Tag Archives: pregnancy

मां बनने वाली हैं तो पति को 10 अलग अंदाज़ में दें मां बनने की ख़ुशखबरी (10 Cute Ways To Tell Your Husband You’re Pregnant)

मैरिड लाइफ (Married Life) में सबसे बड़ी ख़ुशख़बरी (Good News) होती है मां (Mother) बनने की ख़बर. यदि आप भी मां बनने वाली हैं, तो पति को ये ख़ुशख़बरी कुछ स्पेशल अंदाज़ में दें. पति को कुछ ऐसे क्लू दें, जिससे उन्हें ये पता चल जाए कि आप मां और वो पापा बनने वाले हैं. आपका ये स्पेशल सरप्राइज़ उन्हें बहुत पसंद आएगा. यदि आप मां बनने वाली हैं तो पति को इन 10 अलग अंदाज़ में दें मां बनने की ख़ुशखबरी.

Cute Ways To Tell You're Pregnant

बदलते समय के साथ ही महिलाओं की सोच में भी बदलाव आया है. जहां एक तरफ़ पहले के समय में महिलाएं मां बनने की ख़ुशखबरी पाते ही शर्माकर अपने कमरे में चली जाती थीं, वहीं आजकल महिलाएं अलग-अलग तरीक़ों से पति को इस ख़ुशख़बरी का सरप्राइज़ देना पसंद करती हैं. इस ख़ास लम्हे को आप कैसे यादगार बना सकती हैं, आइए, हम आपको बताते हैं.

यदि आप मां बनने वाली हैं तो पति को इन 10 अलग अंदाज़ में दें मां बनने की ख़ुशखबरी:

1) डिनर को बनाएं ख़ास
अगर आपके पति खाने के शौक़ीन हैं तो रात के खाने में ख़ास उनकी पसंद की चीज़ें बनाएं. साथ ही टेबल पर एक छोटी प्लेट भी सजा दें. टेबल पर एक्स्ट्रा प्लेट, वो भी बच्चों वाली, देखकर पति को पता चल जाएगा कि आप उन्हें क्या ख़ुशख़बरी देना चाहती हैं. अपनी प्रेग्नेंसी की ख़ुशख़बर इस तरह बताने पर पति को आप पर और प्यार आ जाएगा.

2) ‘सून टू बी डैडी’ (Soon To Be Daddy) कैप्शन वाली टीशर्ट ख़रीदें
पति को आपके मां बनने की ख़ुशख़बर देने के लिए ऐसी टी-शर्ट ख़रीदें, जिस पर ‘डैडी’ (Daddy) या ‘सून टू बी डैडी’ (आप जल्दी ही पापा बनने वाले हैं) लिखा हो. ये टीशर्ट पति को गिफ्ट करके आप अपने मां बनने के सरप्राइज़ का मज़ा दोगुना कर सकती हैं.

3) बेबी ऑन बोर्ड (Baby On Board) का स्टिकर लगाएं
पति के साथ जब कार में जाएं तो कार में बैठने से पहले उस पर बेबी ऑन बोर्ड का स्टिकर लगाकर उन्हें सरप्राइज़ दें. ऐसा करने से उन्हें यह समझते देर नहीं लगेगी कि आप दोनों के अलावा अब किसी तीसरे की सुरक्षा का ख़्याल भी आपको रखना है.

4) प्रेग्नेंसी रिपोर्ट गिफ्ट करें
पॉज़िटिव प्रेग्नेंसी और सोनोग्राफी रिपोर्ट को अच्छी तरह गिफ्ट रैप करके सुबह-सुबह बेड टी और अख़बार के साथ पति के सामने रख दें. सुबह की पहली किरण के साथ इतनी बड़ी ख़ुशख़बरी आपके पति को खुशी से भर देगी.

5) बेडरूम को ऐसे सजाएं
घर में नन्हा मेहमान आने वाला/वाली है इसलिए घर को, ख़ासकर बेडरूम को उसके अनुसार सजाने की योजना बनाएं. इसके लिए पति के हाथ में बेडरूम डेकोर के सामान की लिस्ट थमा दें. लिस्ट में बच्चे का सामान देखकर उन्हें आपका गुड न्यूज़ का सरप्राइज़ मिल जाएगा.

यह भी पढ़ें: रिश्तों में मिठास बनाए रखने के 50 मंत्र (50 Secrets For Happier Family Life)

 

Cute Ways To Tell You're Pregnant

6) खट्टा खाने की इच्छा जताएं
जब पति घर आने वाले हों तो उन्हें आपके लिए कुछ खट्टा लाने को कहें. जब पति आपसे अचानक आपकी ऐसी इच्छा पर सवाल करें, तो आप उन्हें गुड न्यूज़ देकर सरप्राइज़ कर सकती हैं.

7) बेबी फोटो से घर सजाएं 
शाम को पति के घर आने से पहले पूरे घर को बेबी फोटो और खिलौनों से सजाकर नन्हें-मुन्ने के आने की ख़ुशखबरी देना एक अच्छा ऑप्शन है. आप पति से कुछ न कहें, घर को बच्चों की फोटो से सजा देखने पर पति को ख़ुद ये अनुमान लगाने दें कि ऐसा आपने क्यों किया है?

8) स्क्रीन पर बेबी की फोटो लगाएं
पति के लैपटॉप, मोबाइल आदि की स्क्रीन पर बेबी की फोटो लगाना भी उनके लिए एक अच्छा सरप्राइज़ हो सकता है.

9) सोनोग्राफी रिपोर्ट से सरप्राइज़ दें
अगर आपके पास पहली सोनोग्राफी की रिपोर्ट है तो उसे कॉपी करके पति को टीवी पर दिखाकर भी सरप्राइज़ कर सकती हैं.

10) डॉक्टर से मिलने साथ जाएं
जब डॉक्टर से मिलने जाएं तो रूटीन चेकअप का बहाना बनाकर पति को भी साथ चलने को कहें. फिर चेकअप के दौरान सोनोग्राफी की कॉपी दिखाकर पति के सामने ख़ुशख़बरी का खुलासा करें.

यह भी पढ़ें: 20 बातें जो पुरुष स्त्रियों से चाहते हैं (20 Things Men Really Want In A Women)

Personal Problems: पीरियड्स के दौरान असहनीय दर्द होता है (What Could Be Possible Reasons For Painful Periods?)

मेरी बेटी की उम्र 16 साल है. पीरियड्स (Periods) के दौरान उसे बहुत दर्द (Pain) होता है. क्या उसे इलाज की ज़रूरत है? क्या उसे किसी डॉक्टर को दिखाना चाहिए?
– ममता शाह, सूरत.

दर्दयुक्त माहवारी आपकी बेटी की सेहत के साथ-साथ उसकी पढ़ाई-लिखाई व पर्सनल लाइफ को भी प्रभावित कर सकती है. अगर इसके कारण वह अपनी लाइफ नॉर्मल तरी़के से जी नहीं पा रही है, तो आपको ज़रूर उसका इलाज कराना चाहिए. यह कई कारणों से हो सकता है, इसलिए सबसे पहले किसी एक्सपर्ट डॉक्टर से उसका चेकअप कराएं. वो उसे सोनोग्राफी करवाने की सलाह दे सकते हैं. पूरा चेकअप हो जाने के बाद डॉक्टर आपको कुछ पेनकिलर्स या ओरल कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स लेने की सलाह दे सकते हैं.

 यह भी पढ़ें: Personal Problems: एंडोमेटिरियोसिस क्या होता है? (Endometriosis: Symptoms, Causes And Treatment)

Reasons For Painful Periods

मेरी उम्र 30 साल है और हाल ही में मेरा लगातार दूसरा मिसकैरेज हो गया, जो दो महीने का था. क्या इसका यह मतलब है कि भविष्य में मैं कभी हेल्दी बच्चे को जन्म नहीं दे पाऊंगी?
– श्यामली राव, नागपुर.

ये बड़े दुर्भाग्य की बात है कि आजकल गर्भपात के मामले बहुत तेज़ी से बढ़े हैं और यह एक आम बात हो गई है. लगातार तीसरी बार गर्भपात की आशंका बहुत ही कम होती है. इसका कारण पैरेंट्स में किसी जेनेटिक समस्या का होना भी हो सकता है. इसलिए सबसे पहले किसी अच्छे गायनाकोलॉजिस्ट को मिलकर गर्भपात के कारणों को जानने के लिए सारे ज़रूरी टेस्ट्स कराएं. सही कारण पता चलते ही तुरंत इलाज कराएं. आप सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ें. भविष्य में आप जल्दी ही एक हेल्दी बच्चे को जन्म देंगी.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: क्या पहली प्रेग्नेंसी में बहुत ज़्यादा चक्कर आते हैं? (Is Extreme Dizziness In First Pregnancy Normal?)

Dr. Rajshree Kumar

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: क्या पहली प्रेग्नेंसी में बहुत ज़्यादा चक्कर आते हैं? (Is Extreme Dizziness In First Pregnancy Normal?)

मुझे दो महीने का गर्भ है. ये मेरा पहला बच्चा है. मुझे सुबह बहुत चक्कर आता है और उल्टियां भी होती हैं. मुझे क्या करना चाहिए?
– कार्तिका, नासिक.

गर्भावस्था में सुबह के समय नॉसिया या उल्टी होना सामान्य बात है. अगर आप खाली पेट हैं तो आपकी समस्या और भी बढ़ सकती है. सुबह उठने के बाद बिस्किट और चाय या दूध लें. खाली पेट कभी न रहें. दिन के समय भी कार्बोहाइड्रेड से युक्त आहार लें. फैटी फूड से परहेज़ करें. ये शिकायत सामान्यत: तीसरे महीने के बाद दूर हो जाती है. अगर ऊपर बताए गए निर्देशों का पालन करने के बाद भी आराम नहीं मिलता है, तो डॉक्टर से मिलें जो आपको उल्टियां बंद करने के लिए कोई गोलियां देंगे.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: बिना सर्जरी ब्रेस्ट साइज़ बढ़ाने के क्या उपाय हैं? (How To Enlarge Breast Size Without Surgery?)

Dizziness In First Pregnancy

मेरी शादी को डेढ़ साल हो गए हैं. इस साल फरवरी में मेरा मिसकैरेज हो गया था. अब मैं दोबारा कंसीव करना चाहती हूं, लेकिन कंसीव नहीं हो पा रहा है. क्या इसकी वजह मिसकैरेज है? कृपया बताएं मुझे क्या करना चाहिए?
– रेखा यादव, इलाहाबाद. 

गर्भपात या ऐब्नॉर्मल प्रेगनेंसी को नेचर्स लॉ कह सकते हैं, क्योंकि यह हमारे हाथ में नहीं होता. आप दोबारा प्रेगनेंसी की कोशिश कर सकती हैं.
किसी इंफर्टिलिटी स्पेशलिस्ट से मिलें. किसी तरह की मेडिकल प्रॉब्लम, दवाई रोज़ाना लेती हैं, तो वो भी हमें बताएं. अगर पिछली बार आपने नेचुरली कंसीव किया था तो इस बार भी नेचुरली कंसीव करने की संभावना है. फिर भी ओवेरियन रिज़र्व, ट्यूब की पोटेंसी, थाइरॉइड आदि के बारे में चेक करना होगा.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: क्या मेडिकल एबॉर्शन सेफ और इफेक्टिव है? (Is The Medical Abortion Safe?)

Dr. Rajshree Kumar

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

5 चमत्कारी घरेलू गर्भनिरोधक रोकते हैं गर्भधारण (5 Best Home Remedies To Avoid Pregnancy)

5 चमत्कारी घरेलू गर्भनिरोधक रोकते हैं गर्भधारण (Pregnancy) और इन होममेड गर्भनिरोधक (Homemade Contraceptives) का कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है. यदि आप भी गर्भधारण रोकने का कोई घरेलू उपाय ढूंढ़ रही हैं, तो आप 5 चमत्कारी घरेलू गर्भनिरोधक का प्रयोग कर सकती हैं. अनचाहे गर्भ से बचने के लिए महिलाएं हर मुमकिन उपाय करती हैं, ताकि आगे चलकर कोई परेशानी न हो. ऐसे में 5 चमत्कारी घरेलू गर्भनिरोधक आपके बहुत काम आ सकते हैं. अनचाहे गर्भ से बचने के लिए आप ये 5 5 चमत्कारी घरेलू गर्भनिरोधक ट्राई कर सकती हैं.

Home Remedies To Avoid Pregnancy

यदि हम बाज़ार में उपलब्ध गर्भनिरोधक की बात करें, तो गर्भनिरोधक का चुनाव इस बात इस बात पर भी निर्भर करता है कि आपको कौन सा गर्भनिरोधक सूट करता है. यदि आपको समझ नहीं आ रहा कि कौन-से गर्भनिरोधक का चुनाव किया जाए, तो इसके लिए आप अपने डॉक्टर से भी संपर्क कर सकते हैं.

कौन-से 5 चमत्कारी घरेलू गर्भनिरोधक रोकते हैं गर्भधारण, जानने के लिए देखें वीडियो:

 

अन्य चमत्कारी घरेलू गर्भनिरोधक
* माहवारी ख़त्म होने के बाद तुलसी के पत्तों का काढ़ा तीन-चार दिन तक लगातार पीएं. इससे गर्भ नहीं ठहरेगा.
* मासिक धर्म के समय चंपा के फूलों को पीसकर पीने से गर्भधारण की संभावना नहीं रहती. जब तक बच्चा न चाहें, तब तक यह प्रयोग हर महीने मासिक के समय करें.
* केले का पेड़ जिस पर फल न लगा हो या फलहीन पेड़ हो उसकी जड़ उखाड़कर सुखा लें. उसका चूर्ण बनाकर रख लें. मासिक के समय 4-5 ग्राम की मात्रा में सेवन करने से गर्भ नहीं ठहरता.

यह भी पढ़ें: कैसे हुआ गर्भनिरोधक गोलियों का आविष्कार? (Oral Contraceptives: When Was Birth Control Invented?)

Personal Problems: प्रेग्नेंसी में बहुत ज़्यादा उल्टियां हों तो क्या करें? (What Can I Do For Sever Vomiting In Pregnancy?)

मुझे डेढ़ महीने का गर्भ (Pregnancy) है, पर मुझे बहुत ज़्यादा उल्टियां (Vomiting) हो रही हैं. मुझे समझ में नहीं आ रहा है कि क्या करूं? कृपया सलाह दें.
– वृंदा धवन, रोहतक.

अगर आपको बहुत ज़्यादा उल्टियां हो रही हैं, तो आपको तुरंत डॉक्टर को मिलना चाहिए. डॉक्टर यूरिन टेस्ट के ज़रिए जांच करेंगे कि यूरिन में कीटोन्स तो नहीं, अगर ऐसा हुआ, तो आपको एडमिट करके आईवी फ्लूइड दिया जाएगा. इसके साथ ही वो आपको कुछ दवाइयां भी दे सकते हैं. वैसे 3 महीनों के बाद यह समस्या अपने आप कम हो जाती है, पर फिर भी ऐसे में आपको हर 2-3 घंटों में कुछ खाना चाहिए. सुबह-सुबह चाय-कॉफी या चॉकलेट से बचें. ठंडा दूध पीएं.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: व्हाइट डिस्चार्ज से पीरियड्स जैसा पेटदर्द होता है (What Is Causing White Discharge With Menstrual Cramps?)

Vomiting In Pregnancy

मैं 38 वर्षीया महिला हूं. मेरी पिछली डिलीवरी हॉस्पिटल पहुंचने से पहले घर पर ही हो गई थी, जिसके बाद से ही मुझे पीठदर्द और शरीर के निचले हिस्से में भारीपन महसूस हो रहा है. डॉक्टर के मुताबिक़ मेरा गर्भाशय और यूरिनरी ब्लैडर का कुछ हिस्सा नीचे की ओर खिसक गया है. मैं सर्जरी नहीं करवाना चाहती, इसलिए उन्होंने मुझे रिंग पेसरी इंसर्ट करवाने की सलाह दी है, पर इसे हर 3 महीने में बदलना होगा. मुझे क्या करना चाहिए? आप क्या सलाह देंगी.
– मोहिनी राव, नोएडा.

आपके द्वारा बताए लक्षणों से लग रहा है कि आपको गर्भाशय व यूरिनरी ब्लैडर का प्रोलैप्स हुआ है. जैसा कि आपने बताया रिंग पेसरी आपकी समस्या का एक अस्थायी विकल्प है, जो गर्भाशय को उसकी जगह पर वापस पहुंचा देता है, पर इसे हर 3 महीने में या इंफेक्शन होने पर निकलवाना पड़ता है. सर्जरी इसका स्थायी इलाज है, पर चूंकि आप सर्जरी नहीं करवाना चाहतीं, इसलिए इसे ट्राई कर सकती हैं.

यह भी पढ़ें:  पीरियड्स देरी से आने के क्या कारण हो सकते हैं? (What Could Be The Reasons For Delayed Periods?)
rajeshree kumar
डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

 

 

हर बीमारी का आयुर्वेदिक उपचार  उपाय जानने के लिए इंस्टॉल करे मेरी सहेली आयुर्वेदिक होम रेमेडीज़ ऐप

Personal Problems: ट्रिपल टेस्ट क्या होता है? (What Is Triple Test?)

मैं 35 वर्षीया महिला हूं, पर अभी तक मां नहीं बन पाई हूं. कुछ समय पहले मैंने कंसीव किया था, पर ट्यूब में प्रेग्नेंसी होने के कारण तुरंत सर्जरी करवानी पड़ी थी. मुझे यह जानना है कि क्या इसके बाद मैं नेचुरली कंसीव कर पाऊंगी?
– राजेश्‍वरी पांडेय, पालमपुर.

महिलाओं में दो ट्यूब्स होती हैं, जिन्हें फैलोपियन ट्यूब्स कहते हैं. ये क़रीब 10 सेंटीमीटर लंबी होती हैं. ट्यूबरकुलोसिस (टीबी), प्रमेह, सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिसीज़ और अन्य यौन रोगों के कारण ट्यूब्स में इंफेक्शन हो सकता है या वो पूरी तरह ख़राब भी हो सकती हैं. जैसा कि आपने बताया कि आपकी इमर्जेंसी में सर्जरी की गई थी, दरअसल उसमें आपकी डैमेज्ड ट्यूब निकाल दी गई होगी. सबसे पहले आपकी दूसरी ट्यूब को चेक करना होगा कि उसमें कोई इंफेक्शन तो नहीं, क्योंकि अगर आपकी एक ट्यूब भी सही-सलामत है, तो आपके नेचुरली कंसीव करने के अभी भी 50% चांसेस हैं. इस बारे में अधिक जानकारी के लिए किसी फर्टिलिटी एक्सपर्ट से मिलें.

यह भी पढ़ें: क्या विटामिन डी3 लेवल चेक कराने की ज़रूरत है? (Do You Need To Go For A Vitamin D3 Test?)

Triple Test

मैं 36 वर्षीया महिला हूं और मेरी पहली प्रेग्नेंसी को 2 महीने हो गए हैं. सोनोग्राफी के बाद डॉक्टर ने सब नॉर्मल बताया, पर चौथे महीने में ट्रिपल टेस्ट कराने की सलाह भी दी है. यह टेस्ट किसलिए है?
– चेतना पटवा, आगरा.

यह प्रेग्नेंसी की दूसरी तिमाही में किया जानेवाला एक ब्लड टेस्ट है. दरअसल, आपकी उम्र 35 साल से ज़्यादा है और इस उम्र के बाद प्रेग्नेंसी में कुछ असामान्यताएं आ सकती हैं, इसलिए डॉक्टर ने आपको यह टेस्ट कराने की सलाह दी है. ट्रिपल टेस्ट के ज़रिए यह जानने की कोशिश की जाती है कि कहीं गर्भवती मां को कोई क्रोमोज़ोमल असामान्यताएं या फिर न्युरल ट्यूब डिफेक्ट्स की संभावना तो नहीं. आमतौर पर इस टेस्ट के साथ अल्ट्रासाउंड भी किया जाता है. अगर किसी तरह की असामान्यता पाई गई और टेस्ट पॉज़ीटिव आया तो,  आपको एक और टेस्ट कराने की सलाह दी जा सकती है.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: मेनोपॉज़ के क्या लक्षण होते हैं? (What Are The Signs And Symptoms Of Menopause?)

Dr. Rajshree Kumar

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: क्या पीरियड्स में सेक्स करने से प्रेग्नेंसी हो सकती है? (Can You Pregnant During Your Periods?)

मेरी एक सहेली ने पीरियड्स के पहले दिन सेक्स किया था, जिसके बाद दूसरे दिन से उसे ब्लीडिंग हुई ही नहीं. पीरियड्स न होने की वजह से वो काफ़ी परेशान है. कहीं वो प्रेग्नेंट तो नहीं?
–  मोहिनी राणा, इलाहाबाद.

अगर पीरियड्स के दौरान ब्लीडिंग फ्लो सही था, तो प्रेगनेंसी के बहुत काम चान्सेस हैं. आपके इस तरह के ब्लड फ्लो का कारण हार्मोन्स का असंतुलन हो सकता है. फिर भी निश्चिन्त होने के लिए यूरिन प्रेग्नेंसी टेस्ट करा लें. या फिर आप अगले पीरियड्स तक इंतज़ार करें, अगर तब भी ब्लीडिंग इस बार की तरह हो तो समझ जाएं की यह नॉर्मल है. प्रेगनेंसी स्टेटस की सही जानकारी के लिए आप बीटा एचसीजी ब्लड टेस्ट भी करा सकती हैं.

यह भी पढ़ें: पीएमएस के दौरान बहुत ज़्यादा चिड़चिड़ापन महसूस होता है (I Feel Very Frustrated During PMS)

Pregnant in Periods

 

मेरी एक समस्या है कि सेक्स के बाद अक्सर मेरा जी मिचलाने लगता है. सेक्स के बाद उल्टी जैसा फील होना क्या नॉर्मल है?
– सानिका मोरे, पुणे.

ये बेहद ही सामान्य बात है. हार्मोनल बदलाव की वजह से सेक्स से पहले और बाद में इस तरह की समस्या होती है. सेक्सुअल ऐक्टिविटी शुरू करने से पहले पानी पीना अवॉइड करें. सेक्सु्अल ऐक्टिविटी के बाद अपने गुप्तागों को क्लीन करें. रूम का तापमान कम रखें, इन चीज़ों को करने से आपको काफ़ी मदद मिलेगी. आप चिंता न करें, क्योंकि ये चिंता वाली बात ही नहीं है.

 

यह भी पढ़ें:  पीरियड्स देरी से आने के क्या कारण हो सकते हैं? (What Could Be The Reasons For Delayed Periods?)

Dr. Rajshree Kumar

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

Personal Problems: कंसीव न कर पाने के क्या कारण हो सकते हैं? (What Could Be Possible Reasons For Non Conception?)

मैं 26 वर्षीया महिला हूं. ढाई साल पहले मेरी शादी हुई थी, पर अभी तक मैं कंसीव नहीं कर पाई हूं. मुझे इसके लिए क्या करना होगा?
– शीतल पटेल, सूरत.

अगर गर्भधारण के लिए ट्राई करते हुए आपको 12 महीने से ज़्यादा का समय हो गया है, तो आपको इसके लिए किसी एक्सपर्ट डॉक्टर, जैसे- गायनाकोलॉजिस्ट या फर्टिलिटी एक्सपर्ट को मिलना होगा. वो कुछ टेस्ट्स करके चेक करेंगे कि आपके केस में सबकुछ ठीक है या नहीं. कंसेप्शन के लिए कुछ बातें ज़रूरी हैं, जैसे- हर महीने महिला के ओवरीज़ से एग का रिलीज़ होना, एग फैलोपियन ट्यूब्स से होकर यूटरस में पहुंचे और इस दौरान एग पुरुष के स्पर्म से फर्टिलाइज़ हो और फिर फर्टिलाइज़्ड एग यूटरस में प्लांट हो. इस पूरी प्रक्रिया में आपके एग्स और ओव्यूलेशन काफ़ी मायने रखता है, इसलिए डॉक्टर टेस्ट के ज़रिए आपके ओवेरियन रिज़र्व को चेक करेंगी. आप चाहें, तो किसी फर्टिलिटी एक्सपर्ट से भी मिल सकती हैं.

यह भी पढ़ें: क्या इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव्स के साइड इफेक्ट्स होते हैं? (Does Emergency Contraceptives Have Any Side Effects?)

 

urine infection
मैं 32 वर्षीया महिला हूं. कैसे कहूं, समझ में नहीं आ रहा, पर मुझे बार-बार यूरिन इंफेक्शन की समस्या हो जाती है. मैं क्या करूं, कृपया बताएं.
– उमा पांडे, कानपुर.

जर्म्स और बैक्टीरिया के कारण क्रॉनिक यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन होता है, पर ई-कोली बैक्टीरिया इसका मुख्य कारण हो सकता है. बार-बार यूरिन पास करने की इच्छा होना, यूरिन में ब्लड आना, ब्लैडर एरिया में दर्द और लोअर बैक में दर्द होना इसके लक्षण हैं. अगर यूरिन इंफेक्शन आपकी किडनी तक पहुंच जाए, तो बुख़ार, उल्टी आना, चक्कर आना और थकान जैसे लक्षण दिखाई देते हैं. कुछ बैक्टीरिया यूरिन के ज़रिए बड़ी तेज़ी से बढ़ते हैं. सेक्सुअल एक्टिविटी के कारण भी महिलाएं इसकी शिकार हो सकती हैं. कम पानी पीना और अनहाइजीनिक पब्लिक टॉयलेट का इस्तेमाल भी आपको यह इंफेक्शन दे सकता है, इसलिए सावधान रहें. ख़ूब पानी पीएं, ताकि जर्म्स शरीर से फ्लश आउट हो जाएं. किसी गायनाकोलॉजिस्ट से मिलें.

यह भी पढ़ें:  पीरियड्स देरी से आने के क्या कारण हो सकते हैं? (What Could Be The Reasons For Delayed Periods?)

Dr. Rajshree Kumar

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

गर्भपात रोकने के 5 चमत्कारी घरेलू उपाय (How To Prevent Miscarriage Naturally- Top 5 Home Remedies)

गर्भपात रोकने के 5 चमत्कारी घरेलू उपाय आपको मां बनने का सुख देते हैं. गर्भपात के कारण कई महिलाएं मां नहीं बन पातीं और उनका मां बनने का सपना अधूरा रह जाता है. गर्भपात के कारण महिलाओं को शारीरिक-मानसिक कष्ट से गुज़रना पड़ता है, इससे बचने के लिए हम आपको बता रहे हैं गर्भपात रोकने के 5 चमत्कारी घरेलू उपाय.

Home Remedies

1) हरी दूब के पंचांग (जड़, तना, पत्ती, फूल, फल) को पीसकर, उसमें मिश्री व दूध मिलाकर 150-200 ग्राम शरबत के रूप में सुबह-शाम पीने से गर्भपात नहीं होता.
2) गाय का ठंडा किया हुआ दूध व जेठीमधु का काढ़ा बनाकर पिलाएं. साथ-साथ इसी काढ़े को नाभि के नीचे के भाग पर लगाएं. इससे गर्भस्राव की संभावना कम हो जाती है.
3) अशोक की छाल का क्वाथ बनाकर कुछ दिनों तक सुबह-शाम पिलाने से गर्भवती स्त्री के गर्भस्राव की संभावना नहीं रहती.
4) एक पके केले को मथकर, उसमें शहद मिलाकर गर्भवती को खिलाएं. ऐसा करके गर्भपात की संभावना को रोका जा सकता है.
5) पीपल और बड़ी कंटकारी की जड़ पीसकर भैंस के दूध के साथ कुछ दिनों तक लेने से भी गर्भपात नहीं होता.

यह भी पढ़ें: स्तनों (Breast) को बड़ा और सुडौल बनाने 5 अचूक घरेलू उपाय (Breast Enhancement: 5 Home Remedies To Increase Breast Size)

 

गर्भपात रोकने के लिए ये नुस्ख़े भी हैं बहुत काम के

* वंशलोचन, मिश्री, नागकेशर को लेकर बारीक चूर्ण कर लें. इसे 2 ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम गाय के दूध के साथ खाने से लाभ होता है.
* मूली के बीजों का कपड़छन बारीक चूर्ण और भीमसेनी कपूर को गुलाब के अर्क में मिलाकर गर्भ ठहरने के बाद योनि में कुछ दिनोें तक मलने से बहुत लाभ होता है. अगर किसी स्त्री को बार-बार गर्भस्राव होता है तो उसके लिए यह प्रयोग बहुत ही फ़ायदेमंद है.

गर्भपात रोकने के 5 चमत्कारी घरेलू उपाय जानने के लिए देखें वीडियो:

 

Personal Problems: पैप स्मियर टेस्ट क्यों किया जाता है? (What Do They Check For In A Pap Smear Test?)

पैप स्मियर टेस्ट, Pap Smear Test
मैं 33 वर्षीया कामकाजी महिला हूं और मेरी 7 महीने की एक बच्ची है. कुछ दिनों पहले ही मुझे पता चला कि प्रेग्नेंसी के दौरान अगर मां को थायरॉइड हो, तो वो बच्चे को भी हो सकता है. हालांकि प्रेग्नेंसी के दौरान दवाई लेने के कारण मेरा थायरॉइड नॉर्मल था, पर क्या इसकी संभावना है? कृपया, मेरा मार्गदर्शन करें.
– सरोजनी भारद्वाज, पटना.

सबसे पहले तो आपको डरने की कोई ज़रूरत नहीं है, क्योंकि प्रेग्नेंसी में थायरॉइड की शिकायत होना कोई बड़ी बात नहीं. यह किसी तरह का इंफेक्शन नहीं है, जो मां से बच्चे को हो जाएगा. थायरॉइड डिसफंक्शन प्रेग्नेंसी के दौरान भी हो सकता है, पर ज़्यादातर मामलों में डिलीवरी के 6 हफ़्तों के भीतर ही इसका समाधान कर दिया जाता है. इसलिए ज़रूरी है कि आप डिलीवरी के बाद थायरॉइड का लेवल चेक करते रहें. अगर मां को थायरॉइड डिसफंक्शन है, तो इसका यह बिल्कुल मतलब नहीं कि भविष्य में यह बच्चे को हो सकता है. आमतौर पर डिलीवरी के बाद नियोनैटोलॉजिस्ट बच्चे के थायरॉइड हार्मोंस लेवल चेक करते हैं, ताकि किसी भी तरह की असामान्यता को तुरंत ठीक किया जा सके.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

पैप स्मियर टेस्ट, Pap Smear Test

 

मैं 26 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं. हाल ही में मैंने पैप स्मियर टेस्ट के बारे में सुना. यह क्या है और क्यों किया जाता है?
– वृंदा नलावडे, नागपुर.

पैप स्मियर एक स्क्रीनिंग टेस्ट है, जो सर्वाइकल कैंसर की शुरुआती जांच के लिए किया जाता है. वैसे हर शादीशुदा महिला को यह टेस्ट साल में एक बार और लगातार तीन सालों तक ज़रूर कराना चाहिए. अगर तीनों सालों की रिपोर्ट निगेटिव आती है, तो फिर हर तीन साल में एक बार यह टेस्ट कराना चाहिए. इस टेस्ट का मुख्य उद्देश्य सर्विक्स के सेल्स में होनेवाले बदलावों को देखकर कैंसर की संभावना को तुरंत ख़त्म करना है. दरअसल, शरीर के किसी भी हिस्से में कैंसर अचानक से नहीं हो जाता, बल्कि सालों पहले उसके लक्षण दिखाई देते हैं, इसलिए रेग्युलर चेकअप से कैंसर की किसी भी आशंका को दूर किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: क्या कंसीव करने की संभावना को जानने के लिए कोई टेस्ट है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: मिसकैरेज के बाद प्रेग्नेंसी के कितने चांसेज़ हैं? (What Are The Chances For Pregnancy After Miscarriage?)

Chances For Pregnancy After Miscarriage
मैं 40 वर्षीया कामकाजी महिला हूं. मैं यह जानना चाहती हूं कि मेरे लिए इस उम्र में कौन-से टेस्ट्स करवाने ज़रूरी हैं?
– महक वर्मा, जालंधर.

किसी भी हेल्थ प्रोफेशनल से आप अपना जनरल चेकअप करवा सकती हैं, जिसमें बीपी, पल्स रेट, चेस्ट व हार्ट की जांच के अलावा सिर से पैर तक की जांच की जाती है. इसके साथ ही पैप स्मियर टेस्ट व पेल्विक की जांच भी ज़रूर करवाएं. अगर कुछ डिटेक्ट हुआ, तो आपको सोनोग्राफी भी करानी पड़ सकती है. इसके अलावा साल में एक बार बेसिक एक्ज़ामिनेशन, जैसे- ब्लड टेस्ट, लिपिड प्रोफाइल, लीवर और किडनी प्रोफाइल, चेस्ट एक्स-रे और ईसीजी ज़रूर करवाएं. अगर आप फिट और हेल्दी हैं, फिर भी हर साल आंख और दांत की जांच ज़रूर करवाएं.

यह भी पढ़ें: क्या कंसीव करने की संभावना को जानने के लिए कोई टेस्ट है?

 

Chances For Pregnancy After Miscarriage

मैं 34 वर्षीया कामकाजी महिला हूं. 4 साल पहले मेरा मिसकैरेज हो गया था, जिसके बाद से अब तक मैं कंसीव नहीं कर पाई हूं. मेरी प्रेग्नेंसी के कितने चांसेज़ हैं? कृपया, मार्गदर्शन करें.

– राखी सक्सेना, नई दिल्ली.

35 साल की उम्र के बाद महिलाओं में फर्टिलिटी धीरे-धीरे घटने लगती है, जो 40 के बाद बहुत तेज़ी से घटती है. जैसा कि आपने बताया कि 4 साल पहले आपका मिसकैरेज हो चुका है, इसलिए सबसे पहले आपकी जांच करनी होगी. साथ ही आपके पति की फर्टिलिटी चेक करने के लिए उनका सिमेन एनालिसेस टेस्ट कराना होगा. अगर आपके पीरियड्स रेग्युलर हैं, तो इसका मतलब है कि आपकी ओवरीज़ सही तरी़के से काम कर रही हैं. ऐसे में ट्यूब्स की जांच करनी होगी. कई बार ओवरीज़ और ट्यूब्स नॉर्मल होते हैं, पर बार-बार हो रहे पेल्विक इंफेक्शन के कारण भी कंसीव करने में परेशानी होती है, जिसके लिए लैप्रोस्कोपिक जांच ज़रूरी है. बेहतर होगा कि आप अपने गायनाकोलॉजिस्ट को कंसल्ट कर लें.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

Personal Problems: क्या 35 के बाद मां बनना रिस्की है? (Does Pregnancy After 35 Has Risks?)

Pregnancy after age 35, second pregnancy after 35
मैं 35 साल की हूं. मेरी शादी देर से हुई है. मैं मां बनना चाहती हूं, लेकिन मैंने सुना है कि 35 के बाद मां बनना रिस्की होता है और बच्चे सुंदर, स्वस्थ होने की पूरी गारंटी नहीं होती. क्या ये सच है. मैं क्या करूं?

ये सच है कि 30 की उम्र के बाद मां बनना थोड़ा ख़तरनाक होता है. वैज्ञानिक शोधों से भी यह बात साबित हो चुकी है.  ऐसे में एबनॉर्मल बच्चे (जैसे अपंग या विकलांग बच्चे) होने की संभावना बढ़ जाती है. पर ये ज़रूरी नहीं कि एबनॉर्मल बच्चा ही पैदा हो. आप जेनेटिक काउंसलिंग करवा सकती हैं. वैसे बता दूं कि मां बनने की सही उम्र 30- 35 है.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

Pregnancy after age 35, second pregnancy after 35

 

मैं 20 साल की हूं. मेरी समस्या यह है कि अन्य लड़कियों की तुलना में मेरे स्तन बहुत छोटे हैं. मैंने कई ऐसे विज्ञापन पढ़े हैं, जो बिना किसी सर्जरी के स्तन का आकार बढ़ाने का दावा करते हैं. मेरी जल्दी ही शादी होनेवाली है. मैं उन इलाजों और उनके साइड इ़फेक्ट्स के बारे में जानना चाहती हूं.

ये सच है कि ब्रेस्ट एनलार्जमेंट के लिए आए दिन विज्ञापन प्रकाशित होते रहते हैं, लेकिन उनकी सच्चाई के बारे में कुछ भी कहना मुश्किल है. अगर आप चाहें तो एक्सरसाइज़ करके अपने स्तनों का आकार बढ़ा सकती हैं. इसके लिए आप जिम ज्वाइन कर सकती हैं और इंस्ट्रक्टर को अपना उद्ददेश्य बता दें. इसके अलावा आप गर्भनिरोधक गोलियों का इस्तेमाल भी कर सकती हैं. ये न सिर्फ़ स्तनों का आकार बढ़ाएंगी, बल्कि अनचाहे गर्भ से भी सुरक्षित रखेंगी. वैसे सबसे अच्छा तरीका है-ब्रेस्ट इम्प्लांट, जिसमें 40,000 से 80,000 रुपए ख़र्च आता है. वैसे मेरा मानना है कि ये सब दिमागी फ़ितूर है. अगर आप अपने शरीर के बारे में पॉज़िटिव सोच रखें तो ब्रेस्ट का साइज़ कोई मायने नहीं रखता.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies