rip

टीवी एक्ट्रेस अनिता हसनंदानी जिन्हें नताशा के नाम से भी जाना जाता है. एक बेहतरीन अदाकारा हैं. उन्होंने सोशल मीडिया पर अपने ससुरजी के देहांत पर भावपूर्ण बातों को लिखकर उन्हें श्रद्धांजलि दी. वे अपने ससुर के काफ़ी क़रीब थीं. दरअसल, उनके पिता का देहांत टीनएज में ही हो गया था, जब वह 16 साल की थीं. तब से उन्हें एक पिता की कमी हमेशा खलती थी. उनके मन में सदा यह सोच रहती थी कि जब मेरी शादी होगी, तो ससुरजी के रूप में मुझे पिता का प्यार मिलेगा और हुआ भी यही. उन्हें ससुरजी से इतना प्यार मिला कि जो पिता और पति से भी बढ़कर रहा.उन्होंने अपने इमोशनल नोट में इन सब बातों का ज़िक्र किया. कहा कि वह कितना ख़्याल रखते थे और कितने ही सरल थे.
अनिता के साथ ज़बर्दस्त बॉन्डिंग देखी गई थी उनकी. अक्सर वे सोशल मीडिया के अपने अकाउंट पर ससुरजी के साथ फोटो डालती रहती थी. हाल ही में जनवरी में उनका जन्मदिन था. उन्होंने अपने साथ की एक ख़ूबसूरत सी फोटो डाली थी. उनसे बहुत प्यार करती थी और खुशी थी कि उन्हें इतने अच्छे ससुर पिता के रूप में मिले.
अनिता के पति रोहित रेड्डी ने भी अपने पिता के चले जाने का दुख सोशल मीडिया पर शेयर किया. उन्होंने पिता के हाथ पर अपना हाथ रखते हुए भावपूर्ण तस्वीर के साथ लिखा कि पापा आप मेरे हीरो थे, हैं और हमेशा रहेंगे. उनके लिए ढेर सारा प्यार दिया. अनीता ने अपने नोट में एक और ख़ास बात लिखी कि आप जब मेरे पापा से मिलना, तो आप दोनों ड्रिंक साथ शेयर करना. इससे पता चलता है कि कितना गहरा प्यार था उनका. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे.
काम की बात करें तो अनिता ने नागिन 4 में गजब का अभिनय किया था. उनका निगेटिव रोल लोगों ने काफ़ी पसंद किया. ये हैं मोहब्बतें.. सीरियल में भी उन्हें लोगों की बेहद प्रशंसा मिली. अपने पति रोहित के साथ वे सोशल मीडिया पर काफ़ी एक्टिव रहती हैं. उनके साथ को ख़ूब पसंद करते हैं लोग. अनिता के साथी कलाकारों, टीवी की तमाम हस्तियों ने भी शोक संदेश भेजे. एकता कपूर, हितेन तेजवानी, करिश्मा तन्ना आदि ने श्रद्धांजलि दी.

Anita Hassanandani  with father in law

खेल व कला कभी भी सरहद, मजहब नहीं देखती, वो तो बस खिलाड़ी व कलाकार का जुनून और जीतने के जज़्बे को सलाम करती है. बास्केटबॉल के महान खिलाड़ी कोबी ब्रायंट भी ऐसे ही प्रतिभावान खिलाड़ी थे. अमेरिका से लेकर विश्‍वभर के नेता, अभिनेता, खिलाड़ी हर कोई उनके अचानक यूं हेलिकॉप्टर क्रैश से चले जाने को लेकर ग़मगीन है.

Kobe Bryant

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, बराक ओबामा, जस्टिन बीबर, डवेन जॉनसन, विन डिजल से लेकर सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली, अक्षय कुमार, प्रियंका चोपड़ा जैसे तमाम शख़्सियतों ने शोक प्रकट किया. इस तरह से हॉलीवुड से बॉलीवुड से शोक की लहर तेज़ी से फैलती चली गई. इस फेहरिस्त में अनुपम खेर, अभिषेक बच्चन, रणवीर सिंह, अर्जुन कपूर, प्रिटी ज़िंटा, लारा भूपति, अर्जुन रामपाल, नीतू सिंह, ऋषि कपूर, नेहा धूपिया, सानिया मिर्ज़ा, रोहित शर्मा, बादशाह, मनीष पॉल, अंगद बेदी, आएशा धवन समेत तमाम लोगों ने सोशल मीडिया पर कोबी के यूं अचानक मात्र 41 साल की उम्र में दुनिया से विदा हो जाने को लेकर अपने दुख को व्यक्त किया.

कोबी ब्रायंट ने बीस साल तक बास्केटबॉल के खेल पर राज किया. उनके खेल से आम ही नहीं ख़ास लोग भी इस कदर प्रभावित रहते थे कि सुबह उठते ही उनके खेल के अंदाज़, जादूगरी को देखने के लिए तैयार बैठ जाते थे. विराट कोहली, अर्जुन कपूर ने अपनी संवेदनाएं व्यक्त करते समय इस तरह का ज़िक्र भी किया. वहीं प्रिटी ज़िंटा उनकी सादगी से बेहद प्रभावित थीं.

अक्षय कुमार ने तो उनकी भतीजी को बास्केटबॉल खेलने के लिए प्रेरित करने का श्रेय भी उनको दिया. सभी जानते हैं कि अभिषेक बच्चन और रणबीर कपूर फुटबॉल के साथ-साथ बास्केटबॉल के भी दीवाने हैं. जहां नीतू सिंह ने रणबीर की कोबी के साथ की तस्वीर शेयर करते हुए इस महान खिलाड़ी को श्रद्धांजलि दी. साथ ही कहा कि हम सभी आपको मिस करेंगे. इसके अलावा उन्होंने उनकी पत्नी वनेसा के साथ कोबी के प्यारभरी तस्वीर के साथ एक दार्शनिक अंदाज़ में पंक्तियां भी शेयर कि जिसका मर्म यही था कि कल की कोई गारंटी नहीं है, यदि आप किसी से प्यार करते हैं, तो उसे आज ही कह दें. साथ ही उन्होंने प्रार्थना कि वनेसा को इस दुख से उबरने की शक्ति मिले. वहीं अभिषेक बच्चन को उनके दुखद निधन ने इस कदर झकझोरा कि उन्होंने कोबी को लेकर कई भावपूर्ण संदेश सोशल मीडिया पर शेयर किए.

यह हादसा 26 जनवरी को हुआ था, जब ब्रायंट अपने निजी हेलिकॉप्टर से यात्रा कर रहे थे. उसी दिन ग्रेमी अवॉर्ड का फंक्शन भी था. तब संगीत के इस भव्य पुरस्कार समारोह में सभी संगीत प्रेमियों व दिग्गजों ने ब्रायंट को भावभीनी श्रद्धांजलि देने के बाद ही कार्यक्रम शुरू किया. इसमें शामिल प्रियंका चोपड़ा ने भी अपने नेल आर्ट द्वारा दिवगंत खिलाड़ी के प्रति संवेदना व्यक्त की.

 

 

वीरेंद्र सहवाग ने तो यहां तक कह दिया था कि कोबी के कारण ही बहुत से लोग एबीए (नेशनल बॉस्केटबॉल एसोसिएशन) के फैन बन गए थे.

सच, यह खेल ही तो है, जो हर चीज़ से परे लोगों को जोड़ती है. खिलाड़ियों के खेल की दीवानगी उन्हें दुनियाभर में मशहूर कर देती है. वे किसी के लिए प्रेरणास्त्रोत बन जाते हैं, तो किसी के लिए उस खेल को खेलने की वजह, जैसे कोबी के लाजवाब खेल व खेल के प्रति समर्पण ने कईयों को बॉस्केटबॉल खेलने के लिए प्रेरित किया.

कैलिफोर्निया में हुए इस विमान हादसे ने कई सवाल भी खड़े किए हैं कि आख़िर यह हादसा हुआ कैसे? इस प्राइवेट हेलिकॉप्टर में ब्रायंट की 13 साल की बेटी गियाना के साथ-साथ उनके सात स्टाफ मेंबर यानी कुल नौ लोगों की मृत्यु हो गई थी. दरअसल, वे सभी कैलिफोर्निया के थाउसेंड ओक्स में स्थित माम्बा स्पोर्ट्स एकैडमी जा रहे थे. तभी कैलाबसास में धुंध के कारण विमान का संतुलन बिगड़ गया और यह हादसा हो गया.

View this post on Instagram

🏀 👑 #rip #kobe 💔 Mamba Forever

A post shared by Ranveer Singh (@ranveersingh) on

Kobe Bryant

कोबी ब्रायंट जर्नी

* ब्रायंट ने साल 1996 में हाईस्कूल के बाद अमेरिका के मशहूर एनबीए से जुड़ गए.

* कोबी के बदौलत ही अमेरिका दो बार यानी साल 2008 के बीजिंग ओलंपिक व 2012 के लंदन ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतते हुए चैंपियन बना था.

* वे लॉस एंजेलिस लेकसे क्लब के लिए बरसों खेलते रहे और अनेक बार अपना बेस्ट देते हुए टॉप पर रहे.

* उन्होंने पांच बार लॉस एंजेलिस लेकर्स को चैंपियन भी बनाया.

* साल 2008 में एनबीए के मोस्ट वैल्यूएबल प्लेयर से उन्हें सम्मानित किया गया.

* कोबी में लिखने का भी हुनर था. साल 2015 में अपने बास्केटबॉल प्रेम को लेकर उनके द्वारा लिखी गई कहानी पर एक एनिमेटेड शॉर्ट फिल्म बनी थी, जिसे ऑस्कर अवॉर्ड भी मिला था.

* साल 2016 में उन्होंने अपने बीस साल के बेहतरीन खेल के बाद रिटायरमेंट ले लिया था.

* परिवार में कोबी ब्रायंट की पत्नी वनेसा और तीन बेटियां हैं.

यह भी पढ़ेआत्महत्या करने के दो दिन पहले सेजल ने दिया था ऑडिशन, को-स्टार का खुलासा (Sejal Sharma’s Suicide: Dil Toh Happy Hai Ji’s Donal Bisht Reveals The Late Actress Had Auditioned, Two Days Before Her Death)

राज कपूर की बेटी रितु नंदा का कल रात यानी मंगलवार को दिल्ली में देहांत हो गया. 71 वर्षीया रितुजी कैंसर से जूझ रही थीं. उनके अंतिम दर्शन के लिए शोकाकुल कपूर खानदान के सभी लोग दिल्ली पहुंच रहे हैं. साल 2013 में उन्हें कैंसर होने का पता चला था, जिसका इलाज अमेरिका में चल रहा था.

Ritu Nanda

अमिताभ बच्चन ने अपनी समधन के मृत्यु की जानकारी अपने ब्लाग पर देते हुए लिखा- मेरी समधन रितु नंदा, श्‍वेता बच्चन की सास का रात 1.15 बजे अचानक निधन हो गया.

Ritu Nanda

भाई रणधीर कपूर ने भी ग़मगीन होकर इस सूचना की पुष्टि की. उन्होंने कहा कि देर रात रितु नंदा ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया. उन्हें कैंसर था. हम दिल्ली में हैं. उनका अंतिम संस्कार भी आज ही किया जाएगा. धीरे-धीरे पूरा कपूर खानदान व उनसे जुड़ी फिल्मी हस्तियां रितु नंदा के निवास स्थान पर इकट्ठा हो रही हैं.

https://www.instagram.com/p/B7STnfMHq6W/

भाई ऋषि कपूर की बेटी रिद्धिमा भी अपनी बुआ के जाने से आहत हैं. उन्होंने रितु की तस्वीर पोस्ट करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि आप जैसी दयालु और विनम्र शख़्स मैंने आज तक नहीं देखी. ईश्‍वर आपकी आत्मा को शांति दे बुआ. वी मिस यू… रिद्धिमा के संदेश पर एकता कपूर ने भी शोक प्रकट करते हुए कहा कि सुनकर बुरा लगा.

नीतू सिंह भी अपनी ननद के प्रति अपने प्यार व स्नेह का इज़हार करने से ख़ुद को रोक न सकी. मेरी सबसे प्यारी… भगवान आपकी आत्मा को शांति दे…

इस दुख की घड़ी में नंदा परिवार के ग़म में सहभागी होते हुए उनसे जुड़े कई फिल्मी लोगों ने अपने कार्यक्रमों को रद्द कर दिया. गौरी ख़ान के यहां भी आज पार्टी थी, जो उन्होंने कैंसल कर दी.

रितु नंदा एक बेहतरीन शख़्स थीं. उनका नाम गिनीज़ बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में भी दर्ज है. दरअसल, वे लाइफ इंश्योरेंस के बिज़नेस से जुड़ी हुई थीं और उन्होंने चौबीस घंटे में 17 हज़ार पॉलिसी बेचने का कीर्तिमान अपने नाम किया था. अक्सर सोशल मीडिया पर उनकी अपने बच्चों निखिल नंदा, नताशा नंदा और बहू श्‍वेता बच्चन के साथ की तस्वीरें देखने को मिलती रहती थीं. कपूर खानदान का कोई भी फंक्शन, पार्टी व ख़ास मौक़ा हो, उनकी उपस्थिति हमेशा ही ख़ास रहती थी. फिर चाहे वो भाई ऋषि कपूर व रणधीर कपूर का परिवार हो, बच्चों का जन्मदिन, तीज-त्योहार आदि ही क्यों न हो. सरल, मिलनसार व ज़िंदादिल रितुजी को भावभीनी श्रद्धांजलि!..

Ritu Nanda

Ritu Nanda

Ritu NandaRitu NandaRitu NandaRitu Nanda

Ritu Nanda

Ritu Nanda

 

यह भी पढ़ेBB 13: शहनाज दिखा रही हैं अपना असली चेहरा, बिल्कुल ऐसे ही बर्बाद की थी उन्होंने मेरी पर्सनल लाइफः हिमांशी खुराना (Bigg Boss 13: After Shehnaaz Gill’s Behaviour With Sidharth Shukla, Himanshi Khurana Says, ‘Ye Exact Shehnaaz Ne Meri Life Me Kia Tha’)

आज भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता श्री अरुण जेटलीजी के निधन से हर कोई ग़मगीन है. प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, नेता, खिलाड़ी, सिलेब्रिटी के अलावा फिल्मी हस्तियों ने भी अपनी संवेदनाएं व्यक्त की. पीएम नरेंद्र मोदीजी को प्रिय मित्र खोने का दुख हुआ, वहीं प्रेसिडेंट रामनाथजी ने उनके जाने को राष्ट्र की अपूरणीय क्षति बताई.

Celebrities Mourns Arun Jaitley’s Death
पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटलीजी लंबे समय से बीमार थे और दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था. वे 9 अगस्त से ही अस्पताल में भर्ती थे और उनकी तबीयत लगातार ख़राब हो रही थी. आज यानी 24 अगस्त को 12 बजकर 7 मिनट पर उन्होंने आखिरी सांस ली और 66 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया…

शोक संदेश…

सनी देओल- देश ने एक और महान नेता खो दिया है. हमारी संवेदनाएं अरुण जेटलीजी के परिवार के साथ हैं.

अजय देवगन- अरुणजी के निधन से बेहद दुखी हूं. भारत के लिए उनकी गतिशील दृष्टि का मैं प्रशंसक रहा हूं. इस दुखद घड़ी में उनके परिवार के प्रति मैं सांत्वना प्रकट करता हूं. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे.

अनिल कपूर- क़रीब बीस साल पहले हमारी पहली मुलाक़ात हुई थी. तब से अब तक वे आदर्श की तरह रहे. उनका जाना देश के लिए अपूरणीय क्षति है. वे बेहद याद आएंगे. परिवार के साथ पूरी संवेदना है.

आशा भोसले- अरुण जेटली के निधन की ख़बर सुनकर बहुत दुखी हूं, मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं.

वरुण धवन- देश के लिए उन्होंने जो भी किया उसे हमेशा याद किया जाएगा. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे. आपके द्वारा की गई हर चीज के लिए धन्यवाद. आप हमेशा याद किए जाएंगे. परिवार के प्रति संवेदना.

फिल्मकार मधुर भंडारकर– अरुणजी के निधन से बेहद दुखी हूं. ये बीजेपी और पूरे देश के लिए एक बड़ी क्षति है. वह एक कट्टरपंथी और करिश्माई नेता थे. उनके परिवार के प्रति संवेदनाएं.

कॉमेडियन कपिल शर्मा– अरुण जेटली के निधन की ख़बर सुनकर दुखी हूं. एक महान और प्रभावशाली नेता थे. आप हमेशा याद आएंगे सर.

गायक अदनान सामी– अरुणजी के निधन की ख़बर सुनकर दुख हुआ. वे बहुत दयालु थे. उनकी आत्मा को शांति मिले.

धर्मेंद्रजी ने अरुणजी के साथ अपनी एक तस्वीर शेयर करते हुए कहा- एक स्नेही, देखभाल करनेवाला छोटा भाई, जो राजनीति में मेरा अच्छा मार्गदर्शक था. आप बहुत याद आएंगे जेटली साहब…

हेमा मालिनीजी ने अरुणजी के साथ अपनी मुलाक़ातों को साझा करते हुए कहा कि जेटलीजी को फिल्मों का बहुत शौक था. हम अक्सर इसके बारे में बातें करते थे. वे लाजवाब पॉलिटीशियन व टैलेंटेड एडवोकेट थे. वाकई में वे एक महान इंसान थे.

इन सभी के अलावा रितिक रोशन, अनूप जलोटा, करण जौहर, ईशा देओल, अर्जुन कपूर, संजय दत्त, रितेश देशमुख, बॉक्सर मेरी कॉम, क्रिकेटर विराट कोहली, वीरेंद्र सहवाग, फिल्म समीक्षक तरण आदर्श, मॉडल पार्वती, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई आदि ने भी अपनी संवेदनाएं प्रकट कीं.

* वेस्ट इंडीज में चल रहे टेस्ट सीरीज़ में सभी इंडियन क्रिकेटर्स ने अपने बांह पर काली पट्टी बांधकर उनके प्रति संवेदनाएं व्यक्त की. अरुण जेटलीजी दिल्ली व ज़िला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) के अध्यक्ष के अलावा बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड) के उपाध्यक्ष और कार्यकारी संचालन परिषद के सदस्य भी रहे थे.

अरुण जेटलीजी की जीवन यात्रा

* अरुण जेटली का जन्म 28 दिसंबर, 1952 को दिल्ली में हुआ था.

* उनके पिता पेशे से वकील थे. वे साल 1947 में भारत-पाकिस्तान के बंटवारे के बाद दिल्ली आ गए थे.

* अरुण जेटली ने नई दिल्ली के सेंट जेवियर्स स्कूल से 1957-69 तक पढ़ाई की. श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से बीकॉम किया.

* दिल्ली यूनिवर्सिटी से 1977 में लॉ की पढ़ाई पूरी की.

* वे बचपन में चार्टेड अकाउंटेंट बनना चाहते थे, पर क़िस्मत ने उन्हें वकील व राजनीतिज्ञ बना दिया.

* वे लॉ की पढ़ाई के दौर में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के छात्र नेता भी थे.

* डीयू में पढ़ाई के दौरान ही वह 1974 में डीयू स्टूडेंट यूनियन के अध्यक्ष बने थे.

* वे अपने बच्चों- सोनाली व रोहन को जेबख़र्च चेक से देते थे.

* वे उदार व दयालु प्रवृत्ति के थे और अपने कर्मचारियों के बच्चों को भी अपने बच्चों की स्कूल में पढ़ाया. वे उनसे इस कदर अपनों की तरह व्यवहार करते थे कि स्टाफ के बच्चे के पढ़ाई में अच्छे नंबर आने पर उसे उच्च शिक्षा के लिए विदेश तक भेजे या फिर उनके बेहतरीन प्रदर्शन पर कार तक उपहार में दी.

* भारतीय जनता पार्टी की सरकार में वे क़ानून, रक्षा, वित्त मंत्री के पद पर रहे.

* प्रखर विद्वान व सुलझे व्यक्तित्व के धनी अरुणजी मोदी सरकार में सबसे भरोसेमंद मंत्री थे.

* वे पीएम मोदीजी के सबसे बड़े क़ानूनी सलाहकार थे. भाजपा सरकार में कई बार संकटमोचक की भूमिका निभाई.

* देश में जीएसटी के रूप में एक देश, एक कर देने से लेकर नोटबंदी, रफाल जैसे फैसलों में  उनकी भूमिका महत्वपूर्ण रही थी.

* अटल बिहारी वाजेपयी जी की सरकार में भी वे मंत्री रहे.

* उन्हें फिल्में देखना बहुत पसंद था. वे देवानंद के प्रशंसक थे. पड़ोसन फिल्म उनकी फेवरेट थी और एक चतुर नार बड़ी होशियार… गाना तो उन्हें बहुत ही अच्छा लगता था.

* अरुणजी को पटेक फिलिप घड़ियों, मॉन्ट ब्लांक पेन, जामावार शॉल, स्टाइलिश शर्ट, ब्लेज़र, शूज़, लज़ीज़ व्यंजनों के साथ-साथ शेरो-शायरी का भी बहुत शौक था.

मेरी सहेली की ओर से अरुण जेटलीजी को भावभीनी श्रद्धांजलि.. ॐ शांति!..

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़े#Congratulations Golden Girl Sindhu: बधाई!..पीवी सिंधु ने स्वर्ण पदक जीतकर रचा इतिहास… (BWF World Championships 2019: PV Sindhu Wins Historic Gold)

हिंदी सिनेमा के दिग्गज अभिनेता बहुमुखी प्रतिभा के धनी कादर ख़ान (Kadar Khan) हमारे बीच नहीं रहे. वे एक नेकदिल इंसान के साथ-साथ एक सच्चे हमदर्द व दोस्त थे. अपने हो या पराए सभी के साथ उनका अपनापन उन्हें बेहद ख़ास बना देता था. हम सभी उन्हें उनकी लाजवाब अभिनय, फिर चाहे वो चरित्र अभिनेता, खलनायक, कॉमेडी ही क्यों न हो के लिए हमेशा याद करते रहेंगे.

Kadar Khan

अभिनय के साथ-साथ उनकी कथा, पटकथा, संवाद की लेखनी भी दमदार थी. उन्होंने मनमोहन देसाई और प्रकाश मेहरा के साथ मिलकर कई सुपरहिट फिल्मों की स्क्रिप्ट भी लिखी है. इसमें धर्म वीर, अमर अकबर एंथनी, देश प्रेमी, सुहाग, कुली, गंगा जमुना सरस्वती, मुकद्दर का सिकंदर, लावारिस, कुली नंबर वन, मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी, कर्मा आदि ख़ास हैं. उन्होंने क़रीब ढाई सौ फिल्मों के संवाद लिखे और तीन सौ से भी अधिक फिल्मों में काम किया.

उनकी कॉमेडी तो इतनी उम्दा थी कि जब भी वे पर्दे पर आते थे दर्शकों के चेहरे पर मुस्कान आ जाती थी. यूं तो उन्होंने अमिताभ बच्चन से लेकर शाहरुख ख़ान तक सभी कलाकारों के साथ काम किया, पर गोविंदा के साथ उनकी जोड़ी सुपरहिट रही. दोनों के कॉमेडी के पंच और सीन्स आज भी लोगों को ख़ूब हंसाते-गुदगुदाते हैं.

आज कादर ख़ान भले ही हमसे दूर चले गए हों, पर उनके संवाद व सशक्त अभिनय हमारे दिलों में सदा ज़िंदा रहेंगे.

ज़िंदगी के सफ़र पर एक नज़र…

* कादर ख़ान का जन्म काबुल में 22 अक्टूबर 1937 को हुआ था.

* उन्होंने अपनी फिल्मी करियर की शुरुआत दाग़ फिल्म से की थी.

* फिल्म में अभिनय करने से पहले उन्होंने फिल्म जवानी दीवानी के संवाद लिखे थे.

* मेरी आवाज़ सुनो और अंगार फिल्मों के लिए उन्हें बेस्ट डायलॉग के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड भी मिला था.

* हिंदी सिनेमा में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए उन्हें साहित्य शिरोमणि पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था.

* वे मुंबई के इंजीनियरिंग कॉलेज में लेक्चरर भी रहे थे.

* शक्ति कपूर के साथ उनकी यादगार जोड़ी रही थी. दोनों ने सौ से भी अधिक फिल्मों में साथ काम किया.

* उनकी आख़िरी फिल्म दिमाग़ का दही थी, जो साल 2015 में आई थी.

* अभिनय से रिटायरमेंट लेने के बाद वे मुंबई से कनाडा अपने बेटे सरफराज़ के यहां चले गए.

* 81 वर्षीय कादर ख़ान के अंतिम समय में उनकी पत्नी हिज्रा, उनके बेटे, बहू, नातियां उनके साथ थीं.

* उनके बेटे के अनुसार, कनाडा में ही उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.

* फिल्म इंडस्ट्री व अन्य लोगों ने सोशल मीडिया पर उन्हें श्रद्धांजलि दी. अमिताभ बच्चन, अनुपम खेर, स्मृति ईरानी, असरानी, परेश रावल, अनिल कपूर, अक्षय कुमार, अर्जुन कपूर, वरुण धवन, मधुर भंडराकर के साथ-साथ अन्य लोगों ने अपनी भावनाएं व्यक्त की.

* अमिताभ बच्चन ने भावुक होते हुए कहा कि कादर ख़ान बहुमुखी प्रतिभा के धनी व समर्पित कलाकार थे. उनकी लेखनी भी ग़ज़ब की थी. मेरे अधिकतर सफल फिल्में, जैसे- मुकद्दर का सिकंदर, कुली, हम, शहंशाह, मि. नटरवरलाल, सुहाग, अदालत सहित तक़रीबन 21 फिल्मों में अभिनेता, संवाद, पटकथा लेखक के रूप में उन्होंने काम किया था.

* ज़िंदगी का सफ़र हमें कहां से कहां ले जाता है, कई बार इसे हम भी नहीं समझ पाते. तभी तो कादर ख़ान अफगानिस्तान के काबुल में जन्मे, भारत में मुंबई में अपनी अदाकारी-लेखनी का लोहा मनवाया, अंतिम पड़ाव पर परिवार के साथ कनाडा में बिताए.

मेरी सहेली परिवार की ओर से भानभीनी श्रद्धांजलि!

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़े2018 में ये फिल्में हुईं बुरी तरह फ्लॉप (Check Out The Biggest Flops Of 2018)

रामेश्वरम में बोनी कपूर ने जाह्नवी और ख़ुशी के साथ श्रीदेवी की अस्थियाँ कीं विसर्जित (Boney Kapoor, Jahnvi and Khushi immerse Sridevi’s ashes in Rameswaram)
बोनी कपूर ने अपनी दोनों बेटियों के साथ तमिलनाडु की रामेश्वरम नदी में श्रीदेवी की अस्थियाँ विसर्जित कीं! ये पल परिवार के लिए बेहद भावुक था. पिछले दिनों इतना सबकुछ अचानक होने के बाद अब श्रीदेवी से जुड़ी ये अंतिम क्रिया भी पूरी हो चुकी है.
ग़ौरतलब है कि बोनी ने श्रीदेवी और उनके बीच के वो आख़री लम्हे भी मीडिया के साथ हाल ही में शेयर किए!

 

Sridevi died of accidental drowning

कार्डिएक अरेस्ट नहीं, बाथ टब में डूबने से हुई मौत,पार्थिव शरीर भारत आने में होगी देर (Sridevi died of accidental drowning)
दुबई में हुए पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के मुताबिक़ श्रीदेवी की मौत की वजह ऐक्सिडेंटल ड्राउनिंग यानी दुर्घटनावश पानी में डूबना है. रिपोर्ट के मुताबिक़ श्री के शरीर में शराब के भी अंश पाए गए!


श्रीदेवी का पार्थिव शरीर अब मंगलवार तक भारत आने की उम्मीद है. दुबई पुलिस शायद बोनी कपूर का भी बयान दर्ज करे.