाषाएं भी इसमें शामिल की जाएंगी.
  • यह ऐप एंड्रॉयड और आईओएस दोनों के लिए उपलब्ध है.

यह भी पढ़ें: स्मार्टफोन आंखों के लिए है हानिकारक

 

न बैंकों को करेगा सपोर्ट:

– Allahabad Bank
– Andhra Bank
– Axis Bank
– Bank of Baroda
– Bank of Maharashtra
– Canara Bank
– Catholic Syrian Bank
– Central Bank of India
– DCB Bank
– Dena Bank
– Federal Bank
– HDFC Bank
– ICICI Bank
– IDBI Bank
– IDFC Bank
– Indian Bank
– Indian Overseas Bank
– IndusInd Bank
– Karnataka Bank
– Karur Vysya Bank
– Kotak Mahindra Bank
– Oriental Bank of Commerce
– Punjab National Bank
– RBL Bank
– South Indian Bank
– Standard Chartered Bank
– State Bank of India
– Syndicate Bank
– Union Bank of India
– United Bank of India
– Vijaya Bank

– अनीता सिंह

लेटेस्ट ऐप्स और टेक्नोलॉजी से जुड़े आर्टिकल्स पढ़ें

digilocker

हाल ही में रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाइवेज़ मिनिस्ट्री ने डिजि लॉकर को ड्राइविंग लाइसेंस और वेहिकल रजिस्ट्रेशन सिस्टम के साथ जोड़ दिया. इस ऐप के ज़रिए अब आपको फिज़िकल ड्राइविंग लाइसेंस और वेहिकल रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (आरसी) रखने के झंझट से छुटकारा मिल जाएगा. डिजि लॉकर के इस्तेमाल से इन्हें ऑनलाइन या मोबाइल फोन पर एक्सेस किया जा सकता है.

  • डिजिटल इंडिया प्रोग्राम के तहत डिजिटल लॉकर वेबसाइट और ऐप को रोड ट्रांसपोर्ट और हाइवेज़ मिनिस्ट्री से जोड़ा गया है.
  • डिजिटल ड्राइविंग लाइसेंस और वेहिकल रजिस्ट्रेशन डॉक्यूमेंट नागरिकों के मोबाइल फोन पर डिजिलॉकर मोबाइल ऐप के ज़रिए उपलब्ध होंगे और इसके ज़रिए ट्रैफिक पुलिस जैसी एजेंसियां वेरिफिकेशन कर सकेंगी.
  • इनका इस्तेमाल एयरपोर्ट्स पर पहचान के वैध सबूत के तौर पर भी किया जा सकेगा.
  • डिजी लॉकर भारत सरकार द्वारा फरवरी, 2015 से जारी डिजिटल स्टोर है.
  • यह एक पर्सनल डिजिटल स्टोर है, जहां आप अपने ज़रूरी डॉक्यूमेंट्स सेव करके रख सकते हैं.
  • इसमें नागरिकों को कुल 1 जीबी का स्टोरेज स्पेस मिलता है, जिसे
    उनके आधार कार्ड से जोड़ा जाता है.
  • आजकल आपको आधार नंबर देने की भी ज़रूरत नहीं पड़ती, बस मोबाइल नंबर के ज़रिए आप यहां रजिस्टर हो सकते हैं.
  • आप अपने यूनिवर्सिटी सर्टिफिकेट्स, पासपोर्ट, मार्कशीट्स, इन्कम टैक्स स्टेटमेंट्स, पैनकार्ड और वोटर आई कार्ड की स्कैन्ड कॉपीज़ को अपलोड करके सेव कर सकते हैं.digi
  • इसमें ज़रूरी डॉक्यूमेंट्स को ई-साइन करने की सुविधा भी दी गई है.
  • डिजिटल इंडिया के तहत भारत सरकार की यह मुहिम फिज़िकल पेपरवर्क को कम करने के साथ-साथ सिस्टम में पारदर्शिता बढ़ाने
    की भी है.
  • इससे कुछ हद तक भ्रष्टाचार पर लगाम भी
    लगेगी.
  • इसकी वेबसाइट https://digitallocker.gov.in पर जाकर भी आप इन सहूलियतों का फ़ायदा उठा सकते हैं या फिर गूगल प्लेस्टोर में जाकर DigiLocker ऐप डाउनलोड करें.

– दिनेश सिंह

 

modi ji n

दृढ़ व्यक्तित्व के धनी, अपार ऊर्जा के स्रोत, नव विचारधारा के संवर्धक एवं प्रभावशाली कार्यसाधक देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदीजी को ‘मेरी सहेली’ की ओर से जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं!

A man of strong , inexhaustible source of energy , new ideas and effective working of the country’s Prime Minister Narendra Modi to promoters a happy bday !  from Meri Saheli.