Tag Archives: pregnancy

Personal Problems: प्रेग्नेंसी में किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए? (Do’s And Don’ts For A Safer Pregnancy)

मेरी शादी को 4 साल हो गए हैं. मैं प्रेग्नेंट हूं. सोनोग्राफ़ी से पता चला कि मेरे गर्भ में जुड़वां बच्चे हैं. कृपया, बताएं कि प्रेग्नेंसी में मुझे किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?
– वैजयंती गोखले, नासिक. 

आपको पौष्टिक और संतुलित आहार लेना चाहिए. बेहतर होगा कि अपने गायनाकोलॉजिस्ट से संपर्क करें और अपना रेग्युलर चेकअप करवाती रहें. इसके अतिरिक्त सावधानी के तौर पर यौन संबंधों से दूर रहें. कोई भी भारी सामान न उठाएं. मोटर साइकिल और ऑटोरिक्शा में ट्रैवलिंग से बचें. गायनाकोलॉजिस्ट द्वारा बताए गए सभी सप्लीमेंट्स और वैक्सिनेशन समय पर लें. सारे टेस्ट समय पर कराएं. घबराने की कोई बात नहीं. यदि टेस्ट नॉर्मल होंगे, तो डिलीवरी भी नॉर्मल होने की संभावना अधिक होगी.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: प्रेग्नेंसी के दौरान वज़न को कैसे मैनेज करूं? (How Should I Manage Weight During Pregnancy?)

Safe Pregnancy Tips

मेरी उम्र 17 साल है. पिछले कुछ दिनों से मेरे राइट ब्रेस्ट में गांठ-सी महसूस हो रही है, जिसमें दर्द तो बिल्कुल नहीं होता, पर सूजन बनी हुई है. मुझे डर है, कहीं ये गांठ कैंसर की तो नहीं है?
 – वंदना मैथ्यू, दिल्ली.

आपको फाइब्रोएडेनोमा की शिकायत हो सकती है, जो टीनएजर लड़कियों में अधिक देखी जाती है. फाइब्रोएडेनोमा में होनेवाली सूजन व गांठ कैंसर की नहीं होती. आप किसी गायनाकोलॉजिस्ट या जनरल सर्जन से संपर्क करें, जो आपका मार्गदर्शन कर सही इलाज करेंेगे. अगर सूजन नॉर्मल है तो चिंता की कोई बात नहीं. लेकिन अगर यह सूजन अधिक दिनों तक बनी रहती है, तो हो सकता है कि सर्जन इससे संबंधित कोई टेस्ट कराएं और सर्जरी की सलाह दें.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: कहीं मैं प्रेग्नेंट तो नहीं हो गई? (Am I Pregnant?)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: कहीं मैं प्रेग्नेंट तो नहीं हो गई? (Am I Pregnant?)

मैं 23 वर्षीया नवविवाहिता हूं. पिछले कुछ ह़फ़्तों से मेरा जी मिचला रहा है और उल्टियां भी हो रही हैं.  मुझे पीरियड्स भी नहीं आए. मैंने घर पर प्रेग्नेंसी टेस्ट किया, तो वह भी पॉज़ीटिव आया है. कृपया बताएं, मेरी वॉमिटिंग कब तक रुकेगी और ऐसी अवस्था में मुझे क्या करना चाहिए?
                  – आरती जोशी, देहरादून.

प्रेग्नेंसी के पहले 3 महीने में जी मिचलाना, उल्टियां होना, भूख न लगना आदि शिकायतें होती ही हैं. सबसे पहले आप गायनाकोलॉजिस्ट के पास जाकर अपना पूरा चेकअप कराएं. जांच करने के बाद प्रेग्नेंसी कंफर्म पर वो आपको कुछ मेडिसिन देंगे. इसके अलावा सुबह चाय के साथ बिस्किट या ड्राय टोस्ट लें. थोड़े-थोड़े अंतराल के बाद कुछ न कुछ खाते रहें. स्पाइसी और ऑयली खाने से बचें. ज़्यादा से ज़्यादा पानी व जूस पीएं. समय-समय पर डॉक्टर आपके सभी टेस्ट्स- ब्लड टेस्ट, यूरिन टेस्ट, सोनोग्राफी आदि भी कराएंगे. आप रिलैक्स रहें और अपनी प्रेग्नेंसी को एन्जॉय करें.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: प्रेग्नेंसी के दौरान वज़न को कैसे मैनेज करूं? (How Should I Manage Weight During Pregnancy?)

Pregnant

मेरी उम्र 26 साल है. पहले मेरे पीरियड्स रेग्युलर थे. कुछ ह़फ़्ते पहले मैंने अपने बॉय फ्रैंड के साथ शारीरिक संबंध बनाए थे और पूरी सावधानी भी बरती थी. उसके बाद मुझे अभी तक पीरियड्स नहीं आए. कहीं मैं प्रेग्नेंट तो नहीं हो गई?
                   – मोना सावंत, चंडीगढ़.

संबंध बनातेे समय आपने कंडोम का प्रयोग किया होगा. कई बार कंडोम सफल नहीं  होता और गर्भ ठहर जाता है. इसके लिए आप घर पर होम प्रेग्नेंसी टेस्ट कर सकती हैं या गायनाकोलॉजिस्ट से संपर्क करें.  टेस्ट से पीरियड्स न होने की वजह स्पष्ट हो जाएगी. कई बार हार्मोन्स में गड़बड़ी, ज़्यादा भागदौड़ के कारण भी पीरियड्स देर से आते हैं. अगर आप प्रेग्नेंट नहीं हैं, तो डॉक्टर पीरियड्स के लिए हार्मोन्स पिल्स देंगे.

यह भी पढ़ेंPersonal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

Personal Problems: प्रेग्नेंसी के दौरान वज़न को कैसे मैनेज करूं? (How Should I Manage Weight During Pregnancy?)

मेरी उम्र 29 वर्ष है और यह मेरी पहली प्रेग्नेंसी (First Pregnancy) है. पिछले कुछ सालों से मैंने रेग्युलर एक्सरसाइज़ करके अपना वज़न मेनटेन (Weight Maintain) किया है. पर प्रेग्नेंसी में मेरा वज़न बहुत बढ़ जाएगा, यह सोचकर मैं परेशान हूं. कृपया बताएं, प्रेग्नेंसी के दौरान अपने वज़न को कैसे मैनेज करूं?
– जेसिका कौर, अमृतसर.

यह तो बड़ी अच्छी बात है कि आप अपनी फ़िटनेस के प्रति जागरूक हैं. आप तब तक  एक्सरसाइज़ कर सकती हैं, जब तक कंफ़र्टेबल फील करें. प्रेग्नेंसी में सबसे अच्छी एक्सरसाइज़ वॉकिंग होती है. इसके अलावा दूसरी अहम् बात है- प्रेग्नेंसी के दौरान सही डायट लेना. प्रेग्नेंसी के समय एक महिला को अपना वज़न नॉर्मल रखने के लिए पहले 3 महीने में 150- 200 अतिरिक्त कैलोरी रोज़ाना लेनी चाहिए. दूसरे और तीसरे महीने में हर रोज़ 400-500 अतिरिक्त कैलोरीज़ ज़रूरी होती हैं. इसके अलावा पहले 3 महीने में अतिरिक्त डायट में 1 ग्लास दूध, ड्रायफ्रूट, दलिया,  उपमा आदि लेे सकती हैं और दूसरी-तीसरी तिमाही में अतिरिक्त डायट में दाल, दही, फ़िश, चिकन और अंडा आदि ले सकती हैं.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: क्या ब्रेस्ट से लिक्विड डिस्चार्ज होना ख़तरनाक है? (Is Abnormal Nipple Discharge Dangerous?)

Manage Weight During Pregnancy

 

मेरी बेटी की उम्र 16 साल है. पिछले कुछ महीनों से उसका वज़न बहुत तेज़ी से बढ़ रहा है. हर समय नींद आने और थकान होने की शिकायत करती है. अभी तो वह बहुत छोटी है, उसके बढ़ते वज़न को देखकर मुझे बहुत चिंता होने लगी है. कृपया, उचित उपाय बताएं?
– नमिता साहनी, जोधपुर

आप अपनी बेटी को किसी जनरल फ़िज़िशियन या गायनाकोलॉजिस्ट को दिखाएं. वे आपकी बेटी का थायरॉइड टेस्ट कराएंगे. हो सकता है कि आपकी बेटी के बढ़ते वज़न का कारण थायरॉइड हार्मोन की कमी हो. अधिकतर युवाओं में इस तरह की समस्या का होना आम है. इसके अलावा गर्दन में हल्की-सी सूजन, स्किन का ड्राई होना, कब्ज़, थकान महसूस होना, वज़न बढ़ना, डिप्रेशन और आवाज़ का कर्कश होना आदि भी थायरॉइड हार्मोन की कमी के लक्षण हैं.

यह भी पढ़ेंPersonal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: मिसकैरेज के बाद कंसीव करने में दिक्कत आ रही है (Pregnancy After Miscarriage- What You Need To Know?)

मेरी उम्र 42 वर्ष है. मुझे पिछले 3 महीने से पीरियड्स नहीं आए हैं. पिछले साल भी मेरे पीरियड्स अनियमित हो गए थे, लेकिन ज़्यादा लंबे समय तक नहीं. कहीं मैं प्रेग्नेंट तो नहीं हो गई? हमने कोई कॉन्ट्रासेप्शन भी यूज़ नहीं किया. मेरे बच्चे की उम्र 16 साल है और कुछ दिनों से मेरी तबीयत भी ठीक नहीं चल रही है.
                 – मोनाली बनर्जी, कोलकाता.

ये प्री-मेनोपॉज़ल के लक्षण लगते हैं. यदि आप अपनी प्रेग्नेसी को कंफर्म करना चाहती हैं, तो गायनाकोलॉजिस्ट की सलाह ले सकती हैं या फिर घर पर ही यूरिन प्रेग्नेंसी टेस्ट कर सकती हैं. कई बार हार्मोनल गड़बड़ी या कुछ दवाओं के कारण पीरियड्स अनियमित हो जाते हैं. इसके लिए ज़रूरी है कि आप संतुलित डायट लें, जिसमें हरी सब्ज़ियां, फल, दालें, दूध आदि को शामिल करें. नियमित रूप से एक्सरसाइज़ करें. अपना रूटीन चेकअप, जैसे- ब्लड व यूरिन टेस्ट, सोनोग्राफ़ी, पैप स्मीयर और मैमोग्राफ़ी समय-समय पर कराती रहें.

 

यह भी पढ़ें: Personal Problems: क्या ब्रेस्ट से लिक्विड डिस्चार्ज होना ख़तरनाक है? (Is Abnormal Nipple Discharge Dangerous?)

Pregnancy After Miscarriage

मैं 23 वर्षीया महिला हूं. मेरी शादी को डेढ़ साल ही हुआ है. 9 महीने पहले मेरा 2 माह का मिसकैरेज हुआ था. इसके बाद डॉक्टर ने अगले 6 महीने तक कंसीव न करने की सलाह दी थी. लेकिन अब हम पिछले 3 माह से कंसीव करने की कोशिश कर रहे हैं, पर सफल नहीं हो पा रहे हैं. क्या हमें कोई टेस्ट कराने की ज़रूरत है?.

                       -सिया खंडूरी, दिल्ली.

आप पहले एक बार प्रेग्नेंट हो चुकी हैं, इसका मतलब है कि आपको दोबारा कंसीव करने में कोई समस्या नहीं होगी. बच्चे में किसी तरह की असामान्यताएं होने पर ही प्रेग्नेंसी के पहले 3 महीने में गर्भपात होने की आशंका अधिक होती है. यदि आप गर्भ धारण करना चाहती हैं, तो अपनी पीरियड डेट के पहले दिन को काउंट करते हुए 10 से 20 दिन के बीच इंटरकोर्स करें. सप्लीमेंट के तौर पर फॉलिक एसिड लें और गायनाकोलॉजिस्ट द्वारा बताए गए निर्देशों का पालन करें.

यह भी पढ़ेंPersonal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: क्या गर्भधारण के पहले कोई टेस्ट कराना ज़रूरी है? (Do I Need Any Pre-Pregnancy Test?)

मेरी उम्र 28 वर्ष है और मेरी शादी को 5 वर्ष हो गए हैं. मुझे मासिक धर्म में काफ़ी दर्द और रक्तस्राव होता है. मेरी सोनोग्राफ़ी से पता चला है कि मुझे चॉकलेट ओवेरियन सिस्ट है और इसकी सर्जरी करवानी होगी. लेकिन मैं अभी तक मां नहीं बन पाई हूं, इसलिए किसी भी तरह के ऑपरेशन से डरती हूं. मुझे क्या करना चाहिए?
– परमजीत कौर, दिल्ली.

एंडोमेट्रियोसिस में हर मासिक चक्र के दौरान ओवरी (अंडाशय) में रक्त इकट्ठा हो जाता है. धीरे-धीरे इसका आकार बढ़ने लगता है और इकट्ठा हुआ रक्त चॉकलेट सिस्ट बना लेता है. इस कारण मासिक धर्म के दौरान दर्द होता है एवं गर्भधारण करने में भी समस्या हो जाती है. लेप्रोस्कोपिक (कीहोल) सर्जरी ही इसका एकमात्र उपाय है. लेज़र जैसी आधुनिक तकनीक ने अब इस तरह की सर्जरी को और भी आसान बना दिया है.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: क्या गर्भनिरोधक गोलियों से पीरियड्स अनियमित हो जाते हैं? (Can Birth Control Make My Periods Irregular?)

Pre-Pregnancy Test

मैं 26 वर्ष की हूं और मेरी शादी को दो साल हो गए हैं. अब हम बच्चे की प्लानिंग कर रहे हैं. क्या गर्भधारण के पहले मुझे कोई टेस्ट कराना ज़रूरी है?
– तराना, मुंबई.

बच्चा प्लान करने के पहले होनेवाले बच्चे की सेहत के लिए ये बेहद ज़रूरी है कि रेग्युलर चेकअप करा लिए जाएं. आपको कुछ टेस्ट, जैसे- हीमोग्लोबिन, ब्लड शुगर, थायरॉइड लेवल, थेलेसेमिया आदि टेस्ट करवा लेना चाहिए. एक सोनोग्राफ़ी टेस्ट करवाना चाहिए, जिससे ये पता चल सके कि यूटेरस और ओवरीज़ सामान्य हैं. ब्लड प्रेशर अवश्य चेक कराएं. यदि कोई भी समस्या हो, तो गर्भधारण करने के पूर्व ही उसका इलाज करा लेना चाहिए, ताकि जन्म लेनेवाला बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ हो.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: क्या कम उम्र की महिलाओं के बच्चों में भी हो सकता है डाउन्स सिंड्रोम? (What Makes You High Risk For Down’s Syndrome Baby?)

मेरी 26 वर्षीया पड़ोसन पहली बार मां बनी है, पर डॉक्टरों ने जांच करके बताया है कि उसके बच्चे को डाउन्स सिंड्रोम (Down’s Syndrome) है. मैं अब तक यही समझती थी कि 40 साल की उम्र के बाद जो महिलाएं मां बनती हैं, उनके ही बच्चों को डाउन्स सिंड्रोम हो सकता है. क्या ऐसा भी होता है?
– आरती सोलंकी, पुणे.

जो महिलाएं 40 साल की उम्र के बाद मां बनती हैं, उनके बच्चों में डाउन्स सिंड्रोम का ख़तरा ज़्यादा होता है, लेकिन कम उम्र की महिलाओं के साथ भी यह ख़तरा बना रहता है. डाउन्स का अर्थ है, शरीर में दो की बजाय एक एक्स्ट्रा यानी तीसरे क्रोमोज़ोम का होना. जिन बच्चों में ये एक्स्ट्रा क्रोमोज़ोम होता है, उन्हें कई गंभीर मानसिक समस्याएं हो सकती हैं, जिनमें से मंदबुद्धि होना एक है. आपको बता दें कि जहां 20-25 साल की महिलाओं के डेढ़ हज़ार बच्चों में से एक बच्चा डाउन्स सिंड्रोम का शिकार हो सकता है, वहीं 40-45 साल की महिलाओं के 130 में से एक बच्चे को यह गंभीर समस्या हो सकती है.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: क्या कभी मां नहीं बन सकूंगी? (How Can I Find Out If I Can Get Pregnant?)

Down's Syndrome

मैं 22 वर्षीया कॉलेज स्टूडेंट हूं. मैं यह जानना चाहती हूं कि क्या टॉयलेट सीट से भी एचपीवी इंफेक्शन फैल सकता है? इस डर से मैं पब्लिक टॉयलेट इस्तेमाल नहीं करती. कृपया, मेरी मदद करें.
– सरोजनी रॉय, गुवाहटी. 

एचपीवी यानी ह्यूमन पैपिलोमा वायरस एक तरह का सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन है, जो टॉयलेट सीट इस्तेमाल करने से नहीं फैल सकता. एचपीवी इंफेक्शन के लिए त्वचा का त्वचा से संपर्क होना ज़रूरी है, जो टॉयलेट सीट से मुमकिन नहीं. अगर आपके पार्टनर के गुप्तांगों में किसी तरह की गांठ या मस्सा है या फिर कुछ समय पहले उन्हें एचपीवी हुआ था, तो शारीरिक संबंध न बनाएं. कंडोम भी इससे आपको सौ फ़ीसदी सुरक्षा नहीं दे पाएगा. याद रखें, एचपीवी पब्लिक टॉयलेट से नहीं फैलता.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: क्या कभी मां नहीं बन सकूंगी? (How Can I Find Out If I Can Get Pregnant?)

मेरी उम्र 28 वर्ष है. मेरी शादी को पांच वर्ष हो गए हैं. शादी के दो साल के बाद ही मुझे 2 माह का गर्भपात हो गया. एक साल के बाद मैं फिर गर्भवती हुई, लेकिन फिर मुझे ढाई महीने का गर्भपात हो गया. मैं बहुत ही निराश हो गई हूं. क्या मैं अब कभी मां नहीं बन सकूंगी?
– मंजरी शिधोरे, नागपुर

सबसे पहले तो आपको अपना पूरा चेकअप करवाना चाहिए, ख़ासतौर पर तब, जब गर्भधारण करना हो. गर्भपात होने के कई कारण हो सकते हैं. कम समय में ही गर्भपात होने का कारण है बेबी में जेनेटिक प्रॉब्लम का होना. हो सकता है गर्भाशय में सेप्टम होने से, हार्मोन्स की कमी से, इंफेक्शन या इम्यूनोलॉजिकल प्रॉब्लम से भी गर्भपात हुआ हो. गर्भाशय के अंदर की प्रॉब्लम जानने के लिए हीस्टिरोस्कोपी करवा सकती हैं. आप मां बन सकती हैं, बशर्ते कि प्रॉब्लम का कारण जानकर उसका सही इलाज करवाया जाए.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: चॉकलेट सिस्ट से बहुत परेशान हूं (Chocolate Cyst: Causes, Symptoms And Treatment)

Pregnancy Test

मेरी उम्र 52 वर्ष है. 2 साल पहले ही मुझे मेनोपॉज़ हो गया था. मेरी समस्या यह है कि मुझे बहुत ज़्यादा गर्मी लगने लगी है, यहां तक कि फैन चालू रहने पर भी मैं पसीने में भीगी होती हूं. मुझे इन दिनों बहुत चिड़चिड़ाहट होने लगी है और ग़ुस्सा भी बहुत आने लगा है, जिसके कारण सब मुझसे परेशान रहने लगे हैं. क्या हर स्त्री ऐसे दौर से गुज़रती है? क्या मेरी समस्या का कोई उपाय है?
– रजनी मल्होत्रा, हिसार.

जब 40 के बाद और 50 के पहले की उम्र में हार्मोन्स का स्तर गिरने लगता है, तब कई स्त्रियों में मेनोपॉज़ के लक्षण नज़र आने लगते हैं. इसी की वजह से ज़्यादा गर्मी महसूस होना, चिड़चिड़ापन, डिप्रेशन, ग़ुस्सा, नींद न आना जैसी समस्याएं होने लगती हैं. ऐसे में आपके लिए सबसे अच्छा उपाय है एस्ट्रोजन के साथ हार्मोनल ट्रीटमेंट. इसके अलावा आजकल नॉन हार्मोनल थेरेपी भी ली जा सकती है, जिसमें सोया एक्सट्रैक्ट व विटामिन्स लिए जा सकते हैं. इस समय ऑस्टियोपोरोसिस से बचाव भी ज़रूरी है. इसके लिए कैल्शियम सप्लीमेंट्स लें.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: क्या कंसीव करते ही गायनाकोलॉजिस्ट को मिलना चाहिए? (What’s The Right Time To See A Gynecologist After Conception?)

मैं 22 वर्षीया हूं और मेरी शादी को अभी एक साल ही हुआ है. हमने कभी कोई फैमिली प्लानिंग मेथड का इस्तेमाल नहीं किया. इस महीने दो हफ़्ते तक मेरे पीरियड्स नहीं आए, तो मैंने घर पर ही यूरिन प्रेग्नेंसी टेस्ट (Pregnancy Test) किया, जो पॉज़िटिव आया. मुझे यह जानना है कि क्या मुझे तुरंत गायनाकोलॉजिस्ट (Gynecologist) को मिलना होगा?
– सत्या शर्मा, वाराणसी.

पहली बार गायनाकोलॉजिस्ट से मिलने के लिए आप 8वें से 10वें हफ़्ते के बीच कभी भी जा सकती हैं. याद रखें, प्रेग्नेंसी के पहले तीन महीने महिलाओं के लिए काफ़ी महत्वपूर्ण होते हैं, इसलिए अपना ख़ास ख़्याल रखें, लेकिन अगर आपको इस बीच कभी असामान्य रक्तस्राव हो या पेट के निचले हिस्से में मरोड़ के साथ दर्द हो या फिर बुख़ार हो, तो तुरंत गायनाकोलॉजिस्ट को मिलें.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: चॉकलेट सिस्ट से बहुत परेशान हूं (Chocolate Cyst: Causes, Symptoms And Treatment)

Gynecological Problems

मैं 25 वर्षीया कामकाजी महिला हूं. पीरियड्स के दौरान मुझे काफ़ी तकलीफ़ होती है. मैं कभी पेनकिलर नहीं खाती, पर मेरी सहेलियां हमेशा पेनकिलर लेती हैं और मुझे भी लेने की सलाह देती हैं. क्या मुझे पेनकिलर लेना चाहिए? कृपया, सलाह दें.
– शालिनी ओझा, पटना.

अगर पीरियड्स के दौरान आपको दर्द और मरोड़ ज़्यादा हो रहा हो, तभी पेनकिलर लेना चाहिए, वरना घरेलू नुस्ख़ों और गरम पानी की थैली से भी आपको काफ़ी राहत मिल सकती है. पीरियड्स के दौरान भी जितना हो सके फिज़िकली एक्टिव रहें. अगर आपको पेट फूला हुआ महसूस हो रहा हो, तो पानी पीएं, इससे आपको काफ़ी राहत मिलेगी. इस दौरान फलों का जूस और सब्ज़ियों के सूप आपके लिए काफ़ी हेल्दी और दर्द कम करनेवाले ऑप्शन हैं. खाने में फल और सलाद की मात्रा बढ़ा दें. नमक और चाय-कॉफी की मात्रा कम कर दें.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

10 महीने की प्रेग्नेंसी के बाद ये टीवी एक्ट्रेस बनीं मां, दिया बेटे को जन्म (This TV Actress Blessed With A Baby Boy, Shares His Unique Name With A Cute Picture)

chhavi mittal

फेमस टीवी एक्ट्रेस छवि मित्तल (chhavi mittal) ने ‘मदर्स डे’ के अगले दिन यानी 13 मई को बेटे को जन्म दिया. छवि दूसरे बच्चे की मां बनी हैं. छवि की 6 साल की एक बेटी अरीज़ा भी है. छवि ने अपने इंस्टाग्राम पर बच्चे के हाथ के साथ एक तस्वीर भी पोस्ट की है. इस पोस्ट के साथ छवि ने अपने बेटे के नाम का भी खुलासा किया है. छवि ने बेटे का नाम अरहाम हुसैन रखा है.

chhavi mittal

chhavi mittal

chhavi mittal

छवि ने पोस्ट में लिखा, ’13 मई को मैं एक बेटे अरहाम हुसैन की मां बनी हूं. आप सभी की शुभकामानाओं के लिए शुक्रिया. मैं अभी अस्पताल में हूं और अपनी बर्थ स्टोरी जल्द ही शेयर करूंगी.’ खास बात है कि छवि की डिलीवरी 10 वें महीने में हुई है. 35 साल की छवि ने साल 2005 में टीवी डायरेक्टर मोहित हुसैन से शादी की थी और दिसंबर 2012 में छवि ने अरीज़ा को जन्म दिया था. आपको बता दें कि छवि मित्तल ने प्रेग्नेंसी में 40वां हफ्ता भी क्रॉस कर लिया था. इस बात की जानकारी उन्होंने खुद अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से भी दी. हालांकि उन्होंने अपने प्रेग्नेंसी को ख़ूब इंजॉय किया. वे अक्सर अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर प्रेग्नेंसी से जुड़े फिटनेस टिप्स और वर्कआउट वीडियोज़ शेयर करती रहती थीं.

View this post on Instagram

This was 15 days back when I started my 8th month of pregnancy. I did complete upper body workout, with 6 circuits each of chest-bicep and shoulder-tricep. While the workout was awesome, I felt my body telling me that it's time to start working towards the D-day now.. specifically. So this was the last day of gym for this pregnancy for me. I switched to walking and simple stretches. Not because I feel uncomfortable in the gym.. no… I feel most at home there… But because my body told me that now the day is not far.. and I need to concentrate more on the lower body. And while walks are more of a struggle for me because I still don't get good sleep and waking up gets tough, and with office and the daughter, walking at any other time of the day besides early morning is a struggle… I still find innovative ways to get outdoors. . Many working mothers will agree with me on this. From 6 in the morning to 11 in the night where the whole day goes is still a mystery to me. But having said that, this is something which is for me. And I implore all mothers and pregnant mothers to take out half an hour in the day just to give themselves and their health undivided attention. Who's with me! #pregnancyworkout _________________________ #pregnancywear #pregnantmom #pregnant #pregnancy #chhavimittal #workout #gym #gymming #pregnancyworkout #mother #walking #blog #blogpost #chestworkout #biceps #shoulderworkout #tricepsworkout

A post shared by Chhavi Mittal (@chhavihussein) on

 

12 मई को मदर्स डे पर छवि ने इंस्टाग्राम पर अपनी बेटी के साथ एक प्यारी-सी पिक पोस्ट शेयर करते हुए लिखा था, “सभी गॉर्जियस मदर्स को हैप्पी मदर्स डे. 6 साल पहले इस एंजल ने मुझे मां बनने का गौरव दिया था और आज उसने मेरे लिए सरप्राइज कार्ड बनाया. मैं खुशी से फूली नहीं समा रही हूं, क्योंकि मेरी नन्ही परी के लिए मैं उसकी पूरी दुनिया हूं. मेरे लिए बेबी शावर बुक करने से लेकर, मुझे प्यार करना, उदास होने पर मेरे आंसू पोछना और  हंसाने के लिए मेरे लिए जोक्स क्रेक करना…मेरी बेटी मेरे लिए सब करती है.” छवि आगे लिखती हैं, ”जल्द ही मैं दो बच्चों की मां बन जाउंगी, मुझे पता है कि आप सभी इस गुड न्यूज़ का इंतजार कर रहे हैं. लेकिन सच कहूं तो अब मेरा धैर्य भी कम हो रहा है, क्योंकि अभी तक मुझे लेबर पेन का कोई सिम्टम नहीं दिख रहा है. ”  लेकिन अच्छी बात यह है कि इस पोस्ट के एक दिन बाद ही छवि ने बेटे को जन्म दे दिया.

ये भी पढ़ेंः इस क्रिकेटर के दीवाने हैं सलमान ख़ान (Salman Khan Is Fan Of This Cricketer)

Personal Problems: गर्भावस्था में सर्जरी से डर रही हूं (Is Surgery During Pregnancy Safe?)

मैं चार माह की गर्भवती (Pregnant) हूं और पूरी तरह ठीक हूं. लेकिन मेरा पहला बच्चा सातवें माह में ही पैदा हो गया था. इसलिए अब डॉक्टर का कहना है कि मुझे गर्भाशय के मुंह पर टांके लगवा लेने चाहिए, ताकि डिलीवरी पहले की तरह समय से पहले न हो. मैं गर्भावस्था में सर्जरी (Surgery) कराने से डरती हूं. क्या यह ज़रूरी हैै?
– अर्चना, मंदसौर.

आपकी समस्या सर्वाइकल इनकॉम्पिटेंस की है. इसके अंतर्गत सर्विक्स (गर्भाशय का मुंह) कुछ कमज़ोर हो जाता है और प्रेगनेंसी के दौरान समय से पहले ही खुल जाता है. यदि सर्विक्स छोटा है और खुल जाता है तो प्रीमैच्योर डिलीवरी की संभावना बढ़ जाती है. इस स्थिति में पेशेंट को किसी तरह का दर्द या परेशानी नहीं होती है, क्योंकि उसे पता ही नहीं चल पाता कि सर्विक्स खुल गया है. इसका पता सोनोग्राफ़ी कराने पर ही चलता है. चूंकि आपका पहला बच्चा समय से पूर्व हो गया था और फिर से ऐसा न हो, इसके लिए आपको सर्वाइकल स्टिच लगवा लेना चाहिए. यह बहुत ही साधारण व सुरक्षित तरीक़ा है. इससे आपका बच्चा 9 माह तक गर्भ में सुरक्षित रह पाएगा. डिलीवरी के कुछ ह़फ़्ते बाद टांकों को खोल दिया जाता है.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: मेनोपॉज़ के बाद ब्लीडिंग कहीं गंभीर समस्या तो नहीं? (What Does It Mean If You’re Bleeding After Menopause?)

Surgery During Pregnancy

मैं 24 वर्ष की हूं. मेरी शादी को दो साल हुए हैं. मुझे पिछले ह़फ़्ते पीरियड आना था, लेकिन नहीं आया. मैं यह सोचकर बेहद ख़ुश थी कि मैं गर्भवती हूं, लेकिन डॉक्टर का कहना है कि यह एक्टोपिक प्रेगनेंसी है और मुझे ऑपरेशन करवाकर इसे हटवाना पड़ेगा. क्या इसके अलावा कोई और विकल्प नहीं है?
– संध्या, भोपाल.

एक्टोपिक प्रेगनेंसी ऐसी स्थिति है, जिसमें गर्भ गर्भाशय की जगह ओवरी या नली में अटक जाता है. इसका पता सोनोग्राफ़ी द्वारा ही चलता है. यह बहुत ही ख़तरनाक स्थिति है, क्योंकि ट्यूब कभी भी फट सकती है और पेल्विस में अत्यधिक ब्लीडिंग हो सकती है. इसलिए तुरंत इलाज कराना चाहिए. इसके लिए ख़ास तरह का इंजेक्शन, जैसे- मेथोट्रेक्सेट दिया जाता है या कीहोल सर्जरी की जाती है.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

Personal Problems: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं (Possible Reasons You Can’t Get Pregnant)

मैं 27 वर्षीय विवाहिता हूं. मैं मां बनना चाहती हूं, लेकिन गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं. मुझे अनियमित मासिक चक्र की समस्या (Irregular Menstrual Cycle Problem) है और मेरा वज़न भी ज़्यादा है. मेरे पति के वीर्य की मेडिकल रिपोर्ट भी सामान्य है. कृपया सहायता करें.
– मालती जैन, हैदराबाद.

हो सकता है कि आपको पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम हो. ऐसे मरीज़ों में अंडाणु हर महीने बाहर नहीं आते, इसी कारण माहवारी भी अनियमित रहती है और गर्भधारण करने में भी मुश्किल होती है. बाज़ार में कई तरह की दवाइयां और इंजेक्शन उपलब्ध हैं, जिनसे अंडाणु विकसित होता है. सोनोग्राफ़ी से अंडाणु के विकसित होने व फटने का सही समय का पता चलता है. इस व़क़्त यदि पति द्वारा इनसेमिनेशन होता है तो गर्भ धारण की संभावना बढ़ जाती है. इस प्रक्रिया के लिए आपकी फेलोपियन ट्यूब खुली व सामान्य होनी चाहिए, जिसकी जांच एक्स-रे या लेप्रोस्कोपी द्वारा की जा सकती है.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: मेनोपॉज़ के बाद ब्लीडिंग कहीं गंभीर समस्या तो नहीं? (What Does It Mean If You’re Bleeding After Menopause?)

Reasons You Can't Get Pregnant

मैं 19 वर्षीया महिला हूं और मेरा वज़न 73 किलो है. पिछले एक साल से मैं एक्सरसाइज़ और डायटिंग से वज़न कम करने की कोशिश कर रही हूं, लेकिन फ़र्क़ नहीं लग रहा है. इसके अलावा मेरे चेहरे पर काफ़ी बाल भी हैं. इस वजह से मैं बहुत तनाव में हूं. कृपया, सहायता करें.
– राखी टंडन, जमशेदपुर.

आपने यह नहीं बताया कि आपको माहवारी नियमित है या नहीं, क्योंकि ़ज़्यादातर ये दोनों समस्याएं साथ-साथ होती हैं. हो सकता है आपको पॉलिसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम हो, जिसकी वजह से वज़न का बढ़ना, मुंहासे, चेहरे पर अत्यधिक बाल और अनियमित माहवारी की समस्या पैदा हो जाती है. यह एक सामान्य हार्मोनल समस्या है. इसकी जांच सोनोग्राफ़ी या हार्मोनल टेस्ट से की जा सकती है. कुछ ऐसी दवाइयां हैं, जो पाचन क्रिया बढ़ाती हैं और वज़न कम करने में सहायक होती हैं. इससे चेहरे के बाल भी कम होते हैं और माहवारी भी नियमित रहती है. इसके अलावा कीहोल सर्जरी से ओवरी में बनी सिस्ट को जलाया जा सकता है. बेहतर होगा कि आप किसी अच्छे गायनाकोलॉजिस्ट से सलाह लें.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

मां बनने वाली हैं तो पति को 10 अलग अंदाज़ में दें मां बनने की ख़ुशखबरी (10 Cute Ways To Tell Your Husband You’re Pregnant)

मैरिड लाइफ (Married Life) में सबसे बड़ी ख़ुशख़बरी (Good News) होती है मां (Mother) बनने की ख़बर. यदि आप भी मां बनने वाली हैं, तो पति को ये ख़ुशख़बरी कुछ स्पेशल अंदाज़ में दें. पति को कुछ ऐसे क्लू दें, जिससे उन्हें ये पता चल जाए कि आप मां और वो पापा बनने वाले हैं. आपका ये स्पेशल सरप्राइज़ उन्हें बहुत पसंद आएगा. यदि आप मां बनने वाली हैं तो पति को इन 10 अलग अंदाज़ में दें मां बनने की ख़ुशखबरी.

Cute Ways To Tell You're Pregnant

बदलते समय के साथ ही महिलाओं की सोच में भी बदलाव आया है. जहां एक तरफ़ पहले के समय में महिलाएं मां बनने की ख़ुशखबरी पाते ही शर्माकर अपने कमरे में चली जाती थीं, वहीं आजकल महिलाएं अलग-अलग तरीक़ों से पति को इस ख़ुशख़बरी का सरप्राइज़ देना पसंद करती हैं. इस ख़ास लम्हे को आप कैसे यादगार बना सकती हैं, आइए, हम आपको बताते हैं.

यदि आप मां बनने वाली हैं तो पति को इन 10 अलग अंदाज़ में दें मां बनने की ख़ुशखबरी:

1) डिनर को बनाएं ख़ास
अगर आपके पति खाने के शौक़ीन हैं तो रात के खाने में ख़ास उनकी पसंद की चीज़ें बनाएं. साथ ही टेबल पर एक छोटी प्लेट भी सजा दें. टेबल पर एक्स्ट्रा प्लेट, वो भी बच्चों वाली, देखकर पति को पता चल जाएगा कि आप उन्हें क्या ख़ुशख़बरी देना चाहती हैं. अपनी प्रेग्नेंसी की ख़ुशख़बर इस तरह बताने पर पति को आप पर और प्यार आ जाएगा.

2) ‘सून टू बी डैडी’ (Soon To Be Daddy) कैप्शन वाली टीशर्ट ख़रीदें
पति को आपके मां बनने की ख़ुशख़बर देने के लिए ऐसी टी-शर्ट ख़रीदें, जिस पर ‘डैडी’ (Daddy) या ‘सून टू बी डैडी’ (आप जल्दी ही पापा बनने वाले हैं) लिखा हो. ये टीशर्ट पति को गिफ्ट करके आप अपने मां बनने के सरप्राइज़ का मज़ा दोगुना कर सकती हैं.

3) बेबी ऑन बोर्ड (Baby On Board) का स्टिकर लगाएं
पति के साथ जब कार में जाएं तो कार में बैठने से पहले उस पर बेबी ऑन बोर्ड का स्टिकर लगाकर उन्हें सरप्राइज़ दें. ऐसा करने से उन्हें यह समझते देर नहीं लगेगी कि आप दोनों के अलावा अब किसी तीसरे की सुरक्षा का ख़्याल भी आपको रखना है.

4) प्रेग्नेंसी रिपोर्ट गिफ्ट करें
पॉज़िटिव प्रेग्नेंसी और सोनोग्राफी रिपोर्ट को अच्छी तरह गिफ्ट रैप करके सुबह-सुबह बेड टी और अख़बार के साथ पति के सामने रख दें. सुबह की पहली किरण के साथ इतनी बड़ी ख़ुशख़बरी आपके पति को खुशी से भर देगी.

5) बेडरूम को ऐसे सजाएं
घर में नन्हा मेहमान आने वाला/वाली है इसलिए घर को, ख़ासकर बेडरूम को उसके अनुसार सजाने की योजना बनाएं. इसके लिए पति के हाथ में बेडरूम डेकोर के सामान की लिस्ट थमा दें. लिस्ट में बच्चे का सामान देखकर उन्हें आपका गुड न्यूज़ का सरप्राइज़ मिल जाएगा.

यह भी पढ़ें: रिश्तों में मिठास बनाए रखने के 50 मंत्र (50 Secrets For Happier Family Life)

 

Cute Ways To Tell You're Pregnant

6) खट्टा खाने की इच्छा जताएं
जब पति घर आने वाले हों तो उन्हें आपके लिए कुछ खट्टा लाने को कहें. जब पति आपसे अचानक आपकी ऐसी इच्छा पर सवाल करें, तो आप उन्हें गुड न्यूज़ देकर सरप्राइज़ कर सकती हैं.

7) बेबी फोटो से घर सजाएं 
शाम को पति के घर आने से पहले पूरे घर को बेबी फोटो और खिलौनों से सजाकर नन्हें-मुन्ने के आने की ख़ुशखबरी देना एक अच्छा ऑप्शन है. आप पति से कुछ न कहें, घर को बच्चों की फोटो से सजा देखने पर पति को ख़ुद ये अनुमान लगाने दें कि ऐसा आपने क्यों किया है?

8) स्क्रीन पर बेबी की फोटो लगाएं
पति के लैपटॉप, मोबाइल आदि की स्क्रीन पर बेबी की फोटो लगाना भी उनके लिए एक अच्छा सरप्राइज़ हो सकता है.

9) सोनोग्राफी रिपोर्ट से सरप्राइज़ दें
अगर आपके पास पहली सोनोग्राफी की रिपोर्ट है तो उसे कॉपी करके पति को टीवी पर दिखाकर भी सरप्राइज़ कर सकती हैं.

10) डॉक्टर से मिलने साथ जाएं
जब डॉक्टर से मिलने जाएं तो रूटीन चेकअप का बहाना बनाकर पति को भी साथ चलने को कहें. फिर चेकअप के दौरान सोनोग्राफी की कॉपी दिखाकर पति के सामने ख़ुशख़बरी का खुलासा करें.

यह भी पढ़ें: 20 बातें जो पुरुष स्त्रियों से चाहते हैं (20 Things Men Really Want In A Women)