president

Bhutan's Royal Baby in india with narendra modi

भूटान के क्यूट प्रिंस बन गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के भी दुलारे! (Bhutan’s Royal Baby Steals The Show)

भारत के दौरे पर इन दिनों आए हुए हैं भूटान नरेश जग्मे खेसर नामग्याल (jigme khesar namgyel wangchuck). भूटान का यह शाही परिवार मंगलवार को दिल्ली पहुंचा. भारत में उनका भव्य स्वागत हुआ और दोनों देशों के बीच कई विषयों को लेकर गंभीर चर्चा भी हुई. लेकिन इन सबके बीच सबसे अधिक सुर्ख़ियां बटोरीं भूटान के क्यूट से नन्हे प्रिंस ने. जी हां, भूटान नरेश अपने छोटे नरेश जिग्मे नामग्याल और पत्नी के साथ भारत के दौरे पर हैं और इस दौरे में उनके क्यूट प्रिंस ही सारी लाइमलाइट चुरा रहे हैं. उनकी पिक्चर्स इंटरनेट पर वायरल हो चुकी हैं और सबको लुभा रही हैं.

Bhutan's Royal Baby in india with narendra modi
इस नन्हे प्रिंस को देखकर सारी गंभीर चर्चाएं एक तरफ़ रह गईं और सबका ध्यान बस उन्हीं पर आकर टिक गया. उनकी क्यूट हरक़तों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) तक को बहुत इंप्रेस किया. छोटे प्रिंस अपने पापा और मम्मी के साथ जहां भी गए, वहां उन्होंने अपनी मासूम शरारतों से सबको अपनी तरफ आकर्षित कर लिया.

Bhutan's Royal Baby in india with narendra modi
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रिंस के साथ बात करते और खेलते नज़र आए, उन्होंने प्रिंस को तोहफे दिए जिसमें फुटबॉल और चेस है.
शाही परिवार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भी मिला, वहां भी प्रिंस को देखकर राष्ट्रपति और उनकी पत्नी बेहद ख़ुश हुए.
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी भूटान नरेश से मुलाक़ात की और वो भी छोटे-से प्रिंस से लाड़ लड़ाती नज़र आईं.

आप भी देखिए उनकी वायरेल पिक्चर्स.

Bhutan's Royal Baby in india with narendra modi

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज छोटे प्रिंस से लाड़ लड़ाती हुईं 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ क्यूट प्रिंस 

यह भी पढ़ें: तैमूर अली खान की पहली बर्थडे पार्टी होगी कुछ ऐसी, करिश्मा ने बताए बर्थडे प्लान्स! 

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं! (Happy birthday Pranab mukherjee)

Pranab mukherjee

  • भारत के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (pranab mukherjee) का जन्म 11 दिसंबर 1935 को पश्‍चिम बंगाल में हुआ था.
  • वे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रह चुके हैं और फिलहाल वे देश के राष्ट्रपति हैं.
  • 25 जुलाई 2012 को उन्होंने भारत के तेरहवें राष्ट्रपति के रूप में पद व गोपनीयता की शपथ ली थी.
  • उनका संसदीय करियर लगभग 5 दशक पुराना है और वे भारत के वित्त मंत्री भी रह चुके हैं.
  • इसके अलावा उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी देश की ओर से महत्वपूर्ण भूमिका निभाई हैै.
  • उनके ज्ञान, अनुभव व परिपक्वता के सभी लोग कायल हैं और सभी उनका हृदय से सम्मान भी करते हैं.
  • उनके जन्मदिन के अवसर पर उन्हें शुभकामनाएं!
  • 9 नवंबर 2016 एक ऐतिहासिक दिन बन गया है, क्योंकि अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों ने सबको चौंका दिया है.
  • डोनाल्ड ट्रंप की जीत ने उन सबका सपना तोड़ दिया है, जो एक महिला को अपना अगला राष्ट्रपति बनता देखना चाहते थे.
  • सबकी फेवरेट मानी जा रही हिलेरी की हार से सचमुच न स़िर्फ अमेरिका, बल्कि समूचा विश्‍व हिल गया है.
  • यदि हिलेरी जीत जातीं, तो वे भी एक इतिहास बनातीं. ख़ैर अब जो हो गया, सो हो गया, लेकिन लोग अब भी निराश नहीं हुए हैं, क्योंकि वे चाहते हैं कि अगले राष्ट्रपति चुनाव में मिशेल ओबामा अपना दावा ठोकें, ताकि अमेरिका को एक महिला राष्ट्रपति मिल सके.
  • यही नहीं, इंटरनेट और सोशल मीडिया पर लोगों ने अपनी इस पसंद को इतनी शिद्दत से रखा कि ट्रंप के जीतने के फ़ौरन बाद से ही हैशटैग-  #Michelle2020 और #YesSheCan ट्रेंड होना शुरू हो गया.

Obama

  • ऐसे में मिशेल अभी से ही अगले चुनाव की एक स्ट्रॉन्ग दावेदार के रूप में काफ़ी पॉप्युलर हो चुकी हैं.
  • वैसे भी हिलेरी के चुनाव प्रचार के समय भी मिशेल को सबने हाथोंहाथ लिया था और अगर लोगों की पसंद की बात करें, तो अब तो यह पूरी तरह से साफ़ हो चुका है कि अगले चुनाव में ट्रंप को सीधी टक्कर मिशेल से ही मिलनेवाली है.
  • आप सीधे-सीधे ट्विटर की प्रतिक्रियाएं भी देख सकते हैं कि किस तरह से लोग अभी से मिशेल ओबामा में 2020 का अपना अगला राष्ट्रपति ढूंढ़ चुके हैं.

https://twitter.com/chiara_busolo/status/796415230821728256

– गीता शर्मा 

Untitled-1
* जी हां, भारतीय ज्योतिषाचार्य राजेंद्र दुबे की ज्योतिष गणना के अनुसार, हिलेरी क्लिटंन ही अमेरिका की राष्ट्रपति बनेंगी.
* अमेरिका में हो रहे राष्ट्रपति चुनाव को ज्योतिष गणना के नज़रिए से देखें, तो हिलेरी क्लिटंन और डोनाल्ड ट्रंप के बीच राष्ट्रपति मुक़ाबले में हिलेरी के तृतीय स्थान पर गुरु का भ्रमण है, जो कि नवम स्थान पर दृष्टि करता है, जिससे भाग्य में वृद्धि होती है. इसलिए हिलेरी के चुनाव में जिताने का कार्य देव गुरु बृहस्पति करेंगे.
* इसके अलावा मिथुन लग्न से चतुर्थ गुरु की दृष्टि दशम पर होने के कारण हिलेरी का चुनाव जितना संभव हो जाता है.
* इस प्रकार हिलेरी क्लिटंन ही अमेरिका की राष्ट्रपति बनेंगी और डोनाल्ड ट्रंप की हार निश्‍चित होती है.
* इसमें कोई दो राय नहीं कि अमेरिका की राजनीति में एक नए अध्याय की शुरुआत होगी.

– ऊषा गुप्ता