relationshio

शादी के कुछ समय बाद ही हम अपने रिश्ते को लेकर काफ़ी ढीला रवैया अपनाने लगते हैं, जिससे धीर-धीरे रिश्ता बोरिंग होने लगता है और हमारा अप्रोच काफ़ी कैज़ुअल. रिश्ते में से प्यार, स्पाइस और रोमांस ग़ायब सा होने लगता है, ऐसे में पता ही नहीं चलता कब रिश्ता हमसे दूर होकर छूटने लगता है, बेहतर होगा अपने रिश्ते को यहां तक पहुंचने ही न दिया जाए और उसको स्लो होने से बचाएं. यहां हम कुछ स्मार्ट तरीक़े बता रहे हैं जिससे आपका रिश्ता हमेशा बना रहेगा फ़्रेश और सुपर फ़ास्ट.

दोस्त बनें: शादी के बाद पति-पत्नी की बजाय दोस्तों की तरह सोचें और व्यवहार करें. अक्सर ऐसा होता है जो बातें हम पार्टनर से शेयर नहीं कर पाते वो दोस्तों से करते हैं, तो क्यों न आप ही एक-दूसरे के बेस्ट फ़्रेंड बन जाएं? शेयर और केयर करें और अपने पार्टनर का विश्वास जीत लें ताकि वो एक सच्चे दोस्त की तरह आपसे खुलकर हर बात करें.

लवर हैं आप: अपने रिश्ते को एक तरफ़ रख कर अपने अंदर के लवर को हमेशा जगाए रखें. डेट पर जाएं. सर्प्राइज़ दें, गिफ़्ट्स दें, कॉम्प्लिमेंट देने से न हिचकिचाएं. इससे आपका रिश्ता फ़्रेश रहेगा.

एडवेंचर एड करें: अपनी मैरिड लाइफ़ में थोड़ा स्पाइस लाने के लिए इसमें एडवेंचर का होना भी ज़रूरी है. आप एक एडवेंचरस ट्रिप प्लान कर सकते हैं, जैसे- आप दोनों एक-दूसरे से एकदम अनजान बन जाएं. एक पार्टनर घर से थोड़ा पहले निकलकर रास्ते में इंतज़ार करे और दूसरे पार्टनर की गाड़ी की देख लिफ़्ट मांगे, उसके बाद एकदम अजनबियों की तरह ऐसे बातें करें जैसे आपकी ये पहली मुलाक़ात है. फिर एक होटेल में अलग-अलग रुकें, एक-दूसरे की पसंद-नापसंद पूछें, बातें करें… इससे पार्टनर की ऐसी कई दिलचस्प बातों के बारे में आपको पता चलेगा जिससे अब तक आप दोनों अनजान थे.

लव गेम्स खेलें: कुछ फन वाले लव गेम्स खेलें, जैसे- एक-दूसरे की आंखों में बिना पलकें झपकाए देखें, कौन पहले पलक झपकता है वो आउट होगा… अडल्ट सवाल-जवाब वाला क्विज़ खेलें… दोनों ये बेट लगाएं कि कौन बेटर किसर है और फिर एक-दूसरे को किस करें… ट्रूथ ऑर डेयर भी खेल सकते हैं… एक-दूसरे की वाइल्ड और वियर्ड फैंटसीज़ के बारे में पूछें… आप नेट पर भी सर्च कर सकते हैं गेम्स के बारे में.

अपनी सेक्स लाइफ़ में मसाला ऐड करें: बोरिंग सेक्स लाइफ़ में मसाला लाएं. न्यू सेक्स पोज़ीशन ही नहीं बल्कि न्यू प्लेसेज़ पर भी सेक्स ट्राई करें. अडल्ट मूवी साथ देखें. रूम और खुद को तैयार करें और रोमांटिक बनाएं, डर्टी टॉक्स करें. अपनी बॉडी को लेकर कॉन्शियस न हों बल्कि कॉन्फ़िडेन्स के साथ प्यार करें.

माना तो यही जाता है कि रिश्तों की गर्मी बनी रहनी चाहिए तभी वो ऊर्जावान रहते हैं, लेकिन अक्सर होता ये है कि वक़्तऔर बदलते हालात रिश्तों को ठंडा कर देते हैं और हमारे मिज़ाज को गर्म… यही गर्म मिज़ाज रिश्तों को और ठंडा करतेजाते हैं… पर ऐसा होता क्यों है और कैसे अपने ठंडे  पड़ते रिश्तों को अपने गर्म मिज़ाज को ठंडा रखकर बचाया जासकता, इस पर काम करना ज़रूरी है… 

सबसे पहले तो ये समझना होगा और उन संकेतों को पहचानना होगा जिनसे पता चले कि आपके रिश्ते सर्द पड़ रहे हैं? 

  • क्या अब आप लोगों में कम्यूनिकेशन कम होता है? आपका शायद ध्यान ही न गया हो इस तरफ़ लेकिन एक दिनबैठकर फुर्सत से सोचें और लिस्ट बनाएं कि पहले के मुक़ाबले अब क्या-क्या बदला है…
  • एक-दूसरे की परवाह तो है पर फिर भी एक-दूजे के प्रति बेपरवाह से हो गए हैं.
  • न पहले की तरह तारीफ़ें होती हैं और न प्यारभरी बातें…
  • सेक्स लाइफ़ में भी अब पहले जैसा आकर्षण और रोमांस नहीं रहा… 

ये तो थी पति-पत्नी के बीच की बातें लेकिन ये ठंडापन इन दिनों हर रिश्ते में पनप रहा है… 

  • भाई-बहन में अब पहले जैसा अपनापन नहीं रहा.
  • माता-पिता के साथ कोई रहना नहीं चाहता क्योंकि अब वो बूढ़े हो चले हैं.
  • किसी के पास फुर्सत नहीं कि घर के बुज़ुर्गों के पास आकर दो पल बैठे और उनका हाल-चाल पूछे. 
  • दूर के रिश्तेदार हों या करीबी भी फ़ोन पर भी बात करने का समय नहीं निकाल पाते लोग. न पोते-पोतियों को अपनेदादा-दादी से बात करने में दिलचस्पी है, न भतीजा-भतीजी को अपने बुआ का हाल चाल पूछने की ज़रूरत महसूसहोती.
  • इस तरह के तमाम उदाहरण हमें रोज़ देखने-सुनने को मिल जाते हैं. 

अब सवाल ये है कि आख़िर रिश्ते सर्द क्यों पड़ रहे हैं…?

  • स्वार्थ अपनेपन पर हावी हो गया है.
  • प्यार की जगह पैसों ने ले ली है.
  • सबके साथ बैठकर फुर्सत के पल गुज़ारने से कहीं ज़्यादा ज़रूरी ऑफ़िस की डेडलाइंस हो गई हैं.
  • सेक्स महज़ मशीनी प्रक्रिया और जिस्म की ज़रूरत बनकर रह गया. 
  • पार्टनर की भावनाओं को समझने से ज़्यादा ज़रूरी अब कामयाबी हो गई है… 
  • बूढ़ी दादी की बात सुनना तो वेस्ट ऑफ़ टाइम है, समय से दोस्तों की पार्टी में पहुंचना ज़्यादा ज़रूरी है.
  • पिता को दवा तो मां भी दिलाकर ला सकती है, बहूरानी के लिए मॉल की वीकेंड सेल ज़्यादा मायने रखती है.
  • लेकिन क्यों हमारा नज़रिया रिश्तों के प्रति बदल गया या यूं कहें कि इतना कठोर हो गया?  इसकी एक बड़ी वजह हैहमारा मिज़ाज… जो अब बदल गया है… गर्म हो गया है…

क्यों गर्म हो रहे हैं हमारे मिज़ाज?

  • हम अब एडजेस्टमेंट नहीं करना चाहते अब, क्योंकि हम आज़ादपसंद हो गए हैं.
  • हमारी लाइफ़स्टाइल बदल चुकी है, जीने के तौर-तरीक़े बदल गए हैं.
  • ऐसे में ज़रा सी टोका-टोकी या किसी ने ये भी पूछ लिया कि कहां जा रहे हो… या आज आने में देर कैसे हो गई… हमें बर्दाश्त नहीं होतीं… हमें फ़ौरन ग़ुस्सा आ जाता है.
  • हमारा गर्म मिज़ाज हमको ये सोचने का तर्क ही नहीं दे पाता कि हमारे अपनों को हमारी फ़िक्र है, परवाह है, इसलिएवो फ़िक्रमंद रहते हैं और सवाल करते हैं.
  • काम का स्ट्रेस, आगे बढ़ने की होड़ और इस फ़ास्ट लाइफ़स्टाइल ने हमारे मिज़ाज को और भी गर्म बना दिया औरहमारे रिश्तों को सर्द.
  • काम का प्रेशर, शौहरत और पैसा कमाने का प्रेशर, यंग और फिट दिखने का प्रेशर, लक्ज़री लाइफ़ जीने का प्रेशर, महंगी गाड़ी से लेकर ब्रांडेड कपड़े पहनने का प्रेशर… ये तमाम ख्वाहिशें अब हमारी ज़रूरतें बन चुकी हैं और इनकोपूरा करने में जब हम पूरी तरह कामयाब नहीं हो पाते तब भी मिज़ाज गर्म रहने लगता है. 
  • और अगर ये सब मिल भी जाए तब भी इतना कुछ करते-करते हम अपनी कोमलता खो चुके होते हैं, अपनों से औरअपने रिश्तों से दूर हो चुके होते हैं. 
  • इसके अलावा व्यसन, लत, नशा… चाहे पैसों का हो, कामयाबी का हो, शराब या सिगरेट का हो… ये हमारे मिज़ाजको ठंडा होने देता… लेकिन ये नशा रिश्तों को लेकर हम पैदा क्यों नहीं करते…? 
  • हमारा खान-पान भी ऐसा हो गया है कि हमें हाइपर एक्टिव बना रहा है. अनहेल्दी लाइफ़स्टाइल से लेकर अनहेल्दीखानपान हमारे मिज़ाज को बिगाड़ रहा है.

कैसे बढ़ाएं अपने रिश्तों में गर्मी और कैसे रखें अपना मिज़ाज ठंडा?

  • संतुष्ट और सुकून को पैसे और शौहरत से ज़्यादा महत्व देने का प्रयास करें, कोशिश करेंगे तो कामयाबी ज़रूरमिलेगी.
  • रिश्तों को प्राथमिकता बनाएं.
  • अपनों को वक़्त दें. 
  • पैसों के पीछे भागना बंद कर दें. 
  • हॉबी डेवलप करें.
  • डायट बदलें.
  • योगा और मेडिटेशन ज़रूर करें, साथ ही लाइट एक्सरसाइज़ या वॉक करें. इससे ब्रेन में हैप्पी होर्मोंस रिलीज़ होंगेऔर आप पॉज़िटिव बनेंगे.
  • ज़िंदगी के प्रति अपना नज़रिया बदलें.
  • पॉज़िटिव सोच के साथ हर काम करें और कोशिश करें कि वर्क लाइफ़ और पर्सनल लाइफ़ में संतुलन बना सकें. 
  • पार्टनर की अच्छाइयों और कोशिशों को सराहें. 
  • अपनों से कनेक्टेड रहें, चाहे फ़ोन या मैसेज के ज़रिए, इससे मन को सुकून और ज़िंदगी में तसल्ली रहती है.
  • दूसरों की मदद करें, अपनों का दर्द बांटें, क्योंकि एक वक़्त के बाद अपने और ये रिश्ते ही काम आते हैं, वर्ना ऐसा नहो कि ये गर्म मिज़ाजी आपको अपनों से इतना दूर और आपको इतना तनहा कर दे कि कहने को तो आपके पासनाम, पैसा, शौहरत तो हो लेकिन सिर रखने को कोई कंधा न हो, थामने को कोई हाथ न हो और साथ मिलकरहंसने-रोने वाला कोई हमदर्द न हो! 
  • बिट्टू शर्मा 

ये भीगता मौसम, ये बरसती फ़िज़ा… मन के किसी कोने में तुम्हारी यादों की सोंधी महक को फिर हवा दे जाते हैं… जब-जब ये बारिश होती है, तन के साथ-साथ मन को भी भिगो देती है… कैसी अजीब सी कशिश थी तुम्हारी उस सादगी में भी, कैसी रूमानियत थी तुम्हारी आंखों की उस सच्चाई में भी… मेरा पहला जॉब वो भी इतने बड़े बैंक में. थोड़ा डर लग रहा थालेकिन तुमने मुझे काफ़ी कम्फ़र्टेबल फील कराया था.

हर वक्त मेरी मदद की और न जाने कैसे धीरे-धीरे एक दिन अचानक मुझे ये एहसास हुआ कि कहीं मैं प्यार में तो नहीं? 

कुछ दिन अपने दिल को समझने और समझाने में ही बीत गए और उसके बाद मैंने निर्णय ले लिया कि तुमसे अपनीफ़ीलिंग्स का इज़हार कर दूंगी क्योंकि घर में भी मेरी शादी को लेकर बात चलने लगी थी. 

मैंने देर करना ठीक नहीं समझा और कहीं न कहीं मुझे भी ये लगने लगा था कि तुम्हारा भी खिंचाव और लगाव है मेरीतरफ़. मैंने लंच में तुमसे बिना झिझके साफ़-साफ़ अपने दिल की बात कह दी. तुमने भी बड़े सहज तरीक़े से मुझसे कहाकि तुम भी मुझसे प्यार करने लगे हो लेकिन एक सच है जो तुम मुझे बताना चाहते हो, लेकिन शाम को फ़ुर्सत में… 

‘निशांत, कहो क्या कहना चाहते हो?’

‘निधि मैंने तुमको अपने घर इसलिए बुलाया कि बात गंभीर है और मैं तुमको अंधेरे में नहीं रखना चाहता. निधि ये तस्वीर मेरी 3 साल की बेटी किट्टू की है.’ 

‘तुम शादीशुदा हो? तो तुमने मुझे अपने घर क्यों बुलाया? तुम्हारी पत्नी और बेटी कहां हैं?’

‘निधि, यही सब बताने के लिए तो बुलाया है तुम्हें! मेरी पत्नी और मैं अलग रहते हैं. हमने तलाक़ का फ़ैसला लिया है. किट्टू भी राधिका के साथ ही है. मेरी पत्नी राधिका को मेरी सादगी और सहजता पसंद नहीं थी. उसको शुरू से लगता था कि मैंऔरों की तरह स्मार्ट नहीं. उसकी ख्वाहिशें भी बहुत बड़ी थीं जो मैं पूरी न कर सका, इसलिए हमने अलग होने का फ़ैसला किया है.’

‘निशांत मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं, मैं तुमसे बेहद प्यार करती हूं और तलाक़ तक तो क्या, ताउम्र तुम्हारा इंतज़ार कर सकती हूं!’ 

इसके बाद सब कुछ ठीक चल रहा था, मेरी शामों में रूमानियत घुलने लगी थी, दिन रंगीन हो ही रहे थे कि निशांत ने बताया उसकी बेटी किट्टू बहुत बीमार है और राधिका वापस घर लौट आई है क्योंकि किट्टू अपने मम्मी-पापा दोनों के साथ रहना चाहती थी. किट्टू की रिपोर्ट्स से पता चला कि उसको ब्रेन ट्यूमर है और सर्जरी करनी पड़ेगी, जो काफ़ी रिस्की है! 

मैंने निशांत को कहा कि फ़िलहाल वो किट्टू पर ध्यान दे. 

‘क्या बात है निशांत, तुम इतने उलझे-उलझे क्यों रहते हैं इन दिनों? किट्टू ठीक हो जाएगी, ज़्यादा सोचो मत!’

‘निधि किट्टू की फ़िक्र तो है ही लेकिन एक और बात है, राधिका काफ़ी बदल गई है. उसका कहना है कि किट्टू हम दोनों केसाथ रहना चाहती है और उसकी ख़ातिर वो खुद को बदलना चाहती है, लेकिन मैंने उसे अपने और तुम्हारे रिश्ते के बारे मेंबता दिया है, राधिका को कोई आपत्ति नहीं, पर किट्टू की ज़िद का क्या करूं. वो बस यही कहती है कि उसको मम्मी-पापा दोनों के साथ रहना है!

‘निशांत, किट्टू की ज़िद ग़लत नहीं है, हर बच्चा यही चाहता है और जब राधिका भी बदलने को तैयार है तो तुम्हें भी अपने रिश्ते को एक और मौक़ा ज़रूर देना चाहिए!’

‘कैसी बातें कर रही हो तुम? क्या हमने सपने नहीं देखे अपने प्यार के लिए, उनको कैसे तोड़ दूं?’

‘एक 3 साल की बच्ची का दिल और अपनी शादी को तोड़ने से तो बेहतर है हम अपनी ख्वाहिशों को एक कदम पीछे कर लें! रही बात मेरी, तो मैं सारी ज़िंदगी तुम्हारा इंतज़ार करूंगी और अपने प्यार की वजह से ही मैं तुमसे कह रही हूं कि किट्टूकी ख़ातिर एक चान्स ज़रूर दो अपनी शादी को.’

‘पर निधि मैं तुम्हारे बिना अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकता.’

‘निशांत, इस वक़्त जो दो रास्ते हैं उनमें से एक को ही चुनना होगा और हमको सही रास्ता ही चुनना चाहिए वरना हमारा प्यार बदनाम होगा, वो प्यार नहीं स्वार्थ कहलाएगा!’

…बस ये आख़री मुलाक़ात थी हमारी, उस दिन खूब बारिश हुई थी बाहर भी और मन के भीतर भी. उसके बाद मैंने अपनी पोस्टिंग दूसरे शहर में करवा ली. ऐसा नहीं कि निशांत से संबंध ख़त्म कर लिए, हम फ़ोन और सोशल मीडिया के ज़रिए सम्पर्क में ज़रूर हैं लेकिन मैं रूबरू नहीं होना चाहती, क्योंकि सामने निशांत को देखूंगी तो अपनी भावनाओं को रोक नहीं पाऊंगी! 

किट्टू अब ठीक है और अपने मम्मी-पापा के साथ खुश भी है. उसको खुश देख कर मैं और निशांत अपने प्यार पर गर्व महसूस करते हैं. उसकी इसी ख़ुशी में हमारे प्यार की जीत छिपी है! यही है मेरा पहला प्यार, अधूरा रहकर भी मुकम्मल हो गया जो!

  • गोल्डी शर्मा 

यह भी पढ़ें: पहला अफेयर… लव स्टोरी: हदें प्यार की… (Pahla Affair, Love Story: Hadein Pyar ki)


सफल सेक्स लाइफ़ पर हुए रिसर्च के अनुसार सेक्स लाइफ एंजॉय करने के लिए डेली एक्सरसाइज़ और हेल्दी डायट बहुत ज़रूरी है. आइए जानते हैं कुछ इंटरेस्टिंग सेक्स रिसर्च की रिपोर्ट्स की संक्षिप्त जानकारी.

 

Sex Research Reports

 

1. नियमित दौड़ से सेक्स पावर में वृद्धि

जो लोग नियमित तौर पर दौड़ लगाते हैं, उनका यौन जीवन उन लोगों की अपेक्षा ज़्यादा सक्रिय होता है, जो दौड़ नहीं लगाते. हाल ही में हुए एक शोध के मुताबिक हर 10 में से एक दौड़ लगानेवाले (जॉगर्स) ने कहा कि वह अपने दैनिक जीवन में कम से कम एक बार यौन संबंध स्थापित करता है, जबकि 3 फ़ीसदी जॉगर्स का कहना है कि वे दिन में 2 बार यौन क्रिया का लुत्फ़ उठाते हैं.
एक मशहूर समाचार पत्र में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक इस शोध के दौरान उन लोगों से भी बात की गई, जो दौड़ नहीं लगाते हैं. दौड़ नहीं लगानेवाले ऐसे चार में से एक व्यक्ति का कहना था कि वह महीने में स़िर्फ एक बार ही यौन संबंध स्थापित
करता है.
वैज्ञानिकों का मानना है कि यौन सक्रियता के लिए ज़रूरी सेक्स हार्मोन टेस्टोस्टेरॉन की मात्रा दौड़ से बढ़ जाने के कारण ही उक्त फायदा जॉगर्स पुरुषों में देखा गया. यह तो सभी जानते हैं कि टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन का संबंध यौन क्रियाकलापों, रक्त संचरण और मांसपेशियों के परिणाम के साथ-साथ एकाग्रता, मूड और याद्दाश्त से भी होता है.

2. अनार के रस से बढ़ती है कामशक्ति

अगर आम फलों का राजा है, तो अनार की भूमिका उस डॉक्टर जैसी है, जिसके पास तमाम रोगों की दवा है. अनार की इसी उपयोगिता के कारण ही ङ्गएक अनार सौ बीमारफ वाली कहावत इतनी मशहूर है. अभी हाल ही में हुए एक वैज्ञानिक शोध से पता चला है कि अनार के रस में कामशक्तिवर्द्धक अद्भुत क्षमता है. कैलिफोर्निया के वैज्ञानिकों के मुताबिक, एक महीने तक लगातार एक ग्लास अनार का रस पीना किसी भी पुरुष के लिए कामोत्तेजक औषधि वियाग्रा जैसा काम करता है, क्योंकि अनार के रस से शरीर में एंटीऑक्सीडेंट बढ़ता है और यौनांगों में रक्तसंचार तेज़ होता है. इससे व्यक्ति सेक्स क्रिया में अधिक सक्रिय होता है.

यह भी पढ़ें: सेक्स रिसर्च: सेक्स से जुड़ी ये 20 Amazing बातें, जो हैरान कर देंगी आपको

3. सेक्स की कमज़ोरी में मछली का तेल

अमेरिकी वैज्ञानिकों के एक शोध के अनुसार मछली का तेल स्त्री व पुरुष की अनेक सेक्स संबंधी कमज़ोरियों को दूर करता है. आज के युवा अपने पार्टनर को पूरी तरह से सेक्स संतुष्टि प्रदान करने में अक्षम होते जा रहे हैं, जिससे विवाह के कुछ दिनों बाद ही तलाक़ की नौबत आ जाती है. वैज्ञानिकों के अनुसार, ऐसे पुरुष मछली का एक चम्मच तेल रोज़ाना भोजन में उपयोग करके अपने सेक्स की कमज़ोरी से निजात पा सकते हैं. हाल ही में कैलिफोर्निया के वैज्ञानिकों ने 50 स्त्री-पुरुषों के जोड़ों पर इसका प्रयोग किया और पाया कि तीन माह पहले, जो लोग सेक्स से बचते थे, वे तीन महीने बाद प्रसन्नता से सेक्स में दिलचस्पी लेने लगे.

4. कॉफी से यौन सक्रियता

एक अध्ययन से पता चला है कि लगभग पचास वर्ष की उम्र के बाद भी जो लोग कॉफी का सेवन करते रहते हैं, वे कॉफी न पीनेवालों की अपेक्षा सेक्स क्रिया में अधिक सक्रिय होते हैं. ब्राज़ील में हुए एक शोध में यह बात सामने आई है कि कॉफी पीने से शुक्राणुओं में क्रियाशीलता आती है और सुस्त पड़े शुक्राणु फुर्तीले बन जाते हैं.
शोधकर्ताओं के मुताबिक, कॉफी में पाए जानेवाले रासायनिक तत्व और एंटीऑक्सीडेंट शुक्राणुओं के अंडाणुओं से मिलने की संभावना को भी बढ़ा देते हैं, जिसके परिणामस्वरूप गर्भधारण होता है. अधिक आयु के दंपतियों में सेक्स सक्रियता के लिए कॉफी का सेवन बहुत ही लाभप्रद होता है. अधिक उम्र में कॉफी पीने से सेंट्रल नर्वस सिस्टम (स्नायु तंत्र) की सक्रियता बढ़ जाती है और कुछ ख़ास मांसपेशियां सेक्स के अनुकूल हो जाती हैं.

5. वियाग्रा से गर्भधारण की क्षमता में कमी

एक समाचार के अनुसार, सेक्स पावर बढ़ाने के लिए वियाग्रा का सेवन करने से प्रजनन शक्ति प्रभावित होती है. हाल ही में ब्रिटिश वैज्ञानिकों द्वारा किए गए एक अनुसंधान से यह बात सामने आई है कि वियाग्रा का सेवन करनेवाले लोगों के शुक्राणु एंजाइम के अंडाणुओं की बाहरी परत हटाने से पहले ही बिना निषेचन किए ही लौट जाते हैं, जिससे प्रजनन चक्र पूरा नहीं होता है और महिलाएं गर्भधारण करने से वंचित रह जाती हैं.
अनुसंधान के लिए वैज्ञानिकों ने कई लोगों के शुक्राणुओं के सैंपल लिए और उनकी जांच की, तो पाया कि लगभग 80% शुक्राणु वियाग्रा से कुछ ज़्यादा सक्रिय हो जाते हैं. वियाग्रा के कारण कुछ शक्राणु ही कभी-कभी अंडाणु को विकसित कर पाने में सक्षम होते हैं. इससे पता चलता है कि वियाग्रा का प्रयोग पुरुषों का सेक्स पावर बढ़ाने के लिए तो किया जा सकता है, लेकिन परिवार बढ़ाने के लिए इसका इस्तेमाल नहीं किया जा सकता.

6. पीरियड्स के दौरान कामोत्तेजना अधिक

वैज्ञानिक शोधों से पता चला है कि पीरियड्स के दिनों में स्त्री के एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरॉन हार्मोंस का स्तर बहुत तेज़ी से बदलता रहता है, जिससे वो इन दिनों अधिक कामोत्तेजना का अनुभव करती हैं. साथ ही सेक्स में ऑर्गेज़्म के कारण गर्भाशय में होनेवाली ऐंठन व दर्द में भी उसे राहत महसूस होती है, परंतु इस समय कंडोम का प्रयोग अवश्य करें, क्योंकि यह न स़िर्फ हाइजीन की दृष्टि से महत्वपूर्ण है, बल्कि इस समय भी गर्भधारण की दो प्रतिशत संभावना होती है, जिससे बचाव होता है. इसके अलावा महिलाएं भी हाइजीन की दृष्टिकोण से डायफ्राम का इस्तेमाल कर सकती हैं.

7. मोबाइल के अधिक प्रयोग से संभव है नपुंसकता

एक वैज्ञानिक शोध से पता चला है कि जो लोग मोबाइल फ़ोन का अधिक प्रयोग करते हैं, उनके शुक्राणुओं की न स़िर्फ संख्या कम होती जाती है, बल्कि उनमें असामान्यता के लक्षण भी पाए जाते हैं. शोध के अनुसार, जो पुरुष मोबाइल फ़ोन का ज़्यादा इस्तेमाल करते हैं, उनमें शुक्राणुओं की 30% तक की कमी पाई जाती है और बाकी शुक्राणुओं में भी असामान्यता के लक्षण पाए जाते हैं. विश्‍व स्वास्थ्य संगठन की एक रिपोर्ट के मुताबिक मोबाइल फ़ोन की रेडियो फ्रीक्वेंसी फील्ड शरीर के ऊतकों को गहराई से प्रभावित करती है.

8. हेल्दी सेक्स लाइफ़ से दिल की बीमारियां कम

एक वैज्ञानिक सर्वेक्षण से पता चला है कि हेल्दी सेक्स लाइफ़ से दिल की बीमारियों का ख़तरा कम रहता है. इस सर्वेक्षण में 42 से 50 साल की महिलाओं को शामिल किया गया. इससे पता चला कि वैवाहिक जीवन से संतुष्ट महिलाओं में दिल की बीमारी की आशंका अन्य महिलाओं के मुक़ाबले एक तिहाई कम थी. विधवा महिलाओं में तो दिल की बीमारियां उत्पन्न होने की आशंका साढ़े पांच गुना अधिक पाई गई, जबकि तलाक़शुदा व अकेली रह रही महिलाओं में यह आशंका हेल्दी सेक्स लाइफ़ बिता रही महिलाओं की तुलना में दुगुनी थी.

यह भी पढ़ें: 6 AMAZING लव रूल्स हैप्पी लव लाइफ के लिए

 

×