Richa Chaddha

कोरोना वायरस के प्रकोप से सारी व्यवस्था अस्त-व्यस्त हो गई है. आम आदमी से लेकर सेलिब्रिटीज़ तक हर कोई इससे प्रभावित है. एक ओर दफ्तरों में ताले लग गए हैं, वहीं टीवी और फिल्म इंडस्ट्री का सारा कामकाज भी ठप्प पड़ गया है. लेकिन हर कोई सरकार की कोशिशों में साथ दे रहा है, क्योंकि जान है तो जहान है. शादियों पर भी इसका असर पड़ रहा है. कोरोना वायरस के कारण बॉलीवुड एक्ट्रेस रिचा चड्ढा और अली फजल जो अप्रैल में शादी के बंधन में बंधनेवाले थे, अब अक्टूबर में शादी करेंगे. वरुण धवन ने भी अपनी शादी पोस्टपोन कर दी है.

इस बारे में बात करते हुए रिचा और अली फजल के मैनेजर ने मीडिया को बताया कि कोरोना वायपस के कारण हालात को देखते हुए कपल ने शादी टालने का फैसला किया है और अब वे साल के आखिरी महीनों में शादी का प्लान बना रहे हैं. हम चाहते हैं कि सभी लोग स्वस्थ और सुरक्षित रहें. रिचा और अली किसी कीमत पर अपने रिश्तेदारों और दोस्तों की जान को खतरे में नहीं डालना चाहते.

मैनेजर ने आगे बात करते हुए कहा कि इन दिनों बाहर निकलना सुरक्षित नहीं है. अली के परिवार के कुछ ओर कनाडा में रहते हैं और ट्रैवल रिस्ट्रिक्शन के कारण अप्रैल में शादी करना मुमकिन नहीं है. इसके साथ ही कपल यूके और यूएस से जुड़े इंडस्ट्री फ्रेंड्स को निमंत्रित करनेवाला था, वे अभी इन हालात में इंडिया नहीं आ सकते. फिलहाल के हालात को देखते हुए हम लोग अक्टूबर में शादी का मन बना रहे हैं. सारी चीज़ें, वैन्यू, आउटफिट्स वहीं रहेंगे.

रिचा और अली के साथ ही जिस एक और कपल की शादी पर गाज गिरी है, वो है वरुण धवन और नताशा दलाल. वरुण धवन (और नताशा दलाल से जुड़े सूत्रों ने उनकी शादी की जानकारी देते हुए बताया, “वर्तमान स्थिति को देखते हुए उन्होंने शादी को नवंबर तक टालने का फैसला किया है, इसके साथ ही शादी को थाइलैंड में करने का विचार बनाया गया है.” सूत्रों ने बताया कि वरुण और नताशा की शादी पहले भी थाइलैंड में ही होनी थी, लेकिन इसके बाद जोधपुर में डेस्टिनेशन वेडिंग करने का प्लान किया गया, साथ ही मुंबई में भी एक छोटा सा समारोह करने पर विचार किया गया. हालांकि, कोरोनावायरस की खबर के बाद वरुण धवन और नताशा दलाल नवंबर में थाइलैंड में शादी कर सकते हैं. 

ये भी पढ़ेंः कोरोना अलर्ट: कोरोना वायरस को लेकर कहीं फिल्म स्टार्स के संदेश, कविता तो कहीं सेफ हैंड्स चैलेंज… (Corona Alert: Somewhere The Film Stars’ Messages About The Corona Virus, Poetry Somewhere And Safe Hands Challenge…)

फिल्मः पंगा
कलाकारः कंगना राणाउत, जस्सी गिल, रिचा चड्ढा, यज्ञ भसीन
निर्देशकः अश्विनी तिवारी अय्यर
स्टारः 3.5 

पंगा की निर्देशिका अश्विनी तिवारी अय्यर ने अपनी  फिल्में नील बटे संनाटा व बरेली की बरफी में ही साबित कर दिया था कि वे एक अच्छी स्टोरी टेलर हैं. अपनी फिल्म पंगा से उन्होंने इस विश्वास को और पुख्ता कर दिया है. इस फिल्म में कंगना ने जया निगम की भूमिका निभाई है जो कि रेलवे में काम करती हैं और भारतीय महिला कबड्डी टीम की भूतपूर्व कप्तान रह चुकी हैं. उन्होंने कामकाजी महिला के रूप में अपनी नई जिंदगी को स्वीकार कर लिया है, लेकिन उनकी जिंदगी में एक बड़ा बदलाव आता है. पंगा के माध्यम से अश्विनी अय्यर ने संदेश देने की कोशिश की है कि अगर महिला को अपने परिवारवालों का साथ व सपोर्ट मिले तो वो अपने सपनों को आसानी से पूरा कर सकती है और सपनों के हासिल करने में उम्र कभी बाधा नहीं बनती.’ मां के भी सपने होते हैं’…पंगा का सार इस लाइन में छुपा है.

Panga

जया निगम ( कंगना राणाउत) एक समय कबड्डी की नेशनल प्लेयर और कैप्टन रही चुकी हैं. मगर अब वह 7 साल के बेटे आदित्य उर्फ आदि (यज्ञ भसीन) के बेटे की मां और प्रशांत (जस्सी गिल) की पत्नी है. जया अपनी छोटी-सी दुनिया में खुश है. कबड्डी ने उसे रेलवे की नौकरी दी है और उसकी जिंदगी घर,बच्चे और नौकरी की जिम्मेदारियों के बीच गुजर रही है. फिर एक दिन घर में एक ऐसी घटना घटती है कि जया का बेटा आदि उसे 32 साल की उम्र में कबड्डी में कमबैक करने के लिए प्रेरित करता है. पहले जया पति प्रशांत के साथ मिलकर कमबैक की प्रैक्टिस का झूठा नाटक करती है, मगर इस प्रक्रिया में उसके दबे हुए सपने फिर सिर उठाने लगते हैं. अब वह वाकई इंडिया की नैशनल टीम में कमबैक करके अपने स्वर्णिम दौर को दोबारा जीना चाहती है. उसके इस सफर में उसका पति और बेटा तो साथ है ही, उसकी मां (नीना गुप्ता), बेस्ट फ्रेंड मीनू (रिचा चड्ढा) जो कबड्डी कोच और प्लेयर भी है, उसे हर तरह का सपॉर्ट देती है.

क्या है खास?

यह फिल्म जया नामक महिला के आस-पास घूमती है. इस फिल्म के माध्यम से अश्विनी अय्यर ने हर उस महिला को जागरूक करने की कोशिश की है, जो अपनी जिम्मेदारियों के चलते अपने सपनों की बलि दे देती है. अश्विनी ने बहुत सुंदर ढंग से बताया कि किस तरह एक मजबूत सपोर्ट सिस्टम महिला को उसके सपने पूरे करने और पंखों को फैलाने में मदद कर सकता है. निखिल महरोत्रा और अश्विनी ने अपनी स्क्रिप्ट में ह्यूमर का भी भरपूर प्रयोग किया है. कंगन अपने दोनों किरदार हाउसवाइफ और कबड्डी प्लेयर में बेहतरीन दिखी हैं जितनी सादगी से उन्होंने एक हाउसवाइफ का किरदार निभाया, उतना ही दमदार वह कबड्डी प्लेयर के रूप में नजर आईं है. जया के एक्स्प्रेशन, उनकी सोच एक आम महिला की तरह है. जया के इस किरदार से कई महिलाएं खुद को इससे जुड़ा हुआ महसूस करेंगी. चाइल्ड आर्टिस्ट यज्ञ भसीन ने बेहतरीन डायलॉग्स बोले हैं. रिचा चड्डा ने कंगना की टीम मेंबर और बेस्टफ्रेंड का किरदार बेहतरीन तरीके से निभाया है. एक सपोर्टिव और लविंग पति के रूप में जस्सी गिल बेहतरीन दिखे हैं. कंगना और जस्सी ने शादीशुदा जोड़े के किरदार को बखूबी जिया है. फिल्म का फर्स्ट हाफ थोड़ा लंबा लगता है, मगर सेकंड हाफ में कहानी अपनी मंजिल की ओर सरपट दौड़ती है. अश्विनी ने मानवीय रिश्तों की बुनावट के साथ कबड्डी जैसे खेल के थ्रिल को भी बनाए रखा है. जय पटेल ने भोपाल शहर को सुंदर ढंग से पेश किया है.

क्या है कमी?

फिल्म की शुरुआत थोड़ी धीमी है, लेकिन यही इस फिल्म की खासियत भी है. नीना गुप्ता का किरदार थोड़ा और बड़ा होना चाहिए था.

ये भी पढ़ेंः BB 13: घर में वाइल्ड कार्ड के रूप में कंटेस्टेंट के घरवाले करेंगे एंट्री, जानिए किसका कौन आएगा? (Bigg Boss 13: Family Members Of Housemates To Enter The House As Wild Card Entrants?)

आज फिल्मी फ्राइडे है और फिल्म देखने के शौकीनों को इस दिन का बेसब्री से इंतज़ार होता है, जब कोई नई फिल्म सिनेमाघरों में दस्तक देती है. देवदास पर अब तक बॉलीवुड में कई फिल्में बन चुकी हैं और आज सिनेमा घरों में देवदास का मॉडर्न वर्जन दास देव रिलीज़ हुई है. फिल्म का जोनर रोमांटिक और राजनीतिक थ्रिलर है. हालांकि इससे पहले इस विषय पर बनी फिल्मों में प्रेम की मासूमियत नज़र आई थी, लेकिन यह फिल्म सबसे अलग है क्योंकि इसमें सत्ता और पावर की लालसा प्यार की मासूमियत पर भारी पड़ती दिखाई देती है.

Daas Dev, Movie Review, das dev movie review ratings

फिल्म- दास देव 
निर्देशक- सुधीर मिश्रा
अवधि- 1 घंटा 51 मिनट
स्टार- राहुल भट्ट, रिचा चड्ढा, अदिति राव हैदरी, सौरभ शुक्ला और विनीत सिंह.
रेटिंग- 3/5

 

Daas Dev, Movie Review, das dev movie review ratings

कहानी

निर्देशक सुधीर मिश्रा के इस मॉडर्न ‘दास देव’ की कहानी की पृष्ठभूमि उत्तरप्रदेश की है. कहानी के मुताबिक राजनीतिक घराने का उत्तराधिकारी देव (राहुल भट्ट)  पारो (रिचा चड्ढा) से प्यार करता है, लेकिन उसे नशे और अय्याशी की बुरी लत होती है. छोटी उम्र में ही देव अपने पिता को हेलीकॉप्टर हादसे में खो देता है और उसे चाचा अवधेश (सौरव शुक्ला) पाल-पोसकर बड़ा करते हैं. उसके चाचा अवधेश मुख्यमंत्री हैं इसलिए वो चाहते हैं कि वो अपने खानदान की इस राजनीतिक विरासत को आगे बढ़ाए.

उधर पारो अपने प्रेमी देव को नशे और अय्याशी की आदतों से बाहर निकालने की कोशिश करती है, लेकिन उसे राजनीति में लाने के लिए उसके चाचा (चांदनी) अदिति राव हैदरी को लेकर आते हैं. चांदनी देव से प्रेम करती है और एक ऐसा चक्रव्यूह रचती है, जिससे देव राजनीति की बागडोर अपने हाथ में लेने पर मजबूर हो जाता है. उधर सत्ता की बागडोर हाथ में लेते ही पारो और देव के बीच टकराव बढ़ जाता है और वो विपक्ष के नेता (विपिन शर्मा) से शादी कर लेती है. इसके आगे की कहानी क्या मोड़ लेती है, इसके लिए आपको यह फिल्म देखनी पड़ेगी.

डायरेक्शन

डार्क और इंटेंस सिनेमा हमेशा से ही डायरेक्टर सुधीर मिश्रा की ख़ासियत रही है. जिसकी झलक ‘दास देव’ में दिखाई दे रही है. उन्होंने शरत चंद्र की देवदास के तीनों मुख्य पात्रों देव, पारो और चांदनी को लेकर उसमें शेक्सपियर का ट्रैजिक, ग्रे और विश्वघाती रंग मिला दिया है. इस फिल्म में सुधीर ने यह दिखाने की कोशिश की है कि कोई भी दूध का धुला नहीं है. इस फिल्म में राजनीतिक साज़िशों की एक के बाद एक करके कई परतें खुलती हैं. फिल्म के कुछ गीत आपको पसंद आएंगे और फिल्म का बैकग्राउंड भी दमदार है.

एक्टिंग

एक्टर राहुल भट्ट ने देव के किरदार के साथ न्याय करने की पूरी कोशिश की है. उन्होंने अपने किरदार की विषमताओं को बेहतर ढंग से निभाया है. रिचा ने पारो की तो अदिति ने चांदनी की भूमिका के साथ पूरा न्याय किया है. सौरव शुक्ला, विनीत सिंह, दीपराज राणा जैसे सभी कलाकारों ने अपने किरदारों में जान डालकर कहानी को विश्वसनीय बनाया है. इस फिल्म में मेहमान कलाकार के तौर पर अनुराग कश्यप भी नज़र आएंगे, जो देव के पिता बने हैं. 

फिल्म: फुकरे रिटर्न्स

स्टारकास्ट: पुलकित सम्राट, वरुण शर्मा, अली फज़ल, मंजू सिंह, रिचा चड्ढा, पंकज त्रिपाठी, विशाखा सिंह, प्रिया आनंद और राजीव गुप्ता

निर्देशक: मृगदीप सिंह लांबा

रेटिंग: 2.5 स्टार

Movie Review, Fukrey Returns

साल 2013 में रिलीज़ हुई फिल्म फुकरे की रीमेक है फुकरे रिटर्न्स. फुकरे के किरदार, कहानी और गानों को दर्शकों ने ख़ूब पसंद किया था. प्रोड्यूसर फरहान अख्तर की फिल्म फुकरे रिटर्न में भी क्या फुकरे जैसी बात है? आइए जानते हैं.

कहानी

जहां फुकरे ख़त्म हुई थी, वहीं से शुरू होती है फुकरे रिटर्न्स की कहानी वहीं से शुरू होती है. भोली पंजाबन जेल से छूटती है फुकरों की लाइफ को बदलकर रख देती है. हन्नी (पुलकित सम्राट), चूचा (वरुण शर्मा), जफर (अली फैज़ल) और लाली (मनजोत) मज़े से अपनी ज़िंदगी जी रहे होते हैं. लेकिन भोली पंजाबन के आने के बाद सब बदल जाता है. भोली पंजाबन फुकरों को जमकर टॉर्चर करती है. इस बार चूचा के सपने कैसे इन सबको भोली पंजाबन से बचाते हैं, ये जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी.

किसी की ऐक्टिंग में है दम?

पिछली फिल्म की तरह इस फिल्म में भी चूचा का किरदार मज़ेदार है. वरुण शर्मा के चूचा के किरदार को आप इस फिल्म की जान कह सकते हैं. भोली पंजाबन यानी रिचा चड्ढा का अभिनय भी दमदार है. बाक़ी कलाकारों का अभिनय भी ठीक है.

फिल्म की कमज़ोर कड़ी

  • फिल्म का निर्देशन कमज़ोर है. इंटरवल के बाद तो फिल्म और भी बोरिंग हो जाती है.
  • फिल्म के गाने भी इस फिल्म को संभाल नहीं पाए.
  • स्टोरी और स्क्रीनप्ले भी कमज़ोर है.
  •  कॉमेडी फिल्म से हंसी के सीन्स ही गायब हैं. जो कॉमिक सीन्स हैं, उन्हें देखकर हंसी नहीं आती है.

यह भी पढ़ें: न्यूली मैरिड कपल ज़हीर और सागरिका के रोमांटिक हनीमून पिक्चर्स…

फिल्म देखने जाएं या नहीं? 

बॉक्स ऑफिस फइलहाल सूना पड़ा है, ऐसे में बॉक्स ऑफिस पर  अगर आपने फुकरे देखी है, तो इस फिल्म को देखकर इसके पहले पार्ट का मज़ा किरकिरा न करें. ये फिल्म अगर आप नहीं भी देख पाते हैं, तो कोई ख़ास फर्क़ नहीं पड़ेगा और आपके टिकट के पैसे भी बच जाएंगे.

Kareena Kapoor Khan, Gifts, Sonam Kapoorबीमार सोनम कपूर को उनकी फिल्म वीरे दी वेडिंग फिल्म की कोस्टार करीना कपूर ने भेजा एक ख़ास गिफ्ट. सोनम कपूर को ब्रोंकाइटिस हो गया है, जिसकी ख़बर सोनम ने ख़ुद सोशल मीडिया के ज़रिए दी. सोनम और करीना यूं तो अच्छी दोस्त हैं, लेकिन ये दोस्ती फिल्म वीरे दी वेडिंग के सेट पर और भी गहरी हो गई है. ऐसे में सोनम की हेल्थ के बारे में जैसे ही करीना को पता चला, उन्होंने सोनम के लिए भेज दिया ह्यूमिडिफायर.

ह्यूमिडिफायर आसपास की हवा को साफ़ करने का काम करता है. ब्रोंकाइटिस से परेशान सोनम को इससे काफ़ मदद मिलेगी, क्योंकि इसमें अगर हवा साफ़ न हो, तो समस्या और बढ़ जाती है.

सोनम ने ट्वीट करके बताया था कि उन्हें ब्रोंकाइटिस हो गया है. सोनम ने लिखा, “मुझे ज़िंदगी में कभी सांस लेने में तकलीफ़ नहीं हुई. लेकिन कुछ समय से मुझे सांस लेने परेशानी हो रही है और मुझे ब्रोंकाइटिस हो गया है. यह बहुत ही डरावना है.”

https://twitter.com/sonamakapoor/status/925573986074771457

सोनम के इस पोस्ट के बाद रिचा चड्ढा और सोफी चौधरी ने टि्वटर के ज़रिए बताया कि उन्हें भी पर्यावरण में फैले प्रदूषण की वजह से सांस लेने में दिक़्क़त हो रही है.

रिचा ने लिखा, “किसी को मुंबई के ऊपर धुंध दिख रही है? पिछले कुछ दिनों से मुझे सांस लेने में परेशानी हो रही है. ऐसा लग रहा है कि हम टेल्कम पाउडर खा रहे हैं.”

सोफी चौधरी ने लिखा, सांस की तकलीफ़ और आंखों का इंफेक्शन, थैंक्स टु दी पॉल्यूशन. यहा पागलपन है. जो हम बोते हैं, वही काटते हैं.

खैर इन सब के बीच करीना का गिफ्ट यक़ीनन सोनम के लिए फ़ायदेमंद साबित होगा.

रिचा चड्ढा, अली फजल, डेट, Richa chadha, Ali Fazal, Relationship

रिचा चड्ढा और अली फजल की दोस्ती क्या प्यार में बदल गई है? लगता तो कुछ ऐसा ही है, क्योंकि दोनों की ये तस्वीरें कुछ यही बयां कर रही है. रिचा और अली ने फिल्म फुकरे में साथ काम किया था और जल्द ही दोनों फुकरे रिटर्न्स में भी नज़र आने वाले हैं. लेकिन जिन तस्वीरों की हम बात कर रहे हैं, वो इस फिल्म के सेट की नहीं है, बल्कि वेनिस की हैं, जहां अली की फिल्म विक्टोरिया एंड अब्दुल के वर्ल्ड प्रीमियर पर अली का साथ देने पहुंची रिचा.

यह भी पढ़ें: What! प्रेग्नेंट अक्षय कुमार ने जन्म दिया 6 बच्चों को, देखें वीडियो!

रिचा ने अली के साथ सेल्फी शेयर करते हुए लिखा, ‘इससे ज्यादा प्राउड की बात नहीं हो सकती कि तुमने सब ख़ुद से किया है! फिल्म में भी शानदार और शानदार फिल्म.’

अली भी रिचा की फिल्म जिया और जिया का प्रमोशन करते रहते हैं.

सरबजीत फिल्म का फर्स्ट लुक जितना दमदार था, उतना ही प्यारा है इस फिल्म का पहला गाना. गाने में ऐश्‍वर्या राय बच्चन, रणदीप हुड्डा और ऋचा चड्ढा नज़र आ रहे हैं. गाने को कंपोज़ किया है अमाल मल्लिक ने. 20 मई को रिलीज़ होने वाली फिल्म सरबजीत के निर्देशक हैं उमंग कुमार.

सच्ची घटना पर आधारित फिल्म सरबजीत का ट्रेलर रिलीज़ हो गया है. टाइटल रोल में हैं रणदीप हुड्डा, जबकि उनकी बहन के किरदार में ऐश्वर्या राय बच्चन लग रही हैं काफ़ी दमदार. फिल्म में रणदीप की पत्नी को रोल निभा रही हैं ऋचा चड्ढा. फिल्म की कहानी बहन दलबीर कौर के संघर्ष की कहानी है, जो पाकिस्तान की जेल में कैद अपने भाई को छुड़ाने के लिए दिन-रात एक कर देती है. इस न्याय की लड़ाई में दलबीर कौर को किन-किन मुसीबतों का सामना करना पड़ा है, वह इस ट्रेलर में नज़र आ रहा है. आपको बता दे कि सरबजीत सिंह एक किसान थे, जो साल 1990 में गलती से बॉर्डर पार कर पाकिस्तान पहुंच गए थे और वहां उन्हें बंदी बना लिया गया था. 23 साल तक पाकिस्तान की जेल में यातनाएं सहने वाले सरबजीत की मौत जेल में ही हो गई थी. 20 मई को रिलीज़ होने वाली इस फिल्म के निर्देशक हैं उमंग कुमार.