Salman khan Being Human

एक वक़्त था जब सलमान खान और सोमी अली का रोमांस सुर्खियों में था. इस पाकिस्तानी एक्ट्रेस को सलमान ने काफ़ी समय तक डेट किया लेकिन इनका ब्रेक अप हो गया और दोनों के रास्ते जुदा हो गए.

टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में सोमी ने कहा कि सलमान संग मेरी डेब्यू फ़िल्म थी बुलंद लेकिन वो रिलीज़ ही नहीं हो पाई. ये सलमान के होम प्रोडक्शन की फ़िल्म थी और वो एक नया चेहरा ढूँढ रहे थे, लेकिन ये बंद हो गई.

Somy Ali

क्या सोमी अब भी सलमान के साथ टच में हैं, इस सवाल के जवाब में सोमी ने कहा कि वो पांच साल से सलमान के टच में नहीं हैं. सोमी ने कहा- मैं आगे बढ़ चुकी हूं और सलमान भी अपनी ज़िंदगी में आगे बढ़ चुके हैं और यही सही है. इंसान को मूव ऑन कर लेना चाहिए. मुझे नहीं पता जब से मैं सलमान के टच में नहीं हूं तबसे लेकर अब तक उनकी कितनी गर्ल फ्रेंड रही होंगी.

Somy Ali

उनकी एनजीओ बीइंग ह्यूमन बेहतरीन काम कर रही है और मुझे गर्व है इस पर, लेकिन सलमान के साथ टच में न रहना मेरे लिए मानसिक रूप से सेहतमंद है. वो अपनी जगह खुश हैं और अच्छा काम कर रहे हैं और मैं भी अपनी जगह खुश हूं! मैं उन्हें शुभ कामना देती हूं!

Salman Khan

ग़ौरतलब है कि सलमान और सोमी पूरे आठ साल तक रिलेशनशिप में रहे और बाद में सोमी ने यह भी कहा था कि सलमान अपने रिश्ते में लॉयल यानी ईमानदार नहीं हैं.

सलमान खान (Salman Khan) कितने दिलदार हैं यह तो हर कोई जानता है. सलमान सिर्फ फिल्मी सितारों की ही मदद नहीं करते बल्कि अपनी संस्था बीइंग ह्यूमन फाउंडेशन (Being Human Foundation) के ज़रिए वो ज़रूरतमंद लोगों की मदद के लिए भी हमेशा आगे रहते हैं. लेकिन सलमान की यह संस्था अब मुश्किल में पड़ती दिखाई दे रही है क्योंकि यह संस्था अब बीएमसी के निशाने पर आ गई है. दरअसल बीएमसी यानी बृहनमुंबई महानगर पालिका ने सलमान खान के इस एनजीओ को काली सूची यानी ब्लैकलिस्ट में डालने का फैसला किया है.

Salman Khan, Being Human foundation, blacklisted

बीएमसी के एडिशनल कमिश्नर के अनुसार दिसंबर 2016 में बीएमसी ने पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप में 12 डायलिसिस सेंटर खोलने का फैसला किया था, इसके लिए बीएमसी ने सलमान खान की बीइंग ह्यूमन फाउंडेशन को चुना था. जिसके तहत सलमान के इस एनजीओ को पाली हिल में 24 डायलिसिस मशीनें लगानी थी. इसके लिए सलमान की संस्था को बैंक गारंटी के साथ सारी परमिशन भी दी गई लेकिन एक साल बाद भी यह प्रोजेक्ट शुरू नहीं हो सका और यही वजह है कि अब बीएमसी उनकी इस संस्था को ब्लैकलिस्ट करना चाहती है.

वहीं दूसरी तरफ बीइंग ह्यूमन फाउंडेशन की ओर से यह दलील पेश की गई है कि उनकी संस्था को कुछ ज़रूरी बातें अपने करार में शामिल करनी होती है, जिसे लेकर की गई बातचीत असफल रही और इस सिलसिले में कोई कांट्रेक्ट या एमओयू साइन नहीं किया गया है. हालांकि इस पूरे मामले में बीएमसी की ओर से सलमान की संस्था के खिलाफ कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है.

यह भी पढ़ें: ये हैं तारक मेहता का उल्टा चश्मा शो की भाभियों के रियल लाइफ पार्टनर !

 

×