radish

Health Benefits of Radish

आमतौर पर हर घर में सलाद और सब्ज़ी के रूप में खाई जाने वाली मूली (Health Benefits of Radish)  सेहत के लिए किसी वरदान से कम नहीं है. मूली खाने न स़िर्फ हेयर फॉल की समस्या ख़त्म हो जाती है, बल्कि ये नर्वस सिस्टम को भी मज़बूत करती है. मूली खाने के और क्या फ़ायदे हैं? आइए, जानते हैं.

 

कैंसर रिस्क
मूली में फॉलिक एसिड, विटामिन सी और एंथोकाइनिन की भरपूर मात्रा होती है, जो कैंसर के रिस्क को कम करते हैं. वहीं इसमें मौजूद विटामिन सी एंटीऑक्सिडेंट की तरह काम करता है.

ब्लड प्रेशर
मूली में मौजूद कुछ पोषक तत्व हाई ब्लडप्रेशर को कंट्रोल करने में भी मदद करते हैं. इसमें पर्याप्त मात्रा में पोटैशियम भी होता है जो शरीर में सोडियम-पोटैशियम के अनुपात को बैलेंस करते हुए ब्लड प्रेशर बिगड़ने नहीं देता.

डायबिटीज़
मूली में फाइबर भी होता है. वहीं इसमें मौजूद तत्व इंसुलिन को नियंत्रित करने का काम करते हैं. मूली से शुगर लेवल कंट्रोल रहता है.

सर्दी-खांसी
यदि आप हमेशा सर्दी-खांसी से परेशान रहते हैं, तो अपनी डेली डायट में मूली शामिल करें. मूली में मौजूद कुछ खास पोषक तत्व कफ ख़त्म करने में सहायक होते हैं.

मज़बूत हड्डियां
मूली खाने से दांत, मंसूड़े मजबूत होते हैं, ये हड्डियों को भी मज़बूत बनाने में सहायक है. मूली खाने से थकान दूर होती है और नींद न आने की समस्या भी ख़त्म हो जाती है.

पीलिया
पीलिया (जॉन्डिस) की समस्या होने पर रोज़ाना एक कच्ची मूली सुबह-सुबह खाना फ़ायदेमंद होता है. इसके अलावा मूली खाने से मोटापा भी दूर होता है. फैट घटाने के लिए मूली के रस में नींबू का रस मिलाकर रोज़ाना पीएं.

पायरिया
पायरिया से परेशान लोग मूली के रस से दिन में 2-3 बार कुल्ला करें और इसका रस पिएं भीं, जल्द फ़ायदा होगा. इसके साथ ही मूली को चबा-चबा कर खाने से भी दांत व मसूड़ों की बीमारी से बचा जा सकता है.

मुंहासे
मूली में विटामिन सी, जिंक, बी कांप्लेक्स विटामिन और फॉस्फोरस होता है. इसके पत्ते को पीसकर चेहरे, हाथों और पैरों पर लगाने से त्वचा मुलायम बनती है. मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए मूली का टुकड़ा गोल काटकर मुंहासों पर लगाएं. थोड़ी देर बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें.

कब्ज़
कब्ज़ से परेशान हैं तो मूली पर नींबू व नमक लगा कर सुबह-सुबह खाएं, फ़ायदा होगा. मूली को सलाद के रूप में खाना भी लाभदायक होता है. सुबह-शाम मूली का रस पीने से भी कब्ज़ में फ़ायदा होता है.

हीमोग्लोबिन
मूली के रस में बराबर मात्रा अनार का रस मिलाकर पीने से हीमोग्लोबिन बढ़ता है.

 

– कंचन सिंह