pregnancy

करीना कपूर अब दूसरी बार मां बननेवाली हैं और प्रेग्नेंसी का ग्लो उनके चेहरे पर साफ़ नज़र आ रहा है. इसके अलावा करीना का मैटरनिटी वॉर्डरोब भी काफ़ी सुर्खियाँ बटोर रहा है. वो हमेशा ही स्टाइलिश नज़र आती हैं लेकिन स्टाइल और फैशन से परे करीना की एक स्ट्रॉन्ग साइड भी सामने आ रही है. करीना का एक पुराना वीडीयो आजकल काफ़ी वायरल हो रहा है. उस वक़्त करीना पहली बार गर्भवती थीं और वो जहां भी जाती थीं लोग उनसे सवाल करते थे की वो क्या चाहती हैं- बेटा या बेटी?
तब करीना ने कहा था इस बात से फ़र्क़ नहीं पड़ता कि क्या हो, बच्चा हेल्दी हो ये ज़रूरी है, लेकिन चूंकी वो एक लड़की हैं तो वो भी चाहती हैं कि उन्हें पहली संतान के रूप में बेटी का तोहफ़ा मिले.

Kareena Kapoor

करीना ने इस वीडीयो में कहा कि उन्होंने भी एक बेटी होकर अपने पैरेंट्स के लिए बेटे से ज़्यादा किया है और जो लोग महिलाओं को समानता का दर्जा नहीं दे पाते उन्हें यह समझना चाहिए कि भगवान ने महिला को ही हक़ दिया है कि वो जीवन दे सके, जीव को पैदा कर सके!

Kareena Kapoor
Kareena Kapoor

पहली बार तो करीना को बेटी नहीं हुई और तैमूर जैसा क्यूट बेटा हुआ जो इंटरनेट सेंसेशन बन गया, शायद इस बार करीना की ख्वाहिश पूरी हो!

Kareena Kapoor

यह भी पढ़ें: हाथों में जाम, होंठों पर मुस्कान… फैंस को नहीं भाया रश्मि देसाई का ये अंदाज़, कहा ये तो बेवड़ी निकली और फंस गए बेचारे अरहान! (Rashami Desai Gets Trolled For Promoting Alcohol)

प्यारी एक्ट्रेस अमृता अब मम्मी बननेवाली हैं. आरजे अनमोल को लंबे समय तक डेट करने के बाद अमृता ने उनसे शादी की और फ़िल्मों से दूरी भी बना ली… अब अमृता से जुड़ी एक गुड न्यूज़ आ रही है, उन्हें खार के एक क्लिनिक के बाहर स्पॉट किया गया, जिसमें वो बेबी बंप के साथ नज़र आ रही हैं.

Amrita Rao And Husband RJ Anmol

अमृता और अनमोल अपनी निजी ज़िंदगी में बेहद खुश हैं और वो ज़्यादा सुर्खियों में नहीं रहते. अमृता की प्रेगनेंसी के बारे में भी कम ही लोग जानते हैं. बात करें अमृता के फ़िल्मी करियर की तो शाहिद कपूर के साथ उनकी जोड़ी को इश्क़ विश्क़ और विवाह में बेहद पसंद किया गया था.

अमृता को आखिरी बार बाला साहेब ठाकरे की बायोपिक में देखा गया था जिसमें उन्होंने बाला साहेब ठाकरे की पत्नी मीना ठाकरे का किरदार निभाया था. इस फिल्म में नवाजुद्दीन सिद्दिकी के साथ उन्हें देखा गया था और अमृता के काम की काफ़ी तारीफ़ भी हुई थी.

ग़ौरतलब है कि लॉकडाउन के दौरान काफ़ी एक्ट्रेस ने बेबी प्लान किए, करीना कपूर दूसरी बार मां बनने जा रही हैं, वहीं अनुष्का शर्मा से लेकर टीवी एक्ट्रेस अनीता हसनंदानी तक प्रेगनेंट हैं और कई टीवी एक्ट्रेस तो बच्चे को जन्म दे भी चुकी हैं जिसमें हाल फ़िलहाल पूजा बनर्जी का नाम सबसे आगे है.

हम तो सभी ममियों को यही कहेंगे मुबारक हो!

यह भी पढ़ें: बॉलीवुड के ये 10 स्टार्स सिर्फ़ एक्टिंग ही नहीं, इस काम से भी करते हैं मोटी कमाई! (These 10 Bollywood Stars Earn More Money From This Work)

प्रेग्नेंसी में महिलाएं मोटी हो जाती हैं और बॉलीवुड अभिनेत्रियां भी जब मां बनती हैं, तो उनके लिए अपना बढ़ा हुआ वज़न घटाना आसान नहीं होता. बॉलीवुड एक्ट्रेसेज के लिए स्लिम और फिट दिखना बहुत जरूरी होता है इसलिए मां बनने के बाद उन्हें फिर से पहले की तरह स्लिम और फिट दिखने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है. हम आपको कुछ ऐसी बॉलीवुड एक्ट्रेसेज के बारे में बता रहे हैं, जो मां बनने के बाद फिर से पहले की तरह फिट और स्लिम हो गई.

Bollywood Actresses Stunning Look  After Pregnancy

शिल्पा शेट्टी
शिल्पा शेट्टी फिटनेस का सबसे बड़ा उदाहरण हैं, शिल्पा शेट्टी से उन महिलाओं को प्रेरणा लेनी चाहिए, जिन्हें लगता है कि मां बनने के बाद महिलाएं पहले की तरह स्लिम और फिट नहीं हो सकती. प्रेग्नेंसी के समय शिल्पा शेट्टी का वज़न भी काफी बढ़ गया था, लेकिन बेटे वियान के जन्म के बाद शिल्पा शेट्टी ने नियमित योग करके फिर से पहले जैसी स्लिम बॉडी हासिल कर ली. अब शिल्पा शेट्टी लोगों को योग सिखाती हैं और उनके फिटनेस वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल होते हैं.

shilpa shetty

करीना कपूर
करीना कपूर खान अपने साइज़ ज़ीरो फिगर के लिए लंबे समय तक सुर्खियों में रहीं. लेकिन प्रेग्नेंसी के समय करीना कपूर खान काफी मोटी हो गई थीं. इसके बावजूद प्रेग्नेंसी के समय भी करीना कपूर बिंदास अंदाज़ में मीडिया से मिलती रही, लेकिन तैमूर के जन्म के बाद करीना कपूर ने अपनी फिटनेस पर बहुत ध्यान दिया और एक बार फिर पहले की तरह स्लिम और फिट होकर सबको चौंका दिया. करीना कपूर फिटनेस के लिए योग, एक्सरसाइज़ करती हैं और घर का बना खाना खाती हैं.

kareena kapoor

मंदिरा बेदी
मंदिरा बेदी एक ऐसी अभिनेत्री हैं जो बढ़ती उम्र के साथ और भी ज्यादा स्लिम और फिट नज़र आती हैं. मंदिरा बेटी अपनी फिटनेस के लिए जानी जाती हैं. प्रेग्नेंसी के दौरान अपने बढ़े हुए वज़न को कम करके मंदिरा ने एक बार खुद को सुपर फिट बना दिया है. मंदिरा बेदी के फिनेस वीडियो को उनके फैंस बहुत पसंद करते हैं और कई महिलाएं मंदिरा बेदी के फिटनेस वीडियो देखकर खुद भी प्रैक्टिस करती हैं.

यह भी पढ़ें: बॉलीवुड एक्ट्रेस का झुमका लव, इनके झुमके देखकर दंग रह जाएंगी आप (Bollywood Actress In Jhumka Earrings)

mandira bedi

सोहा अली खान
सोहा अली खान फिलहाल एक्टिंग करती तो नज़र नहीं आ रही हैं, लेकिन सोशल मीडिया पर उनकी स्लिम और फिट मॉम वाली फोटोग्राफ्स दिखती रहती हैं. सोहा अली खान ने भी मां बनने के बाद खुद को मोटा नहीं होने दिया. उनके चेहरे पर आज भी वही मासूमियत नज़र आती है और वो पहले की तरह ही फिट भी नज़र आती हैं.

soha ali khan

ऐश्‍वर्या राय बच्चन
विश्‍व सुंदरी ऐश्‍वर्या राय बच्चन ने जिस तरह अपनी खूबसूरती को मेन्टेन किया है, उसी तरह अपने मदरहुड को भी हमेशा पहले पायदान पर रखा. प्रेग्नेंसी के समय और मां बनने के कुछ समय बाद तक ऐश्‍वर्या राय बच्चन अपने मोटापे को लेकर कई बार ट्रोल हुईं, लेकिन ऐश्‍वर्या ने इन बातों पर ध्यान नहीं दिया और अपना पूरा टाइम अपनी बेटी आराध्या को दिया. मां बनने के कुछ समय बाद ही ऐश्‍वर्या राय बच्चन एक बार फिर पहले की तरह ही स्लिम और फिट हो गईं. ऐश्‍वर्या राय बच्चन ये अच्छी तरह जानती हैं कि एक औरत होने के नाते उनके लिए किस समय क्या ज़रूरी है.

aishwarya rai

करिश्मा कपूर
करीना कपूर की तरह उनकी बहन करिश्मा कपूर भी अपनी फिटनेस पर बहुत ध्यान देती हैं. करिश्मा कपूर ने नब्बे के दशक में बॉलीवुड में राज किया. शादी के बाद अपने बच्चों की परवरिश में करिश्मा कपूर बिज़ी हो गई इसलिए वो फिल्मों में नहीं दिखाई देतीं, लेकिन करिश्मा कपूर जब भी मीडिया में नज़र आती हैं, तो उनकी फिटनेस के सभी कायल हो जाते हैं. दो बच्चों के जन्म के बाद भी करिश्मा कपूर की फिटनेस में कोई कमी नहीं आई है. करिश्मा कपूर अपनी डायट पर बहुत ध्यान देती हैं.

यह भी पढ़ें: बॉलीवुड के रियल लाइफ कपल जिनकी जोड़ी लगती है बेमेल (Mismatched Real Life Couples In Bollywood)

karisma kapoor

रानी मुखर्जी
मर्दानी फिल्म में रानी मुखर्जी के एक्शन सीन देखकर आप भी दंग रह गई होंगी. रानी मुखर्जी ने अपनी शानदार एक्टिंग के दम पर बॉलीवुड में अपनी अलग पहचान बनाई है. आज भी रानी मुखर्जी को आप चुनिंदा फिल्मों में बिल्कुल अलग अंदाज़ में देख सकते हैं. रानी मुखर्जी ने डायरेक्टर आदित्य चोपड़ा से शादी के बाद जब बेटी आदिरा को जन्म दिया, तो उस दौरान उनका वज़न काफी बढ़ गया था, लेकिन अब रानी मुखर्जी ने बेटी के जन्म के बाद खुद को फिर से पहले की तरह स्लिम बना दिया है.

rani mukerji

काजोल  
काजोल बॉलीवुड की एक ऐसी एक्ट्रेस हैं, जो कभी भी किसी की परवाह नहीं करतीं. चाहे फिल्मों का चुनाव हो या पर्सनल लाइफ के फैसले, काजोल ने हमेशा वही किया है जो उन्हें अच्छा लगा. जहां तक मां बनने की बात है, तो काजोल ने अपने दोनों बच्चों यानी बेटी न्यासा और बेटे युग की सही परवरिश करने के लिए फिल्मों से एक निश्‍चित दूरी बनाकर रखी. काजोल ने बच्चों का ही नहीं अपने फिगर का भी बखूबी ध्यान रखा है. मां बनने के बाद काजोल ने फिर से खुद को पहले की तरह ही स्लिम और फिट बनाए रखा है.

kajol
मुझे 7 माह का गर्भ है. रूटीन चेकअप के दौरान गायनाकोलॉजिस्ट ने ब्लड शुगर टेस्ट करवाया, जिसमें ब्लड शुगर का लेवल बहुत बढ़ा हुआ था. क्या ब्लड शुगर बढ़ने का मतलब है कि मैं डायबिटिक हूं? डॉक्टर ने मुझे इंसुलिन लेने को कहा है. क्या मुझे हमेशा ही इंसुलिन लेना होगा? मेरी मम्मी भी डायबिटिक हैं.
– नलिनी जोशी, कर्नाटक

आपको जेस्टेशनल डायबिटीज़ की समस्या है, जो गर्भावस्था के दौरान होनेवाली बीमारियों में से ही एक है. कुछ महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान जेस्टेशनल डायबिटीज़ हो जाती है. ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के लिए आपको अपनी डायट में बदलाव करना चाहिए, जैसे- इंसुलिन नियमित रूप से लेते रहें, ताकि डिलीवरी तक आपका ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित रहे. शुगर लेवल को नियंत्रित करने के लिए आप डायबिटोलॉजिस्ट और डायटीशियन की सलाह भी ले सकती हैं, जो आपको और आपके बच्चे को ध्यान में रखते हुए डायट प्लान करेेंगे. इसके अतिरिक्त प्रेग्नेंसी के दौरान नियमित रूप से अपना चेकअप कराएं. हो सकता है कि डिलीवरी के बाद भी आपको इंसुलिन की ज़रूरत पड़े. इसके लिए नियमित अंतराल पर ब्लड शुगर टेस्ट कराती रहें.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: 3-4 महीनों के बाद पीरियड्स आते हैं (Why My Periods Are 3-4 Months Late?)

Increased Blood Sugar During Pregnancy

मैं 27 वर्षीया महिला हूं. हाल ही में मेरी फोरसेप डिलीवरी हुई है. तब से मैं बहुत परेशान हूं, क्योंकि डिलीवरी के बाद से मुझे गैस की समस्या बहुत बढ़ गई है. साथ ही बार-बार टॉयलेट भी जाना प़ड़ता है. इस वजह से मुझे घर से बाहर जाने में बहुत शर्म आती है. कृपया, कोई उपाय बताएं?
– सोनाक्षी म्हात्रे, मुंबई

आपको ऐनल इन्कन्टिनेंस की समस्या हो सकती है, जो इंस्ट्रूमेंटल डिलीवरी के कारण हो जाती है. आप गायनाकोलॉजिस्ट से संपर्क करें. चाहें तो आप कोलोरेक्टल सर्जन से भी संपर्क कर सकती हैं. वे आपके कुछ टेस्ट कराएंगे और उसी के अनुसार ट्रीटमेंट भी करेंगे, ताकि भविष्य में बच्चा प्लान करना चाहें तो इस तरह की परेशानी न हो.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: प्रेग्नेंसी में किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए? (Do’s And Don’ts For A Safer Pregnancy)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

मेरी शादी को 4 साल हो गए हैं. मैं प्रेग्नेंट हूं. सोनोग्राफ़ी से पता चला कि मेरे गर्भ में जुड़वां बच्चे हैं. कृपया, बताएं कि प्रेग्नेंसी में मुझे किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?
– वैजयंती गोखले, नासिक. 

आपको पौष्टिक और संतुलित आहार लेना चाहिए. बेहतर होगा कि अपने गायनाकोलॉजिस्ट से संपर्क करें और अपना रेग्युलर चेकअप करवाती रहें. इसके अतिरिक्त सावधानी के तौर पर यौन संबंधों से दूर रहें. कोई भी भारी सामान न उठाएं. मोटर साइकिल और ऑटोरिक्शा में ट्रैवलिंग से बचें. गायनाकोलॉजिस्ट द्वारा बताए गए सभी सप्लीमेंट्स और वैक्सिनेशन समय पर लें. सारे टेस्ट समय पर कराएं. घबराने की कोई बात नहीं. यदि टेस्ट नॉर्मल होंगे, तो डिलीवरी भी नॉर्मल होने की संभावना अधिक होगी.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: प्रेग्नेंसी के दौरान वज़न को कैसे मैनेज करूं? (How Should I Manage Weight During Pregnancy?)

Safe Pregnancy Tips

मेरी उम्र 17 साल है. पिछले कुछ दिनों से मेरे राइट ब्रेस्ट में गांठ-सी महसूस हो रही है, जिसमें दर्द तो बिल्कुल नहीं होता, पर सूजन बनी हुई है. मुझे डर है, कहीं ये गांठ कैंसर की तो नहीं है?
 – वंदना मैथ्यू, दिल्ली.

आपको फाइब्रोएडेनोमा की शिकायत हो सकती है, जो टीनएजर लड़कियों में अधिक देखी जाती है. फाइब्रोएडेनोमा में होनेवाली सूजन व गांठ कैंसर की नहीं होती. आप किसी गायनाकोलॉजिस्ट या जनरल सर्जन से संपर्क करें, जो आपका मार्गदर्शन कर सही इलाज करेंेगे. अगर सूजन नॉर्मल है तो चिंता की कोई बात नहीं. लेकिन अगर यह सूजन अधिक दिनों तक बनी रहती है, तो हो सकता है कि सर्जन इससे संबंधित कोई टेस्ट कराएं और सर्जरी की सलाह दें.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: कहीं मैं प्रेग्नेंट तो नहीं हो गई? (Am I Pregnant?)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

मैं 23 वर्षीया नवविवाहिता हूं. पिछले कुछ ह़फ़्तों से मेरा जी मिचला रहा है और उल्टियां भी हो रही हैं.  मुझे पीरियड्स भी नहीं आए. मैंने घर पर प्रेग्नेंसी टेस्ट किया, तो वह भी पॉज़ीटिव आया है. कृपया बताएं, मेरी वॉमिटिंग कब तक रुकेगी और ऐसी अवस्था में मुझे क्या करना चाहिए?
                  – आरती जोशी, देहरादून.

प्रेग्नेंसी के पहले 3 महीने में जी मिचलाना, उल्टियां होना, भूख न लगना आदि शिकायतें होती ही हैं. सबसे पहले आप गायनाकोलॉजिस्ट के पास जाकर अपना पूरा चेकअप कराएं. जांच करने के बाद प्रेग्नेंसी कंफर्म पर वो आपको कुछ मेडिसिन देंगे. इसके अलावा सुबह चाय के साथ बिस्किट या ड्राय टोस्ट लें. थोड़े-थोड़े अंतराल के बाद कुछ न कुछ खाते रहें. स्पाइसी और ऑयली खाने से बचें. ज़्यादा से ज़्यादा पानी व जूस पीएं. समय-समय पर डॉक्टर आपके सभी टेस्ट्स- ब्लड टेस्ट, यूरिन टेस्ट, सोनोग्राफी आदि भी कराएंगे. आप रिलैक्स रहें और अपनी प्रेग्नेंसी को एन्जॉय करें.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: प्रेग्नेंसी के दौरान वज़न को कैसे मैनेज करूं? (How Should I Manage Weight During Pregnancy?)

Pregnant

मेरी उम्र 26 साल है. पहले मेरे पीरियड्स रेग्युलर थे. कुछ ह़फ़्ते पहले मैंने अपने बॉय फ्रैंड के साथ शारीरिक संबंध बनाए थे और पूरी सावधानी भी बरती थी. उसके बाद मुझे अभी तक पीरियड्स नहीं आए. कहीं मैं प्रेग्नेंट तो नहीं हो गई?
                   – मोना सावंत, चंडीगढ़.

संबंध बनातेे समय आपने कंडोम का प्रयोग किया होगा. कई बार कंडोम सफल नहीं  होता और गर्भ ठहर जाता है. इसके लिए आप घर पर होम प्रेग्नेंसी टेस्ट कर सकती हैं या गायनाकोलॉजिस्ट से संपर्क करें.  टेस्ट से पीरियड्स न होने की वजह स्पष्ट हो जाएगी. कई बार हार्मोन्स में गड़बड़ी, ज़्यादा भागदौड़ के कारण भी पीरियड्स देर से आते हैं. अगर आप प्रेग्नेंट नहीं हैं, तो डॉक्टर पीरियड्स के लिए हार्मोन्स पिल्स देंगे.

यह भी पढ़ेंPersonal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

मेरी उम्र 29 वर्ष है और यह मेरी पहली प्रेग्नेंसी (First Pregnancy) है. पिछले कुछ सालों से मैंने रेग्युलर एक्सरसाइज़ करके अपना वज़न मेनटेन (Weight Maintain) किया है. पर प्रेग्नेंसी में मेरा वज़न बहुत बढ़ जाएगा, यह सोचकर मैं परेशान हूं. कृपया बताएं, प्रेग्नेंसी के दौरान अपने वज़न को कैसे मैनेज करूं?
– जेसिका कौर, अमृतसर.

यह तो बड़ी अच्छी बात है कि आप अपनी फ़िटनेस के प्रति जागरूक हैं. आप तब तक  एक्सरसाइज़ कर सकती हैं, जब तक कंफ़र्टेबल फील करें. प्रेग्नेंसी में सबसे अच्छी एक्सरसाइज़ वॉकिंग होती है. इसके अलावा दूसरी अहम् बात है- प्रेग्नेंसी के दौरान सही डायट लेना. प्रेग्नेंसी के समय एक महिला को अपना वज़न नॉर्मल रखने के लिए पहले 3 महीने में 150- 200 अतिरिक्त कैलोरी रोज़ाना लेनी चाहिए. दूसरे और तीसरे महीने में हर रोज़ 400-500 अतिरिक्त कैलोरीज़ ज़रूरी होती हैं. इसके अलावा पहले 3 महीने में अतिरिक्त डायट में 1 ग्लास दूध, ड्रायफ्रूट, दलिया,  उपमा आदि लेे सकती हैं और दूसरी-तीसरी तिमाही में अतिरिक्त डायट में दाल, दही, फ़िश, चिकन और अंडा आदि ले सकती हैं.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: क्या ब्रेस्ट से लिक्विड डिस्चार्ज होना ख़तरनाक है? (Is Abnormal Nipple Discharge Dangerous?)

Manage Weight During Pregnancy

 

मेरी बेटी की उम्र 16 साल है. पिछले कुछ महीनों से उसका वज़न बहुत तेज़ी से बढ़ रहा है. हर समय नींद आने और थकान होने की शिकायत करती है. अभी तो वह बहुत छोटी है, उसके बढ़ते वज़न को देखकर मुझे बहुत चिंता होने लगी है. कृपया, उचित उपाय बताएं?
– नमिता साहनी, जोधपुर

आप अपनी बेटी को किसी जनरल फ़िज़िशियन या गायनाकोलॉजिस्ट को दिखाएं. वे आपकी बेटी का थायरॉइड टेस्ट कराएंगे. हो सकता है कि आपकी बेटी के बढ़ते वज़न का कारण थायरॉइड हार्मोन की कमी हो. अधिकतर युवाओं में इस तरह की समस्या का होना आम है. इसके अलावा गर्दन में हल्की-सी सूजन, स्किन का ड्राई होना, कब्ज़, थकान महसूस होना, वज़न बढ़ना, डिप्रेशन और आवाज़ का कर्कश होना आदि भी थायरॉइड हार्मोन की कमी के लक्षण हैं.

यह भी पढ़ेंPersonal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

मेरी उम्र 42 वर्ष है. मुझे पिछले 3 महीने से पीरियड्स नहीं आए हैं. पिछले साल भी मेरे पीरियड्स अनियमित हो गए थे, लेकिन ज़्यादा लंबे समय तक नहीं. कहीं मैं प्रेग्नेंट तो नहीं हो गई? हमने कोई कॉन्ट्रासेप्शन भी यूज़ नहीं किया. मेरे बच्चे की उम्र 16 साल है और कुछ दिनों से मेरी तबीयत भी ठीक नहीं चल रही है.
                 – मोनाली बनर्जी, कोलकाता.

ये प्री-मेनोपॉज़ल के लक्षण लगते हैं. यदि आप अपनी प्रेग्नेसी को कंफर्म करना चाहती हैं, तो गायनाकोलॉजिस्ट की सलाह ले सकती हैं या फिर घर पर ही यूरिन प्रेग्नेंसी टेस्ट कर सकती हैं. कई बार हार्मोनल गड़बड़ी या कुछ दवाओं के कारण पीरियड्स अनियमित हो जाते हैं. इसके लिए ज़रूरी है कि आप संतुलित डायट लें, जिसमें हरी सब्ज़ियां, फल, दालें, दूध आदि को शामिल करें. नियमित रूप से एक्सरसाइज़ करें. अपना रूटीन चेकअप, जैसे- ब्लड व यूरिन टेस्ट, सोनोग्राफ़ी, पैप स्मीयर और मैमोग्राफ़ी समय-समय पर कराती रहें.

 

यह भी पढ़ें: Personal Problems: क्या ब्रेस्ट से लिक्विड डिस्चार्ज होना ख़तरनाक है? (Is Abnormal Nipple Discharge Dangerous?)

Pregnancy After Miscarriage

मैं 23 वर्षीया महिला हूं. मेरी शादी को डेढ़ साल ही हुआ है. 9 महीने पहले मेरा 2 माह का मिसकैरेज हुआ था. इसके बाद डॉक्टर ने अगले 6 महीने तक कंसीव न करने की सलाह दी थी. लेकिन अब हम पिछले 3 माह से कंसीव करने की कोशिश कर रहे हैं, पर सफल नहीं हो पा रहे हैं. क्या हमें कोई टेस्ट कराने की ज़रूरत है?.

                       -सिया खंडूरी, दिल्ली.

आप पहले एक बार प्रेग्नेंट हो चुकी हैं, इसका मतलब है कि आपको दोबारा कंसीव करने में कोई समस्या नहीं होगी. बच्चे में किसी तरह की असामान्यताएं होने पर ही प्रेग्नेंसी के पहले 3 महीने में गर्भपात होने की आशंका अधिक होती है. यदि आप गर्भ धारण करना चाहती हैं, तो अपनी पीरियड डेट के पहले दिन को काउंट करते हुए 10 से 20 दिन के बीच इंटरकोर्स करें. सप्लीमेंट के तौर पर फॉलिक एसिड लें और गायनाकोलॉजिस्ट द्वारा बताए गए निर्देशों का पालन करें.

यह भी पढ़ेंPersonal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

मेरी उम्र 28 वर्ष है और मेरी शादी को 5 वर्ष हो गए हैं. मुझे मासिक धर्म में काफ़ी दर्द और रक्तस्राव होता है. मेरी सोनोग्राफ़ी से पता चला है कि मुझे चॉकलेट ओवेरियन सिस्ट है और इसकी सर्जरी करवानी होगी. लेकिन मैं अभी तक मां नहीं बन पाई हूं, इसलिए किसी भी तरह के ऑपरेशन से डरती हूं. मुझे क्या करना चाहिए?
– परमजीत कौर, दिल्ली.

एंडोमेट्रियोसिस में हर मासिक चक्र के दौरान ओवरी (अंडाशय) में रक्त इकट्ठा हो जाता है. धीरे-धीरे इसका आकार बढ़ने लगता है और इकट्ठा हुआ रक्त चॉकलेट सिस्ट बना लेता है. इस कारण मासिक धर्म के दौरान दर्द होता है एवं गर्भधारण करने में भी समस्या हो जाती है. लेप्रोस्कोपिक (कीहोल) सर्जरी ही इसका एकमात्र उपाय है. लेज़र जैसी आधुनिक तकनीक ने अब इस तरह की सर्जरी को और भी आसान बना दिया है.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: क्या गर्भनिरोधक गोलियों से पीरियड्स अनियमित हो जाते हैं? (Can Birth Control Make My Periods Irregular?)

Pre-Pregnancy Test

मैं 26 वर्ष की हूं और मेरी शादी को दो साल हो गए हैं. अब हम बच्चे की प्लानिंग कर रहे हैं. क्या गर्भधारण के पहले मुझे कोई टेस्ट कराना ज़रूरी है?
– तराना, मुंबई.

बच्चा प्लान करने के पहले होनेवाले बच्चे की सेहत के लिए ये बेहद ज़रूरी है कि रेग्युलर चेकअप करा लिए जाएं. आपको कुछ टेस्ट, जैसे- हीमोग्लोबिन, ब्लड शुगर, थायरॉइड लेवल, थेलेसेमिया आदि टेस्ट करवा लेना चाहिए. एक सोनोग्राफ़ी टेस्ट करवाना चाहिए, जिससे ये पता चल सके कि यूटेरस और ओवरीज़ सामान्य हैं. ब्लड प्रेशर अवश्य चेक कराएं. यदि कोई भी समस्या हो, तो गर्भधारण करने के पूर्व ही उसका इलाज करा लेना चाहिए, ताकि जन्म लेनेवाला बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ हो.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

मेरी 26 वर्षीया पड़ोसन पहली बार मां बनी है, पर डॉक्टरों ने जांच करके बताया है कि उसके बच्चे को डाउन्स सिंड्रोम (Down’s Syndrome) है. मैं अब तक यही समझती थी कि 40 साल की उम्र के बाद जो महिलाएं मां बनती हैं, उनके ही बच्चों को डाउन्स सिंड्रोम हो सकता है. क्या ऐसा भी होता है?
– आरती सोलंकी, पुणे.

जो महिलाएं 40 साल की उम्र के बाद मां बनती हैं, उनके बच्चों में डाउन्स सिंड्रोम का ख़तरा ज़्यादा होता है, लेकिन कम उम्र की महिलाओं के साथ भी यह ख़तरा बना रहता है. डाउन्स का अर्थ है, शरीर में दो की बजाय एक एक्स्ट्रा यानी तीसरे क्रोमोज़ोम का होना. जिन बच्चों में ये एक्स्ट्रा क्रोमोज़ोम होता है, उन्हें कई गंभीर मानसिक समस्याएं हो सकती हैं, जिनमें से मंदबुद्धि होना एक है. आपको बता दें कि जहां 20-25 साल की महिलाओं के डेढ़ हज़ार बच्चों में से एक बच्चा डाउन्स सिंड्रोम का शिकार हो सकता है, वहीं 40-45 साल की महिलाओं के 130 में से एक बच्चे को यह गंभीर समस्या हो सकती है.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: क्या कभी मां नहीं बन सकूंगी? (How Can I Find Out If I Can Get Pregnant?)

Down's Syndrome

मैं 22 वर्षीया कॉलेज स्टूडेंट हूं. मैं यह जानना चाहती हूं कि क्या टॉयलेट सीट से भी एचपीवी इंफेक्शन फैल सकता है? इस डर से मैं पब्लिक टॉयलेट इस्तेमाल नहीं करती. कृपया, मेरी मदद करें.
– सरोजनी रॉय, गुवाहटी. 

एचपीवी यानी ह्यूमन पैपिलोमा वायरस एक तरह का सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन है, जो टॉयलेट सीट इस्तेमाल करने से नहीं फैल सकता. एचपीवी इंफेक्शन के लिए त्वचा का त्वचा से संपर्क होना ज़रूरी है, जो टॉयलेट सीट से मुमकिन नहीं. अगर आपके पार्टनर के गुप्तांगों में किसी तरह की गांठ या मस्सा है या फिर कुछ समय पहले उन्हें एचपीवी हुआ था, तो शारीरिक संबंध न बनाएं. कंडोम भी इससे आपको सौ फ़ीसदी सुरक्षा नहीं दे पाएगा. याद रखें, एचपीवी पब्लिक टॉयलेट से नहीं फैलता.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

मेरी उम्र 28 वर्ष है. मेरी शादी को पांच वर्ष हो गए हैं. शादी के दो साल के बाद ही मुझे 2 माह का गर्भपात हो गया. एक साल के बाद मैं फिर गर्भवती हुई, लेकिन फिर मुझे ढाई महीने का गर्भपात हो गया. मैं बहुत ही निराश हो गई हूं. क्या मैं अब कभी मां नहीं बन सकूंगी?
– मंजरी शिधोरे, नागपुर

सबसे पहले तो आपको अपना पूरा चेकअप करवाना चाहिए, ख़ासतौर पर तब, जब गर्भधारण करना हो. गर्भपात होने के कई कारण हो सकते हैं. कम समय में ही गर्भपात होने का कारण है बेबी में जेनेटिक प्रॉब्लम का होना. हो सकता है गर्भाशय में सेप्टम होने से, हार्मोन्स की कमी से, इंफेक्शन या इम्यूनोलॉजिकल प्रॉब्लम से भी गर्भपात हुआ हो. गर्भाशय के अंदर की प्रॉब्लम जानने के लिए हीस्टिरोस्कोपी करवा सकती हैं. आप मां बन सकती हैं, बशर्ते कि प्रॉब्लम का कारण जानकर उसका सही इलाज करवाया जाए.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: चॉकलेट सिस्ट से बहुत परेशान हूं (Chocolate Cyst: Causes, Symptoms And Treatment)

Pregnancy Test

मेरी उम्र 52 वर्ष है. 2 साल पहले ही मुझे मेनोपॉज़ हो गया था. मेरी समस्या यह है कि मुझे बहुत ज़्यादा गर्मी लगने लगी है, यहां तक कि फैन चालू रहने पर भी मैं पसीने में भीगी होती हूं. मुझे इन दिनों बहुत चिड़चिड़ाहट होने लगी है और ग़ुस्सा भी बहुत आने लगा है, जिसके कारण सब मुझसे परेशान रहने लगे हैं. क्या हर स्त्री ऐसे दौर से गुज़रती है? क्या मेरी समस्या का कोई उपाय है?
– रजनी मल्होत्रा, हिसार.

जब 40 के बाद और 50 के पहले की उम्र में हार्मोन्स का स्तर गिरने लगता है, तब कई स्त्रियों में मेनोपॉज़ के लक्षण नज़र आने लगते हैं. इसी की वजह से ज़्यादा गर्मी महसूस होना, चिड़चिड़ापन, डिप्रेशन, ग़ुस्सा, नींद न आना जैसी समस्याएं होने लगती हैं. ऐसे में आपके लिए सबसे अच्छा उपाय है एस्ट्रोजन के साथ हार्मोनल ट्रीटमेंट. इसके अलावा आजकल नॉन हार्मोनल थेरेपी भी ली जा सकती है, जिसमें सोया एक्सट्रैक्ट व विटामिन्स लिए जा सकते हैं. इस समय ऑस्टियोपोरोसिस से बचाव भी ज़रूरी है. इसके लिए कैल्शियम सप्लीमेंट्स लें.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

मैं 22 वर्षीया हूं और मेरी शादी को अभी एक साल ही हुआ है. हमने कभी कोई फैमिली प्लानिंग मेथड का इस्तेमाल नहीं किया. इस महीने दो हफ़्ते तक मेरे पीरियड्स नहीं आए, तो मैंने घर पर ही यूरिन प्रेग्नेंसी टेस्ट (Pregnancy Test) किया, जो पॉज़िटिव आया. मुझे यह जानना है कि क्या मुझे तुरंत गायनाकोलॉजिस्ट (Gynecologist) को मिलना होगा?
– सत्या शर्मा, वाराणसी.

पहली बार गायनाकोलॉजिस्ट से मिलने के लिए आप 8वें से 10वें हफ़्ते के बीच कभी भी जा सकती हैं. याद रखें, प्रेग्नेंसी के पहले तीन महीने महिलाओं के लिए काफ़ी महत्वपूर्ण होते हैं, इसलिए अपना ख़ास ख़्याल रखें, लेकिन अगर आपको इस बीच कभी असामान्य रक्तस्राव हो या पेट के निचले हिस्से में मरोड़ के साथ दर्द हो या फिर बुख़ार हो, तो तुरंत गायनाकोलॉजिस्ट को मिलें.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: चॉकलेट सिस्ट से बहुत परेशान हूं (Chocolate Cyst: Causes, Symptoms And Treatment)

Gynecological Problems

मैं 25 वर्षीया कामकाजी महिला हूं. पीरियड्स के दौरान मुझे काफ़ी तकलीफ़ होती है. मैं कभी पेनकिलर नहीं खाती, पर मेरी सहेलियां हमेशा पेनकिलर लेती हैं और मुझे भी लेने की सलाह देती हैं. क्या मुझे पेनकिलर लेना चाहिए? कृपया, सलाह दें.
– शालिनी ओझा, पटना.

अगर पीरियड्स के दौरान आपको दर्द और मरोड़ ज़्यादा हो रहा हो, तभी पेनकिलर लेना चाहिए, वरना घरेलू नुस्ख़ों और गरम पानी की थैली से भी आपको काफ़ी राहत मिल सकती है. पीरियड्स के दौरान भी जितना हो सके फिज़िकली एक्टिव रहें. अगर आपको पेट फूला हुआ महसूस हो रहा हो, तो पानी पीएं, इससे आपको काफ़ी राहत मिलेगी. इस दौरान फलों का जूस और सब्ज़ियों के सूप आपके लिए काफ़ी हेल्दी और दर्द कम करनेवाले ऑप्शन हैं. खाने में फल और सलाद की मात्रा बढ़ा दें. नमक और चाय-कॉफी की मात्रा कम कर दें.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies