reaction

मंदिर बेदी के पति और इंडस्ट्री के जानेमाने डायरेक्टर व प्रोड्यूसर राज कौशल की आकस्मिक मौत से सभी बेहद दुखी हैं और अपने अपने तरीक़े से उन्हें याद कर श्रद्धांजलि भी दे रहे हैं लेकिन इसी बीच एक्ट्रेस महिमा चौधरी का एक वीडीयो तेज़ी से वायरल हुआ जिसमें मीडिया ने पहले तो उनकी व उनके बच्चों की पिक्स क्लिक की और उसके बाद उनसे मंदिर के पति की मौत पर रिएक्शन मांगा, क्योंकि राज महिमा के भी काफ़ी अच्छे दोस्त थे, लेकिन महिमा ने जिस अंदाज़ में अपनी बात कही उससे लोग ख़ासे नाराज़ दिखे. इस वीडीयो को देख लोग उनको ट्रोल करने लगे. लोगों का कहना है कि महिमा ऐसे हंसते हुए रिएक्शन दे रही है जिससे उनकी असंवेदनशीलता का पता चलता है.

Mahima Chaudhary

महिमा ने मीडिया को बताया कि किस तरह राज कौशल मोटरसाइकल पर घूमा करते थे और महिमा ने अपने मोबाइल में राज के बचपन की एक पुरानी तस्वीर भी दिखाई. महिमा अपने तरीक़े से राज को याद कर रही थीं पर लोगों को उनका तरीक़ा पसंद नहीं आया!

महिमा ने कहा कि लॉकडाउन के बाद वो खुद जाएंगी मंदिरा से मिलने. ये बेहद दुखद है उनके दो छोटे बच्चे हैं. लेकिन लोगों का ध्यान महिमा की मुस्कुराहट पर जा रहा था कि ये अफ़सोस मनाने का कौन सा तरीक़ा है.

Mahima Chaudhary

इतना ही नाहीं इस बीच कई लोगों का ध्यान महिमा की बेटी की क्यूटनेस ने भी खींचा. लोग कहने लगे कि उनकी बेटी बेहद प्यारी है…

Mahima Chaudhary

हालाँकि कुछ लोग ये भी कह रहे हैं कि अपने दोस्त की अच्छी यादें याद करते समय चेहरे पे मुस्कान अपने आप आ जाती है, लोग बेवजह जज करने लगते हैं.

Raj Kaushals
Mahima Chaudhary

Photo/video Courtesy: Instagram (All Photos)/viralbhayani

यह भी पढ़ें: तीसरी बार मम्मी बनी लीज़ा हेडन, घर आई नन्ही परी, बेहद ख़ास अंदाज़ में दी ये गुड न्यूज़! (Good News! Lisa Haydon Blessed With A Baby Girl)

om-puri_650x400_81483675330 (1)

बॉलीवुड के बेहतरीन अभिनेता ओम पुरी नहीं रहे. उनके यूं अचानक चले जाने से हर कोई दुखी और सकते में है. जब शुक्रवार की सुबह ये ख़बर आई, तो पहले कई लोगों को यक़ीन ही नहीं हुआ.

बॉलीवुड से हॉलीवुड तक अपने अभिनय का लोहा मनवा चुके ओम पुरी का नाम बेहतरीन ऐक्टर्स में शुमार था. आम से चेहरे वाले ओम पुरी ने अपनी दमदार आवाज़ और ऐक्टिंग के बल पर बॉलीवुड में अपनी अलग जगह बनाई. अर्धसत्य, आक्रोश, जाने भी दो यारों और पार जैसी फिल्मों से अपने अभिनय का लोहा मनवाने वाले ओम पुरी को भुला पाना किसी के लिए संभव नहीं है. उनके निधन पर बॉलीवुड ने अपना दुख टि्वटर पर जताया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनके निधन पर संवेदना प्रकट की है.

ओम पुरी के क़रीबी दोस्त अनुपम खेर ने कहा, “उन्हें बेड पर इस तरह शांत लेटे देखकर इस बात पर विश्वास करना मुश्किल है कि ओम पुरी अब हमारे बीच नहीं रहे. बहुत गहराई तक शोक और सदमे में हूं.”

एक और ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा, ”मैं ओम पुरी को पिछले 43 साल से जानता हूं. मेरे लिए वो हमेशा एक महान अभिनेता, दयालु और दरियादिल इंसान रहेंगे और इसी तरह दुनिया उन्हें याद करेगी.”

ओम पुरी के साथ काम कर चुकीं प्रियंका चोपड़ा ने कहा, ”एक युग का अंत…धरोहर हमेशा ज़िंदा रहेगी.”

बोमन ईरानी ने भी दुख जताते हुए लिखा, “हमने एक बेहतरीन अभिनता खो दिया है. जो एक टैलेंट, एक आवाज, एक उत्साह था. हम आपको बहुत मिस करेंगे पुरी साहब.”

वीरेंद्र सहवाग ने भी टि्वटर पर अपनी संवेदना व्यक्त की.

कमल हासन ने लिखा, ”सो लॉन्ग ओमजी. आपका दोस्त, प्रशंसक और सहकर्मी होने पर मुझे गर्व है. किसने हिम्मत की कहने की कि वो नहीं रहे? वो अपने काम के ज़रिए हमेशा रहेंगे.”

अक्षय कुमार ने भी कई फिल्मों में ओम पुरी के साथ काम किया था, उन्होंने टि्वटर पर लिखा, ”प्रतिभाशाली ऐक्टर ओम पुरी के निधन की ख़बर सुनकर दुख हुआ, कई फिल्मों में वो मेरे को-ऐक्टर रह चुके हैं… उनके परिवार के लिए दिल से संवेदनाएं व्यक्त करता हूं. रेस्ट इऩ पीस.”

ओम पुरी के दोस्त महेश भट्ट भी बेहद दुखी हैं, उन्होंने लिखा, ”गुडबाय ओम! मेरा एक हिस्सा तुम्हारे साथ चला गया. मैं कैसे वो रातें भूल सकता हूं, जो हमने सिनेमा और लाइफ की बातें करते गुज़ारे थे.”

– प्रियंका सिंह

सिनेमा घरों में राष्ट्रगान को अनिवार्य किए जाने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर बॉलीवुड दो गुटों में बंट गया है. कुछ सेलेब्रिटीज़ इस फैसले से ख़ुश हैं और कुछ नाराज़. आइए जानते हैं किसने क्या कहा?

IMG_20161201_153952 (1)

शेखर कपूर ने टि्वटर पर कहा, ”उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट संसद में भी हर सदन से पहले राष्ट्रगान गाने का आदेश दे दे. आखिरकार वहां भी फिल्मों की तरह ड्रामा होता है.” 

राम गोपाल वर्मा ने भी टि्वटर पर इससे जुड़े कई सवाल पूछे हैं. उन्होंने लिखा है, ”सम्मान दिल से महसूस किया जाना चाहिए. अगर ज़बरदस्ती सम्मान करने के लिए कहा जाएगा तो ये और भी अपमानजनक होगा.”

राम गोपाल वर्मा ने ताना देते हुए कई सवाल किए कि नाइट क्लबों में ड्रिंकिंग और डांसिग शुरू होने से पहले राष्ट्रगान बजाने को अनिवार्य क्यों नहीं किया जाना चाहिए? मंदिरों, चर्च और मस्जिदों में प्रार्थना से पहले क्या राष्ट्रगान नहीं बजना चाहिए?

चेतन भगत भी कोर्ट के इस फैसले से काफ़ी नाराज़ नज़र आए. उनका टि्वटर पेज इसी विषय से भरा पड़ा है.

प्रकाश झा सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से काफ़ी ख़ुश नज़र आए. उन्होंने कहा, ”इस फैसले का पूरे दिल से स्वागत है…जय हो!”

परेश रावल ने भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया और इस फैसले का विरोध कर रहे लोगों पर निशाना साधते हुए कहा, ”जो इसका विरोध कर रहे हैं, मुझे लगता है कि उनमें बुद्धि कम है. वे हर चीज का विरोध करेंगे. यह एक अच्छा फैसला है.’’ संसद के बाहर परेश ने कहा, ” अगर हमारा राष्ट्रगान नहीं बजेगा तो किसका बजेगा, सोमालिया का?”

अशोक पंडित ने भी कोर्ट को सम्मान देते हुए इस फैसले का स्वागत किया है.

×