Tag Archives: romantic parner

नाम के पहले अक्षर से जानें कितना रोमांटिक है आपका पार्टनर? (First Letter Of Name Tells How Romantic Is Your Partner)

First Letter Of Name, How Romantic Is Your Partner

प्यार-मोहब्बत, रोमांस जीवन में ख़ुशियों के रंग भर देता है. आप भी तो जानना चाहते होंगे कि आपका पार्टनर कितना रोमांटिक व दिलफेंक है. आइए, नाम के पहले अक्षर से जानें अपने पार्टनर के प्यारभरे दिल, स्वभाव व रोमांटिक नेचर के बारे में.अपने जीवन में एक अच्छे पार्टनर की तलाश हर किसी को होती है. आइए, नाम के पहले अक्षर से पार्टनर के लव-नेचर पर एक नज़र डालते हैं.  

First Letter Of Name, How Romantic Is Your Partner

– जिन लोगों का नाम अक्षर से शुरू होता है, ऐसे लोग प्यार और रिश्तों की जीवन में अहम् भूमिका समझते हैं. ये आकर्षित करनेवाले ज़रूर होते हैं, लेकिन रोमांटिक नहीं होते हैं.

बी अक्षरवाले दोस्ती करना पसंद करते हैं. ऐसे लोग पहले अपने प्यार को याद रखना चाहते हैं और ये अपने से ज़्यादा अपने पार्टनर को ख़ुश रखने की कोशिश करते हैं.

सी अक्षरवाले दोस्ती करना पसंद करते हैं. ऐसे लोग प्यार के मामले में स्पष्टवादी होते हैं. इन्हें घुमा-फिरा कर बात करना पसंद नहीं होता है.

डी अक्षरवाले जिसे पाना चाहते हैं, उसे पा लेते हैैं और रोमांस इनके मूड पर निर्भर करता है.

अक्षरवाले मज़ाकिया व लाजवाब होते हैं. प्यार इनकी सबसे बड़ी कमज़ोरी होती है. ये ज़िंदादिली के साथ जीना पसंद करते हैं.

एफ अक्षरवाले प्रेम को लेकर सीरियस रहते हैं, जिसे भी प्यार करते हैं, टूटकर करते हैं. अपनी पर्सनल लाइफ और प्रोफेशनल लाइफ को अलग-अलग रखते हैं. ऐसे लोगों को अच्छा लाइफ पार्टनर मिलता है.

जी अक्षरवाले साफ़ दिल के होते हैं. ये अपने मन में कुछ नहीं रखते हैं. प्यार इनके लिए जीवन का एक हिस्सा भर रहता है. इन्हें किसी के ख़िलाफ या प्यार में साज़िश करना पसंद नहीं होता है.

एच अक्षरवाले अपनी बातें दूसरों को नहीं बताना चाहते, क्योंकि इन्हें डर बहुत होता है. ये प्यार में नहीं पड़ना चाहते और अगर पड़ गए, तो उससे बाहर नहीं निकल पाते.

आई अक्षरवाले दिमाग़ से ज़्यादा दिल से सोचते हैं. ये सच्चे दिल से प्यार करते हैं, लेकिन अपनी भावुकता के कारण इन्हें अक्सर नुक़सान उठाना पड़ता है.

जे अक्षरवाले ईमानदार और वफ़ादार स्वभाव के होते हैं. प्रेम के प्रति पूर्ण रूप से समर्पित रहते हैं. अगर आपके पार्टनर का नाम जे से शुरू होेता है, तो आप भाग्यशाली हैं.

के अक्षरवाले मुंहफट होते हैं. ये थोड़े फ्लर्टी स्वभाव के होते हैं. बिना कुछ सोचे-समझे ये किसी को कुछ भी कह सकते हैं. ये अपने फ़ायदे के लिए कुछ भी कर सकते हैं.

एल अक्षरवाले कभी किसी को दुखी नहीं देख सकते हैं और जिससे भी प्यार करते हैं, उसे अकेला नहीं छोड़ते. आदर्श प्रेमी  होते हैं.

एन अक्षरवाले खुले विचार को समर्थन देनेवाले होते हैं. ये बहुत जल्दी बोर हो जाते हैं. ये फ्लर्ट करने में आगे होते हैं, पर जब प्यार में पड़ जाते हैं, तो इनसे दूर रहने में ही भलाई है. थोड़े सनकी होते हैं.

यह भी पढ़ें: हाथ की रेखाओं से जानें सेक्स लाइफ के बारे में

First Letter Of Name, How Romantic Is Your Partner

एम अक्षरवाले स्वभाव के भावुक और संकोची होते हैं. प्यार को लेकर काफ़ी पज़ेसिव भी होते हैं. अक्सर ये छोटी-छोटी बातों को दिल से लगा लेते हैं.

अक्षरवाले प्रेम विवाह करते हैं और परिवार को साथ लेकर चलते हैं. ये एक आदर्श पार्टनर का रोल बख़ूबी निभाते हैं और बहुत भावुक भी होते हैं.

पी नाम वाले अपने प्यार पर दिलो-जान से न्योछावर होनेवाले होते हैं. घर, देश-दुनिया को साथ लेकर चलने में विश्‍वास करते हैं. ये उसूल पसंद होते हैं और मान-सम्मान के लिए कुछ भी कर गुज़रने के लिए तैयार रहतेे हैं.

क्यू अक्षरवाले मोहब्बत में जुनून की हद कर देते हैं. वे अपने प्यार को किसी से बांट नहीं सकते हैं. अपने आप में खोये रहते हैं. इन्हें दूसरे से कुछ लेना-देना नहीं होता है और इन्हें ग़ुस्सा भी कम आता है.

आर अक्षरवाले रोमांटिक, पर थोड़े दिलफेंक भी होते हैं. साथ ही मनमौजी स्वभाव के होते हैं. इन्हें दुनियादारी से कुछ मतलब नहीं रहता है. ये कम बोलते हैं. अपनी दुनिया में खोए रहते हैं.

एस अक्षरवाले प्यार पर विश्‍वास भी करते हैं, पर शक भी कुछ कम नहीं करते. ये बहुमुखी प्रतिभा के धनी होते हैं. ये अपने आप में सिमटे रहते हैं और अपने चारों ओर रहस्यमय वातावरण बनाए रहते हैं.

यह भी पढ़ें:  सेक्स से जुड़े मिथ्स कहीं कमज़ोर न कर दें आपके रिश्ते को

टी अक्षरवाले सिंपल जीवन जीना पसंद करते हैं. यही सोच प्यार को लेकर भी रहती है. इन्हें प्यार में दिखावा करना पसंद नहीं है. ये रिश्ते और भावनाओं को लेकर बेहद भावुक होते हैं.

यू अक्षरवालों के लिए प्यार ही सब कुछ है. ये सदा उमंग-उत्साह में रहते हैं. बुद्धिमान व दिल के साफ़ होते हैं. ये छोटी-छोटी चीज़ों में ही ख़ुशियां ढूंढ़ते हैं और हमेशा ख़ुश रहते हैं.

वी अक्षरवाले ना कभी कुछ कहते हैं और ना ही किसी की सुनते हैं. जब इन्हें प्यार हो जाता है, तो कुछ भी कर सकते हैं. स्वभाव से बेहद रोमांटिक और भावुक होते हैं.

डब्ल्यू वालों के लिए प्यार बस जीवन का एक हिस्साभर होता है. दूसरों को दबाकर अपना रौब जमाने की आदत होती है, जिसके चलते इन्हें कोई पसंद नहीं करता.

एक्स अक्षरवाले लोगों में एक ख़ास आदत होती है कि ये जिनको पाने की इच्छा रखते हैं, उसे पाकर ही दम लेते हैं यानी प्यार में जुनून की हद तक गुज़र जाते हैं. ये प्यार में पूरी तरह से समर्पित रहते हैं.

वाय वाले सच्चे, खुले दिलवाले व रोमांटिक नेचर के होते हैं. ये समझौता नहीं करना चाहते हैं, इसलिए इनका जीवन मुश्किलों से भरा होता है. ये थोड़े लापरवाह व भुलक्कड़ क़िस्म के होते हैं. लेकिन अपनी ग़लती के लिए जल्दी माफ़ी भी मांग लेते हैं.

ज़ेड अक्षरवाले बेहद रोमांटिक होते हैं. इनकी तरफ़ कोई भी आसानी से आकर्षित हो जाता है. ये अपने पार्टनर को इस कदर प्यार करते हैं कि उनके सामने और कोई भी अहमियत नहीं रखता है.

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़ें: 7 तरह के सेक्सुअल पार्टनरः जानें आप कैसे पार्टनर हैं

7 तरह के सेक्सुअल पार्टनरः जानें आप कैसे पार्टनर हैं (7 Types Of Sexual Partner: What type of partner are you?)

सेक्सोलॉजिस्ट का मानना है कि सेक्स को लेकर हर पार्टनर की एक-दूसरे से अलग-अलग उम्मीदें होती हैं, इसलिए जब भी पार्टनर्स सेक्सुअल रिलेशनशिप बनाते हैं, तो उनका व्यवहार और प्रतिक्रिया भी अलग-अलग ही होती है. तो आइए जानते हैं आप और आपके पार्टनर की सेक्सुअल कॉम्पैटिबिलिटी कैसी है?

romance-27a
1. रोमांटिक पार्टनर

ऐसे कपल सेक्स के दौरान बहुत मस्ती करते हैं. पार्टनर को उत्तेजित करने के लिए अनेक चीज़ों और आइडियाज़ का इस्तेमाल करते हैं, साथ ही अपने पार्टनर से भी ऐसी ही उम्मीद रखते हैं कि वह भी उसके साथ ऐसा व्यवहार करे, ऐसी ही ट्रिक्स यूज़ करे. ये कपल रिलेशनशिप के दौरान ऐसी सेक्सुअल फैंटसी से प्रेरित होते हैं, जो उन्होंने कहीं देखी या पढ़ी होती है. सेक्स एक्सपर्ट्स का मानना है कि इस तरह की सेक्सुअल फैंटसी सेक्सुअल ऐक्ट को मज़ेदार बनाती है. ऐसे पार्टनर्स को ङ्गथ्रिलिंग पार्टनर्सफ कहते हैं. उनकी ऐसी एक्टिविटीज़ यह दर्शाती है कि ये पार्टनर कभी ऐसे सेक्सुअल ऐक्ट से बोर नहीं होते हैं.

2. उदासीन पार्टनर

कुछ कपल्स में काम के बढ़ते बोझ, बीमारी, पारिवारिक उलझनों व परेशानियों, आपसी रिश्तों में तनाव के कारण सेक्स के प्रति रुचि कम होने लगती है. सेक्सोलॉजिस्ट का मानना है कि कई बार तो चीज़ों के बदलने और स्थितियों में सुधार होने के बाद भी पार्टनर्स सेक्स के प्रति उदासीन रहते हैं. जो पार्टनर्स सेक्स के प्रति उदासीन रहते हैं, वे यौन क्षमताओं के प्रति अपना आत्मविश्‍वास खो देते हैं और फिर दूसरे पार्टनर की भावनाओं व इच्छाओं को समझने की कोशिश नहीं करते. ऐसे उदासीन पार्टनर्स अपनी सेक्स डिज़ायर्स को भी छुपाने का प्रयास करते हैं. उन्हें लगता है कि रिश्ते में सेक्स की बजाय अन्य चीज़ें ज़्यादा महत्वपूर्ण हैं.

ये भी पढें: सेक्सुअल हेल्थ के 30+ घरेलू नुस्खे

यदि दूसरा पार्टनर सेक्स के लिए पहल भी करता है, तो वे उसे अनदेखा करने लगते हैं. पार्टनर के आग्रह करने पर वे उसे सपोर्ट तो करते हैं, लेकिन सेक्स में पहल कभी नहीं करते. उदासीन पार्टनर की यह ख़ासियत होती है कि वह सेक्स में दिलचस्पी नहीं दिखाते, लेकिन यदि दूसरा पार्टनर उसे एक्साइट करता है, तो ख़ुद को संतुष्ट करने में कमी नहीं छोड़ते.

3. भावनात्मक रूप से जुड़े पार्टनर

ऐसे कपल्स सेक्स के दौरान भावनात्मक रूप से एक-दूसरे से जुड़ने में विश्‍वास रखते हैं. उनके लिए फिज़िकल एक्टिविटी सेकंडरी होती है. ऐसे कपल्स को ङ्गसेन्शुअस कपलफ कहते हैं. इन कपल्स के लिए सेक्स एक तरीक़ा है अपने पार्टनर के साथ रिलेशनशिप विकसित करने का. ऐसे कपल कभी भी अपने पार्टनर पर सेक्सुअल रिलेशन के लिए दबाव नहीं डालते, बल्कि मान-मनुहार से पार्टनर को सेक्स के लिए तैयार कर लेते हैं. ऐसे लवर्स मिलनसार क़िस्म के होते हैं, जो अपने पार्टनर की भावनाओं और इच्छाओं का पूरा ध्यान रखते हैं. रिलेशनशिप बनाते समय इनमें इमोशनल इन्वॉल्वमेंट अधिक होती है और फिज़िकल प्रेज़ेंस को कम महत्व देते हैं.
एक-दूसरे से दूर होने पर वे कभी अंतरंग होने का प्रयास नहीं करते.

4. अधिक भरोसेमंद पार्टनर

इस तरह के पार्टनर लाइफ को ख़ुशनुमा बनाने के लिए रोमांस करते हैं, ताकि रोज़मर्रा की ज़िंदगी में होनेवाले तनाव को कम किया जा सके. ऐसे पार्टनर अपनी सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने के लिए नियमित रूप से योग,
एक्सरसाइज़ और मेडिटेशन करते हैं. सेक्सोलॉजिस्ट के अनुसार, ऐसे पार्टनर के लिए सेक्स ङ्गस्टे्रस रिलीवरफ का काम करता है, क्योंकि उन्हें लगता है कि सेक्स ही एक ऐसा तरीक़ा है, जो उनके तनाव को कम कर सकता है. कई बार ऐसे पार्टनर सेक्स में संतुष्टि न मिलने पर अपना आपा खो बैठते हैं.

5. सेक्स एडिक्टेड पार्टनर

ऐसे पार्टनर सेक्स एन्जॉय करने का कोई अवसर नहीं छोड़ते और न ही रिलेशनशिप बनाने के लिए एक-दूसरे की स्वीकृति लेते हैं. वे इस बात की परवाह नहीं करते हैं कि उनका पार्टनर रिलेशनशिप बनाने के मूड में है या नहीं, उसकी तबीयत ठीक है या नहीं. ऐसे पार्टनर के लिए केवल सेक्स है. सेक्स एक्सपर्ट्स का मानना है कि सेक्स के लिए इंकार करने पर सेक्स एडिक्ट लोग अपने पार्टनर को कभी भी धोखा दे सकते हैं. ऐसे सेक्स एडिक्ट लोगों के मल्टीपल पार्टनर्स होते हैं.

ये भी पढें: महिलाओं के इन 6 सिग्नल्स से जानें क्या चाहती है वो?

6. कामुक पार्टनर

ये कपल कामुक प्रवृति के होते हैं. उनमें सेक्स के प्रति इच्छा बहुत तीव्र होती है. उनके रिश्तों में हमेशा गर्माहट बनी रहती है. सेक्सोलॉजिस्ट का मानना है कि सेक्स इनके रिश्ते का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है. इसी वजह से कई बार ये कपल रिलेशनशिप के दौरान एग्रेसिव भी हो जाते हैं.

7. स्वार्थी पार्टनर

ऐसे पार्टनर स्वार्थी क़िस्म के होते हैं, जो सेक्सुअल रिलेशनशिप बनाते समय स़िर्फ अपनी आत्मसंतुष्टि के बारे में सोचते हैं. उनको लगता है कि वे बेडरूम में अपने पार्टनर के साथ जो चाहें वो कर सकते हैं. हर एक्टिविटी को वे अपने पर्सनल तरी़के से करना चाहते हैं, चाहे उसके लिए दूसरा पार्टनर तैयार हो या न हो. सेक्स के दौरान वे केवल अपने पर्सनल प्लेज़र (निज़ी ख़ुशी) के बारे में सोचते हैं. अपने पार्टनर की इच्छाओं व ख़ुशी को महत्व देने की बज़ाय अपनी इच्छाओं को अधिक महत्व देते हैं. उसके साथ किसी तरह का समझौता करने के लिए तैयार नहीं होते. अपनी सेक्सुअल डिज़ायर पूरी न होने पर कई बार ग़ुस्सा और उग्र भी हो जाते हैं.

– पूनम कोठारी

ये भी पढें: पति की इन 7 आदतों से जानें कितना प्यार करते हैं वो आपको